<link>www.newstimes.co.in</link><description> delivers news and information on the latest top stories, Videsh, Desh, Cricket, Entertainment, Business, Life Style, Editors Artical and other related local news</description><copyright>© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved</copyright><language>hi</language><lastBuildDate>17-10-2019 03:26:37</lastBuildDate><item><title>​​​​विश्व एनेस्थीसिया दिवस : एनेस्थीसिया के बिना ऑपरेशन संभव नहीं https://www.newstimes.co.in/news/82563/भारत/उत्तर-प्रदेश-/-World-Anesthesia-Day:-Operation-not-possible-without-anesthesia902992Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1591<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019190742WorldAnesthes1.jpg' alt='Images/16-10-2019190742WorldAnesthes1.jpg' />विश्व एनेस्थीसिया दिवस: एनेस्थीसिया के बिना ऑपरेशन संभव नहीं

​​​​विश्व एनेस्थीसिया दिवस : एनेस्थीसिया के बिना ऑपरेशन संभव नहीं

Lucknow आज विश्व एनेस्थीसिया दिवस है ऑपरेशन थ्रियटर (ओटी) के अंदर किसी भी सर्जरी में जितना महत्व सर्जन का होता है उतना ही एनेस्थेसिया का भी होता है। 16 अक्टूबर को विश्व एनेस्थेसिया दिवस मनाया जाता है। 173 साल पहले 16 अक्टूबर 1846 को शल्य क्रिया में पहली बार अमेरिका के बॉस्टन शहर में मेशाच्चुसेट्स जनरल हॉस्पिटल के एम्फी थियेटर जिसे अब इथर डोम कहा जाता है। वहां पर एक जबड़े के मरीज की सर्जरी में डॉ.विलियम थॉमस ग्रीन मॉर्टन ने ईथर एनेस्थीसिया का पहला सफल प्रदर्शन किया था। तब से इस दिन को विश्व एनेस्थीसिया दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसे चिकित्सा जगत की सबसे बड़ी खोज बताया जाता है। क्योंकि एनेस्थीसिया के बिना कोई भी ऑपरेशन संभव नहीं होता है। 1846 से लेकर आज तक इस क्षेत्र में इतना विकास हो गया है कि अब निश्चेतना बहुत ही सुरक्षित हो चुका है।

Images/16-10-2019190742WorldAnesthes1.jpg

एनेस्थीसिया शब्द ग्रीक भाषा के दो शब्द an और aethesis शब्द से मिलकर बना है। an अर्थात बिनाऔर “aethesis” अर्थात संवेदना। इस प्रकार शब्द से ही इसका भाव स्पष्ट है संवेदना के बिना। एनेस्थीसिया या निश्चेतना चिकित्सा विज्ञान का वह महत्वपूर्ण शाखा है जिसमें किसी भी प्रकार के सर्जरी या ऑपरेशन में मरीज को दर्द के अनुभव के बिना ऑपरेशन सफलता पूर्वक किया जाता है। इस प्रक्रिया में मरीज होश में रहकर ऑपरेशन देख भी सकता है पर उसे दर्द या कष्ट का अनुभव नहीं होता है। इसके बिना जटिल ऑपरेशन संभव नहीं होते हैं। एनेस्थीसिया के प्रक्रिया को करने वाले चिकित्सक को एनेस्थीसियोलॉजिस्ट या एनेस्थेटिस्ट तथा इसमें प्रयोग किए जाने वाले दवाओं को एनेस्थेटिक दवा कहते हैं।

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
निराश्रित गोवंश को सीमैप और गोसेवा आयोग मिलकर किसानों के लिए बनाएंगे उपयोगीhttps://www.newstimes.co.in/news/82562/भारत/उत्तर-प्रदेश-/Seemap-and-Goseva-Commission-will-make-the-destitute-cow-dynasty-useful-for-the-farmers902991Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1591<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019190016SeemapandGos3.jpg' alt='Images/16-10-2019190016SeemapandGos3.jpg' />उत्तर प्रदेश में निराश्रित गोवंशों की समस्या के समाधना के लिए बुधवार 16 अक्टूबर को केन्द्रीय औषधीय एव सगंध पौधा संस्थान (सीमैप) लखनऊ

निराश्रित गोवंश को सीमैप और गोसेवा आयोग मिलकर किसानों के लिए बनाएंगे उपयोगी

Lucknow: उत्तर प्रदेश में निराश्रित गोवंशों की समस्या के समाधना के लिए बुधवार 16 अक्टूबर को केन्द्रीय औषधीय एव सगंध पौधा संस्थान (सीमैप) लखनऊ में सीमैप के पदाधिकारियों व  उत्तर प्रदेश गो सेवा आयोग के अध्यक्ष श्याम नन्दन सिंह एवं सचिव आनंद कुमार व यूनाइट लखनऊ के पदाधिकारियों की संयुक्त बैठक निदेशक सीमैप डा. अब्दुल समद के मार्गदर्शन में सीमैप के कार्यालय पर हुई। इस अवसर पर  निर्णय लिया गया कि निराश्रित गोवंशों को किसानों के लिये उपयोगी बनाने के लिए निम्न विंदुओं पर काम करना होगा।

Images/16-10-2019185955SeemapandGos2.jpg

1- उ.प्र. गोसेवा आयोग द्वारा आयोजित मण्डल स्तर के जैविक खेती प्रशिक्षण कार्यशाला में विशेषज्ञ भेजकर प्रशिक्षण प्रदान करेंगे।
2- इच्छुक किसानों व गोशालाओं को औषधीय पौधों की खेती कर आय वृद्धि हेतु संस्थान के कार्यक्रमों में प्राथमिकता देकर सहयोग प्रदान करेंगे।
3- प्रदेश भर से आयोग गोशाला संचालकों व जैविक खेती के इच्छुक कृषकों को 15 नवम्बर में सीमैप परिसर में लाकर एकदिवसीय प्रशिक्षण कराया जायेगा।
4- सीमैप आयोग के माध्यम से किसानों व गोशालाओं को आयवर्धन के लिए प्रमाणित औषधीय व सगंध पौधा, बीज उपलब्ध करायेगा।
5- सीमैप (केन्द्रीय औषधीय व सगंध पौध अनुसंधान संस्थान) लखनऊ के वैज्ञानिक डा0 अजीत कुमार शासनेय एक माह के अन्तर्गत पंचगव्य आधारित उत्पादों से सन्दर्भित अब तक किया गया। शोध परिणाम विवरण तथा और शोध की आवश्यकता व उपयोगिता के अनुसार शोध कार्यक्रमों हेतु प्रोजेक्ट तैयार कर विचार विमर्श हेतु प्रस्तुत करेंगे।
6- उ.प्र. गोसेवा आयोग पंचगव्य आधारित उत्पादों के शोध एवं विकास हेतु ऐसे संस्थानों से समन्वय व यथा आवश्यक सहयोग उपलब्ध कराते हुए कार्य हेतु एक समिति टास्कफोर्स का गठन करेगा।

Images/16-10-2019190016SeemapandGos3.jpg

बैठक में डा. संजय कुमार सीमैप, लखनऊ, डा. अजीत कुमार शासनेय, डा. उमाशंकर, योगेश कुमार मिश्रा एवं राधेश्याम दीक्षित उपस्थित रहे।

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
जानिए क्या है विश्व खाद्य दिवस का उद्देश्य, क्या कहते हैं आंकड़ेhttps://www.newstimes.co.in/news/82559/भारत/Know-what-is-the-purpose-of-World-Food-Day-what-the-figures-say902988Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019172557Knowwhatist4.jpg' alt='Images/16-10-2019172557Knowwhatist4.jpg' />विश्व भर में हर दिन का अपना कोई ना कोई महत्व होता है। 16 अक्टूबर को विश्व खाद्य दिवस पूरी दुनिया में मनाया जाएगा। इस दिवस को मनाने का उद्देश्य दुनिया को गरीबी कुपोषण और भुखमरी से मुक्ति दिलाना है। इसके साथ ही खाद्य सुरक्षा और लोगों की स्थितियों को लेकर जागरूकता फैलाने का काम भी किया जाता है।  

जानिए क्या है विश्व खाद्य दिवस का उद्देश्य, क्या कहते हैं आंकड़े

Lucknow. विश्व भर में हर दिन का अपना कोई ना कोई महत्व होता है। 16 अक्टूबर को विश्व खाद्य दिवस पूरी दुनिया में मनाया जाएगा। इस दिवस को मनाने का उद्देश्य दुनिया को गरीबी कुपोषण और भुखमरी से मुक्ति दिलाना है। इसके साथ ही खाद्य सुरक्षा और लोगों की स्थितियों को लेकर जागरूकता फैलाने का काम भी किया जाता है।  

Images/16-10-2019172456Knowwhatist1.jpg

बताते चलें कि संयुक्त राष्ट्र के विश्व खाद्य व कृषि संगठन की स्थापना की याद में यह खास दिवस मनाया जाता है। सरकारी और गैर सरकारी रिपोर्टों का यदि हम ध्यान पूर्वक अवलोकन करें तो गरीबी और भुखमरी के आंकडे विरोधाभास मिलते हैं। आंकड़ों पर गौर किया जाए तो इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि विश्व भर में भूखे सो जाने वाले लोगों की संख्या कहीं से कम नहीं है।

Images/16-10-2019172511Knowwhatist2.jpg

भारत सरकार दावा हमेशा ही यह दावा करती रही है कि उसके प्रयासों से गरीबों को खाद्य सुरक्षा का लाभ मिलता रहा है। इससे गरीबी दूर करने में मदद मिली है। लेकिन दूसरी ओर  ग्लोबल हंगर इंडेक्स पर गौर करें तो हकीकत कुछ और ही नजर आती है। संयुक्त राष्ट्र ने जुलाई 2019 में जो रिपोर्ट जारी की थी उसके मुताबिक भारत में स्वास्थ्य, स्कूली शिक्षा समेत विभिन्न क्षेत्रों में प्रगति से लोगों को गरीबी से बाहर निकाला जा सका है।

यह भी पढ़ें... कांग्रेस प्रत्याशी की अजब परेशानी, जिला निर्वाचन अधिकारी से लगाई गुहार

वर्ष 2006 से 2016 के मध्य गरीबी से 27.10 लोग बाहर निकल पाएं हैं। वहीं, वर्ष 2005-06 में रिपोर्ट पर गौर किया जाए तो भारत के करीब 64 करोड़ लोग यानि कि (55.1 प्रतिशत) गरीबी का जीवन व्यतीत कर रहे थे। जो कि गरीबी की संख्या घटकर 2015-16 में 36.9 करोड़ (27.9 प्रतिशत) तक आ गई। इस तरह देखा जाए तो गरीबी को दूर करने के लिए भारत ने जो प्रयास किए वह सफलता की ओर बढ़ी है।

Images/16-10-2019172536Knowwhatist3.jpg

ग्लोबल हंगर इंडेक्स की विभिन्न सालों की रिपोर्टों पर ध्यान दें तो भारत की रैंकिंग में लगातार गिरावट दिखाया गया है। वर्ष 2014 में भारत गरीबी के 55वें पायदान पर था। 2015 में 80वें, 2016 में 97वें 2017 में 100वें और 2018 में 103 वें पायदान पर पहुंच गया है। यह हैरान करने वाली स्थिति उस समय है कि जब भारत की कुपोषित आबादी में उल्लेखनीय कमी आयी है।  वर्ष 2000 की बात करें तो भारत में कुल आबादी का 18.2 फीसदी हिस्सा कुपोषण का शिकार था। वहीं, 2018 में कुल आबादी का 14.8 फीसदी वर्ग कुपोषण से जूझ रहा है।

यह भी पढ़ें... कांग्रेस प्रत्याशी की अजब परेशानी, जिला निर्वाचन अधिकारी से लगाई गुहार

संयुक्त राष्ट्र के आंकड़ों के अनुसार भारत में लगभग 40 फीसदी खाना बेकार हो जाता है। इसे भुखमरी का एक अहम कारण माना जाता है। रिपोर्ट के अनुसार भारत में खाद्य सामग्रियों का पार्याप्त माचा में उत्पादन होता है। लेकिन गरीबों तक यह नहीं पहुंच पाता। इसे लेकर कोई भी स्थाई समाधान नहीं निकाला जा सका है। खाद्यान्न उत्पादन में हर तरह से आत्म निर्भर बनने के लिए उन्नत कृषि प्रणाली को अपनाना होगा। इसे अपनाकर ही गरीबी की समस्याओं को दूर किया जा सकता है।

Images/16-10-2019172557Knowwhatist4.jpg

विश्व बैंक के अनुसार विश्व भर में लगभग 76 करोड़ लोग गरीब हैं। गरीबी के इस आंकड़े में भारत में करीब 22.4 करोड़ लोग गरीबी रेखा से नीचे का जीवन यापन कर रहे हैं। भारत के 7 राज्यों छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, मध्य प्रदेश, ओडिशा, राजस्थान और यूपी में लगभग 60 प्रतिशत गरीब अबादी है। गरीबों 80 प्रतिशत संख्या गांवों में है। जानकारी के अनुसार भारत की संख्या सवा सौ करोड़ से भी अधिक है। जिसमें लगभग 27 करोड़ लोग गरीबी रेखा के नीचे गुजर बसर कर रहे। गरीबों में अनुसूचित जनजाति के 45 प्रतिशत और अनुसूचित जाति के 31.5 प्रतिशत संख्या है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
मोदी सरकार का बड़ा तोहफा, एक रुपए में दो लाख का इंश्योरेंसhttps://www.newstimes.co.in/news/82558/भारत/Modi-governments-big-gift-insurance-of-two-lacks-in-one-rupee902987Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019164906Modigovernmen1.jpg' alt='Images/16-10-2019164906Modigovernmen1.jpg' />प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार बनने के बाद कई तरह की खास योजनाएं जनता को दी गई। जिसका आज करोड़ों गरीब जनता लाभ उठा रही है। मोदी की योजनओं को लेकर बात करें तो उज्जवला योजना से लेकर किसान सम्मान निधि जैसी अहम योजनाओं ने लोगों की किस्मत बदलने का काम किया है।

मोदी सरकार का बड़ा तोहफा, एक रुपए में दो लाख का इंश्योरेंस

Lucknow. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार बनने के बाद कई तरह की खास योजनाएं जनता को दी गई। जिसका आज करोड़ों गरीब जनता लाभ उठा रही है। मोदी की योजनओं को लेकर बात करें तो उज्जवला योजना से लेकर किसान सम्मान निधि जैसी अहम योजनाओं ने लोगों की किस्मत बदलने का काम किया है।

Images/16-10-2019164906Modigovernmen1.jpg

अब प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना लेकर केन्द्र सरकार आई है। इस योजना के तहत एक रुपए देकर ही दो लाख रुपए का लाभ आप उठा सकेंगे। इसके लिए आपको 28 रुपये प्रति माह यानी रोजाना एक रुपये देना होगा। हम आपको विस्तार से इस योजना के बारे में बता रहे हैं।

आपको बता दें कि इस योजना का फायदा लेने के लिए न्यूनतम आयु 18 वर्ष होना जरूरी है। वहीं, अधिकतम 50 वर्ष होनी चाहिए। इस पॉलिसी के मैच्योरिटी की उम्र सीमा 55 साल है। योजना के तहत आपको कम से कम एक साल तक रकम चुकानी होगी। यह योजना लोगों को काफी पसंद आ रहा है। चूंकि यह बेहद ही सस्ता होने के साथ बचत वाला भी है। इसके तहत आपको सालाना 330 रुपये यानी प्रति माह 27.5 रुपये प्रीमियम के तौर पर देने होंगे। यह रकम आपको अकाउंट से कटेगी। इसके लिए जीएसटी का भुगतान भी करना होगा।

यह भी पढ़ें... एक भी बालिका विद्यालय जाने से वंचित न रहे: स्वाती सिंह

बताते चलें कि प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना में बीमा कराने पर यदि किसी की मौत हो जाती है, तो नॉमिनी को दो लाख रुपये का कवर मिलेगा।  यह योजना हर साल रिन्यू होती है। इस योजना का लाभ अंग्रेजी, हिंदी, गुजराती, बांग्ला, कन्नड़, ओडिया, मराठी, तेलुगू व अन्य भाषाओं में भी उठा सकेंगे। योजना एक टर्म इंश्योरेंस प्लान जैसा है। जो भी पॉलिसीधारक होंगे उनकी मौत होने पर कंपनी इंश्योरेंस का भुगतान करेगी। यदि पॉलिसी किसी व्यक्ति ने ली है और समय पूरा गया हो, लेकिन व्यक्ति ठीक-ठाक रहता है तो कोई लाभ नहीं मिलता।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
भाजपा सांसद की भी नहीं सुनती यूपी पुलिस, सोशल मीडिया पर छल्का दर्दhttps://www.newstimes.co.in/news/82556/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-अमीनाबाद--अलीगंज--आलमबाग--आशियाना--इंटौजा--इंदिरा-नगर--ऐशबाग--कैन्ट--कृष्णा-नगर--कैसरबाग--काकोरी--गुडम्बा--गाजीपुर--गोमती-नगर--गोसाईंगंज--गौतमपल्ली--चिनहट--चौक--जानकीपुरम--ठाकुरगंज--तालकोटरा--नगराम--नाका-हिन्डोला--निगोहां--पारा--पीजीआई--बख्शी-का-तालाब--बाजारखाला--मड़ियांव--मलिहाबाद--महानगर--मानक-नगर--माल--मोहनलालगंज--वज़ीरगंज--विकास-नगर--विभूति-खण्ड--सआदतगंज--सरोजनी-नगर--हजरतगंज--हसनगंज--हुसैनगंज-Even-the-BJP-MP-does-not-listen-to-the-UP-Police-spill-pain-on-social-media902985Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1534<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019155658EventheBJPM3.jpg' alt='Images/16-10-2019155658EventheBJPM3.jpg' />यूपी की पुलिस को लेकर विपक्ष तो प्रदेश सरकार को घेर ही रहा है अब उनकी ही पार्टी के लोग भी इस व्यवस्था पर सवाल उठाने लगे हैं। ताजा मामला राजधानी लखनऊ के ही मोहनलालगंज का है। यहां से भाजपा सांसद ने ट्विटर के जरिए पुलिस की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए है। मामला एक महिला का है जिससे हुई एक मारपीट के मामले में सांसद की पैरवी के बावजूद पुलिस ने कार्रवाई नहीं की। अपने ट्वीट में सांसद ने कार्रवाई न होने पर थाने में धरने पर बैठने की चेतावनी तक दी है।

भाजपा सांसद की भी नहीं सुनती यूपी पुलिस, सोशल मीडिया पर छल्का दर्द

- पुलिस की कार्यशैली से आहत मोहनलालगंज सांसद
- ट्वीट के जरिए साझा की व्यथा तब हरकत में आई पुलिस
- सिफारिश के बावजूद पीड़ित को धमका रही थी पुलिस

Lucknow. यूपी की पुलिस को लेकर विपक्ष तो प्रदेश सरकार को घेर ही रहा है अब उनकी ही पार्टी के लोग भी इस व्यवस्था पर सवाल उठाने लगे हैं। ताजा मामला राजधानी लखनऊ के ही मोहनलालगंज का है। यहां से भाजपा सांसद ने ट्विटर के जरिए पुलिस की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए है। मामला एक महिला का है जिससे हुई एक मारपीट के मामले में सांसद की पैरवी के बावजूद पुलिस ने कार्रवाई नहीं की। अपने ट्वीट में सांसद ने कार्रवाई न होने पर थाने में धरने पर बैठने की चेतावनी तक दी है। 

Images/16-10-2019155551EventheBJPM1.jpg

मिली जानकारी के अनुसार मोहनलालगंज सीट से दूसरे बार भाजपा के टिकट पर सांसद चुने गए कौशल किशोर के क्षेत्र की रामा देवी नाम की एक महिला किसी विवाद के लेकर थाने पहुंची थी। 
महिला का आरोप था कि दो दबंगों ने उसके साथ मारपीट की इसकी शिकायत लेकर जब वह थाने पहुंची तो पुलिस आरोपियों पर कार्रवाई के बजाए उसे ही धमकाने लगी। 
अपनी फरियाद लेकर जब यह महिला सांसद कौशल किशोर के पास पहुंची तो उन्होंने वरिष्ठ अधिकारियों से बात करते महिला की पैरवी की। 

Images/16-10-2019155627EventheBJPM2.JPG

बावजूद इसके पुलिस ने आरोपियों पर कार्रवाई के बजाए महिला को ही जेल में डालने की धमकी दे डाली। 
यह बात जब सांसद के कानों तक पहुंची तो वह तमतमा गए। नतीजे में उन्होंने अपनी भड़ास सोशल मीडिया पर निकालते हुए पूरा मामला साक्षा किया। 
उन्होंने ट्विटर के जरिए पूरे मामले को साझा करते हुए कार्रवाई न होने की दशा में मलिहाबाद थाने पर अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठने की चेतावनी दे डाली।

Images/16-10-2019155658EventheBJPM3.jpg

 

उन्होंने पुलिस पर अवैध वसूली करने और पीड़ितों को सताने और अपराधियों का संरक्षण देने का आरोप लगाया।  
इस ट्वीट के बाद हरकत में आई पुलिस ने आनन फानन कार्रवाई करते हुए आरोपी के खिलाफ की गयी कार्रवाई से अवगत कराते हुए रिट्वीट किया है। 
मालूम हो कि इन दिनों विपक्षी पार्टियां प्रदेश में बिगड़ी कानून व्यवस्था को लेकर लगातार योगी सरकार पर निशाना साध रही हैं। 
भाजपा के सांसद का यह ट्वीट विपक्ष के आरोपों पर पुष्टि की मुहर लगाता नजर आ रहा है। 

यह भी पढ़ें...अयोध्या मसला: संजीदा हुई योगी सरकार, अफसरों की छुट्टियों पर लगाई रोक

 

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
#NewstimesTrending : अयोध्या मामले पर सुनवाई का अंतिम दौर जारी, देखें अपडेटhttps://www.newstimes.co.in/news/82555/भारत/उत्तर-प्रदेश-/newstimes-trending-ayodhya-mamle-par-sunvai-ka-antim-daur-902984Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNP863<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019155037newstimestren3.JPG' alt='Images/16-10-2019155037newstimestren3.JPG' />बहुप्रतीक्षित अयोध्या मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में अंतिम दौर में है। मामले का फैसला चाहे जो भी हो शांति व्यवस्था किसी प्रकार प्रभावित न होने पर इसके लिए शासन स्तर पर युद्ध स्तर पर तैयारी की जा रही है। वहीं योगी सरकार इस मसले पर बेहद संजीदा है। इसी कड़ी में योगी सरकार के प्रदेश ने सभी सरकारी अधिकारियों की छुट्टियां रद्द कर दी है। सरकार की ओर से फरमान जारी हुआ है कि फील्ड में तैनात कोई भी पुलिस या प्रशासनिक अधिकारी 30 नवंबर तक कोई छुट्टी नहीं लेगा। सभी अधिकारियों को हर हाल में मुख्यालय पर बने रहने और हालातों पर पैनी निगाह बनाए रखने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं। 

#NewstimesTrending : अयोध्या मामले पर सुनवाई का अंतिम दौर जारी, देखें अपडेट

Lucknow. अयोध्या केस की सुप्रीम कोर्ट में अंतिम सुनवाई शुरू हो गयी है। इस मामले की निरंतर 40वीं दिन सुनवाई शुरू होते ही मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने बहस की डेडलाइन तय कर दी। मुख्य न्यायाधीश ने साफ तौर पर कहा कि अब कोई बीच में टोका-टाकी नहीं करेगा, बहस आज ही शाम 5 बजे खत्म होगी। और यही बहस का अंत होगा। सुनवाई के लिए न्यायाधीश कोर्ट रूम में पहुंचे। जिसके बाद कुछ छोटे पक्षकारों ने समय दिए जाने की मांग की। जिसपर मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने कहा कि आज 5 बजे सुनवाई पूरी हो जाएगी इसी के साथ हम और समय नहीं देंगे। 

Images/16-10-2019154535newstimestren1.jpgImages/16-10-2019154730newstimestren2.JPGImages/16-10-2019155037newstimestren3.JPG
© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
Ayodhya Case: योगी के मंत्री बोले- नेहरू के बाद अब बाबर की भूल ठीक करने का वक्तhttps://www.newstimes.co.in/news/82554/भारत/उत्तर-प्रदेश-/फैजाबाद/Siddharth-Nath-Singh-said-that-time-to-correct-Baburs-mistake-in-Ayodhya902983Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1509<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019152820SiddharthNath1.jpg' alt='Images/16-10-2019152820SiddharthNath1.jpg' />अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में चल रही सुनवाई के आखिरी दिन यूपी के कैबिनेट मंत्री और सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह का विवादित बयान सामने आया है। सिद्धार्थनाथ सिंह ने मीडिया से बातचीत में कहा उन्होंने कहा कि जिस तरह पूर्व प्रधानमंत्री नेहरू की ओर से कश्मीर में अनुच्‍छेद 370 लगाने की गलती को ठीक किया गया, उसी तरह अयोध्या में बाबर की ओर से की गई भूल को भी ठीक करने का सही वक्त आ गया है। 

Ayodhya Case: योगी के मंत्री बोले- नेहरू के बाद अब बाबर की भूल ठीक करने का वक्त

Prayagraj. अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में चल रही सुनवाई के आखिरी दिन यूपी के कैबिनेट मंत्री और सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह का विवादित बयान सामने आया है। सिद्धार्थनाथ सिंह ने मीडिया से बातचीत में कहा उन्होंने कि जिस तरह पूर्व प्रधानमंत्री नेहरू की ओर से कश्मीर में अनुच्‍छेद 370 लगाने की गलती को ठीक किया गया, उसी तरह अयोध्या में बाबर की ओर से की गई भूल को भी ठीक करने का सही वक्त आ गया है। 

Images/16-10-2019152820SiddharthNath1.jpg

बता दें कि कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह प्रयागराज में बोल रहे थे, इस दौरान उनका यह बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि अयोध्या में मुग़ल शासक बाबर ने ऐतिहासिक भूल की थी। अब उसे सुधारने का सही वक्त आ गया है। उन्होंने कहा कि जिस तरह पंडित जवाहरलाल नेहरू की ओर से कश्मीर में अनुच्‍छेद 370 लगाने की गलती को ठीक किया गया, उसी तरह अयोध्या में बाबर की ओर से की गई भूल को भी ठीक करने का सही वक्त आ गया है। 

यह भी पढ़ें:-...Ayodhya Case: CJI ने तय की बहस की डेडलाइन, कहा- शाम 5 बजे पूरी हो जाएगी सुनवाई

कैबिनेट मंत्री ने आगे कहा कि मामला सुप्रीम कोर्ट में है, लेकिन इलाहाबाद हाईकोर्ट ने जो फैसला दिया था, उससे लोगों में काफी उत्साह और खुशी थी। उन्होंने कहा कि अब बाबर की इस भूल को ठीक कर देश को बंटने से रोका जाएगा।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
अयोध्या मसला: संजीदा हुई योगी सरकार, अफसरों की छुट्टियों पर लगाई रोकhttps://www.newstimes.co.in/news/82553/भारत/उत्तर-प्रदेश-/Ayodhya-issue:-Yogi-government-worried-ban-on-officers-holidays902982Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1534<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019150712Ayodhyaissue3.jpg' alt='Images/16-10-2019150712Ayodhyaissue3.jpg' />अयोध्या मामले को लेकर बड़ी सरगर्मियों के बीच योगी सरकार का प्रशासनिक अमला पूरी तरह चौकन्ना हो गया। अयोध्या में जहां प्रशासनिक गतिविधियां शुरू हो गयी है वहीं दूसरी ओर ताजा हालातों के मद्देनजर सभी सरकारी अधिकारियों की छुट्टियां निरस्त कर दी गयी हैं। 

अयोध्या मसला: संजीदा हुई योगी सरकार, अफसरों की छुट्टियों पर लगाई रोक

Lucknow. अयोध्या मामले को लेकर बड़ी सरगर्मियों के बीच योगी सरकार का प्रशासनिक अमला पूरी तरह चौकन्ना हो गया। अयोध्या में जहां प्रशासनिक गतिविधियां शुरू हो गयी है वहीं दूसरी ओर ताजा हालातों के मद्देनजर सभी सरकारी अधिकारियों की छुट्टियां निरस्त कर दी गयी हैं। 

Images/16-10-2019150630Ayodhyaissue1.jpg

मालूम हो कि बहुप्रतीक्षित अयोध्या मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में अंतिम दौर में है। मामले का फैसला चाहे जो भी हो शांति व्यवस्था किसी प्रकार प्रभावित न होने पर इसके लिए शासन स्तर पर युद्ध स्तर पर तैयारी की जा रही है। 
योगी सरकार इस मसले पर बेहद संजीदा है। इसी कड़ी में योगी सरकार के प्रदेश ने सभी सरकारी अधिकारियों की छुट्टियां रद्द कर दी है। 
सरकार की ओर से फरमान जारी हुआ है कि फील्ड में तैनात कोई भी पुलिस या प्रशासनिक अधिकारी 30 नवंबर तक कोई छुट्टी नहीं लेगा। 
सभी अधिकारियों को हर हाल में मुख्यालय पर बने रहने और हालातों पर पैनी निगाह बनाए रखने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं। 

Images/16-10-2019150712Ayodhyaissue3.jpg

  सोशल मीडिया पर रखी जा रही है पैनी निगाहें
आज के दौर में बातों को फैलाने का सशक्त माध्यम बन चुके सोशल मीडिया पर भी सरकारी तंत्र ने पैनी निगाह गड़ा रखी है। फेसबुक, व्हाट्स ऐप, ट्विटर हैंडल जैसे विभिन्न सोशल मीडिया साइट्स पर पुलिस की साइबर सेल निगरानी कर रही है। किसी तरह से भ्रामक और भड़काऊ पोस्ट करने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। 

यह भी पढ़ें...Ayodhya Case: CJI ने तय की बहस की डेडलाइन, कहा- शाम 5 बजे पूरी हो जाएगी सुनवाई


 

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
करवा चौथ: सुहागिनों की खुलेगी किस्मत, स्वामी ग्रह की होगी विशेष कृपाhttps://www.newstimes.co.in/news/82551/भारत/Karva-Chauth:-Suhaagins-will-have-good-luck-Swami-Graha-will-have-special-blessings902980Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019145841KarvaChauth2.JPG' alt='Images/16-10-2019145841KarvaChauth2.JPG' />देश भर में करवा चौथ व्रत विवाहिताएं 17 अक्तूबर को रखेंगी। विवाहिताएं यह व्रत पति की लंबी आयु के लिए रखती हैं। इस बार करवा चौथ का व्रत रखने से सुहागिन महिलाओं की किस्मत चमकेगी। सुहिगिन महिलाओं को व्रत रखने पर कई गुना अधिक फल की प्रप्ति होगी। ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक इस बार करवा चौथ को नौ ग्रहों में मन के कारक ग्रह और कलाओं के स्वामी ग्रह का विशेष कृपा मिलने वाली है।

करवा चौथ: सुहागिनों की खुलेगी किस्मत, स्वामी ग्रह की होगी विशेष कृपा

New Delhi. देश भर में करवा चौथ व्रत विवाहिताएं 17 अक्तूबर को रखेंगी। विवाहिताएं यह व्रत पति की लंबी आयु के लिए रखती हैं। इस बार करवा चौथ का व्रत रखने से सुहागिन महिलाओं की किस्मत चमकेगी। सुहिगिन महिलाओं को व्रत रखने पर कई गुना अधिक फल की प्रप्ति होगी। ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक इस बार करवा चौथ को नौ ग्रहों में मन के कारक ग्रह और कलाओं के स्वामी ग्रह का विशेष कृपा मिलने वाली है।

Images/16-10-2019145757KarvaChauth1.jpg

ज्योतिषशात्र की माने तो इस बार का व्रत विवाहिताओं को सच्चे मन से व्रत रखने पर सौभाग्य देने वाला है। यदि विधि विधान से विवाहिताएं निर्जला व्रत रखकर पूजा करती हैं, तो पति की दीर्घायु, सफलता और वैवाहिक जीवन की मंगल कामना करने पर स्त्रियों को अखंड सौभाग्य की प्राप्ति होगी।

हिंदू पंचांग के मुताबिक कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को करवा चौथ का व्रत रखने का नियम है। विवाहिताएं निर्जला व्रत रखते हुए भगवान चंद्र देव को अर्घ्य देती है। इसके बाद पति का दर्शन कर जल ग्रहण करते हुए अपना व्रत खोलती हैं। व्रत का प्रारंभ श्री गणेश का पूजन से होता है। इस बार के व्रत में करवा चौथ के दिन चंद्रमा पूरे दिन अपनी उच्च राशि, वृषभ में होगा।

Images/16-10-2019145841KarvaChauth2.JPG

ज्योतिषशास्त्र के मुताबिक वृष शुक्र की राशि है। इस राशि में चंद्रमा विशेष फलदायी होगा। ऐसे में करवा चौथ के व्रत का महत्व और भी अधिक हो जाता है। व्रत रखने पर वृष राशि दांपत्य और जीवन में प्रेम व सौंदर्य के स्वामी ग्रह शुक्र के घर में होगा। वृष राशि में चंद्रमा उच्च का हो जाता है। वहीं, उच्च का चंद्रमा होने तत्पर्य यह है कि सच्चे मन से व्रत रखने वाली विवाहिताओं को फल प्राप्ति अधिक होगी। बताते चलें कि चंद्रमा और शुक्र ज्याेतिष शास्त्र में सम हैं। इन दोनों की बीच ही शत्रुता और मित्रता दोनों ही नहीं है।

भारतीय ज्योतिष में गोचर का फल चंद्रमा के हिसाब से देखा जाता है, जिसमें इस बार खास संयोग बन रहा है। सबसे अहम बात ये है कि करवा चौथ के दिन चंद्रमा तीन दिन के अंतराल में अपनी प्रिय और सुंदर राशि वृष में रहेगा। इसके अलावा 70 साल बाद रोहिणी नक्षत्र और मंगल का विशेष संयोग भी बन रहा है। मार्कण्डेय और सत्यभामा योग भी बन रहा है, जो सुहागिनों के लिए विशेष लाभकारी रहेगा।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
SSP ने निरीक्षण में जानी अपने अभियान की असलियत, CO से मांगी रिपोर्ट चौकी प्रभारी को निलंबित करने का आदेश https://www.newstimes.co.in/news/82550/भारत/उत्तर-प्रदेश-/SSP-ne-nirikshan-me-jaani-apne-abhiyan-ki-asliyat-co-se-mangi-report-902979Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNP863<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019142655SSPneniriksh2.jpeg' alt='Images/16-10-2019142655SSPneniriksh2.jpeg' />एसएसपी कलानिधी नैथानी द्वारा चलाए जा रहे अभियानों का किस तरह से मातहतों द्वारा मजाक बनाया जा रहा है इसकी खुद जिले के पुलिस कप्तान ने बुधवार को निरीक्षण के दौरान देख ली। एसएसपी द्वारा खुले में शराब पीने वालों के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान को लेकर मिल रही शिकायतों पर जब एसएसपी अचानक थाना गाजीपुर अंतर्गत पॉलीटेक्निक पुलिस चौकी के पास पहुंचे तो नजारा होश उड़ाने वाला था। शराब ठेके और बीयर बार के निरीक्षण में पाया गया कि लोग बड़े आराम से बाहर खुले में खड़े होकर मदिरा का सेवन कर रहे थे। यह दृश्य भी उस दौरान था जब दोपहर का समय था। जिसके बाद एसएसपी ने मामले में चौकी इंचार्ज फिरोज आलम को निलंबित करने का आदेश दे दिया। 

SSP ने निरीक्षण में जानी अपने अभियान की असलियत, CO से मांगी रिपोर्ट चौकी प्रभारी को निलंबित करने का आदेश 

Lucknow. राजधानी ने एसएसपी कलानिधी नैथानी द्वारा चलाए जा रहे अभियानों का किस तरह से मातहतों द्वारा मजाक बनाया जा रहा है इसकी खुद जिले के पुलिस कप्तान ने बुधवार को निरीक्षण के दौरान देख ली। एसएसपी द्वारा खुले में शराब पीने वालों के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान को लेकर मिल रही शिकायतों पर जब एसएसपी अचानक थाना गाजीपुर अंतर्गत पॉलीटेक्निक पुलिस चौकी के पास पहुंचे तो नजारा होश उड़ाने वाला था। शराब ठेके और बीयर बार के निरीक्षण में पाया गया कि लोग बड़े आराम से बाहर खुले में खड़े होकर मदिरा का सेवन कर रहे थे। यह दृश्य भी उस दौरान था जब दोपहर का समय था। जिसके बाद एसएसपी ने मामले में चौकी इंचार्ज फिरोज आलम को निलंबित करने का आदेश दे दिया। 

Images/16-10-2019142642SSPneniriksh1.jpegImages/16-10-2019142655SSPneniriksh2.jpeg

यह भी पढ़ें... कांग्रेस ने चला सबसे बड़ा दांव, सरकार को घेरने के लिए मैदान में उतारेगी यह दिग्गज

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
कानपुर: ट्रकों की आमने सामने भिड़ंत के बाद लगी आगhttps://www.newstimes.co.in/news/82548/भारत/उत्तर-प्रदेश-/कानपुर/-BADASSA--चिल्ला----जगदीशपुरा--जगनेर--फतेहगंज---बेकन-गंज---बसई-जगनेर--सदर-बाजार-Kanpur:-Fire-breaks-out-after-confrontation-of-trucks902977Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1534<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019141556KanpurFireb2.jpg' alt='Images/16-10-2019141556KanpurFireb2.jpg' />कानपुर-झांसी हाईवे पर आधी रात उस समय हड़कंप मच गया जब आपस में भिड़ंत के बाद दो ट्रक धूं धूं कर जलने लगे। व्यस्त मार्ग होने के चलते वहां कुछ ही देर में वाहनों की लंबी कतारे लग गयी। सूचना पर पहुंची दमकल ने दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। इस दौरान दोनों लेन का ट्रैफिक किसी तरह एक लेन से गुजारा जाता रहा। दुर्घटनाग्रस्त ट्रकों के हटाए जाने के बाद मार्ग पर यातायात बहाल हो सका। 

कानपुर: ट्रकों की आमने सामने भिड़ंत के बाद लगी आग

Kanpur. कानपुर-झांसी हाईवे पर आधी रात उस समय हड़कंप मच गया जब आपस में भिड़ंत के बाद दो ट्रक धूं धूं कर जलने लगे। व्यस्त मार्ग होने के चलते वहां कुछ ही देर में वाहनों की लंबी कतारे लग गयी। सूचना पर पहुंची दमकल ने दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। इस दौरान दोनों लेन का ट्रैफिक किसी तरह एक लेन से गुजारा जाता रहा। दुर्घटनाग्रस्त ट्रकों के हटाए जाने के बाद मार्ग पर यातायात बहाल हो सका। 

Images/16-10-2019141536KanpurFireb1.jpg

मिली जानकारी के अनुसार यह हादसा कानपुर झांसी हाईवे पर पिरौना के पास हुआ। बीती देर रात झांसी की ओर जा रहा एक ट्रक अचानक ड्राइवर को झपकी आने से दूसरी लेन में पहुंच गया। 
जिससे उसकी भिड़ंत सामने से आ रहे दूसरे ट्रक से हो गयी। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि एक ट्रक का डीजल टैंक फटने से उसमें आग लग गयी। 
देखते ही देखते आग ने विकराल रूप धारण करते हुए दोनों ट्रकों को अपनी चपेट में ले लिया। गिट्टी लदा ट्रक पलटने से उस पर सवार चालक और क्लीनजर घायल हो गए है। हादसे के बाद हाइवे पर भीषण जाम लग गया। 

Images/16-10-2019141556KanpurFireb2.jpg

सूचना मिलते ही पहुंची पुलिस ने दमकल को बुलाया। तकरीबन दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका। 
इसके बाद पहले तो एक ही लेन से दोनों ओर के वाहनों किसी तरह निकाला जाता रहा। बाद में क्रेन मंगवाकर दोनों क्षतिग्रस्त ट्रक हटवाए गए तब जाकर हाइवे पर यातयात बहाल हो सका। 
घायल चालक और क्लीनर को पुलिस ने अस्पताल में भर्ती कराया है जबकि दूसरे ट्रक के चालक का पता लगाया जा रहा है। 

यह भी पढ़ें...साक्षी महाराज का बड़ा बयान, 6 दिसंबर से शुरू होगा मंदिर निर्माण

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
#WorldFoodDay: भूख ही नहीं फास्ट फूड भी है सेहत बिगड़ने का कारण https://www.newstimes.co.in/news/82547/भारत/उत्तर-प्रदेश-/WorldFoodDay:-Not-only-is-hunger-fast-it-is-also-the-reason-for-deteriorating-health902976Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1591<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019151812R3vddU3zfU.jpg' alt='Images/16-10-2019151812R3vddU3zfU.jpg' />16 अक्टूबर को विश्व खाद्य दिवस (World Food Day) के रूप में दुनिया भर में मनाया जाता है।

#WorldFoodDay: भूख ही नहीं फास्ट फूड भी है सेहत बिगड़ने का कारण

Lucknow: 16 अक्टूबर को विश्व खाद्य दिवस (World Food Day) के रूप में दुनिया भर में मनाया जाता है। इसी दिन संयुक्त राष्ट्र संघ में खाद्य व कृषि संगठन की स्थापना 1945 में हुई थी। इस अंतर्राष्ट्रीय संगठन का लक्ष्य है दुनिया से भुखमरी मिटाना। साल 2019 के वर्ल्ड फूड डे की थीम है –‘हमारे कार्य, हमारा भविष्य, जीरो हंगर के लिए हेल्दी डायट्स।’ विश्व भर जहां कुछ लोग भूख से बीमार और मर रहे है, तो वहीं कुछ लोग सेहत बिगड़ने वाला खाद्य पदार्थ खा कर अपनी सेहत खराब कर रहे है।

Images/16-10-2019151653KLRuJJLILy.pngImages/16-10-2019151812R3vddU3zfU.jpg
© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
साक्षी महाराज का बड़ा बयान, 6 दिसंबर से शुरू होगा मंदिर निर्माणhttps://www.newstimes.co.in/news/82546/भारत/उत्तर-प्रदेश-/Sakshi-Maharajs-big-statement-temple-construction-will-start-from-December-6902975Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1534<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019134227SakshiMaharaj1.jpg' alt='Images/16-10-2019134227SakshiMaharaj1.jpg' />अपने बयानों को लेकर चर्चाओं में बने रहने वाले भाजपा के फायर ब्रांड नेता व उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज राम मंदिर को लेकर बड़ी बात कही है। अपने बयान में उन्होंने न सिर्फ सुप्रीम कोर्ट का फैसला राम मंदिर पक्ष में आने की बात कही बल्कि यह भी कहा कि 6 दिसंबर से मंदिर निर्माण शुरू हो जाएगा। साक्षी महाराज का यह बयान ठीक उस समय आया है जब इस बहुप्रतीक्षित मामले की सुनवाई बिल्कुल अंतिम चरण में है और पूरे देश की निगाहें इस पर टिकी हैं। 

साक्षी महाराज का बड़ा बयान, 6 दिसंबर से शुरू होगा मंदिर निर्माण

Lucknow. अपने बयानों को लेकर चर्चाओं में बने रहने वाले भाजपा के फायर ब्रांड नेता व उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज राम मंदिर को लेकर बड़ी बात कही है। अपने बयान में उन्होंने न सिर्फ सुप्रीम कोर्ट का फैसला राम मंदिर पक्ष में आने की बात कही बल्कि यह भी कहा कि 6 दिसंबर से मंदिर निर्माण शुरू हो जाएगा। साक्षी महाराज का यह बयान ठीक उस समय आया है जब इस बहुप्रतीक्षित मामले की सुनवाई बिल्कुल अंतिम चरण में है और पूरे देश की निगाहें इस पर टिकी हैं। 

Images/16-10-2019134227SakshiMaharaj1.jpg

मालूम हो कि साक्षी महाराज ने राम मंदिर आंदोलन से ही अपने राजनीति का सफर शुरू किया था। उन्होंने अपने ताजा बयान में कहा कि एक म​हीने के अंदर राम मंदिर मुद्दे पर तस्वीर बिल्कुल साफ हो जाएगी। 
मेरी अंतरआत्मा कहती है कि फैसला राम मंदिर पक्ष में ही आएगा और ऐसा होना भी चाहिए। उन्होंने कहा कि अच्छी बात यह है कि हिंदू के साथ साथ मुस्लिमों का एक बड़ा वर्ग भी यही चाहता है। 
उन्होंने कहा कि शिया वक्फ बोर्ड जिस पर इस मसले में पूरी तरह समर्थन में है ऐसे में कोर्ट का निर्णय आने पर मुस्लिम भाइयों का भी मैं आभार व्यक्त करूंगा। 
हिंदुओं के आराध्य भगवान श्री राम को जिस तरह सम्मान शिया वक्फ बोर्ड कर रहा है उसके लिए वे वाकई आभार के पात्र हैं। 
  मोदी और शाह की भी करी तारीफ
सांसद साक्षी महाराज ने कहा कि मोदी के नेतृत्व में गृह मंत्री अमित शाह ने जिस तरह से सौहार्दपूर्ण माहौल बनाया उसने धारा 370 और 35 ए की तरह राम मंदिर के पक्ष में आए निर्णय को भी सभी स्वीकार करेंगे। यह देश के इतिहास में एक मील का पत्थर साबित होगा। हिंदु और मुस्लिम दोनों मिलकर 6 दिसंबर से अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर का निर्माण करेंगे। 

यह भी पढ़ें...अयोध्या कांड: सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने राममंदिर का फाड़ा नक्शा

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
लालू की पार्टी तोड़ने की तैयारी में यह बागी नेता, कहा- आरजेडी के कई विधायक हमारे साथhttps://www.newstimes.co.in/news/82545/भारत/बिहार/पटना/RJD-MLA-Maheshwar-Yadav-hinted-at-joining-JDU902974Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1509<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019131849RJDMLAMahesh2.jpg' alt='Images/16-10-2019131849RJDMLAMahesh2.jpg' />लालू की गैर-मौजूदगी में पार्टी की कमान संभाल रहे तेजस्वी यादव के नेतृत्व के खिलाफ बगावत शुरू हो गयी। अब पार्टी के ही कुछ नेता आरजेडी को तोड़ने की तैयारी में हैं। दावा किया जा रहा है कि पार्टी को सक्षम नेतृत्व देने वाले नेता उपेक्षित हैं और कम योग्यता वाले नेता पार्टी चला रहे हैं। इस बात से नाराज कई विधायक जेडीयू में जाने की तैयारी कर रहे हैं। 

लालू की पार्टी तोड़ने की तैयारी में यह बागी नेता, कहा- आरजेडी के कई विधायक हमारे साथ

Patna. लालू की गैर-मौजूदगी में पार्टी की कमान संभाल रहे तेजस्वी यादव के नेतृत्व के खिलाफ बगावत शुरू हो गयी। अब पार्टी के ही कुछ नेता आरजेडी को तोड़ने की तैयारी में हैं। दावा किया जा रहा है कि पार्टी को सक्षम नेतृत्व देने वाले नेता उपेक्षित हैं और कम योग्यता वाले नेता पार्टी चला रहे हैं। इस बात से नाराज कई विधायक जेडीयू में जाने की तैयारी कर रहे हैं। 

Images/16-10-2019131719RJDMLAMahesh1.jpg

बता दें कि आरजेडी नेतृत्व पर सवाल खड़े करने वाले नेता कोई और नहीं बल्कि मुजफ्फरपुर के गायघाट सीट से विधायक महेश्वर यादव हैं। महेश्वर यादव का कहना है कि आरजेडी सही रास्ते पर नहीं चल रही है, इसलिए वह पार्टी के सभी कार्यक्रम से अलग रहते हैं। उन्होंने कहा कि सदस्यता अभियान में भी वह भाग नहीं ले रहे हैं। पार्टी भारी भटकाव की हालत में है। 

तेजस्वी यादव पर इशारों-इशारों में हमला बोलते हुए महेश्वर यादव ने कहा कि पार्टी को सक्षम नेतृत्व देने वाले नेता उपेक्षित हैं और कम योग्यता वाले नेता पार्टी चला रहे हैं, जिसके चलते पार्टी पर परिवारवाद हावी है। उन्होंने बगावत के संकेत देते हुए कहा कि उपचुनाव के बाद प्रदेश की राजनिति में बड़ा बदलाव हो सकता है। आरजेडी के अधिकतर विधायक उनके साथ हैं। 

Images/16-10-2019131849RJDMLAMahesh2.jpg

यह भी पढ़ें:-... तेजस्वी की सभा में बवाल करवाने में इस नेता का था हाथ, सामने आयी चौंकाने वाली सच्चाई

जेडीयू में जाने के दिये संकेत

इस दौरान महेश्वर यादव ने नीतीश कुमार की तारीफ करते हुए कहा कि देश भर के समाजवादी नेता नीतीश कुमार के नेतृत्व में आने को तैयार हैं। अपने जेडीयू में जाने का इशारा करते हुए अब्दुल बारी सिद्दिकी और रघुवंश सिंह के समर्थन का दावा किया।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
आखिर दारोगा ने क्या पूछा जो किशोरी ने लगा ली फांसी! https://www.newstimes.co.in/news/82543/भारत/उत्तर-प्रदेश-/कानपुर/-BADASSA--चिल्ला----जगदीशपुरा--जगनेर--फतेहगंज---बेकन-गंज---बसई-जगनेर--सदर-बाजार-After-all-what-did-the-inspector-ask-the-teenager-committed-suicide902972Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1534<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019124823Afterall,wha2.jpg' alt='Images/16-10-2019124823Afterall,wha2.jpg' />यूपी के फर्रूखाबाद में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। जहां एक किशोरी ने संदिग्ध हालातों में फांसी लगा ली। इस घटना से ठीक कुछ देर पहले एक दारोगा उससे पूछताछ करने आया था। दरअसल चार माह पूर्व लापता हुई किशोरी को डेढ़ माह पहले ही पुलिस ने बरामद किया था। जिसमें आरोपी के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल कर उसे जेल भेजा जा चुका है। मामला क्या है यह तो जांच का विषय है लेकिन दारोगा की भूमिका को संदेह में रखते हुए यह घटना क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी है। 

आखिर दारोगा ने क्या पूछा जो किशोरी ने लगा ली फांसी! 

Kanpur. यूपी के फर्रूखाबाद में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। जहां एक किशोरी ने संदिग्ध हालातों में फांसी लगा ली। इस घटना से ठीक कुछ देर पहले एक दारोगा उससे पूछताछ करने आया था। दरअसल चार माह पूर्व लापता हुई किशोरी को डेढ़ माह पहले ही पुलिस ने बरामद किया था। जिसमें आरोपी के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल कर उसे जेल भेजा जा चुका है। मामला क्या है यह तो जांच का विषय है लेकिन दारोगा की भूमिका को संदेह में रखते हुए यह घटना क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी है। 

Images/16-10-2019124823Afterall,wha2.jpg

मिली जानकारी के मुताबिक फर्रूखाबाद शहर कोतवाली क्षेत्र के एक मोहल्ले की रहने वाली 14 वर्षीय किशोरी को बीते चार माह पूर्व तलैया फजल इमाम मोहल्ले का रहने वाला गोपाल कश्यप नाम का युवक बहला फुसला कर भगवा ले गया था। 
इस मामले की छानबीन कर रही पुलिस ने डेढ माह पूर्व किशोरी को बरामद कर लिया था। जबकि आरोपी युवक का आरोप पत्र दाखिल करते हुए उसे जेल भेज दिया था। 
इसी किशोरी ने मंगलवार देर रात संदिग्ध हालातों में दुपट्टे से फांसी लगाकर जीवन लीला समाप्त कर ली। सुबह उसका शव लटकता देख परिजनों में हड़कंप मच गया। पुताई का काम करने वाले पिता ने बताया कि वह काम पर था। उसने बताया कि सदर कोतवाली से एक दारोगा बेटी से पूछताछ करने आया था। 
उसी के बाद बेटी ने फांसी लगा ली। दारोगा ने ऐसा क्या पूछा कि किशोरी ने आत्मघाती कदम उठा लिया इस सवाल पर बेबस पिता निरूत्तर है। 
इस संबंध में दारोगा ने सफाई देते हुए कहा कि उधर से गुजरते समय यूं ही हालचाल लेने के लिए वह आया था वह कोई पूछताछ करने नहीं आया था। 
इस मामले में फर्रूखाबाद के पुलिस अधीक्षक से हुई बातचीत में उन्होंने कहा कि आरोप पत्र के बाद ​पूछताछ का कोई औचित्य ही नहीं बनता। इस मामले की जांच कराई जाएगी अगर दोष सिद्ध होता है कार्रवाई की जाएगी। 

यह भी पढ़ें...हरियाणा: यहां भाजपा प्रत्याशी की कार में आग लगने से मचा हड़कंप, कई झुलसे

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
स्कूलों में उगाई जाएंगी सब्जियां, केन्द्र सरकार ने इसलिए तैयार किया प्लानhttps://www.newstimes.co.in/news/82542/भारत/Vegetables-will-be-grown-in-schools-the-central-government-has-prepared-a-plan902971Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019124200Vegetableswil1.jpg' alt='Images/16-10-2019124200Vegetableswil1.jpg' />देश में बढ़ती महंगाई और सब्जियों की मार और बच्चों को कुपोषण से दूर करने के लिए केंद्र सरकार ने नई योजना तैयार की है। सरकार ने निर्देश जारी किया है कि अब स्कूलों में भी सब्जियां उगानी पड़ेगी। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय इसके लिए निर्देश दिया है। सब्जियों को उगाने का काम शहरी और ग्रामीण दोनों ही इलाकों के स्कूलों को करना होगा।

स्कूलों में उगाई जाएंगी सब्जियां, केन्द्र सरकार ने इसलिए तैयार किया प्लान

New Delhi. देश में बढ़ती महंगाई और सब्जियों की मार और बच्चों को कुपोषण से दूर करने के लिए केंद्र सरकार ने नई योजना तैयार की है। सरकार ने निर्देश जारी किया है कि अब स्कूलों में भी सब्जियां उगानी पड़ेगी। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय इसके लिए निर्देश दिया है। सब्जियों को उगाने का काम शहरी और ग्रामीण दोनों ही इलाकों के स्कूलों को करना होगा।

Images/16-10-2019124200Vegetableswil1.jpg

मंत्रालय का कहना है कि स्कूल में पढ़ रहे बच्चों को हरी सब्जियां मिल सके इसके लिए यह कदम उठाया जा रहा है। इससे बच्चों में कुपोषण को दूर करने में मदद मिलेगी। इसके साथ ही  छात्रों के बीच व्यवहारिक शिक्षा को बढ़ावा देने में भी सहायता मिलेगी।

यह भी कहा गया है कि स्कूलों अपने परिसरों में एक स्कूल न्यूट्रिशन (किचन) गार्डन तैयार करेंगे। इस काम के लिए देश भर के स्कूल विभिन्न सरकारी विभागों और संस्थाओं से तकनीकी, ढांचागत व अन्य सहायता ले सकते हैं। इससे छात्रों को कुछ नया सीखने को भी मिलेगा।

यह भी पढ़ें... कांग्रेस प्रत्याशी की अजब परेशानी, जिला निर्वाचन अधिकारी से लगाई गुहार

मंत्रालय ने यह भी बताया है कि इन गार्डन्स से जलवायु परिवर्तन के हानिकारक प्रभावों को कम करने में मदद मिलेगी। किचन गार्डन बनने के बाद जो पौधे उगाए जाएंगे वह पर्यावरण से कार्बन की मात्रा कम करने में मददगार होंगे। 

सभी स्कूलों में सब्जियां उगाने पर इसका अधिक आयात नहीं करना होगा। बताते चलें कि देश भर में लगभग 11.75 लाख सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूल संचालित किए जा रहे हैं। यदि हर स्कूलों में इस दिशा निर्देश का पालन किया जाता है तो पर्यावरण पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। यह खास योजना तैयार कर इस पर काम करने वाला पहला देश भारत ही नहीं है, फिनलैंड मे यह कार्यक्रम पहले से चलाया जा रहा है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
विवाहिता से हैवानियत की हदें पार, अपहरण कर पांच दिनों तक गैंगरेपhttps://www.newstimes.co.in/news/82541/भारत/Married-woman-crosses-limits-of-abduction-kidnapped-and-gang-raped-for-five-days902970Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019123433Marriedwoman1.jpg' alt='Images/16-10-2019123433Marriedwoman1.jpg' />महिलाओं से गैंगरेप जैसी घिनौनी वारादातें रुकने का नाम नहीं ले रही है। आए दिन अपराधी अपनी हैवानियत भरे मनसूबों को अंजाम दे रहे हैं। बागपत के एक गांव में एक महिला और उसके दो बेटों ने ऐसी घिनौनी वारदात को अंजाम दिया कि सच्चाई जानकर आपके पैरों तले जमीन खिसक जाएगी। 

विवाहिता से हैवानियत की हदें पार, अपहरण कर पांच दिनों तक गैंगरेप

New Delhi. महिलाओं से गैंगरेप जैसी घिनौनी वारादातें रुकने का नाम नहीं ले रही है। आए दिन अपराधी अपनी हैवानियत भरे मनसूबों को अंजाम दे रहे हैं। बागपत के एक गांव में एक महिला और उसके दो बेटों ने ऐसी घिनौनी वारदात को अंजाम दिया कि सच्चाई जानकर आपके पैरों तले जमीन खिसक जाएगी। 

Images/16-10-2019123433Marriedwoman1.jpg

दिल्ली में गांव की ही एक लड़की की ससुराल जाकर लूट की वारदात को अंजाम दिया गया। इसके बाद कोल्डड्रिंक में नशा देकर उसका अपहरण कर लिया। आरोप है कि एक भाई ने अपने दोस्तों के साथ पांच दिनों तक बंधक बनाकर गैंगरेप किया। इसके बाद जब युवती बदहवाश हो गई तो आरोपी विवाहिता को जंगल के पास फेंककर भाग निकले। गत मंगलवार को पीड़िता किसी तरह मायके वालों के साथ थाने पहुंची और पुलिस को तहरीर दी।

यह भी पढ़ें... कांग्रेस प्रत्याशी की अजब परेशानी, जिला निर्वाचन अधिकारी से लगाई गुहार

खबरों के मुताबिक खेकड़ा क्षेत्र के एक गांव के युवती की शादी दिल्ली निवासी युवक से हुई थी। विवाहिता ने आरोप लगाया है कि गत सात अक्तूबर को गांव की ही एक जान पहचान की महिला अपने दो बेटों के साथ उसके ससुराल दिल्ली आई। उसके घर में उस समय कोई नहीं था। आरोपी महिला ने विवाहिता से पहले कुछ देर तक बातचीत की। इसके बाद उसके बेटों ने कोल्डड्रिंक में नशीला पदार्थ पिलाकर बेहोश कर दिया। आरोपी महिला का सोने का कुंडल, सोने के दो लॉकेट, एक अंगूठी, गले के दो सेट, दो झुमकी समेत 30 हजार रुपए लूट लिए।

खबरों के मुताबिक आरोपी मां और उसका एक बेटा सामान लूट कर फरार हो गए। वहीं, दूसरा बेटा पीड़िता को लेकर नशे की हालत में अलीगढ़ ले गया। इसके बाद अपने दोस्तों से मिलकर गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया।

यही नहीं दरिंदों ने अश्लील वीडियो भी बना लिया और किसी से भी कुछ बताने पर धमकी दी। पांच दिनों तक गैंगरेप करने के बाद पीड़िता को फेंककर फरार हो गए। किसी तरह बदहवास हालत में पीड़िता विवाहिता अपने मायके पहुंची और आपबीती सुनाई। इसके बाद पीड़िता के परिजन खेकड़ा कोतवाली पहुंचे और आरोपियों के खिलाफ तहरीर दी। पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
कांग्रेस ने चला सबसे बड़ा दांव, सरकार को घेरने के लिए मैदान में उतारेगी यह दिग्गज https://www.newstimes.co.in/news/82538/भारत/उत्तर-प्रदेश-/bjp-ke-gherne-ke-liye-congress-maidan-me-utaregi-manmohan-singh-ko-902967Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNP863<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019120251bjpkegherne1.jpg' alt='Images/16-10-2019120251bjpkegherne1.jpg' />.

कांग्रेस ने चला सबसे बड़ा दांव, सरकार को घेरने के लिए मैदान में उतारेगी यह दिग्गज 

Lucknow. अर्थव्यवस्था के मोर्चे को लेकर कांग्रेस ने एक बार फिर केंद्र की भाजपा सरकार को घेरने की रणनीति तैयार की है। इस कड़ी में बड़ा दांव खेलते हुए इस बार कांग्रेस की ओर  से पूर्व पीएम और अर्थशास्त्री मनमोहन सिंह को आगे लाने का निर्णय किया गया है। पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की ही अगुवाई में इस बार सरकार की नीतियों का विरोध कांग्रेस की ओर से किया जाएगा। 

Images/16-10-2019120251bjpkegherne1.jpg

यह भी पढ़ें...  25 हजार होमगार्ड स्वंय सेवकों की तैनाती तत्कालिक प्रभाव से समाप्त
प्राप्त जानकारी के मुताबिक पूर्व पीएम मनमोहन सिंह का यह कार्यक्रम देश की आर्थिक राजधानी कही जाने वाली मुंबई में रखा गया है। बता दें कि महाराष्ट्र और हरियाणा में 21 अक्टूबर को ही विधानसभा का चुनाव होना है। जिसकी मतगणना 24 अक्टूबर को होगी। इसी बीच गुरुवार को मनमोहन सिंह मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम के गरवारे क्लब में संबोधित करेंगे। प्रेस को संबोधित करने के दौरान पूर्व पीएम राज्य के कुछ प्रमुख व्यक्तियों से मुलाकात भी करेंगे, जिनकी सूची को अंतिम रूप दिया जा रहा है। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
हरियाणा: यहां भाजपा प्रत्याशी की कार में आग लगने से मचा हड़कंप, कई झुलसेhttps://www.newstimes.co.in/news/82536/भारत/हरियाणा/Haryana:-A-fire-broke-out-in-BJP-candidates-car-here-many-scorched902965Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1534<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019112311HaryanaAfir2.jpg' alt='Images/16-10-2019112311HaryanaAfir2.jpg' />हरियाणा विधानसभा चुनाव में नूंह सीट से भाजपा प्रत्याशी की गाड़ी में अचानक आग लगने से आधा दर्जन कार्यकर्ता झुलस गए। इसके साथ ही गाड़ी में रखी प्रचार सामग्री भी जलकर स्वाहा हो गयी। कार्यकर्ताओं को नलहड़ मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। फिलहाल सभी का हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि गाड़ी की छत पर बैठ कर आतिशबाजी करने के दौरान यह हादसा हुआ। 

हरियाणा: यहां भाजपा प्रत्याशी की कार में आग लगने से मचा हड़कंप, कई झुलसे

- नूंह विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी की थी गाड़ी
- छत पर बैठ कर आतिशबाजी करते समय हुआ हादसा

New Delhi. हरियाणा विधानसभा चुनाव में नूंह सीट से भाजपा प्रत्याशी की गाड़ी में अचानक आग लगने से आधा दर्जन कार्यकर्ता झुलस (Worker Scorched) गए। इसके साथ ही गाड़ी में रखी प्रचार सामग्री भी जलकर स्वाहा हो गयी। कार्यकर्ताओं को नलहड़ मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। फिलहाल सभी का हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि गाड़ी की छत पर बैठ कर आतिशबाजी (Fireworks) करने के दौरान यह हादसा हुआ। 

Images/16-10-2019112215HaryanaAfir1.jpg

 

मिली जानकारी के मुताबिक नूंह विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी चौधरी जाकिर हुसैन की स्कार्पियो गाड़ी संख्या एचआर 41 बी 0002 से उनके कुछ कार्यकर्ता बीती रात प्रचार के लिए निकले थे। गाड़ी में प्रचार सामग्री भी रखी थी। 
इस दौरान प्रत्याशी के कार्यकर्ता गाड़ी की छत पर बैठकर आतिशबाजी (Fireworks) करने लगे। इसकी चिंगार गाड़ी के अंदर रखी प्रचार सामग्री पर गिरी तो आग भड़क उठी। 
धूं धूं कर जलती गाड़ी में प्रचार सामग्री के साथ रखे पटाखों ने आग में घी का काम कर दिया। 
अचानक हुई इस घटना में उनके कुछ कार्यकर्ता भी झुलस (Worker Scorched) गए। बता दें कि चौधरी जाकिर हुसैन निवर्तमान विधायक भी हैं। 

Images/16-10-2019112311HaryanaAfir2.jpg

इन सभी कार्यकर्ताओं को उपचार के लिए नलहड़ स्थित मेवाती मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। डॉक्टरों के मुताबिक सभी की हालत खतरे से बाहर है। 
इस विधानसभा चुनाव में नूंह विधानसभा कुछ ज्यादा ही सुर्खियां बटोर रही है। इससे पहले कई जगह नेताओं के समर्थकों की आपस बहस हो चुकी है वहीं कई जगह पर रौब गांठने के इरादे से फायरिंग की बाते भी सामने आयी हैं। 
फिलहाल भाजपा प्रत्याशी की प्रचार गाड़ी में आग लगने की इस घटना को लेकर प्रशासनिक अमला खासा चौकन्ना है। मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी गयी है। 

यह भी पढ़ें...अनंतनाग मुठभेड़: सुरक्षाबलों ने हिजबुल कमांडर समेत तीन आतंकियों को किया ढेर

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
RRB NTPC भर्ती परीक्षा के लिए करना होगा इंतजार, एजेंसी की तलाशhttps://www.newstimes.co.in/news/82537/भारत/Must-wait-for-RRB-NTPC-recruitment-exam-seek-agency902966Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019120328Mustwaitfor1.jpg' alt='Images/16-10-2019120328Mustwaitfor1.jpg' />रेलवे भर्ती बोर्ड की नॉल टेक्निकल पॉपुलर कैटेगरी (NTPC) भर्ती परीक्षा के लिए अभ्यर्थियों को अभी लंबा इंतजार करना पड़ सकता है। परीक्षा का इंतजार कर रहे अभ्यर्थियों के लिए तिथि की घोषणा को लेकर लंबे समय से उत्साह बना हुआ था। लेकिन यह उत्साह नई सूचना के बाद कम पड़ गयाा है।

RRB NTPC भर्ती परीक्षा के लिए करना होगा इंतजार, एजेंसी की तलाश

New Delhi. रेलवे भर्ती बोर्ड की नॉन टेक्निकल पॉपुलर कैटेगरी (NTPC) भर्ती परीक्षा के लिए अभ्यर्थियों को अभी लंबा इंतजार करना पड़ सकता है। परीक्षा का इंतजार कर रहे अभ्यर्थियों के लिए तिथि की घोषणा को लेकर लंबे समय से उत्साह बना हुआ था। लेकिन यह उत्साह नई सूचना के बाद कम पड़ गयाा है। बताते चलें कि संभावना जताई जा रही थी कि पहले चरण की कंप्यूटर आधारित परीक्षा (CBT-1) जून से सितंबर 2019 के बीच आयोजित हो सकती है। लेकिन रेलवे बोर्ड ने इसे स्थगित कर दिया है।

Images/16-10-2019120328Mustwaitfor1.jpg

रेलवे अधिकारियों ने कहा है कि बोर्ड जूनियर इंजीनियर (RRB JE) के साथ ही अन्य परीक्षाओं को आयोजित कराया जाना है। भर्ती परीक्षाओं को लेकर बोर्ड काफी व्यस्त है।

इस संबंध में बोर्ड ने एक सूचना जारी करते हुए कहा कि अभी तक परीक्षा की तारीखों के संबंध में कुछ भी निर्धारित नहीं किया गया है। तारीखें तय होते ही इस की जानकारी आधिकारिक वेबसाइट पर अपलोड कर दी जाएगी।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक रेलवे भर्ती बोर्ड परीक्षा कराने के लिए किसी नई एजेंसी की तलाश कर रहा है। ऐसे में एनटीपीसी भर्ती परीक्षा जल्द कराया जाएगा इसकी संभावना कम ही नजर आ रही है। खबरों के मुताबिक रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक बोर्ड ने एक समिति बनाई है।

यह समिति भर्ती परीक्षाओं का आयोजन करने वाली संस्थाओं की पहचान व चयन को लेकर कार्य करेगी। इसमें एक महीने से भी अधिक का समय लग सकता है। गौरतलब है कि आरआरबी NTPC में कुल 35,277 पदों पर भर्तियां होनी है। इंटरमीडिएट पास अभ्यर्थियों के लिए कुल पदों की संख्या 10,628 हैं। वहीं, स्नातक अभ्यर्थियों के के लिए कुल पदों की संख्या 24,649 हैं।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
एयर इंडिया पर फिर गहराया संकट, तेल आपूर्ति रोकने की धमकीhttps://www.newstimes.co.in/news/82535/भारत/Air-India-crisis-again-threatens-to-stop-oil-supply902964Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019110357AirIndiacris1.jpg' alt='Images/16-10-2019110357AirIndiacris1.jpg' />एयर इंडिया (air india) मुश्किलें रुकती  नजर नहीं आ रही है। इंडियन ऑयल के बाद अब अन्य कंपनियों ने तेल आपूर्ति रोक देने की चेतावनी दी है। तेल कंपनियों का आरोप है कि एयर इंडिया ने वादा करने के बाद भी भुगतान नहीं किया।

एयर इंडिया पर फिर गहराया संकट, तेल आपूर्ति रोकने की धमकी

New Delhi. एयर इंडिया (air india) मुश्किलें रुकती  नजर नहीं आ रही है। इंडियन ऑयल के बाद अब अन्य कंपनियों ने तेल आपूर्ति रोक देने की चेतावनी दी है। तेल कंपनियों का आरोप है कि एयर इंडिया ने वादा करने के बाद भी भुगतान नहीं किया। कंपनियों ने गत मंगलवार को यह बताया कि हर महीने 100 करोड़ रुपए का भुगतान करने को कहा था, लेकिन इस वादो को पूरा नहीं किया जा रहा। यही नहीं भुगतान नहीं कर पाने की कोई ठोस वजह भी नहीं बताई जा रही। कंपनी पर कुल बकाया 5,000 करोड़ पहुंच गया है।

Images/16-10-2019110357AirIndiacris1.jpg

इंडियन ऑयल के निदेशक (वित्त) संदीप कुमार गुप्ता के अनुसार एयर इंडिया कंपनी ने तेल कंपनियों से वादा किया था कि हर महीने 100 करोड़ रुपए का भुगतान करेगी। जिससे एविएशन टरबाइन फ्यूल (एटीएफ) के पुराने कर्ज को चुका दिया जाए। लेकिन यह हैरान करने वाली बात है कि वादे के बाद भी कंपनी उस पर अमल नहीं कर रही।

यह भी पढ़ें... बैकफुट पर योगी सरकार, मंत्री बोले नहीं जाएगी होमगार्ड की नौकरी

खबरों के मुताबिक आईओसी के साथ बीपीसीएल और एचपीसीएल ने भी एयर इंडिया को नोटिस जारी किया है। नोटिस में साफ कहा गया है कि यदि बकाया रुपयों का भुगतान नहीं किया गया तो तेल आपूर्ति रोक दी जाएगी। कंपनी पर आईओसी का 2,700 करोड़ रुपये बकाया है। जिसमें 450 करोड़ का केवल ब्याज शामिल है। बता दें कि एयर इंडिया आईओसी से प्रतिदिन 13-14 करोड़ का तेल खरीद करती है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
बैकफुट पर योगी सरकार, मंत्री बोले नहीं जाएगी होमगार्ड की नौकरीhttps://www.newstimes.co.in/news/82530/भारत/उत्तर-प्रदेश-/Yogi-government-on-backfoot-minister-said-no-home-guard-will-loose-his-job902959Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1534<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019092451Yogigovernmen2.jpg' alt='Images/16-10-2019092451Yogigovernmen2.jpg' />प्रदेश के 25 हजार होमगार्ड  की ड्यूटी खत्म करने के मामले में प्रदेश की योगी सरकार बैकफुट पर नजर आ रही है। होमगार्ड मंत्री चेतन चौहान ने इस मामले में बयान जारी कर कहा है कि किसी भी होमगार्ड को निकाला नहीं जाएगा। अपने सीमित बजट पर पुलिस 17000 होमगार्ड्स को रख सकती है शेष 8000 को मुख्यालय से ड्यूटी दी जाएगी। 

बैकफुट पर योगी सरकार, मंत्री बोले नहीं जाएगी होमगार्ड की नौकरी

Lucknow. प्रदेश के 25 हजार होमगार्ड  की ड्यूटी खत्म करने के मामले में प्रदेश की योगी सरकार बैकफुट पर नजर आ रही है। होमगार्ड मंत्री चेतन चौहान ने इस मामले में बयान जारी कर कहा है कि किसी भी होमगार्ड को निकाला नहीं जाएगा। अपने सीमित बजट पर पुलिस 17000 होमगार्ड्स को रख सकती है शेष 8000 को मुख्यालय से ड्यूटी दी जाएगी। 

Images/16-10-2019092413Yogigovernmen1.jpg

मालूम हो कि सोमवार को बजट का हवाला देकर प्रदेश की कानून व्यवस्था में ड्यूटी करने वाले 32 प्रतिशत होमगार्डों की ड्यूटी में कटौती करने का आदेश जारी हुआ था। इस संबंध में एडीजी ने आदेश जारी किया था जिसमें 25 हजार होगार्ड की सेवाएं समाप्त करने की बात कही गयी थी। 
बीती 28 अगस्त को मुख्य सचिव की बैठक में इस कटौती का फैसला लिया गया था। बता दें कि धीरे धीरे कर अब तक सूबे में 40 हजार होमगार्ड्स की सेवाएं समाप्त की जा चुकी है। 

Images/16-10-2019092515Yogigovernmen3.jpg

दीपावली के पर्व से पहले जहां सभी कर्मचारी बोनस की बाट जोहते है ऐसे में इतनी बड़ी संख्या में होमगार्ड्स को नौकरी से निकालने के फरमान पर योगी सरकार की घेराबंदी शुरू हो गयी थी। 
इसी को ध्यान में रखते हुए सरकार अब इस फैसले से यूटर्न ले चुकी है। जिसकी पुष्टि होमगार्ड मंत्री चेतन चौहान ने की। 
उन्होंने कहा कि किसी भी होमगार्ड की सेवा समाप्त नहीं की जाएगी। इस समस्या का हल निकालने के लिए सीमित जवान और कम ड्यूटी वाला फार्मूला लागू किया जाएगा।

Images/16-10-2019092451Yogigovernmen2.jpg

आगामी 31 मार्च से सभी होमगार्ड को नए मानदेय के हिसाब से ड्यूटी दी जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि अगल बजट में इस समस्या से निपटने के लिए होमगार्ड और पुलिस बजट बढ़ाया जाएगा। 
त्योहार के पहले नौकरी गंवाने के संकट से घिरे यूपी के इन 25000 मायूस होमगार्ड के लिए मंत्री का यह बयान काफी राहत पहुंचाने वाला है। 

यह भी पढ़ें...एएमयू: छात्र की संदिग्ध मौत पर हुआ बवाल

 

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
श्रीमद भागवत कथा श्रवण करने से मानसिक विकारों का होता है नाश : श्याम नंन्दन सिंहhttps://www.newstimes.co.in/news/82527/भारत/उत्तर-प्रदेश-/Listening-to-Shrimad-Bhagwat-Katha-kills-mental-disorders:-Shyam-Nandan-Singh902956Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1591<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019191017ListeningtoS3.jpg' alt='Images/15-10-2019191017ListeningtoS3.jpg' /> कार्यक्रम के शुभारम्भ के बाद श्यामनन्दन सिंह ने कथा व्यास श्री अतुल जी महराज को अंगवस्त्र भेंट कर स्वागत किया।

श्रीमद भागवत कथा श्रवण करने से मानसिक विकारों का होता है नाश : श्याम नंन्दन सिंह

Lucknow: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के जानकीपुरम स्थित गोमती लान सेंट मैरी हॉस्पिटल के पीछे कुर्सी रोड पर मंगलवार, 15 से 23 अक्टूबर तक आयोजित श्रीमद भगवत कथा का शुभारम्भ उत्तर प्रदेश गो सेवा आयोग के अध्यक्ष श्यामनन्दन सिंह और कथा व्यास श्री अतुल जी महराज रामायणी ने दीप प्रज्वलित कर किया। कार्यक्रम के शुभारम्भ के बाद श्यामनन्दन सिंह ने कथा व्यास श्री अतुल जी महराज को अंगवस्त्र भेंट कर स्वागत किया।

Images/15-10-2019190908ListeningtoS1.jpg

उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए श्याम नन्दन ने श्रद्धालुओं से कहा कि श्रीमद भागवत कथा श्रवण करने से मानसिक विकारों का नाश होता है।  उन्होंने कहा कि भागवत कथा श्रवण से मानव को मुक्ति मिल सकती है। इस तरह के आयोजन से समाज में शांति, खुशहाली का वातावरण कायम होता है। उन्होंने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण बचपन में अपने लिए नहीं, बल्कि अपनी बाल सखा के लिए माखन चोरी करते थे। उन्होंने कहा कि जब किसी क्षेत्र का पुण्योदय होता है तभी वहां भागवत कथा कही जाती है। भागवत कथा मोक्षप्रदायिनी है। इसे श्रद्धालुओं को श्रवण कर अपने जीवन में उतारने की जरूरत है।

Images/15-10-2019190936ListeningtoS2.jpg

उद्घाटन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद कथावाचक श्री अतुल जी महराज रामायणी ने श्रद्धालुओं को भागवत कथा का मर्म, उसके श्रवण से होने वाले लाभ के बारे में विस्तार से बताया। कथा व्यास- श्री अतुल जी महराज रामायणी ने भागवत कथा के पहले दिन कहा कि भगवान परीक्षा से नहीं प्रतीक्षा से प्राप्त होते है। उन्होंने कहा कि जिस इंसान के अंदर धैर्य होता है उसे हर चीज प्राप्त होती है, वह चाहे ईश्वर ही क्यूं न हो। महराज जी ने कहा कि राजा दशरथ और शबरी ने प्रतिक्षा करके पी भगवान को पाया था।

Images/15-10-2019191017ListeningtoS3.jpg

उन्होंने कहा कि भागवत कथा वेद रूपी कल्प वृक्ष का पका फल है। जिसमें रस ही रस भरा हुआ है। ऐसे भागवत कथा का रसपान कर सभी जीवों को मोक्ष प्राप्त होता है। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति अपने माता-पिता का अपमान करता है, वह मरने के बाद प्रेत योनि में जन्म लेता है।  कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र में यूनाइट फाउण्डेशन के अध्यक्ष पी.के त्रिपाठी, उपाध्यक्ष राधेश्याम दीक्षित, सनातन ज्ञान पीठ के संस्थापक योगेश कुमार मिश्र आदि लोग मौजूद थे। कार्यक्रम के आयोजन मंण्डल में अध्यक्ष अरविंद चन्द्र मन्ना, उपाध्यक्ष सुनील सिंह, उपाध्यक्ष सुरेंद्र प्रसाद, संयोजक सुरेश यादव, महासचिव शरद मिश्र, सहसंयोजक दिलीप यादव,  सहसंयोजक जयप्रकाश और कोषाध्यक्ष नीतीश वाजपेयी आदि लोग शामिल है। 


 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
आंध्र प्रदेश में दर्दनाक सड़क हादसा,8 की मौत -कई घायलhttps://www.newstimes.co.in/news/82524/भारत/आंध्र-प्रदेश/Tragic-road-accident-in-Andhra-Pradesh-8-killed---many-injured902953Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNP97<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019180339Tragicroadac1.jpg' alt='Images/15-10-2019180339Tragicroadac1.jpg' />.

आंध्र प्रदेश में दर्दनाक सड़क हादसा,8 की मौत -कई घायल

Hyderabad. आंध्र प्रदेश में मंगलवार को दर्दनाक सड़क हादसा हो गया है। आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी जिले में यात्रियों से भरी बस पलट गई है। ​इस हादसे में 8 लोगों की मौत हो गई जबकि कई अन्य घायल हुए हैं।

Images/15-10-2019180339Tragicroadac1.jpg

घटना मारेदुमिली और चिंतूर के बीच घटित हुई है

आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी जिले के मारेदुमिली और आदिवासी क्षेत्र चिंतूर घाट रोड पर वाल्मीकि कोंडा के पास यात्रियों से भरी बस खाई में पलट गई। आस—पास वालों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना पर गोदावरी जिले के पुलिस अधीक्षक अदनान नईम अस्मी ने कहा हादसे की पुष्टि की। पुलिस अधीक्षक अदनान नईम अस्मी ने कहा कि हादसे में 8 की मौत हो गई जबकि कई घायल हो गए हैं। अधीक्षक ने बताया कि मृत की संख्या का आंकड़ा बढ़ सकता है। वहीं घायलों को ​पास के अस्पताल में भर्ती कराया है।  

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
इंटरनेशनल चाइल्ड पोर्न रैकेट का भंडाफोड़, 7 पर केस दर्जhttps://www.newstimes.co.in/news/82523/भारत/International-child-porn-racket-busted-case-filed-on-7902952Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019173947International1.jpg' alt='Images/15-10-2019173947International1.jpg' />जर्मनी पुलिस ने एक अंतरराष्ट्रीय चाइल्ड पोर्न रैकेट का भंडाफोड़ करते हुए बड़ी सफलता हासिल की है। बताया जा रहा कि इस रैकेट के तार भारत से जुड़े हुए हैं। जर्मन पुलिस की इस सफलता के बाद भारतीय सीबीआई ने सात आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करते हुए कार्रवाई शुरू कर दी है।  

इंटरनेशनल चाइल्ड पोर्न रैकेट का भंडाफोड़, 7 पर केस दर्ज

New Delhi. जर्मनी पुलिस ने एक अंतरराष्ट्रीय चाइल्ड पोर्न रैकेट का भंडाफोड़ करते हुए बड़ी सफलता हासिल की है। बताया जा रहा कि इस रैकेट के तार भारत से जुड़े हुए हैं। जर्मन पुलिस की इस सफलता के बाद भारतीय सीबीआई ने सात आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करते हुए कार्रवाई शुरू कर दी है।  

Images/15-10-2019173947International1.jpg

खबरों के मुताबिक, सभी आरोपी व्हाट्सएप ग्रुप के सदस्य हैं। यह ग्रुप व्हाट्सएप पर बच्चों की गंदी तस्वीरों को साझा करती थी। सात लोग ग्रुप के मेंबर थे। अपराधिक मामले को रोकने के लिए जर्मनी की फेडरल पुलिस ने योजना तैयार की थी।

इसके बाद जर्मन पुलिस ने इसका खुलासा भी कर दिया। यह बड़ा खुलासा होने के बाद पुलिस इस तरह के चलने वाले ग्रुपों पर नकेल कसने की तैयारी में तेजी से जुट गई है। सीबीआई की एफआईआर के मुताबिक जर्मन पुलिस ने सैशे ट्रेपकी नाम का आरोपी मामले में के गिरफ्तार किया गया था।

जब पुलिस ने जांच शुरू की तो उसे दोषी पाया गया और 5 साल की सजा सुनाई गई। एफआईआर के मुताबिक जांच करते हुए जर्मन पुलिस ने आरोपी के घर पर रेड मार दी। यहां पुलिस को कई संदिग्ध सामग्रियां बरामद हुई। बच्चों के पोर्न से जुड़े पिक्चर और वीडियो भी बरामद कर लिए गये। आरोपी से पूछताछ में सच सामने आया कि आरोपी इससे जुड़े 29 व्हाट्सअप ग्रुप चला रहा था।

यह भी पढ़ें... एक भी बालिका विद्यालय जाने से वंचित न रहे: स्वाती सिंह

खबरों के मुताबिक सभी 29 व्हाट्सअप ग्रुप पर 483 लोग सक्रिय थे। इनमें 7 भारतीय भी शामिल थे। सभी 7 आरोपियों के खिलाफ सीबीआई ने एफआईआर दर्ज कर लिया है। आरोपियों के नाम विनोत काना, जुहेब अली, खोजेमा एच, राकेश कुमार, अभिषेक कुमार त्रिपाठी, जयदीप रॉय और रहीस हैं। भारतीय सीबीआई ने मामले को लेकर जांच शुरू कर दी है। शुरुआती जांच में  आरोप सही पाए गए हैं। जल्द ही सीबीआई आरोपियों को गिरफ्तार कर सकती है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
एक टेस्ट संवार देगी आपकी जिंदगी, पास करने पर मिलेगी नौकरीhttps://www.newstimes.co.in/news/82522/भारत/A-test-groom-will-give-your-life-you-will-get-a-job-if-you-pass902951Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019172350Atestgroomw1.JPG' alt='Images/15-10-2019172350Atestgroomw1.JPG' />MFL TAT में कई पदों पर भर्तियां होने जा रही है। यह भर्तियां 62 तकनीकी सहायक प्रशिक्षु के पदों पर होनी है। इसके लिए अभ्यर्थी 16 अक्टूबर तक आवेदन कर सकेंगे। निर्धारित अवधि के भीतर ही अभ्यर्थियों को आवेदन करना होगा।

एक टेस्ट संवार देगी आपकी जिंदगी, पास करने पर मिलेगी नौकरी

Lucknow. MFL TAT में कई पदों पर भर्तियां होने जा रही है। यह भर्तियां 62 तकनीकी सहायक प्रशिक्षु के पदों पर होनी है। इसके लिए अभ्यर्थी 16 अक्टूबर तक आवेदन कर सकेंगे। निर्धारित अवधि के भीतर ही अभ्यर्थियों को आवेदन करना होगा।

Images/15-10-2019172350Atestgroomw1.JPG

बताते चलें कि पद का नाम तकनीकी सहायक प्रशिक्षु (TAT) / लैब विश्लेषक प्रशिक्षु (LAT) है। वेतन 20000 रुपए प्रति महीने मिलेगी। आवेदन के लिए अभ्यर्थियों की अधिकतम आयु 25 वर्ष निर्धारित है। आवेदन शुल्क जनरल व ओबीसी को 300 रुपए देय होंगे। वहीं,महिलाओं, एससी, एसटी, पीडब्ल्यूडी को कोई शुल्क नहीं देना होगा।

यह भी पढ़ें... एक भी बालिका विद्यालय जाने से वंचित न रहे: स्वाती सिंह

अभ्यर्थी शुल्क का भुगतान एसबीआई की नेट बैंकिंग, डेबिट कार्ड के माध्यम से कर सकते हैं। जो भी अभ्यर्थी आवेदन के इच्छुक हों वह वेबसाइट www.madrasfert.co.in पर जाकर प्रक्रिया पूरी कर सकेंगे। अभ्यर्थियों का चयन ऑनलाइन टेस्ट पर आधारित होगा।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
#NewstimesTrending : यूपी उपचुनाव 2019 में राजनीतिक दलों को दागियों से गुरेज नहींhttps://www.newstimes.co.in/news/82520/भारत/उत्तर-प्रदेश-/newstimes-trending-up-upchunav-2019-me-chunav-me-apradhi-902948Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNP863<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019173053AvrfcOBwqM.JPG' alt='Images/15-10-2019173053AvrfcOBwqM.JPG' />यूपी विधानसभा उपचुनाव में 109 में से 101 प्रत्याशियों का विश्लेषण किया तो कई चौंकाने वाले तथ्य सामने आएं। इन सभी का विश्लेषण दाखिल किये गये नामांकन पत्र के आधार पर किया गया था। नामांकन पत्र दाखिल करने के दौरान ही 101 प्रत्याशियों में से 24फीसदी प्रत्याशियों ने अपने ऊपर आपराधिक मामलों और 21 फीसदी प्रत्याशियों ने अपने ऊपर गंभीर आपराधिक मामलों की घोषणा की। अगर आपराधिक मामले वाले प्रत्याशियों का विश्लेषण दलों के आधार पर किया जाए तो सबसे ज्यादा 45फीसदी बीएसपी प्रत्याशियों, 40 फीसदी बीजेपी प्रत्याशियों, 30 फीसदी कांग्रेस और 22 फीसदी समाजवादी प्रत्याशियों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किये हैं। जबकि 45फीसदी बीएसपी प्रत्याशियों, 30 फीसदी बीजेपी प्रत्याशियों, 20 फीसदी कांग्रेस और 22 फीसदी समाजवादी प्रत्याशियों ने अपने ऊपर गंभीर आपराधिक मामले होने की बात स्वीकार की है। 

