मुख्य समाचार
मुकुल रॉय को 6 साल के लिए पार्टी से सस्पेंड, बोले - दुर्गा पूजा के बाद दूंगा इस्तीफा जोया अख्तर की मेड इन हेवन में दिखेंगी श्वेता त्रिपाठी नई पार्टी नहीं बनाएंगे मुलायम, बोले - अखिलेश के फैसले से संतुष्ट नहीं हूँ विक्रमादित्य ने कहा, रणवीर सिंह ही निभा सकते हैं कपिल देव का किरदार BIgg Boss 11: सलमान बनें टीवी के सबसे ज्यादा फीस लेने वाले स्टार BHU में बवाल : ACM की हुई छुट्टी, 1000 लोगों पर FIR, SO लाइन हाजिर सरकार के भरोसे नहीं, अपना कार्य स्वयं करें BJP में शामिल दलित, OBC नेताओं को RSS बंधुआ मजदूर ही बनाएगा - मायावती BHU हिंसा असामाजिक तत्वों का पूर्व नियोजित षड्यंत्र : कुलपति अखिलेश से कलह के बाद मुलायम आज कर सकते हैं नई पार्टी का ऐलान Bhopal: नवंबर में बघेलखंड उत्सव संयुक्त राष्ट्र के अनुसार बांग्लादेश में 4,70,000 रोहिंग्याओं को आश्रय की जरूरत

चीनियों को सबक सिखाने को भारतीय जवान तैयार, सैनिकों से मिलेंगे राष्ट्रपति


GAURAV SHUKLA 18/08/2017 14:58:26
100 Views

18-08-2017152044uImjS8wbfz1

Lucknow. भारत औऱ चीन के बीच सीमा पर जारी तनातनी थमने का नाम नहीं ले रही है। इसी तनातनी के बीच राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद अगस्त माह की आखिरी में अपनी पहली आधिकारिक यात्रा पर लद्दाख जाएंगे। राष्ट्रपति के इस दौरे को भारतीय सुरक्षा बलों के उत्साह बढ़ाने के तौर पर देखा जा रहा है। राष्ट्रपति के इस दौरे के लेकर खास बात यह है कि पीएम मोदी भी 2014 में सत्ता संभालने के बाद इसी इलाके के दौरे पर गए थे।

यह भी पढ़ें... 65 वर्षीय शेख से करवा दी गयी नाबालिग की शादी, केन्द्रीय मंत्री ने सुषमा से की अपील
डोकलाम मसले पर शांतिवार्ता के विरुद्ध भारत औऱ चीन के बीच तकरीबन दो माह से तनातनी जारी है। इस तनातनी को लेकर लगातार भारत की ओर से शांति वार्ता का प्रयास किया जा रहा है। बावजूद इसके चीनी मीडिया और सेना की ओर से धमकी वाले बयान समाने आ रहे है। इसी बीच राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के दौरे को भारतीय सेना में उत्साह का संचार करने को लेकर एक पहल के तौर पर देखा जा सकता है। 

यह भी पढ़ें... जिन्हें हमने दी नौकरी योगी सरकार उन्हीं पर चलवा रही लाठियां : अखिलेश
रामनाथ कोविंद लद्दाख में सेना की इन्फेन्ट्री रेजिमेंट के स्काउट कार्यक्रम में शामिल होने के लिए जा रहे है। इस रेजिमेंट के 5 बटालियन में प्रत्येक में 900 सैनिक है। यह वहीं रेजिमेंट है जिसने कारगिल जंग के दौरान अपना पराक्रम दिखाया था। इस पराक्रम के बाद ही इसे नियमित आर्मी रेजिमेंट का दर्जा मिला था। राष्ट्रपति भवन से दी गयी जानकारी के मुताबिक कोविंद का यह दौरा एक दिवसीय होगा। 

न्यूजटाइम्स न्यूज पोर्टल पर देश दुनिया के साथ ही आपके पास पड़ोस की खबरों से हमेशा अपडेट रहने के लिए अपने मोबाईल फोन पर हमारा मोबाईल एप डाउनलोड करें।

Download App


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया


मना॓रंजन और पढ़ें..

loading...