रोजे से आती है परहेजगारी की खूबी


FIROZ QUIRAISHI 10/06/2017 15:27:14
163 Views

10-06-2017153651रोजे_से_आती_है_1Lucknow. रोजा रखने से इंसान में तकवा और परहेजगारी की खूबी पैदा होती है। रोजेदार के अंदर अपनी ख्वाहिश पर काबू पाने की ताकत आती है। रूह की तरक्की और तरबियत होती।रोजे की हालत में इंसान अपने को खाने पीने के अलावा उन बातों से भी दूर रखता है जिसके लिए अल्लाह और उसके रसूल ने मना किया है । जैसे,झूठ बोलना,बुराई करना,किसी से झगड़ा या तकलीफ पहुंचान। रोजे का मकसद ही इन्ही खूबियों को इंसान के अंदर पैदा करना है।

यह भी पढ़ें...अमौसी मेट्रो स्टेशन से गिरे टीन के बंडल, दो घायल

रमजान का दूसरा मगफिरत का अशरा शुरू

रोजे की हालत में जब भूख और प्यास अपने उरूज पर उस वक्त अच्छे अख़लाक़ का मुजाहेरा करना कमाल की बात है। टीले वाली मस्जिद के मौलाना शाह फजले मन्नान रहमानी ने कहा कि रमजान का दूसरा मगफिरत का अशरा शुरू हो चुका है। इस अशरे में अपने गुनाहों से निजात पाने के लिए ज्यादा से ज्यादा इबात करें।

यह भी पढ़ें...ग्रामीण एक्सचेंजों में 25,000 WiFi हॉटस्पॉट लगाएगी BSNL

 

Web Title: Roze comes from the beauty of trekker ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया