10 सालों में 67% बढ़ा जिला सहकारी बैंकों का घाटा 


GAURAV SHUKLA 15/07/2018 09:14:28
136 Views

Lucknow. प्रदेश की जिला सहकारी बैंकों के खस्ताहाल सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं। नेशनल फेडरेशन ऑफ स्टेट को ऑपरेटिव बैंक की सामने आई रिपोर्ट के मुताबिक 10 सालों के भीतर जिला सहकारी बैंकों का घाटा 67 फीसदी बढ़ गया है। जिसके बाद इनकी खुद की एसोसिएशन ने इनका विलय कर एक राज्य स्तरीय बैंक बनाने की मांग की है। 

10 year me 67 persent badha sahkari bainko ka ghata
सामने आई सालाना रिपोर्ट के अनुसार जिला सहकारी बैंकों के कर्मचारियों की कार्यक्षमता राज्य सहकारी बैंकों से तकरीबन 5 से 3 गुना कम है। जिसके चलते इनका घाटा बीते 10 सालों में 67 फीसदी बढ़ चुका है। आपको बता दें कि जिले में कुल 50 सहकारी बैंक हैं। जिसमें रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की ओर से कुछ बैंकों पर खराब आर्थिक स्थिति होने व संदिग्ध गतिविधियों के चलते पाबंदी लगा रखी है। लेकिन फिलहाल जो चलन में हैं उनका प्रदर्शन भी अच्छा नहीं है। 

10 year me 67 persent badha sahkari bainko ka ghata
बीते 10 वित्तीय वर्षों की बात की जाए तो जिला सहकारी बैंकों का प्रदर्शन लगातार बिगड़ता ही जा रहा है। 2008-09 के मुकाबले इनकी शाखाएं 1363 से बढ़कर 1406 तक पहुंच गयी है। जबकि इनकी कर्मचारी 7537 से घटकर 6862 रह गये हैं। इस बीच यहां जमा रकम दोगुना से ज्यादा बढ़ी है, कैश इन हैंड भी बढ़ा है। लेकिन इनका घाटा 91 करोड़ से 67 फीसदी बढ़ 152 करोड़ पहुंच गया है। 

यह भी पढ़ें... भाजपा विधायक पर पत्नी ने लगाया कॉलेज गर्ल से नाजायज रिश्तों का आरोप

Web Title: 10 year me 67 persent badha sahkari bainko ka ghata ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया