मुख्य समाचार
 

चीनियों को सबक सिखाने को भारतीय जवान तैयार, सैनिकों से मिलेंगे राष्ट्रपति


GAURAV SHUKLA 18/08/2017 14:58:26
231 Views

18-08-2017152044uImjS8wbfz1

Lucknow. भारत औऱ चीन के बीच सीमा पर जारी तनातनी थमने का नाम नहीं ले रही है। इसी तनातनी के बीच राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद अगस्त माह की आखिरी में अपनी पहली आधिकारिक यात्रा पर लद्दाख जाएंगे। राष्ट्रपति के इस दौरे को भारतीय सुरक्षा बलों के उत्साह बढ़ाने के तौर पर देखा जा रहा है। राष्ट्रपति के इस दौरे के लेकर खास बात यह है कि पीएम मोदी भी 2014 में सत्ता संभालने के बाद इसी इलाके के दौरे पर गए थे।

यह भी पढ़ें... 65 वर्षीय शेख से करवा दी गयी नाबालिग की शादी, केन्द्रीय मंत्री ने सुषमा से की अपील
डोकलाम मसले पर शांतिवार्ता के विरुद्ध भारत औऱ चीन के बीच तकरीबन दो माह से तनातनी जारी है। इस तनातनी को लेकर लगातार भारत की ओर से शांति वार्ता का प्रयास किया जा रहा है। बावजूद इसके चीनी मीडिया और सेना की ओर से धमकी वाले बयान समाने आ रहे है। इसी बीच राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के दौरे को भारतीय सेना में उत्साह का संचार करने को लेकर एक पहल के तौर पर देखा जा सकता है। 

यह भी पढ़ें... जिन्हें हमने दी नौकरी योगी सरकार उन्हीं पर चलवा रही लाठियां : अखिलेश
रामनाथ कोविंद लद्दाख में सेना की इन्फेन्ट्री रेजिमेंट के स्काउट कार्यक्रम में शामिल होने के लिए जा रहे है। इस रेजिमेंट के 5 बटालियन में प्रत्येक में 900 सैनिक है। यह वहीं रेजिमेंट है जिसने कारगिल जंग के दौरान अपना पराक्रम दिखाया था। इस पराक्रम के बाद ही इसे नियमित आर्मी रेजिमेंट का दर्जा मिला था। राष्ट्रपति भवन से दी गयी जानकारी के मुताबिक कोविंद का यह दौरा एक दिवसीय होगा। 

Web Title: Doleham controversy: President of Ladakh will join the regiment's program in Kargil ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया


loading...