<link>www.newstimes.co.in</link><description> delivers news and information on the latest top stories, Videsh, Desh, Cricket, Entertainment, Business, Life Style, Editors Artical and other related local news</description><copyright>© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved</copyright><language>hi</language><lastBuildDate>17-10-2019 04:00:02</lastBuildDate><item><title>#NewstimesTrending : अयोध्या मामले पर सुनवाई का अंतिम दौर जारी, देखें अपडेटhttps://www.newstimes.co.in/news/82555/भारत/उत्तर-प्रदेश-/newstimes-trending-ayodhya-mamle-par-sunvai-ka-antim-daur-902984Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNP863<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019155037newstimestren3.JPG' alt='Images/16-10-2019155037newstimestren3.JPG' />बहुप्रतीक्षित अयोध्या मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में अंतिम दौर में है। मामले का फैसला चाहे जो भी हो शांति व्यवस्था किसी प्रकार प्रभावित न होने पर इसके लिए शासन स्तर पर युद्ध स्तर पर तैयारी की जा रही है। वहीं योगी सरकार इस मसले पर बेहद संजीदा है। इसी कड़ी में योगी सरकार के प्रदेश ने सभी सरकारी अधिकारियों की छुट्टियां रद्द कर दी है। सरकार की ओर से फरमान जारी हुआ है कि फील्ड में तैनात कोई भी पुलिस या प्रशासनिक अधिकारी 30 नवंबर तक कोई छुट्टी नहीं लेगा। सभी अधिकारियों को हर हाल में मुख्यालय पर बने रहने और हालातों पर पैनी निगाह बनाए रखने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं। 

#NewstimesTrending : अयोध्या मामले पर सुनवाई का अंतिम दौर जारी, देखें अपडेट

Lucknow. अयोध्या केस की सुप्रीम कोर्ट में अंतिम सुनवाई शुरू हो गयी है। इस मामले की निरंतर 40वीं दिन सुनवाई शुरू होते ही मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने बहस की डेडलाइन तय कर दी। मुख्य न्यायाधीश ने साफ तौर पर कहा कि अब कोई बीच में टोका-टाकी नहीं करेगा, बहस आज ही शाम 5 बजे खत्म होगी। और यही बहस का अंत होगा। सुनवाई के लिए न्यायाधीश कोर्ट रूम में पहुंचे। जिसके बाद कुछ छोटे पक्षकारों ने समय दिए जाने की मांग की। जिसपर मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने कहा कि आज 5 बजे सुनवाई पूरी हो जाएगी इसी के साथ हम और समय नहीं देंगे। 

Images/16-10-2019154535newstimestren1.jpgImages/16-10-2019154730newstimestren2.JPGImages/16-10-2019155037newstimestren3.JPG
© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
Ayodhya Case: योगी के मंत्री बोले- नेहरू के बाद अब बाबर की भूल ठीक करने का वक्तhttps://www.newstimes.co.in/news/82554/भारत/उत्तर-प्रदेश-/फैजाबाद/Siddharth-Nath-Singh-said-that-time-to-correct-Baburs-mistake-in-Ayodhya902983Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1509<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019152820SiddharthNath1.jpg' alt='Images/16-10-2019152820SiddharthNath1.jpg' />अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में चल रही सुनवाई के आखिरी दिन यूपी के कैबिनेट मंत्री और सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह का विवादित बयान सामने आया है। सिद्धार्थनाथ सिंह ने मीडिया से बातचीत में कहा उन्होंने कहा कि जिस तरह पूर्व प्रधानमंत्री नेहरू की ओर से कश्मीर में अनुच्‍छेद 370 लगाने की गलती को ठीक किया गया, उसी तरह अयोध्या में बाबर की ओर से की गई भूल को भी ठीक करने का सही वक्त आ गया है। 

Ayodhya Case: योगी के मंत्री बोले- नेहरू के बाद अब बाबर की भूल ठीक करने का वक्त

Prayagraj. अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में चल रही सुनवाई के आखिरी दिन यूपी के कैबिनेट मंत्री और सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह का विवादित बयान सामने आया है। सिद्धार्थनाथ सिंह ने मीडिया से बातचीत में कहा उन्होंने कि जिस तरह पूर्व प्रधानमंत्री नेहरू की ओर से कश्मीर में अनुच्‍छेद 370 लगाने की गलती को ठीक किया गया, उसी तरह अयोध्या में बाबर की ओर से की गई भूल को भी ठीक करने का सही वक्त आ गया है। 

Images/16-10-2019152820SiddharthNath1.jpg

बता दें कि कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह प्रयागराज में बोल रहे थे, इस दौरान उनका यह बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि अयोध्या में मुग़ल शासक बाबर ने ऐतिहासिक भूल की थी। अब उसे सुधारने का सही वक्त आ गया है। उन्होंने कहा कि जिस तरह पंडित जवाहरलाल नेहरू की ओर से कश्मीर में अनुच्‍छेद 370 लगाने की गलती को ठीक किया गया, उसी तरह अयोध्या में बाबर की ओर से की गई भूल को भी ठीक करने का सही वक्त आ गया है। 

यह भी पढ़ें:-...Ayodhya Case: CJI ने तय की बहस की डेडलाइन, कहा- शाम 5 बजे पूरी हो जाएगी सुनवाई

कैबिनेट मंत्री ने आगे कहा कि मामला सुप्रीम कोर्ट में है, लेकिन इलाहाबाद हाईकोर्ट ने जो फैसला दिया था, उससे लोगों में काफी उत्साह और खुशी थी। उन्होंने कहा कि अब बाबर की इस भूल को ठीक कर देश को बंटने से रोका जाएगा।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
अयोध्या मसला: संजीदा हुई योगी सरकार, अफसरों की छुट्टियों पर लगाई रोकhttps://www.newstimes.co.in/news/82553/भारत/उत्तर-प्रदेश-/Ayodhya-issue:-Yogi-government-worried-ban-on-officers-holidays902982Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1534<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019150712Ayodhyaissue3.jpg' alt='Images/16-10-2019150712Ayodhyaissue3.jpg' />अयोध्या मामले को लेकर बड़ी सरगर्मियों के बीच योगी सरकार का प्रशासनिक अमला पूरी तरह चौकन्ना हो गया। अयोध्या में जहां प्रशासनिक गतिविधियां शुरू हो गयी है वहीं दूसरी ओर ताजा हालातों के मद्देनजर सभी सरकारी अधिकारियों की छुट्टियां निरस्त कर दी गयी हैं। 

अयोध्या मसला: संजीदा हुई योगी सरकार, अफसरों की छुट्टियों पर लगाई रोक

Lucknow. अयोध्या मामले को लेकर बड़ी सरगर्मियों के बीच योगी सरकार का प्रशासनिक अमला पूरी तरह चौकन्ना हो गया। अयोध्या में जहां प्रशासनिक गतिविधियां शुरू हो गयी है वहीं दूसरी ओर ताजा हालातों के मद्देनजर सभी सरकारी अधिकारियों की छुट्टियां निरस्त कर दी गयी हैं। 

Images/16-10-2019150630Ayodhyaissue1.jpg

मालूम हो कि बहुप्रतीक्षित अयोध्या मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में अंतिम दौर में है। मामले का फैसला चाहे जो भी हो शांति व्यवस्था किसी प्रकार प्रभावित न होने पर इसके लिए शासन स्तर पर युद्ध स्तर पर तैयारी की जा रही है। 
योगी सरकार इस मसले पर बेहद संजीदा है। इसी कड़ी में योगी सरकार के प्रदेश ने सभी सरकारी अधिकारियों की छुट्टियां रद्द कर दी है। 
सरकार की ओर से फरमान जारी हुआ है कि फील्ड में तैनात कोई भी पुलिस या प्रशासनिक अधिकारी 30 नवंबर तक कोई छुट्टी नहीं लेगा। 
सभी अधिकारियों को हर हाल में मुख्यालय पर बने रहने और हालातों पर पैनी निगाह बनाए रखने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं। 

Images/16-10-2019150712Ayodhyaissue3.jpg

  सोशल मीडिया पर रखी जा रही है पैनी निगाहें
आज के दौर में बातों को फैलाने का सशक्त माध्यम बन चुके सोशल मीडिया पर भी सरकारी तंत्र ने पैनी निगाह गड़ा रखी है। फेसबुक, व्हाट्स ऐप, ट्विटर हैंडल जैसे विभिन्न सोशल मीडिया साइट्स पर पुलिस की साइबर सेल निगरानी कर रही है। किसी तरह से भ्रामक और भड़काऊ पोस्ट करने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। 

यह भी पढ़ें...Ayodhya Case: CJI ने तय की बहस की डेडलाइन, कहा- शाम 5 बजे पूरी हो जाएगी सुनवाई


 

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
SSP ने निरीक्षण में जानी अपने अभियान की असलियत, CO से मांगी रिपोर्ट चौकी प्रभारी को निलंबित करने का आदेश https://www.newstimes.co.in/news/82550/भारत/उत्तर-प्रदेश-/SSP-ne-nirikshan-me-jaani-apne-abhiyan-ki-asliyat-co-se-mangi-report-902979Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNP863<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019142655SSPneniriksh2.jpeg' alt='Images/16-10-2019142655SSPneniriksh2.jpeg' />एसएसपी कलानिधी नैथानी द्वारा चलाए जा रहे अभियानों का किस तरह से मातहतों द्वारा मजाक बनाया जा रहा है इसकी खुद जिले के पुलिस कप्तान ने बुधवार को निरीक्षण के दौरान देख ली। एसएसपी द्वारा खुले में शराब पीने वालों के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान को लेकर मिल रही शिकायतों पर जब एसएसपी अचानक थाना गाजीपुर अंतर्गत पॉलीटेक्निक पुलिस चौकी के पास पहुंचे तो नजारा होश उड़ाने वाला था। शराब ठेके और बीयर बार के निरीक्षण में पाया गया कि लोग बड़े आराम से बाहर खुले में खड़े होकर मदिरा का सेवन कर रहे थे। यह दृश्य भी उस दौरान था जब दोपहर का समय था। जिसके बाद एसएसपी ने मामले में चौकी इंचार्ज फिरोज आलम को निलंबित करने का आदेश दे दिया। 

SSP ने निरीक्षण में जानी अपने अभियान की असलियत, CO से मांगी रिपोर्ट चौकी प्रभारी को निलंबित करने का आदेश 

Lucknow. राजधानी ने एसएसपी कलानिधी नैथानी द्वारा चलाए जा रहे अभियानों का किस तरह से मातहतों द्वारा मजाक बनाया जा रहा है इसकी खुद जिले के पुलिस कप्तान ने बुधवार को निरीक्षण के दौरान देख ली। एसएसपी द्वारा खुले में शराब पीने वालों के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान को लेकर मिल रही शिकायतों पर जब एसएसपी अचानक थाना गाजीपुर अंतर्गत पॉलीटेक्निक पुलिस चौकी के पास पहुंचे तो नजारा होश उड़ाने वाला था। शराब ठेके और बीयर बार के निरीक्षण में पाया गया कि लोग बड़े आराम से बाहर खुले में खड़े होकर मदिरा का सेवन कर रहे थे। यह दृश्य भी उस दौरान था जब दोपहर का समय था। जिसके बाद एसएसपी ने मामले में चौकी इंचार्ज फिरोज आलम को निलंबित करने का आदेश दे दिया। 

Images/16-10-2019142642SSPneniriksh1.jpegImages/16-10-2019142655SSPneniriksh2.jpeg

यह भी पढ़ें... कांग्रेस ने चला सबसे बड़ा दांव, सरकार को घेरने के लिए मैदान में उतारेगी यह दिग्गज

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
साक्षी महाराज का बड़ा बयान, 6 दिसंबर से शुरू होगा मंदिर निर्माणhttps://www.newstimes.co.in/news/82546/भारत/उत्तर-प्रदेश-/Sakshi-Maharajs-big-statement-temple-construction-will-start-from-December-6902975Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1534<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019134227SakshiMaharaj1.jpg' alt='Images/16-10-2019134227SakshiMaharaj1.jpg' />अपने बयानों को लेकर चर्चाओं में बने रहने वाले भाजपा के फायर ब्रांड नेता व उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज राम मंदिर को लेकर बड़ी बात कही है। अपने बयान में उन्होंने न सिर्फ सुप्रीम कोर्ट का फैसला राम मंदिर पक्ष में आने की बात कही बल्कि यह भी कहा कि 6 दिसंबर से मंदिर निर्माण शुरू हो जाएगा। साक्षी महाराज का यह बयान ठीक उस समय आया है जब इस बहुप्रतीक्षित मामले की सुनवाई बिल्कुल अंतिम चरण में है और पूरे देश की निगाहें इस पर टिकी हैं। 

साक्षी महाराज का बड़ा बयान, 6 दिसंबर से शुरू होगा मंदिर निर्माण

Lucknow. अपने बयानों को लेकर चर्चाओं में बने रहने वाले भाजपा के फायर ब्रांड नेता व उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज राम मंदिर को लेकर बड़ी बात कही है। अपने बयान में उन्होंने न सिर्फ सुप्रीम कोर्ट का फैसला राम मंदिर पक्ष में आने की बात कही बल्कि यह भी कहा कि 6 दिसंबर से मंदिर निर्माण शुरू हो जाएगा। साक्षी महाराज का यह बयान ठीक उस समय आया है जब इस बहुप्रतीक्षित मामले की सुनवाई बिल्कुल अंतिम चरण में है और पूरे देश की निगाहें इस पर टिकी हैं। 

Images/16-10-2019134227SakshiMaharaj1.jpg

मालूम हो कि साक्षी महाराज ने राम मंदिर आंदोलन से ही अपने राजनीति का सफर शुरू किया था। उन्होंने अपने ताजा बयान में कहा कि एक म​हीने के अंदर राम मंदिर मुद्दे पर तस्वीर बिल्कुल साफ हो जाएगी। 
मेरी अंतरआत्मा कहती है कि फैसला राम मंदिर पक्ष में ही आएगा और ऐसा होना भी चाहिए। उन्होंने कहा कि अच्छी बात यह है कि हिंदू के साथ साथ मुस्लिमों का एक बड़ा वर्ग भी यही चाहता है। 
उन्होंने कहा कि शिया वक्फ बोर्ड जिस पर इस मसले में पूरी तरह समर्थन में है ऐसे में कोर्ट का निर्णय आने पर मुस्लिम भाइयों का भी मैं आभार व्यक्त करूंगा। 
हिंदुओं के आराध्य भगवान श्री राम को जिस तरह सम्मान शिया वक्फ बोर्ड कर रहा है उसके लिए वे वाकई आभार के पात्र हैं। 
  मोदी और शाह की भी करी तारीफ
सांसद साक्षी महाराज ने कहा कि मोदी के नेतृत्व में गृह मंत्री अमित शाह ने जिस तरह से सौहार्दपूर्ण माहौल बनाया उसने धारा 370 और 35 ए की तरह राम मंदिर के पक्ष में आए निर्णय को भी सभी स्वीकार करेंगे। यह देश के इतिहास में एक मील का पत्थर साबित होगा। हिंदु और मुस्लिम दोनों मिलकर 6 दिसंबर से अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर का निर्माण करेंगे। 

यह भी पढ़ें...अयोध्या कांड: सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने राममंदिर का फाड़ा नक्शा

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
लालू की पार्टी तोड़ने की तैयारी में यह बागी नेता, कहा- आरजेडी के कई विधायक हमारे साथhttps://www.newstimes.co.in/news/82545/भारत/बिहार/पटना/RJD-MLA-Maheshwar-Yadav-hinted-at-joining-JDU902974Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1509<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019131849RJDMLAMahesh2.jpg' alt='Images/16-10-2019131849RJDMLAMahesh2.jpg' />लालू की गैर-मौजूदगी में पार्टी की कमान संभाल रहे तेजस्वी यादव के नेतृत्व के खिलाफ बगावत शुरू हो गयी। अब पार्टी के ही कुछ नेता आरजेडी को तोड़ने की तैयारी में हैं। दावा किया जा रहा है कि पार्टी को सक्षम नेतृत्व देने वाले नेता उपेक्षित हैं और कम योग्यता वाले नेता पार्टी चला रहे हैं। इस बात से नाराज कई विधायक जेडीयू में जाने की तैयारी कर रहे हैं। 

लालू की पार्टी तोड़ने की तैयारी में यह बागी नेता, कहा- आरजेडी के कई विधायक हमारे साथ

Patna. लालू की गैर-मौजूदगी में पार्टी की कमान संभाल रहे तेजस्वी यादव के नेतृत्व के खिलाफ बगावत शुरू हो गयी। अब पार्टी के ही कुछ नेता आरजेडी को तोड़ने की तैयारी में हैं। दावा किया जा रहा है कि पार्टी को सक्षम नेतृत्व देने वाले नेता उपेक्षित हैं और कम योग्यता वाले नेता पार्टी चला रहे हैं। इस बात से नाराज कई विधायक जेडीयू में जाने की तैयारी कर रहे हैं। 

Images/16-10-2019131719RJDMLAMahesh1.jpg

बता दें कि आरजेडी नेतृत्व पर सवाल खड़े करने वाले नेता कोई और नहीं बल्कि मुजफ्फरपुर के गायघाट सीट से विधायक महेश्वर यादव हैं। महेश्वर यादव का कहना है कि आरजेडी सही रास्ते पर नहीं चल रही है, इसलिए वह पार्टी के सभी कार्यक्रम से अलग रहते हैं। उन्होंने कहा कि सदस्यता अभियान में भी वह भाग नहीं ले रहे हैं। पार्टी भारी भटकाव की हालत में है। 

तेजस्वी यादव पर इशारों-इशारों में हमला बोलते हुए महेश्वर यादव ने कहा कि पार्टी को सक्षम नेतृत्व देने वाले नेता उपेक्षित हैं और कम योग्यता वाले नेता पार्टी चला रहे हैं, जिसके चलते पार्टी पर परिवारवाद हावी है। उन्होंने बगावत के संकेत देते हुए कहा कि उपचुनाव के बाद प्रदेश की राजनिति में बड़ा बदलाव हो सकता है। आरजेडी के अधिकतर विधायक उनके साथ हैं। 

Images/16-10-2019131849RJDMLAMahesh2.jpg

यह भी पढ़ें:-... तेजस्वी की सभा में बवाल करवाने में इस नेता का था हाथ, सामने आयी चौंकाने वाली सच्चाई

जेडीयू में जाने के दिये संकेत

इस दौरान महेश्वर यादव ने नीतीश कुमार की तारीफ करते हुए कहा कि देश भर के समाजवादी नेता नीतीश कुमार के नेतृत्व में आने को तैयार हैं। अपने जेडीयू में जाने का इशारा करते हुए अब्दुल बारी सिद्दिकी और रघुवंश सिंह के समर्थन का दावा किया।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
हरियाणा: यहां भाजपा प्रत्याशी की कार में आग लगने से मचा हड़कंप, कई झुलसेhttps://www.newstimes.co.in/news/82536/भारत/हरियाणा/Haryana:-A-fire-broke-out-in-BJP-candidates-car-here-many-scorched902965Wed, 16 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1534<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-10-2019112311HaryanaAfir2.jpg' alt='Images/16-10-2019112311HaryanaAfir2.jpg' />हरियाणा विधानसभा चुनाव में नूंह सीट से भाजपा प्रत्याशी की गाड़ी में अचानक आग लगने से आधा दर्जन कार्यकर्ता झुलस गए। इसके साथ ही गाड़ी में रखी प्रचार सामग्री भी जलकर स्वाहा हो गयी। कार्यकर्ताओं को नलहड़ मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। फिलहाल सभी का हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि गाड़ी की छत पर बैठ कर आतिशबाजी करने के दौरान यह हादसा हुआ। 

हरियाणा: यहां भाजपा प्रत्याशी की कार में आग लगने से मचा हड़कंप, कई झुलसे

- नूंह विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी की थी गाड़ी
- छत पर बैठ कर आतिशबाजी करते समय हुआ हादसा

New Delhi. हरियाणा विधानसभा चुनाव में नूंह सीट से भाजपा प्रत्याशी की गाड़ी में अचानक आग लगने से आधा दर्जन कार्यकर्ता झुलस (Worker Scorched) गए। इसके साथ ही गाड़ी में रखी प्रचार सामग्री भी जलकर स्वाहा हो गयी। कार्यकर्ताओं को नलहड़ मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। फिलहाल सभी का हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि गाड़ी की छत पर बैठ कर आतिशबाजी (Fireworks) करने के दौरान यह हादसा हुआ। 

Images/16-10-2019112215HaryanaAfir1.jpg

 

मिली जानकारी के मुताबिक नूंह विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी चौधरी जाकिर हुसैन की स्कार्पियो गाड़ी संख्या एचआर 41 बी 0002 से उनके कुछ कार्यकर्ता बीती रात प्रचार के लिए निकले थे। गाड़ी में प्रचार सामग्री भी रखी थी। 
इस दौरान प्रत्याशी के कार्यकर्ता गाड़ी की छत पर बैठकर आतिशबाजी (Fireworks) करने लगे। इसकी चिंगार गाड़ी के अंदर रखी प्रचार सामग्री पर गिरी तो आग भड़क उठी। 
धूं धूं कर जलती गाड़ी में प्रचार सामग्री के साथ रखे पटाखों ने आग में घी का काम कर दिया। 
अचानक हुई इस घटना में उनके कुछ कार्यकर्ता भी झुलस (Worker Scorched) गए। बता दें कि चौधरी जाकिर हुसैन निवर्तमान विधायक भी हैं। 

Images/16-10-2019112311HaryanaAfir2.jpg

इन सभी कार्यकर्ताओं को उपचार के लिए नलहड़ स्थित मेवाती मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। डॉक्टरों के मुताबिक सभी की हालत खतरे से बाहर है। 
इस विधानसभा चुनाव में नूंह विधानसभा कुछ ज्यादा ही सुर्खियां बटोर रही है। इससे पहले कई जगह नेताओं के समर्थकों की आपस बहस हो चुकी है वहीं कई जगह पर रौब गांठने के इरादे से फायरिंग की बाते भी सामने आयी हैं। 
फिलहाल भाजपा प्रत्याशी की प्रचार गाड़ी में आग लगने की इस घटना को लेकर प्रशासनिक अमला खासा चौकन्ना है। मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी गयी है। 

यह भी पढ़ें...अनंतनाग मुठभेड़: सुरक्षाबलों ने हिजबुल कमांडर समेत तीन आतंकियों को किया ढेर

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
आंध्र प्रदेश में दर्दनाक सड़क हादसा,8 की मौत -कई घायलhttps://www.newstimes.co.in/news/82524/भारत/आंध्र-प्रदेश/Tragic-road-accident-in-Andhra-Pradesh-8-killed---many-injured902953Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNP97<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019180339Tragicroadac1.jpg' alt='Images/15-10-2019180339Tragicroadac1.jpg' />.

आंध्र प्रदेश में दर्दनाक सड़क हादसा,8 की मौत -कई घायल

Hyderabad. आंध्र प्रदेश में मंगलवार को दर्दनाक सड़क हादसा हो गया है। आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी जिले में यात्रियों से भरी बस पलट गई है। ​इस हादसे में 8 लोगों की मौत हो गई जबकि कई अन्य घायल हुए हैं।

Images/15-10-2019180339Tragicroadac1.jpg

घटना मारेदुमिली और चिंतूर के बीच घटित हुई है

आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी जिले के मारेदुमिली और आदिवासी क्षेत्र चिंतूर घाट रोड पर वाल्मीकि कोंडा के पास यात्रियों से भरी बस खाई में पलट गई। आस—पास वालों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना पर गोदावरी जिले के पुलिस अधीक्षक अदनान नईम अस्मी ने कहा हादसे की पुष्टि की। पुलिस अधीक्षक अदनान नईम अस्मी ने कहा कि हादसे में 8 की मौत हो गई जबकि कई घायल हो गए हैं। अधीक्षक ने बताया कि मृत की संख्या का आंकड़ा बढ़ सकता है। वहीं घायलों को ​पास के अस्पताल में भर्ती कराया है।  

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
#NewstimesTrending : यूपी उपचुनाव 2019 में राजनीतिक दलों को दागियों से गुरेज नहींhttps://www.newstimes.co.in/news/82520/भारत/उत्तर-प्रदेश-/newstimes-trending-up-upchunav-2019-me-chunav-me-apradhi-902948Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNP863<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019173053AvrfcOBwqM.JPG' alt='Images/15-10-2019173053AvrfcOBwqM.JPG' />यूपी विधानसभा उपचुनाव में 109 में से 101 प्रत्याशियों का विश्लेषण किया तो कई चौंकाने वाले तथ्य सामने आएं। इन सभी का विश्लेषण दाखिल किये गये नामांकन पत्र के आधार पर किया गया था। नामांकन पत्र दाखिल करने के दौरान ही 101 प्रत्याशियों में से 24फीसदी प्रत्याशियों ने अपने ऊपर आपराधिक मामलों और 21 फीसदी प्रत्याशियों ने अपने ऊपर गंभीर आपराधिक मामलों की घोषणा की। अगर आपराधिक मामले वाले प्रत्याशियों का विश्लेषण दलों के आधार पर किया जाए तो सबसे ज्यादा 45फीसदी बीएसपी प्रत्याशियों, 40 फीसदी बीजेपी प्रत्याशियों, 30 फीसदी कांग्रेस और 22 फीसदी समाजवादी प्रत्याशियों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किये हैं। जबकि 45फीसदी बीएसपी प्रत्याशियों, 30 फीसदी बीजेपी प्रत्याशियों, 20 फीसदी कांग्रेस और 22 फीसदी समाजवादी प्रत्याशियों ने अपने ऊपर गंभीर आपराधिक मामले होने की बात स्वीकार की है। 

#NewstimesTrending : यूपी उपचुनाव 2019 में राजनीतिक दलों को दागियों से गुरेज नहीं

- Gaurav Shukla 

LUCKNOW. उत्तर प्रदेश में विधानसभा उपचुनाव को लेकर राजनीतिक दलों से लेकर प्रदेश की गलियों तक गहमागहमी का दौर जारी है। 11 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए 109 प्रत्याशियों द्वारा नामांकन दाखिल किया गया है। नामांकन दाखिल किये जाने के साथ ही इन प्रत्याशियों और राजनीतिक दलों द्वारा कवायद जारी है कि किस तरह ज्यादा से ज्यादा सीटों पर अपना कब्जा जमाया जाए। हालांकि गत चुनावों की भांति ही इस बार भी राजनीतिक दलों द्वारा टिकट बांटने के दौरान दागियों से कोई परहेज नहीं किया गया है। लगभग सभी दलों ने ही 11 सीटों पर होने वाले उपचुनाव में कोई न कोई दागी चुनाव में उतारा ही है। 

Images/15-10-2019172408newstimestren1.jpgImages/16-10-2019113244asVu9MxrUr.jpgImages/15-10-2019173053AvrfcOBwqM.JPG
© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
इलाहाबाद विवि में छात्रों का हंगामा, पुलिस ने किया लाठीचार्जhttps://www.newstimes.co.in/news/82517/भारत/उत्तर-प्रदेश-/Uproar-among-students-in-Allahabad-University-police-lathi-charged902945Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1534<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019161840Uproaramongs2.jpg' alt='Images/15-10-2019161840Uproaramongs2.jpg' />इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रसंघ बहाली की मांग कर रहे छात्रों की प्रॉक्टोरियल बोर्ड से तीखी नोकझोंक हुई। मामला इतना बढ़ा कि पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। इस दौरान कई छात्रों के घायल होने की सूचना है। वहीं दूसरी ओर 12 छात्रों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया हे। माहौल को देखते हुए भारी तादात में पुलिस फोर्स परिसर में तैनात कर दिया गया है। इस हंगामे तकरीबन आधा दर्जन गाड़ियों में तोड़फोड़ भी की गयी है।  

इलाहाबाद विवि में छात्रों का हंगामा, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

- छात्रसंघ चुनाव की मांग कर रहे थे छात्र
- 11 छात्रों को हिरासत में लिया गया, कई घायल

Allahabad. इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रसंघ बहाली की मांग कर रहे छात्रों की प्रॉक्टोरियल बोर्ड से तीखी नोकझोंक हुई। मामला इतना बढ़ा कि पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। इस दौरान कई छात्रों के घायल होने की सूचना है। वहीं दूसरी ओर 12 छात्रों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया हे। माहौल को देखते हुए भारी तादात में पुलिस फोर्स परिसर में तैनात कर दिया गया है। इस हंगामे तकरीबन आधा दर्जन गाड़ियों में तोड़फोड़ भी की गयी है।  

Images/15-10-2019161816Uproaramongs1.JPG

बता दें कि इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्र परिषद चुनाव की मांग कर रहा है। जबकि प्रॉक्टोरियल बोर्ड इसके खिलाफ है। 
इसी बात को लेकर मंगलवार हालात बिगड़ गए और छात्रों से नोकझोंक होने लगी। बता दें कि इससे पहले सोमवार को नाराज छात्रों ने यहां 'गधा' लेकर विश्वविद्यालय परिसर में विरोध दर्ज कराते हुए विवि प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की थी। 
मंगलवार को नाराज छात्र उग्र हुए तो पुलिस ने लाठियां पटकनी शुरू कर दी। जिससे छात्रों में भगदड़ मच गयी। 
छात्रों की ओर से भी पथराव कर परिसर में खड़ी तमाम गाड़ियों के शीशे क्षतिग्रस्त किए गए। घटना के बाद चीफ प्रॉक्टर ने प्रदर्शन की अगुवाई कर रहे छात्र नेताओं समेत तकरीबन 35 छात्रों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के लिए तहरीर दी है। 

Images/15-10-2019161840Uproaramongs2.jpg

यह भी पढ़ें...उन्नाव: छेड़छाड़ का विरोध करने पर युवती को चलती ट्रेन से फेंका, एक पैर कटा

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
कांग्रेस प्रत्याशी की अजब परेशानी, जिला निर्वाचन अधिकारी से लगाई गुहारhttps://www.newstimes.co.in/news/82510/भारत/उत्तर-प्रदेश-/Congress-candidates-strange-problem-pleaded-with-District-Election-Officer902938Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1534<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019132913Congresscandi2.jpg' alt='Images/15-10-2019132913Congresscandi2.jpg' />यूपी की राजधानी लखनऊ की कैंट विधानसभा सीट से उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी का जिला निर्वाचन अधिकारी को जिला गया पत्र खूब सुर्खियां बटोर रहा है। बात दरअसल यह है कि उनके गनर ने चुनाव प्रचार में उनके साथ पैदल चलने से इंकार कर दिया है। जिस पर उन्होंने अपना सुरक्षा गार्ड बदलने की मांग की है। 

कांग्रेस प्रत्याशी की अजब परेशानी, जिला निर्वाचन अधिकारी से लगाई गुहार

- राजधानी लखनऊ की कैंट विधानसभा सीट का मामला
- सुरक्षा गार्ड ने किया प्रचार में पैदल चलने से इंकार

Lucknow. यूपी की राजधानी लखनऊ की कैंट विधानसभा सीट से उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी का जिला निर्वाचन अधिकारी को जिला गया पत्र खूब सुर्खियां बटोर रहा है। बात दरअसल यह है कि उनके गनर ने चुनाव प्रचार में उनके साथ पैदल चलने से इंकार कर दिया है। जिस पर उन्होंने अपना सुरक्षा गार्ड बदलने की मांग की है। 

Images/15-10-2019132850Congresscandi1.jpg

मालूम हो कि उत्तर प्रदेश में विधानसभा उपचुनाव का चुनाव प्रचार पूरे जोर शोर से चल रहा है। सभी राजनैतिक दर पूरी ताकत के साथ चुनावी माहौल अपने पक्ष में करने के प्रयास में जुटे हैं। सभी प्रत्याशी वोटरों की गणेश परिक्रमा कर रहे हैं। 
ऐसी ही कोशिश में जुटे लखनऊ की कैंट विधानसभा सीट से कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ रहे दिलप्रीत सिंह विर्क उर्फ डीपी सिंह के सामने एक नई समस्या खड़ी हो गयी है। 
उन्होंने जिला निर्वाचन अधिकारी को पत्र सौंपते हुए एक अनोखी गुहार लगाई है। उन्होंने इस पत्र में कहा कि उन्हें जो गनर दिया गया है सही से काम नहीं कर रहा है। 
बीते कुछ दिनों से वह उनके साथ आ भी नहीं रहा है। दिलप्रीत ने हवाला दिया है कि चुनाव प्रचार के लिए उन्हें कई किलोमीटर पैदल चलना पड़ा रहा है। 

Images/15-10-2019132913Congresscandi2.jpg

इस दौरान कई बार विरोधी प्रत्याशियों के समर्थकों से उनका आमना सामना हो जाता है। उन्होंने कहा कि सुरक्षा की दृष्टि से गार्ड साथ होना आवश्यक है लेकिन उनका सुरक्षा गार्ड संदीप पिछले कई दिनों से नहीं आ रहा है। वह प्रचार में उनके पैदल चलने को तैयार नहीं हैं। 
उन्होंने अपने इस पत्र जिला निर्वाचन अधिकारी से गार्ड संदीप सिंह के स्थान पर कोई अन्य सुरक्षा गार्ड उपलब्ध कराने की मांग की है। 
कांग्रेस प्रत्याशी का जिला निर्वाचन अधिकारी को लिखा गया यह पत्र इन दिनों राजनीति के गलियारों में खूब सुर्खियां बटोर रहा है। 

 

यह भी पढ़ें...राहुल गांधी का बड़ा बयान, अंग्रेजों की तरह काम कर रही भाजपा

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
राहुल गांधी का बड़ा बयान, अंग्रेजों की तरह काम कर रही भाजपा https://www.newstimes.co.in/news/82502/भारत/हरियाणा/Rahul-Gandhis-big-statement-BJP-working-like-British902930Tue, 15 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1534<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-10-2019104509RahulGandhis4.jpg' alt='Images/15-10-2019104509RahulGandhis4.jpg' />दो राज्यों के विधानसभा चुनाव प्रचार की कमान सम्हालते ही राहुल गांधी ने केंद्र की सत्तारूढ भाजपा सरकार की जबरदस्त घेराबंदी शुरू कर दी है। उन्होंने हरियाणा की नूंह विधानसभा में एक जनसभा को सम्बोधित करते भाजपा पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि भाजपा अंग्रेजो की तर्ज पर समाज को बांट कर राजनीति कर रही है। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के 'मन की बात' कार्यक्रम पर भी तंज कसा। 

राहुल गांधी का बड़ा बयान, अंग्रेजों की तरह काम कर रही भाजपा 

- पूर्व अध्यक्ष ने पीएम मोदी पर भी जमकर साधा निशाना

- बोलें बहुत हुई 'मन की बात', कुछ 'काम की बात' भी करें
New Delhi. दो राज्यों के विधानसभा चुनाव प्रचार की कमान सम्हालते ही राहुल गांधी ने केंद्र की सत्तारूढ भाजपा सरकार की जबरदस्त घेराबंदी शुरू कर दी है। उन्होंने हरियाणा की नूंह विधानसभा में एक जनसभा को सम्बोधित करते भाजपा पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि भाजपा अंग्रेजो की तर्ज पर समाज को बांट कर राजनीति कर रही है। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के 'मन की बात' कार्यक्रम पर भी तंज कसा। 

Images/15-10-2019104319RahulGandhis1.jpg

 

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने नूंह में जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि हमारे प्रधानमंत्री जी सिर्फ 'मन की बात' करते हैं वह 'काम की बात' पता नहीं कब करेंगे। 
उन्होंने कहा कि मोदी जी झूठे वादे करते रहे हैं उन्हीं के पद चिन्हों पर खट्टर भी चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि मै यहां सिर्फ काम की बात करने आया हूं इस मंच से जो कहूंगा वह किया भी जाएगा। 

Images/15-10-2019104416RahulGandhis2.jpg

इस बात का पता कांग्रेस शासित राज्य राजस्थान और मध्य प्रदेश से लगाया जा सकता है। पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बांटने की राजनीति पर भी भाजपा पर जमकर हमला साधा। 
उन्होंने कहा कि आज देश मे भाजपा वहीं काम कर रही है जो वर्षों पर हले अंग्रेस करते थे। उनका सिद्धांत है देश को धर्म और सम्प्रदाय के नाम पर बांटों और राज करो। 
उन्होंने कहा कि भाजपा झूठे वादे कर सिर्फ सत्ता हथियाने का काम करती रही है। न युवाओं को रोजगार मिला न किसानों को लाभकारी दाम। 
प्रधानमंत्री अपने चुनिंदा कॉरपोरेट घरानों की जेबे भरने का काम कर रहे हैं। अब तक प्रधानमंत्री के चहेते कई व्यापारिक समूहों की जेब में साढ़े पांच लाख करोड़ रुपया जा चुका है। 

Images/15-10-2019104440RahulGandhis3.jpg

  आम आदमी की जेब में पैसे डालने से सुधरेगी अर्थ व्यवस्था
राहुल गांधी ने देश की बदहाल अर्थव्यवस्था का हवाला देते हुए कहा कि इसे पटरी पर लाया जाना बेहद जरूरी है। जब तक आम आदमी की जेब खाली रहेगी तब तक अर्थव्यवस्था की हालत सुधरने वाली नहीं हैं। जमीन पर हालात बेहद खराब है और हमारे प्रधानमंत्री लोगों से चांद की बाते कर रहें है। इससे देश का भला नहीं होने वाला है। उन्हे चाहिए आम आदमी की जेब में पैसा डाले ताकि देश के बिगड़े आर्थिक हालात सुधर सके। 

Images/15-10-2019104509RahulGandhis4.jpg

  कांग्रेस सरकार आने किया कई सौगातों का वादा
हरियाणा के सबसे पिछड़े क्षेत्रों में शुमार नूंह के लोगों से पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने अपनी सरकार आने कई सौगात देने का वादा किया। उन्होंने कहा कि हम राज्य की सत्ता में आए तो मेवात नहर और विश्वविद्यालय स्थापित किया जाएगा। इसके अलावा लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने का काम भी प्राथमिकता के आधार पर किया जाएगा। 

यह भी पढ़ें...BREAKING: योगी सरकार का बड़ा फैसला, यूपी में 25 हजार होमगार्डों की छटनी

 

 

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
घाटी में मानवधिकार के उल्लंघन की कोई बात नहीं आई सामने: नसीरुद्दीन चिश्तीhttps://www.newstimes.co.in/news/82489/भारत/राजस्थान/There-was-no-mention-of-human-rights-violation-in-the-valley:-Naseeruddin-Chishti902916Mon, 14 Oct 2019 00:00:00 GMTNP97<img src='http://newstimes.co.in/Images/14-10-2019181231Therewasnom1.jpg' alt='Images/14-10-2019181231Therewasnom1.jpg' />.

घाटी में मानवधिकार के उल्लंघन की कोई बात नहीं आई सामने: नसीरुद्दीन चिश्ती

Jaipur. घाटी से अनुच्छेद 370 समाप्त किए तकरीबन दो महीने हो गए हैं। लगातार विपक्षी दल के नेता व अन्य लोग घाटी पहुंचकर वहां के हालातों का जायजा ले रहे हैं। अब जम्मू कश्मीर में सूफी प्रतिनिधिमंडल की ओर से घाटी को लेकर कई बड़ी और अहम बातें कही गईं हैं। सूफी प्रतिनिधिमंडल के सदस्य नसीरुद्दीन चिश्ती ने कहा कि घाटी में मानवाधिकार के उल्लंघन की कोई बात सामने नहीं आई है। 

Images/14-10-2019181231Therewasnom1.jpg

 प्रतिनिधिमंडल तीन दिवसीय यात्रा पर था

प्रतिनिधिमंडल ने कई स्थानीय लोगों से बातचीत की और जानकारी भी ली,लेकिन सभी ने मानवाधिकार के उल्लंघन की बात को सिरे से खारिज कर दिया। ध्यान रहे कि अजमेर शरीफ दरगाह के नसीरुद्दीन चिश्ती की अध्यक्षता में अखिल भारतीय सूफी सज्जादानशी परिषद का प्रतिनिधिमंडल तीन दिवसीय यात्रा पर था। उन्होंने कहा कि घाटी को लेकर पाकिस्तान झूठ फैला रहा है। उन्होंने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के जिहाद के लिए आह्वान को शर्मनाक करार दिया। इसके साथ ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को नसीहत देते हुए कहा कि अगर पाकिस्तान की दिलचस्पी है तो उसे चीन और फिलिस्तीन में जाकर लड़ाई लड़नी चाहिए। चिश्ती ने कहा कि भारत मुसलमानों के लिए सबसे अच्छा देश है। 

आपको बता दें कि घाटी से अनुच्छेद 370 हटने के बाद से ही लगातार पाकिस्तान दुनिया के सामने यह झूठ फैलाने की कोशिश कर रहा है कि कश्मीर के लोगों के ऊपर भारत में अत्याचार हो रहा है। 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
BJP पर राहुल, अखिलेश, मायावती में कौन पड़ेगा भारी? सीएम योगी ने दिया ये जवाबhttps://www.newstimes.co.in/news/82486/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/CM-Yogi-said-that-no-opposition-leader-is-a-challenge-for-BJP902913Mon, 14 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1509<img src='http://newstimes.co.in/Images/14-10-2019164107CMYogisaidt1.jpg' alt='Images/14-10-2019164107CMYogisaidt1.jpg' />यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने विपक्षी दलों के नेताओं पर जोरदार है। सीएम योगी ने कहा है कि यूपी में राहुल गांधी प्रियंका गांधी, अखिलेश यादव या मायावती में से वह किसी को भी बड़ी चुनौती नहीं मानते है। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश में भाजपा के लिए कोई भी चुनौती नहीं है। 

BJP पर राहुल, अखिलेश, मायावती में कौन पड़ेगा भारी? सीएम योगी ने दिया ये जवाब

Lucknow. यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने विपक्षी दलों के नेताओं पर जोरदार बोला है। सीएम योगी ने कहा है कि यूपी में राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, अखिलेश यादव या मायावती में से वह किसी को भी बड़ी चुनौती नहीं मानते है। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश में भाजपा के लिए कोई भी चुनौती नहीं है। 

Images/14-10-2019164107CMYogisaidt1.jpg

सीएम योगी ने आगे कहा कि इन सभी की कारगुजारी प्रदेश की जनता जानती है। उन्होंने कहा कि इन नेताओं ने प्रदेश या देश के हित के लिए में कोई भी ऐसा काम नहीं किया है, जिसके कारण जनता इन्हें समर्थन दें। सभी के चेहरे बेनकाब हो चुके हैं, और सब अपने आप को आजमा चुके हैं। 

यह भी पढ़ें:-...बागी संजय निरूपम का बड़ा फैसला, कांग्रेसियों में दौड़ी खुशी की लहर

विरोधियों पर तंज़ कसते हुए योगी ने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव परिणाम स्पष्ट कर दिया कि प्रदेश में कौन कितने पानी में है। इन सभी लोगों को प्रदेश में भी और देश में भी शासन करने का अवसर प्रदान हुआ है। 

यूपी विधानसभा उपचुनाव को लेकर उन्होंने कहा कि भाजपा विकास सुशासन और राष्ट्रवाद के मुद्दे को लेकर चुनाव में है और सभी 11 सीटों पर भाजपा की बड़ी जीत होगी।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
बागी संजय निरूपम का बड़ा फैसला, कांग्रेसियों में दौड़ी खुशी की लहरhttps://www.newstimes.co.in/news/82477/भारत/महाराष्ट्र/मुंबई/Sanjay-Nirupam-said-that-he-is-not-leaving-Congress902904Mon, 14 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1509<img src='http://newstimes.co.in/Images/14-10-2019143539SanjayNirupam1.PNG' alt='Images/14-10-2019143539SanjayNirupam1.PNG' />कांग्रेस में नाराज चल रहे पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय निरूपम ने मिलिंद देवड़ा पर एक बार फिर हमला किया है। संजय निरूपम ने महाराष्ट्र में राहुल गांधी की रैली में अनुपस्थिति को लेकर मिलिंद देवड़ा पर निशाना साधते हुए पूछा है कि निकम्मा अनुपस्थित क्यों था? इससे पहले भी निरूपम ने 'निकम्मा' शब्द का इस्तेमाल मिलिंद देवड़ा को लेकर किया था। 

बागी संजय निरूपम का बड़ा फैसला, कांग्रेसियों में दौड़ी खुशी की लहर

Mumbai. कांग्रेस में नाराज चल रहे पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय निरूपम ने मिलिंद देवड़ा पर एक बार फिर हमला किया है। संजय निरूपम ने महाराष्ट्र में राहुल गांधी की रैली में अनुपस्थिति को लेकर मिलिंद देवड़ा पर निशाना साधते हुए पूछा है कि निकम्मा अनुपस्थित क्यों था? इससे पहले भी निरूपम ने 'निकम्मा' शब्द का इस्तेमाल मिलिंद देवड़ा को लेकर किया था। 

Images/14-10-2019143539SanjayNirupam1.PNG

बता दें कि संजय निरूपम भी राहुल गांधी की रैली में अनुपस्थित थे, लेकिन उन्होंने अपनी अनुपस्थिति को लेकर सफाई दी है। उन्होंने ट्वीट करके कहा है कि उन्होंने कांग्रेस बॉस को इस कार्यक्रम में शामिल ना होने जानकारी दी थी। उन्होंने देवड़ा पर तंज़ कसते हुए कहा कि मैंने तो पहले से सूचित कर दिया था...लेकिन निकम्मा अनुपस्थित क्यों था?

यह भी पढ़ें:-...महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: आरएसएस के गढ़ में आज गरजेंगी मायावती, इतने सीटों पर लड़ रही BSP

कांग्रेस नहीं छोड़ेंगे संजय निरुपम

वहीं, एक न्यूज़ चैनल के कार्यक्रम में संजय निरुपम ने यह साफ किया कि वह कांग्रेस नहीं छोड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह कांग्रेस नहीं छोड़ रहे हैं। पार्टी चाहे तो उन्हें लेकर कोई फैसला कर सकती है। उन्होंने कहा कि वह किसी और पार्टी में नहीं जाना चाहते। निरूपम ने कहा कि उन्हें लोकसभा चुनाव से पहले मुंबई अध्यक्ष के पद से हटाया गया, उन्हें बहुत दुख हुआ, लेकिन वह चुप रहे। 

उन्होंने कहा कि मिलिंद देवड़ा को चेहरा बनाकर उन्हें हटाया गया। कांग्रेस इस वक्त बुरे दौर से गुजर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में जो हो रहा है वह गलत हो रहा है। पार्टी को सबको साथ लाकर सोचना चाहिए कि ऐसा क्यों हो रहा है उनके बागी होने से कांग्रेस पर कोई फर्क नहीं पड़ता। उन्हें जो सही लगा उन्होंने वही किया। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
तेजस्वी की सभा में बवाल करवाने में इस नेता का था हाथ, सामने आयी चौंकाने वाली सच्चाईhttps://www.newstimes.co.in/news/82473/भारत/बिहार/पटना/Fight-during-Tejashwi-Yadavs-meeting-in-Simri-Bakhtiyarpur902900Mon, 14 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1509<img src='http://newstimes.co.in/Images/14-10-2019122153FightduringT3.jpg' alt='Images/14-10-2019122153FightduringT3.jpg' />बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव रविवार को सिमरी बख्तियारपुर स्थित उच्‍च विद्यालय में आयोजित के एक चुनावी सभा में हिस्सा लेने पहुंचे। आयोजित सभा में तेजस्वी यादव के मंच पर पहुंचने के कुछ देर बाद ही स्टेज के ठीक सामने कुछ लोगों के बीच बहस शुरू हो गयी। इसके बाद देखते ही देखते यह बहस हाथापाई में बदल गयी और लोग एक-दूसरे पर कुर्सियां फेंकने लगे। वहीं, भीड़ पर काबू पाने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ा। 

तेजस्वी की सभा में बवाल करवाने में इस नेता का था हाथ, सामने आयी चौंकाने वाली सच्चाई

Patna. बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव रविवार को सिमरी बख्तियारपुर स्थित उच्‍च विद्यालय में आयोजित के एक चुनावी सभा में हिस्सा लेने पहुंचे। सभा में तेजस्वी यादव के मंच पर पहुंचने के कुछ देर बाद ही स्टेज के ठीक सामने कुछ लोगों के बीच बहस शुरू हो गयी। इसके बाद देखते ही देखते यह बहस हाथापाई में बदल गयी और लोग एक-दूसरे पर कुर्सियां फेंकने लगे। वहीं, भीड़ पर काबू पाने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ा। 