#NewstimesTrending : यूपी उपचुनाव 2019 में राजनीतिक दलों को दागियों से गुरेज नहीं

- Gaurav Shukla 

LUCKNOW. उत्तर प्रदेश में विधानसभा उपचुनाव को लेकर राजनीतिक दलों से लेकर प्रदेश की गलियों तक गहमागहमी का दौर जारी है। 11 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए 109 प्रत्याशियों द्वारा नामांकन दाखिल किया गया है। नामांकन दाखिल किये जाने के साथ ही इन प्रत्याशियों और राजनीतिक दलों द्वारा कवायद जारी है कि किस तरह ज्यादा से ज्यादा सीटों पर अपना कब्जा जमाया जाए। हालांकि गत चुनावों की भांति ही इस बार भी राजनीतिक दलों द्वारा टिकट बांटने के दौरान दागियों से कोई परहेज नहीं किया गया है। लगभग सभी दलों ने ही 11 सीटों पर होने वाले उपचुनाव में कोई न कोई दागी चुनाव में उतारा ही है। 

Images/15-10-2019172408newstimestren1.jpgImages/16-10-2019113244asVu9MxrUr.jpgImages/15-10-2019173053AvrfcOBwqM.JPG
© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
जानें क्यों राष्ट्रपति अब्दुल कलाम की याद में मनाते हैं विश्व छात्र दिवसhttps://www.newstimes.co.in/news/82519/भारत/Learn-why-World-Students-Day-is-celebrated-in-memory-of-President-Abdul-Kalam902947Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019170038LearnwhyWorl1.jpg' alt='Images/15-10-2019170038LearnwhyWorl1.jpg' />भारत के पूर्व राष्ट्रपति व महान वैज्ञानिक रहे डॉ. एपीजी अब्दुल कलाम की याद में हर वर्ष 15 अक्टूबर को विश्व छात्र दिवस मनाया जाता है। भारत के मिसाइल मैन कहे जाने वाले एपीजे अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को तमिलनाडु के रामेश्वरम में हुआ था। उनकी याद में संयुक्त राष्ट्र हर वर्ष इस दिन को विश्व छात्र दिवस के तौर पर मनाता है।

जानें क्यों राष्ट्रपति अब्दुल कलाम की याद में मनाते हैं विश्व छात्र दिवस

Lucknow. भारत के पूर्व राष्ट्रपति व महान वैज्ञानिक रहे डॉ. एपीजी अब्दुल कलाम की याद में हर वर्ष 15 अक्टूबर को विश्व छात्र दिवस मनाया जाता है। भारत के मिसाइल मैन कहे जाने वाले एपीजे अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर, 1931 को तमिलनाडु के रामेश्वरम में हुआ था। उनकी याद में संयुक्त राष्ट्र हर वर्ष इस दिन को विश्व छात्र दिवस के तौर पर मनाता है।

Images/15-10-2019170038LearnwhyWorl1.jpg

डॉ. कलाम की याद में इस दिन देश भर के सभी स्कूलों में कार्यक्रमों का अयोजन किया जाता है। छात्रों के लिए प्रतियोगिताओं का आयोजन कराया जाता है। इनमें भाषण और निबंध लिखने की प्रतियोगिताएं अपना अलग ही महत्व रखती हैं। विजेता बच्चों को स्कूलों में समानित भी किया जाता है।

छात्र अपने भाषण को तैयार करने के लिए ऐसी तैयारी करते हैं, जिसमें डॉ.कलाम के जीवन से संबंधित हर पहलू होते हैं। जैसे उनका जन्म कहां हुआ, शिक्षा कहां से ग्रहण की, परिवार का शुरुआती जीवन कैसे था व अन्य। साथ ही उनकी सफलताओं और कामयाबी का बखान भी कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें... कांग्रेस प्रत्याशी की अजब परेशानी, जिला निर्वाचन अधिकारी से लगाई गुहार

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम आज हमारे बीच नहीं होकर भी लोगों के लिए प्रेरणा के रूप में मौजूद हैं। उन्होंने ईमानदारी और कड़ी मेहनत से जो मिसाल कायम की एक महान वैज्ञानिक के तौर पर पहचान बनाई इसके लिए उनको पूरा विश्व मिसाइल मैन के नाम से भी जानता है। उनके जीवन से जुड़े कुछ पहलुओं पर गौर किया जाए तो उन्होंने अखबार बेचकर अपनी पढ़ाई का खर्च निकाला और काफी गरीबी में शिक्षा पूरी की।  

बताते चलें कि वह भारत के पूर्व राष्ट्रपति और वैज्ञानिक ही नहीं विचारक, दार्शनिक और एक शिक्षक भी थे। वह लोगों को हमेशा ही प्रेरित करते रहते थे। उनके जीवन से संबंधित कई किताबें भी लिखी गई हैं। जिनमें विंग्स ऑफ फायर और इंडिया 2020 एक है।

डॉ कलाम को आधुनिक भारत का जनक भी कहा जा सकता है। वह जब तक इस दुनिया में रहे युवाओं को प्रेरणा देने के साथ ही उनके अंदर आत्मविश्वास जगाते रहे। उनको पढ़ाने का काफी शौक था। उनका निधन भी उस दौरान हुआ जब वह आईआईएम में लेक्चर देने के लिए स्टेज पर पहुंचे थे।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
इलाहाबाद विवि में छात्रों का हंगामा, पुलिस ने किया लाठीचार्जhttps://www.newstimes.co.in/news/82517/भारत/उत्तर-प्रदेश-/Uproar-among-students-in-Allahabad-University-police-lathi-charged902945Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1534<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019161840Uproaramongs2.jpg' alt='Images/15-10-2019161840Uproaramongs2.jpg' />इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रसंघ बहाली की मांग कर रहे छात्रों की प्रॉक्टोरियल बोर्ड से तीखी नोकझोंक हुई। मामला इतना बढ़ा कि पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। इस दौरान कई छात्रों के घायल होने की सूचना है। वहीं दूसरी ओर 12 छात्रों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया हे। माहौल को देखते हुए भारी तादात में पुलिस फोर्स परिसर में तैनात कर दिया गया है। इस हंगामे तकरीबन आधा दर्जन गाड़ियों में तोड़फोड़ भी की गयी है।  

इलाहाबाद विवि में छात्रों का हंगामा, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

- छात्रसंघ चुनाव की मांग कर रहे थे छात्र
- 11 छात्रों को हिरासत में लिया गया, कई घायल

Allahabad. इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रसंघ बहाली की मांग कर रहे छात्रों की प्रॉक्टोरियल बोर्ड से तीखी नोकझोंक हुई। मामला इतना बढ़ा कि पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। इस दौरान कई छात्रों के घायल होने की सूचना है। वहीं दूसरी ओर 12 छात्रों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया हे। माहौल को देखते हुए भारी तादात में पुलिस फोर्स परिसर में तैनात कर दिया गया है। इस हंगामे तकरीबन आधा दर्जन गाड़ियों में तोड़फोड़ भी की गयी है।  

Images/15-10-2019161816Uproaramongs1.JPG

बता दें कि इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्र परिषद चुनाव की मांग कर रहा है। जबकि प्रॉक्टोरियल बोर्ड इसके खिलाफ है। 
इसी बात को लेकर मंगलवार हालात बिगड़ गए और छात्रों से नोकझोंक होने लगी। बता दें कि इससे पहले सोमवार को नाराज छात्रों ने यहां 'गधा' लेकर विश्वविद्यालय परिसर में विरोध दर्ज कराते हुए विवि प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की थी। 
मंगलवार को नाराज छात्र उग्र हुए तो पुलिस ने लाठियां पटकनी शुरू कर दी। जिससे छात्रों में भगदड़ मच गयी। 
छात्रों की ओर से भी पथराव कर परिसर में खड़ी तमाम गाड़ियों के शीशे क्षतिग्रस्त किए गए। घटना के बाद चीफ प्रॉक्टर ने प्रदर्शन की अगुवाई कर रहे छात्र नेताओं समेत तकरीबन 35 छात्रों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के लिए तहरीर दी है। 

Images/15-10-2019161840Uproaramongs2.jpg

यह भी पढ़ें...उन्नाव: छेड़छाड़ का विरोध करने पर युवती को चलती ट्रेन से फेंका, एक पैर कटा

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
राम और भरत का मिलाप देख नम हुई दर्शकों की आंखेंhttps://www.newstimes.co.in/news/82516/भारत/उत्तर-प्रदेश-/उन्नाव/-कोतवाली-The-eyes-of-the-audience-became-moist-after-seeing-the-Ram-and-Bharat-meeting902944Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1534<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019154938Theeyesofth3.jpg' alt='Images/15-10-2019154938Theeyesofth3.jpg' />वृन्दावन गार्डन की रामलीला में पांचवे दिन भगवान श्रीराम और भरत मिलाप का मंचन देख दर्शक भावुक हो गए। इस दौरान मयूर नृत्य की प्रस्तुति ने सभी दर्शकों का मन मोह लिया। सदर विधायक ने भी कार्यक्रम में पहुंच कर मंचन का आनंद लिया। लीला के 6वें व अंतिम दिन राज्याभिषेक, ब्रज की मटकी, बरसाने की होली व डांडिया नृत्य का मचन किया जाएगा। 

राम और भरत का मिलाप देख नम हुई दर्शकों की आंखें

- वृन्दावन गार्डन रामलीला का पांचवा दिन
Unnao. वृन्दावन गार्डन की रामलीला में पांचवे दिन भगवान श्रीराम और भरत मिलाप का मंचन देख दर्शक भावुक हो गए। इस दौरान मयूर नृत्य की प्रस्तुति ने सभी दर्शकों का मन मोह लिया। सदर विधायक ने भी कार्यक्रम में पहुंच कर मंचन का आनंद लिया। लीला के 6वें व अंतिम दिन राज्याभिषेक, ब्रज की मटकी, बरसाने की होली व डांडिया नृत्य का मचन किया जाएगा। 

Images/15-10-2019154844Theeyesofth1.jpg

आवास विकास कालोनी स्थित वृन्दावन गार्डेन में चल रही रामलीला में लंका पर विजय पाने के बाद भगव श्रीराम की माता सीता और लक्ष्मण समेत आयोध्या वापसी की लीला का मंचन किया गया। 
इस दौरान जब राम और भरत मिलाप का मंचन हुआ तो पंडाल में मौजूद दर्शकों की आंखें नम हो गयी। 
वृंदावन के श्रेष्ठ कलाकारों ने मयूर नृत्य प्रस्तुत की कार्यक्रम की भव्यता और बढ़ा दी। मीरा चरित्र का भी मंचन खूब सराहा गया। 

Images/15-10-2019154907Theeyesofth2.jpg

सदर विधायक पंकज गुप्ता ने भी अपने साथियों के लाल पंडाल में पहुंच कर लीलाओं के मंचन का आनंद लिया। अंत में कमेटी पदाधिकारियों व सदस्यों ने राम दरबाज की आरती उतारी। 
इस दौरान प्रमुख रूप से मुन्ना सिंह चौहान, मुन्ना सिंह अवधूत, अवधेश सिंह, अजय शुक्ला, सतीश राजपाल, सर्वेश शुक्ला,राजेन्द्र तिवारी, रामजस गुप्ता, वीरेंद्र विक्रम सिंह व आशु दीक्षित आदि उपस्थित रहे। 

Images/15-10-2019154938Theeyesofth3.jpg

  भव्यता के साथ छठें दिन होगा लीला का समापन
महोत्सव प्रमुख अजीत पाल सिंघ ने बताया कि आयोजन को भव्यता प्रदान करने के लिए लीला के छठे और अंतिम दिन खास इंतजाम किए गए हैं। इस दिन श्रीराम के राज्याभिषेक के साथ ब्रज की मटकी, बरसाने की होली और डांडिया नृत्य का भी आयोजन किया जाएगा। समापन पर अनेकों अतिथियों के आगमन के साथ साथ विशिष्ट लोगों को सम्मानित भी किया जाएगा। 

यह भी पढ़ें...कांग्रेस प्रत्याशी की अजब परेशानी, जिला निर्वाचन अधिकारी से लगाई गुहार

 

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
विकास के नाम पर सिर्फ पानी की टंकी का निर्माण,वह भी बंदhttps://www.newstimes.co.in/news/82514/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Construction-of-water-tank-only-in-the-name-of-development-that-too-closed902942Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1181<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019143305Constructiono1.jpg' alt='Images/15-10-2019143305Constructiono1.jpg' />सांसद आदर्श ग्राम आंट गढ़ी सौंरा में स्थित आंगनबाड़ी केन्द्र में जानवर बांधे जा रहे हैं और उप स्वास्थ्य केन्द्र में गन्दगी और आस पास कूड़े के ढेर लगे हैं।

विकास के नाम पर सिर्फ पानी की टंकी का निर्माण,वह भी बंद

LUCKNOW.  सांसद आदर्श ग्राम आंट गढ़ी सौंरा स्थित आंगनबाड़ी केन्द्र में जानवर बांधे जा रहे हैं और उप स्वास्थ्य केन्द्र में गन्दगी और आस पास कूड़े के ढेर लगे हैं। जिससे इस केन्द्र में एएनएम कभी नहीं बैठती। यह स्थिति‍ पिछले चार साल से है। इस गांव के सांसद कौशल किशोर द्वारा गोद लिए जाने के बाद से कोई बदलाव नहीं हुआ है।

Images/15-10-2019143305Constructiono1.jpg

यहां एक ही काम हुआ है, वह है पानी की टंकी का निर्माण, जिसको चालू हुए अभी 3-4 माह हुआ था कि अचानक पानी की टंकी बंद हो गयी। यहां रहने वाले छोटू ने बताया कि केबिल जल जाने के कारण टंकी बंद की 27 अगस्त को बंद हो गयी थी, तब से अब तक टंकी चालू नहीं हो पाई है। जिससे ग्रामीणों में असंतोष व्याप्त है।

ग्रामीणों का कहना है कि पानी की टंकी से अभी तक गांव वालों को कोई लाभ नहीं हो रहा है। इसके अलावा गांव का कौन सा विकास हुआ है पता नहीं। यहां के पंचायत भवन में पिछले प्रधान का नाम लिखा है। इससे यह पता चलता है कि यहां पंचायत भवन में कभी बैठक नहीं हुई।

ग्रामीणों ने कहा कि यहां सफाई कर्मी भी नहीं आता जिससे वे अपने दरवाजे की सफाई खुद करते हैं। जहां नालियां गहरी हैं वहां नालियों में गंदा पानी जमा होने से मच्छर पैदा हो रहे हैं। जिससे गांव में बीमारियां भी फैल रही हैं। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
#NewstimesTrending : 25 हजार होमगार्ड स्वंय सेवकों की तैनाती तत्कालिक प्रभाव से समाप्तhttps://www.newstimes.co.in/news/82508/भारत/उत्तर-प्रदेश-/25-hazar-homguard-ki-tainati-samapt-902936Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNP863<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-201912404725hazarhomgu2.jpeg' alt='Images/15-10-201912404725hazarhomgu2.jpeg' />यूपी के 25 हजार होमगार्ड एक सरकारी आदेश के बाद बेरोजगार हो गये हैं। सोमवार को बजट का हवाला देते हुए ड्यूटी खत्म करने को लेकर दिये गये इस आदेश के बाद इन होमगार्ड स्वंयसेवकों की तैनाती तत्कालि

#NewstimesTrending : 25 हजार होमगार्ड स्वंय सेवकों की तैनाती तत्कालिक प्रभाव से समाप्त

Lucknow. यूपी के 25 हजार होमगार्ड एक सरकारी आदेश के बाद बेरोजगार हो गये हैं। सोमवार को बजट का हवाला देते हुए ड्यूटी खत्म करने को लेकर दिये गये इस आदेश के बाद इन होमगार्ड स्वंय सेवकों की तैनाती तत्कालिक प्रभाव से समाप्त हो गयी है। यह आदेश एडीजी पुलिस मुख्यालय बीपी जोगदंड के द्वारा जारी किया गया है। 

Images/15-10-201912402925hazarhomgu1.jpg

गौरतलब है कि पूर्व में कानून व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए पुलिस विभाग की रिक्तियों के सापेक्ष होमगार्ड स्वंयसेवकों की सेवाएं लेने का फैसला किया गया था। जिसके बाद सोमवार को जारी आदेश में कहा गया कि मुख्य सचिव उ.प्र. की अध्यक्षता में 28-08-2019 को हुई गोष्ठी में होमगार्ड स्वंयसेवकों को समाप्त करने का फैसला लिया गया है।

शासन स्तर पर लिये गये निर्णय के क्रम में उ.प्र. पुलिस विभाग में शासनादेश 03-04-2019 द्वारा जनपदों में तैनात कुल 25000 होमगार्डस स्वंयसेवकों की तैनाती तात्कालिक प्रभाव से समाप्त की जाती है। इसी के साथ जारी आदेश में अगले बिंदु में कहा गया है कि होमगार्डस स्वंयसेवकों को दी जाने वाली सेवाओं के लिए मानदेय के रूप में भुगतान की जाने वाली धनराशि का आंकलन माहवार कराकर 1 सप्ताह के भीतर पुलिस मुख्यालय, प्रयागराज को उपलब्ध करवाएं। 

Images/15-10-201912404725hazarhomgu2.jpeg

हालांकि होमगार्ड के स्वीकृत पद 1 लाख 18 पद स्वीकृत हैं। इसमें 99 हाजर में से 92 हजार होमगार्डों को कम से कम 25 दिनों की ड्यूटी दी जा रही थी। लेकिन अब बजट कम होने के बाद पुलिस महकमें में लिये गये 25 हजार होमगार्ड की सेवाएं समाप्त कर दी गयी हैं। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
देर रात फिल्म दंबग 3 की डबिंग के लिए पहुंचे सलमान खान, देखें दिलचस्प तस्वीरेंhttps://www.newstimes.co.in/news/82507/भारत/Salman-Khan-arrives-late-night-for-dubbing-of-film-Dambag-3-see-interesting-pictures902935Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019123001SalmanKhanar4.JPG' alt='Images/15-10-2019123001SalmanKhanar4.JPG' />बॉलीवुड के दबंग सलमान खान (Salman Khan) अक्सर सोशल मीडिया पर छाए रहते हैं कभी प्रोफेशनल लाईफ को लेकर तो कभी पर्सनल लाईफ को लेकर हाल ही में सलमान को सोमवार देर रात मुंबई में किसी फिल्म की डबिंग में जाते हुए देखे गए जहां मौजूद कैमरों ने उनकी दिलचस्प तस्वीरें कैप्चर कीं।

देर रात फिल्म दंबग 3 की डबिंग के लिए पहुंचे सलमान खान, देखें दिलचस्प तस्वीरें

Mumbai. बॉलीवुड के दबंग सलमान खान (Salman Khan) अक्सर सोशल मीडिया पर छाए रहते हैं कभी प्रोफेशनल लाईफ को लेकर तो कभी पर्सनल लाईफ को लेकर हाल ही में सलमान को सोमवार देर रात मुंबई में किसी फिल्म की डबिंग में जाते हुए देखे गए जहां मौजूद कैमरों ने उनकी दिलचस्प तस्वीरें कैप्चर कीं।

Images/15-10-2019122901SalmanKhanar1.JPG

   सिंपल लुक

इस दौरान सलमान हमेशा की तरह बेहद सिंपल और स्मार्ट लुक में नजर आए काली टी-शर्ट और जींस में वह बेहद डैसिंग नजर आ रहे थे। ऐसा माना जा रहा है कि सलमान खान अपनी अगली फिल्म दबंग 3 की डबिंग के लिए गए थे।

यह भी पढ़ें... फेस्टिव सीजन में ग्राहकों को लुभाने के लिए कंपनियों ने अपनाए ये तरीके, सोच-विचार कर चुनें...

Images/15-10-2019122925SalmanKhanar2.JPG

बताते चलें कि समलान खान ने फिल्म दबंग 3 (Dabangg 3) की शूटिंग हाल ही में खत्म की है अब फिल्म के पोस्ट प्रोडक्शन का काम चल रहा है। सलमान ने फिल्म की शूटिंग के आखिरी दिन एक वीडियो शेयर किया था, जिसमें वो पूरे क्रू और कास्ट के साथ नजर आए थे। दबंग 3 का निर्देशन प्रभुदेवा (Prabhudheva) कर रहे हैं।

Images/15-10-2019122944SalmanKhanar3.JPG

  साउथ का होगा विलेन 

इस फिल्म में साउथ के स्टार किच्चा सुदीप (Kicha Sudeep) विलेन के किरदार में दिखाई देने वाले हैं। दिलचस्प बात ये है कि दबंग 3 से महेश मांजरेकर की बेटी सई मांजरेकर (Sai Manjrekar) सलमान साथ बड़े परदे पर डेब्यू कर रही हैं। 
 

Images/15-10-2019123001SalmanKhanar4.JPG

  सई मांजरेकर का डेब्यू

दबंग 3 में एक बार सोनाक्षी सिन्हा सलमान के साथ नजर आएंगी उनके अलावा दिवगंत अभिनेता विनोद खन्ना (Vinod Khanna) के भाई प्रमोद खन्ना फिल्म में सलमान के पिता के किरदान में नजर आएंगे। बता दें कि दबंग 3 20 दिसंबर को सिनेमाघरों में रिलीज होगी। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
कांग्रेस प्रत्याशी की अजब परेशानी, जिला निर्वाचन अधिकारी से लगाई गुहारhttps://www.newstimes.co.in/news/82510/भारत/उत्तर-प्रदेश-/Congress-candidates-strange-problem-pleaded-with-District-Election-Officer902938Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1534<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019132913Congresscandi2.jpg' alt='Images/15-10-2019132913Congresscandi2.jpg' />यूपी की राजधानी लखनऊ की कैंट विधानसभा सीट से उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी का जिला निर्वाचन अधिकारी को जिला गया पत्र खूब सुर्खियां बटोर रहा है। बात दरअसल यह है कि उनके गनर ने चुनाव प्रचार में उनके साथ पैदल चलने से इंकार कर दिया है। जिस पर उन्होंने अपना सुरक्षा गार्ड बदलने की मांग की है। 

कांग्रेस प्रत्याशी की अजब परेशानी, जिला निर्वाचन अधिकारी से लगाई गुहार

- राजधानी लखनऊ की कैंट विधानसभा सीट का मामला
- सुरक्षा गार्ड ने किया प्रचार में पैदल चलने से इंकार

Lucknow. यूपी की राजधानी लखनऊ की कैंट विधानसभा सीट से उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी का जिला निर्वाचन अधिकारी को जिला गया पत्र खूब सुर्खियां बटोर रहा है। बात दरअसल यह है कि उनके गनर ने चुनाव प्रचार में उनके साथ पैदल चलने से इंकार कर दिया है। जिस पर उन्होंने अपना सुरक्षा गार्ड बदलने की मांग की है। 

Images/15-10-2019132850Congresscandi1.jpg

मालूम हो कि उत्तर प्रदेश में विधानसभा उपचुनाव का चुनाव प्रचार पूरे जोर शोर से चल रहा है। सभी राजनैतिक दर पूरी ताकत के साथ चुनावी माहौल अपने पक्ष में करने के प्रयास में जुटे हैं। सभी प्रत्याशी वोटरों की गणेश परिक्रमा कर रहे हैं। 
ऐसी ही कोशिश में जुटे लखनऊ की कैंट विधानसभा सीट से कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ रहे दिलप्रीत सिंह विर्क उर्फ डीपी सिंह के सामने एक नई समस्या खड़ी हो गयी है। 
उन्होंने जिला निर्वाचन अधिकारी को पत्र सौंपते हुए एक अनोखी गुहार लगाई है। उन्होंने इस पत्र में कहा कि उन्हें जो गनर दिया गया है सही से काम नहीं कर रहा है। 
बीते कुछ दिनों से वह उनके साथ आ भी नहीं रहा है। दिलप्रीत ने हवाला दिया है कि चुनाव प्रचार के लिए उन्हें कई किलोमीटर पैदल चलना पड़ा रहा है। 

Images/15-10-2019132913Congresscandi2.jpg

इस दौरान कई बार विरोधी प्रत्याशियों के समर्थकों से उनका आमना सामना हो जाता है। उन्होंने कहा कि सुरक्षा की दृष्टि से गार्ड साथ होना आवश्यक है लेकिन उनका सुरक्षा गार्ड संदीप पिछले कई दिनों से नहीं आ रहा है। वह प्रचार में उनके पैदल चलने को तैयार नहीं हैं। 
उन्होंने अपने इस पत्र जिला निर्वाचन अधिकारी से गार्ड संदीप सिंह के स्थान पर कोई अन्य सुरक्षा गार्ड उपलब्ध कराने की मांग की है। 
कांग्रेस प्रत्याशी का जिला निर्वाचन अधिकारी को लिखा गया यह पत्र इन दिनों राजनीति के गलियारों में खूब सुर्खियां बटोर रहा है। 

 

यह भी पढ़ें...राहुल गांधी का बड़ा बयान, अंग्रेजों की तरह काम कर रही भाजपा

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
स्कूल की इमारत 10 साल में ही जर्जर,जिम्मेदारों पर कार्रवाई नहींhttps://www.newstimes.co.in/news/82511/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/School-building-dilapidated-in-10-years-no-action-on-responsibilities902939Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1181<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019135145Schoolbuildin.jpg' alt='Images/15-10-2019135145Schoolbuildin.jpg' />20 साल के लिए बनने वाली इमारत मात्र 10 साल में ही जर्जर हो गयी। फिर भी निर्माण कर्ता प्रधान और अध्यापक के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

स्कूल की इमारत 10 साल में ही जर्जर,जिम्मेदारों पर कार्रवाई नहीं

LUCKNOW.  20 साल के लिए बनने वाली इमारत मात्र 10 साल में ही जर्जर हो गयी। फिर भी निर्माण कर्ता प्रधान और अध्यापक के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। इंचार्ज अध्यापक संजय सिंह परिहार बताते हैं कि उनके स्कूल की जो इमारत जर्जर हो गयी है उसका निर्माण 2005—6 में हुआ था।पांच साल पहले घोषित सांसद आदर्श ग्राम योजना में च​यनित ग्राम आंट गढ़ी सौंरा के एक प्राथमिक विद्यालय की इमारत जर्जर होने के साथ ही बाउन्ड्रीवाल भी टूटी पड़ी है। विद्यालय परिसर में जंगल जैसी घास खड़ी है।

Images/15-10-2019135145Schoolbuildin.jpg

यहां एक अतिरिक्त कक्ष में पांचों कक्षाएं एक साथ लगाई जा रही हैं। विद्यालय के आस पास भी इतना जंगल खड़ा है कि बच्चों की पढ़ाई के समय सांप कीड़ों के आने का डर बना रहता है। चहारदीवारी टूटी होने के कारण यहां वृक्षारोपण के तहत लगाए गए पेड़ों को बचाने का कोई उपाय नहीं किया गया है। इस विद्यालय में 39 छात्र पंजीकृत हैं।​ जिनमें से आधे छात्र उपस्थित हो जाते हैं। यहां दो शिक्षा मित्र नीतू और रविन्द्र त्रिपाठी तैनात हैं जो अपनी मर्जी पर स्कूल आते हैं और घर चले जाते हैं। यहां तैनात इंचार्ज अध्यापक संजय सिंह परिहार भी शिक्षा मित्रों के स्कूल न आने पर उनको उपस्थित बताते रहते हैं। अगर कोई भी शिक्षा मित्र स्कूल न आए तो उसे बताते हैं कि वह घर लंच करने गया है। 
 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
एक भी बालिका विद्यालय जाने से वंचित न रहे: स्वाती सिंहhttps://www.newstimes.co.in/news/82505/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Not-a-single-girl-is-deprived-of-going-to-school-—-Swati-Singh902933Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1181<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019120159Notasingleg1.jpg' alt='Images/15-10-2019120159Notasingleg1.jpg' />डीपीओ व सीडीपीओ अपने-अपने ब्लाक में यह सुनिश्चित करें कि हर ब्लाक में प्रत्येक बालिका स्कूल जा रही है।

एक भी बालिका विद्यालय जाने से वंचित न रहे: स्वाती सिंह

LUCKNOW. प्रदेश की महिला कल्याण तथा बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) स्वाती सिंह ने पोषण पखवाड़े के दौरान बच्चों के चिन्हांकन के कार्य में शिथिलता पर सभी सीडीपीओ को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि आप लोग आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के माध्यम से अपने ब्लाक में घर-घर भेजकर बच्चों का सौ प्रतिशत चिन्हांकन करायें। उन्होंने कहा कि इस कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही सामने आयेगी तो सम्बन्धित ब्लाक की सीडीपीओ के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जायेगी।

Images/15-10-2019120159Notasingleg1.jpg


श्रीमती सिंह यहां विभागीय समीक्षा कर रही थीं। उन्होंने कहा कि पी0एफ0एम0एस0 पोर्टल पर पी0एल0आई0 प्राप्त कर रहीं लाभार्थियों के फीडिंग न किये जाने पर अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि ये लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सभी डीपीओ को निर्देश दिये कि दीपावली से पहले सभी पात्र लाभार्थियों की फीडिंग हो जानी चाहिए। जिससे कि लाभार्थियों को लाभ दिया जा सके।

राज्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना को गम्भीरता से लें और शासन की मंशा के अनुरूप कार्य करें। डीपीओ व सीडीपीओ अपने-अपने ब्लाक में यह सुनिश्चित करें कि हर ब्लाक में प्रत्येक बालिका स्कूल जा रही है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि बालिकाओं को प्रोत्साहित करके स्कूल भेजे जिससे उन्हें इस योजना का शत प्रतिशत लाभ मिल सके।

उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि टीम बनाकर हर जिले के आंगनबाड़ी केन्द्रों का औचक निरीक्षण करें और उनकी स्थिति के बारे में मुख्यालय पर अवगत करायें। उन्होंने डीपीओ व सीडीपीओ को निर्देश दिये कि सभी सरकारी योजनाओं का समयबद्ध तरीके से क्रियान्वयन किया जाये और इसमें किसी भी स्तर पर कोई भी लापरवाही पायी जाती है तो सम्बन्धित के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जायेगी।

समीक्षा बैठक में आर0आर0एस0 पोर्टल, किशोरी बालिका योजना के अन्तर्गत वीरागंना दलों के गठन की स्थिति, हाट कुक्ड फूड योजना, किशोरी बालिकाओं में एनीमिया का प्रबन्धन, सहित अन्य बिन्दुओं पर चर्चा की गयी। इस अवसर पर प्रमुख सचिव बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार,  मोनिका एस गर्ग, निदेशक शत्रुघ्न सिंह सहित लखनऊ मण्डल के डीपीओ व सीडीपीओ उपस्थित थे।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
ग्रामीण महिलाओं को प्रोत्साहित करने के लिए मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय ग्रामीण महिला दिवसhttps://www.newstimes.co.in/news/82506/भारत/उत्तर-प्रदेश-/International-Rural-Womens-Day-is-celebrated-to-encourage-rural-women902934Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1591<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019120452International2.jpg' alt='Images/15-10-2019120452International2.jpg' /> 15 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय ग्रामीण महिला दिवस मनाया जाता है, इसका उद्देश्य ग्रामीण महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका व उनके योगदान के लिए उन्हें सम्मानित करना है।

ग्रामीण महिलाओं को प्रोत्साहित करने के लिए मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय ग्रामीण महिला दिवस

Lucknow: 15 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय ग्रामीण महिला दिवस मनाया जाता है, इसका उद्देश्य ग्रामीण महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका व उनके योगदान के लिए उन्हें सम्मानित करना है। इस दिवस को मनाने का उद्देश्य ग्रामीण महिलाओं द्वारा कृषि, विकास, निर्धनता उन्मूलन, खाद्य सुरक्षा को बेहतर करने तथा ग्रामीण क्षेत्रों में आजीविका बेहतर बनाने में उनकी भूमिका तथा योगदान को लोगों तक पहुंचाना और उन्हें प्रोत्साहित करना है।

Images/15-10-2019120307International1.png

पूरे विश्व में इस दिन महिलाओं को समाज में उनके विशेष योगदान के लिए सम्मानित किया जाता है और समारोह आयोजित किए जाते हैं। समाज, राजनीति, संगीत, फिल्म, साहित्य, शिक्षा क्षेत्रों में श्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए महिलाओं को सम्मानित किया जाता है। कई संस्थाओं द्वारा गरीब महिलाओं को आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है।

भारत में महिलाओं को शिक्षा, वोट देने का अधिकार और मौलिक अधिकार प्राप्त है। धीरे-धीरे परिस्थितियां बदल रही हैं। भारत में आज महिला आर्मी, एयर फोर्स, पुलिस, आईटी, इंजीनियरिंग, चिकित्सा जैसे क्षेत्र में पुरूषों के कंधे से कंधा मिला कर चल रही हैं। माता-पिता अब बेटे-बेटियों में कोई फर्क नहीं समझते हैं। लेकिन यह सोच समाज के कुछ ही वर्ग तक सीमित है।

लेकिन आज भी पूरे विश्व में महिलाओं खासकर ग्राणीण महिलाओं की स्थिति काफी चिन्ताजनक है। ग्रामीण महिलाएं उन सब सुविधाओं से वंचित जो उन्हें मिलना चाहिए। सही मायने में ग्रामीण महिला दिवस तब ही सार्थक होगा, जब विश्व भर में महिलाओं को मानसिक व शारीरिक रूप से संपूर्ण आजादी मिलेगी, जहां उन्हें कोई प्रताड़ित नहीं करेगा, जहां उन्हें दहेज के लालच में जिंदा नहीं जलाया जाएगा, जहां कन्या भ्रूण हत्या नहीं की जाएगी, जहां बलात्कार नहीं किया जाएगा, जहां उसे बेचा नहीं जाएगा। समाज के हर महत्वपूर्ण फैसलों में उनके नजरिए को महत्वपूर्ण समझा जाएगा। जहां वह सिर उठा कर अपने महिला होने पर गर्व करे, न कि पश्चाताप, कि काश मैं एक लड़का होती। 

 अंतर्राष्ट्रीय ग्रामीण महिला दिवस की स्थापना

अंतर्राष्ट्रीय ग्रामीण महिला दिवस की स्थापना संयुक्त राष्ट्र महासभा ने दिसम्बर, 2007 में 62/136 प्रस्ताव पारित करके की थी। पहली बार 15 अक्टूबर, 2008 को अंतर्राष्ट्रीय ग्रामीण महिला दिवस मनाया गया था। संयुक्त राष्ट्र के अनुसार धारणीय विकास लक्ष्यों (Sustainable Development Goals – SDG) को प्राप्त करने के लिए ग्रामीण महिलाओं का सशक्तिकरण अति आवश्यक है।

SDG के द्वारा निर्धनता उन्मूलन, खाद्य सुरक्षा तथा महिलाओं व लड़कियों का सशक्तिकरण सुनिश्चित किया जायेगा। ग्रामीण महिलाएं विश्व की कुल जनसँख्या का ¼ हिस्सा है। इनमे से अधिकतर महिलाओं आजीविका के लिए प्राकृतिक संसाधनों तथा कृषि पर निर्भर हैं। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के द्वारा खाद्य सुरक्षा तथा निर्धनता उन्मूलन में ग्रामीण महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका की सराहना की जाती है।

Images/15-10-2019120452International2.jpg

ग्रामीण महिलाओं की स्थिति

आज पूरे विश्व में विकसित या विकासशील देशों में ग्रामीण महिलाओं की स्थिति चिंताजनक है, जबकि ग्रामीण स्तर की महिलाएं पूरे परिवार का आधार स्तंभ होती हैं महिलाए ही परिवार की रीढ़ कही जाती हैं। बच्चों की परवरिश और घरेलू कार्य के अलावा और भी अन्य कार्य को भी वे बड़ी तत्परता के साथ करती है। लेकिन उनके साथ दोयम दर्जे का व्यवहार हमेशा होता रहा है, इन सब बातों पर गंभीर होकर संयुक्त राष्ट्र महासभा (डब्ल्यूएचओ) ने 15 अक्टूबर सन् 2008 से इस दिवस को मनाने का संकल्प लिया है।

ग्रामीण स्तर की महिलाएं हर स्तर पर आज पुरुष वर्ग के साथ कंधे से कंधा और कदम से कदम मिलाकर चल रही है उनके द्वारा किए गए कार्यों का श्रेय भी पुरुष वर्ग ले जाता है महिलाओं स्वास्थ्य शिक्षा तथा अन्य कई गंभीर क्षेत्रों में पुरुषों से काफी पिछड़ी हुई है अंतरराष्ट्रीय ग्रामीण महिला दिवस के अवसर पर हम ग्रामीण महिलाओं को जागरुक करते हुए उन्हें उनके अधिकारों और समानता के संबंध में बताते हुए इस दिवस को मनाने की सार्थकता को तय कर सकते हैं। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
उन्नाव: ट्रक ने बाइक सवार दो को रौंदा, मौतhttps://www.newstimes.co.in/news/82504/भारत/उत्तर-प्रदेश-/उन्नाव/-कोतवाली-Unnao:-Truck-crushed-two-bike-riders-dies902932Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1534<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019115419UnnaoTruckc2.jpg' alt='Images/15-10-2019115419UnnaoTruckc2.jpg' />लखनऊ कानपुर हाईवे पर बाइक सवार दो युवकों को तेज रफ्तार ट्रक ने रौंद दिया। गंभीर से घायल दोनों युवकों को आनन फानन केजीएमयू के ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया। जहां भोरपहर दोनों की मौत हो गयी। घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने आरोपी ट्रक चालक और क्लीनर को बंधक बना कर पिटाई कर दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह दोनों को ग्रामीणों से मुक्त कराया। घटना अजगैन कोतवाली क्षेत्र में बीती देर हुई। 

उन्नाव: ट्रक ने बाइक सवार दो को रौंदा, मौत

- दशहरा मेला देखने निकले थे दोनों बाइक सवार, ट्रामा सेंटर में हुई मौत
- भीड़ में ट्रक चालक और क्लीनर को पिटाई के बाद बनाया बंधक

Unnao. लखनऊ कानपुर हाईवे पर बाइक सवार दो युवकों को तेज रफ्तार ट्रक ने रौंद दिया। गंभीर से घायल दोनों युवकों को आनन फानन केजीएमयू के ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया। जहां भोरपहर दोनों की मौत हो गयी। घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने आरोपी ट्रक चालक और क्लीनर को बंधक बना कर पिटाई कर दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह दोनों को ग्रामीणों से मुक्त कराया। घटना अजगैन कोतवाली क्षेत्र में बीती देर हुई। 

Images/15-10-2019115347UnnaoTruckc1.jpg

मिली जानकारी के अनुसार अजगैन कोतवाली क्षेत्र के हिंदू खेड़ा गांव के रहने वाले  धर्मेंद्र पुत्र प्रकाश व दीपू पुत्र स्वर्गीय भन्नाराम बीती रात भवानीपुर गांव में लगने वाले पारम्परिक दशहरा मेला देखने के लिए निकले थे। 
एक ही बाइक पर सवार दोनों जैसे ही लखनऊ कानपुर हाईवे पर पहुंचे तो एक तेज रफ्तार ट्रक ने उन्हें रौंद दिया। 
बुरी तरह से घायल अवस्था में उन्हें आनन फानन ट्रामा सेंटर लखनऊ पहुंचाया गया। यहां उपचार के दौरान दोनों ने मंगलवार भोरपहर दम तोड़ दिया। 

Images/15-10-2019115419UnnaoTruckc2.jpg

घटना से गुस्साए ग्रामीणों ने हादसे के बाद आरोपी ट्रक चालक और क्लीनर को दौड़ा कर पकड़ लिया।ग्रामीणों ने दोनों की जमकर पिटाई करने के बाद उन्हें बंधक बना लिया। इसकी सूचना मिलने पर पुलिस के हाथ पांव फूल गए। 
आनन फानन दो थानों की पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गयी। कड़ी मशक्कत के दोनों को ग्रामीणों के कब्जे से मुक्त कराया गया। 

यह भी पढ़ें...उन्नाव: छेड़छाड़ का विरोध करने पर युवती को चलती ट्रेन से फेंका, एक पैर कटा

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
उन्नाव: छेड़छाड़ का विरोध करने पर युवती को चलती ट्रेन से फेंका, एक पैर कटाhttps://www.newstimes.co.in/news/82503/भारत/उत्तर-प्रदेश-/उन्नाव/-कोतवाली-Unnao:-A-woman-was-thrown-from-the-moving-train-after-protesting-against-molestation-cut-a-leg902931Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1534<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019112515UnnaoAwoman2.jpg' alt='Images/15-10-2019112515UnnaoAwoman2.jpg' />छेड़छाड़ का विरोध करने पर मनचले ने एक युवती को चलती ट्रेन से धक्का दे दिया। इस घटना में युवती का एक पैर कट गया। स्थानीय लोगों ने घायल अवस्था में पड़ी युवती को देख पुलिस और उसके परिजनों को घटना की जानकारी दी। पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुट गयी है। यह सनसनीखेज मामला राजधानी से सटे पड़ोसी जनपद उन्नाव का है।  

उन्नाव: छेड़छाड़ का विरोध करने पर युवती को चलती ट्रेन से फेंका, एक पैर कटा

Unnao. छेड़छाड़ का विरोध करने पर मनचले ने एक युवती को चलती ट्रेन से धक्का दे दिया। इस घटना में युवती का एक पैर कट गया। स्थानीय लोगों ने घायल अवस्था में पड़ी युवती को देख पुलिस और उसके परिजनों को घटना की जानकारी दी। पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुट गयी है। यह सनसनीखेज मामला राजधानी से सटे पड़ोसी जनपद उन्नाव का है।  

Images/15-10-2019112452UnnaoAwoman1.jpg

मिली जानकारी के अनुसार फतेहपुर चौरासी थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी युवती दवा लेने के लिए घर से निकली थी। 
काली मिट्टी चौराहे पर वहीं के रहने वाले एक युवक ने उससे बताया कि दवा यहां नहीं मिलेगी। उसने उससे बांगरमऊ के मउहारी नेवलपुर गांव में दवा दिलाने की बात कही। जिस पर दोनों बालामऊ पैसेंजर पर सवार हो गए। 
ट्रेन जैसे ही आगे बढ़ी तो उसके साथ रहे युवक ने उससे छेड़छाड़ शुरू कर दी। जब उसने इस छेड़छाड़ का विरोध किया तो युवक ने तैश में आकर उसे धक्का दे दिया। हीरापुर गांव के निकट स्थित रेलवे क्रासिंग पर उसे लहुलुहान हालत में देख ग्रामीणों की भी एकत्र हो गयी। 

Images/15-10-2019112515UnnaoAwoman2.jpg

युवती ने ग्रामीणों से अपने साथ हुई घटना की जानकारी दी जिससे ग्रामीणों ने युवती के बताए नंबर पर परिजनों की जानकारी दी। 
उधर कुछ ही देर में घटना की सूचना पाकर पुलिस भी मौके पर पहुंच गयी। इस घटना में युवती का एक पैस कट गया है। 
उसे उपचार के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है जहां उसका उपचार चल रहा है। पुलिस ने आरोप के आधार पर मुकदमा दर्ज कर मामले की पड़ताल शुरू कर दी है। युवती के बयान दर्ज करने के बाद आरोपी की तलाश में पुलिस सरगरमी से जुट गयी है। 

यह भी पढ़ें...टिहरी में दर्दनाक हादसा: बेकाबू हुई कार के उड़े परखच्चे, 5 लोगों की मौत

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
पीएमसी बैंक घोटाला: खाताधारक के फंसे थे 90 लाख रुपये, हार्टअटैक से मौतhttps://www.newstimes.co.in/news/82501/भारत/PMC-Bank-Scam:-Account-holder-stranded-Rs-90-lakh-death-due-to-heart-attack902929Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019103846PMCBankScam2.jpg' alt='Images/15-10-2019103846PMCBankScam2.jpg' />पीएमसी (PMC) बैंक घोटाले ने कल शाम के जान ले ली। पंजाब और महाराष्ट्र कोऑपरेटिव  (Maharashtra Cooperative) (पीएमसी) बैंक में जमा पैसे निकालने की सीमा तय कि जाने के बाद से खाताधारकों ने प्रदर्शन शुरु कर दिया। इसी दौरान एक खाता धारक की मौत हो गई। 

पीएमसी बैंक घोटाला: खाताधारक के फंसे थे 90 लाख रुपये, हार्टअटैक से मौत

Mumbai. पीएमसी (PMC) बैंक घोटाले ने कल शाम को एक जान ले ली। पंजाब और महाराष्ट्र कोऑपरेटिव  बैंक (पीएमसी) में जमा पैसे निकालने की सीमा तय किये जाने के बाद से खाताधारकों ने प्रदर्शन शुरु कर दिया। इसी दौरान एक खाता धारक की मौत हो गई। 

Images/15-10-2019103731PMCBankScam1.jpeg

बता दें कि 51 वर्षीय संजय गुलाटी सोमवार को मुंबई के किला कोर्ट के बाहर प्रदर्शन में शामिल हुए। इसके बाद सदमे से उनकी मौत हो गई। संजय के परिवार का 90 लाख रुपया पीएमसी बैंक मे जमा था, इसके पहले उनकी जेटएयरवेज से नौकरी चली गई थी। 

यह भी पढ़ें... BREAKING: योगी सरकार का बड़ा फैसला, यूपी में 25 हजार होमगार्डों की छटनी

संजय गुलाटी मुंबई के ओशिवारा इलाके में रहने वाले थे। प्रदर्शन के बाद घर लौटे तभी उनकी अचानक तबियत बिगड़ गई। उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गयी। बताते चलें कि रिजर्व बैंक  (आरबीआई RBI) ने सोमवार को संकट में फंसी पीएमसी बैंक के खाताधारकों (Account Holders) के लिए निकासी सीमा 25, 000 रुपये से बढ़ाकर 40,000 रुपये प्रति खाताधारक कर दी है। यह तीसरा मौका है जब आरबीआई ने ग्राहकों को राहत पहुंचाते हुए निकासी सीमा बढ़ाई है। 

Images/15-10-2019103846PMCBankScam2.jpg

शुरुआत में आरबीआई ने छह महीने की अवधि में प्रति खाता निकासी सीमा 1,000 रुपये तय की थी जिसे बाद में बढ़ाकर 10,000 रुपये और फिर 25,000 रुपये किया गया था। रुपये निकाले जाने की सीमा तय किए जाने के बाद से ही खाता धारक प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्हें यह भी डर है कि कहीं बैंक में जमा पैसा डूब नहीं जाए।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
राहुल गांधी का बड़ा बयान, अंग्रेजों की तरह काम कर रही भाजपा https://www.newstimes.co.in/news/82502/भारत/हरियाणा/Rahul-Gandhis-big-statement-BJP-working-like-British902930Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1534<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019104509RahulGandhis4.jpg' alt='Images/15-10-2019104509RahulGandhis4.jpg' />दो राज्यों के विधानसभा चुनाव प्रचार की कमान सम्हालते ही राहुल गांधी ने केंद्र की सत्तारूढ भाजपा सरकार की जबरदस्त घेराबंदी शुरू कर दी है। उन्होंने हरियाणा की नूंह विधानसभा में एक जनसभा को सम्बोधित करते भाजपा पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि भाजपा अंग्रेजो की तर्ज पर समाज को बांट कर राजनीति कर रही है। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के 'मन की बात' कार्यक्रम पर भी तंज कसा। 

राहुल गांधी का बड़ा बयान, अंग्रेजों की तरह काम कर रही भाजपा 

- पूर्व अध्यक्ष ने पीएम मोदी पर भी जमकर साधा निशाना

- बोलें बहुत हुई 'मन की बात', कुछ 'काम की बात' भी करें
New Delhi. दो राज्यों के विधानसभा चुनाव प्रचार की कमान सम्हालते ही राहुल गांधी ने केंद्र की सत्तारूढ भाजपा सरकार की जबरदस्त घेराबंदी शुरू कर दी है। उन्होंने हरियाणा की नूंह विधानसभा में एक जनसभा को सम्बोधित करते भाजपा पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि भाजपा अंग्रेजो की तर्ज पर समाज को बांट कर राजनीति कर रही है। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के 'मन की बात' कार्यक्रम पर भी तंज कसा। 

Images/15-10-2019104319RahulGandhis1.jpg

 

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने नूंह में जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि हमारे प्रधानमंत्री जी सिर्फ 'मन की बात' करते हैं वह 'काम की बात' पता नहीं कब करेंगे। 
उन्होंने कहा कि मोदी जी झूठे वादे करते रहे हैं उन्हीं के पद चिन्हों पर खट्टर भी चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि मै यहां सिर्फ काम की बात करने आया हूं इस मंच से जो कहूंगा वह किया भी जाएगा। 

Images/15-10-2019104416RahulGandhis2.jpg

इस बात का पता कांग्रेस शासित राज्य राजस्थान और मध्य प्रदेश से लगाया जा सकता है। पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बांटने की राजनीति पर भी भाजपा पर जमकर हमला साधा। 
उन्होंने कहा कि आज देश मे भाजपा वहीं काम कर रही है जो वर्षों पर हले अंग्रेस करते थे। उनका सिद्धांत है देश को धर्म और सम्प्रदाय के नाम पर बांटों और राज करो। 
उन्होंने कहा कि भाजपा झूठे वादे कर सिर्फ सत्ता हथियाने का काम करती रही है। न युवाओं को रोजगार मिला न किसानों को लाभकारी दाम। 
प्रधानमंत्री अपने चुनिंदा कॉरपोरेट घरानों की जेबे भरने का काम कर रहे हैं। अब तक प्रधानमंत्री के चहेते कई व्यापारिक समूहों की जेब में साढ़े पांच लाख करोड़ रुपया जा चुका है। 

Images/15-10-2019104440RahulGandhis3.jpg

  आम आदमी की जेब में पैसे डालने से सुधरेगी अर्थ व्यवस्था
राहुल गांधी ने देश की बदहाल अर्थव्यवस्था का हवाला देते हुए कहा कि इसे पटरी पर लाया जाना बेहद जरूरी है। जब तक आम आदमी की जेब खाली रहेगी तब तक अर्थव्यवस्था की हालत सुधरने वाली नहीं हैं। जमीन पर हालात बेहद खराब है और हमारे प्रधानमंत्री लोगों से चांद की बाते कर रहें है। इससे देश का भला नहीं होने वाला है। उन्हे चाहिए आम आदमी की जेब में पैसा डाले ताकि देश के बिगड़े आर्थिक हालात सुधर सके। 

Images/15-10-2019104509RahulGandhis4.jpg

  कांग्रेस सरकार आने किया कई सौगातों का वादा
हरियाणा के सबसे पिछड़े क्षेत्रों में शुमार नूंह के लोगों से पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने अपनी सरकार आने कई सौगात देने का वादा किया। उन्होंने कहा कि हम राज्य की सत्ता में आए तो मेवात नहर और विश्वविद्यालय स्थापित किया जाएगा। इसके अलावा लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने का काम भी प्राथमिकता के आधार पर किया जाएगा। 

यह भी पढ़ें...BREAKING: योगी सरकार का बड़ा फैसला, यूपी में 25 हजार होमगार्डों की छटनी

 

 

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
टिहरी में दर्दनाक हादसा: बेकाबू हुई कार के उड़े परखच्चे, 5 लोगों की मौतhttps://www.newstimes.co.in/news/82500/भारत/Tragic-accident-in-Tehri:-unidentified-car-flies-over-5-dead902928Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019101024Tragicacciden1.JPG' alt='Images/15-10-2019101024Tragicacciden1.JPG' /> मसूरी से करीब 40 किमी. दूर एक दर्दनाक हादसा हो गया एक कार जिसका नंबर  यूके 07 एबी 6429 है, बेकाबू होकर खाईं में जा गिरी और कार के पुरजे-पुरजे हो गए। हादसे में कार में सवार 5 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई।

टिहरी में दर्दनाक हादसा: बेकाबू हुई कार के उड़े परखच्चे, 5 लोगों की मौत

Dehradun.  मसूरी से करीब 40 किमी. दूर एक दर्दनाक हादसा हो गया एक कार जिसका नंबर  यूके 07 एबी 6429 है, बेकाबू होकर खाईं में जा गिरी और कार के परखचे उड़ गए। हादसे में कार सवार 5 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार आज सुबह टिहरी जनपद (tihri district) के नैनबाग में अगलाड़ पुल के पास एक कार अनियंत्रित होकर खाईं में गिर गई जिसमें सात लोग सवार थे। 

Images/15-10-2019101024Tragicacciden1.JPG

मरने वाले पांच लोगों के अलावा हादसे में लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं, लेकिन उन्हें अस्पताल ले जाने के लिए प्रशासन की तरफ से फिलहाल कोई व्यवस्था नहीं है। पुलिस और एसडीआरएफ की टीम मौके पर मौजूद हैं। बताया जा रहा है कि यहां से घायलों को एयरलिफ्ट कर अस्पताल ले जाया जाएगा।

हादसे की खबर पुलिस को बूराराम निवासी लाकामंडल ने दी। जिसका बाद हादसे का पता लगा और पुलिस मौके पर पहुंची। 

यह भी पढे़ं... UPNHM में नौकरी का सुनहरा मौका, जल्द करें आवेदन

  हादसे में मरने वाले

बाबूराम गौड़ पुत्र स्व. बुद्धीराम
दर्शनी देवी पत्नी बाबूराम गौड़
हैप्पी गौड़ पुत्र बाबूराम गौड़
रीना पुत्री पत्नी तिलक राम
शानू पुत्री तिलक राम (सभी निवासी लाखामंडल)

  हादसे में घायल होने वाले लोग

अकुंश गौड़ पुत्र महिमानंद गौड़
बबीता पत्नी विशंबर (दोनों निवासी लाखामंडल)

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
'ग्लोबल हैंड वाशिंग डे' आज, हाथ धोने के लिए जरूर दें 20 सेकेंड का समयhttps://www.newstimes.co.in/news/82495/भारत/उत्तर-प्रदेश-/Global-Handwashing-Day-Theme-2019902922Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1357<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019000943GlobalHandwas2.jpg' alt='Images/15-10-2019000943GlobalHandwas2.jpg' />विश्वस्तर पर 15 अक्टूबर को ‘ग्लोबल हैंड वाशिंग डे’ (global handwashing day 2019) मनाया जाता है। हर साल इस खास दिन की कोई न कोई थीम होती है।

'ग्लोबल हैंड वाशिंग डे' आज, हाथ धोने के लिए जरूर दें 20 सेकेंड का समय

Images/15-10-20190027320OQE7SHNf8.jpeg

सुशील द्विवेदी, विज्ञान संचारक

Lucknow. विश्वस्तर पर 15 अक्टूबर को ‘ग्लोबल हैंड वाशिंग डे’ (global handwashing day 2019) मनाया जाता है। हर साल इस खास दिन की कोई न कोई थीम होती है। इस बार की थीम “सभी के लिए स्वच्छ हाथ“ है। इस दिवस का उद्देश्य लोगों को साबुन से हाथ धोने के प्रति जागरूक करना है, क्योंकि यह बीमारियों से सुरक्षित रहने का आसान, प्रभावी और किफायती तरीका है। हाथ धोना हर तरह की कसरत से ज्यादा अहम है। बचपन में यह बात स्कूल में सिखाई जाती है कि समय समय पर हाथ धोने चाहिए। घर में इसे अमल में लाने के लिए कहा जाता है। बच्चों की किताबों में इसे तस्वीरों और कार्टूनों के माध्यम से हाथ धोने की अहमियत समझाई जाती है, लेकिन जवान होते होते बहुत से लोग हाथ धोना भूलने लगते हैं।

Images/15-10-2019000938GlobalHandwas1.jpg

विश्व स्वास्थ्य संगठन (World health organization) की रिपोर्ट के अनुसार, आंख और नाक के कई संक्रमण सिर्फ हाथों में फंसी गन्दगी की वजह से होते हैं, पेट की कई बीमारियां गंदे हाथ के मुंह में जाने से होती हैं। स्वाइन फ्लू के फैलाव को रोकने के लिए जगह-जगह बोर्ड लगाकर अपील की जाती है कि लोग हाथ मुंह और आँखें समय-समय पर धोते रहें। इस बारे में विश्व स्तर पर जागरूकता फ़ैलाने के उद्देश्य से ग्लोबल पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप फॉर हैंडवाशिंग’ द्वारा 15 अक्टूबर 2008 को प्रथम ‘ग्लोबल हैंड वाशिंग डे’ को मनाया गया। इस दिन 70 से अधिक देशों के 120 मिलियन से अधिक बच्चों ने साबुन से हाथ धोया और इस दिवस की शुरुआत की। इसे आयोजित करने वाली संस्था भारत सहित दुनिया  के 150 देशों में अभियान भी चला रही है। बच्चों को जागरूक करने के लिए सचिन तेंदुलकर, अक्षय कुमार, विद्या बालन, अमिताभ बच्चन जैसे नमी गिरामी हस्तियां इस मुहिम से जुड़ रही हैं। हाथों की सफाई इतनी अहम है कि भारत में स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े लोग एक दूसरे से हाथ मिलकर हेलो करने से परहेज करने लगे हैं।

हाथों को साफ करने का सही तरीका

- हाथ हमेशा मेडिकेटेड साबुन (medicated soap) से ही साफ करें। हाथ कम से कम 20 सेकेंड तक धोना चाहिए, तभी इसमें मौजूद हानिकारक बैक्टीरिया मरते हैं। 

- हाथों को पानी से गीला करें। साबुन लगाने के बाद लगभग 20 सेकंड तक हाथों के नाखूनों, हथेलियों के सभी पोर्स, कोने को अच्छी तरह से रगड़ें। कलाई, उंगलियों के बीच, नाखूनों के नीचे अच्छी तरह से साबुन लगाकर रगड़ें। अब पानी से हाथों को धो लें। 

- हाथों को गंदे तौलिए से ना पोछें फिर हाथ साफ करने का फायदा नहीं रह जाएगा। हमेशा साफ तौलिये का ही यूज करें। प्रत्येक दो दिन पर तौलिए को साफ करें।

- अल्कोहल बेस्ड हैंड सैनिटाइजर (alcohol based hand sanitizer)भी बेहतर ऑप्शन है पानी की जगह। सैनिटाइजर में 60 प्रतिशत अल्कोहल होना चाहिए। हथेली पर सैनिटाइजर लगाकर हथेलियों को गीला करें। अब हाथों को रगड़ें। हाथ ड्राई हो जाने के बाद रगड़ना बंद कर दें।

Images/15-10-2019000948GlobalHandwas3.jpg

कब साफ करें हाथ

- जब आप खाना खाने वाले हों और खाना खाने के बाद।

- कोई भी किचन का काम करते समय खासकर भोजन पकाते समय।

- फल और सब्जियों को काटने और खाने से पहले।

- घर में यदि आपके कोई बीमार व्यक्ति है और उसकी देखभाल कर रहे हैं, तो हाथों को जरूर डेटॉल साबुन या मेडिकेटेड सोप से धोएं।

- घाव साफ करने के बाद।

- आंखों में कॉन्टैक्ट लेंस लगाने से पहले भी हाथ साफ कर लेना जरूरी है।

कब जरूर धोएं हाथ

- भोजन बनाने के बाद। मांस-मछली साफ करने के बाद।

- घर का कचरा, पालतू जानवर, पशु का चारा छूने के बाद।

- शौचालय से आने के बाद और बच्चे का डायपर बदलने के बाद।

- नाक साफ करने, खांसने-छींकने के बाद।

- बाहर से आने के बाद

Images/15-10-2019000943GlobalHandwas2.jpg

दूसरों के हाथ आपकी सेहत बिगाड़ने के लिए काफी  

भारत में घरों और स्कूलों में आमतोर पर खाना हाथों से खाया जाता है। मिड डे माल योजना के अंतर्गत लगभग 12.56 लाख स्कूलों के 12 करोड़ से अधिक भारतीय बच्चे एक साथ हाथों से खाना खाते हैं। अगर हम शिक्षक बच्चों में सही ढंग से हाथ धोने के गुण विकसित करने में सफल होते हैं तो हम अपने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वस्थ भारत के सपने को जरूर साकार करने में सफल होंगे। कभी कभी दूसरों के हाथ आपकी सेहत बिगाड़ने के लिए काफी है। अगर आपके हाथ साफ हैं तो आपकी और दूसरों की सेहत के लिए बेहतर बात क्या होगी। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
जनवादी लेखक संघ की ओर से लखनऊ में कहानी कार्यक्रम का हुआ आयोजनhttps://www.newstimes.co.in/news/82490/भारत/उत्तर-प्रदेश-/nishatganj-me-lucknow-ki-kahanai-ka-hua-ayojan-902917Mon, 14 Oct 2019 00:00:00 GMTNP863<img src='http://newstimes.co.in/Images/14-10-2019181907nishatganjme2.jpeg' alt='Images/14-10-2019181907nishatganjme2.jpeg' />जनवादी लेखक संघ की ओर से क़ैफ़ी आज़मी एकेडमी में 'लखनऊ में कहानी' कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के पहले सत्र में पाँच कहानीकारों की कहानियों का पाठ हुआ। सबसे पहले अवधेश श्रीवास्तव के अस्वस्थ होने के कारण उनकी कहानी 'सुदामाज' का पाठ आभा खरे ने किया। उसके बाद क्रमशः प्रताप दीक्षित ने अपनी कहानी 'आउट ऑफ डेट', मनीष वैद्य ने 'एचएमटी 3511', सोनी पाण्डेय ने 'भात' और संदीप मील ने 'लाश के साथ एक रात' कहानी का पाठ किया। दूसरे सत्र में पढ़ी गई कहानियों पर कथाकार अखिलेश की अध्यक्षता में चर्चा हुई। अध्यक्षीय वक्तव्य देते हुए उन्होंने कहा कि अवधेश जी की कहानी अपने इरादे में अच्छी है। लेकिन यह अंत का पीछा करती हुई कहानी है। प्रताप जी की कहानी में कुछ तथ्यात्मक बदलाव लाज़िम हैं। मनीष वैद्य की कहानी भूमंडलीकरण के दौर में अच्छी कहानी है। सोनी के पास ग्राम जीवन की गहरी सूझ है। यहाँ मानवीय रिश्ते प्रमुख हैं। संदीप मील अपनी बात कहने के लिए यथार्थ के पार जाते हैं। उनकी कहानी नया शिल्प गढ़ते हैं।

जनवादी लेखक संघ की ओर से लखनऊ में कहानी कार्यक्रम का हुआ आयोजन

Lucknow. जनवादी लेखक संघ की ओर से क़ैफ़ी आज़मी एकेडमी में 'लखनऊ में कहानी' कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के पहले सत्र में पाँच कहानीकारों की कहानियों का पाठ हुआ। सबसे पहले अवधेश श्रीवास्तव के अस्वस्थ होने के कारण उनकी कहानी 'सुदामाज' का पाठ आभा खरे ने किया। उसके बाद क्रमशः प्रताप दीक्षित ने अपनी कहानी 'आउट ऑफ डेट', मनीष वैद्य ने 'एचएमटी 3511', सोनी पाण्डेय ने 'भात' और संदीप मील ने 'लाश के साथ एक रात' कहानी का पाठ किया।

Images/14-10-2019181855nishatganjme1.jpeg

दूसरे सत्र में पढ़ी गई कहानियों पर कथाकार अखिलेश की अध्यक्षता में चर्चा हुई। अध्यक्षीय वक्तव्य देते हुए उन्होंने कहा कि अवधेश जी की कहानी अपने इरादे में अच्छी है। लेकिन यह अंत का पीछा करती हुई कहानी है। प्रताप जी की कहानी में कुछ तथ्यात्मक बदलाव लाज़िम हैं। मनीष वैद्य की कहानी भूमंडलीकरण के दौर में अच्छी कहानी है। सोनी के पास ग्राम जीवन की गहरी सूझ है। यहाँ मानवीय रिश्ते प्रमुख हैं। संदीप मील अपनी बात कहने के लिए यथार्थ के पार जाते हैं। उनकी कहानी नया शिल्प गढ़ते हैं।

यह भी पढ़ें... चौकी के ठीक सामने हुई इस घटना के बाद महसूस करिए कितने महफूज हैं आप ?

वरिष्ठ कथा आलोचक संजीव कुमार ने कहा कि संदीप मील की कहानी पृष्ठतानाव निर्मित करती है। यह नया प्रयोग है। बाकी चार कहानियाँ समकालीन परंपरा से थोड़ा पीछे हैं। आज का कहानीकार केन्द्रित होकर कम सोच पा रहा है। प्रक्रिया पक्ष और परिणति पक्ष दोनों पर विचार होना चाहिए। प्रताप जी की कहानी चकित करती है। सोनी जी ने अपनी कथाभाषा अर्जित कर ली है।

मनीष की कहानी का गठन सुन्दर है। अनुराधा गुप्ता का मत था कि सोनी पांडेय आंचलिकता के रस को लेकर कहानी लिखती हैं। मनीष वैद्य और प्रताप दीक्षित की कहानियों में बाजार के दबाव को महसूस किया जा सकता है। उपभोक्तावाद जीते जागते आदमी को मरघट तक पहुँचा देता है।

अवधेश श्रीवास्तव की कहानी अपने ट्रीटमेंट में गड़बड़ है। संदीप मील की कहानी में तीखा व्यंग्य है। कहानी बने बनाये ढाँचे को तोड़ती है। राजेन्द्र वर्मा ने अवधेश श्रीवास्तव की कहानी पर विशेष तौर पर बात की। कहानी की अस्वाभाविकता और संवाद शैली की कमी की ओर उन्होंने इशारा किया।

प्रताप दीक्षित की कहानी में कथारस बना रहता है। मनीष वैद्य की कहानी में गाँव का मनोविज्ञान है। सोनी पांडेय की कहानी पूरे परिवेश को उभारती है। संदीप मील की कहानी प्रतीक शैली में  गजब की बन पड़ी है।

Images/14-10-2019181907nishatganjme2.jpeg

संध्या सिंह ने मुख्यतः प्रताप दीक्षित की कहानी पर अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि प्रताप दीक्षित की कहानियों में आदर्शोन्मुख यथार्थवाद दिखाई देता है। उनकी इस कहानी में बाजार का स्वर प्रमुख है। मनीष वैद्य की कहानी में भी यही स्वर प्रमुख है।

सोनी पांडेय के यहाँ लोक का स्वर मुख्य है। संदीप मील की कहानी प्रयोगधर्मी है। अवधेश श्रीवास्तव की कहानी की भाषा में कहीं-कहीं बदलाव अपेक्षित है। कार्यक्रम का संचालन जलेस के सचिव ज्ञानप्रकाश चौबे ने किया और अतिथियों को धन्यवाद ज्ञापन जलेस अध्यक्ष नलिन रंजन सिंह द्वारा किया गया।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
घाटी में मानवधिकार के उल्लंघन की कोई बात नहीं आई सामने: नसीरुद्दीन चिश्तीhttps://www.newstimes.co.in/news/82489/भारत/राजस्थान/There-was-no-mention-of-human-rights-violation-in-the-valley:-Naseeruddin-Chishti902916Mon, 14 Oct 2019 00:00:00 GMTNP97<img src='http://newstimes.co.in/Images/14-10-2019181231Therewasnom1.jpg' alt='Images/14-10-2019181231Therewasnom1.jpg' />.

घाटी में मानवधिकार के उल्लंघन की कोई बात नहीं आई सामने: नसीरुद्दीन चिश्ती

Jaipur. घाटी से अनुच्छेद 370 समाप्त किए तकरीबन दो महीने हो गए हैं। लगातार विपक्षी दल के नेता व अन्य लोग घाटी पहुंचकर वहां के हालातों का जायजा ले रहे हैं। अब जम्मू कश्मीर में सूफी प्रतिनिधिमंडल की ओर से घाटी को लेकर कई बड़ी और अहम बातें कही गईं हैं। सूफी प्रतिनिधिमंडल के सदस्य नसीरुद्दीन चिश्ती ने कहा कि घाटी में मानवाधिकार के उल्लंघन की कोई बात सामने नहीं आई है। 

Images/14-10-2019181231Therewasnom1.jpg

 प्रतिनिधिमंडल तीन दिवसीय यात्रा पर था

प्रतिनिधिमंडल ने कई स्थानीय लोगों से बातचीत की और जानकारी भी ली,लेकिन सभी ने मानवाधिकार के उल्लंघन की बात को सिरे से खारिज कर दिया। ध्यान रहे कि अजमेर शरीफ दरगाह के नसीरुद्दीन चिश्ती की अध्यक्षता में अखिल भारतीय सूफी सज्जादानशी परिषद का प्रतिनिधिमंडल तीन दिवसीय यात्रा पर था। उन्होंने कहा कि घाटी को लेकर पाकिस्तान झूठ फैला रहा है। उन्होंने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के जिहाद के लिए आह्वान को शर्मनाक करार दिया। इसके साथ ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को नसीहत देते हुए कहा कि अगर पाकिस्तान की दिलचस्पी है तो उसे चीन और फिलिस्तीन में जाकर लड़ाई लड़नी चाहिए। चिश्ती ने कहा कि भारत मुसलमानों के लिए सबसे अच्छा देश है। 

आपको बता दें कि घाटी से अनुच्छेद 370 हटने के बाद से ही लगातार पाकिस्तान दुनिया के सामने यह झूठ फैलाने की कोशिश कर रहा है कि कश्मीर के लोगों के ऊपर भारत में अत्याचार हो रहा है। 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
#WorldstandardsDay: जानिए क्‍यों मनाते हैं विश्व मानक दिवस https://www.newstimes.co.in/news/82487/भारत/World-Standards-Day:-Know-about-World-Standards-Day-being-celebrated-for-49-years902914Mon, 14 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/14-10-2019173456WorldStandard2.jpg' alt='Images/14-10-2019173456WorldStandard2.jpg' />विश्व मानक दिवस (World standards Day) हर साल 14 अक्तूबर को मनाया जाता है। यह एक अंतर्राष्ट्रीय दिवस है। 1970 से ही इस दिवस को पूरे विश्व में मनाया जा रहा है। यह वार्षिक कार्यक्रम (Annual Program) दुनिया भर में इंटरनेशल इलेक्ट्रो-टेक्निकल (आईईसी), अंतर्राष्ट्रीय मानकीकरण संगठन (International Organization for Standardization) (आईएसओ) और अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ (आईटीयू) द्वारा संयुक्त रूप से मनाया जाता है।

#WorldstandardsDay: जानिए क्‍यों मनाते हैं विश्व मानक दिवस

Lucknow. विश्व मानक दिवस (World standards Day) हर साल 14 अक्तूबर को मनाया जाता है। यह एक अंतर्राष्ट्रीय दिवस है। 1970 से ही इस दिवस को पूरे विश्व में मनाया जा रहा है। यह वार्षिक कार्यक्रम (Annual Program) दुनिया भर में इंटरनेशल इलेक्ट्रो-टेक्निकल (आईईसी), अंतर्राष्ट्रीय मानकीकरण संगठन (International Organization for Standardization) (आईएसओ) और अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ (आईटीयू) द्वारा संयुक्त रूप से मनाया जाता है।

Images/14-10-2019173241WorldStandard1.jpg

विश्व भर में सभी वस्तुओं को लेकर एकरूपता बनी रहे, इसके लिए यह दिवस मनाने की जरूरत सामने आई। इसके बाद से यह दिवस हर वर्ष 14 अक्टूबर को स्वैच्छिक इंजीनियरिंग और वैज्ञानिक मानकों के विकास के लिए मनाया जाने लगा। इस दिवस को मनाने का उद्देश्य वैश्विक अर्थव्यवस्था को मानकीकरण के महत्व के रूप में नियामकों, उद्योगों और उपभोक्ताओं के बीच जागरूकता को अधिक से अधिक बढ़ाने का है। दैनिक जीवन में भी मानकों का काफी प्रभाव पड़ता है।  

यह भी पढ़ें... #Internationaldisasterreduction: जानें क्यों मनाया जाता है विश्व आपदा न्यूनीकरण दिवस

बताते चलें कि मानक ही यह तय करते हैं कि सेवाओं से कैसे उपभोक्ताओं और उद्योग का हित संभव है। इससे लोगों में आत्मविश्वास और भरोसा बढ़ता रहता है। अंतरराष्ट्रीय मानकों के कई तरह से तकनीकी लाभ भी हैं। इससे उत्पादों और सेवाओं को और भी सफल व बेहतर बनाने में सहायता मिलती है। 

Images/14-10-2019173456WorldStandard2.jpg

वैश्विक स्तर पर वैश्विक मानकीकरण की दिशा में जो बेहतर प्रयास किए जा रहे, उससे विकाशील देशों को लाभ मिलेगा। इससे अंतर्राष्ट्रीय बाजार (International Markets) में उनकी मांग तो बढ़ेगी ही व्यापार लागतों में कमी आएगी। इसके साथ ही उत्पादकता में भी बढ़ोत्तरी होती है। मानक की बात करें तो आज पूरा विश्व इसी माध्यम से एक दूसरे के साथ जुड़ा है। जैसे कि हमारा डेविट, क्रेडिट कार्ड एटीएम मशीन रुपयों को निकालकर जरूरतें पूरी करता है। 

इसके बाद उन्हीं रुपयों से सामानों को क्रय करना यह सब मानकों के कारण ही जुड़ा हुआ है। मानक उपभोक्ता को अधिक से अधिक बढ़ावा देने का काम करता है। भारतीय मानक ब्यूरो हमेशा ही इस बात की कोशिश करता रहा है कि वह निर्दिष्ट भारतीय मानकों से उत्पादों के अनुरूप मूल्यांकन द्वारा मानकीकरण के फायदों को उपभोक्ताओं तक पहुंचाए। ऐसा होने पर उपभोक्ताओं को गुणवत्ता वाले उत्पाद तो मिलते ही हैं, साथ ही स्वास्थ्य और सुरक्षा भी सुनिश्चित होती है।  

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
BJP पर राहुल, अखिलेश, मायावती में कौन पड़ेगा भारी? सीएम योगी ने दिया ये जवाबhttps://www.newstimes.co.in/news/82486/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/CM-Yogi-said-that-no-opposition-leader-is-a-challenge-for-BJP902913Mon, 14 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1509<img src='http://newstimes.co.in/Images/14-10-2019164107CMYogisaidt1.jpg' alt='Images/14-10-2019164107CMYogisaidt1.jpg' />यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने विपक्षी दलों के नेताओं पर जोरदार है। सीएम योगी ने कहा है कि यूपी में राहुल गांधी प्रियंका गांधी, अखिलेश यादव या मायावती में से वह किसी को भी बड़ी चुनौती नहीं मानते है। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश में भाजपा के लिए कोई भी चुनौती नहीं है। 

BJP पर राहुल, अखिलेश, मायावती में कौन पड़ेगा भारी? सीएम योगी ने दिया ये जवाब

Lucknow. यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने विपक्षी दलों के नेताओं पर जोरदार बोला है। सीएम योगी ने कहा है कि यूपी में राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, अखिलेश यादव या मायावती में से वह किसी को भी बड़ी चुनौती नहीं मानते है। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश में भाजपा के लिए कोई भी चुनौती नहीं है। 

Images/14-10-2019164107CMYogisaidt1.jpg

सीएम योगी ने आगे कहा कि इन सभी की कारगुजारी प्रदेश की जनता जानती है। उन्होंने कहा कि इन नेताओं ने प्रदेश या देश के हित के लिए में कोई भी ऐसा काम नहीं किया है, जिसके कारण जनता इन्हें समर्थन दें। सभी के चेहरे बेनकाब हो चुके हैं, और सब अपने आप को आजमा चुके हैं। 

यह भी पढ़ें:-...बागी संजय निरूपम का बड़ा फैसला, कांग्रेसियों में दौड़ी खुशी की लहर

विरोधियों पर तंज़ कसते हुए योगी ने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव परिणाम स्पष्ट कर दिया कि प्रदेश में कौन कितने पानी में है। इन सभी लोगों को प्रदेश में भी और देश में भी शासन करने का अवसर प्रदान हुआ है। 

यूपी विधानसभा उपचुनाव को लेकर उन्होंने कहा कि भाजपा विकास सुशासन और राष्ट्रवाद के मुद्दे को लेकर चुनाव में है और सभी 11 सीटों पर भाजपा की बड़ी जीत होगी।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
चौकी के ठीक सामने हुई इस घटना के बाद महसूस करिए कितने महफूज हैं आप ?https://www.newstimes.co.in/news/82484/भारत/उत्तर-प्रदेश-/police-chawki-nishatganj-ke-theek-samne-shukla-bhartan-bandar-me-chori-902911Mon, 14 Oct 2019 00:00:00 GMTNP863<img src='http://newstimes.co.in/Images/14-10-2019162505policechawki2.JPG' alt='Images/14-10-2019162505policechawki2.JPG' />रात तकरीबन 1 से 1:30 बजे चोर टिन काटकर नीचे उतरा जिसकी तस्वीर सीसीटीवी में कैद हो गयी। इस दौरान चोर ने बेखौफ होकर पहले दुकान के गल्ले में ऊपर रखे 10 हजार की नगदी पर हाथ साफ किया। इसके बाद नीचे रखा लगभग डेढ़ लाख रुपये भी वह अपने साथ ले गया। उन्होंने यह भी बताया कि अब से ठीक तीन दिन पहले चोरों द्वारा चौकी के ठीक बगल में गुरुद्वारे के पास भी प्लास्टिक की दुकान में चोरी की वारदात को अंजाम दिया गया था। उस मामले में भी पुलिस से शिकायत की गयी थी। लेकिन उसके ठीक बाद इस तरह चौकी के बिल्कुल सामने छत पर बैठकर खुलेआम टिन काट इस वारदात को अंजाम दिया गया है। 

चौकी के ठीक सामने हुई इस घटना के बाद महसूस करिए कितने महफूज हैं आप ?

LUCKNOW. राजधानी में लगातार हो रही चोरी की वारदातें थमने का नाम नहीं ले रही हैं। बेखौफ हो चुके चोरों के बुलंद हौसलों का आलम यह है कि उन्हें अब पुलिस का बिल्कुल भी खौफ नहीं है। ताजा मामला थाना महानगर अंतर्गत पुलिस चौकी निशातगंज के ठीक सामने का है। पुलिस चौकी और क्षेत्राधिकारी महानगर के कार्यालय के ठीक सामने रविवार-सोमवार रात को चोर ने शुक्ला बर्तन भण्डार को निशाना बनाया। छत की टिन काटकर नीचे उतरे चोर ने न सिर्फ लाखों की नगदी पर हाथ साफ किया बल्कि वह इस दौरान सीसीटीवी कैमरे से जुड़ा मॉनीटर भी अपने साथ ले गया। 

Images/14-10-2019162452policechawki1.pngImages/14-10-2019162505policechawki2.JPG

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
श्रीलंका क्रिकेट प्रमुख के सुरक्षा इंतजाम पर इस टिप्पणी से पीसीबी हुआ निराशhttps://www.newstimes.co.in/news/82482/भारत/दिल्ली/PCB-reacts-on-Srilanka-Cricket-Board-Chief-Silvas-comments-on-security-arrangement902909Mon, 14 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1550<img src='http://newstimes.co.in/Images/14-10-2019161817PCBreactson1.PNG' alt='Images/14-10-2019161817PCBreactson1.PNG' />पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने श्रीलंका (Srilanka) क्रिकेट (cricket) प्रमुख (chief) शम्मी सिल्वा (Shami Silva) के उस बयान पर निराशा जाहिर की है जिसमें सिल्वा ने हाल में हुए पाकिस्तान (Pakistan) दौरे का जिक्र किया है

श्रीलंका क्रिकेट प्रमुख के सुरक्षा इंतजाम पर इस टिप्पणी से पीसीबी हुआ निराश

New Delhi. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने श्रीलंका क्रिकेट प्रमुख (Srilanka cricket chief) शम्मी सिल्वा (Shami Silva) के उस बयान पर निराशा जाहिर की है जिसमें सिल्वा ने हाल में हुए पाकिस्तान (Pakistan) दौरे का जिक्र किया है। बता दें कि सिल्वा ने अपने बयान में कहा था कि पाकिस्तान दौरे के समय कड़े सुरक्षा इंतजाम (security arrangements) की वजह से टीम श्रीलंका (Team Srilanka) को काफी परेशानियां झेलनी पड़ी थी। 

Images/14-10-2019161817PCBreactson1.PNG

गौरतलब है कि श्रीलंका टीम ने 3 मैचों की वन डे सीरीज (one day series) कराची (Karachi) में और 3 मैचों की टी-20 सीरीज (T-20) लाहौर (Lahore) में खेली थी। वनडे सीरीज 2-0 से हारने के बाद श्रीलंका ने टी-20 सीरीज में 3-0 से जीत दर्ज की थी। कोलंबो (Colombo) लौटकर मीडिया वार्ता में सिल्वा (Silva) ने बताया कि श्रीलंकाई क्रिकेटर लगातार 3-4 दिन होटल में बंद रहने की वजह से परेशान हो गए थे। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (Pakistan Cricket Board) के सूत्र से मिली जानकारी के अनुसार, सिल्वा के इस बयान के बाद श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड (Srikanka Cricket Board) से नाराजगी जाहिर की है। 

"पीसीबी इन बयानों से काफी निराश और आहत है। श्रीलंकाई टीम को आला दर्जे की सुरक्षा उसके बोर्ड (Board) के कहने पर ही मुहैया कराई गई थी। हम उनके दौरे को सुविधाजनक भी बनाना चाहते थे।" इसके साथ ही पीसीबी (PCB) ने खिलाड़ियों के सामने शॉपिंग (shopping) का विकल्प और गोल्फ (Golf) खेलने के लिए बाहर जाने का विकल्प भी रखा था। सूत्र ने बताया कि टीम ने आधिकारिक कार्यक्रमों (official events) के अलावा डिनर में भी शिरकत की थी। 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
परीक्षा में गांधी जी के जीवन से जुड़ा विवादित सवाल पूछने पर छिड़ा विवादhttps://www.newstimes.co.in/news/82480/भारत/Controversy-erupted-over-asking-controversial-questions-related-to-Gandhijis-life-in-exams902907Mon, 14 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/14-10-2019160616Controversyer1.jpg' alt='Images/14-10-2019160616Controversyer1.jpg' />स्कूलों में होने वाली परीक्षाओं के दौरान देश के महापुरुषों से संबंधित जुड़े विवादित सवाल पूछने के मामले सामने आते रहते हैं। जिससे तनाव और गंदी राजनीति (Politics) की स्थिति पैदा हो जाती है।

परीक्षा में गांधी जी के जीवन से जुड़ा विवादित सवाल पूछने पर छिड़ा विवाद

New Delhi. स्कूलों में होने वाली परीक्षाओं के दौरान देश के महापुरुषों से संबंधित जुड़े विवादित सवाल पूछने के मामले सामने आते रहते हैं। जिससे तनाव और गंदी राजनीति (Politics) की स्थिति पैदा हो जाती है। महात्मा गांधी के जीवन से जुड़े अजीबोगरीब सवाल ने विवाद खड़ा कर दिया है। खबरों के मुताबिक एक स्कूल की परीक्षा में सवाल पूछा गया कि 'गांधीजी ने आत्महत्या (suicide) करने के लिए क्या किया था?' यह सवाल गुजरात में गुजराती विषय की परीक्षा दे रहे 9वीं कक्षा के विद्यार्थियों से पूछा गया था। पूछा गया प्रश्न चार अंकों का था।

Images/14-10-2019160616Controversyer1.jpg

हैरान करने वाली बात है कि इंटरमीडिएट (intermediate) के छात्रों से भी परीक्षा में अजीबोगरीब सवाल पूछा गया था। प्रश्नपत्र में लिखा था - 'आपके इलाके में शराब बेचने वाले और शराबियों का आतंक बढ़ गया है। ऐसे में छात्र एसपी को शिकायती पत्र लिखें। इस प्रश्न के लिए पांच अंक निर्धारित था। रिपोर्ट के मुताबिक यह बेतुके सवाल गत शनिवार को गांधीनगर स्थित विकास संकुल स्कूल में गुजराती विषय की परीक्षाओं के दौरान पूछा गया।

यह भी पढ़ें... UPNHM में नौकरी का सुनहरा मौका, जल्द करें आवेदन

छात्रों की परीक्षा में यह सवाल आने के बाद अब विवाद छिड़ गया है। लोगों का कहना है कि गुजरात में शराबबंदी है। इस तरह से स्कूलों में इस तरह के बेतुके सवालों को पूछने का कोई मतलब नहीं बनता। इस पूरे प्रकरण में शिक्षा मंत्री भूपेंद्र सिंह चूडास्मा से पूछा गया तो जवाब दिया कि 'ये गुजरात राज्य शिक्षा बोर्ड का प्रश्नपत्र नहीं है। जो परीक्षा होते हैं, उनके लिए निजी क्षेत्र के लोगों से प्रश्नपत्र तैयार करवाए जाते हैं। फिलहाल यदि ऐसा सवाल पूछा गया तो उचित नहीं है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
फेस्टिव सीजन में ग्राहकों को लुभाने के लिए कंपनियों ने अपनाए ये तरीके, सोच-विचार कर चुनें...https://www.newstimes.co.in/news/82478/भारत/In-the-festive-season-companies-have-adopted-these-methods-to-entice-customers-think-carefully-and-choose902905Mon, 14 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/14-10-2019152409Inthefestive1.jpg' alt='Images/14-10-2019152409Inthefestive1.jpg' />फेस्टिव सीजन चल रहा है दीपावली जल्द ही आने वाली है। जिसका फायदा उठाने के लिए रिटेलर्स, बिल्डर्स और लेंडर्स ग्राहकों को लुभाने के लिए नई-नई स्कीमें निकालनी शुरु कर दी है। हम आपको बता दें कि ऐसी स्कीमों को चुनते समय आपको सोच-विचार कर लेना चाहिए, ताकि बाद में पछताना ना पड़े।

फेस्टिव सीजन में ग्राहकों को लुभाने के लिए कंपनियों ने अपनाए ये तरीके, सोच-विचार कर चुनें...

New Delhi. फेस्टिव सीजन चल रहा है, दीपावली जल्द ही आने वाली है। जिसका फायदा उठाने के लिए रिटेलर्स, बिल्डर्स और लेंडर्स ग्राहकों को लुभाने के लिए नई-नई स्कीमें निकालनी शुरु कर दी है। हम आपको बता दें कि ऐसी स्कीमों को चुनते समय आपको सोच-विचार कर लेना चाहिए, ताकि बाद में पछताना ना पड़े। हम यहां ऐसी ही पांच स्कीमों के बारे में चर्चा करने जा रहे हैं, जिसका बाजार में खूब इस्तेमाल हो रहा है। 

Images/14-10-2019152409Inthefestive1.jpg

  नो- कॉस्ट ईएमआई

ई-कॉमर्स (Ecommerce) कंपनियां, लेंडर्स तथा रिटेलर्स फेस्टिव सीजन में नो- कॉस्ट ईएमआई (No-Cost EMI) स्कीम को खूब भुनाती हैं। उदाहरण के लिए बता तें कि यदि आपने इस स्कीम के तहत 50,000 रुपये का कोई स्मार्टफोन (Smartphone) खरीदते हैं तो आपको यह रकम 5 हजार रुपये के 10 मासिक किस्तों में देनी होगी।

डिजिटल लेंडिंग (Digital Lending) प्लेटफॉर्म मनीटैप के फाउंडर एवं सीओओ अनुज काकेर कहते हैं, यह ट्रिपल जीरो स्कीम कही जाती है। जिसमें प्रोसेंसिंग फीस, डाउनपेमेंट और इंट्रेस्ट जार्ज नहीं होता है। 

यह बात आप अच्छे से समझ ले कि मुफ्त में कुछ भी नहीं मिलता है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने 2013 में ही 0% ईएमआई पर यह कहते हुए रोक लगा दी थी कि यह ग्राहकों को लुभाने और उन्हें ठगने का एक तरीका के अलावा कुछ नहीं है।

यह भी पढ़ें... UPNHM में नौकरी का सुनहरा मौका, जल्द करें आवेदन

एक ऑनलाइन लोन एग्रीगेशन पोर्टल बैंक बाजार डॉट कॉम के चीफ बिजनस ऑफिसर (Chief Business Officer) नवीन चंदनानी कहते हैं, दरअसल, लोन पर आने वाली लागत को कीमत में ही जोड़ दिया जाता है। अगर आप कैश खरीदारी करते हैं तो आपको डिस्काउंट मिल सकता है, जिसकी सुविधा ईएमआई मे नहीं मिलती। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
UPNHM में नौकरी का सुनहरा मौका, जल्द करें आवेदनhttps://www.newstimes.co.in/news/82476/भारत/Golden-job-opportunity-in-UPNHM-apply-soon902903Mon, 14 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/14-10-2019142615Goldenjobopp1.jpg' alt='Images/14-10-2019142615Goldenjobopp1.jpg' />राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (UPNHM) में नौकरी पाने का सुनहरा मौका अभ्यर्थियों के पास है। उत्तर प्रदेश सरकार ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर ब्लॉक अकाउंट मैनेजर, डेंटल सर्जन, फिजियोथेरेपिस्ट (Physiotherapist) समेत कई पदों पर भर्तियां निकाली है।

UPNHM में नौकरी का सुनहरा मौका, जल्द करें आवेदन

New Delhi. राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (UPNHM) में नौकरी पाने का सुनहरा मौका अभ्यर्थियों के पास है। उत्तर प्रदेश सरकार ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर ब्लॉक अकाउंट मैनेजर, डेंटल सर्जन, फिजियोथेरेपिस्ट (Physiotherapist) समेत कई पदों पर भर्तियां निकाली है। इसके लिए आवेदन भी आमंत्रित किए गए हैं, जो भी अभ्यर्थी आवेदन के इच्छुक हों वह आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर फॉर्म भर सकते हैं।

Images/14-10-2019142615Goldenjobopp1.jpg

बता दें कि पदों की कुल संख्या 1400 से अधिक है। आवेदन की प्रक्रिया 10 अक्तूबर से शुरू हो चुकी है। वहीं, ऑनलाइन आवेदन (online application) की अंतिम तिथि 30 अक्तूबर निर्धारित है। शैक्षिक योग्यता के लिए पदों के अनुसार अलग अलग निर्धारित किया गया है। अधिक जानकारी के लिए अभ्यर्थी अधिसूचना का अवलोकन करें।

यह भी पढ़ें... रेलवे में नौकरी का सुनहरा मौका, जल्द करें आवेदन

बताते चलें कि उक्त पदों पर आवेदन करने के लिए अभ्यर्थियों की आयु संबंधित योग्यता अधिक तक 40, 45, 60 वर्ष पदों के अनुरूप अलग अलग निर्धारित की गई है। अभ्यर्थियों का चयन लिखित परीक्षा (written examination) के बाद साक्षात्कार के आधार पर होगा। अभ्यर्थी आवेदन कर अभी से तैयारी में जुट जाएं।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
बागी संजय निरूपम का बड़ा फैसला, कांग्रेसियों में दौड़ी खुशी की लहरhttps://www.newstimes.co.in/news/82477/भारत/महाराष्ट्र/मुंबई/Sanjay-Nirupam-said-that-he-is-not-leaving-Congress902904Mon, 14 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1509<img src='http://newstimes.co.in/Images/14-10-2019143539SanjayNirupam1.PNG' alt='Images/14-10-2019143539SanjayNirupam1.PNG' />कांग्रेस में नाराज चल रहे पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय निरूपम ने मिलिंद देवड़ा पर एक बार फिर हमला किया है। संजय निरूपम ने महाराष्ट्र में राहुल गांधी की रैली में अनुपस्थिति को लेकर मिलिंद देवड़ा पर निशाना साधते हुए पूछा है कि निकम्मा अनुपस्थित क्यों था? इससे पहले भी निरूपम ने 'निकम्मा' शब्द का इस्तेमाल मिलिंद देवड़ा को लेकर किया था। 

बागी संजय निरूपम का बड़ा फैसला, कांग्रेसियों में दौड़ी खुशी की लहर

Mumbai. कांग्रेस में नाराज चल रहे पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय निरूपम ने मिलिंद देवड़ा पर एक बार फिर हमला किया है। संजय निरूपम ने महाराष्ट्र में राहुल गांधी की रैली में अनुपस्थिति को लेकर मिलिंद देवड़ा पर निशाना साधते हुए पूछा है कि निकम्मा अनुपस्थित क्यों था? इससे पहले भी निरूपम ने 'निकम्मा' शब्द का इस्तेमाल मिलिंद देवड़ा को लेकर किया था। 

Images/14-10-2019143539SanjayNirupam1.PNG

बता दें कि संजय निरूपम भी राहुल गांधी की रैली में अनुपस्थित थे, लेकिन उन्होंने अपनी अनुपस्थिति को लेकर सफाई दी है। उन्होंने ट्वीट करके कहा है कि उन्होंने कांग्रेस बॉस को इस कार्यक्रम में शामिल ना होने जानकारी दी थी। उन्होंने देवड़ा पर तंज़ कसते हुए कहा कि मैंने तो पहले से सूचित कर दिया था...लेकिन निकम्मा अनुपस्थित क्यों था?

यह भी पढ़ें:-...महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: आरएसएस के गढ़ में आज गरजेंगी मायावती, इतने सीटों पर लड़ रही BSP

कांग्रेस नहीं छोड़ेंगे संजय निरुपम

वहीं, एक न्यूज़ चैनल के कार्यक्रम में संजय निरुपम ने यह साफ किया कि वह कांग्रेस नहीं छोड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह कांग्रेस नहीं छोड़ रहे हैं। पार्टी चाहे तो उन्हें लेकर कोई फैसला कर सकती है। उन्होंने कहा कि वह किसी और पार्टी में नहीं जाना चाहते। निरूपम ने कहा कि उन्हें लोकसभा चुनाव से पहले मुंबई अध्यक्ष के पद से हटाया गया, उन्हें बहुत दुख हुआ, लेकिन वह चुप रहे। 

उन्होंने कहा कि मिलिंद देवड़ा को चेहरा बनाकर उन्हें हटाया गया। कांग्रेस इस वक्त बुरे दौर से गुजर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में जो हो रहा है वह गलत हो रहा है। पार्टी को सबको साथ लाकर सोचना चाहिए कि ऐसा क्यों हो रहा है उनके बागी होने से कांग्रेस पर कोई फर्क नहीं पड़ता। उन्हें जो सही लगा उन्होंने वही किया। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
तेजस्वी की सभा में बवाल करवाने में इस नेता का था हाथ, सामने आयी चौंकाने वाली सच्चाईhttps://www.newstimes.co.in/news/82473/भारत/बिहार/पटना/Fight-during-Tejashwi-Yadavs-meeting-in-Simri-Bakhtiyarpur902900Mon, 14 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1509<img src='http://newstimes.co.in/Images/14-10-2019122153FightduringT3.jpg' alt='Images/14-10-2019122153FightduringT3.jpg' />बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव रविवार को सिमरी बख्तियारपुर स्थित उच्‍च विद्यालय में आयोजित के एक चुनावी सभा में हिस्सा लेने पहुंचे। आयोजित सभा में तेजस्वी यादव के मंच पर पहुंचने के कुछ देर बाद ही स्टेज के ठीक सामने कुछ लोगों के बीच बहस शुरू हो गयी। इसके बाद देखते ही देखते यह बहस हाथापाई में बदल गयी और लोग एक-दूसरे पर कुर्सियां फेंकने लगे। वहीं, भीड़ पर काबू पाने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ा। 

तेजस्वी की सभा में बवाल करवाने में इस नेता का था हाथ, सामने आयी चौंकाने वाली सच्चाई

Patna. बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव रविवार को सिमरी बख्तियारपुर स्थित उच्‍च विद्यालय में आयोजित के एक चुनावी सभा में हिस्सा लेने पहुंचे। सभा में तेजस्वी यादव के मंच पर पहुंचने के कुछ देर बाद ही स्टेज के ठीक सामने कुछ लोगों के बीच बहस शुरू हो गयी। इसके बाद देखते ही देखते यह बहस हाथापाई में बदल गयी और लोग एक-दूसरे पर कुर्सियां फेंकने लगे। वहीं, भीड़ पर काबू पाने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ा। 

Images/14-10-2019121952FightduringT2.jpg

इस घटना के चश्मदीदों का कहना है कि बख्तियारपुर स्थित उच्‍च विद्यालय परिसर में चुनावी सभा का आयोजन किया गया था। जिसमें तेजस्वी यादव हिस्सा लेने के लिए पहुंचे थे। उनके मंच पर पहुंचने के कुछ देर बाद ही स्टेज के ठीक सामने कुछ लोगों के बीच बहस हुई और थोड़ी देर में ही यह बहस हाथापाई में बदल गई। इसके बाद हंगामे में जमकर कुर्सियां फेंकी जाने लगीं। 

इस दौरान पुलिस ने जब स्थिति पाने के लिए लाठीचार्ज किया तो कार्यक्रम में थोड़ी देर के लिए भगदड़ मच गई। वहीं, हंगामे में शामिल एक व्यक्ति को सिमरी बख्तियारपुर पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। हंगामें के दौरान मंच पर मौजूद नेता शांति बनाने की अपील करते नजर आए। प्रत्याशी एवं नेताओं के हस्तक्षेप के उपरांत हंगामा शांत हुआ। इसके बाद सभा शुरू हुई। इस बवाल में कई लोगों को चोट लगने की खबर है।

Images/14-10-2019121945FightduringT1.jpg

बता दें कि तेजस्वी यादव महागठबंधन के उम्मीदवार जफर आलम के प्रचार में सिमरी बख्तियारपुर आए थे। सिमरी बख्तियारपुर में बिहार विधानसभा का उपचुनाव में महागठबंधन (Mahagathbandhan) की ओर से आरजेडी ने अपना उम्‍मीदवार खड़ा किया है।

इसी सीट से महागठबंधन में शामिल वीआइपी (VIP) पार्टी ने भी अपना उम्‍मीदवार दे दिया है। इस सभा में पूर्व मंत्री अशोक सिंह, अब्दुल गफूर, विधायक अरुण यादव, ओमप्रकाश नारायण, लोजद नेता रितेश रंजन, अभय भगत सहित अन्य मौजूद थे। 

यह भी पढ़ें:-...Mau: गैस सिलेंडर फटने से भरभराकर गिरा दो मंजिला मकान, 10 की मौत, 15 घायल

मुखिया पर लगा साजिश का आरोप

हंगामे में जख्मी आरजेडी जिला उपाध्यक्ष विनोद यादव ने आरोप लगाया कि कार्यक्रम को असफल करने की साजिश एक मुखिया द्वारा रची गई थी। उन्होंने कहा कि एक लड़के को बहकाकर सीधे मंच पर चढ़ा दिया गया। रोकने के दौरान उसने मंच पर ही मारपीट शुरू कर दी। 

Images/14-10-2019122153FightduringT3.jpg

विनोद यादव ने बताया कि मुखिया कई पार्टियों से जुड़े हैं और उन्होंने उनकी फोटो फेसबुक पर वायरल की थी। इसी बात को लेकर उसने एक सोची-समझी साजिश के तहत हंगामा करवाया।  

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: आरएसएस के गढ़ में आज गरजेंगी मायावती, इतने सीटों पर लड़ रही BSPhttps://www.newstimes.co.in/news/82472/भारत/Maharashtra-assembly-elections:-Mayawati-thunders-in-the-stronghold-of-RSS902899Mon, 14 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/14-10-2019120610Maharashtraas2.JPG' alt='Images/14-10-2019120610Maharashtraas2.JPG' />महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Assembly elections) का बिगुल बजते ही सभी राजनीतिक दलों ने कमर कसके मैदान में उतरने की तैयारी शुरु कर दी है। वहीं बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में अपनी पार्टी को धार देने के लिए उम्मीदवारों  के लिए चुनाव प्रचार की शुरुआत सोमवार को यानी आज करने वाली हैं।

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: आरएसएस के गढ़ में आज गरजेंगी मायावती, इतने सीटों पर लड़ रही BSP

Lucknow. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Assembly elections) का बिगुल बजते ही सभी राजनीतिक दलों ने कमर कसके मैदान में उतरने की तैयारी शुरु कर दी है। वहीं बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में अपनी पार्टी को धार देने के लिए उम्मीदवारों  के लिए चुनाव प्रचार की शुरुआत सोमवार को यानी आज करने वाली हैं। बसपा सुप्रीमो ने ट्वीट (tweet) कर यह जानकारी देते हुए बताय कि वह सोमवार को राज्य के नागपुर में जनसभा को संभोधित करेंगी। 

Images/14-10-2019120531Maharashtraas1.jpg

  विशाल चुनावी जनसभा

उन्होंने ट्वीट में कहा, 'महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए बहुजन समाज पार्टी (बसपा) द्वारा कल दिनांक 14 अक्टूबर को नागपुर के इन्दौरा मैदान में एक विशाल चुनावी जनसभा आयोजित की गई है, जिसे सम्बोधित करने का मेरा कार्यक्रम निर्धारित है। इसमें पार्टी के कार्यकर्ता एवं प्रत्याशी आदि बड़ी संख्या में शामिल होंगे।''

Images/14-10-2019120610Maharashtraas2.JPG

खबरों के अनुसार राज्य में बसपा प्रमुख द्वारा कम से कम 6 विधानसभा क्षेत्रों में रैलियां करने की रणनीति बनाई गई है। बताया जा रहा है कि इसके लिए स्थान और तारीखें निर्धारित की जा रही हैं। बता दें की नागपुर को आरएसएस (RSS) का गढ़ माना जाता है ऐसे में यहां पर मायावती की चुनावी रैली क्या रंग लाती है यह देखना दिलचस्प होगा। 

यह भी पढ़ें... रामपुर में उपचुनाव जीतेगी बसपा! समशुद्दीन ने चली बड़ी चाल

  264 सीटों पर लड़ेगी बसपा

रैलियों के लिए कार्यक्रम को अंतिम रूप दिया जा रहा है। बताते चलें कि बसपा ने महाराष्ट्र (Maharashtra) की 288 में से 264 विधानसभा सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं। मीडिया खबरों अनुसार नागपुर के बाद पुणे और वाशिम में भी मायावती जनसभा कर हुंकार भरने की तैयारी में हैं। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
एयर इंडिया पर गहराया संकट, पायलटों ने सौंपा इस्तीफाhttps://www.newstimes.co.in/news/82471/भारत/Air-India-faces-deep-crisis-pilots-resign902898Mon, 14 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/14-10-2019113154AirIndiaface1.jpg' alt='Images/14-10-2019113154AirIndiaface1.jpg' />एयर इंडिया (Air India) वित्तीय संकटों से बाहर नहीं निकल पा रहा है। ऐसे में हालत लगातार खराब ही होती जा रही है। कर्मचारी नौकरी छोड़कर जा रहे हैं। ऐसे में एयर इंडिया (Air India)  को झटका तो लग ही रहा है, समस्या और भी अधिक गंभीर होती जा रही।

एयर इंडिया पर गहराया संकट, पायलटों ने सौंपा इस्तीफा

New Delhi. एयर इंडिया (Air India) वित्तीय संकटों से बाहर नहीं निकल पा रहा है। ऐसे में हालत लगातार खराब ही होती जा रही है। कर्मचारी नौकरी छोड़कर जा रहे हैं। ऐसे में एयर इंडिया (Air India) को झटका तो लग ही रहा है, समस्या और भी अधिक गंभीर होती जा रही। कंपनी के लगभग 120 एयरबस ए-320 पायलटों ने इस्तीफा (resignation) सौंप दिया है। बताया जा रहा कि सभी पायलट पदोन्नति और वेतन वृद्धि नहीं होने को लेकर नाराज थे।

Images/14-10-2019113154AirIndiaface1.jpg

इस्तीफा देने के साथ ही पायलटों ने शिकायत किया है कि उनका वेतन नहीं बढ़ रहा था। उनकी ढे़र सारी मांगे थी, जिनमें से एक को भी प्रशासन पूरा नहीं कर रहा था। इस वजह से सभी को एकसाथ इस्तीफा देना पड़ा।

बता दें कि एयर इंडिया (Air India) की खस्ता हाल को देखकर मोदी सरकार ने 100 फीसदी हिस्सेदारी बेचने को कहा था। यही नहीं 76 फीसदी बेचने के लिए तो पूरी तरह से योजना भी बना ली गई थी। लेकिन किसी ने भी हिस्सेदारी को खरीदने की जहमत नहीं उठाई।

   4500 करोड़ कर्ज

बताते चलें कि एयर इंडिया पर तीन तेल कंपनियों (oil companies) का करीब 4500 करोड़ रुपये से अधिक कर्ज है। कई महीनों से यह कर्ज कंपनी ने नहीं चुकाया। वहीं, एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि इसके लिए का 90 दिन का क्रेडिट पीरियड मिलता है।

खबरों के मुताबिक एयर इंडिया के चेयरमैन अश्विनी लोहानी ने यह जानकारी दी थी कि कंपनी को हर माह कर्मचारियों (employees) को वेतन के लिए ही 3 सौ करोड़ रुपयों (300 million rupees) की जरूरत होती है।

यह भी पढ़ें...  जानें, वह कौन सा कलाकार है जिसे लोग दीवाली और शादी में ही करते हैं याद

एयर इंडिया ने बकाए रुपयों के मामले में जल्द ही सामाधान निकालने की आशा जतायी है। इसके लिए समस्या को सुलझाने का पूरा प्रयास किया जा रहा है। इसके साथ ही कंपनी उड़ानों को बाधित होने से रोकने व यात्रियों को परेशानी न हो इसका भी प्रयास कर रही है।

वहीं, तेल कंपनियों ने बकाया का भुगतान करने के लिए 18 अक्तूबर तक का समय दिया था। साथ ही यह भी चेतावनी दी थी कि भुगतान नहीं किया गया तो छह प्रमुख घरेलू हवाई अड्डों पर ईंधन की आपूर्ति बंद कर देंगे।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
पूर्व पति की करतूत, दोस्तों के साथ पत्नी का किया गैंगरेप और पिला दिया जहरhttps://www.newstimes.co.in/news/82461/भारत/Ex-husband-s-handiwork-wife-gang-raped-and-drank-poison-with-friends902888Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019170528Ex-husbandsh1.jpg' alt='Images/13-10-2019170528Ex-husbandsh1.jpg' />देश भर में महिलाओं की सुरक्षा भगवान भरोसे रह गई है। आए दिन महिलाओं को अपराधी अपनी हवस का शिकर बनाकर जान से मारने जैसे घिनौनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे। मध्य प्रदेश स्थित रतलाम में एक महिला से गैंगरेप के बाद जहर पिला देने का मामला सामने आया है। पुलिस ने मामले में पूर्व पति समेत कुल चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

पूर्व पति की करतूत, दोस्तों के साथ पत्नी का किया गैंगरेप और पिला दिया जहर

Lucknow. देश भर में महिलाओं की सुरक्षा भगवान भरोसे रह गई है। आए दिन महिलाओं को अपराधी अपनी हवस का शिकर बनाकर जान से मारने जैसे घिनौनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे। मध्य प्रदेश स्थित रतलाम में एक महिला से गैंगरेप के बाद जहर पिला देने का मामला सामने आया है। पुलिस ने मामले में पूर्व पति समेत कुल चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

Images/13-10-2019170528Ex-husbandsh1.jpg

खबरों के मुताबिक मामला ताल थाना क्षेत्र के रामगढ़ की है। यहां सुबह ग्रामीणों ने एक महिला को सड़क के किनारे बेसुध हालत में छोटी बच्ची के साथ देखा। जानकारी मिलते ही पुलिस  आनन फानन में मौके पर पहुंची। पुलिस ने महिला और बच्ची को अस्पताल में भर्ती कराया। डॉक्टरों ने जांच के बाद पाया कि महिला के शारीर में जहर था।

यह भी पढ़ें... रामपुर में उपचुनाव जीतेगी बसपा! समशुद्दीन ने चली बड़ी चाल

पीड़िता महिला जब होश में आई तो पुलिस को आपबीती सुनाई। महिला ने पुलिस को बताया कि उसके पूर्व पति ने अपने दोस्तों के साथ उसका गैंगरेप किया। इसके बाद जहर पिलाकर उसे मरा समझकर छोड़कर भाग सड़क पर फेंक भाग गए। आरोपी पूर्व पति के खिलाफ महिला ने मारपीट मामले में मुकदमा दर्ज कराया था। आरोपी मामले को दबाने के लिए महिला पर दबाव बना रहा था। जब वह नहीं मानी तो उसने दोस्तों के साथ इस घिनौनी वारदात को अंजाम दे डाला।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
आनन्दोत्सव में भक्तों ने ​लिया जीवन के रंगो का आनन्दhttps://www.newstimes.co.in/news/82464/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Devotees-enjoyed-the-colors-of-life-in-the-celebration902891Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1181<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019183746Devoteesenjoy3.jpg' alt='Images/13-10-2019183746Devoteesenjoy3.jpg' />यूनाइट फाउण्डेशन द्वारा आयोजित आनन्दोत्सव कार्यक्रम में उपस्थित भक्तजनों ने अपने —अपने भजनों एवं गीतों के माध्यम से श्रोताओं में वह उत्साह भर दिया जिसको पाने के लिए लोग मंदिर—मंदिर भटकते हैं।

आनन्दोत्सव में भक्तों ने ​लिया जीवन के रंगो का आनन्द

LUCKNOW. यूनाइट फाउण्डेशन द्वारा आयोजित आनन्दोत्सव कार्यक्रम में उपस्थित भक्तजनों ने अपने-अपने भजनों एवं गीतों के माध्यम से श्रोताओं में वह उत्साह भर दिया जिसको पाने के लिए लोग मंदिर-मंदिर भटकते हैं। भजन संध्या में आए सभी भक्तजनों ने अपनी इच्छानुसार श्रोताओं के मन को प्रभावित करने का प्रयास किया। 

Images/13-10-2019183620Devoteesenjoy1.jpg

भजनों को लय देते हुए अनिल कुमार मिश्र ने 'भगवान मेरी नैया उस पार लगा देना, अब तक तो निभाया है आगे भी ​निभा देना' के माध्यम से श्रोतागणों को तालियां बजाने पर मजबूर किया। इसी क्रम में मीना वर्मा ने 'गाओ सदा जयकार, पवनसुत महाबली की' गाकर बजरंगबली की याद ताजा कर दी। बीना जी ने 'देवी के गीत झूला झूल रहीं अम्बा, ना डोल रही रम्भा' को प्रस्तुत कर नवरात्र की याद दिला दी। दीपक वर्मा ने हारमोनियम के साथ 'जरा नजरों से नजरें ​मिलाकर तो देख, प्रभू बंधे दौड़े भागे चले आएंगे'  गाकर सभी को अपनी ओर आकर्षित किया।

Images/13-10-2019183840Devoteesenjoy4.jpg

कार्यक्रम की प्रस्तुति‍कर्ता सीमा मेहरोत्रा ने गीत 'जब मेरी तेरी इनायत पे नजरें जाती हैं, मेरी मइया आंख भर आती है' के माध्यम से सभी को भक्तिमय कर दिया। यूनाइट फाउण्डेशन के उपाध्यक्ष राधेश्याम दीक्षित ने दीपक वर्मा के साथ 'श्रीकृष्ण नारायणम्, जानकी बल्लभम्' प्रस्तुत करने के लिए दूसरी बार  मंच पर आकर सभी को चकित कर दिया। सुरेश जोशी, पंडित शिवम द्विवेदी ने भी कुछ पंक्तियां प्रस्तुत की। इससे पूर्व अंजली मिश्रा ने भी गीत प्रस्तुत किया। 

Images/13-10-2019183724Devoteesenjoy2.jpg

इस दौरान ज्योतिष ज्ञानपीठ के अध्यक्ष योगेश मिश्र और पंडित शिवम द्विवेदी को अंग वस्त्र भेंट कर सम्मानित किया गया। 

Images/13-10-2019183746Devoteesenjoy3.jpg

अंत में अनिल कुमार तिवारी ने लोगों को बीमारियों से बचन के उपाय एवं उनके निदान भी सुझाए।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
जानें, वह कौन सा कलाकार है जिसे लोग दीवाली और शादी में ही करते हैं याद https://www.newstimes.co.in/news/82460/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-Know-Which-is-the-artist-that-people-remember-in-Diwali-and-marriage?902887Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1181<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019160032KnowWhichis1.jpg' alt='Images/13-10-2019160032KnowWhichis1.jpg' />दीवाली में ​मिट्टी के दियों और शादी बारात के साथ अंतिम संस्कार के समय मिट्टी के बरतनों का प्रयोग बंद हो जाय तो समाज कुम्हारों की कला को भूल जाएगा।

जानें, वह कौन सा कलाकार है जिसे लोग दीवाली और शादी में ही करते हैं याद

LUCKNOW. दीवाली में ​मिट्टी के दीयों और शादी बारात के साथ अंतिम संस्कार के समय मिट्टी के बरतनों का प्रयोग बंद हो जाय तो समाज कुम्हारों की कला को भूल जाएगा, लेकिन आज भी इन अवसरों पर मिट्टी के बरतनों के प्रयोग को लोग संस्कारों से जोड़कर देखते हैं। इसलिए  कुम्हारों के लिए अब मात्र कुछ काम ही बचा है। जिससे वे अपनी रोजी रोटी चला रहे हैं। दूसरी ओर बर्तन बनाने के लिए कुम्हारों को बर्तन बनाने वाली मिट्टी भी अब तालाबों से चोरी छिपे ढूढ़नी पड़ती है, क्योंकि अब तालाबों के सौंंदर्यीकरण के नाम पर उनमें मिट्टी काम वाली नहीं रह गयी है। इसके अलावा हर तालाब की मिट्टी बर्तन बनाने वाली नहीं होती है। बर्तन बनाने के लिए काली मिट्टी अधिक अच्छी होती है। 

Images/13-10-2019160032KnowWhichis1.jpg

विकास खण्ड माल की ग्राम पंचायत आंट गढ़ी सौंरा निवासी रामखेलावन ने कहा कि जब से प्लास्टिक एवं फाइबर के दोने पत्तल और गिलास आ गए तब से उनकी रोजी रोटी पर संकट के बादल छा गए और अब शादी बारात के अलावा दीवाली में ही लोग उनके बर्तनों को याद करते हैं। वह कहते हैं कि दीवाली में मिट्टी के दीये हर कोई जलाता है। चाहें गरीब हो या अमीर। यह ऐसा त्यौहार है जब लोग तमाम प्रकार के दीयों मोमबत्तियों को जलाने के बावजूद मिट्टी के दिए अवश्य जलाते हैं।

इनका कहना है कि उनके गांव के किसी भी तालाब में ​बर्तन बनाने लायक मिट्टी नहीं है। इसलिए वे पड़ोस के छतिहा गांव के तालाब से चोरी छिपे मिट्टी लाकर बर्तन बनाते हैं। उनका कहना है कि मिट्टी खोदकर लाने से बर्तन तैयार करने तक एक सप्ताह का समय लग जाता है, जिसमें परिवार के सभी 4 सदस्य लगे रहते हैं।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
दोबारा सीएम बनने के लिए अखिलेश ने बनाया ये जबरदस्त प्लान, भाजपाइयों की उडी नींदhttps://www.newstimes.co.in/news/82459/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Akhilesh-Yadav-is-busy-in-saving-Yadav-vote-bank902886Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1509<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019155001AkhileshYadav1.jpg' alt='Images/13-10-2019155001AkhileshYadav1.jpg' />सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव साल 2022 में होने वाले यूपी विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर दूसरी पार्टियों की अपेक्षा दो कदम आगे चल रहे हैं। अखिलेश ने विधानसभा चुनाव की तैयारी अभी से शुरू कर दी है। जिसके तहत वह पुरानी गलतियों से सबक लेने के साथ अपने छिटके मूल वोट बैंक को सहेजने में भी जुटे हुए हैं। 

दोबारा सीएम बनने के लिए अखिलेश ने बनाया ये जबरदस्त प्लान, भाजपाइयों की उडी नींद

Lucknow. सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव साल 2022 में होने वाले यूपी विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर दूसरी पार्टियों की अपेक्षा दो कदम आगे चल रहे हैं। अखिलेश ने विधानसभा चुनाव की तैयारी अभी से शुरू कर दी है। जिसके तहत वह पुरानी गलतियों से सबक लेने के साथ अपने छिटके मूल वोट बैंक को सहेजने में भी जुटे हुए हैं। 

Images/13-10-2019155001AkhileshYadav1.jpg

लोकसभा चुनाव में मिली हार से लिया सबक

अखिलेश यादव ने पुरानी दुश्मनी भुलाते हुए बसपा से गठबंधन किया था बावजूद इसके उनकी पार्टी के लिए संतोषजनक परिणाम नहीं आए। इसका मुख्य कारण सपा के यादव पट्टी के वोट भी छिटकना रहा। जिसको लेकर सपा ने अब कसरत शुरू कर दी है। वहीं, पुष्पेंद्र यादव मुठभेड़ कांड के बाद अखिलेश यादव के झांसी का दौरा इसी रणनीति का हिस्सा माना जा रहा है। 

यह भी पढ़ें;-...अखिलेश यादव बोले- पुलिस कर रही है अत्याचार, अन्याय के साथ सरकार

यही नहीं सपा ने अपने यादव नेताओं को मानने की कवायद भी कर दी है। इसी कड़ी में आजमगढ़ के पूर्व सांसद रमाकांत यादव को पार्टी में शामिल कराकर पूर्वांचल के यादवों को साधने का एक बड़ा प्रयास किया गया है। दूसरी तरफ चाचा शिवपाल यादव के प्रति नरम रवैया दिखाकर अखिलेश ने मुलायम के परिवार के एक होने की चाहता रखने वालों को संदेश दिया है कि वह परिवार की एकता के लिए कुछ भी करने को तैयार हैं। जिससे नाराज वोटर्स उनके समर्थन में आ गए हैं। 

इसके अलावा पार्टी यादवों के साथ मुस्लिम वोट बैंक के गणित को भी मजबूत करना चाहती है। इसीलिए पार्टी ने मुस्लिम नेताओं को भी बैटिंग करने को मैदान में उतारा है। माना यह भी जा रहा है कि यादवों में एकता रहेगी तो एम-वाई (मुस्लिम-यादव) समीकरण का रंग भी गाढ़ा हो सकेगा। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
#Internationaldisasterreduction: जानें क्यों मनाया जाता है विश्व आपदा न्यूनीकरण दिवस https://www.newstimes.co.in/news/82458/भारत/Internationaldisasterreduction:-Learn-why-World-Disaster-Reduction-Day-is-celebrated902885Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019154047Internationald3.jpg' alt='Images/13-10-2019154047Internationald3.jpg' />विश्वभर में आज यानी 13 ऑक्टूबर के दिन अंतरराष्ट्रीय आपदा न्यूनीकरण दिवस मनाया जाता है। यह दिवस आपदा रहित समाज का र्निमाण करने के लिए और नागरिकों के साथ सरकार को भी प्रोत्साहित करने के लिए मनाया जाता है।

#Internationaldisasterreduction: जानें क्यों मनाया जाता है विश्व आपदा न्यूनीकरण दिवस

Lucknow. विश्वभर में आज यानी 13 अक्टूबर के दिन अंतरराष्ट्रीय आपदा न्यूनीकरण दिवस मनाया जाता है। यह दिवस आपदा रहित समाज का न‍िर्माण करने के लिए और नागरिकों के साथ सरकार को भी प्रोत्साहित करने के लिए मनाया जाता है।

Images/13-10-2019154107Internationald4.png

इसका मुख्य उद्देश्य है आपदा जोखिम को कम करना और एक सुरक्षित समुदाय बनाना। संयुक्त राष्ट्र के डाटा के अनुसार विश्वभर की आपदाओं में महिलाओं और बच्चों ने पुरुषों के मुकाबले 14 प्रतिशत ज्यादा जान गंवाई है। हालांकि 60 प्रतिशत महिलाओं की मृत्यु बचाव योग्य स्थितियों में होती है। जबकि 5 साल से छोटे बच्चों में यह आंकड़ा 53 प्रतिशत है। अन्य प्रभावित लोगों अथवा समूहों में दिव्यांग लोगों के साथ रहने वाले व्यक्ति शामिल हैं। 

Images/13-10-2019153959Internationald1.jpg

खतरों के रिस्क को कम करना, भूमि और पर्यावरण संसाधनों का उचित प्रबंधन, आपदाओं से निपटने के लिए समुदाय विशेष की तैयारी में सुधार करना और ऐसे सभी विनाशकारी घटनाओं के लिए पूर्व चेतावनी जारी करना आपदा जोखिम न्यूनीकरण प्रयोजन का केंद्र बिंदु है। 

Images/13-10-2019154032Internationald2.jpg

   क्यों मनाते हैं अंतरराष्ट्रीय आपदा न्यूनीकरण दिवस

- अंतरराष्ट्रीय आपदा न्यूनीकरण दिवस आपदाओं के जोखिम में कमी लाने की जागरूकता विकसित करने के लिए मनाया जाता है।

Images/13-10-2019154047Internationald3.jpg

-प्रत्येक वर्ष 13 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय आपदा न्यूनीकरण दिवस मनाया जाता है।

- इस दिवस का मनाने का उद्देश्य विश्व में जोखिम प्रबंधन के प्रति जागरुकता बढ़ाई जा सके एवं आपदाओं से होने वाले नुकसान को कम किया जा सके।

यह भी पढ़ें... रिम्स में लालू से मिले अनिल कुमार, आरजेडी प्रमुख की तबीयत को लेकर कह दी ये बड़ी बात

- संयुक्त राष्ट्र ने वर्ष 1989 में प्रत्येक वर्ष के अक्टूबर माह के दूसरे बुधवार को इस दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की थी, लेकिन बाद में 21 दिसम्बर 2009 को संयुक्त राष्ट्र ने प्रत्येक वर्ष 13 अक्टूबर को इस दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
Sharad Purnima: 60 साल बाद हो रहा शनि-गुरु का दुर्लभ संयोगhttps://www.newstimes.co.in/news/82457/भारत/उत्तर-प्रदेश-/Sharad-Purnima:-A-rare-combination-of-Shani-Guru-happening-after-60-years902884Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1591<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019152325SharadPurnima.jpg' alt='Images/13-10-2019152325SharadPurnima.jpg' />अश्विन मास के शुक्‍ल पक्ष की पूर्णिमा को शरद पूर्णिमा कहते हैं

Sharad Purnima: 60 साल बाद हो रहा शनि-गुरु का दुर्लभ संयोग

Lucknow: अश्विन मास के शुक्‍ल पक्ष की पूर्णिमा को  शरद पूर्णिमा कहते हैं। हिंदू धर्म में शरद पूर्णिमा का बहुत बड़ा महत्व माना जाता है। आज 13 अक्टूबर, रविवार को शरद पूर्णिमा मनाई जा रही है। मान्यता है कि शरद पूर्णिमा के दिन रात को चंद्रमा अमृत बरसता है। इस शरद पूर्णिमा पर एक अद्भुत संयोग बन रहा है। ऐसा योग 60 साल पहले 16 अक्टूबर, 1959 में बना था।  

Images/13-10-2019152409SharadPurnima1.jpg

ऐसा माना जाता है कि शरद पूर्णिमा वर्ष में एकमात्र दिन होता है, जब चंद्रमा सभी सोलह कलाओं के साथ बाहर आता है। हिंदू धर्म में, प्रत्येक मानव गुण कुछ कलाओं से जुड़ा हुआ है और यह माना जाता है कि सोलह विभिन्न कलाओं का संयोजन एक आदर्श मानव व्यक्तित्व बनाता है। यह भगवान कृष्ण थे जो सभी सोलह कलाओं के साथ पैदा हुए थे और वे भगवान विष्णु के पूर्ण अवतार थे।

भगवान राम का जन्म केवल बारह कलाओं के साथ हुआ था। आज के दिन नव विवाहित महिलाएं पूर्णिमा व्रत का संकल्प लेती हैं। इसके अलावा मान्यता यह भी है कि शरद पूर्णिमा के दिन पांच देवताओं की पूजा की जाती है। जिसमें धन की देवी लक्ष्मी, चंद्र देवता, कुबेर, भगवान शिव और श्रीकृष्ण शामिल हैं। इसलिए, शरद पूर्णिमा के दिन भगवान चंद्र की पूजा करना बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है।

Images/13-10-2019152325SharadPurnima.jpg

शरद पूर्णिमा पर न करें ये काम-

शरद पूर्णिमा के दिन व्यक्ति को सिर्फ सात्विक आहार ही ग्रहण करना चाहिए। व्यक्ति को इस दिन तामसिक भोजन और हर तरह के नशे से बचना चाहिए। ऐसा करने से जीवन में नकारात्मकता और निराशा बढ़ जाती है। शरद पूर्णिमा के दिन काले रंग के कपड़ों को पहनने से बचना चाहिए। आज के लिए व्यक्ति को पहनने के लिए सफेद रंग के चमकदार वस्त्रों का चुनाव करना चाहिए। इस दिन व्यक्ति को काम वासना से बचने की कोशिश करनी चाहिए। आज के दिन उपवास, सत्संग करने से मन प्रसन्न और बुद्धि प्रखर होती है।

शरद पूर्णिमा पर ये काम करने से सेहत को होता है लाभ- 

शरद पूर्णिमा पर चंद्रमा को अर्घ्य देने से दमा रोगियों की तकलीफ कम हो जाती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार शरद पूर्णिमा के दिन गर्भवती स्त्रियों की नाभि पर चन्द्रमा की चांदनी पड़ने से उनका गर्भ पुष्ट होता है। शरद पूर्णिमा के दिन चंद्रमा की रोशनी में चांदी के बर्तन में रखी खीर खाने से व्यक्ति को शारीरिक कष्टों से मुक्ति मिलती है। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
रामपुर में उपचुनाव जीतेगी बसपा! समशुद्दीन ने चली बड़ी चालhttps://www.newstimes.co.in/news/82454/भारत/BSP-will-win-the-by-election-in-Rampur-Samasuddin-did-a-big-trick902881Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019144555BSPwillwint1.jpg' alt='Images/13-10-2019144555BSPwillwint1.jpg' />उपचुनाव के बिगुल बजते ही चुनावी बिसात बिछ गई सभी राजनीतिक दलों ने अपने- अपने महारथियों को तैयार करना शुरु कर दिया है। बसपा सुप्रीमो मायावती अपनी ही पार्टी के नेताओं से धोखा खाने के बाद अब फूंक-फूंक कर कदम रख रही हैं। 

रामपुर में उपचुनाव जीतेगी बसपा! समशुद्दीन ने चली बड़ी चाल

Lucknow. उपचुनाव के बिगुल बजते ही चुनावी बिसात बिछ गई सभी राजनीतिक दलों ने अपने- अपने महारथियों को तैयार करना शुरु कर दिया है। बसपा सुप्रीमो मायावती अपनी ही पार्टी के नेताओं से धोखा खाने के बाद अब फूंक-फूंक कर कदम रख रही हैं। 

Images/13-10-2019144555BSPwillwint1.jpg

बता दें कि बसपा के पश्चिमी उत्तर प्रभारी शमशुद्दीन राईन ने कहा है कि बसपा ही एक ऐसी पार्टी है, जिसके शासनकाल में कभी दंगा नहीं हुआ, कभी किसी को सताया नहीं। अब भी लगातार बसपा गरीब, निर्धन, असहाय लोगों की मदद के लिए आगे रहती है। 

राईन ने नालापार में हुए जलसे में कहा कि हमारे प्रत्याशी जुबैर मसूद खां ईमानदार है और अपनी पूरी नौकरी टाइम में रिश्वत नहीं ली। इसलिए हमारी जीत निश्चित है। उन्होंने कहा कि सपा शासनकाल में अनेक लोगों के घर उजाड़े गए हैं लेकिन, हम घर नहीं उजाडे़ंगे बल्कि बसाएंगे। उप चुनाव में हम जीत रहे हैं। 

यह भी पढ़ें... उपचुनाव: मायावती से हिसाब चुकता करने का अखिलेश ने बनाया ये मास्टर प्लान, BSP के नेताओं को...

इस मौके पर सांसद ग्रीश चंद ने कहा किस, बसपा ने हमेशा गरीबों और कमजोरों के हक की बात की है। बसपा की जीत से रामपुर के विकास में तेजी आएगी। जुबैर मसूद खां ने भी कहा कि हमें विधायक चुना गया तो हम गरीबों और कमजोरों की सेवा में कोई कमी नहीं छोडे़ंगे। हम किसी को सताएंगे नहीं, बल्कि लोगों के सुख-दुख में  उनका साथ देंगे। 

उन्होंने आगे कहा कि बसपा पार्टी ने सत्ता में रहते हुए हमेशा गरीबों के लिए अच्छे काम किए हैं। गरीबों के लिए आवास बनवाए और उनके लिए बहुत सी योजनाएं बनवाईं। इस मौके पर जिलाध्यक्ष अज सागर, हबीबुल रहमान, राजेश सैनी, मोहम्मद आलिम, जुनैद, असगर आदि शामिल रहे।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
महाराष्ट्र में पीएम मोदी का बड़ा बयान, पूरी दुनिया में नए भारत का जलवा हैhttps://www.newstimes.co.in/news/82452/भारत/महाराष्ट्र/मुंबई/PM-Modis-big-statement-in-Maharashtra-New-India-is-burning-all-over-the-world902879Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNP97<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019144140PMModisbig1.jpg' alt='Images/13-10-2019144140PMModisbig1.jpg' />.

महाराष्ट्र में पीएम मोदी का बड़ा बयान, पूरी दुनिया में नए भारत का जलवा है

Mumbai. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को महाराष्ट्र के जलगांव में चुनावी रैली को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा कि आज पूरी दुनिया को नए भारत का नया जोश दिखने लगा है। आज पूरे दुनिया में नए भारत का जलवा है,उसके पीछे सिर्फ और मेरे करोड़ों देशवासी हैं। इसके साथ ही पीएम ने विपक्षी दलों पर हमला बोलते हुए कहा कि इनकी भाषा पड़ोसी देश की तरह है। अनुच्छेद 370 हटाए जाने के कारण उनका रुख स्पष्ट नहीं है। पीएम ने समूचे विपक्ष को चुनौती देते हुए कहा कि अगर हिम्मत है तो अपने घोषणा पत्र में 370 और तीन तलाक लागू करने की बात लिखे। 

Images/13-10-2019144140PMModisbig1.jpg

एक बार फिर महाराष्ट्र में फण्डवीस सरकार बनाएं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जलगाव में रैली को संबोधित करते हुए जनता से अपील कि आने वाले समय में देवेंद्र फण्डवीस जी की अगुवाई एक बार दोबारा सरकार बनाएं। इसका आर्शीवाद हम आपसे लेने आएं हैं। इसके अलावा पीएम ने कहा​ कि आपने लोकसभा चुनाव में हमें एतिहासिक सीट दी हैं इसके लिए मैं आपका आभार जताता हूं। 

दुनिया भारत की आवाज को मजबूती से सुन रहा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज भारत की आवाज दुनिया की हर ताकत मजबूती से सुन रही है। दुनिया का हर देश आज भारत के साथ खड़ा है। हमारे साथ मिलकर आगे बढ़ने के लिए उत्साहित है। पीएम ने महाराष्ट्र की जनता से कहा कि आज नया भारत ठान चुका है कि उसे अतीत के अनावश्यक बंधनों में बंधकर नहीं रहना है। आज नया भारत खुद के वर्तमान को मजबूत तक कर ही रहा है,खुद का भविष्य भी तय कर रहा है। बीते कुछ समय से हम लगातार चुनौतियों को चुनौती दे रहे हैं। 
 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
India vs South Africa 2nd Test : टीम इंडिया जीत से महज 3 विकेट दूर...https://www.newstimes.co.in/news/82453/भारत/दिल्ली/India-vs-South-Africa-2nd-Test:-South-Africa-loses-7-wickets902880Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1550<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019143850IndiavsSouth1.PNG' alt='Images/13-10-2019143850IndiavsSouth1.PNG' />भारतीय क्रिकेट टीम (Indian cricket team) और साउथ अफ्रीका (South Africa) के बीच पुणे (Pune) में चल रहे दूसरे टेस्ट मैच (Test match) का मुकाबला जारी है

India vs South Africa 2nd Test : टीम इंडिया जीत से महज 3 विकेट दूर...

New Delhi. भारतीय क्रिकेट टीम (Indian cricket team) और साउथ अफ्रीका (South Africa) के बीच पुणे (Pune) में चल रहे दूसरे टेस्ट मैच (Test match) का मुकाबला जारी है। आज चौथे दिन, भारत के फॉलोआन (follow on) लेने के बाद, साउथ अफ्रीका मैदान पर बल्लेबाजी करने उतरा है। बता दें कि टीम इंडिया (team India) अभी 326 रन की बढ़त पर है। फॉलोआन लेकर दूसरी पारी खेल रहे साउथ अफ्रीका ने फिलहाल 57 ओवर में 7 विकेट खोकर 161 रन बना लिए हैं। दूसरी पारी में मोहम्मद शमी (Mohammad Shami) ने सेन्युरन मुथुसामी (Senuran Muthuswamy)  को अपना शिकार बनाया, जो 44 गेंदों में 9 रन बनाकर आउट हुए। इसके साथ ही दक्षिण अफ्रीका (South Africa) को 7वां झटका लगा। 

Images/13-10-2019143910IndiavsSouth2.PNG

​​भारतीय टीम और दक्षिण अफ्रीका के बीच पुणे में दूसरा टेस्ट मैच जारी है

►थ्यूनस डिब्रॉएन 8 रन बनाकर हुए आउट

साउथ अफ्रीका को दूसरा झटका थ्यूनस डिब्रॉएन (Theunis de Bruyn) के रूप में लगा, जो 8 रन बनाकर आउट हो गए। उमेश यादव (Umesh Yadav) की ऑन साइड (on side) की ओर बाहर निकलती गेंद पर डिब्राएन ने बल्ला घुमाया और गेंद एज से लगकर रिद्धिमान साहा (Riddhiman Saha) के दस्तानों में चली गई। साहा ने बायीं ओर डाइव लगाकर कैच पकड़ा। 

Images/13-10-2019143850IndiavsSouth1.PNG

दक्षिण अफ्रीकाई टीम के 7 विकेट गिर गए हैं

►आर अश्विन की फ्लाइट डिलीवरी में फंसे एल्गर 

साउथ अफ्रीका के सलामी बल्लेबाज डीन एल्गर (Dean Elgar) 48 रन पर अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे, लेकिन आर अश्विन (Ashwin) की  एक फ्लाइट डिलीवरी (flight delivery) में फंसकर, उमेश यादव (Umesh Yadav) के हाथों कैच आउट हो गए। एल्गर 72 गेंदों में 8 चौकों की मदद से 48 रन बनाकर आउट हुए। वहीं साउथ अफ्रीका को तीसरा झटका कप्तान (captain) फाफ डुप्लेसी (Faaf du Plessis) के रूप में लगा। हालांकि, डुप्लेसी संभलकर खेल रहे थे, लेकिन तीसरी बार वे फिर अश्विन का शिकार बने। 54 गेंदों में 5 रन बनाकर फाफ डुप्लेसी आर अश्विन की गेंद पर रिद्धिमान साहा के हाथों कैच आउट हुए। 

►भारत ने बनाए थे 601 रन

3 मैचों की टेस्ट सीरीज के दूसरे मुकाबले में भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और स्कोर 601 पहुंचा दिया। भारत (India) की ओर से कप्तान कोहली ने 254 रन की नाबाद पारी खेली। मयंक अग्रवाल (Mayank Agrawal) ने अपने करियर का लगातार दूसरा शतक ठोका। वहीं, अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane), रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) और चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) अर्धशतक (half century) बनाकर आउट हुए। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
कांग्रेस ने की बड़ी कार्रवाई, महिला उपाध्यक्ष को पार्टी से किया निष्कासितhttps://www.newstimes.co.in/news/82451/भारत/राजस्थान/Congress-took-major-action-expelled-women-vice-president-from-party902878Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1357<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019142037Congresstook2.JPG' alt='Images/13-10-2019142037Congresstook2.JPG' />महिला कांग्रेस उपाध्यक्ष एवं नगर निगम पार्षद को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने 1.25 लाख रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के बाद 15 दिनों के लिए कांग्रेस नेता को जेल भेज दिया गया है। वहीं, कांग्रेस पार्टी ने महिला नेता को उपाध्यक्ष पद से निष्कासित कर दिया है।

कांग्रेस ने की बड़ी कार्रवाई, महिला उपाध्यक्ष को पार्टी से किया निष्कासित

Jaipur. राजस्थान महिला कांग्रेस उपाध्यक्ष (Rajasthan Women Congress Vice President) एवं जयपुर नगर निगम पार्षद (Municipal Corporation Councilor) को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (Anti Corruption Bureau) की टीम ने 1.25 लाख रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के बाद 15 दिनों के लिए कांग्रेस (Congress) नेता को जेल भेज दिया गया है। वहीं, कांग्रेस पार्टी ने महिला नेता को उपाध्यक्ष पद से निष्कासित कर दिया है।

Images/13-10-2019142034Congresstook1.JPG

राजस्थान महिला कांग्रेस उपाध्यक्ष, जयपुर नगर निगम (Jaipur Municipal Corporation,) की महिला उत्थान समिति की अध्यक्ष एवं नगर निगम पार्षद सुमन गुर्जर (Suman Gurjar,) को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) के अधिकारियों ने 1.25 लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार (arrested taking bribe) किया है। बताया जा रहा है कि सुमन ने सीसी रोड (CC Road) बनाने के ठेकेदार से ये रिश्वत ली थी। एसीबी (ACB) ने कांग्रेस नेता सुमन को कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें 15 दिनों के लिए जेल भेज दिया गया है। 

Images/13-10-2019142037Congresstook2.JPG

वहीं, कई अन्य लोगों ने भी सुमन गुर्जर पर रिश्वत लेने के आरोप लगाया है। इसके बाद एसीबी ने उनके मोबाइल फोन (Mobile Phone) को सर्विलांस (Surveillance) पर लगा रखा था, जिससे ये पता चला है कि वह कई कामों को लेकर भी डील कर रहीं थीं। वहीं, कांग्रेस (Congress) पार्टी ने सुमन गुर्जर के खिलाफ कार्रवाई करते हुए पार्टी उपाध्यक्ष पद से हटा दिया है। इसके बाद पार्टी से भी निष्कासित कर दिया है।

यह भी पढ़ें - 

कांग्रेस के बाद अब महबूबा मुफ्ती की पार्टी का बड़ा ऐलान, कहा- कश्मीर के ज्यादातर नेता...

चेन्नई कनेक्ट से भारत-चीन के संबंधों का नया अध्याय शुरु होगा : पीएम मोदी

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
कांग्रेस के बाद अब महबूबा मुफ्ती की पार्टी का बड़ा ऐलान, कहा- कश्मीर के ज्यादातर नेता...https://www.newstimes.co.in/news/82448/भारत/जम्मू-कश्मीर/congress-ke-bad-ab-mehbooba-mupti-ke-bada-elan902875Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1357<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019131032congresskeba1.JPG' alt='Images/13-10-2019131032congresskeba1.JPG' />पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी सरकार ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म कर ऐतिहासिक निर्णय लिया है। इस फैसले से पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान हैरान रह गए।

कांग्रेस के बाद अब महबूबा मुफ्ती की पार्टी का बड़ा ऐलान, कहा- कश्मीर के ज्यादातर नेता...

New Delhi. पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) सरकार ने जम्मू कश्मीर ( Jammu Kashmir) से अनुच्छेद 370 (Article 370) खत्म कर ऐतिहासिक निर्णय लिया है। इस फैसले से पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Prime Minister Imran Khan) हैरान रह गए। भारत में उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah), महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti), फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) जैसे दिग्गजों ने भी मोदी सरकार (Modi Government) के इस फैसले पर विरोध जताया। अब कश्मीर में बीडीसी चुनाव (BDC Election) को लेकर राजनीति शुरू हो चुकी है।

Images/13-10-2019131032congresskeba1.JPG

हाल ही में नेशनल कॉन्फ्रेंस (National Conference) और कांग्रेस पार्टी (Congress) ने कश्मीर में बीडीसी चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष जीए मीर ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि कश्मीर में राजनीतिक नेता नजरबंद हैं। चुनाव आयोग (Election Commission) को बीडीसी चुनाव (BDC Election) से पहले सभी राजनीतिक दलों से बात करनी चाहिए थी। उन्होंने आगे कहा कि जब नेता हिरासत में होते हैं तो राजनीतिक दल चुनाव में हिस्सा कैसे ले सकते हैं।"

पीडीपी ने चुनाव नहीं लड़ने का किया ऐलान

कांग्रेस और नेशनल कॉन्फ्रेंस (National Conference) की तर्ज पर अब जम्मू कश्मीर की राजनीतिक पार्टी पीडीपी (PDP) ने भी बड़ा ऐलान करते हुए बीडीसी चुनाव (BDC Election) में हिस्सा नहीं लेने का ऐलान किया है। पीडीपी प्रवक्ता फिरदौस टाक (Firdaus Tak) ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि कश्मीर के ज्यादातर नेता हिरासत में हैं। ऐसे में यह चुनाव नहीं लड़ा जा सकता है। जिन नेताओं को फैसला लेना है वो हिरासत में हैं।

यह भी पढ़ें -

Lucknow: फ्लाइट में बम की अफवाह से एयरपोर्ट पर मची अफरातफरी

पीएम मोदी की भतीजी से लूट करने वाला अपराधी गिरफ्तार, सामान भी बरामद

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
रेलवे में नौकरी का सुनहरा मौका, जल्द करें आवेदनhttps://www.newstimes.co.in/news/82447/भारत/Golden-job-opportunity-in-railway-apply-soon902874Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019124746Goldenjobopp1.JPG' alt='Images/13-10-2019124746Goldenjobopp1.JPG' />रेलवे में नौकरी की चाह रखने वाले अभ्यर्थियों के पास सुनहरा मौक है। रेलवे बोर्ड ने कई पदों पर आवेदन आमंत्रित किए हैं। आवेदन करने की योग्यता हाईस्कूल पास है। आपको बता दें कि नौकरी का यह मौका पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे दे रहा है।

रेलवे में नौकरी का सुनहरा मौका, जल्द करें आवेदन

Lucknow. रेलवे में नौकरी की चाह रखने वाले अभ्यर्थियों के पास सुनहरा मौका है। रेलवे बोर्ड ने कई पदों पर आवेदन आमंत्रित किए हैं। आवेदन करने की योग्यता हाईस्कूल पास है। आपको बता दें कि नौकरी का यह मौका पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे दे रहा है। एनएफआर ने भर्तियों के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। आवेदन की अंतिम तिथि 31 अक्तूबर निर्धारित है। कुल 2590 पदों पर होने जा रही भर्तियों के लिए कोई लिखित परीक्षा नहीं देनी होगी।

Images/13-10-2019124746Goldenjobopp1.JPG

बताते चलें कि पदा का नाम एक्ट अपरेंटिस है। 31 अक्तूबर की शाम 5 बजे तक अभ्यर्थी आवेदन कर सकेंगे। अभ्यर्थियों की आयु सीमा योग्यता न्यूनतम 15 और अधिकतम 24 वर्ष निर्धारित है। वहीं, शैक्षिक योग्यता की बात करें तो किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं कक्षा या इसके समकक्ष (10+2) में कुल 50% अंकों के साथ पास होना अनिवार्य है।

यह भी पढ़ें... पुण्‍यतिथि विशेष: प्रखर समाजवादी विचारक थे डॉ. राम मनोहर लोहिया, पढ़ें पूरा सफर

ध्यान रहे कि आवेदन निश्चित अवधि में करने पर ही मान्य होगा। अधिक जानकारी के लिए अभ्यर्थी अधिसूचना का अवलोकन जरूर करें। अभ्यर्थियों का चयन मेरिट के आधार पर किया जाएगा। अभ्यर्थी आवेदन कर तैयारी में अभी से जुट जाएं।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
CBSE बोर्ड परीक्षा में छात्रों को मिले गलत अंक, 70 शिक्षकों पर गिरी गाजhttps://www.newstimes.co.in/news/82446/भारत/CBSE-board-exams-get-wrong-marks-70-teachers-fall902873Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019122942CBSEboardexa1.jpg' alt='Images/13-10-2019122942CBSEboardexa1.jpg' />केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) के 2019 की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा में कई छात्रों को गलत अंक देने के मामले में 70 शिक्षकों पर गाज गिरी है। बोर्ड ने यह लापरवाही सामने आने के बाद कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए थे। बता दें कि यह गड़बड़ियां पटना स्थित क्षेत्रीय कार्यालय के अंतर्गत केंद्रों पर जांची गई कॉपियों में पाई गई थी।

CBSE बोर्ड परीक्षा में छात्रों को मिले गलत अंक, 70 शिक्षकों पर गिरी गाज

New Delhi. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) के 2019 की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा में कई छात्रों को गलत अंक देने के मामले में 70 शिक्षकों पर गाज गिरी है। बोर्ड ने यह लापरवाही सामने आने के बाद कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए थे। बता दें कि यह गड़बड़ियां पटना स्थित क्षेत्रीय कार्यालय के अंतर्गत केंद्रों पर जांची गई कॉपियों में पाई गई थी।

Images/13-10-2019122942CBSEboardexa1.jpg

क्षेत्रीय कार्यालय के तहत बिहार और झारखंड दो राज्य आते हैं। छात्रों को गलत अंक दिए जाने के मामले में जो भी शिक्षक संबंधित स्कूल से थे, उनको निलंबित करने का निर्देश सीबीएसई ने दिया है। खबरों के मुताबिक बोर्ड के एक अधिकारी ने यह कहा कि ऐसा पहली बार हुआ है, जब इतनी बड़ी संख्या में परीक्षकों पर कड़ी कार्रवाई की गई।

शिक्षकों को जहां भी वह स्कूलों में पढ़ा रहे, सभी को इस संबंध में नोटिस जारी कर दिया गया है। साथ ही यह भी कहा गया है कि लापरवाह शिक्षकों को 15 या 30 दिनों के लिए निलंबित करें। स्कूलों को नोटिस मिलने के 10 दिनों के भीतर यह कार्रवाई करनी होगी।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक बोर्ड के सूत्रों ने यह जानकारी दी कि छात्र-छात्राओं को जो गलत अंक मिले थे, उन्होंने पहले ही सुधार दिया गया था। बता दें कि कांपियों को चेक करने के बाद परीक्षकों ने अंक सॉफ्टवेयर के माध्यम से अपलोड करते हुए सीबीएसई के क्षेत्रीय कार्यालय को भेज दिया था।

यह भी पढ़ें... उपचुनाव: मायावती से हिसाब चुकता करने का अखिलेश ने बनाया ये मास्टर प्लान, BSP के नेताओं को...

परिणाम के पहले जब मुख्य परीक्षकों की टीम ने कांपियों को चेक किया तो 240 से ज्यादा कॉपियों में जो अंक मिले थे, गड़बड़ियां मिली। जिन कांपियों को जांचने में खामियां पाई गई वह अधिकत पटना की थीं। अच्छा स्कोर पाने की जगह छात्रों को कम अंक दे दिया गया था। दोबारा कांपियां चेक कर दसी दौरान उनमें सुधार कर लिया गया था।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
रिम्स में लालू से मिले अनिल कुमार, आरजेडी प्रमुख की तबीयत को लेकर कह दी ये बड़ी बातhttps://www.newstimes.co.in/news/82449/भारत/बिहार/पटना/Anil-Kumar-met-Lalu-Yadav-in-RIMS902876Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1509<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019131206AnilKumarmet1.jpg' alt='Images/13-10-2019131206AnilKumarmet1.jpg' />चारा घोटाले मामले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव से शनिवार को उनके चाहने वालों ने मुलाकात की। जिसमें अनिल कुमार का नाम भी शामिल रहा। अनिल कुमार ने आरजेडी प्रमुख से मिलकर उनका हाल-चाल जाना और उनके जल्‍द स्‍वस्‍थ होने की कामना की। वहीं, लालू से मिलने के बाद अनिल कुमार ने आरजेडी प्रमुख की तबीयत को लेकर जानकारी दी। 

रिम्स में लालू से मिले अनिल कुमार, आरजेडी प्रमुख की तबीयत को लेकर कह दी ये बड़ी बात

Ranchi. चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव से शनिवार को उनके चाहने वालों ने मुलाकात की। जिसमें अनिल कुमार का नाम भी शामिल रहा। अनिल कुमार ने आरजेडी प्रमुख से मिलकर उनका हाल-चाल जाना और उनके जल्‍द स्‍वस्‍थ होने की कामना की। वहीं, लालू से मिलने के बाद अनिल कुमार ने आरजेडी प्रमुख की तबीयत को लेकर जानकारी दी। 

Images/13-10-2019131206AnilKumarmet1.jpg

अनिल कुमार ने कहा कि लालू जी का स्वास्थ्य गिरा हुआ है। उनसे झारखंड में विधानसभा चुनाव के विषय में कोई बात नहीं हुई। यहां सिर्फ पारिवारिक बातें हुईं। उन्होंने कहा कि लालू कई बीमारियों से ग्रसित हैं। उन्होंने यहा भी कहा कि रांची में तेजस्‍वी यादव की अगुआई में 20 अक्‍टूबर को होने वाली जनाक्रोश रैली को लेकर विस्तार में चर्चा हुई। 

अनिल कुमार ने कहा कि लालू केवल नाम नहीं, बल्कि एक विचारधारा है। पिछले कई वर्षों से वह जेल में बंद हैं और हम जैसे युवा देश में उनकी बातों को लोगों के सामने रख रहे हैं। सत्य को परेशान किया जा सकता है लेकिन पराजित नहीं और हमें विश्वास है कि लालू यादव तमाम परेशानियों से विजयी होकर, हम लोगों के बीच होंगे।  

झारखंड में होने वाले चुनाव को लेकर उन्होंने बताया कि आरजेडी झारखंड की 81 में से 14 सीटों पर चुनाव लड़ेगा। उन्‍होंने कहा कि झारखंड में महागठबंधन के साथ विधानसभा चुनाव लड़ना तय है।

यह भी पढ़ें:-...सिर्फ हिंदुओं को ही नहीं पूरे समाज को संगठित करना है संघ का उद्देश्य: भागवत

बता दें कि हर शनिवार को लालू यादव से मुलाकाती दिन होता है जेल मैनुअल के मुताबिक हफ्ते में तीन लोग ही लालू से मुलाकात कर सकते हैं। शनिवार को लालू से मिलने पहुंचे जिन लोगों में आरजेडी के नेता रामबचन पांडे, गिरिडीह के जिला अध्यक्ष अनिल कुमार और प्रदेश युवा अध्यक्ष आरजेडी अनिल यादव का नाम रहा, लेकिन हैरान करने वाली बात यह है कि इसमें चौथा नाम जगदीश विधायक रामविशुन सिंह उर्फ लोहिया जी का नाम सामने आ रहा है।

उधर, चारों मुलाकाती लालू से मिलने का दावा पेश कर रहे हैं। जेल प्रशासन के तरफ से लालू की सुरक्षा में तैनात एसआई एम एस कीड़ो कहना है कि अनिल कुमार की लालू यादव से मुलाकात नहीं हो सकी। उन्हें अंदर जाने ही नहीं दिया गया, पहचान पत्र की जांच के बाद उन्हें वापस भेज दिया गया।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
सिर्फ हिंदुओं को ही नहीं पूरे समाज को संगठित करना है संघ का उद्देश्य: भागवतhttps://www.newstimes.co.in/news/82445/भारत/अन्य-राज्यों-से/Mohan-Bhagwat-said-that-the-purpose-of-the-Sangh-is-to-organize-not-only-Hindus-but-the-entire-society902872Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1509<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019120527MohanBhagwat1.jpg' alt='Images/13-10-2019120527MohanBhagwat1.jpg' />राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ओडिशा के नौ दिन के दौरे के लिए शनिवार को भुवनेश्वर पहुंचे। यहां पर भागवत ने आरएसएस की शीर्ष निर्णय निर्धारण संस्था अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक के मद्देनजर यहां बुद्धिजीवियों की सभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि संघ का उद्देश्य भारत में परिवर्तन के लिए सिर्फ हिंदुओं को नहीं पूरे समाज को संगठित करना है।

सिर्फ हिंदुओं को ही नहीं पूरे समाज को संगठित करना है संघ का उद्देश्य: भागवत

Bhubaneswar. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ओडिशा के नौ दिन के दौरे के लिए शनिवार को भुवनेश्वर पहुंचे। यहां पर भागवत ने आरएसएस की शीर्ष निर्णय निर्धारण संस्था अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक के मद्देनजर बुद्धिजीवियों की सभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि संघ का उद्देश्य भारत में परिवर्तन के लिए सिर्फ हिंदुओं को नहीं पूरे समाज को संगठित करना है। उन्होंने यह भी कहा कि समाज को एकजुट करना आवश्यक है और आरएसएस इस दिशा में काम कर रहा है।

Images/13-10-2019120527MohanBhagwat1.jpg

किसी के लिए कोई नफरत नहीं

भागवत ने कहा कि उनकी किसी के लिए कोई नफरत नहीं है। एक बेहतर समाज बनाने के लिए सबको एक साथ आगे बढ़ना चाहिए, जिससे देश में बदलाव ला सकें और देश के विकास में मदद कर सकें। उन्होंने कहा कि भाव, विचार और संस्कृति में विविधता के बावजूद भारत के लोग खुद को एक ही महसूस करते हैं।

उन्होंने यह भी कहा कि ये कहना गलत है कि हमारी उन्नति अंग्रेजों के वजह से हुई। क्लासलेस सोसायटी की स्थापना वेदों के आधार पर सकते है। उन्होंने कहा कि हिंदू कोई भाषा या प्रांत नहीं है, ये एक संस्कृति है जो भारत के लोगों की सांस्कृतिक विरासत है। 

 भारत में सबसे सुखी मुस्लिम

मोहन भागवत ने कहा कि एकता के इस अनूठे अहसास के कारण मुस्लिम, पारसी और अन्य जैसे धर्मों से संबंधित लोग देश में सुरक्षित महसूस करते हैं। उन्होंने कहा, 'पारसी भारत में काफी सुरक्षित हैं और मुस्लिम भी खुश हैं। उन्होंने कहा कि दुनिया में सबसे सुखी मुसलमान भारत में मिलेंगे क्योंकि हम हिंदू हैं। 

संघ प्रमुख ने कहा कि मारे-मारे यहूदी फिरते थे अकेले भारत है, जहां उन्हें आश्रय मिला। पारसी की पूजा और मूल धर्म सुरक्षित केवल भारत में है। उन्होंने कहा कि विश्व में सर्वाधिक सुखी मुसलमान, भारत में मिलेंगे। ये क्यों है? क्योंकि हम हिंदू हैं। 

यह भी पढ़ें:-...Lucknow: फ्लाइट में बम की अफवाह से एयरपोर्ट पर मची अफरातफरी

आरएसएस का उद्देश्य पूरे समाज को संगठित करना

भागवत ने कहा कि आरएसएस लक्ष्य सिर्फ हिंदू समुदाय को बदलना नहीं हैं, बल्कि देश में पूरे समाज को संगठित करना है और हिंदुस्तान को बेहतर भविष्य की ओर ले जाना है। उन्होंने कहा कि सबसे सही तरीका यह है कि अच्छा व्यक्ति तैयार किया जाए, जो समाज और देश को बदलने में अहम भूमिका निभा सके। 

संघ प्रमुख ने समाज में बदलाव को जरूरी बताया कहा कि 130 करोड़ लोगों को बदलना संभव नहीं है। इसके लिए अच्छे व्यक्ति तैयार करना जरूरी है, जो स्वच्छ चरित्र का हो और हर गली, हर कस्बे में नेतृत्व करने की क्षमता रखता हो। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
उपचुनाव: मायावती से हिसाब चुकता करने का अखिलेश ने बनाया ये मास्टर प्लान, BSP के नेताओं को...https://www.newstimes.co.in/news/82444/भारत/By-elections:-Akhilesh-made-a-master-plan-to-settle-accounts-with-Mayawati-disgruntled-BSP-leaders902871Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019105411By-elections2.jpg' alt='Images/13-10-2019105411By-elections2.jpg' />उपचुनाव के ऐलान होते ही सभी पार्टियां जोर-शोर से तैयारी में जुट गई हैं। वहीं समाजवादी पार्टी सुप्रीमो अखिलेश यादव ने भी कमर कस  ली है। वह लोकसभा चुनाव में मिले निराशाजनक प्रदशर्न के बाद उपचुनाव के सहारे बसपा से पूरा हिसाब चुकता करने की फिराक में हैं। अखिलेश यादव अच्छे से जानते हैं कि अगर 2022 में सपा का झंडा लहराना है तो उसे बसपा से आगे रहना ही होगा। 

उपचुनाव: मायावती से हिसाब चुकता करने का अखिलेश ने बनाया ये मास्टर प्लान, BSP के नेताओं को...

Lucknow. उपचुनाव के ऐलान होते ही सभी पार्टियां जोर-शोर से तैयारी में जुट गई हैं। वहीं समाजवादी पार्टी सुप्रीमो अखिलेश यादव ने भी कमर कस ली है। वह लोकसभा चुनाव में मिले निराशाजनक प्रदशर्न के बाद उपचुनाव के सहारे बसपा से पूरा हिसाब चुकता करने की फिराक में हैं। अखिलेश यादव अच्छे से जानते हैं कि अगर 2022 में सपा का झंडा लहराना है तो उसे बसपा से आगे रहना ही होगा। 

Images/13-10-2019105353By-elections1.jpg

वहीं सपा सुप्रीमो ने जातिगत समीरणों पर ध्यान देते हुए यह मास्टर प्लान बनाया और बीएसपी के असंतुष्ट पिछड़ों और मुस्लिमों को पार्टी में शामिल करना शुरू कर दिया। हाल ही में बीएसपी के प्रदेश अध्यक्ष रहे दयाराम पाल, मऊ के पूर्व जिलाध्यक्ष अशोक गौतम, हरिनाथ प्रसाद, पूर्व एमएलसी अतहर खान और जगदीश राजभर को अपनी पार्टी में शामिल कर अखिलेश यादव ने बसपा को बड़ा संदेश देने की कोशिश की है। 

यह भी पढ़ें... अखिलेश यादव बोले- पुलिस कर रही है अत्याचार, अन्याय के साथ सरकार

बताते चलें कि हमीरपुर सीट पर हुए उपचुनाव में सपा ने भाजपा को बराबर की टक्कर दी थी वहीं सपा के परिणाम भी राहत देने वाले थे। सपा ने भले ही इस सीट पर जीत हासिल नहीं की, लेकिन 2017 में हासिल वोटों की तुलना मे  इस बार वोटों की संख्या ज्यादा पाई गई है। पहली बार उपचुनाव में उतरी बसपा को तीसरे पायदान पर पहुंचाने में सपा कामयाब रही। बसपा का फार्मूला हमेशा से दलित-मुस्लिम रहा जो इस बार काम नहीं आया। वहीं सपा ने इसे अपने लिए एक अच्छा इशारा माना है। 

   बूथ मैनेंजमेंट संभाल रहे अखिलेश

उपचुनाव में जातिगत समाकरणों को ध्यान में रखते हुए सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने खुद ही बूथ मैनेंटमेंट सम्भालने का जिम्मा लिया है। इसी कारण उन्होंने संगठन की घोषणा अभी टाल दी है। वह उपचुनाव से पहले किसी तरह को कोई रिस्क नहीं लेना चाहते हैं। 

मीडिया में छपी एक खबर के मुताबिक समाजवादी पार्टी के एक नेता ने कहा, जहां उपचुनाव हो रहे हैं, वहां पार्टी ने बसपा से असंतुष्ट नेताओं को अपने खेमे में शामिल करने को कहा है। साथ ही बसपा की सोशल इंजीनियरिंग को फेल करने पर भी नजर बनाए हुए हैं। 

Images/13-10-2019105411By-elections2.jpg

उन्होंने कहा, “उपचुनाव के परिणाम संगठन के पुनर्गठन में काफी निर्णायक होंगे। यहां पर अच्छा प्रदर्शन करने वाले लोगों को ही पार्टी में जगह मिलेगी, इसलिए यह चुनाव हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इन्हीं चुनाव के माध्यम से हमारा 2022 का रास्ता तय होगा।”

वरिष्ठ राजनीतिक विश्लेषक रतममणि लाल ने कहा, “समाजवादी पार्टी के अंदर इस बात पर तल्खी देखने को मिलती है। बसपा के साथ समझौते से उन्हें अपेक्षाकृत लाभ नहीं हुआ, इसीलिए वह बीएसपी को कमजोर करने का प्रयास करेंगे। अखिलेश यादव सोच रहे थे कि लोकसभा चुनाव में गठबंधन से फायदा समाजवादी पार्टी को होगा। लेकिन ऐसा हुआ नहीं है। अखिलेश यादव अपने पिछड़े वोट को बीजेपी में जाने से नहीं रोक पाए।”

उन्होंने कहा, “अखिलेश के सलाहकारों ने शायद उन्हें यह सलाह दी हो कि समाजवादी पार्टी के जो लोग बीएसपी में हैं, उन्हें पहले अपने पाले में लाया जाए। साथ ही बीएसपी के उन असंतुष्ट लोगों को भी पार्टी में शमिल कराएं, जिनके दम पर बीएसपी कभी राजनीतिक रूप से मजबूत थी। इसी कारण अखिलेश बीएसपी के मजबूत वोटबैंक को अपने पक्ष में करना चाहते हैं। समाजवादी पार्टी और बीएसपी को उन्हीं की हथियार से कमजोर करने का प्रयास कर रही है।”

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
चाइना-इंडिया राउंड टेबल मीट में शोकेस होगी भारतीय किताब 'शिफ़्टिंग गोल पोस्ट'https://www.newstimes.co.in/news/82438/भारत/उत्तर-प्रदेश-/Indian-book-Shifting-Goal-Post-to-be-showcased-at-China-India-Round-Table-Meet902865Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1357<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019195420IndianbookSh3.jpeg' alt='Images/12-10-2019195420IndianbookSh3.jpeg' />हार्वर्ड और कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में कवर शो के बाद "शिफ्टिंग गोल पोस्ट" पुस्तक अगले बड़े मुकाम पर पहुंच गयी है। अब यह पुस्तक पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना के युन्नान प्रांत का दौरा करने वाले 12 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा होगी।

चाइना-इंडिया राउंड टेबल मीट में शोकेस होगी भारतीय किताब 'शिफ़्टिंग गोल पोस्ट'

Lucknow. हार्वर्ड (Harvard University) और कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी (Cambridge University) में कवर शो के बाद "शिफ्टिंग गोल पोस्ट" (Shifting Goal Post) पुस्तक अगले बड़े मुकाम पर पहुंच गयी है। अब यह पुस्तक पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना (People's Republic of China) के युन्नान प्रांत का दौरा करने वाले 12 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा होगी। राजधानी लखनऊ के प्रतीक मंगल (Pratik Mangal) और तेजस्विनी सिंह (Tejaswini Singh) द्वारा लिखित इस भारतीय किताब "शिफ्टिंग गोल पोस्ट" को लेकर चीन-भारत राउंड टेबल मीट, कई उच्च शैक्षिक संस्थानों और उत्कृष्टता केंद्रों पर चर्चा की जाएगी। इसके साथ ही कई अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रमों का हिस्सा रहेगी।

Images/12-10-2019195410IndianbookSh1.jpeg

प्रतीक मंगल 11 अक्टूबर से 18 अक्टूबर तक चलने वाले इस 7 दिवसीय दौरे में 12 अक्टूबर को चाइना-इंडिया राउंड टेबल मीटिंग (China-India Round Table Meet) में हिस्सा लेंगे। वहीं, 14 अक्तूबर को चाइना के टॉप "डाली यूनीवार्सिटी" में शिफ़्टिंग गोल पोस्ट किताब की परिचर्चा होगी, जिसके बाद 16 अक्टूबर को यूनान के "क्रीएटिव इंटरप्राइजेज व इनवयारमेंट प्रोटेक्शन आर्गनाईजेशन" (Creative Enterprises and Environment Protection Organization) व यूनान नोर्मल यूनिवर्सिटी (Yunnan Normal University) के मुख्य कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे।

Images/12-10-2019195417IndianbookSh2.jpeg

बता दें कि प्रतीक मंगल क्लाइमेट चेंज (Climate Change) का अध्ययन करने वाले एक रिसर्च स्कॉलर (Research Scholar) भी हैं। उन्होंने अब तक दो पुस्तकों और कई पुस्तक अध्यायों और शोध पत्रों को लिखा है। साथ ही एसएसआर मैनेजमेंट के संस्थापक प्रतीक मंगल सेवानिवृत्त पी.सी.एस. अधिकारी राजमंगल (Ex. PCS Officer Rajmangal) व बनकटा ब्लाक की ब्लॉक प्रमुख बिमला रंजन (Block Head Bimla Ranjan) के पुत्र हैं। 

Images/12-10-2019195420IndianbookSh3.jpeg

वहीं तेजस्विनी सिंह (जन्म 13 दिसंबर 1989) नेचुरोपैथ होने के साथ ही ऑर्गेनिक ग्रीन्स एंड बोटानिकल नेचुरोपैथी (Organic Greens and Botanical Naturopathy) कम्पनी की फ़ाउंडर भी हैं। लेखन व पत्रकारिता में भी सजग तेजस्विनी सिंह साल 2018 में मिसेज इंडिया इंटरनेशनल सिंगापुर (Mrs India International Singapore) , मिसेज़ ग्लोबल वर्ल्ड साउथ अफ़्रीका-2018 (Mrs Global World South Africa-2018) ख़िताब जीतने के साथ ही कई बड़े सम्मान भी हासिल कर चुकी हैं। तेजस्विनी अब तक 500 से अधिक हर्बल उत्पाद स्वयं बना चुकी हैं। पत्रकारिता व लेखन में सजग तेजस्विनी सिंह "शिफ्टिंग गोल पोस्ट: टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट ट्रेंड्स" चैप्टर "ट्रेंड चेंज फ़्रेम केमीकल टू सेंथेटिक पर्सनल केयर प्रोडक्ट" लिखी है।

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
श्रीनगर के लालचौक के पास आतंकियों ने फेंका ग्रेनेड, सात घायलhttps://www.newstimes.co.in/news/82435/भारत/जम्मू-कश्मीर/Militants-hurled-grenade-near-Lal-Chowk-in-Srinagar902862Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019174908Militantshurl1.JPG' alt='Images/12-10-2019174908Militantshurl1.JPG' />जम्मू कश्मीर के श्रीनगर में लालचौक के हरिसिंह स्ट्रीट के पास आतंकियों ने ग्रेनेड से हमला किया है, जिसमें करीब सात लोग घायल हो गए हैं। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

श्रीनगर के लालचौक के पास आतंकियों ने फेंका ग्रेनेड, सात घायल

New Delhi. जम्मू कश्मीर के श्रीनगर में लालचौक के हरिसिंह स्ट्रीट के पास आतंकियों ने ग्रेनेड से हमला किया है, जिसमें करीब सात लोग घायल हो गए हैं। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं, सुरक्षाबलों ने आतंकियों की तलाश में सर्च अभियान शुरू कर दिया है। 

Images/12-10-2019174908Militantshurl1.JPG

जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 के हटने के बाद से सुरक्षा और चाक चौबंद कर दी गई थी। इसके बावजूद आतंकियों ने श्रीनगर चैक के पास ग्रेनेड अटैक किया है। इस हमले में सात लोग घायल हो गए हैं। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं, सुरक्षाबलों ने आतंकियों की तलाश के लिए पूरे इलाके की घेराबंदी शुरू कर दी है। वहीं, घटना स्थल पर जम्मू कश्मीर पुलिस के साथ ही सुरक्षाबलों को तैनात कर दिया गया है। 

बता दें कि इससे पहले कश्मीर के अनंतनाग में आतंकियों ने ग्रेनेड अटैक किया था, जिसमें ट्रैफिक पुलिसकर्मी और एक पत्रकार सहित 14 लोग घायल हो गए थे।

यह भी पढ़ें - 

अंडरवर्ल्ड नेटवर्क पर ईडी ने कसी नकेल, दाउद के करीबी इकबाल मिर्ची के दो सहयोगी गिरफ्तार

सरकार का ऐलान, जम्मू कश्मीर में सोमवार से शुरू हो जाएंगी मोबाइल फोन सेवाएं

बीजेपी के बागी नेता को कांग्रेस ने सौंपी दिल्ली की कमान, ये है वजह

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
लविवि के खाते से एक करोड़ रुपये निकालने वाले तीन जालसाज गिरफ्तार, मास्टरमाइंड को लेकर पुलिस अभी भी खाली हाथhttps://www.newstimes.co.in/news/82434/भारत/उत्तर-प्रदेश-/lucknow-university-farji-checq-se-paise-ka-lenden-mamla-902861Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTNP863<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019172417lucknowuniver1.jpg' alt='Images/12-10-2019172417lucknowuniver1.jpg' />लखनऊ विश्विद्यालय की परीक्षा निधि खाते से फर्जी चेक के जरिए 1 करोड़ 9 लाख 82 हजार 935 रुपये का गबन करने में संलिप्त 3 जालसाजों को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है। विवि कुलसचिव एक के शुक्ल की तहरीर पर इन जालसाजों के खिलाफ यह कार्रवाई हुई है वहीं मामले में अन्य लोगों की तलाश अभी भी जारी है। 

लविवि के खाते से एक करोड़ रुपये निकालने वाले तीन जालसाज गिरफ्तार, मास्टरमाइंड को लेकर पुलिस अभी भी खाली हाथ

Lucknow. लखनऊ विश्विद्यालय की परीक्षा निधि खाते से फर्जी चेक के जरिए 1 करोड़ 9 लाख 82 हजार 935 रुपये का गबन करने में संलिप्त 3 जालसाजों को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है। विवि कुलसचिव एक के शुक्ल की तहरीर पर इन जालसाजों के खिलाफ यह कार्रवाई हुई है। वहीं मामले में अन्य लोगों की तलाश अभी भी जारी है। 

Images/12-10-2019172417lucknowuniver1.jpg

गौरतलब है कि विवि के खाते से 11 क्लोन चेक के माध्यम से यह गबन किया गया था। 11 चेकों में से 5 चेक के द्वारा मैसर्स दिव्या इलेक्ट्रीकल्स फर्म 4993524 रुपये और 4 चेक द्वारा मैसर्स शाह एजेंसी, मैसर्स विश्वकर्मा एजेंसी और मैसर्स मीना एण्ड सन्स से 3991731 रुपये निकाले गये थे। हालांकि क्लोन 11 चेक में से अभी तक 9 का ही पता लग सका है। जिस पर पुलिस ने सुशील कुमार यादव निवासी नई दिल्ली, रोनित गुप्ता निवासी पटना, अमरेंद्र कुमार निवासी पटना को गिरफ्तार किया है।

सुशील कुमार द्वारा बताया गया कि दिल्ली में उसकी मुलाकात पंकज जैन नाम के एक शख्स से हुई। जिसने 10 फीसदी का लालच देकर पैसे खाते में मंगवाने की बात कही। जबकि बिहार निवासी अमरेंद्र ने बताया कि वह पेशे से टैक्सी चालक है जिसकी मुलाकात मानस नाम के एक शख्स से हुई, जिसने भी पैसे का लालच देकर खाते में राशि मंगवाने की बात कहीं। अमरेंद्र के खाते में 19 लाख 94 हजार 805 रुपये मंगवाए गये जिस पर उसे 5 फीसदी का कमीशन दिया गया। 

मामले में जिन खातों से पैसा निकाला गया पुलिस ने फिलहाल उनको गिरफ्तार कर लिया है और मैसर्स विश्वकर्मा एजेंसी और मैसर्स मीना एण्ड संस के मालिकों की गिरफ्तारी के लिए टीम रवाना की गयी है। हालांकि अभी मामले में मास्टरमाइंड पंकज जैन और मानस को लेकर पुलिस पूरी तरह से खाली हाथ हैं। वह कहां रहते हैं कौन है इस बारे में कोई भी जानकारी अभी तक किसी के भी पास नहीं है।

वहीं इस घटना में बैंक के या विश्वविद्यालय के कौन लोग संलिप्त है, इसको लेकर भी पुलिस के पास फिलहाल अभी तक कोई जवाब नहीं है। हालांकि सर्विलांस और तमाम अन्य तरह से सामने आए संदिग्धों की धरपकड़ के लिए बिहार, दिल्ली, हरियाणा, मध्यप्रदेश में टीमों द्वारा दबिश दी जा रही है। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
नाव डूबने से चार लोगों की मौत, 14 लोगों को सुरक्षित बाहर निकालाhttps://www.newstimes.co.in/news/82432/भारत/उत्तर-प्रदेश-/Four-dead-in-boat-sinking-14-evacuated902859Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019170908Fourdeadinb1.JPG' alt='Images/12-10-2019170908Fourdeadinb1.JPG' />प्रदेश के संतकबीरनगर के घनघटा थाना क्षेत्र में सरयू नदी में एक नाव डूबने से चार लोग लापता हो गये है, उनकी तलाश की ला रही है। वहीं, 14 लोगों को सुरक्षित बचा लिया लिया है। इस घटना के बाद से हड़कम्प मच गया है।

नाव डूबने से चार लोगों की मौत, 14 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला

Lucknow. प्रदेश के संतकबीरनगर के घनघटा थाना क्षेत्र में सरयू नदी में एक नाव डूबने से चार लोग लापता हो गये है, उनकी तलाश की ला रही है। वहीं, 14 लोगों को सुरक्षित बचा लिया लिया है। इस घटना के बाद से हड़कम्प मच गया है।

Images/12-10-2019170908Fourdeadinb1.JPG

संतकबीरनगर के चपरा पूर्वी गांव से 18 लोग नाव पर सवार होकर माझा क्षेत्र जा रहे थे, लेकिन बीच धारा में नाव डूब गई, जिससे कोहराम मच गया। बताया जा रहा है कि चार लोग लापता हो गए है, जिनकी तलाश की जा रही है। वहीं, 14 लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया है। लापता हुए लोगों की तलाश के स्थानीय गोताखोंरों के साथ ही एनडीआरएफ की टीम मेें लगाई गई है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
छिपी हुई कला को बाहर निकालने की जरूरत : मोहन मावाhttps://www.newstimes.co.in/news/82436/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Art-is-the-medium-of-expression-—-Mohan-Mawa902863Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1181<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019185107Artisthemed2.jpg' alt='Images/12-10-2019185107Artisthemed2.jpg' />कला अभिव्यक्ति का माध्यम है। मानव काल के समय से ही कला की शुरुआत हो गयी थी। हमारी सभ्यता चित्रकला शैली पर आधारित है।

छिपी हुई कला को बाहर निकालने की जरूरत : मोहन मावा

LUCKNOW. कला अभिव्यक्ति का माध्यम है। मानव काल के समय से ही कला की शुरुआत हो गयी थी। हमारी सभ्यता चित्रकला शैली पर आधारित है। यह विचार यूनाइट फाउन्डेशन की ओर से आयोजित कार्यक्रम यूनाइट मंथन में बतौर मुख्य वक्ता मोहन मावा, सहायक प्रोफेसर, फाइन आर्ट व्यक्त कर रहे थे।

Images/12-10-2019185158Artisthemed3.jpg

उन्होंने कहा कि मैं नौकरी नहीं करना चाहता था, लेकिन मुझे ऐसे कलाकार नहीं मिल रहे थे जो समाज में नई सोच के साथ हमारी कला को नया रूप रंग दे सकें। उन्होंने कहा कि 100 कविताओं पर आधारित एक पेंटिंग बनाने का काम काम मिला, जिसके लिए उनको छात्र अथवा कलाकार नहीं मिल रहे थे, जो उनके लिए सबसे बड़ी चुनौती थी। उसी चुनौती के बाद छात्रों का चयन करने के उद्देश्य एक कालेज में नौकरी की। उन्होंने कहा कि जमीनी स्तर पर कलाकारों के लिए अपनी कला को किस मंच पर किस समय दिखाना है, इसी का ज्ञान नहीं है। 

श्री मावा ने कहा कि जो चीज आम इंसान की सोच से जुड़ेगी, वह सबसे लोकप्रिय होगी। उन्होंने कहा कि एक प्रदर्शनी में कई तरह की पेंटिंग का प्रदर्शन किया गया, लेकिन सबसे अधिक व्यूज भैया दूज की पेंटिंग पर आए, जितने सारी पेंटिंग पर नहीं आए। लोग कहते हैं कि कला में पैसे नहीं मिलते, लेकिन कलाकार को अपनी कला को कहां प्रयोग करना है, उसे नहीं पता होता है। उन्होंने कहा कि कालेजों में आर्ट की पढ़ाई पुराने जमाने के हिसाब से चल रही है, जिसकी आज आवश्यकता नहीं रह गयी है। संस्कृत में जो आर्ट छिपी है, उसे बाहर निकालने का प्रयास कर रहे हैं। उस ​छिपी हुई आर्ट को बाहर निकालना जरूरी है। 

Images/12-10-2019185014Artisthemed1.jpg

इससे पूर्व कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए यूनाइट फाउण्डेशन के अध्यक्ष डॉ. पी.के. त्रिपाठी ने कहा कि समाज में जन्म से मृत्यु तक हर मनुष्य की गतिविधि एक कला है। कला को आगे बढ़ाने के लिए मंच की आवश्यकता होती है। अधिवक्ता योगेश मिश्र ने कहा कि काल को बांटा नहीं जा सकता है, लेकिन समय और पढ़ाई के लिए लोगों ने इसे बांट दिया।

Images/12-10-2019185107Artisthemed2.jpg

अरूणेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि कला के रूप में हर बच्चे में टैलेन्ट होता है। कृष्ण प्रकाश ने कहा कि प्राचीन कला सभ्यता का पतन हो रहा है। भाषा, कला, संस्कृत से ही मनुष्य को आगे बढ़ने में मदद मिलती है। डा. मधुसूदन पाराशर ने कहा कि कला के नाम पर समाज में अश्लीलता और संगीत के नाम पर शोर परोसा जा रहा है। डा. उमाशंकर और हास्य योगी शिवाराम मिश्र ने भी अपने विचार रखे। कार्यक्रम का संचालन यूनाइट फाउण्डेशन के उपाध्यक्ष राधेश्याम दीक्षित ​ने किया।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
हॉलीवुड के मशहूर एक्टर रॉबर्ट फॉर्सटर का 78 वर्ष की आयु में निधनhttps://www.newstimes.co.in/news/82431/अन्तर्राष्ट्रीय/Hollywood-s-famous-actor-Robert-Forster-died-at-age-78902858Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019160050Hollywoodsfa1.JPG' alt='Images/12-10-2019160050Hollywoodsfa1.JPG' />ऑस्कर अवॉर्ड के नॉमिनेशन लिस्ट में अपना नाम दर्ज कराने वाले हॉलीवुड के मशहूर एक्टर रॉबर्ट फॉर्सटर का 78 वर्ष की आयु में निधन हो गया। मीडिया खबरों के अनुसार रॉबर्ट कुछ समय से ब्रेन कैंसर से ग्रसित थे। उन्होंने लॉस एंजिलिस स्थित अपने घर पर अंतिम सांस ली। 

हॉलीवुड के मशहूर एक्टर रॉबर्ट फॉर्सटर का 78 वर्ष की आयु में निधन

Los Angeles. ऑस्कर अवॉर्ड के नॉमिनेशन लिस्ट में अपना नाम दर्ज कराने वाले हॉलीवुड के मशहूर एक्टर रॉबर्ट फॉर्सटर का 78 वर्ष की आयु में निधन हो गया। मीडिया खबरों के अनुसार रॉबर्ट कुछ समय से ब्रेन कैंसर से ग्रसित थे। उन्होंने लॉस एंजिलिस स्थित अपने घर पर अंतिम सांस ली। 

Images/12-10-2019155658Hollywoodsfa1.jpg

'द अकादमी' ने अपने ट्विटर हैंडल पर ट्वीट कर एक्टर अभिनेता को श्रद्धांजलि दी है। उन्होंने लिखा- छह दशक में 100 से अधिक फिल्मों में विपुल प्रतिभा, गर्मजोशी के साथ रॉबर्ट फोर्स्टर ने काम किया है। 

Images/12-10-2019160050Hollywoodsfa1.JPG

यह भी पढ़ें... उपचुनाव: मायावती ने दिग्गज नेता को दिया ऐसा सबक, पार्टी में मचा भूचाल

साल 1998 में उन्होंने "जैकी ब्राउन" में अपने अभिनय के लिए ऑस्कर में नामांकन हासिल किया। धन्यवाद, रॉबर्ट, उन सभी चीजों के लिए जो आपने हमें दिया है। सोशल मीडिया पर जैकी ब्राउन के इस दिग्गज कलाकार के निधन पर शोक जताया जा रहा है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
दिल्ली: अलका लांबा की कांग्रेस में वापसी, ट्वीट करके जाहिर की खुशीhttps://www.newstimes.co.in/news/82429/भारत/दिल्ली/Alka-Lamba-returns-to-Congress902856Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019153817AlkaLambaret1.jpg' alt='Images/12-10-2019153817AlkaLambaret1.jpg' />आम आदमी पार्टी (आप) को अलविदा कहने के करीब एक महीने बाद शनिवार को पूर्व विधायक अलका लांबा ने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर ली है। अलका लांबा को दिल्ली कांग्रेस प्रभारी पीसी चाको ने पार्टी की सदस्यता दिलाई। पूर्व विधायक शुक्रवार को कांग्रेस में शामिल होने वाली थीं लेकिन कुछ कारणों के चलते कार्यक्रम को तलना पड़ा था। 

दिल्ली: अलका लांबा की कांग्रेस में वापसी, ट्वीट करके जाहिर की खुशी

New Delhi. आम आदमी पार्टी (आप) को अलविदा कहने के करीब एक महीने बाद शनिवार को पूर्व विधायक अलका लांबा ने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर ली है। अलका लांबा को दिल्ली कांग्रेस प्रभारी पीसी चाको ने पार्टी की सदस्यता दिलाई। पूर्व विधायक शुक्रवार को कांग्रेस में शामिल होने वाली थीं, लेकिन कुछ कारणों के चलते कार्यक्रम को टालना पड़ा था। 

Images/12-10-2019153817AlkaLambaret1.jpg

कांग्रेस में शामिल होने के बाद अलका लांबा ने ट्वीट करके कहा कि आज कांग्रेस मुख्यालय 24 अकबर रोड पहुंचकर दिल्ली कांग्रेस के प्रभारीपीसी चाको, ज़िला चांदनी चौक अध्यक्ष उस्मान, जिला आदर्श नगर अध्यक्ष जिंदल व अन्य नेताओं की उपस्थिति में काँग्रेस की सदस्यता ग्रहण की। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सदस्य बनने पर गर्व मेहसूस कर रही हैं। 

यह भी पढ़ें:-...बीजेपी के बागी नेता को कांग्रेस ने सौंपी दिल्ली की कमान, ये है वजह

गौरतलब है कि अलका लांबा काफी समय से 'आप' के खिलाफ बागी तेवर अपनाए हुए थीं। अगस्त की शुरुआत में अलका ने कहा था कि उन्होंने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने का फैसला किया है और वह एक स्वतंत्र उम्मीदवार के तौर पर आगामी विधानसभा चुनाव लड़ेंगी। वहीं, आप छोड़ने के बाद दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल ने चांदनी चौक से विधायक अलका लांबा की सदस्यता रद्द कर दी थी। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
विश्व गठिया दिवस : गठिया रोग को झोलाछाप की गोलियां और चूर्ण बना रहे जटिल https://www.newstimes.co.in/news/82430/भारत/उत्तर-प्रदेश-/World-Arthritis-Day-Special:-Gauze-pills-and-powder-are-complicating-arthritis-disease902857Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTDEEPAK MISHRA<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019153915WorldArthriti1.jpg' alt='Images/12-10-2019153915WorldArthriti1.jpg' />गठिया रोग (आर्थराइटिस) बुजुर्गो की आम बीमारी है

विश्व गठिया दिवस : गठिया रोग को झोलाछाप की गोलियां और चूर्ण बना रहे जटिल

Lucknow: गठिया रोग (आर्थराइटिस) बुजुर्गो की आम बीमारी है। इस बीमारी के मरीजों की संख्या दिनोंंदिन बढ़ती जा रही है। इस असाध्य रोग के बहुत से मरीज अक्सर नीम-हकीमों पर भरोसा कर लेते हैं। गठिया रोग को झोलाछाप चिकित्सकों के चूर्ण और गोलियां रोग को और जटिल कर देती हैं।

Images/12-10-2019154057WorldArthriti2.jpg

किंग जॉर्ज मेडिकल कालेज के अस्थिरोग विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. धर्मेद्र कुमार का कहना है कि आर्थराइटिस गंभीर बीमारी है। इस समय देश की पूरी जनसंख्या में से करीब 15 प्रतिशत लोग गठिया की चपेट में हैं। एक अध्ययन में पाया गया है कि देश में आर्थराइटिस से जुड़े मरीजों की संख्या बहुत बढ़ रही है। भारत में लगभग 18 करोड़ लोग इस बीमारी से पीड़ित हैं।

उन्होंने कहा, "बदलते परिवेश में यह बीमारी युवाओं को भी अपनी चपेट में ज्यादा ले रही है। हमारे यहां ओपीडी में 25-30 साल के मरीज भी आते हैं। उन्हें देखकर लगता है कि रुमेटॉएड आर्थराइटिस युवाओं में भी बढ़ रहा है।"

डॉ. कुमार ने कहा, "यह रोग किसी एक कारण से नहीं होता। विटामिन डी की कमी से मरीज की अंगुलियों, घुटने, गर्दन, कोहनी के जोड़ों में दर्द की शिकायत होने लगी है। इस बीमारी पर काबू पाने के लिए फिजियोथेरेपी और एक्सरसाइज रोजाना करना चाहिए। जंक फूड से परहेज जरूरी है।"

उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में लोग झोलाछाप डॉक्टरों की गोलियों पर विश्वास करने लगते हैं। कुछ दिन राहत देने के बाद ऐसी गोलियां और चूर्ण सबसे नुकसानदेह साबित होते हैं। उनमें स्वाइड मिली होती है। यह बहुत दिनों तक लेने से शरीर को नुकसान पहुंचाती है। इससे कूल्हा गल सकता है। हड्डियां कमजोर हो सकती हैं। फ्रैक्चर होने का खतरा भी बढ़ जाता है।

डॉ. कुमार ने बताया कि पुरुषों की अपेक्षा महिलाएं आर्थराइटिस की चपेट में ज्यादा आती हैं। खानपान में परहेज न करना इसका मुख्य कारण है।

गणेश शंकर विद्यार्थी मेडिकल कॉलेज के प्रचार्य रह चुके डॉ.आनंद पिछले 25 वर्षो से घुटना रक्षित तकनीक पर कार्य कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि शरीर में गठिया पैदा न हो, इसके लिए नियमित व्यायाम करना और संतुलित भोजन लेना चाहिए, क्योंकि शरीर में गठिया एक बार विकसित हो जाता है तो इससे कई और तरह की बीमारियां पैदा हो जाती हैं।

उन्होंने कहा कि गठिया से पहले जोड़ों में दर्द शुरू हो जाता है, फिर यह अपने विकराल रूप में आते-आते उठने-बैठने और चलने-फिरने में परेशानी पैदा करने लगता है। शरीर का वजन भी बढ़ने लगता है। मोटापे से जहां हाइपरटेंशन, हार्ट फेलियर, अस्थमा, कोलेस्ट्राल, बांझपन समेत 53 तरह की बीमारियां पैदा हो जाती हैं, वहीं शरीर में गठिया के बने रहने से रक्तचाप और मधुमेह जैसी गंभीर बीमारियों का इलाज और मुश्किल हो जाता है।

Images/12-10-2019153915WorldArthriti1.jpg

क्यों होता है गठिया?

डॉ.आनंद ने बताया कि गठिया को आर्थराइटिस या संधिवात कहते हैं। यह 100 से भी ज्यादा प्रकार का होता है। गठिया रोग मूलत: प्यूरिन नामक प्रोटीन के मेटाबोलिज्म की विकृति से होता है। खून में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है। व्यक्ति जब कुछ देर के लिए बैठता या फिर सोता है तो यही यूरिक एसिड जोड़ों में इकठ्ठा हो जाते हैं, जो अचानक चलने या उठने में तकलीफ देते हैं।

उन्होंने कहा कि शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा अत्यधिक बढ़ जाने पर यह गठिया का रूप ले लेता है। ध्यान न देने पर घुटना, कूल्हा आदि इंप्लांट करने की भी नौबत आ जाती है। हालांकि घुटना रक्षित तकनीक से लंबे समय तक घुटने के दर्द से बचा जा सकता है। घुटना अधिक खराब होने पर घुटना रक्षित शल्य (नी प्रिजरवेटिव सर्जरी) के जरिए 10 से 15 वर्ष के लिए घुटना प्रत्यारोपण से बचा जा सकता है।

डॉ.आनंद की सलाह है :

-यदि आपके जोड़ों में जरा सा भी दर्द, शरीर में हल्की अकड़न है तो भी सबसे पहले किसी डॉक्टर को दिखाएं।

-कोशिश करें कि दिनचर्या नियमित रहे।

-डॉक्टर की सलाह पर नियमित व्यायाम करें।

-नियमित टहलें, घूमें-फिरें, व्यायाम एवं मालिश करें।

-सीढ़ियां चढ़ते समय, घूमने-फिरने जाते समय छड़ी का प्रयोग करें।

-ठंडी हवा, नमी वाले स्थान व ठंडे पानी के संपर्क में न रहें।

-घुटने के दर्द में पालथी मारकर न बैठें।

(एजेंसी)

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
अखिलेश यादव बोले- पुलिस कर रही है अत्याचार, अन्याय के साथ सरकारhttps://www.newstimes.co.in/news/82427/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Akhilesh-Yadav-targeted-the-Yogi-government-on-the-birth-anniversary-of-Ram-Manohar-Lohia902854Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019151350AkhileshYadav1.PNG' alt='Images/12-10-2019151350AkhileshYadav1.PNG' />समाजवादी चिंतक डॉ राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि के मौके पर शनिवार को पूर्व सीएम और सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव गोमतीनगर स्थित लोहिया पार्क पहुंचे। यहां पर डॉक्टर राम मनोहर लोहिया की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद अखिलेश मीडिया से मुखातिब हुए। इस दौरान सपा अध्यक्ष ने प्रदेश की योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा। 

अखिलेश यादव बोले- पुलिस कर रही है अत्याचार, अन्याय के साथ सरकार

Lucknow. समाजवादी चिंतक डॉ राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि के मौके पर शनिवार को पूर्व सीएम और सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव गोमतीनगर स्थित लोहिया पार्क पहुंचे। यहां पर डॉक्टर राम मनोहर लोहिया की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद अखिलेश मीडिया से मुखातिब हुए। इस दौरान सपा अध्यक्ष ने प्रदेश की योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा। 

Images/12-10-2019151350AkhileshYadav1.PNG

पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में कोई भी सुरक्षित नहीं है, किसी की भी कहीं हत्या हो सकती है। उन्होंने कहा कि कहीं पर पुलिस हत्या कर रही है, तो कहीं लूट के बहाने हत्या हो जा रही है या फिर पीट-पीटकर मार डाला जा रहा है। लोगों को अपनी सुरक्षा के लिए खुद ही सजग रहना होगा। 

विवेक तिवारी हत्याकांड और झांसी में पुष्पेंद्र यादव को लेकर सरकार और यूपी पुलिस पर निशाना साधते हुए अखिलेश ने कहा कि यूपी पुलिस अत्याचार कर रही है और सरकार अन्याय के साथ खड़ी है। 

यह भी पढ़ें:-...डॉ राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि पर हमलावर हुए अखिलेश, मायावती तो दिया एक और बड़ा झटका

सीएम योगी पर अखिलेश ने साधा निशाना

वहीं, गोरखपुर के जेल में कैदियों और पुलिसकर्मियों झड़प को लेकर अखिलेश ने सीएम योगी पर निशाना साधा। अखिलेश ने कहा कि गोरख्पुर में जेल में कैदियों और पुलिसकर्मियों के बीच जबरदस्त मारपीट हुई उस वक्त सीएम नवरात्र में रुके थे और उनको पता ही नहीं कि वहां आठ घंटे मार-पिटाई चलती रही। 

सपा अध्यक्ष ने कहा कि आज किसान और नौजवान परेशान है। बेरोजगारी लगातार बढ़ती जा रही है और महंगाई से आम जनता त्रस्त है। उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति में गांधीजी, डॉक्टर लोहिया और डॉक्टर अंबेडकर के बताए रास्ते और सिद्धांतों पर चलकर समाज में खुशहाली लाई जा सकती है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
डॉ राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि पर हमलावर हुए अखिलेश, मायावती को दिया एक और बड़ा झटका https://www.newstimes.co.in/news/82426/भारत/उत्तर-प्रदेश-/dr-lohiya-ki-purnatithi-par-gomtinagar-pahuche-akhilesh-902853Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019145442drlohiyakip1.png' alt='Images/12-10-2019145442drlohiyakip1.png' />.

डॉ राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि पर हमलावर हुए अखिलेश, मायावती को दिया एक और बड़ा झटका 

Lucknow. सूबे की पूर्व सत्ताधारी समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार(12 अक्टूबर) को समाजवादी चिंतक डॉ राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि के मौके पर प्रदेश सरकार पर जोरदार हमला बोला। अखिलेश ने कहा कि यूपी में कोई भी सुरक्षित नहीं है। किसी की भी हत्या कहीं भी हो सकती है। कहीं पुलिस हत्या कर रही है तो कहीं लूट के बहाने से हत्या की जा रही है या कुछ नहीं तो पीट-पीट कर ही लोगों को मौत के घाट उतारा जा रहा है। 

Images/12-10-2019145442drlohiyakip1.png

यह भी पढ़ें... चीनी राष्ट्रपति से मिलने से पहले भी पीेएम नहीं भूले अपना यह अभियान, सभी को दिया संदेश
गौरतलब है कि अखिलेश यादव शनिवार(12 अक्टूबर) को राजधानी के गोमतीनगर स्थित लोहिया पार्क पहुंचे हुए थे। यहां उन्होंने डॉ लोहिया को माल्यार्पण किया। इसके बाद मीडिया से बातचीत की। उन्होंने कहा कि आज के समय में किसान, नौजवान सभी परेशान हैं। ऐसी स्थितियों में महात्मा गांधी, डॉ लोहिया और अंबेडकर के बताए रास्ते पर चलकर ही खुशहाली लाई जा सकती है। समाजवादी लोग हर साल यहां आते हैं और डॉ लोहिया को याद करते हुए उनके बताए रास्तों पर चलने का संकल्प लेते हैं। इस दौरान अखिलेश ने बीएसपी के पूर्व वि)धायक केके ओझा को समाजवादी पार्टी की सदस्यता भी दिलाई। के के ओझा के साथ उनके तमाम समर्थक भी सपा में शामिल हुए। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
पुलिस पर अपराधी पड़ रहे भारी, आरोपियों को पकड़ने गई टीम पर हमलाhttps://www.newstimes.co.in/news/82428/भारत/Criminals-falling-heavily-on-police-team-attacked-to-apprehend-accused902855Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019171049Criminalsfall2.jpg' alt='Images/12-10-2019171049Criminalsfall2.jpg' />यूपी में अपराधियों के खौफ का आलम यह है कि पुलिस पर भी हमला करने से बाज नहीं आ रहे। जब पुलिस टीम पर ही अपराधी हमला कर रहे तो आम जनता का क्या होगा इसका अनुमान लगाया जा सकता है। मैनपुरी में दहेज हत्यारोपियों को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हमला करने का सनसनीखेज मामला समाने आया है। इस हमले से पुलिस के नाकामी की पोल भी खुलती नजर आ रही है।

पुलिस पर अपराधी पड़ रहे भारी, आरोपियों को पकड़ने गई टीम पर हमला

Lucknow. यूपी में अपराधियों के खौफ का आलम यह है कि पुलिस पर भी हमला करने से बाज नहीं आ रहे। जब पुलिस टीम पर ही अपराधी हमला कर रहे तो आम जनता का क्या होगा इसका अनुमान लगाया जा सकता है। मैनपुरी में दहेज हत्यारोपियों को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हमला करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। इस हमले से पुलिस के नाकामी की पोल भी खुलती नजर आ रही है।

Images/12-10-2019171049Criminalsfall2.jpg

बताया जा रहा कि यहां आरोपियों को पुलिस पकड़ने पहुंची थी, तभी टीम पर लाठी डंडो से हमला कर दिया गया। इस हमले में दो सिपाही घायल हुए हैं। वहीं, महिला दारोगा को भागकर अपनी जान बचानी पड़ी। पुलिस ने मामले में 16 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करते हुए एक को गिरफ्तार कर लिया है।

खबरों के मुताबिक पूरा मामला थाना कुरावली क्षेत्र के गांव देवकली का है। यहां विवाहिता पूनम पत्नी संदीप कुमार की गत 13 जून 2019 को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। मृतका पूनम के पिता ने पति संदीप, ससुर सर्वेश, सास, ननद शिल्पी, निशा, देवर प्रदीप के खिलाफ दहेज हत्या मामले में एफआईआर दर्ज कराई थी।

यह भी पढ़ें... अखिलेश यादव बोले- पुलिस कर रही है अत्याचार, अन्याय के साथ सरकार

पुलिस आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर सीओ के निर्देश पर पुलिस टीम गांव में गिरफ्तारी के लिए पहुंची थी। यहां पुलिस की टीम पर हत्यारोपियों ने लाठी डंडों से हमला बोल दिया। हमले और अक्रोश को देख पुलिसकर्मियों को पीछे हटना पड़ा। हमले में कांस्टेबल गौरव व सरदार सिंह घायल हो गए।

बताया जा रहा कि सूचना के बाद जब तक फोर्स पहुंचती हमलावार भाग निकले। दारोगा की तहरीर पर पुलिस ने 16 आरोपियों के खिलाफ नामदज मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने आरोपी नेत्रपाल को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, अन्य हमलावारों की तलाश में पुलिस जुटी हुई है। दारोगा ने कहा कि यदि पुलिस वहां से नहीं भागती तो हमलावार जान भी ले सकते थे।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
बड़े डिफॉल्टर्स से हुए नुकसान की भरपाई आम ग्राहकों से सही नहीं: HDFC अध्यक्षhttps://www.newstimes.co.in/news/82424/भारत/Loss-from-big-defaulters-is-not-fair-to-common-customers:-HDFC-Chairman902851Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019143022Lossfrombig1.jpg' alt='Images/12-10-2019143022Lossfrombig1.jpg' />बैंकों की करस्तानी आए दिन सामने आती रहती है। HDFC बैंक के अध्यक्ष दीपक पारेख ने एक बयान जारी करते हुए पोल खोलकर रख दी है। उन्होंने कहा कि बड़े डिफॉल्टर्स से हुए नुकसान की भरपाई आम ग्रहाकों से सही नहीं है। कहा कि जो भी हो रहा यह बहुत गलत है। बैंक बड़े डिफाल्टर का लोन माफ कर रहे। वहीं, आम ग्राहकों की समस्याओं पर कोई ध्यान नहीं दे रहा।  

बड़े डिफॉल्टर्स से हुए नुकसान की भरपाई आम ग्राहकों से सही नहीं: HDFC अध्यक्ष

Lucknow. बैंकों की करस्तानी आए दिन सामने आती रहती है। HDFC बैंक के अध्यक्ष दीपक पारेख ने एक बयान जारी करते हुए पोल खोलकर रख दी है। उन्होंने कहा कि बड़े डिफॉल्टर्स से हुए नुकसान की भरपाई आम ग्राहकों से सही नहीं है। उन्‍हाेंने कहा कि जो भी हो रहा यह बहुत गलत है। बैंक बड़े डिफाल्टर का लोन माफ कर रहे। वहीं, आम ग्राहकों की समस्याओं पर कोई ध्यान नहीं दे रहा।  

Images/12-10-2019143022Lossfrombig1.jpg

पीएमसी बैंक में हुए घोटाले को लेकर भी उन्होंने अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि इस घोटाले के बाद से छोटे खाताधारकों को परेशानियां हो रही हैं। 'मेरे विचार में यह सबसे बड़ा अपराध वित्तीय क्षेत्र में होगा, जब छोटे खाता ग्रहाकों के जमा राशि का गलत फायदा बड़े ग्राहकों को बैंक दे देते हैं। ऐसे में लोन के डिफॉल्ट होना सरकार व सिस्टम घोटाले के बाद भी कर्ज माफ करना न्यायोचित नहीं है।

यह भी पढ़ें... रामपुर सीट बचाने के लिए सपा ने बनाया ये मास्टर प्लान, दांव पर लगी BJP की प्रतिष्ठा

उन्होंने कहा कि किसी भी वित्तीय सिस्टम की बात करें तो विश्वसनीयता ही बैंक और ग्रहाकों के बीच रीढ़ की हड्डी हैं। ऐसे में गलत तरीकों को बढ़ाव किसी भी सूरत में नहीं दिया जाना चाहिए। हैरान करने वाली बात है कि आजकल यह किया जा रहा है। बचत को बढ़ावा दिया जाना चाहिए।

देश की अर्थव्यवस्था के लिए भी यही होना चाहिए। कमर्शियल क्षेत्रों में आज भी क्रेडिट संकट बना हुआ है। पीएमसी बैंक घोटाले के कारण ही आम ग्राहकों को परेशानियां उठानी पड़ रही। आरबीआई ने 25,000 रुपये से अधिक की निकासी पर रोल लगा रखी है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
#NewstimesTrending : चीनी राष्ट्रपति से मिलने से पहले भी पीेएम नहीं भूले अपना यह अभियान, सभी को दिया संदेश https://www.newstimes.co.in/news/82423/भारत/उत्तर-प्रदेश-/Prime-Minister-Narendra-Modi-on-Saturday-lend-a-helping-hand-in-cleaning-up-the-Mamallapuram-beach902850Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019135627PrimeMinister6.jpg' alt='Images/12-10-2019135627PrimeMinister6.jpg' /> पीएम शनिवार को तमिलनाडु के महाबलीपुरम में है जहां वह चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ बैठक करेंगे। पीएम की ओर से स्वच्छता अभियान के बाद ट्वीट कर एक वीडियो पोस्ट कर सुबह चलाए गये इस अभियान की जानकारी दी गयी। पीएम ने अपने ट्वीट में लिखा कि सुबह ममल्लापुरम में बीच पर 30 मिनट तक सफाई अभियान चलाया। अभियान के बाद उठाए गये कचरे को होटल स्टाफ जयराम को सौंपा। हम सभी लोग सुनिश्चित करें कि सार्वजनिक जगह को साफ सुथरा रहें। 

#NewstimesTrending : चीनी राष्ट्रपति से मिलने से पहले भी पीेएम नहीं भूले अपना यह अभियान, सभी को दिया संदेश

Images/12-10-2019135741PrimeMinister7.jpg

Lucknow. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार की सुबह महाबलीपुरम में स्वच्छता अभियान चलाया जो की चर्चाओं का विषय बना हुआ है। अभियान चलाकर पीएम ने सभी को साफ-सफाई के प्रति जागरुक रहने का संदेश दिया। पीएम ने संदेश दिया कि, स्वच्छता से ही हम लोग स्वच्छ और स्वस्थ्य रहेंगे। बता दें कि पीएम शनिवार को तमिलनाडु के महाबलीपुरम में है जहां वह चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ बैठक करेंगे। पीएम की ओर से स्वच्छता अभियान के बाद ट्वीट कर एक वीडियो पोस्ट कर सुबह चलाए गये इस अभियान की जानकारी दी गयी। पीएम ने अपने ट्वीट में लिखा कि सुबह ममल्लापुरम में बीच पर 30 मिनट तक सफाई अभियान चलाया। अभियान के बाद उठाए गये कचरे को होटल स्टाफ जयराम को सौंपा। हम सभी लोग सुनिश्चित करें कि सार्वजनिक जगह को साफ सुथरा रहें। 

Images/12-10-2019134536PrimeMinister2.jpg

स्वच्छता का विशेष ख्याल रखते हैं पीएम 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सफाई अभियान का हमेशा ही ध्यान रखते हैं। दरअसल उनके द्वारा ही शुरु किया गया स्वच्छ भारत अभियान आज विश्व में कौतुहल का विषय बना हुआ है। इस अभियान को लेकर पीएम समय-समय कुछ न कुछ करते नजर आ ही जाते हैं और इसके वीडियो वायरत होते रहते हैं। अभी हाल ही में जब पीएम अमेरिका के ह्यूस्टन गये थे तो वहां उनके स्वागत के दौरान एक फूल गिर गया था। जिसके बाद पीएम ने प्रोटोकॉल की परवाह न करते हुए खुद ही सतर्कता के साथ उस फूल को उठाया था। पीएम का इस तरह फूल को उठाया खासा चर्चाओं का कारण बना था। इसको लेकर तमाम तरह की पोस्ट सोशल मीडिया पर साझा कर उनकी तारीफ की गयी थी। उसके बाद शनिवार(12 अक्टूबर) को जब पीएन ने स्वच्छता के जरिए देशभर में जागरूकता को लेकर संदेश दिया तो उसकी भी सराहना हो रही है। बता दें कि समंदर में जाता प्लास्टिक एक बड़ी चुनौती है। 

Images/12-10-2019134624PrimeMinister3.JPG

वाल्मीकि बस्ती में लगाई थी झाड़ू
पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने स्वच्छता अभियान की शुरुआत की ही कड़ी में 2 अक्टूबर 2014 को दिल्ली की वाल्मीकि बस्ती में अपने ही हाथों से झाड़ू लगाकर स्वच्छता का संदेश दिया था। इस दौरान पीएम ने वाल्मीकि बस्ती के छात्रों से मुलाकात भी की थी। अभियान की शुरुआत से पहले पीएम ने वाल्मीकि मंदिर में दर्शन किये थे। 

Images/12-10-2019135420PrimeMinister4.jpg

चलाया अभियान फिर की बैठक 

सुबह स्वच्छता का संदेश देने के बाद चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के भारत दौरे के दूसरे दिन शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ताज फिशरमैन के कोव रिसॉर्ट में वन-टू-वन बैठक की। तकरीबन 40 मिनट तक चली इस बैठक के बाद फिशरमैन होटल के मचान रेस्त्रा में दोनों देशों के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत शुरू हुई। जिसमें भारत और चीन की ओर से अलग-अलग बयान जारी किया गया।

Images/12-10-2019135549PrimeMinister5.jpg

शी जिनपिंग के साथ गाइड बने पीएम मोदी 

शुक्रवार(11 अक्टूबर) को राष्ट्रपति शी जिनपिंग को पीएम नरेंद्र मोदी ने लगभग 60 किमी दूर स्थित प्रसिद्ध मूर्तिकला शहर महाबलीपुरम के तीन महत्वपूर्ण स्मारकों के महत्व के बारे में अवगत करवाया। इस दौरान पीएम तमिल परिधान 'विष्टी'(सफेद धोती), आधी बांह की कमीज, अंगवस्त्रम को कंधे पर रखे हुए नजर आए। पीएम जब शी जिनपिंग से अर्जुन की तपस्या स्थल के पास मिले तो उन्हें चट्टान काटकर बनाए गये भव्य मंदिर के अंदर ले गये। इसके बाद नक्काशी, पारंपरिक सभ्यता और संस्कृति के बारे में अवगत करवाते करवाया। इस दौरान वह पेशेवर गाइड की तरह विशेषताएं बताते हुए नजर आएं।  

Images/12-10-2019135627PrimeMinister6.jpg
© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
मंच पर छलका आजम खान का दर्द, रोते हुए भाजपा को दी ये चेतावनीhttps://www.newstimes.co.in/news/82422/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Azam-Khan-started-crying-on-the-stage-during-to-speech-in-Rampur902849Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019133503AzamKhanstar1.jpeg' alt='Images/12-10-2019133503AzamKhanstar1.jpeg' />सपा के कद्दावर नेता और सांसद आज़म खान रामपुर विधानसभा सीट के उपचुनाव के लिए पहली बार जनसभा को संबोधित करने पहुंचे। इस दौरान मंच पर खड़े आज़म खान के बोलते-बोलते आंसू छलक पड़े। उन्होंने अपने खिलाफ हो रहे मुकदमों को गलत बताते हुए केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा। 

मंच पर छलका आजम खान का दर्द, रोते हुए भाजपा को दी ये चेतावनी

Rampur. सपा के कद्दावर नेता और सांसद आज़म खान रामपुर विधानसभा सीट से उपचुनाव के लिए पहली बार जनसभा को संबोधित करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने अपने खिलाफ दर्ज हो रहे मुकदमों को गलत बताते हुए केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा। वहीं, मंच पर बोलते-बोलते आज़म फूट-फूटकर रोने लगे। 

Images/12-10-2019133503AzamKhanstar1.jpeg

रामपुर में आजम खान ने कहा कि सरकार के चलाने वालों, शासन और प्रशासन कहने वालों एक बार खुद से सवाल करो और अपने जमीर से पूछों कहा खड़े हो। उन्होंने कहा कि वह रहें या न रहें लेकिन इस मजमे की तस्वीर रहेगी। आज़म ने कहा कि आज से 100 साल बाद यह तस्वीर छपेगी और यह कहा जाएगा कि एक यह शख्स था, जिसने ऐसी लकीर खींची, जिसके बाद कोई लकीर खींची न जा सकी। 

यह भी पढ़ें:-...रामपुर सीट बचाने के लिए सपा ने बनाया ये मास्टर प्लान, दांव पर लगी BJP की प्रतिष्ठा

सपा सांसद ने कहा कि उनसे ज्यादती इंंतेकाम लेने वालों याद रखना मरने के बाद कब्र में हिसाब नहीं होगा, इस जमीन पर जो करोंगे उसका हिसाब होगा। हाईकोर्ट से गिरफ्तारी की रोक पर मिली राहत पर उन्होंने कहा कि उन्हें इंसाफ मिला है। इंसाफ के दरों-दीवार से बहुत इंसाफ मिला है।

अपने बेटे के खिलाफ मुकदमों को लेकर आज़म खान ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि जालिमों के अरमान उनके मासूम बच्चों की तकदीरों से खेल नहीं सकते। वहीं, पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान की तकदीर झाड़ू हाथ में आने से नहीं बल्कि मजबूत तहरीक और मजबूत कलम आने से हिंदुस्तान की तकदीर बदलेगी। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
#WorldArthritisDay: बढ़ती उम्र के साथ रखें इन बातों का ध्यान, वरना बुढ़ापे में होगी मुश्किलhttps://www.newstimes.co.in/news/82421/भारत/World-Arthritis-Day:-Keep-in-mind-these-things-with-increasing-age-otherwise-it-will-be-difficult-in-old-age902848Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019125348WorldArthriti4.jpg' alt='Images/12-10-2019125348WorldArthriti4.jpg' />विश्व गठिया दिवस आज यानि कि 12 अक्टूबर को मनाया जाता है। आज के दौर में गलत खान पान और रहन सहन के कारण कई तरह की गंभीर बीमारियां लोगों को हो रही हैं। इन्हीं में से गठिया की गंभीर बीमारी भी एक है। बढ़ती उम्र के साथ यह बीमारी और भी घातक होती जाती है। इस बीमारी में लोगों के जोड़ों में दर्द बढ़ता है। इससे उठने बैठने और चलने में तकलीफों का सामना करना पड़ता है।

#WorldArthritisDay: बढ़ती उम्र के साथ रखें इन बातों का ध्यान, वरना बुढ़ापे में होगी मुश्किल

Lucknow. विश्व गठिया दिवस आज यानि कि 12 अक्टूबर को मनाया जाता है। आज के दौर में गलत खान पान और रहन सहन के कारण कई तरह की गंभीर बीमारियां लोगों को हो रही हैं। इन्हीं में से गठिया की गंभीर बीमारी भी एक है। बढ़ती उम्र के साथ यह बीमारी और भी घातक होती जाती है। इस बीमारी में लोगों के जोड़ों में दर्द बढ़ता है। इससे उठने बैठने और चलने में तकलीफों का सामना करना पड़ता है।

Images/12-10-2019125250WorldArthriti1.jpg

बताते चलें कि गठिया की बीमारी कई बार शारीरिक बनावट और मोटापे की वजह से भी होता है। यह शरीर के जोड़ों को पूरी तरह से जकड़ लेता है। गठिया की गंभीर बीमारी से बचने के लिए हर साल लोगों को जागरूक करने के लिए ही विश्व गठिया दिवस मनाया जाता है।

1996 में 12 अक्टूबर को विश्व गठिया दिवस की स्थापना की गई थी। इस बीमारी के बारे में बात करें तो इस का मतलब जोड़ों की सूजन से है। सार्वजनिक स्वास्थ्य में संधिशोथ और रुमेटी स्थितियों के लिए संक्षिप्त में गठिया शब्द का उपयोग किया जाता है। इस बीमारी के कारण शरीर के अलग-अलग हिस्सों में जोड़ो में होता है।

Images/12-10-2019125308WorldArthriti2.jpg

अर्थराइटिस की बीमारी कई तरह से होती है। इसमें ऑस्टियो, र्यूमैटॉइड और गाउटी व अन्य हैं। यदि कुछ बातों का ध्यान रखा जाए तो इस बीमारी से समय रहते निजात पाया जा सकता है। उम्र तो बढ़ती ही रहती है। लेकिन इस बीमारी के लक्षण होने से पहले इलाज नहीं कराया गया तो यह गंभीर होती जाती है। बढ़ती उम्र के साथ जोड़ों के कार्टिलेज क्षीण हो जाते हैं। आम तौर पर यह लगभग 50 वर्ष लोगों को अधिक परेशान करता है। इसके लिए शारीर का वजन कंट्रोज करना बहुत ही जरूरी है।

यह भी पढ़ें... उपचुनाव: मायावती ने दिग्गज नेता को दिया ऐसा सबक, पार्टी में मचा भूचाल

Images/12-10-2019125331WorldArthriti3.jpg

   आर्थराइटिस बीमारी के लक्षण

- घुटनों और जोड़ों में दर्द।
- शरीर में अकड़न का बने रहना।
- शौचालय में बैठने पर घुटनों में तकलीफ होना।
- सुबह जोड़ों में अकड़न बैठने में परेशानी
- पैर चलाने, हाथों को हिलाने और ज्वाइंट्स हिलाने में काफी तकलीफ और दर्द की परेशानियां।

Images/12-10-2019125348WorldArthriti4.jpg

   बीमारी से राहत के लिए अपनाएं घरेलू नुस्खे

- शरीर में पानी की मात्रा संतुलित रखना होता है।
- दर्द के दौरान सन बाथ का प्रयोग कर सकते हैं।
- लाल तेल से मालिश करने पर दर्द में आराम होता है।
- गर्म दूध में हल्दी को अच्छी तरह मिलाकर दो से तीन बार पीने पर आराम मिलता है।
- सोने से पहले दर्द से प्रभावित क्षेत्र पर गर्म सिरके से मालिश करने पर राहत मिलता है।
- 5 से 10 ग्राम मेथी का चूर्ण बनाकर सुबह सुबह पानी से पीएं।
- 4 से 5 लहसुन की कलियों को एक पाव दूध में डालकर उबालें और पीएं।
- लहसुन का रस निकालकर कपूर में मिलाने के बाद जोड़ों में मालिश करने से आराम मिलता है।
- गठिया के मरीज कभी भी लेटकर टीवी नहीं देखें।
- कैल्शियम व विटामिन-डी के खाने की चीजों का अधिक प्रयोग करें।
- रूई के गद्दों का इस्तेमाल करना चाहिए।
- साइकिल, तैराकी, तेज चाल के साथ चलें।
- वजन को उठाते समय घुटनों की ताकत का प्रयोग करने की कोशिश करें।
- दूध, दही, पनीर, हरी पत्तेदार सब्जियां, खजूर, बादाम, मशरूम तथा समुद्री फूड खाएं।
- उल्टे कदम चलने की कोशिश भी करते रहें।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
पुण्‍यतिथि विशेष: प्रखर समाजवादी विचारक थे डॉ. राम मनोहर लोहिया, पढ़ें पूरा सफरhttps://www.newstimes.co.in/news/82419/भारत/उत्तर-प्रदेश-/Today-is-the-death-anniversary-of-socialist-thinker-Dr.-Ram-Manohar-Lohia902846Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTDEEPAK MISHRA<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019122425Todayisthed3.jpg' alt='Images/12-10-2019122425Todayisthed3.jpg' />Today is the death anniversary of socialist thinker Dr. Ram Manohar Lohia

पुण्‍यतिथि विशेष: प्रखर समाजवादी विचारक थे डॉ. राम मनोहर लोहिया, पढ़ें पूरा सफर

Lucknow. स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और समाजवादी विचारक डॉ. राम मनोहर लोहिया की आज पुण्य तिथि है। डॉ. लोहिया का निधन आज ही के दिन 12 अक्टूबर, 1967 को  57 साल की उम्र हो गया था। इनका जन्म 23 मार्च, 1910 को उत्तर प्रदेश के फैजाबाद हुआ था। उनके पिताजी श्री हीरालाल पेशे से अध्यापक व हृदय से सच्चे राष्ट्रभक्त थे। उनके पिताजी गांधीजी के अनुयायी थे और उन पर भी गांधीजी के विराट व्यक्तित्व का गहरा असर हुआ। डॉ. लोहिया को भारत एक अजेय योद्धा और महान् विचारक के रूप में देखता है। डॉ. लोहिया अपने पिताजी के साथ 1918 में अहमदाबाद कांग्रेस अधिवेशन में पहली बार शामिल हुए।

Images/12-10-2019122509Todayisthed4.jpg

देश की राजनीति में स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान और स्वतंत्रता के बाद ऐसे कई नेता हुए, जिन्होंने अपने दम पर देश की शासन का रुख बदल दिया, उनमें एक थे राममनोहर लोहिया। अपनी प्रखर देशभक्ति और तेजस्‍वी समाजवादी विचारों के कारण अपने समर्थकों के साथ ही डॉ. लोहिया ने अपने विरोधियों के मध्‍य भी अपार सम्‍मान हासिल किया। डॉ. लोहिया सहज परन्तु निडर अवधूत राजनीतिज्ञ थे। उनमें सन्त की सन्तता, फक्कड़पन, मस्ती, निर्लिप्तता और अपूर्व त्याग की भावना थी।

डॉ. लोहिया मानवता की स्थापना के पक्षधर समाजवादी थे। वे समाजवादी भी इस अर्थ में थे कि समाज ही उनका कार्यक्षेत्र था और वे अपने कार्यक्षेत्र को जनमंगल की अनुभूतियों से महकाना चाहते थे। वे चाहते थे कि व्यक्ति-व्यक्ति के बीच कोई भेद, कोई दुराव और कोई दीवार न रहे। सब जन समान हों। सब जन सबका मंगल चाहते हों। सबमें वे हों और उनमें सब हों। वे दार्शनिक व्यवहार के पक्ष में नहीं थे। उनकी दृष्टि में जन को यथार्थ और सत्य से परिचित कराया जाना चाहिए। प्रत्येक जन जाने की कौन उनका मित्र है? कौन शत्रु है? जनता को वे जनतंत्र का निर्णायक मानते थे।

डॉ. लोहिया ने बनारस से इंटरमीडिएट और कोलकता से स्नातक तक की पढ़ाई करने के बाद उन्होंने उच्‍च शिक्षा के लिए लंदन के स्‍थान पर बर्लिन का चुनाव किया था। वहीं जाकर उन्होंने मात्र तीन माह में जर्मन भाषा पर अपनी मजबूत पकड़ बनाकर अपने प्रोफेसर जोम्‍बार्ट को चकित कर दिया। उन्होंने अर्थशास्‍त्र में डॉक्‍टरेट की उपाधि केवल दो वर्षों में ही प्राप्‍त कर ली। जर्मनी में चार साल व्‍यतीत करके डॉ. लोहिया स्‍वदेश वापस लौटे और किसी सुविधापूर्ण जीवन के स्‍थान पर जंग-ए-आजादी के लिए अपनी जिंदगी समर्पित कर दी। डॉ. लोहिया ने विधिवत रूप से समाजवादी आंदोलन की भावी रूपरेखा पेश की। सन् 1935 में उस समय कांग्रेस के अध्‍यक्ष रहे पंडित नेहरू ने लोहिया को कांग्रेस का महासचिव नियुक्‍त किया।

Images/12-10-2019122425Todayisthed3.jpg

डॉ. लोहिया किसानों और मजदूरों से तो प्रेम करते ही थे, लेकिन युवाओं से उनका विशेष जुड़ाव था। उन्होंने 1960 के दशक के आरंभ में समाजवादी युवजन सभा के नेता ब्रजभूषण तिवारी को एक पत्र लिखा था, जो देश के युवाओं के नाम संबोधित था। इस पत्र में उन्होंने ‘परमार्थिक अनुशासनहीनता’ शब्द का प्रयोग किया था और इस सिद्धांत के माध्यम से वे युवाओं का आह्वान करना चाहते थे कि जहां भी जरूरत पड़े वे सरकार के कानूनों को मानने से इनकार कर दें। अन्यायपूर्ण कानूनों और सरकारी आदेशों का यही प्रतिकार गांधी के चंपारण सत्याग्रह में दिखाई पड़ता है तो जयप्रकाश नारायण की संपूर्ण क्रांति के आह्वान में।

आज लोहिया के तमाम शिष्यों के पतन और जातिवादी राजनीति की चर्चा करते हुए या तो लोहिया के सिद्धांत को खारिज किया जाता है या गैर-कांग्रेसवादी राजनीति के कारण उन्हें फासीवाद का समर्थक बता दिया जाता है। कुछ लोग तो डॉ. लोहिया के जर्मनी प्रवास के दौरान उन पर नाजियों के सम्मेलन में जाने का आरोप भी लगाते हैं, लेकिन ऐसा वे लोग करते हैं जो न तो लोहिया के विचारों से अच्छी तरह वाकिफ हैं और न ही उनकी राजनीतिक बेचैनी से।

जिंदा कौमें पांच साल इंतजार नहीं करतीं।’ समाजवादी चिंतक डॉ. राम मनोहर लोहिया का यह कथन आज की सरकारों के लिए भी उतना ही प्रासंगिक है जितना 1960 के दशक में जवाहर लाल नेहरू और इंदिरा गांधी की सरकारों के लिए था।

 डॉ. लोहिया कहते हैं-‘धर्म और राजनीति का रिश्ता बिगड़ गया है. धर्म दीर्घकालीन राजनीति है और राजनीति अल्पकालीन धर्म. धर्म श्रेयस की उपलब्धि का प्रयत्न करता है और राजनीति बुराई से लड़ती है. हम आज दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति में हैं जिसमें बुराई से विरोध की लड़ाई में धर्म का कोई वास्ता नहीं रह गया है वह निर्जीव हो गया है, जबकि राजनीति अत्यधिक कलही हो गई और बेकार हो गई है।’

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
Ind vs SA: विराट कोहली की विराट पारी ने ऐसे रचा इतिहास...https://www.newstimes.co.in/news/82418/भारत/दिल्ली/Ind-vs-SA:--Virat-Kohlis-double-attack-creates-history-902845Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTSUKIRTI MISHRA<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019134850FnlMGwXBPA.jpg' alt='Images/12-10-2019134850FnlMGwXBPA.jpg' />इंडिया बनाम साउथ अफ्रीका (India vs South Africa) के पुणे (Pune) में खेले जा रहे टेस्ट मैच (Test Cricket) के दूसरे दिन कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने विस्फोटक पारी का प्रदर्शन किया

Ind vs SA: विराट कोहली की विराट पारी ने ऐसे रचा इतिहास...

पुणे में लगाया दोहरा शतक कोहली के टेस्ट करियर का अब तक का सबसे बड़ा स्कोर रहा साथ ही उन्होंने भारत की तरफ से टेस्ट में सबसे ज्यादा दोहरा शतक बनाने का कमाल किया

Delhi. इंडिया बनाम साउथ अफ्रीका (India vs South Africa) के पुणे (Pune) में खेले जा रहे टेस्ट मैच (Test Cricket) के दूसरे दिन कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने विस्फोटक पारी का प्रदर्शन किया। साउथ अफ्रीका (South Africa) के खिलाफ नाबाद 254 रन ठोकते हुए अपने टेस्ट करियर में इतिहास रच दिया। कोहली (Kohli) के टेस्ट करियर का यह अब तक का सबसे बड़ा स्कोर रहा है। इसके अलावा भारतीय कप्तान ने भारत (India) की ओर से टेस्ट फॉरमैट में सबसे ज्यादा दोहरा शतक (double century) बनाने का कमाल भी किया। टेस्ट क्रिकेट में विराट के बल्ले से लगा यह 7वां दोहरा शतक था। 

Images/12-10-2019134742NxRC2wQZ0c.jpg

बता दें कि कोहली ने पुणे में चल रहे टेस्ट मैच (Test Match) के दूसरे दिन 336 गेंद पर 33 चौके और 2 छक्के की मदद से 254 रन की नाबाद पारी खेली। इस पारी की बदौलत टीम इंडिया (Team india) 601 रन तक पहुंच पाई। इसके साथ ही अब तक 6 अलग-अलग टेस्ट खेलने वाली टीम के खिलाफ दोहरा शतक बनाने का कीर्तिमान भी बना दिया। 

►6 टेस्ट क्रिकेट टीम के खिलाफ बनाए दोहरे शतक-

विराट कोहली ने अब तक टेस्ट क्रिकेट में 7 बार दोहरा शतक जड़ा है। इसके साथ ही इन 7 शतक में 6 अलग-अलग टीमों के नाम शामिल हैं। बता दें कि श्रीलंका (Srilanka) ही सिर्फ एक ऐसी टीम है जिसके खिलाफ विराट ने 2 दोहरे शतक लगाए हैं। वहीं साउथ अफ्रीका (South Africa), इंग्लैंड (England), न्यूजीलैंड (New Zealand), बांग्लादेश (Bangladesh) और वेस्टइंडीज (West Indies) के खिलाफ दोहरा शतक ठोके हैं। 

Images/12-10-2019134850FnlMGwXBPA.jpg

►कोहली ने खेली 'विराट' पारी-

साउथ अफ्रीका (South Africa) के खिलाफ नाबाद 254 रन की पारी विराट (Virat) के करियर की नाबाद पारी रही है। इससे पहले कोहली का सर्वाधिक टेस्ट स्कोर (test score) 243 रन था। यह स्कोर 2016 में श्रीलंका के खिलाफ हुए मैच में दिल्ली (Delhi) में बनाया था। इसके अलावा, 2016 में ही इंग्लैंड (England) के खिलाफ मुंबई (Mumbai) में 235 रन की आतिशी पारी खेली थी। 

 

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
एसडीएम को देर रात महिला मित्र से करनी पड़ी शादी https://www.newstimes.co.in/news/82417/भारत/उत्तर-प्रदेश-/SDM-KO-MAHILA-MITRA-SE-KARNI-PADI-SHADI-902844Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019120531SDMKOMAHILA2.jpg' alt='Images/12-10-2019120531SDMKOMAHILA2.jpg' />यूपी के कुशीनगर जनपद में एसडीएम को देर रात अपनी एक महिला मित्र से शादी करनी पड़ी। शादी से इंकार के बाद एसडीएम को यह शादी देर रात मजबूरन करनी पड़ी। दरअसल एसडीएम ने महिला मित्र से शादी उसके द्वारा लगाए गये यौन शोषण के आरोपों के बाद दिनभर चले ड्रामे के चलते की।  मीडिया रिपोर्टस के अनुसार खड्डा तहसील एसडीएम दिनेश कुमार की पूर्व महिला मित्र ने उनके ऊपर शादी का झांसा देकर शारीरिक शोषण का आरोप लगाया था। महिला का आरोप था कि एसडीएम ने चार सालों तक शादी का झांसा देकर उसका शोषण जारी रखी। इस दौरान कई बार उसका अबॉर्शन भी करवाया गया और शादी का दबाव बनाने पर उसकी पिटाई भी की गयी। 

एसडीएम को देर रात महिला मित्र से करनी पड़ी शादी

Lucknow. यूपी के कुशीनगर जनपद में एसडीएम को देर रात अपनी एक महिला मित्र से शादी करनी पड़ी। शादी से इंकार के बाद एसडीएम को यह शादी देर रात मजबूरन करनी पड़ी। दरअसल एसडीएम ने महिला मित्र से शादी उसके द्वारा लगाए गये यौन शोषण के आरोपों के बाद दिनभर चले ड्रामे के चलते की। 

Images/12-10-2019120521SDMKOMAHILA1.jpg

यह भी पढ़ें... राहुल झोकेंगे ताकत और कांग्रेस की यह नई टीम दिखाएगी कमाल
शुक्रवार को पीड़िता जब कलेक्ट्रेट पहुंची तो दिन भर यह ड्रामा चलता रहा। फिर खुद को मामले में बुरी तरह से फंसता हुआ देखकर एसडीएम शादी के लिए तैयार हो गये। शादी के लिए राजी होने के बाद उन्होंने देर रात पडरौना नगर के गायत्री मंदिर में हिंदू रीति रिवाजों के अनुसार शादी की। इस दौरान पडरौना सदर एसडीएम रामकेश यादव और हाटा के एसडीएम प्रमोद तिवारी उनकी शादी के गवाह बनें। 

Images/12-10-2019120531SDMKOMAHILA2.jpg
© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
राहुल झोकेंगे ताकत और कांग्रेस की यह नई टीम दिखाएगी कमाल, 24 अक्टूबर को हो जाएगा फैसला https://www.newstimes.co.in/news/82413/भारत/अन्य-राज्यों-से/congress-ne-maharastra-or-hariyana-chunav-ke-liye-banai-team-902840Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019105420congressnema2.jpg' alt='Images/12-10-2019105420congressnema2.jpg' />.

राहुल झोकेंगे ताकत और कांग्रेस की यह नई टीम दिखाएगी कमाल, 24 अक्टूबर को हो जाएगा फैसला

Lucknow. महाराष्ट्र और हरियाणा में आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर कांग्रेस समन्वय समिति की ओर से बैठक शुक्रवार को की गयी। इस बैठक में यह तय हुआ कि दोनों ही राज्यों में चुनाव के दौरान कोई भी कसर बाकी नहीं छोड़ी जाएगी। इसी के साथ चुनावी अभियान और सोशल मीडिया पर पैनी नजर रखी जाएगी और ज्यादा से ज्यादा बेहतर समन्वय सुनिश्चित किया जाएगा। 

Images/12-10-2019105407congressnema1.jpgImages/12-10-2019105420congressnema2.jpg

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
उपचुनाव: मायावती ने दिग्गज नेता को दिया ऐसा सबक, पार्टी में मचा भूचालhttps://www.newstimes.co.in/news/82415/भारत/By-elections:-Mayawati-gave-such-a-lesson-to-the-veteran-leader-there-was-a-stir-in-the-party902842Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019112749By-elections1.jpg' alt='Images/12-10-2019112749By-elections1.jpg' />उत्तर प्रदेश में उपचुनाव को लेकर सियासत सातवें आसमान पर है। पार्टी के शीर्ष नेता पदाधिकारियों और व दिग्गजों की लापरवाही पर कड़ा एक्शन लेने से कोई संकोच नहीं कर रहे। इसी क्रम में बसपा सुप्रीमो मायावती ने कानपुर में बसपा से घाटमपुर के विधायक रहे आरपी कुशवाहा व कानपुर नगर के अध्यक्ष रहे सुरेंद्र कुशवाहा को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। मायावती के इस बड़े फैसले से हड़कंप मचा हुआ है।

उपचुनाव: मायावती ने दिग्गज नेता को दिया ऐसा सबक, पार्टी में मचा भूचाल

Lucknow. उत्तर प्रदेश में उपचुनाव को लेकर सियासत सातवें आसमान पर है। पार्टी के शीर्ष नेता पदाधिकारियों और व दिग्गजों की लापरवाही पर कड़ा एक्शन लेने से कोई संकोच नहीं कर रहे। इसी क्रम में बसपा सुप्रीमो मायावती ने कानपुर में बसपा से घाटमपुर के विधायक रहे आरपी कुशवाहा व कानपुर नगर के अध्यक्ष रहे सुरेंद्र कुशवाहा को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। मायावती के इस बड़े फैसले से हड़कंप मचा हुआ है।

Images/12-10-2019112749By-elections1.jpg

बताते चलें कि बाहर किए गए दोनों ही नेताओं पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त रहने का आरोप है। गत गुरूवार को ही दोनों नेताओं पर यह एक्शन लिया यगा था। बसपा जिलाध्यक्ष रामशंकर कुरील ने नेताओं के पार्टी से बाहर होने की सूची जारी की। पार्टी से बाहर हुए नेताओं ने बसपा सुप्रीमो से एक दिन पहले ही इस्तीफा सोंप देने को कहा था।

हैरान करने वाली बात है कि लगातार बसपा के नेता खुद ही पार्टी छोड़ रहे हैं। वहीं, दूसरी ओर मायावती का डंडा भी लापरवाही बरतने वाले नेताओं पर चल रहा है। कुछ दिन पहले ही बसपा के जोनल कोआर्डिनेटर रहे अनुभव चक समेत दर्जनों नेताओं और कार्यकर्ताओं के इस्तीफा देने पर पार्टी के अंदर कलह की बात सामने आ रही थी।

यह भी पढ़ें... उपचुनाव: कार जब्त होने पर फूट फूट कर रोया यह कांग्रेस प्रत्याशी

बताते चलें कि आरपी कुशवाहा बसपा के कद्दावर नेताओं में एक माने जाते थे। लोकसभा चुनाव से पहले भी उनको बाहर का रास्ता दिखाया गया था। हालांकि, चुनाव के दौरान दोबारा वापस बुला लिया गया था। कुशवाहा दो बार बिठूर विधानसभा से चुनाव लड़े, लेकिन जीत हासिल करने में नाकामयाब रहे। हार के कारण कुशवाहा की सक्रियता को लेकर सवाल खड़े होने लगे थे।  उनको हमीरपुर उप चुनाव में बसपा प्रत्याशी नौशाद अली के प्रचार की कमान संभालने का अहम जिम्मा सौंपा गया था।  

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस‘ के अवसर पर कार्यक्रम का हुआ आयोजन https://www.newstimes.co.in/news/82405/भारत/उत्तर-प्रदेश-/lucknow-nishatganj-me-karyakram-ka-hua-ayojan-902832Fri, 11 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/11-10-2019183914lucknownishat3.jpeg' alt='Images/11-10-2019183914lucknownishat3.jpeg' />राजधानी में शुक्रवार को सरल केयर फाउडेशन के द्वारा ‘अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस‘ के अवसर पर ’लड़कियों की सुरक्षा, स्वास्थ्य और सशक्तिकरण’ विषय पर सेमिनार का आयोजन ’कैफी आजमी एकेडमी’ निशात गंज लखनऊ में किया गया। जिसका उद्घाटन लखनऊ की महापौर श्रीमती संयुक्ता भाटिया ने द्वीप प्रज्वलित कर किया।  सेमीनार में लड़कियों की शिक्षा, पोषण, कानूनी अधिकार और स्वास्थ्य जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा हुई. समाज में लड़कियों को सुरक्षा मुहैया कराना, उनके प्रति भेदभाव व हिंसा खत्म करने को सबसे जरूरी कदम माना गया। इस अवसर पर महापौर संयुक्ता भाटिया ने बालिकाओ को बधाई दी और कहा कि वह अपने करियर में आगे बढ़े। अपनी हेल्थ और खानपान का ध्यान रखे। अपने परिवार के साथ बातचीत करे। किसी तरह से डरे नही वह और सरकार उनके साथ है। उन्होने आगे कहा कि माननीय प्रधनमंत्री जी ने बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ का जो नारा दिया है उससे बालिकाओ में नई ऊर्जा का संचार हुआ है।

अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस‘ के अवसर पर कार्यक्रम का हुआ आयोजन

Lucknow. राजधानी में शुक्रवार को सरल केयर फाउडेशन के द्वारा ‘अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस‘ के अवसर पर ’लड़कियों की सुरक्षा, स्वास्थ्य और सशक्तिकरण’ विषय पर सेमिनार का आयोजन ’कैफी आजमी एकेडमी’ निशात गंज लखनऊ में किया गया। जिसका उद्घाटन लखनऊ की महापौर श्रीमती संयुक्ता भाटिया ने द्वीप प्रज्वलित कर किया। 

Images/11-10-2019183847lucknownishat1.jpeg

सेमीनार में लड़कियों की शिक्षा, पोषण, कानूनी अधिकार और स्वास्थ्य जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा हुई. समाज में लड़कियों को सुरक्षा मुहैया कराना, उनके प्रति भेदभाव व हिंसा खत्म करने को सबसे जरूरी कदम माना गया। इस अवसर पर महापौर संयुक्ता भाटिया ने बालिकाओ को बधाई दी और कहा कि वह अपने करियर में आगे बढ़े। अपनी हेल्थ और खानपान का ध्यान रखे। अपने परिवार के साथ बातचीत करे। किसी तरह से डरे नही वह और सरकार उनके साथ है। उन्होने आगे कहा कि माननीय प्रधनमंत्री जी ने बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ का जो नारा दिया है उससे बालिकाओ में नई ऊर्जा का संचार हुआ है।

Images/11-10-2019183900lucknownishat2.jpeg

सरल केयर फाउंडेशन की अध्यक्ष रीता सिंह ने बताया ‘अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस‘ मनाने की शुरुआत यूनाइटेड नेशन ने 2012 में की थी। इसका मुख्य उद्देश्य लड़कियों के विकास के लिए अवसरों को बढ़ाना और लड़कियों की दुनियाभर में कम होती संख्या के प्रति लोगों को जागरूक करना, जिससे कि लिंग असमानता को खत्म किया जा सके. ‘अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस‘ को बढ़ावा देने के लिए इस दिन अलग-अलग देशों में कई तरह के आयोजन भी किए जाते हैं. इस दिन को मनाने का उद्देश्य यह भी है कि समाज में जागरूकता लाकर लड़कियों को वे समान अधिकार दिलाए जा सकें, जो कि लड़कों को दिए गए हैं।

Images/11-10-2019183914lucknownishat3.jpeg

इस मौके पर महापौर ने समाज के अलग अलग क्षेत्रो में अपना नाम रोशन कर रही 34 लडकियो को ’सरल केयर सुपर डॉटर आवर्ड 2019’ से सम्मानित किया गया। इनमें प्रिया त्रिपाठी, दिव्या द्विवेदी, शिखा मौर्या, श्रेया कपूर, अंजलि सिंह, अनन्या अस्थाना, दीपांजलि सिंह, अध्यांषी कपूर, संचयिता, दीपशिखा आचार्य, बीना ननकानी, सिमरन खान, अदिति जायसवाल, शैलजा चौधरी, अंशिका वर्मा, आस्था वर्मा, शुभांगी मौर्या, सुहानी सिंह, प्रतिष्ठा सिंह चौहान, पर्णिका श्रीवास्तव, स्मृधि चन्द्रा, अंकिता वाजपेई, सुष्मिता भारती, प्रियंका भारती, भामनी छाबडा, दक्षिता मध्यान, यशस्वी पांडेय मुनमुन, रामन्शी मिश्रा, रूपाली विश्वकर्मा, आरना जेठानी,. पूजा सिंह, आस्था जैन, वर्तिका सिंह और रिची सिंह को महापौर ने अवार्ड प्रदान किये।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
#NewstimesTrending : इथियोपिया पीएम अबी अहमद अली को मिला 2019 का नोबल शांति पुरस्कारhttps://www.newstimes.co.in/news/82402/अन्तर्राष्ट्रीय/पड़ोसी-देश/newstimestrending-Nobel-Peace-Prize-2019-to-be-awarded-to-Ethiopian-Prime-Minister-Abiy-Ahmed-Ali-902829Fri, 11 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/11-10-2019181823newstimestrend4.png' alt='Images/11-10-2019181823newstimestrend4.png' />नोबेल शांति पुरस्कार(Nobel Peace Prize 2019) को लेकर शुक्रवार(11 अक्टूबर) को घोषणा कर दी गयी है। इस बार यह पुरस्कार इथियोपिया के प्रधानमंत्री अबी अहमद अली(43) को दिया गया है।  नोबेल पुरस्कार की समिति की ओर से यह पुरस्कार इथियोपिया पीएम अबी अहमद को पड़ोसी देश चिर इरीट्रिया के साथ विवाद सुलझाने को लेकर उठाए गये कदम के लिए दिया गया है। 

#NewstimesTrending : इथियोपिया पीएम अबी अहमद अली को मिला 2019 का नोबल शांति पुरस्कार

Images/11-10-2019181721newstimestrend1.jpg

 Lucknow. नोबेल शांति पुरस्कार को लेकर शुक्रवार(11 अक्टूबर) को घोषणा कर दी गयी है। इस बार यह पुरस्कार इथियोपिया के प्रधानमंत्री अबी अहमद अली(43) को दिया गया है।  नोबेल पुरस्कार की समिति की ओर से यह पुरस्कार इथियोपिया पीएम अबी अहमद को पड़ोसी देश चिर इरीट्रिया के साथ विवाद सुलझाने को लेकर उठाए गये कदम के लिए दिया गया है। 

Images/11-10-2019181734newstimestrend2.jpegImages/11-10-2019181803newstimestrend3.jpgImages/11-10-2019181823newstimestrend4.png
© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य के पोस्टर में पीएम मोदी और अमित शाह की तस्वीर, लगाये जा रहे ये कयासhttps://www.newstimes.co.in/news/82401/भारत/मध्य-प्रदेश/congress-neta-Jyotiraditya-scindhia-ka-postar-viral902828Fri, 11 Oct 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/11-10-2019180842congressneta2.JPG' alt='Images/11-10-2019180842congressneta2.JPG' />महाराष्ट्र, हरियाणा और उत्तर प्रदेश कांग्रेस में पार्टी नेताओं में अंतर्कलह साफ तौर पर देखनी मिली है। इसके साथ ही कई नेताओं ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया है। इस बीच मध्य प्रदेश के भिंड से कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया का एक पोस्टर वायरल हो रहा है, जिसमें पीएम मोदी और अमित शाह की भी तस्वीर है।

कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य के पोस्टर में पीएम मोदी और अमित शाह की तस्वीर, लगाये जा रहे ये कयास

Bhopal. महाराष्ट्र (Maharashtra), हरियाणा (Haryana) और उत्तर प्रदेश कांग्रेस (UP Congress) में पार्टी नेताओं में अंतर्कलह साफ तौर पर देखनी मिली है। इसके साथ ही कई नेताओं ने कांग्रेस (Congress) से इस्तीफा दे दिया है। इस बीच मध्य प्रदेश के भिंड से कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) का एक पोस्टर वायरल (Poster Viral) हो रहा है, जिसमें पीएम मोदी (PM Modi) और अमित शाह (Amit Shah) की भी तस्वीर है।

Images/11-10-2019180819congressneta1.JPG

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, बीजेपी (BJP) के स्थानीय नेता ने कांग्रेस नेता (Congress) ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के अनुच्छेद 370 (Article 370) के समर्थन को लेकर पोस्टर (Postar) लगाया गया है। इस पोस्टर (Postar) के आने के बाद मध्य प्रदेश में सियासत तेज हो गई है। माना जा रहा है कि क्या कांग्रेस (Congress) नेता ज्योतिरादित्य (Jyotiraditya Scindia) बीजेपी (BJP) में शामिल हो सकते हैं। इस पर अभी कुछ नहीं कहा जा सकता है। हालांकि कयासों का दौर एक बार फिर से शुरू हो गया है।

कांग्रेस से नाराज चल रहे हैं ज्योतिरादित्य

बता दें कि कांग्रेस (Congress) नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) मध्य प्रदेश में हुए विधानसभा चुनावों के बाद से ही कांग्रेस (Congress) पार्टी से नाराज चल रहे हैं। मध्य प्रदेश में वह खुद को मुख्यमंत्री (Chief Minister) पद का दावेदार मान रहे थे, लेकिन कांग्रेस (Congress) हाईकमान ने कमलनाथ को मुख्यमंत्री (Chief Minister) बनाया है। इसके बाद से ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) और उनके समर्थक सार्वजनिक रूप से भी अपनी नाराजगी व्यक्त कर चुके हैं। 

Images/11-10-2019180842congressneta2.JPG

कांग्रेस अध्यक्ष बनाये जाने की उठी थी मांग

वहीं, इसके बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के समर्थकों को उन्हें कांग्रेस (Congress) का प्रदेश अध्यक्ष बनाये जाने की भी मांग की थी। इसके बाद से माना जा रहा है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) का कांग्रेस (Congress) का प्रदेश अध्यक्ष बनाया जा सकता है, लेकिन मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ (CM Kamalnath) अभी तक पार्टी अध्यक्ष बने हुए हैं। 

चुनाव में हार के बाद दे दिया था इस्तीफा

बता दें कि कांग्रेस (Congress) हाईकमान ने बीते लोकसभा चुनावों में ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) को पश्चिमी उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया था, लेकिन कांग्रेस (Congress) की करारी हार के बाद उन्होंने महासचिव पद से इस्तीफा दे दिया था।

यह भी पढ़ें - 

आतंकी फंडिंग का काम करने वाला गिरोह लखीमपुर खीरी से गिरफ्तार, कई बड़े खुलासे हुए

इथियोपिया के पीएम अबी अहमद को शांति नोबेल पुरस्कार से किया गया सम्मानित

कांग्रेस में मची भगदड़: 40 वरिष्ठ नेताओं ने छोड़ी पार्टी, आलाकमान हैरान

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
जानिए किसान खेत के चारों ओर क्यों बांधते हैं साड़ियांhttps://www.newstimes.co.in/news/82403/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-Know-why-farmers-tie-saris-around-the-farm902830Fri, 11 Oct 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/11-10-2019181923Knowwhyfarme1.jpg' alt='Images/11-10-2019181923Knowwhyfarme1.jpg' />साड़ियों को भी खेत के चारों ओर बांध रहे हैं। जिससे उनकी बारी में नजर न लगे।

जानिए किसान खेत के चारों ओर क्यों बांधते हैं साड़ियां

LUCKNOW.  रात के अंधेरे में जब आदमी अपने घरों में चैन की नींद सोता है तब किसान खेत में जानवरों से अपनी फसलों की रखवाली करता है। जहां अनेकों प्रकार के जोखिम हैं। सांड़ों और सांप कीड़ों से बचने के लिए किसान सब्जियों के खेतों में मचान बनाकर रतजगा करता है। जानवरों से बच जाय तो कीड़ों और प्राकृतिक प्रकोप से बचना मुश्किल हो जाता है।

Images/11-10-2019181923Knowwhyfarme1.jpg

इस बार देर से बरसात होने के कारण सब्जी वाले खेतों में काफी नुकसान हुआ है। पानी की अधिकता से पेड़ों में लगे फूल मर गए हैं जिससे फसलें कमजोर हो गयी हैं। उस पर आवारा गोवंश से बचने के लिए किसान कटीले तारों के अलावा साड़ियों को भी खेत के चारों ओर बांध रहे हैं। जिससे उनकी बारी में नजर न लगे। किसान रामआसरे ने बताया कि उन्होंने खेत के चारों ओर साड़ी इसलिए बांधी है ताकि सड़क पर चलने वालों की खेत को नजर न लगे।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
वृंदावन गार्डेन की रामलीला में रामजन्म और अहिल्या उद्धार की लीलाओं का हुआ मंचनhttps://www.newstimes.co.in/news/82394/भारत/उत्तर-प्रदेश-/उन्नाव/The-births-of-Lord-Ram-and-Ahilya-Salvation-events-has-been-staged-in-Vrindavan-Gardens-Ramlila902821Fri, 11 Oct 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/11-10-2019160719Thebirthsof2.jpg' alt='Images/11-10-2019160719Thebirthsof2.jpg' />आवास विकास के वृन्दावन गार्डेन की रामलीला का मंचन विधि विधान से पूजा अर्चन का शुरू हो गया है। पालिका अध्यक्ष के प्रतिनिधि व पूर्व अध्यक्ष ने ने भगवार राम, लक्ष्मण व माता सीता की आरती उतारी। पहले दिन राम जन्म से अहिल्या उद्धार की लीला का मंचन हुआ जिसे दर्शको ने खूब सराहा। 

वृंदावन गार्डेन की रामलीला में रामजन्म और अहिल्या उद्धार की लीलाओं का हुआ मंचन

Unnao. आवास विकास के वृन्दावन गार्डेन की रामलीला का मंचन विधि विधान से पूजा अर्चन का शुरू हो गया है। पालिका अध्यक्ष के प्रतिनिधि व पूर्व अध्यक्ष ने ने भगवार राम, लक्ष्मण व माता सीता की आरती उतारी। पहले दिन राम जन्म से अहिल्या उद्धार की लीला का मंचन हुआ जिसे दर्शको ने खूब सराहा। 
मालूम हो कि शहर के आवास विकास कालोनी स्थिति वृन्दावन गार्डेन में प्रतिवर्ष रामलीला का मंचन होता है। 

Images/11-10-2019160703Thebirthsof1.jpg

इस लीला का श्रीगणेश पूजन अर्चन के साथ हो गया। नगर पालिका चेयरमैन के प्रतिनिध प्रशांत कटियार, पूर्व चेयरमैन रामचंद्र गुप्ता, रामश्री दीक्षित के अलावा स्थानीय सभासद राकेश सिंह व शर्मिला सिंह ने राम दरबार की आरती उतारी। पूजन अर्चन के दौरान कमेटी के सभी पदाधिकार और सदस्य मौजूद रहें। 
लीला के पहले दिन वृन्दावन से आये कलाकारों ने रामजन्म से अहिल्या उद्धार के प्रसंग का जीवंत मंचन कर दर्शकों का मन मोह लिया। मचन के दौरान पंडाल में जय श्री राम के उद्घोष भी लगते रहे। 

Images/11-10-2019160719Thebirthsof2.jpg

लीला के वशिष्ठ ने बताया कि शुक्रवार को पुष्प वाटिका से लेकर धनुष यज्ञ तक की लीलाओं का मंचन किया जाएगा। पहले दिन की लीला के समापन के बाद भक्तों में प्रसाद वितरण भी किया गया। 
पूजन अर्चन के इस कार्यक्रम में मार्गदर्शक मोती लाल, महामंत्री जी.एस.भदौरिया, प्रबन्धक सर्वेश शुक्ला,वरिष्ठ उपाध्यक्ष रामजस गुप्ता, रामलली दीक्षित व महोत्सव प्रभारी अजीतपाल सिंघ, कोषाध्यक्ष नरेश सोनी व के.जी.अग्रवाल, आशीष शुक्ला, महिला मंडल की अध्यक्षा निम्मी अरोड़ा आदि पदाधिकारी मौजूद रहे। 

यह भी पढ़ें...आधार से संपत्ति लिंक कराने की तैयारी में योगी सरकार

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
#NewstimesTrending : चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग और पीएम मोदी की मुलाकात के लिए यूं ही नहीं हुआ महाबलीपुरम का चुनाव, यह रहेगा विशेष https://www.newstimes.co.in/news/82395/अन्तर्राष्ट्रीय/पड़ोसी-देश/Chinese-President-Xi-Jinping-meet-PM-Modi-in-Chennai-for-2nd-informal-summit902822Fri, 11 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/11-10-2019173535OrgpQplgJ8.jpg' alt='Images/11-10-2019173535OrgpQplgJ8.jpg' />Lucknow. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग अपने दो दिवसीय दौरे तहत शुक्रवार को दोपहर तकरीबन 2.10 बजे चेन्नई इंटरनेशनल एयरपोर्ट चेन्नई पहुंच गए हैं। जहां उनकी अगवानी के लिए मौजूद तमिलनाडू के राज्यपाल ब

#NewstimesTrending : चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग और पीएम मोदी की मुलाकात के लिए यूं ही नहीं हुआ महाबलीपुरम का चुनाव, यह रहेगा विशेष

Images/11-10-2019161010ChinesePresid1.jpg

Lucknow. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग अपने दो दिवसीय दौरे तहत शुक्रवार को दोपहर तकरीबन 2.10 बजे चेन्नई इंटरनेशनल एयरपोर्ट चेन्नई पहुंच गए हैं। जहां उनकी अगवानी के लिए मौजूद तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित और सीएम ई पनीर सेल्वम ने उनका स्वागत किया। जिसके बाद वह अपनी होंगशी कार में सवार होकर एयरपोर्ट से होटल के लिए रवाना हो गए और फिर वहां से महाबलीपुरम का सफर तय करेंगे। चीनी राष्ट्रपति पीएम नरेंद्र मोदी के साथ महाबलीपुरम में अनौपचारिक बैठक में हिस्सा लेने वाले हैं। समुद्र किनारे बसे इस शहर में काफी प्राचीन मंदिर हैं जिनका पुराना रिश्ता चीन से भी है। इसी के चलते इस मुलाकात के लिए महाबलीपुरम का चुनाव किया गया है। 

Images/11-10-2019161056ChinesePresid3.JPG

पारंपरिक तरीके से हुआ जिनपिंग का स्वागत 

चेन्नई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर शी जिनपिंग का पारंपरिक तरीके से स्वागत किया गया। टप्पू यानि पारंपरिक तमिल ढोल की थाप और कोम्बू के ध्वनि और नादस्वराम के घोष के साथ अलग-अलग 350 कलाकारों ने नृत्य कार्यक्रम चीनी राष्ट्रपति के सामने पेश किए। इसके अलावा 40 पारंपरिक भरतनाट्यम कलाकारों ने भी नृत्य पेश किया।

Images/11-10-2019161834ChinesePresid5.jpg

यह रहेगा विशेष 

* दो दिन के दौरे में पीएम नरेंद्र मोदी चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से कई बार मुलाकात करेंगे। 
* दक्षिण भारत के कल्चर से रूबरू होने के साथ ही चीनी राष्ट्रपति साउथ इंडियन की थाली चखेंगे। 
* साउथ इंडियन थाली में थक्काली रसम, कढ़लाई कुरुमा, कवानरसी हलवा, अरचुविता सांभर रहेगा मौजूद। 
* तकरीबन 6 घंटे तक साथ रहेंगे चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग और पीएम नरेंद्र मोदी। इस दौरान तकरीबन 40 मिनट के लिए होगी वन टू वन बैठक। 
* 5000 पुलिस के जवान, नौसेना के युद्धपोत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के अनौपचारिक शिखर सम्मेलन की सुरक्षा में तैनात रहेंगे।
* महाबलीपुरम पंच रथ के पास मोदी-जिनपिंग के स्वागत के लिए बागवानी विभाग ने विशाल गेट को 18 प्रकार की सब्जियां और फलों से सजाया है। इन फलों और सब्जियों को तमिलनाडु के विभिन्न इलाकों से मंगाया गया है।

Images/11-10-2019161204ChinesePresid4.jpg

'मैं तमिलनाडु की इस महान भूमि में आकर बहुत खुश हूं, तमिलनाडु अपनी महान संस्कृति और आतिथ्य के लिए जाना जाता है। यह बहुत खुशी की बात है कि तमिलनाडु राष्ट्रपति शी जिनपिंग की मेजबानी करेगा। मुझे उम्मीद है कि यह अनौपचारिक बैठक भारत-चीन संबंधों को और मजबूत करेगी।'

इससे बाद 2:52PM पर पीएम नरेंद्र मोदी ने फिर चीनी भाषा में ट्वीट किया और लिखा कि,

"भारत में आपका स्वागत है, राष्ट्रपति शी जिनपिंग!"

Images/11-10-2019161029ChinesePresid2.jpg

11 अक्टूबर 2019(शुक्रवार)

01.30 PM: चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग का चेन्नई एयरपोर्ट पर आगमन होगा। इस दौरान एयरपोर्ट पर कोई भी अन्य फ्लाइट नहीं उड़ेगी।
01.45 PM: चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग एयरपोर्ट से आईटीसी ग्रांड चोला होटल लिए रवाना होंगे। कुछ देर आराम के बाद शी जिनपिंग महाबलीपुरम के लिए रवाना होंगे।
05.00 PM: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ महाबलीपुरम पहुंचकर अर्जुन की तपस्या स्थली, पंचरथ, मल्लमपुरम के शोरे मंदिर का दौरा।
06.00 PM: सांस्कृतिक कार्यक्रम।
06.45-08.00 PM: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग का डिनर।

Images/11-10-2019173535OrgpQplgJ8.jpg

12 अक्टूबर 2019(शनिवार)

10.00 से 10.40 AM: चीनी राष्ट्रपति जी जिनपिंग और पीएम मोदी की मुलाकात।
10.50 से 11.40 AM: भारत-चीन के बीच डेलिगेशन लेवल की बातचीत।
11.45 AM से 12.45 PM: चीनी राष्ट्रपति के सम्मान में लंच का आयोजन।
02.00 बजे: पीएम मोदी दिल्ली के लिए रवाना होंगे, चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग वापस चीन के लिए रवाना होंगे।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
उपचुनाव: कार जब्त होने पर फूट फूट कर रोया यह कांग्रेस प्रत्याशीhttps://www.newstimes.co.in/news/82392/भारत/उत्तर-प्रदेश-/By-election:-This-Congress-candidate-wept-bitterly-when-the-car-was-seized902819Fri, 11 Oct 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/11-10-2019154044By-electionT2.jpg' alt='Images/11-10-2019154044By-electionT2.jpg' />विधानसभा उपचुनाव के प्रचार के दौरान घोसी विधानसभा सीट पर उस समय अजीबो गरीब दृश्य देखने जब कांग्रेस प्रत्याशी बीच सड़क पर फूट फूट कर रोने लगा। हुआ दरअसल हुआ यूं कि प्रचार के दौरान कांग्रेस प्रत्याशी राजमंगल यादव के काफिले में शामिल गाड़ियों को आचार संहिता उल्लंघन के चलते सीज कर दिया। इसके बाद कांग्रेस प्रत्याशी ने पैदल मार्च कर चुनाव किया। इस दौरान उनके समर्थकों ने प्रशासन के विरोध में नारेबाजी भी की। 

उपचुनाव: कार जब्त होने पर फूट फूट कर रोया यह कांग्रेस प्रत्याशी

- घोसी विधानसभा सीट का मामला
- प्रत्याशी ने प्रशासन पर लगाए आरोप
- समर्थकों ने विरोध में की नारेबाजी

Lucknow. विधानसभा उपचुनाव के प्रचार के दौरान घोसी विधानसभा सीट पर उस समय अजीबो गरीब दृश्य देखने जब कांग्रेस प्रत्याशी बीच सड़क पर फूट फूट कर रोने लगा। हुआ दरअसल हुआ यूं कि प्रचार के दौरान कांग्रेस प्रत्याशी राजमंगल यादव के काफिले में शामिल गाड़ियों को आचार संहिता उल्लंघन के चलते सीज कर दिया। इसके बाद कांग्रेस प्रत्याशी ने पैदल मार्च कर चुनाव किया। इस दौरान उनके समर्थकों ने प्रशासन के विरोध में नारेबाजी भी की। 

Images/11-10-2019154022By-electionT1.jpg

मिली जानकारी के अनुसार घोसी सीट से कांग्रेस उम्मीदवार राजमंगल यादव चार गाड़ियों का काफिला लेकर चुनाव प्रचार कर रहे थें। 
इस दौरान स्टेटिक मजिस्ट्रेट और फ्लाइंग मजिस्ट्रेट ने उन्हें रोक लिया। जांच के दौरान गाड़ियों से कथित रूप से प्रचार सामग्री बरामद हुई। 
जिस पर अधिकारियों ने आचार संहिता के उल्लंघन में कार्रवाई करते हुए चारों गाड़ियों को सीज कर दिया। 
इस कार्रवाई के नाराज राजमंगल के समर्थक भड़क उठे और पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। 

Images/11-10-2019154137By-electionT3.JPG

राजमंगल ने एक दरोगा पर आरोप लगाया कि उसने उनका कॉलर पकड़ कर उनसे मारपीट की। इसके बाद कांग्रेस प्रत्याशी बीच सड़क पर रोते नजर आए। उन्होंने अपने समर्थकों के पैदल मार्च कर चुनाव प्रचार किया। 
  कांग्रेस प्रत्याशी ने लगाया पक्षपात का आरोप
कांग्रेस प्रत्याशी ने स्वयं पर हुई कार्रवाई को लेकर गंभीर सवाल उठाए है। उन्होंने कहा जिस समयय मेरे काफिला ​रोका गया था ठीक उसी समय भाजपा प्रत्याशी का कारवां गुजरा जिसमें तकरीबन 40 गाड़ियां शामिल थी। जांच दल को मेरे काफिले की चार गाड़ियां दिखी लेकिन उनके काफिले की 40 गाड़ियों को अनदेखा किया गया। यह कार्रवाई दर्शाती है कि किसी तरह से प्रशासनिक मशीनरी भाजपा प्रत्याशी की परोक्ष मदद कर रही है। 

Images/11-10-2019154044By-electionT2.jpg

  14 प्रत्याशी हैं चुनाव मैदान में 
गौरतलब हो कि मऊ जिले की घोसी सीट यहां के विधायक फागू चौहान को बिहार का राज्पाल बनाए जाने से रिक्त हुई थी। यहां कुल 14 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। जिनमें आठ प्रत्याशी विभिन्न दलों से हैं जबकि 6 निर्दलीय हैं। 

यह भी पढ़ें...आधार से संपत्ति लिंक कराने की तैयारी में योगी सरकार

 

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
Ind Vs SA 2nd Test: कोहली ने जड़ा सातवां दोहरा शतक, कई रिकार्ड्स किए अपने नामhttps://www.newstimes.co.in/news/82396/भारत/अन्य-राज्यों-से/India-vs-South-Africa:-Virat-Kohli-scores-seventh-double-century-in-second-test902823Fri, 11 Oct 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/11-10-2019162657IndiavsSouth1.jpg' alt='Images/11-10-2019162657IndiavsSouth1.jpg' />पुणे के एमसीए स्टेडियम में खेले जा रहे टेस्ट सीरीज के दूसरे मैच में भारत ने पहली पारी में 5 विकेट के नुकसान पर 601 रन बनाकर पारी घोषित कर दी है। पहली पारी में भारतीय कप्तान विराट कोहली ने शानदार दोहरा शतक (254 रन) लगाया है। इस सीरीज में विराट का यह पहला और टेस्ट करियर का सातवां दोहरा शतक है। इसी के साथ विराट ने कई रिकोर्ड्स अपने नाम कर लिए हैं। 

Ind Vs SA 2nd Test: कोहली ने जड़ा सातवां दोहरा शतक, कई रिकार्ड्स किए अपने नाम

Mumbai. पुणे के एमसीए स्टेडियम में खेले जा रहे टेस्ट सीरीज के दूसरे मैच में भारत ने पहली पारी में 5 विकेट के नुकसान पर 601 रन बनाकर पारी घोषित कर दी है। पहली पारी में भारतीय कप्तान विराट कोहली ने शानदार दोहरा शतक (254 रन) लगाया है। इस सीरीज में विराट का यह पहला और टेस्ट करियर का सातवां दोहरा शतक है। इसी के साथ विराट ने कई रिकोर्ड्स अपने नाम कर लिए हैं। 

Images/11-10-2019162657IndiavsSouth1.jpg

बतौर कप्तान सबसे ज्यादा दोहरे शतक

विराट कोहली ने टेस्ट मैच में बतौर कप्तान सबसे ज्यादा दोहरे शतक लगाने के मामले में कई दिग्गजों को पीछे छोड़ दिया है। विराट ने टेस्ट मैच अब तक सात दोहरे शतक लगाए हैं जिसमें सातों दोहरे शतक उन्होंने कप्तान रहने के दौरान लगाए हैं। फिलहाल इस लिस्ट में वेस्टइंडीज के दिग्गज ब्रायन लारा 5 दोहरे शतकों के साथ दूसरे नंबर पर हैं। इसके बाद सर डॉन ब्रैडमैन/ग्रीम स्मिथ/माइकल क्लार्क इस लिस्ट में हैं। 

यह भी पढ़ें:-... श्रीलंका से टी-20 सीरीज हारने के बाद नाराज पाकिस्तानी फैन का ऐसे फूटा गुस्सा

भारत की ओर से सबसे ज्‍यादा दोहरे शतक 

भारत की ओर से सबसे ज्यादा दोहरे टेस्ट शतक लगाने वाले बल्लेबाजों में विराट कोहली ने सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग को भी पीछे छोड़ दिया है। सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग के नाम टेस्ट करियर में छह दोहरे शतक हैं। हालांकि, सर डॉन ब्रैडमैन, कुमार संगकारा और ब्रायन लारा से पीछे हैं। सर डॉन ब्रैडमैन के नाम टेस्ट में 12, कुमार संगकारा के 11 और ब्रायन लारा 9 दोहरे शतक हैं।  

]]>