मुख्य समाचार
मुकुल रॉय को 6 साल के लिए पार्टी से सस्पेंड, बोले - दुर्गा पूजा के बाद दूंगा इस्तीफा जोया अख्तर की मेड इन हेवन में दिखेंगी श्वेता त्रिपाठी नई पार्टी नहीं बनाएंगे मुलायम, बोले - अखिलेश के फैसले से संतुष्ट नहीं हूँ विक्रमादित्य ने कहा, रणवीर सिंह ही निभा सकते हैं कपिल देव का किरदार BIgg Boss 11: सलमान बनें टीवी के सबसे ज्यादा फीस लेने वाले स्टार BHU में बवाल : ACM की हुई छुट्टी, 1000 लोगों पर FIR, SO लाइन हाजिर सरकार के भरोसे नहीं, अपना कार्य स्वयं करें BJP में शामिल दलित, OBC नेताओं को RSS बंधुआ मजदूर ही बनाएगा - मायावती BHU हिंसा असामाजिक तत्वों का पूर्व नियोजित षड्यंत्र : कुलपति अखिलेश से कलह के बाद मुलायम आज कर सकते हैं नई पार्टी का ऐलान Bhopal: नवंबर में बघेलखंड उत्सव संयुक्त राष्ट्र के अनुसार बांग्लादेश में 4,70,000 रोहिंग्याओं को आश्रय की जरूरत

पीएम मोदी पर राजद्रोह का केस दर्ज कराने की मांग, वकील ने लगाया आरोप


SUYASH MISHRA 18/08/2017 09:59:41
6455 Views

18-08-2017100552XYopA7xTTy

Aurangabad. महाराष्ट्र के एक वकील रामा विट्ठलराव काले ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को संबोधित यह शिकायत पुलिस थाने में दर्ज कराई है। इस शिकायत में उन्होंने कहा है कि मंगलवार को लाल किले के प्राचीर से दिए अपने 55 मिनट के भाषण में मोदी ने कई बार इंडिया और भारत का ‘हिंदुस्तान’ के तौर पर जिक्र किया।

संविधान में कहीं भी नहीं है हिंदुस्तान का उल्लेख
वकील काले ने बुधवार को कहा कि संविधान के अनुच्छेद एक के अनुसार, इंडिया या भारत का उल्लेख है, लेकिन कहीं भी हिंदुस्तान का उल्लेख नहीं है, जो कि देश के धार्मिक नाम को प्रकट करता है। वकील ने कहा कि भारत का हिंदुस्तान के तौर पर जिक्र करना देश के 125 करोड़ भारतीयों व दुनिया भर में भारतीयों का अनादर है। पीएम मोदी के इस संबोधन में देशभक्तों का अपमान हुआ है।

अनुच्छेद एक का उल्लंघन
काले ने कहा है, भारत के प्रधानमंत्री के तौर पर इस तरह का गैर जिम्मेदाराना और गलत संदर्भ देना (हिंदुस्तान के तौर), जिसे संविधान में कोई स्थान नहीं दिया गया, साफ तौर पर संविधान का अपमान है और अनुच्छेद एक का उल्लंघन है।

किसी के खाते में नहीं आए 15 लाख 
इसके अलावा शिकायत में लिखा है कि इसके अलावा पीएम मोदी ने चुनाव के दौरान कई ऐसे वादे किए थे जो पूरे नहीं किए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गरीब जनता को पंद्रह लाख रुपये खाते में देने की बात कही थी लेकिन आज तक हर किसी के खाते में पंद्रह लाख रुपये नहीं आए हैं।

क्या है अनुच्छेद एक
भारतीय संविधान के अनुच्छेद एक के अनुसार हमारे देश का नाम भारत रखा गया और यह स्पष्ट शब्दों में कहा गया था कि ‘इंडिया दैट इज भारत शैल बी यूनियन ऑफ स्टेट्स’ यानि इंडिया जो कि भारत है वह राज्यों का संघ होगा। 

18-08-2017100705b8U91NjCNr

न्यूजटाइम्स न्यूज पोर्टल पर देश दुनिया के साथ ही आपके पास पड़ोस की खबरों से हमेशा अपडेट रहने के लिए अपने मोबाईल फोन पर हमारा मोबाईल एप डाउनलोड करें।

Download App


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया


मना॓रंजन और पढ़ें..

loading...