मुख्य समाचार
 

एनएन मुखर्जी का भारत को पहली बार गोल्ड दिलाने में क्या था योगदान...


SUJEET KUMAR 15/07/2018 12:02:29
130 Views

Lucknow. बॉलीवुड के स्टार अभिनेता अक्षय कुमार की आने वाली फिल्म 'गोल्ड' की कहानी भारतीय हॉकी पर आधारित है। आज हम आपको बताएंगे की अक्षय इस फिल्म में किसका रोल अदा कर रहे हैं...

Bollywood film Gold Akshay Kumar

अक्षय कुमार इस फिल्म में ध्यानचंद या बलबीर सिंह नहीं बल्कि बंगाल के यंगमैन एसोसिएशन टीम के कैप्टन के तौर पर खेलने वाले एनएन मुखर्जी का किरदार निभा रहे हैं। मुखर्जी 1948 में ओलंपिक गोल्ड मेडल जीतने वाली हॉकी टीम के हेड कोच थे।

Bollywood film Gold Akshay Kumar

एनएन मुखर्जी 1928 में एम्सटरडम ओलंपिक में खेलने गई ब्रिटिश इंडिया हॉकी टीम में फॉरवर्ड के तौर पर खेले थे। रिपोर्ट की माने तो मुखर्जी ने 1948 की हॉकी टीम को लॉन्ग हिट एंड रन की रणनीति सिखाई थी। यही रणनीति आज भी हॉकी टीमों में जिंदा है। 
 
Bollywood film Gold Akshay Kumar
1947 में जब लंदन ओलंपिक के लिए टीम सलेक्शन बॉम्बे में हो रहा था, तब जॉनी कार और एनएन मुखर्जी कैम्प इंचार्ज थे। उस दौरान एसी चैटर्जी इंडियन हॉकी फेडरेशन के सेक्रेटरी थे। फिल्म में 1936 ओलंपिक के बारे में भी दिखाया गया है ,उस वक्त भारत अंग्रेजों का गुलाम था। 

एनएन मुखर्जी नंगे पैर धोती पहनकर सबसे तेज दौड़ते थे। जिसके लिए वह आज भी प्रचलित है। उनकी इसी खूबी से बंगाल यंग ऐसोसिएशन ने कई मैच जीते थे। बता दें कि भारत को गोल्ड दिलाने में 12 साल का वक्त लगा था। इसके बाद भारत ने 12 अगस्त 1948 को ओलंपिक के दौरान स्वतंत्र भारत के लिए पहला स्वर्ण पदक जीता था और देश का नाम गर्व से ऊंचा किया था। 

Web Title: Bollywood film Gold Akshay Kumar ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया


loading...