Images/14-10-2019121952FightduringT2.jpg

इस घटना के चश्मदीदों का कहना है कि बख्तियारपुर स्थित उच्‍च विद्यालय परिसर में चुनावी सभा का आयोजन किया गया था। जिसमें तेजस्वी यादव हिस्सा लेने के लिए पहुंचे थे। उनके मंच पर पहुंचने के कुछ देर बाद ही स्टेज के ठीक सामने कुछ लोगों के बीच बहस हुई और थोड़ी देर में ही यह बहस हाथापाई में बदल गई। इसके बाद हंगामे में जमकर कुर्सियां फेंकी जाने लगीं। 

इस दौरान पुलिस ने जब स्थिति पाने के लिए लाठीचार्ज किया तो कार्यक्रम में थोड़ी देर के लिए भगदड़ मच गई। वहीं, हंगामे में शामिल एक व्यक्ति को सिमरी बख्तियारपुर पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। हंगामें के दौरान मंच पर मौजूद नेता शांति बनाने की अपील करते नजर आए। प्रत्याशी एवं नेताओं के हस्तक्षेप के उपरांत हंगामा शांत हुआ। इसके बाद सभा शुरू हुई। इस बवाल में कई लोगों को चोट लगने की खबर है।

Images/14-10-2019121945FightduringT1.jpg

बता दें कि तेजस्वी यादव महागठबंधन के उम्मीदवार जफर आलम के प्रचार में सिमरी बख्तियारपुर आए थे। सिमरी बख्तियारपुर में बिहार विधानसभा का उपचुनाव में महागठबंधन (Mahagathbandhan) की ओर से आरजेडी ने अपना उम्‍मीदवार खड़ा किया है।

इसी सीट से महागठबंधन में शामिल वीआइपी (VIP) पार्टी ने भी अपना उम्‍मीदवार दे दिया है। इस सभा में पूर्व मंत्री अशोक सिंह, अब्दुल गफूर, विधायक अरुण यादव, ओमप्रकाश नारायण, लोजद नेता रितेश रंजन, अभय भगत सहित अन्य मौजूद थे। 

यह भी पढ़ें:-...Mau: गैस सिलेंडर फटने से भरभराकर गिरा दो मंजिला मकान, 10 की मौत, 15 घायल

मुखिया पर लगा साजिश का आरोप

हंगामे में जख्मी आरजेडी जिला उपाध्यक्ष विनोद यादव ने आरोप लगाया कि कार्यक्रम को असफल करने की साजिश एक मुखिया द्वारा रची गई थी। उन्होंने कहा कि एक लड़के को बहकाकर सीधे मंच पर चढ़ा दिया गया। रोकने के दौरान उसने मंच पर ही मारपीट शुरू कर दी। 

Images/14-10-2019122153FightduringT3.jpg

विनोद यादव ने बताया कि मुखिया कई पार्टियों से जुड़े हैं और उन्होंने उनकी फोटो फेसबुक पर वायरल की थी। इसी बात को लेकर उसने एक सोची-समझी साजिश के तहत हंगामा करवाया।  

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: आरएसएस के गढ़ में आज गरजेंगी मायावती, इतने सीटों पर लड़ रही BSPhttps://www.newstimes.co.in/news/82472/भारत/Maharashtra-assembly-elections:-Mayawati-thunders-in-the-stronghold-of-RSS902899Mon, 14 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/14-10-2019120610Maharashtraas2.JPG' alt='Images/14-10-2019120610Maharashtraas2.JPG' />महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Assembly elections) का बिगुल बजते ही सभी राजनीतिक दलों ने कमर कसके मैदान में उतरने की तैयारी शुरु कर दी है। वहीं बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में अपनी पार्टी को धार देने के लिए उम्मीदवारों  के लिए चुनाव प्रचार की शुरुआत सोमवार को यानी आज करने वाली हैं।

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: आरएसएस के गढ़ में आज गरजेंगी मायावती, इतने सीटों पर लड़ रही BSP

Lucknow. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Assembly elections) का बिगुल बजते ही सभी राजनीतिक दलों ने कमर कसके मैदान में उतरने की तैयारी शुरु कर दी है। वहीं बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में अपनी पार्टी को धार देने के लिए उम्मीदवारों  के लिए चुनाव प्रचार की शुरुआत सोमवार को यानी आज करने वाली हैं। बसपा सुप्रीमो ने ट्वीट (tweet) कर यह जानकारी देते हुए बताय कि वह सोमवार को राज्य के नागपुर में जनसभा को संभोधित करेंगी। 

Images/14-10-2019120531Maharashtraas1.jpg

  विशाल चुनावी जनसभा

उन्होंने ट्वीट में कहा, 'महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए बहुजन समाज पार्टी (बसपा) द्वारा कल दिनांक 14 अक्टूबर को नागपुर के इन्दौरा मैदान में एक विशाल चुनावी जनसभा आयोजित की गई है, जिसे सम्बोधित करने का मेरा कार्यक्रम निर्धारित है। इसमें पार्टी के कार्यकर्ता एवं प्रत्याशी आदि बड़ी संख्या में शामिल होंगे।''

Images/14-10-2019120610Maharashtraas2.JPG

खबरों के अनुसार राज्य में बसपा प्रमुख द्वारा कम से कम 6 विधानसभा क्षेत्रों में रैलियां करने की रणनीति बनाई गई है। बताया जा रहा है कि इसके लिए स्थान और तारीखें निर्धारित की जा रही हैं। बता दें की नागपुर को आरएसएस (RSS) का गढ़ माना जाता है ऐसे में यहां पर मायावती की चुनावी रैली क्या रंग लाती है यह देखना दिलचस्प होगा। 

यह भी पढ़ें... रामपुर में उपचुनाव जीतेगी बसपा! समशुद्दीन ने चली बड़ी चाल

  264 सीटों पर लड़ेगी बसपा

रैलियों के लिए कार्यक्रम को अंतिम रूप दिया जा रहा है। बताते चलें कि बसपा ने महाराष्ट्र (Maharashtra) की 288 में से 264 विधानसभा सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं। मीडिया खबरों अनुसार नागपुर के बाद पुणे और वाशिम में भी मायावती जनसभा कर हुंकार भरने की तैयारी में हैं। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
दोबारा सीएम बनने के लिए अखिलेश ने बनाया ये जबरदस्त प्लान, भाजपाइयों की उडी नींदhttps://www.newstimes.co.in/news/82459/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Akhilesh-Yadav-is-busy-in-saving-Yadav-vote-bank902886Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1509<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019155001AkhileshYadav1.jpg' alt='Images/13-10-2019155001AkhileshYadav1.jpg' />सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव साल 2022 में होने वाले यूपी विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर दूसरी पार्टियों की अपेक्षा दो कदम आगे चल रहे हैं। अखिलेश ने विधानसभा चुनाव की तैयारी अभी से शुरू कर दी है। जिसके तहत वह पुरानी गलतियों से सबक लेने के साथ अपने छिटके मूल वोट बैंक को सहेजने में भी जुटे हुए हैं। 

दोबारा सीएम बनने के लिए अखिलेश ने बनाया ये जबरदस्त प्लान, भाजपाइयों की उडी नींद

Lucknow. सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव साल 2022 में होने वाले यूपी विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर दूसरी पार्टियों की अपेक्षा दो कदम आगे चल रहे हैं। अखिलेश ने विधानसभा चुनाव की तैयारी अभी से शुरू कर दी है। जिसके तहत वह पुरानी गलतियों से सबक लेने के साथ अपने छिटके मूल वोट बैंक को सहेजने में भी जुटे हुए हैं। 

Images/13-10-2019155001AkhileshYadav1.jpg

लोकसभा चुनाव में मिली हार से लिया सबक

अखिलेश यादव ने पुरानी दुश्मनी भुलाते हुए बसपा से गठबंधन किया था बावजूद इसके उनकी पार्टी के लिए संतोषजनक परिणाम नहीं आए। इसका मुख्य कारण सपा के यादव पट्टी के वोट भी छिटकना रहा। जिसको लेकर सपा ने अब कसरत शुरू कर दी है। वहीं, पुष्पेंद्र यादव मुठभेड़ कांड के बाद अखिलेश यादव के झांसी का दौरा इसी रणनीति का हिस्सा माना जा रहा है। 

यह भी पढ़ें;-...अखिलेश यादव बोले- पुलिस कर रही है अत्याचार, अन्याय के साथ सरकार

यही नहीं सपा ने अपने यादव नेताओं को मानने की कवायद भी कर दी है। इसी कड़ी में आजमगढ़ के पूर्व सांसद रमाकांत यादव को पार्टी में शामिल कराकर पूर्वांचल के यादवों को साधने का एक बड़ा प्रयास किया गया है। दूसरी तरफ चाचा शिवपाल यादव के प्रति नरम रवैया दिखाकर अखिलेश ने मुलायम के परिवार के एक होने की चाहता रखने वालों को संदेश दिया है कि वह परिवार की एकता के लिए कुछ भी करने को तैयार हैं। जिससे नाराज वोटर्स उनके समर्थन में आ गए हैं। 

इसके अलावा पार्टी यादवों के साथ मुस्लिम वोट बैंक के गणित को भी मजबूत करना चाहती है। इसीलिए पार्टी ने मुस्लिम नेताओं को भी बैटिंग करने को मैदान में उतारा है। माना यह भी जा रहा है कि यादवों में एकता रहेगी तो एम-वाई (मुस्लिम-यादव) समीकरण का रंग भी गाढ़ा हो सकेगा। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
रामपुर में उपचुनाव जीतेगी बसपा! समशुद्दीन ने चली बड़ी चालhttps://www.newstimes.co.in/news/82454/भारत/BSP-will-win-the-by-election-in-Rampur-Samasuddin-did-a-big-trick902881Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019144555BSPwillwint1.jpg' alt='Images/13-10-2019144555BSPwillwint1.jpg' />उपचुनाव के बिगुल बजते ही चुनावी बिसात बिछ गई सभी राजनीतिक दलों ने अपने- अपने महारथियों को तैयार करना शुरु कर दिया है। बसपा सुप्रीमो मायावती अपनी ही पार्टी के नेताओं से धोखा खाने के बाद अब फूंक-फूंक कर कदम रख रही हैं। 

रामपुर में उपचुनाव जीतेगी बसपा! समशुद्दीन ने चली बड़ी चाल

Lucknow. उपचुनाव के बिगुल बजते ही चुनावी बिसात बिछ गई सभी राजनीतिक दलों ने अपने- अपने महारथियों को तैयार करना शुरु कर दिया है। बसपा सुप्रीमो मायावती अपनी ही पार्टी के नेताओं से धोखा खाने के बाद अब फूंक-फूंक कर कदम रख रही हैं। 

Images/13-10-2019144555BSPwillwint1.jpg

बता दें कि बसपा के पश्चिमी उत्तर प्रभारी शमशुद्दीन राईन ने कहा है कि बसपा ही एक ऐसी पार्टी है, जिसके शासनकाल में कभी दंगा नहीं हुआ, कभी किसी को सताया नहीं। अब भी लगातार बसपा गरीब, निर्धन, असहाय लोगों की मदद के लिए आगे रहती है। 

राईन ने नालापार में हुए जलसे में कहा कि हमारे प्रत्याशी जुबैर मसूद खां ईमानदार है और अपनी पूरी नौकरी टाइम में रिश्वत नहीं ली। इसलिए हमारी जीत निश्चित है। उन्होंने कहा कि सपा शासनकाल में अनेक लोगों के घर उजाड़े गए हैं लेकिन, हम घर नहीं उजाडे़ंगे बल्कि बसाएंगे। उप चुनाव में हम जीत रहे हैं। 

यह भी पढ़ें... उपचुनाव: मायावती से हिसाब चुकता करने का अखिलेश ने बनाया ये मास्टर प्लान, BSP के नेताओं को...

इस मौके पर सांसद ग्रीश चंद ने कहा किस, बसपा ने हमेशा गरीबों और कमजोरों के हक की बात की है। बसपा की जीत से रामपुर के विकास में तेजी आएगी। जुबैर मसूद खां ने भी कहा कि हमें विधायक चुना गया तो हम गरीबों और कमजोरों की सेवा में कोई कमी नहीं छोडे़ंगे। हम किसी को सताएंगे नहीं, बल्कि लोगों के सुख-दुख में  उनका साथ देंगे। 

उन्होंने आगे कहा कि बसपा पार्टी ने सत्ता में रहते हुए हमेशा गरीबों के लिए अच्छे काम किए हैं। गरीबों के लिए आवास बनवाए और उनके लिए बहुत सी योजनाएं बनवाईं। इस मौके पर जिलाध्यक्ष अज सागर, हबीबुल रहमान, राजेश सैनी, मोहम्मद आलिम, जुनैद, असगर आदि शामिल रहे।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
महाराष्ट्र में पीएम मोदी का बड़ा बयान, पूरी दुनिया में नए भारत का जलवा हैhttps://www.newstimes.co.in/news/82452/भारत/महाराष्ट्र/मुंबई/PM-Modis-big-statement-in-Maharashtra-New-India-is-burning-all-over-the-world902879Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNP97<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019144140PMModisbig1.jpg' alt='Images/13-10-2019144140PMModisbig1.jpg' />.

महाराष्ट्र में पीएम मोदी का बड़ा बयान, पूरी दुनिया में नए भारत का जलवा है

Mumbai. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को महाराष्ट्र के जलगांव में चुनावी रैली को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा कि आज पूरी दुनिया को नए भारत का नया जोश दिखने लगा है। आज पूरे दुनिया में नए भारत का जलवा है,उसके पीछे सिर्फ और मेरे करोड़ों देशवासी हैं। इसके साथ ही पीएम ने विपक्षी दलों पर हमला बोलते हुए कहा कि इनकी भाषा पड़ोसी देश की तरह है। अनुच्छेद 370 हटाए जाने के कारण उनका रुख स्पष्ट नहीं है। पीएम ने समूचे विपक्ष को चुनौती देते हुए कहा कि अगर हिम्मत है तो अपने घोषणा पत्र में 370 और तीन तलाक लागू करने की बात लिखे। 

Images/13-10-2019144140PMModisbig1.jpg

एक बार फिर महाराष्ट्र में फण्डवीस सरकार बनाएं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जलगाव में रैली को संबोधित करते हुए जनता से अपील कि आने वाले समय में देवेंद्र फण्डवीस जी की अगुवाई एक बार दोबारा सरकार बनाएं। इसका आर्शीवाद हम आपसे लेने आएं हैं। इसके अलावा पीएम ने कहा​ कि आपने लोकसभा चुनाव में हमें एतिहासिक सीट दी हैं इसके लिए मैं आपका आभार जताता हूं। 

दुनिया भारत की आवाज को मजबूती से सुन रहा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज भारत की आवाज दुनिया की हर ताकत मजबूती से सुन रही है। दुनिया का हर देश आज भारत के साथ खड़ा है। हमारे साथ मिलकर आगे बढ़ने के लिए उत्साहित है। पीएम ने महाराष्ट्र की जनता से कहा कि आज नया भारत ठान चुका है कि उसे अतीत के अनावश्यक बंधनों में बंधकर नहीं रहना है। आज नया भारत खुद के वर्तमान को मजबूत तक कर ही रहा है,खुद का भविष्य भी तय कर रहा है। बीते कुछ समय से हम लगातार चुनौतियों को चुनौती दे रहे हैं। 
 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
कांग्रेस ने की बड़ी कार्रवाई, महिला उपाध्यक्ष को पार्टी से किया निष्कासितhttps://www.newstimes.co.in/news/82451/भारत/राजस्थान/Congress-took-major-action-expelled-women-vice-president-from-party902878Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1357<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019142037Congresstook2.JPG' alt='Images/13-10-2019142037Congresstook2.JPG' />महिला कांग्रेस उपाध्यक्ष एवं नगर निगम पार्षद को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने 1.25 लाख रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के बाद 15 दिनों के लिए कांग्रेस नेता को जेल भेज दिया गया है। वहीं, कांग्रेस पार्टी ने महिला नेता को उपाध्यक्ष पद से निष्कासित कर दिया है।

कांग्रेस ने की बड़ी कार्रवाई, महिला उपाध्यक्ष को पार्टी से किया निष्कासित

Jaipur. राजस्थान महिला कांग्रेस उपाध्यक्ष (Rajasthan Women Congress Vice President) एवं जयपुर नगर निगम पार्षद (Municipal Corporation Councilor) को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (Anti Corruption Bureau) की टीम ने 1.25 लाख रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के बाद 15 दिनों के लिए कांग्रेस (Congress) नेता को जेल भेज दिया गया है। वहीं, कांग्रेस पार्टी ने महिला नेता को उपाध्यक्ष पद से निष्कासित कर दिया है।

Images/13-10-2019142034Congresstook1.JPG

राजस्थान महिला कांग्रेस उपाध्यक्ष, जयपुर नगर निगम (Jaipur Municipal Corporation,) की महिला उत्थान समिति की अध्यक्ष एवं नगर निगम पार्षद सुमन गुर्जर (Suman Gurjar,) को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) के अधिकारियों ने 1.25 लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार (arrested taking bribe) किया है। बताया जा रहा है कि सुमन ने सीसी रोड (CC Road) बनाने के ठेकेदार से ये रिश्वत ली थी। एसीबी (ACB) ने कांग्रेस नेता सुमन को कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें 15 दिनों के लिए जेल भेज दिया गया है। 

Images/13-10-2019142037Congresstook2.JPG

वहीं, कई अन्य लोगों ने भी सुमन गुर्जर पर रिश्वत लेने के आरोप लगाया है। इसके बाद एसीबी ने उनके मोबाइल फोन (Mobile Phone) को सर्विलांस (Surveillance) पर लगा रखा था, जिससे ये पता चला है कि वह कई कामों को लेकर भी डील कर रहीं थीं। वहीं, कांग्रेस (Congress) पार्टी ने सुमन गुर्जर के खिलाफ कार्रवाई करते हुए पार्टी उपाध्यक्ष पद से हटा दिया है। इसके बाद पार्टी से भी निष्कासित कर दिया है।

यह भी पढ़ें - 

कांग्रेस के बाद अब महबूबा मुफ्ती की पार्टी का बड़ा ऐलान, कहा- कश्मीर के ज्यादातर नेता...

