दलित पिता से भेदभाव ने बना दिया चन्द्रशेखर आजाद को रावण, जानिए दलित नेता की कहानी


UMENDRA SINGH 13/08/2018 11:53:49
1457 Views

Lucknow. उत्तर प्रदेश की राजनीति में दलित नेताओं की जब भी बात आती है, सबसे पहला नाम बसपा प्रमुख मायावती का ही आता है। लेकिन साल भर पहले स्थिति अचानक से बदलने लगी थी। एक और दलित नेता यूपी में उभरने लगा था। उसका नाम था चंद्रशेखर रावण। आखिर वो रावण कैसे बना क्या आपको पता है। चलिए हम बताते हैं।

  यह भी पढ़ें: बड़ी खबर: दाऊद के नाम पर बसपा के वरिष्ठ नेता से मांगी 1 करोड़ की रंगदारी, मचा कोहराम

chandra shekhar raawan

जिसको आप रावण कहते हैं वो कभी चन्द्रशेखर आजाद था। जी हां उसके पिता शिक्षक थे। उन्होंने अपने तीन में से दो बेटों के नाम क्रांतिकारियों के नाम पर रखे थे। एक चन्द्रशेखर आजाद और दूसरा भगत सिंह। कहते हैं कि उसके पिता से दलित होने की वजह से भेदभाव किया जाता था। इसी गुस्से की आग ने चन्द्रशेखर आजाद को रावण बना दिया। वैसे वो पेशे से वकील है। उसकी मां कहती है कि वो गुस्सैल था लेकिन कभी भी अपराधी नहीं था।

chandra shekhar raawan

  सहारनपुर में भड़की थी हिंसा, रावण पर लगा था गंभीर आरोप

पिछले साल 2017 में सहारनपुर में जातीय हिंसा भड़क गई थी। इस हिंसा को भड़काने में सबसे बड़ा नाम भीम आर्मी के संस्थापक चन्द्रशेखर रावण का ही आया था। मायावती के धुर विरोधी कहे जाने वाले रावण की इसके बाद से मुसीबत शुरू हो गयी थी। पुलिस उसको गिरफ्तार करने के लिए हर जगह तलाश रही थी। हालांकि वो अंडर ग्राउंड हो गया था। उसपर 12 हजार रुपये का इनाम भी था।

chandra shekhar raawan

  गर्लफ्रैंड बन गई पुलिस की मुखबिर, दे दिया धोखा

रावण को तलाश रही पुलिस को एक खबर मिली कि उसकी एक गर्लफ्रैंड है जिससे रावण दिलो जान से प्यार करता है। इसके बाद पुलिस ने सहारनपुर में रहने वाली उसकी गर्लफ्रैंड से संपर्क साधा और उसको अपनी ओर मिलाने का प्रयास किया। पुलिस को सफलता भी मिली और उसकी महिला मित्र पुलिस की मुखबिर बनने के लिए तैयार भी हो गयी।

  धोखे से बुलाया और करवा दिया पुलिस से गिरफ्तार

पुलिस से मिली हुई रावण की गर्लफ्रैंड ने उस तक संदेश भिजवाया कि वो उससे मिलना चाहती है। उस वक्त रावण हिमाचल में छिपा था। वो अपनी गर्लफ्रैंड की बातों में आ गया और डलहौजी में उससे मिलने पहुंच गया। इसी दौरान घाट लगायी यूपी पुलिस ने रावण को दबोच लिया। इस घटना की सूचना हिमाचल पुलिस तक को नहीं थी।

 

 

Web Title: chandra shekhar raawan ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया