मुख्य समाचार
मायावती का ये प्लान निकाय चुनाव में पार्टी को दिला सकता है बड़ी जीत... अब पैन कार्ड में दर्ज हो सकेगा मां का नाम जापान ने जीता पहला चाइना ओपन खिताब अगले साल भारत और बांग्लादेश के साथ त्रिकोणीय T20 सीरीज खेलेगा श्रीलंका खर्च के साथ ड़ाले बचत की भी आदत OnePlus 5T लॉन्च, 6 इंच फुल-स्क्रीन वाले इस फोन में है 8 जीबी रैम अभी-अभी : चुनाव से पहले BJP विधायक ने छोड़ी पार्टी , कहा - BJP दलितों पर... बैकों को आधार पंजीयन के लिए मिलेंगे मशीन और स्टाफ यूपी में भी खुल सकता है पुलिस विश्वविद्यालय, DGP ने भेजा प्रस्ताव Box Office Collection: दर्शकों को भाया तुम्हारी सुलु का नॉटी अंदाज, दो दिन में कमाए इतने करोड़ नहीं हटवा पाए साइकिल ट्रैक तो भगवा रंग देकर किया ऐसा इस्तेमाल  गुजरात चुनाव 2017 : बीजेपी ने जारी की 36 उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट 2019 चुनाव से पहले BJP के लिए बुरी खबर, इस नेता ने छोड़ा पार्टी का साथ... दबंग 3 में मलाइका की जगह आइटम का तड़का लगाएंगी सनी लियोनी कम नेग मिलने पर नर्सों ने नवजात को छोड़ा, हुई मौत  एमसीडी चुनाव: मड़ियांव में सपा प्रत्याशी ने की जनसभा, सुनी समस्याएं VIDEO: महाराजगंज में पुलिस की हैवानियत, नाबालिग को लाठी-डंडे से जमकर पीटा "Miss World 2017" का खिताब रहा भारत की मानुषी छिल्लर के नाम #BIOGRAPHY 32: Indira Gandhi की जीवनी लाउडस्पीकर का फायदा उठा विधवा से सामूहिक दुष्कर्म, शव को टुकड़ों में बांट खेत में फेंका फेसबुक पर जल्द ही जुमांजी VR का अनुभव पीएम मोदी को छोड़ रक्षा मंत्री पर हमलावर हुए राहुल, पूछे तीन सवाल राजस्थान में भूकंप के झटके 14 साल की लड़की के साथ 20 लोगों ने किया रेप, 3 दोस्तों ने ऐसे रची पूरी घटना  आईएसएल : पूर्व विजेता चेन्नई एफ़सी का लक्ष्य विजयी आगाज भाजपा विधायक ने कांग्रेस सांसद को कहे अपशब्द, दी थप्पड़ मारने की धमकी 20 सालों बाद कांग्रेस पार्टी में होगा यह अहम फेरबदल, बैठक में इस नाम पर लग सकती है मुहर  संदीप यादव पर नाडा ने लगाया चार साल का बैन केशव मौर्य ने अखिलेश पर साधा निशाना, कहा - डरे हुए है अखिलेश यादव खाने के तेलों पर इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ी इंफोसिस में 30 नवंबर से शुरू होगा शेयर पुनर्खरीद कार्यक्रम

तो क्या विशाल सिक्का के प्रमोशन से खत्म हो जाएगा ....


ANAMIKA PANDEY 18/08/2017 11:54:19
117 Views

18-08-2017122156HyrkbQ40K01

New Delhi. इंफोसिस के मुख्यकार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक के पद से विशाल सिक्का ने इस्तीफा दे दिया हैं। कंपनी ने शेयर बाजारों को दी गई जानकारी में इस बात की पुष्टि करते हुए कहा है कि उन्हें कंपनी की ओर से पदोन्नति देकर कार्यकारी उपाध्यक्ष बना दिया गया हैं, लेकिन इस बीच एक बड़ा सवाल पैदा होता हैं वह यह कि क्या विशाल सिक्का को पदोन्नत करके कार्यकारी उपाध्यक्ष करने के बाद कंपनी के प्रर्वतकों और उसके प्रबंधन के बीच चल रहे आपसी मतभेद खत्म हो जाएगा। 

यह भी पढ़ें... 20 लाख से कम टर्नओवर वाले कारोबारियों को भी देना पड़ेगा टैक्स

 इसका अहम कारण यह है कि कंपनी के प्रवर्तकों में प्रमुख एनआर नारायण मूर्ति पिछले साल के अक्तूबर महीने से ही विशाल सिक्का के खिलाफ बिगुल बजाये हुए हैं। कि जिस समय विशाल सिक्का ने कंपनी के कार्यकारी अधिकारी के तौर पर काम करना शुरू किया था, तब कंपनी के इन्हीं प्रवर्तकों ने अपने भागीदारों, निवेशकों, ऋणदाताओं के सामने विशाल सिक्का का मतलब More money के तौर पर समझाते हुए भव्य स्वागत किया था।

यह भी पढ़ें... CM नीतीश का आदेश : भागलपुर घोटाले की CBI जांच

देश के IT क्षेत्र की दिग्गज कंपनी  इन्फोसिस के प्रवर्तकों में शामिल एनआर नारायण मूर्ति, क्रिस गोपालकृष्णन और नंदन निलेकणी आदि ने कंपनी के बोर्ड के सामने इसके प्रशासनिक खामियों और कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी विशाल सिक्का को मिल रहे सालाना पैकेज के मुद्दे को इस साल की फरवरी से ही उठाना शुरू कर दिया था। उस समय कहा यह जा रहा था कि कंपनी के प्रवर्तकों ने बोर्ड के सामने विशाल सिक्का को मिलने वाले सालाना पैकेज की तुलना कंपनी के पूर्व दो अधिकारियों राजीव बंसल और डेविड कनेडी को मिलने वाले पैकेज से करते हुए सवाल खड़ा किया था। 

 इसके मुख्य कार्यकारी अधिकारी विशाल सिक्का को दिये जाने वाले सालाना पैकेज के मामले पर भी चिंता जाहिर की थी। इसके साथ ही उन्होंने कंपनी के पूर्व मुख्य वित्त अधिकारी राजीव बंसल और जेनरल काउंसल डेविड कनेडी को वेतन के तौर पर दिये जाने वाले सालाना पैकेज पर भी सवाल उठाये थे।

बंसल को कंपनी की ओर से करीब 17.38 करोड़ रुपये का सालाना पैकेज दिया गया था. वहीं, दिसंबर में कंपनी छोड़ने वाले  इन्फोसिस के मुख्य अनुपालन अधिकारी डेविड कनेडी को 8,68,250 डॉलर सालाना पैकेज दिया गया था।

अब जबकि विशाल सिक्का ने कंपनी के सीर्इओ के पद से इस्तीफा दे दिया है और उन्हें कंपनी की ओर से कार्यकारी निदेशक बनाया है, तब क्या कंपनी में काम की संस्कृति और वेतन पैकेज के मसले को लेकर चल रहे कंपनी के प्रवर्तकों के आपसी मतभेद खत्म हो जायेंगे?
 

न्यूजटाइम्स न्यूज पोर्टल पर देश दुनिया के साथ ही आपके पास पड़ोस की खबरों से हमेशा अपडेट रहने के लिए अपने मोबाईल फोन पर हमारा मोबाईल एप डाउनलोड करें।

Download App


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया


loading...