मुख्य समाचार
मुकुल रॉय को 6 साल के लिए पार्टी से सस्पेंड, बोले - दुर्गा पूजा के बाद दूंगा इस्तीफा जोया अख्तर की मेड इन हेवन में दिखेंगी श्वेता त्रिपाठी नई पार्टी नहीं बनाएंगे मुलायम, बोले - अखिलेश के फैसले से संतुष्ट नहीं हूँ विक्रमादित्य ने कहा, रणवीर सिंह ही निभा सकते हैं कपिल देव का किरदार BIgg Boss 11: सलमान बनें टीवी के सबसे ज्यादा फीस लेने वाले स्टार BHU में बवाल : ACM की हुई छुट्टी, 1000 लोगों पर FIR, SO लाइन हाजिर सरकार के भरोसे नहीं, अपना कार्य स्वयं करें BJP में शामिल दलित, OBC नेताओं को RSS बंधुआ मजदूर ही बनाएगा - मायावती BHU हिंसा असामाजिक तत्वों का पूर्व नियोजित षड्यंत्र : कुलपति अखिलेश से कलह के बाद मुलायम आज कर सकते हैं नई पार्टी का ऐलान Bhopal: नवंबर में बघेलखंड उत्सव संयुक्त राष्ट्र के अनुसार बांग्लादेश में 4,70,000 रोहिंग्याओं को आश्रय की जरूरत

तो क्या विशाल सिक्का के प्रमोशन से खत्म हो जाएगा ....


ANAMIKA PANDEY 18/08/2017 11:54:19
87 Views

18-08-2017122156HyrkbQ40K01

New Delhi. इंफोसिस के मुख्यकार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक के पद से विशाल सिक्का ने इस्तीफा दे दिया हैं। कंपनी ने शेयर बाजारों को दी गई जानकारी में इस बात की पुष्टि करते हुए कहा है कि उन्हें कंपनी की ओर से पदोन्नति देकर कार्यकारी उपाध्यक्ष बना दिया गया हैं, लेकिन इस बीच एक बड़ा सवाल पैदा होता हैं वह यह कि क्या विशाल सिक्का को पदोन्नत करके कार्यकारी उपाध्यक्ष करने के बाद कंपनी के प्रर्वतकों और उसके प्रबंधन के बीच चल रहे आपसी मतभेद खत्म हो जाएगा। 

यह भी पढ़ें... 20 लाख से कम टर्नओवर वाले कारोबारियों को भी देना पड़ेगा टैक्स

 इसका अहम कारण यह है कि कंपनी के प्रवर्तकों में प्रमुख एनआर नारायण मूर्ति पिछले साल के अक्तूबर महीने से ही विशाल सिक्का के खिलाफ बिगुल बजाये हुए हैं। कि जिस समय विशाल सिक्का ने कंपनी के कार्यकारी अधिकारी के तौर पर काम करना शुरू किया था, तब कंपनी के इन्हीं प्रवर्तकों ने अपने भागीदारों, निवेशकों, ऋणदाताओं के सामने विशाल सिक्का का मतलब More money के तौर पर समझाते हुए भव्य स्वागत किया था।

यह भी पढ़ें... CM नीतीश का आदेश : भागलपुर घोटाले की CBI जांच

देश के IT क्षेत्र की दिग्गज कंपनी  इन्फोसिस के प्रवर्तकों में शामिल एनआर नारायण मूर्ति, क्रिस गोपालकृष्णन और नंदन निलेकणी आदि ने कंपनी के बोर्ड के सामने इसके प्रशासनिक खामियों और कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी विशाल सिक्का को मिल रहे सालाना पैकेज के मुद्दे को इस साल की फरवरी से ही उठाना शुरू कर दिया था। उस समय कहा यह जा रहा था कि कंपनी के प्रवर्तकों ने बोर्ड के सामने विशाल सिक्का को मिलने वाले सालाना पैकेज की तुलना कंपनी के पूर्व दो अधिकारियों राजीव बंसल और डेविड कनेडी को मिलने वाले पैकेज से करते हुए सवाल खड़ा किया था। 

 इसके मुख्य कार्यकारी अधिकारी विशाल सिक्का को दिये जाने वाले सालाना पैकेज के मामले पर भी चिंता जाहिर की थी। इसके साथ ही उन्होंने कंपनी के पूर्व मुख्य वित्त अधिकारी राजीव बंसल और जेनरल काउंसल डेविड कनेडी को वेतन के तौर पर दिये जाने वाले सालाना पैकेज पर भी सवाल उठाये थे।

बंसल को कंपनी की ओर से करीब 17.38 करोड़ रुपये का सालाना पैकेज दिया गया था. वहीं, दिसंबर में कंपनी छोड़ने वाले  इन्फोसिस के मुख्य अनुपालन अधिकारी डेविड कनेडी को 8,68,250 डॉलर सालाना पैकेज दिया गया था।

अब जबकि विशाल सिक्का ने कंपनी के सीर्इओ के पद से इस्तीफा दे दिया है और उन्हें कंपनी की ओर से कार्यकारी निदेशक बनाया है, तब क्या कंपनी में काम की संस्कृति और वेतन पैकेज के मसले को लेकर चल रहे कंपनी के प्रवर्तकों के आपसी मतभेद खत्म हो जायेंगे?
 

न्यूजटाइम्स न्यूज पोर्टल पर देश दुनिया के साथ ही आपके पास पड़ोस की खबरों से हमेशा अपडेट रहने के लिए अपने मोबाईल फोन पर हमारा मोबाईल एप डाउनलोड करें।

Download App


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया


मना॓रंजन और पढ़ें..

loading...