चेन्नई कनेक्ट से भारत-चीन के संबंधों का नया अध्याय शुरु होगा : पीएम मोदी

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
कांग्रेस के बाद अब महबूबा मुफ्ती की पार्टी का बड़ा ऐलान, कहा- कश्मीर के ज्यादातर नेता...https://www.newstimes.co.in/news/82448/भारत/जम्मू-कश्मीर/congress-ke-bad-ab-mehbooba-mupti-ke-bada-elan902875Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1357<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019131032congresskeba1.JPG' alt='Images/13-10-2019131032congresskeba1.JPG' />पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी सरकार ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म कर ऐतिहासिक निर्णय लिया है। इस फैसले से पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान हैरान रह गए।

कांग्रेस के बाद अब महबूबा मुफ्ती की पार्टी का बड़ा ऐलान, कहा- कश्मीर के ज्यादातर नेता...

New Delhi. पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) सरकार ने जम्मू कश्मीर ( Jammu Kashmir) से अनुच्छेद 370 (Article 370) खत्म कर ऐतिहासिक निर्णय लिया है। इस फैसले से पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Prime Minister Imran Khan) हैरान रह गए। भारत में उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah), महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti), फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) जैसे दिग्गजों ने भी मोदी सरकार (Modi Government) के इस फैसले पर विरोध जताया। अब कश्मीर में बीडीसी चुनाव (BDC Election) को लेकर राजनीति शुरू हो चुकी है।

Images/13-10-2019131032congresskeba1.JPG

हाल ही में नेशनल कॉन्फ्रेंस (National Conference) और कांग्रेस पार्टी (Congress) ने कश्मीर में बीडीसी चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष जीए मीर ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि कश्मीर में राजनीतिक नेता नजरबंद हैं। चुनाव आयोग (Election Commission) को बीडीसी चुनाव (BDC Election) से पहले सभी राजनीतिक दलों से बात करनी चाहिए थी। उन्होंने आगे कहा कि जब नेता हिरासत में होते हैं तो राजनीतिक दल चुनाव में हिस्सा कैसे ले सकते हैं।"

पीडीपी ने चुनाव नहीं लड़ने का किया ऐलान

कांग्रेस और नेशनल कॉन्फ्रेंस (National Conference) की तर्ज पर अब जम्मू कश्मीर की राजनीतिक पार्टी पीडीपी (PDP) ने भी बड़ा ऐलान करते हुए बीडीसी चुनाव (BDC Election) में हिस्सा नहीं लेने का ऐलान किया है। पीडीपी प्रवक्ता फिरदौस टाक (Firdaus Tak) ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि कश्मीर के ज्यादातर नेता हिरासत में हैं। ऐसे में यह चुनाव नहीं लड़ा जा सकता है। जिन नेताओं को फैसला लेना है वो हिरासत में हैं।

यह भी पढ़ें -

Lucknow: फ्लाइट में बम की अफवाह से एयरपोर्ट पर मची अफरातफरी

पीएम मोदी की भतीजी से लूट करने वाला अपराधी गिरफ्तार, सामान भी बरामद

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
रिम्स में लालू से मिले अनिल कुमार, आरजेडी प्रमुख की तबीयत को लेकर कह दी ये बड़ी बातhttps://www.newstimes.co.in/news/82449/भारत/बिहार/पटना/Anil-Kumar-met-Lalu-Yadav-in-RIMS902876Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1509<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019131206AnilKumarmet1.jpg' alt='Images/13-10-2019131206AnilKumarmet1.jpg' />चारा घोटाले मामले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव से शनिवार को उनके चाहने वालों ने मुलाकात की। जिसमें अनिल कुमार का नाम भी शामिल रहा। अनिल कुमार ने आरजेडी प्रमुख से मिलकर उनका हाल-चाल जाना और उनके जल्‍द स्‍वस्‍थ होने की कामना की। वहीं, लालू से मिलने के बाद अनिल कुमार ने आरजेडी प्रमुख की तबीयत को लेकर जानकारी दी। 

रिम्स में लालू से मिले अनिल कुमार, आरजेडी प्रमुख की तबीयत को लेकर कह दी ये बड़ी बात

Ranchi. चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव से शनिवार को उनके चाहने वालों ने मुलाकात की। जिसमें अनिल कुमार का नाम भी शामिल रहा। अनिल कुमार ने आरजेडी प्रमुख से मिलकर उनका हाल-चाल जाना और उनके जल्‍द स्‍वस्‍थ होने की कामना की। वहीं, लालू से मिलने के बाद अनिल कुमार ने आरजेडी प्रमुख की तबीयत को लेकर जानकारी दी। 

Images/13-10-2019131206AnilKumarmet1.jpg

अनिल कुमार ने कहा कि लालू जी का स्वास्थ्य गिरा हुआ है। उनसे झारखंड में विधानसभा चुनाव के विषय में कोई बात नहीं हुई। यहां सिर्फ पारिवारिक बातें हुईं। उन्होंने कहा कि लालू कई बीमारियों से ग्रसित हैं। उन्होंने यहा भी कहा कि रांची में तेजस्‍वी यादव की अगुआई में 20 अक्‍टूबर को होने वाली जनाक्रोश रैली को लेकर विस्तार में चर्चा हुई। 

अनिल कुमार ने कहा कि लालू केवल नाम नहीं, बल्कि एक विचारधारा है। पिछले कई वर्षों से वह जेल में बंद हैं और हम जैसे युवा देश में उनकी बातों को लोगों के सामने रख रहे हैं। सत्य को परेशान किया जा सकता है लेकिन पराजित नहीं और हमें विश्वास है कि लालू यादव तमाम परेशानियों से विजयी होकर, हम लोगों के बीच होंगे।  

झारखंड में होने वाले चुनाव को लेकर उन्होंने बताया कि आरजेडी झारखंड की 81 में से 14 सीटों पर चुनाव लड़ेगा। उन्‍होंने कहा कि झारखंड में महागठबंधन के साथ विधानसभा चुनाव लड़ना तय है।

यह भी पढ़ें:-...सिर्फ हिंदुओं को ही नहीं पूरे समाज को संगठित करना है संघ का उद्देश्य: भागवत

बता दें कि हर शनिवार को लालू यादव से मुलाकाती दिन होता है जेल मैनुअल के मुताबिक हफ्ते में तीन लोग ही लालू से मुलाकात कर सकते हैं। शनिवार को लालू से मिलने पहुंचे जिन लोगों में आरजेडी के नेता रामबचन पांडे, गिरिडीह के जिला अध्यक्ष अनिल कुमार और प्रदेश युवा अध्यक्ष आरजेडी अनिल यादव का नाम रहा, लेकिन हैरान करने वाली बात यह है कि इसमें चौथा नाम जगदीश विधायक रामविशुन सिंह उर्फ लोहिया जी का नाम सामने आ रहा है।

उधर, चारों मुलाकाती लालू से मिलने का दावा पेश कर रहे हैं। जेल प्रशासन के तरफ से लालू की सुरक्षा में तैनात एसआई एम एस कीड़ो कहना है कि अनिल कुमार की लालू यादव से मुलाकात नहीं हो सकी। उन्हें अंदर जाने ही नहीं दिया गया, पहचान पत्र की जांच के बाद उन्हें वापस भेज दिया गया।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
सिर्फ हिंदुओं को ही नहीं पूरे समाज को संगठित करना है संघ का उद्देश्य: भागवतhttps://www.newstimes.co.in/news/82445/भारत/अन्य-राज्यों-से/Mohan-Bhagwat-said-that-the-purpose-of-the-Sangh-is-to-organize-not-only-Hindus-but-the-entire-society902872Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNP1509<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019120527MohanBhagwat1.jpg' alt='Images/13-10-2019120527MohanBhagwat1.jpg' />राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ओडिशा के नौ दिन के दौरे के लिए शनिवार को भुवनेश्वर पहुंचे। यहां पर भागवत ने आरएसएस की शीर्ष निर्णय निर्धारण संस्था अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक के मद्देनजर यहां बुद्धिजीवियों की सभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि संघ का उद्देश्य भारत में परिवर्तन के लिए सिर्फ हिंदुओं को नहीं पूरे समाज को संगठित करना है।

सिर्फ हिंदुओं को ही नहीं पूरे समाज को संगठित करना है संघ का उद्देश्य: भागवत

Bhubaneswar. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ओडिशा के नौ दिन के दौरे के लिए शनिवार को भुवनेश्वर पहुंचे। यहां पर भागवत ने आरएसएस की शीर्ष निर्णय निर्धारण संस्था अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक के मद्देनजर बुद्धिजीवियों की सभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि संघ का उद्देश्य भारत में परिवर्तन के लिए सिर्फ हिंदुओं को नहीं पूरे समाज को संगठित करना है। उन्होंने यह भी कहा कि समाज को एकजुट करना आवश्यक है और आरएसएस इस दिशा में काम कर रहा है।

Images/13-10-2019120527MohanBhagwat1.jpg

किसी के लिए कोई नफरत नहीं

भागवत ने कहा कि उनकी किसी के लिए कोई नफरत नहीं है। एक बेहतर समाज बनाने के लिए सबको एक साथ आगे बढ़ना चाहिए, जिससे देश में बदलाव ला सकें और देश के विकास में मदद कर सकें। उन्होंने कहा कि भाव, विचार और संस्कृति में विविधता के बावजूद भारत के लोग खुद को एक ही महसूस करते हैं।

उन्होंने यह भी कहा कि ये कहना गलत है कि हमारी उन्नति अंग्रेजों के वजह से हुई। क्लासलेस सोसायटी की स्थापना वेदों के आधार पर सकते है। उन्होंने कहा कि हिंदू कोई भाषा या प्रांत नहीं है, ये एक संस्कृति है जो भारत के लोगों की सांस्कृतिक विरासत है। 

 भारत में सबसे सुखी मुस्लिम

मोहन भागवत ने कहा कि एकता के इस अनूठे अहसास के कारण मुस्लिम, पारसी और अन्य जैसे धर्मों से संबंधित लोग देश में सुरक्षित महसूस करते हैं। उन्होंने कहा, 'पारसी भारत में काफी सुरक्षित हैं और मुस्लिम भी खुश हैं। उन्होंने कहा कि दुनिया में सबसे सुखी मुसलमान भारत में मिलेंगे क्योंकि हम हिंदू हैं। 

संघ प्रमुख ने कहा कि मारे-मारे यहूदी फिरते थे अकेले भारत है, जहां उन्हें आश्रय मिला। पारसी की पूजा और मूल धर्म सुरक्षित केवल भारत में है। उन्होंने कहा कि विश्व में सर्वाधिक सुखी मुसलमान, भारत में मिलेंगे। ये क्यों है? क्योंकि हम हिंदू हैं। 

यह भी पढ़ें:-...Lucknow: फ्लाइट में बम की अफवाह से एयरपोर्ट पर मची अफरातफरी

आरएसएस का उद्देश्य पूरे समाज को संगठित करना

भागवत ने कहा कि आरएसएस लक्ष्य सिर्फ हिंदू समुदाय को बदलना नहीं हैं, बल्कि देश में पूरे समाज को संगठित करना है और हिंदुस्तान को बेहतर भविष्य की ओर ले जाना है। उन्होंने कहा कि सबसे सही तरीका यह है कि अच्छा व्यक्ति तैयार किया जाए, जो समाज और देश को बदलने में अहम भूमिका निभा सके। 

संघ प्रमुख ने समाज में बदलाव को जरूरी बताया कहा कि 130 करोड़ लोगों को बदलना संभव नहीं है। इसके लिए अच्छे व्यक्ति तैयार करना जरूरी है, जो स्वच्छ चरित्र का हो और हर गली, हर कस्बे में नेतृत्व करने की क्षमता रखता हो। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
उपचुनाव: मायावती से हिसाब चुकता करने का अखिलेश ने बनाया ये मास्टर प्लान, BSP के नेताओं को...https://www.newstimes.co.in/news/82444/भारत/By-elections:-Akhilesh-made-a-master-plan-to-settle-accounts-with-Mayawati-disgruntled-BSP-leaders902871Sun, 13 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-10-2019105411By-elections2.jpg' alt='Images/13-10-2019105411By-elections2.jpg' />उपचुनाव के ऐलान होते ही सभी पार्टियां जोर-शोर से तैयारी में जुट गई हैं। वहीं समाजवादी पार्टी सुप्रीमो अखिलेश यादव ने भी कमर कस  ली है। वह लोकसभा चुनाव में मिले निराशाजनक प्रदशर्न के बाद उपचुनाव के सहारे बसपा से पूरा हिसाब चुकता करने की फिराक में हैं। अखिलेश यादव अच्छे से जानते हैं कि अगर 2022 में सपा का झंडा लहराना है तो उसे बसपा से आगे रहना ही होगा। 

उपचुनाव: मायावती से हिसाब चुकता करने का अखिलेश ने बनाया ये मास्टर प्लान, BSP के नेताओं को...

Lucknow. उपचुनाव के ऐलान होते ही सभी पार्टियां जोर-शोर से तैयारी में जुट गई हैं। वहीं समाजवादी पार्टी सुप्रीमो अखिलेश यादव ने भी कमर कस ली है। वह लोकसभा चुनाव में मिले निराशाजनक प्रदशर्न के बाद उपचुनाव के सहारे बसपा से पूरा हिसाब चुकता करने की फिराक में हैं। अखिलेश यादव अच्छे से जानते हैं कि अगर 2022 में सपा का झंडा लहराना है तो उसे बसपा से आगे रहना ही होगा। 

Images/13-10-2019105353By-elections1.jpg

वहीं सपा सुप्रीमो ने जातिगत समीरणों पर ध्यान देते हुए यह मास्टर प्लान बनाया और बीएसपी के असंतुष्ट पिछड़ों और मुस्लिमों को पार्टी में शामिल करना शुरू कर दिया। हाल ही में बीएसपी के प्रदेश अध्यक्ष रहे दयाराम पाल, मऊ के पूर्व जिलाध्यक्ष अशोक गौतम, हरिनाथ प्रसाद, पूर्व एमएलसी अतहर खान और जगदीश राजभर को अपनी पार्टी में शामिल कर अखिलेश यादव ने बसपा को बड़ा संदेश देने की कोशिश की है। 

यह भी पढ़ें... अखिलेश यादव बोले- पुलिस कर रही है अत्याचार, अन्याय के साथ सरकार

बताते चलें कि हमीरपुर सीट पर हुए उपचुनाव में सपा ने भाजपा को बराबर की टक्कर दी थी वहीं सपा के परिणाम भी राहत देने वाले थे। सपा ने भले ही इस सीट पर जीत हासिल नहीं की, लेकिन 2017 में हासिल वोटों की तुलना मे  इस बार वोटों की संख्या ज्यादा पाई गई है। पहली बार उपचुनाव में उतरी बसपा को तीसरे पायदान पर पहुंचाने में सपा कामयाब रही। बसपा का फार्मूला हमेशा से दलित-मुस्लिम रहा जो इस बार काम नहीं आया। वहीं सपा ने इसे अपने लिए एक अच्छा इशारा माना है। 

   बूथ मैनेंजमेंट संभाल रहे अखिलेश

उपचुनाव में जातिगत समाकरणों को ध्यान में रखते हुए सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने खुद ही बूथ मैनेंटमेंट सम्भालने का जिम्मा लिया है। इसी कारण उन्होंने संगठन की घोषणा अभी टाल दी है। वह उपचुनाव से पहले किसी तरह को कोई रिस्क नहीं लेना चाहते हैं। 

मीडिया में छपी एक खबर के मुताबिक समाजवादी पार्टी के एक नेता ने कहा, जहां उपचुनाव हो रहे हैं, वहां पार्टी ने बसपा से असंतुष्ट नेताओं को अपने खेमे में शामिल करने को कहा है। साथ ही बसपा की सोशल इंजीनियरिंग को फेल करने पर भी नजर बनाए हुए हैं। 

Images/13-10-2019105411By-elections2.jpg

उन्होंने कहा, “उपचुनाव के परिणाम संगठन के पुनर्गठन में काफी निर्णायक होंगे। यहां पर अच्छा प्रदर्शन करने वाले लोगों को ही पार्टी में जगह मिलेगी, इसलिए यह चुनाव हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इन्हीं चुनाव के माध्यम से हमारा 2022 का रास्ता तय होगा।”

वरिष्ठ राजनीतिक विश्लेषक रतममणि लाल ने कहा, “समाजवादी पार्टी के अंदर इस बात पर तल्खी देखने को मिलती है। बसपा के साथ समझौते से उन्हें अपेक्षाकृत लाभ नहीं हुआ, इसीलिए वह बीएसपी को कमजोर करने का प्रयास करेंगे। अखिलेश यादव सोच रहे थे कि लोकसभा चुनाव में गठबंधन से फायदा समाजवादी पार्टी को होगा। लेकिन ऐसा हुआ नहीं है। अखिलेश यादव अपने पिछड़े वोट को बीजेपी में जाने से नहीं रोक पाए।”

उन्होंने कहा, “अखिलेश के सलाहकारों ने शायद उन्हें यह सलाह दी हो कि समाजवादी पार्टी के जो लोग बीएसपी में हैं, उन्हें पहले अपने पाले में लाया जाए। साथ ही बीएसपी के उन असंतुष्ट लोगों को भी पार्टी में शमिल कराएं, जिनके दम पर बीएसपी कभी राजनीतिक रूप से मजबूत थी। इसी कारण अखिलेश बीएसपी के मजबूत वोटबैंक को अपने पक्ष में करना चाहते हैं। समाजवादी पार्टी और बीएसपी को उन्हीं की हथियार से कमजोर करने का प्रयास कर रही है।”

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
दिल्ली: अलका लांबा की कांग्रेस में वापसी, ट्वीट करके जाहिर की खुशीhttps://www.newstimes.co.in/news/82429/भारत/दिल्ली/Alka-Lamba-returns-to-Congress902856Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019153817AlkaLambaret1.jpg' alt='Images/12-10-2019153817AlkaLambaret1.jpg' />आम आदमी पार्टी (आप) को अलविदा कहने के करीब एक महीने बाद शनिवार को पूर्व विधायक अलका लांबा ने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर ली है। अलका लांबा को दिल्ली कांग्रेस प्रभारी पीसी चाको ने पार्टी की सदस्यता दिलाई। पूर्व विधायक शुक्रवार को कांग्रेस में शामिल होने वाली थीं लेकिन कुछ कारणों के चलते कार्यक्रम को तलना पड़ा था। 

दिल्ली: अलका लांबा की कांग्रेस में वापसी, ट्वीट करके जाहिर की खुशी

New Delhi. आम आदमी पार्टी (आप) को अलविदा कहने के करीब एक महीने बाद शनिवार को पूर्व विधायक अलका लांबा ने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर ली है। अलका लांबा को दिल्ली कांग्रेस प्रभारी पीसी चाको ने पार्टी की सदस्यता दिलाई। पूर्व विधायक शुक्रवार को कांग्रेस में शामिल होने वाली थीं, लेकिन कुछ कारणों के चलते कार्यक्रम को टालना पड़ा था। 

Images/12-10-2019153817AlkaLambaret1.jpg

कांग्रेस में शामिल होने के बाद अलका लांबा ने ट्वीट करके कहा कि आज कांग्रेस मुख्यालय 24 अकबर रोड पहुंचकर दिल्ली कांग्रेस के प्रभारीपीसी चाको, ज़िला चांदनी चौक अध्यक्ष उस्मान, जिला आदर्श नगर अध्यक्ष जिंदल व अन्य नेताओं की उपस्थिति में काँग्रेस की सदस्यता ग्रहण की। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सदस्य बनने पर गर्व मेहसूस कर रही हैं। 

यह भी पढ़ें:-...बीजेपी के बागी नेता को कांग्रेस ने सौंपी दिल्ली की कमान, ये है वजह

गौरतलब है कि अलका लांबा काफी समय से 'आप' के खिलाफ बागी तेवर अपनाए हुए थीं। अगस्त की शुरुआत में अलका ने कहा था कि उन्होंने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने का फैसला किया है और वह एक स्वतंत्र उम्मीदवार के तौर पर आगामी विधानसभा चुनाव लड़ेंगी। वहीं, आप छोड़ने के बाद दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल ने चांदनी चौक से विधायक अलका लांबा की सदस्यता रद्द कर दी थी। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
अखिलेश यादव बोले- पुलिस कर रही है अत्याचार, अन्याय के साथ सरकारhttps://www.newstimes.co.in/news/82427/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Akhilesh-Yadav-targeted-the-Yogi-government-on-the-birth-anniversary-of-Ram-Manohar-Lohia902854Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019151350AkhileshYadav1.PNG' alt='Images/12-10-2019151350AkhileshYadav1.PNG' />समाजवादी चिंतक डॉ राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि के मौके पर शनिवार को पूर्व सीएम और सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव गोमतीनगर स्थित लोहिया पार्क पहुंचे। यहां पर डॉक्टर राम मनोहर लोहिया की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद अखिलेश मीडिया से मुखातिब हुए। इस दौरान सपा अध्यक्ष ने प्रदेश की योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा। 

अखिलेश यादव बोले- पुलिस कर रही है अत्याचार, अन्याय के साथ सरकार

Lucknow. समाजवादी चिंतक डॉ राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि के मौके पर शनिवार को पूर्व सीएम और सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव गोमतीनगर स्थित लोहिया पार्क पहुंचे। यहां पर डॉक्टर राम मनोहर लोहिया की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद अखिलेश मीडिया से मुखातिब हुए। इस दौरान सपा अध्यक्ष ने प्रदेश की योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा। 

Images/12-10-2019151350AkhileshYadav1.PNG

पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में कोई भी सुरक्षित नहीं है, किसी की भी कहीं हत्या हो सकती है। उन्होंने कहा कि कहीं पर पुलिस हत्या कर रही है, तो कहीं लूट के बहाने हत्या हो जा रही है या फिर पीट-पीटकर मार डाला जा रहा है। लोगों को अपनी सुरक्षा के लिए खुद ही सजग रहना होगा। 

विवेक तिवारी हत्याकांड और झांसी में पुष्पेंद्र यादव को लेकर सरकार और यूपी पुलिस पर निशाना साधते हुए अखिलेश ने कहा कि यूपी पुलिस अत्याचार कर रही है और सरकार अन्याय के साथ खड़ी है। 

यह भी पढ़ें:-...डॉ राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि पर हमलावर हुए अखिलेश, मायावती तो दिया एक और बड़ा झटका

सीएम योगी पर अखिलेश ने साधा निशाना

वहीं, गोरखपुर के जेल में कैदियों और पुलिसकर्मियों झड़प को लेकर अखिलेश ने सीएम योगी पर निशाना साधा। अखिलेश ने कहा कि गोरख्पुर में जेल में कैदियों और पुलिसकर्मियों के बीच जबरदस्त मारपीट हुई उस वक्त सीएम नवरात्र में रुके थे और उनको पता ही नहीं कि वहां आठ घंटे मार-पिटाई चलती रही। 

सपा अध्यक्ष ने कहा कि आज किसान और नौजवान परेशान है। बेरोजगारी लगातार बढ़ती जा रही है और महंगाई से आम जनता त्रस्त है। उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति में गांधीजी, डॉक्टर लोहिया और डॉक्टर अंबेडकर के बताए रास्ते और सिद्धांतों पर चलकर समाज में खुशहाली लाई जा सकती है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
डॉ राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि पर हमलावर हुए अखिलेश, मायावती को दिया एक और बड़ा झटका https://www.newstimes.co.in/news/82426/भारत/उत्तर-प्रदेश-/dr-lohiya-ki-purnatithi-par-gomtinagar-pahuche-akhilesh-902853Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019145442drlohiyakip1.png' alt='Images/12-10-2019145442drlohiyakip1.png' />.

डॉ राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि पर हमलावर हुए अखिलेश, मायावती को दिया एक और बड़ा झटका 

Lucknow. सूबे की पूर्व सत्ताधारी समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार(12 अक्टूबर) को समाजवादी चिंतक डॉ राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि के मौके पर प्रदेश सरकार पर जोरदार हमला बोला। अखिलेश ने कहा कि यूपी में कोई भी सुरक्षित नहीं है। किसी की भी हत्या कहीं भी हो सकती है। कहीं पुलिस हत्या कर रही है तो कहीं लूट के बहाने से हत्या की जा रही है या कुछ नहीं तो पीट-पीट कर ही लोगों को मौत के घाट उतारा जा रहा है। 

Images/12-10-2019145442drlohiyakip1.png

यह भी पढ़ें... चीनी राष्ट्रपति से मिलने से पहले भी पीेएम नहीं भूले अपना यह अभियान, सभी को दिया संदेश
गौरतलब है कि अखिलेश यादव शनिवार(12 अक्टूबर) को राजधानी के गोमतीनगर स्थित लोहिया पार्क पहुंचे हुए थे। यहां उन्होंने डॉ लोहिया को माल्यार्पण किया। इसके बाद मीडिया से बातचीत की। उन्होंने कहा कि आज के समय में किसान, नौजवान सभी परेशान हैं। ऐसी स्थितियों में महात्मा गांधी, डॉ लोहिया और अंबेडकर के बताए रास्ते पर चलकर ही खुशहाली लाई जा सकती है। समाजवादी लोग हर साल यहां आते हैं और डॉ लोहिया को याद करते हुए उनके बताए रास्तों पर चलने का संकल्प लेते हैं। इस दौरान अखिलेश ने बीएसपी के पूर्व वि)धायक केके ओझा को समाजवादी पार्टी की सदस्यता भी दिलाई। के के ओझा के साथ उनके तमाम समर्थक भी सपा में शामिल हुए। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
#NewstimesTrending : चीनी राष्ट्रपति से मिलने से पहले भी पीेएम नहीं भूले अपना यह अभियान, सभी को दिया संदेश https://www.newstimes.co.in/news/82423/भारत/उत्तर-प्रदेश-/Prime-Minister-Narendra-Modi-on-Saturday-lend-a-helping-hand-in-cleaning-up-the-Mamallapuram-beach902850Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019135627PrimeMinister6.jpg' alt='Images/12-10-2019135627PrimeMinister6.jpg' /> पीएम शनिवार को तमिलनाडु के महाबलीपुरम में है जहां वह चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ बैठक करेंगे। पीएम की ओर से स्वच्छता अभियान के बाद ट्वीट कर एक वीडियो पोस्ट कर सुबह चलाए गये इस अभियान की जानकारी दी गयी। पीएम ने अपने ट्वीट में लिखा कि सुबह ममल्लापुरम में बीच पर 30 मिनट तक सफाई अभियान चलाया। अभियान के बाद उठाए गये कचरे को होटल स्टाफ जयराम को सौंपा। हम सभी लोग सुनिश्चित करें कि सार्वजनिक जगह को साफ सुथरा रहें। 

#NewstimesTrending : चीनी राष्ट्रपति से मिलने से पहले भी पीेएम नहीं भूले अपना यह अभियान, सभी को दिया संदेश

Images/12-10-2019135741PrimeMinister7.jpg

Lucknow. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार की सुबह महाबलीपुरम में स्वच्छता अभियान चलाया जो की चर्चाओं का विषय बना हुआ है। अभियान चलाकर पीएम ने सभी को साफ-सफाई के प्रति जागरुक रहने का संदेश दिया। पीएम ने संदेश दिया कि, स्वच्छता से ही हम लोग स्वच्छ और स्वस्थ्य रहेंगे। बता दें कि पीएम शनिवार को तमिलनाडु के महाबलीपुरम में है जहां वह चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ बैठक करेंगे। पीएम की ओर से स्वच्छता अभियान के बाद ट्वीट कर एक वीडियो पोस्ट कर सुबह चलाए गये इस अभियान की जानकारी दी गयी। पीएम ने अपने ट्वीट में लिखा कि सुबह ममल्लापुरम में बीच पर 30 मिनट तक सफाई अभियान चलाया। अभियान के बाद उठाए गये कचरे को होटल स्टाफ जयराम को सौंपा। हम सभी लोग सुनिश्चित करें कि सार्वजनिक जगह को साफ सुथरा रहें। 

Images/12-10-2019134536PrimeMinister2.jpg

स्वच्छता का विशेष ख्याल रखते हैं पीएम 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सफाई अभियान का हमेशा ही ध्यान रखते हैं। दरअसल उनके द्वारा ही शुरु किया गया स्वच्छ भारत अभियान आज विश्व में कौतुहल का विषय बना हुआ है। इस अभियान को लेकर पीएम समय-समय कुछ न कुछ करते नजर आ ही जाते हैं और इसके वीडियो वायरत होते रहते हैं। अभी हाल ही में जब पीएम अमेरिका के ह्यूस्टन गये थे तो वहां उनके स्वागत के दौरान एक फूल गिर गया था। जिसके बाद पीएम ने प्रोटोकॉल की परवाह न करते हुए खुद ही सतर्कता के साथ उस फूल को उठाया था। पीएम का इस तरह फूल को उठाया खासा चर्चाओं का कारण बना था। इसको लेकर तमाम तरह की पोस्ट सोशल मीडिया पर साझा कर उनकी तारीफ की गयी थी। उसके बाद शनिवार(12 अक्टूबर) को जब पीएन ने स्वच्छता के जरिए देशभर में जागरूकता को लेकर संदेश दिया तो उसकी भी सराहना हो रही है। बता दें कि समंदर में जाता प्लास्टिक एक बड़ी चुनौती है। 

Images/12-10-2019134624PrimeMinister3.JPG

वाल्मीकि बस्ती में लगाई थी झाड़ू
पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने स्वच्छता अभियान की शुरुआत की ही कड़ी में 2 अक्टूबर 2014 को दिल्ली की वाल्मीकि बस्ती में अपने ही हाथों से झाड़ू लगाकर स्वच्छता का संदेश दिया था। इस दौरान पीएम ने वाल्मीकि बस्ती के छात्रों से मुलाकात भी की थी। अभियान की शुरुआत से पहले पीएम ने वाल्मीकि मंदिर में दर्शन किये थे। 

Images/12-10-2019135420PrimeMinister4.jpg

चलाया अभियान फिर की बैठक 

सुबह स्वच्छता का संदेश देने के बाद चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के भारत दौरे के दूसरे दिन शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ताज फिशरमैन के कोव रिसॉर्ट में वन-टू-वन बैठक की। तकरीबन 40 मिनट तक चली इस बैठक के बाद फिशरमैन होटल के मचान रेस्त्रा में दोनों देशों के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत शुरू हुई। जिसमें भारत और चीन की ओर से अलग-अलग बयान जारी किया गया।

Images/12-10-2019135549PrimeMinister5.jpg

शी जिनपिंग के साथ गाइड बने पीएम मोदी 

शुक्रवार(11 अक्टूबर) को राष्ट्रपति शी जिनपिंग को पीएम नरेंद्र मोदी ने लगभग 60 किमी दूर स्थित प्रसिद्ध मूर्तिकला शहर महाबलीपुरम के तीन महत्वपूर्ण स्मारकों के महत्व के बारे में अवगत करवाया। इस दौरान पीएम तमिल परिधान 'विष्टी'(सफेद धोती), आधी बांह की कमीज, अंगवस्त्रम को कंधे पर रखे हुए नजर आए। पीएम जब शी जिनपिंग से अर्जुन की तपस्या स्थल के पास मिले तो उन्हें चट्टान काटकर बनाए गये भव्य मंदिर के अंदर ले गये। इसके बाद नक्काशी, पारंपरिक सभ्यता और संस्कृति के बारे में अवगत करवाते करवाया। इस दौरान वह पेशेवर गाइड की तरह विशेषताएं बताते हुए नजर आएं।  

Images/12-10-2019135627PrimeMinister6.jpg
© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
मंच पर छलका आजम खान का दर्द, रोते हुए भाजपा को दी ये चेतावनीhttps://www.newstimes.co.in/news/82422/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Azam-Khan-started-crying-on-the-stage-during-to-speech-in-Rampur902849Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019133503AzamKhanstar1.jpeg' alt='Images/12-10-2019133503AzamKhanstar1.jpeg' />सपा के कद्दावर नेता और सांसद आज़म खान रामपुर विधानसभा सीट के उपचुनाव के लिए पहली बार जनसभा को संबोधित करने पहुंचे। इस दौरान मंच पर खड़े आज़म खान के बोलते-बोलते आंसू छलक पड़े। उन्होंने अपने खिलाफ हो रहे मुकदमों को गलत बताते हुए केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा। 

मंच पर छलका आजम खान का दर्द, रोते हुए भाजपा को दी ये चेतावनी

Rampur. सपा के कद्दावर नेता और सांसद आज़म खान रामपुर विधानसभा सीट से उपचुनाव के लिए पहली बार जनसभा को संबोधित करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने अपने खिलाफ दर्ज हो रहे मुकदमों को गलत बताते हुए केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा। वहीं, मंच पर बोलते-बोलते आज़म फूट-फूटकर रोने लगे। 

Images/12-10-2019133503AzamKhanstar1.jpeg

रामपुर में आजम खान ने कहा कि सरकार के चलाने वालों, शासन और प्रशासन कहने वालों एक बार खुद से सवाल करो और अपने जमीर से पूछों कहा खड़े हो। उन्होंने कहा कि वह रहें या न रहें लेकिन इस मजमे की तस्वीर रहेगी। आज़म ने कहा कि आज से 100 साल बाद यह तस्वीर छपेगी और यह कहा जाएगा कि एक यह शख्स था, जिसने ऐसी लकीर खींची, जिसके बाद कोई लकीर खींची न जा सकी। 

यह भी पढ़ें:-...रामपुर सीट बचाने के लिए सपा ने बनाया ये मास्टर प्लान, दांव पर लगी BJP की प्रतिष्ठा

सपा सांसद ने कहा कि उनसे ज्यादती इंंतेकाम लेने वालों याद रखना मरने के बाद कब्र में हिसाब नहीं होगा, इस जमीन पर जो करोंगे उसका हिसाब होगा। हाईकोर्ट से गिरफ्तारी की रोक पर मिली राहत पर उन्होंने कहा कि उन्हें इंसाफ मिला है। इंसाफ के दरों-दीवार से बहुत इंसाफ मिला है।

अपने बेटे के खिलाफ मुकदमों को लेकर आज़म खान ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि जालिमों के अरमान उनके मासूम बच्चों की तकदीरों से खेल नहीं सकते। वहीं, पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान की तकदीर झाड़ू हाथ में आने से नहीं बल्कि मजबूत तहरीक और मजबूत कलम आने से हिंदुस्तान की तकदीर बदलेगी। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
राहुल झोकेंगे ताकत और कांग्रेस की यह नई टीम दिखाएगी कमाल, 24 अक्टूबर को हो जाएगा फैसला https://www.newstimes.co.in/news/82413/भारत/अन्य-राज्यों-से/congress-ne-maharastra-or-hariyana-chunav-ke-liye-banai-team-902840Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019105420congressnema2.jpg' alt='Images/12-10-2019105420congressnema2.jpg' />.

राहुल झोकेंगे ताकत और कांग्रेस की यह नई टीम दिखाएगी कमाल, 24 अक्टूबर को हो जाएगा फैसला

Lucknow. महाराष्ट्र और हरियाणा में आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर कांग्रेस समन्वय समिति की ओर से बैठक शुक्रवार को की गयी। इस बैठक में यह तय हुआ कि दोनों ही राज्यों में चुनाव के दौरान कोई भी कसर बाकी नहीं छोड़ी जाएगी। इसी के साथ चुनावी अभियान और सोशल मीडिया पर पैनी नजर रखी जाएगी और ज्यादा से ज्यादा बेहतर समन्वय सुनिश्चित किया जाएगा। 

Images/12-10-2019105407congressnema1.jpgImages/12-10-2019105420congressnema2.jpg

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
उपचुनाव: मायावती ने दिग्गज नेता को दिया ऐसा सबक, पार्टी में मचा भूचालhttps://www.newstimes.co.in/news/82415/भारत/By-elections:-Mayawati-gave-such-a-lesson-to-the-veteran-leader-there-was-a-stir-in-the-party902842Sat, 12 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-10-2019112749By-elections1.jpg' alt='Images/12-10-2019112749By-elections1.jpg' />उत्तर प्रदेश में उपचुनाव को लेकर सियासत सातवें आसमान पर है। पार्टी के शीर्ष नेता पदाधिकारियों और व दिग्गजों की लापरवाही पर कड़ा एक्शन लेने से कोई संकोच नहीं कर रहे। इसी क्रम में बसपा सुप्रीमो मायावती ने कानपुर में बसपा से घाटमपुर के विधायक रहे आरपी कुशवाहा व कानपुर नगर के अध्यक्ष रहे सुरेंद्र कुशवाहा को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। मायावती के इस बड़े फैसले से हड़कंप मचा हुआ है।

उपचुनाव: मायावती ने दिग्गज नेता को दिया ऐसा सबक, पार्टी में मचा भूचाल

Lucknow. उत्तर प्रदेश में उपचुनाव को लेकर सियासत सातवें आसमान पर है। पार्टी के शीर्ष नेता पदाधिकारियों और व दिग्गजों की लापरवाही पर कड़ा एक्शन लेने से कोई संकोच नहीं कर रहे। इसी क्रम में बसपा सुप्रीमो मायावती ने कानपुर में बसपा से घाटमपुर के विधायक रहे आरपी कुशवाहा व कानपुर नगर के अध्यक्ष रहे सुरेंद्र कुशवाहा को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। मायावती के इस बड़े फैसले से हड़कंप मचा हुआ है।

Images/12-10-2019112749By-elections1.jpg

बताते चलें कि बाहर किए गए दोनों ही नेताओं पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त रहने का आरोप है। गत गुरूवार को ही दोनों नेताओं पर यह एक्शन लिया यगा था। बसपा जिलाध्यक्ष रामशंकर कुरील ने नेताओं के पार्टी से बाहर होने की सूची जारी की। पार्टी से बाहर हुए नेताओं ने बसपा सुप्रीमो से एक दिन पहले ही इस्तीफा सोंप देने को कहा था।

हैरान करने वाली बात है कि लगातार बसपा के नेता खुद ही पार्टी छोड़ रहे हैं। वहीं, दूसरी ओर मायावती का डंडा भी लापरवाही बरतने वाले नेताओं पर चल रहा है। कुछ दिन पहले ही बसपा के जोनल कोआर्डिनेटर रहे अनुभव चक समेत दर्जनों नेताओं और कार्यकर्ताओं के इस्तीफा देने पर पार्टी के अंदर कलह की बात सामने आ रही थी।

यह भी पढ़ें... उपचुनाव: कार जब्त होने पर फूट फूट कर रोया यह कांग्रेस प्रत्याशी

बताते चलें कि आरपी कुशवाहा बसपा के कद्दावर नेताओं में एक माने जाते थे। लोकसभा चुनाव से पहले भी उनको बाहर का रास्ता दिखाया गया था। हालांकि, चुनाव के दौरान दोबारा वापस बुला लिया गया था। कुशवाहा दो बार बिठूर विधानसभा से चुनाव लड़े, लेकिन जीत हासिल करने में नाकामयाब रहे। हार के कारण कुशवाहा की सक्रियता को लेकर सवाल खड़े होने लगे थे।  उनको हमीरपुर उप चुनाव में बसपा प्रत्याशी नौशाद अली के प्रचार की कमान संभालने का अहम जिम्मा सौंपा गया था।  

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य के पोस्टर में पीएम मोदी और अमित शाह की तस्वीर, लगाये जा रहे ये कयासhttps://www.newstimes.co.in/news/82401/भारत/मध्य-प्रदेश/congress-neta-Jyotiraditya-scindhia-ka-postar-viral902828Fri, 11 Oct 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/11-10-2019180842congressneta2.JPG' alt='Images/11-10-2019180842congressneta2.JPG' />महाराष्ट्र, हरियाणा और उत्तर प्रदेश कांग्रेस में पार्टी नेताओं में अंतर्कलह साफ तौर पर देखनी मिली है। इसके साथ ही कई नेताओं ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया है। इस बीच मध्य प्रदेश के भिंड से कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया का एक पोस्टर वायरल हो रहा है, जिसमें पीएम मोदी और अमित शाह की भी तस्वीर है।

कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य के पोस्टर में पीएम मोदी और अमित शाह की तस्वीर, लगाये जा रहे ये कयास

Bhopal. महाराष्ट्र (Maharashtra), हरियाणा (Haryana) और उत्तर प्रदेश कांग्रेस (UP Congress) में पार्टी नेताओं में अंतर्कलह साफ तौर पर देखनी मिली है। इसके साथ ही कई नेताओं ने कांग्रेस (Congress) से इस्तीफा दे दिया है। इस बीच मध्य प्रदेश के भिंड से कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) का एक पोस्टर वायरल (Poster Viral) हो रहा है, जिसमें पीएम मोदी (PM Modi) और अमित शाह (Amit Shah) की भी तस्वीर है।

Images/11-10-2019180819congressneta1.JPG

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, बीजेपी (BJP) के स्थानीय नेता ने कांग्रेस नेता (Congress) ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के अनुच्छेद 370 (Article 370) के समर्थन को लेकर पोस्टर (Postar) लगाया गया है। इस पोस्टर (Postar) के आने के बाद मध्य प्रदेश में सियासत तेज हो गई है। माना जा रहा है कि क्या कांग्रेस (Congress) नेता ज्योतिरादित्य (Jyotiraditya Scindia) बीजेपी (BJP) में शामिल हो सकते हैं। इस पर अभी कुछ नहीं कहा जा सकता है। हालांकि कयासों का दौर एक बार फिर से शुरू हो गया है।

कांग्रेस से नाराज चल रहे हैं ज्योतिरादित्य

बता दें कि कांग्रेस (Congress) नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) मध्य प्रदेश में हुए विधानसभा चुनावों के बाद से ही कांग्रेस (Congress) पार्टी से नाराज चल रहे हैं। मध्य प्रदेश में वह खुद को मुख्यमंत्री (Chief Minister) पद का दावेदार मान रहे थे, लेकिन कांग्रेस (Congress) हाईकमान ने कमलनाथ को मुख्यमंत्री (Chief Minister) बनाया है। इसके बाद से ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) और उनके समर्थक सार्वजनिक रूप से भी अपनी नाराजगी व्यक्त कर चुके हैं। 

Images/11-10-2019180842congressneta2.JPG

कांग्रेस अध्यक्ष बनाये जाने की उठी थी मांग

वहीं, इसके बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के समर्थकों को उन्हें कांग्रेस (Congress) का प्रदेश अध्यक्ष बनाये जाने की भी मांग की थी। इसके बाद से माना जा रहा है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) का कांग्रेस (Congress) का प्रदेश अध्यक्ष बनाया जा सकता है, लेकिन मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ (CM Kamalnath) अभी तक पार्टी अध्यक्ष बने हुए हैं। 

चुनाव में हार के बाद दे दिया था इस्तीफा

बता दें कि कांग्रेस (Congress) हाईकमान ने बीते लोकसभा चुनावों में ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) को पश्चिमी उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया था, लेकिन कांग्रेस (Congress) की करारी हार के बाद उन्होंने महासचिव पद से इस्तीफा दे दिया था।

यह भी पढ़ें - 

आतंकी फंडिंग का काम करने वाला गिरोह लखीमपुर खीरी से गिरफ्तार, कई बड़े खुलासे हुए

इथियोपिया के पीएम अबी अहमद को शांति नोबेल पुरस्कार से किया गया सम्मानित

कांग्रेस में मची भगदड़: 40 वरिष्ठ नेताओं ने छोड़ी पार्टी, आलाकमान हैरान

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
#NewstimesTrending : चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग और पीएम मोदी की मुलाकात के लिए यूं ही नहीं हुआ महाबलीपुरम का चुनाव, यह रहेगा विशेष https://www.newstimes.co.in/news/82395/अन्तर्राष्ट्रीय/पड़ोसी-देश/Chinese-President-Xi-Jinping-meet-PM-Modi-in-Chennai-for-2nd-informal-summit902822Fri, 11 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/11-10-2019173535OrgpQplgJ8.jpg' alt='Images/11-10-2019173535OrgpQplgJ8.jpg' />Lucknow. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग अपने दो दिवसीय दौरे तहत शुक्रवार को दोपहर तकरीबन 2.10 बजे चेन्नई इंटरनेशनल एयरपोर्ट चेन्नई पहुंच गए हैं। जहां उनकी अगवानी के लिए मौजूद तमिलनाडू के राज्यपाल ब

#NewstimesTrending : चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग और पीएम मोदी की मुलाकात के लिए यूं ही नहीं हुआ महाबलीपुरम का चुनाव, यह रहेगा विशेष

Images/11-10-2019161010ChinesePresid1.jpg

Lucknow. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग अपने दो दिवसीय दौरे तहत शुक्रवार को दोपहर तकरीबन 2.10 बजे चेन्नई इंटरनेशनल एयरपोर्ट चेन्नई पहुंच गए हैं। जहां उनकी अगवानी के लिए मौजूद तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित और सीएम ई पनीर सेल्वम ने उनका स्वागत किया। जिसके बाद वह अपनी होंगशी कार में सवार होकर एयरपोर्ट से होटल के लिए रवाना हो गए और फिर वहां से महाबलीपुरम का सफर तय करेंगे। चीनी राष्ट्रपति पीएम नरेंद्र मोदी के साथ महाबलीपुरम में अनौपचारिक बैठक में हिस्सा लेने वाले हैं। समुद्र किनारे बसे इस शहर में काफी प्राचीन मंदिर हैं जिनका पुराना रिश्ता चीन से भी है। इसी के चलते इस मुलाकात के लिए महाबलीपुरम का चुनाव किया गया है। 

Images/11-10-2019161056ChinesePresid3.JPG

पारंपरिक तरीके से हुआ जिनपिंग का स्वागत 

चेन्नई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर शी जिनपिंग का पारंपरिक तरीके से स्वागत किया गया। टप्पू यानि पारंपरिक तमिल ढोल की थाप और कोम्बू के ध्वनि और नादस्वराम के घोष के साथ अलग-अलग 350 कलाकारों ने नृत्य कार्यक्रम चीनी राष्ट्रपति के सामने पेश किए। इसके अलावा 40 पारंपरिक भरतनाट्यम कलाकारों ने भी नृत्य पेश किया।

Images/11-10-2019161834ChinesePresid5.jpg

यह रहेगा विशेष 

* दो दिन के दौरे में पीएम नरेंद्र मोदी चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से कई बार मुलाकात करेंगे। 
* दक्षिण भारत के कल्चर से रूबरू होने के साथ ही चीनी राष्ट्रपति साउथ इंडियन की थाली चखेंगे। 
* साउथ इंडियन थाली में थक्काली रसम, कढ़लाई कुरुमा, कवानरसी हलवा, अरचुविता सांभर रहेगा मौजूद। 
* तकरीबन 6 घंटे तक साथ रहेंगे चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग और पीएम नरेंद्र मोदी। इस दौरान तकरीबन 40 मिनट के लिए होगी वन टू वन बैठक। 
* 5000 पुलिस के जवान, नौसेना के युद्धपोत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के अनौपचारिक शिखर सम्मेलन की सुरक्षा में तैनात रहेंगे।
* महाबलीपुरम पंच रथ के पास मोदी-जिनपिंग के स्वागत के लिए बागवानी विभाग ने विशाल गेट को 18 प्रकार की सब्जियां और फलों से सजाया है। इन फलों और सब्जियों को तमिलनाडु के विभिन्न इलाकों से मंगाया गया है।

Images/11-10-2019161204ChinesePresid4.jpg

'मैं तमिलनाडु की इस महान भूमि में आकर बहुत खुश हूं, तमिलनाडु अपनी महान संस्कृति और आतिथ्य के लिए जाना जाता है। यह बहुत खुशी की बात है कि तमिलनाडु राष्ट्रपति शी जिनपिंग की मेजबानी करेगा। मुझे उम्मीद है कि यह अनौपचारिक बैठक भारत-चीन संबंधों को और मजबूत करेगी।'

इससे बाद 2:52PM पर पीएम नरेंद्र मोदी ने फिर चीनी भाषा में ट्वीट किया और लिखा कि,

"भारत में आपका स्वागत है, राष्ट्रपति शी जिनपिंग!"

Images/11-10-2019161029ChinesePresid2.jpg

11 अक्टूबर 2019(शुक्रवार)

01.30 PM: चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग का चेन्नई एयरपोर्ट पर आगमन होगा। इस दौरान एयरपोर्ट पर कोई भी अन्य फ्लाइट नहीं उड़ेगी।
01.45 PM: चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग एयरपोर्ट से आईटीसी ग्रांड चोला होटल लिए रवाना होंगे। कुछ देर आराम के बाद शी जिनपिंग महाबलीपुरम के लिए रवाना होंगे।
05.00 PM: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ महाबलीपुरम पहुंचकर अर्जुन की तपस्या स्थली, पंचरथ, मल्लमपुरम के शोरे मंदिर का दौरा।
06.00 PM: सांस्कृतिक कार्यक्रम।
06.45-08.00 PM: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग का डिनर।

Images/11-10-2019173535OrgpQplgJ8.jpg

12 अक्टूबर 2019(शनिवार)

10.00 से 10.40 AM: चीनी राष्ट्रपति जी जिनपिंग और पीएम मोदी की मुलाकात।
10.50 से 11.40 AM: भारत-चीन के बीच डेलिगेशन लेवल की बातचीत।
11.45 AM से 12.45 PM: चीनी राष्ट्रपति के सम्मान में लंच का आयोजन।
02.00 बजे: पीएम मोदी दिल्ली के लिए रवाना होंगे, चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग वापस चीन के लिए रवाना होंगे।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
उपचुनाव: कार जब्त होने पर फूट फूट कर रोया यह कांग्रेस प्रत्याशीhttps://www.newstimes.co.in/news/82392/भारत/उत्तर-प्रदेश-/By-election:-This-Congress-candidate-wept-bitterly-when-the-car-was-seized902819Fri, 11 Oct 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/11-10-2019154044By-electionT2.jpg' alt='Images/11-10-2019154044By-electionT2.jpg' />विधानसभा उपचुनाव के प्रचार के दौरान घोसी विधानसभा सीट पर उस समय अजीबो गरीब दृश्य देखने जब कांग्रेस प्रत्याशी बीच सड़क पर फूट फूट कर रोने लगा। हुआ दरअसल हुआ यूं कि प्रचार के दौरान कांग्रेस प्रत्याशी राजमंगल यादव के काफिले में शामिल गाड़ियों को आचार संहिता उल्लंघन के चलते सीज कर दिया। इसके बाद कांग्रेस प्रत्याशी ने पैदल मार्च कर चुनाव किया। इस दौरान उनके समर्थकों ने प्रशासन के विरोध में नारेबाजी भी की। 

उपचुनाव: कार जब्त होने पर फूट फूट कर रोया यह कांग्रेस प्रत्याशी

- घोसी विधानसभा सीट का मामला
- प्रत्याशी ने प्रशासन पर लगाए आरोप
- समर्थकों ने विरोध में की नारेबाजी

Lucknow. विधानसभा उपचुनाव के प्रचार के दौरान घोसी विधानसभा सीट पर उस समय अजीबो गरीब दृश्य देखने जब कांग्रेस प्रत्याशी बीच सड़क पर फूट फूट कर रोने लगा। हुआ दरअसल हुआ यूं कि प्रचार के दौरान कांग्रेस प्रत्याशी राजमंगल यादव के काफिले में शामिल गाड़ियों को आचार संहिता उल्लंघन के चलते सीज कर दिया। इसके बाद कांग्रेस प्रत्याशी ने पैदल मार्च कर चुनाव किया। इस दौरान उनके समर्थकों ने प्रशासन के विरोध में नारेबाजी भी की। 

Images/11-10-2019154022By-electionT1.jpg

मिली जानकारी के अनुसार घोसी सीट से कांग्रेस उम्मीदवार राजमंगल यादव चार गाड़ियों का काफिला लेकर चुनाव प्रचार कर रहे थें। 
इस दौरान स्टेटिक मजिस्ट्रेट और फ्लाइंग मजिस्ट्रेट ने उन्हें रोक लिया। जांच के दौरान गाड़ियों से कथित रूप से प्रचार सामग्री बरामद हुई। 
जिस पर अधिकारियों ने आचार संहिता के उल्लंघन में कार्रवाई करते हुए चारों गाड़ियों को सीज कर दिया। 
इस कार्रवाई के नाराज राजमंगल के समर्थक भड़क उठे और पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। 

Images/11-10-2019154137By-electionT3.JPG

राजमंगल ने एक दरोगा पर आरोप लगाया कि उसने उनका कॉलर पकड़ कर उनसे मारपीट की। इसके बाद कांग्रेस प्रत्याशी बीच सड़क पर रोते नजर आए। उन्होंने अपने समर्थकों के पैदल मार्च कर चुनाव प्रचार किया। 
  कांग्रेस प्रत्याशी ने लगाया पक्षपात का आरोप
कांग्रेस प्रत्याशी ने स्वयं पर हुई कार्रवाई को लेकर गंभीर सवाल उठाए है। उन्होंने कहा जिस समयय मेरे काफिला ​रोका गया था ठीक उसी समय भाजपा प्रत्याशी का कारवां गुजरा जिसमें तकरीबन 40 गाड़ियां शामिल थी। जांच दल को मेरे काफिले की चार गाड़ियां दिखी लेकिन उनके काफिले की 40 गाड़ियों को अनदेखा किया गया। यह कार्रवाई दर्शाती है कि किसी तरह से प्रशासनिक मशीनरी भाजपा प्रत्याशी की परोक्ष मदद कर रही है। 

Images/11-10-2019154044By-electionT2.jpg

  14 प्रत्याशी हैं चुनाव मैदान में 
गौरतलब हो कि मऊ जिले की घोसी सीट यहां के विधायक फागू चौहान को बिहार का राज्पाल बनाए जाने से रिक्त हुई थी। यहां कुल 14 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। जिनमें आठ प्रत्याशी विभिन्न दलों से हैं जबकि 6 निर्दलीय हैं। 

यह भी पढ़ें...आधार से संपत्ति लिंक कराने की तैयारी में योगी सरकार

 

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
अमित शाह ने चीन को दिया कड़ा संदेह, कही यह बड़ी बातhttps://www.newstimes.co.in/news/82385/भारत/महाराष्ट्र/Amit-Shah-warned-China-said-this-big-thing902812Fri, 11 Oct 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/11-10-2019135943AmitShahwarn1.jpg' alt='Images/11-10-2019135943AmitShahwarn1.jpg' />चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के भारत दौरे से ठीक पहले गृह मंत्री अमित शाह का बड़ा बायान सामने आया है। उन्होंने पाकिस्तान के सुर में सुर मिलाने वाले चीन को इशारों इशारों में साफ कर दिया है कि कश्मीर मसले पर किसी भी देश की दखलअंदाजी भारत को बर्दाश्त नहीं है। यह बात उन्होंने महाराष्ट्र के बुलढाणा में चुनावी सभा के दौरान कही। 

अमित शाह ने चीन को दिया कड़ा संदेह, कही यह बड़ी बात

Mumbai. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के भारत दौरे से ठीक पहले गृह मंत्री अमित शाह का बड़ा बायान सामने आया है। उन्होंने पाकिस्तान के सुर में सुर मिलाने वाले चीन को इशारों इशारों में साफ कर दिया है कि कश्मीर मसले पर किसी भी देश की दखलअंदाजी भारत को बर्दाश्त नहीं है। यह बात उन्होंने महाराष्ट्र के बुलढाणा में चुनावी सभा के दौरान कही। 

Images/11-10-2019135943AmitShahwarn1.jpg

गृहमंत्री अमित शाह कहा अमेरिका राष्ट्रपति हो या कोई और हमारे प्रधानमंत्री ने साफ कर दिया है कि कश्मीर मसले पर किसी का हस्तक्षेप बर्दास्त नहीं है। यह हमारे देश का आतंरिक मामला है। 
बता दें कि उनका यह बयान चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की भारत यात्रा से कुछ ही देर पहले आया है। चीनी राष्ट्रपति तमिलनाडु के ममल्लापुरम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे। 
बुलढाना के मंच से अमित शाह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर भी निशाना साधा। उन्होंने ब्रिटेन की लेबर पार्टी के नेता जेरेमी कॉर्बिन के साथ कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल की मुलाकात और कश्मीर मुद्दे का जिक्र करने पर कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधा। 
उन्होंने कहा कि क्या राहुल गांधी देश को यह बताएंगे कि वह अंग्रेज नेताओं से देश की छवि को पेश करने की कोशिश कर रहे हैं। 
अमित शाह ने एनआरसी का जिक्र करते हुए कहा कि इसके जरिए घुसपैठियों को देश से बाहर भगाने का प्रयास किया जा रहा है लेकिन कांग्रेस पार्टी को इससे भी दिक्कत है। 
गृहमंत्री शाह ने अपने संबोधन में उरी और पुलवामा हमले के बाद की गयी सर्जिकल स्ट्राइक का भी जिक्र किया। 

यह भी पढ़ें...यूपी: अब कांग्रेस के इस दिग्‍गज ने सभी पदों से दिया इस्‍तीफा

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
रामपुर सीट बचाने के लिए सपा ने बनाया ये मास्टर प्लान, दांव पर लगी BJP की प्रतिष्ठाhttps://www.newstimes.co.in/news/82387/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/BJP-and-Samajwadi-Partys-reputation-at-stake-in-Rampur-seat-by-election902814Fri, 11 Oct 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/11-10-2019140626BJPandSamajw2.jpeg' alt='Images/11-10-2019140626BJPandSamajw2.jpeg' />यूपी की 11 विधानसभा सीटों के उपचुनाव के लिए 21 अक्तूबर को मतदान होंगे। इन सीटों में रामपुर की हाईप्रोफ़ाइल सीट भी शामिल है। जिस पर सत्ताधारी पार्टी भाजपा और सपा के बीच कड़ी टक्कर की उम्मीद जतायी जा रही है। इस सीट से सपा के कद्दावर नेता आज़म खान नौ बार विधायक रहे हैं। वहीं, आज़म खान के सांसद बनने के बाद यह सीट खाली हुई है। सपा के अभेद्य किला कहे जाने वाली सीट को जीतने के लिए भाजपा संगठन और सरकार दोनों ने पूरी ताकत लगा दी है। 

रामपुर सीट बचाने के लिए सपा ने बनाया ये मास्टर प्लान, दांव पर लगी BJP की प्रतिष्ठा

Rampur. यूपी की 11 विधानसभा सीटों के उपचुनाव के लिए 21 अक्तूबर को मतदान होंगे। इन सीटों में रामपुर की हाईप्रोफ़ाइल सीट भी शामिल है। जिस पर सत्ताधारी पार्टी भाजपा और सपा के बीच कड़ी टक्कर की उम्मीद जतायी जा रही है। इस सीट से सपा के कद्दावर नेता आज़म खान नौ बार विधायक रहे हैं। वहीं, आज़म खान के सांसद बनने के बाद यह सीट खाली हुई है। सपा के अभेद्य किला कहे जाने वाली सीट को जीतने के लिए भाजपा संगठन और सरकार दोनों ने पूरी ताकत लगा दी है। 

Images/11-10-2019140513BJPandSamajw1.jpg

भाजपा के नेता इन दिनों रामपुर में ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे हैं। गुरुवार को गुरुवार को जहां भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने भाजपा प्रत्याशी भरत भूषण के समर्थन में सभाएं की तो वहीं 18 अक्टूबर को सीएम योगी आदित्यनाथ खुद मैदन में उतर रहे हैं। वहीं, अपने किले को बचाने में जुटी सपा आजम खान के खिलाफ जिला प्रशासन की कार्रवाई को लेकर लोगों की सहानुभूति को चुनाव में भाजपा के खिलाफ हथियार बनाएगी। 

यह भी पढ़ें:-...यूपी: अब कांग्रेस के इस दिग्‍गज ने सभी पदों से दिया इस्‍तीफा

रामपुर में प्रतिष्ठा दांव पर 

भाजपा के लिए रामपुर की सीट प्रतिष्ठा का सवाल बना हुआ है। लोकसभा चुनाव में हार का बदला लेने के लिए उसने पूरी ताकत झोंक रखी है और इस चुनाव को जीतकर आजम के खिलाफ दर्ज हुए केस को जनता का समर्थन साबित करने की भी कोशिश है। लेकिन सपा ने सहानुभूति का दांव चलते हुए आजम खान की पत्नी तजीन फात्मा को मैदान में उतारकर मुकाबला दिलचस्प बना दिया है। 

Images/11-10-2019140626BJPandSamajw2.jpeg

बता दें कि मुस्लिम बाहुल रामपुर सीट पर आज़म खान का हमेशा से ही दबदबा रहा है। इस विधानसभा सीट पर 390725 मतदाता हैं। इनमें 211536 पुरुष और 179158 महिलाएं शामिल हैं। 2017 में हुए विधानसभा उपचुनाव में सपा के आजम खान विजयी रहे थे।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
कांग्रेस में मची भगदड़: 40 वरिष्ठ नेताओं ने छोड़ी पार्टी, आलाकमान हैरान https://www.newstimes.co.in/news/82381/भारत/40-Congress-nets-ne-chhodi-party-902808Fri, 11 Oct 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/11-10-201913004240Congressne1.JPG' alt='Images/11-10-201913004240Congressne1.JPG' />महाराष्ट्र और हरियाणा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस पार्टी में भगदड़ मच गयी है। अधिकतर बड़े नेता अब कांग्रेस पार्टी में रहना पसंद नहीं कर रहे है, जिसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है

कांग्रेस में मची भगदड़: 40 वरिष्ठ नेताओं ने छोड़ी पार्टी, आलाकमान हैरान 

New Delhi. महाराष्ट्र और हरियाणा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस पार्टी (Congress Party) में भगदड़ मच गयी है। अधिकतर बड़े नेता अब कांग्रेस (Congress) में रहना पसंद नहीं कर रहे है, जिसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि  महज 34 दिन के अंदर 40 बड़े कांग्रेसी नेताओं ने पार्टी छोड़ दी, ..जिसकी वजह से कांग्रेस (Congress) आलाकमान चिंतित और हैरान हैं।

Images/11-10-201913004240Congressne1.JPG

कांग्रेस (Congress) को अलविदा कहने वाले नेताओं में पूर्व सांसद, पूर्व मंत्री और पूर्व विधायकों के अलावा चेयरमैन और बड़े चेहरे शामिल हैं। हरियाणा में कांग्रेस नेताओं के धड़ाधड़ पार्टी छोड़ने से आलाकमान चिंतित है। नामांकन पत्र दाखिल करने के दौरान टिकटों की घोषणा करते समय पार्टी आलाकमान ने इस तरह की बगावत का अंदाज नहीं लगाया था।

पार्टी छोड़ने वाले नेताओं का सिलसिला जारी

टिकट से वंचित रहे करीब 22 पूर्व मंत्रियों और पूर्व विधायकों सहित 40 नेता अब तक कांग्रेस का हाथ छोड़ चुके हैं। कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष कुमारी शैलजा और पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा की मान-मनौव्वल के बावजूद पार्टी छोड़ने वालों का सिलिसला अभी थमा नहीं है। यहां तक की पूर्व हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर भी पार्टी छोड़ चुके हैं।

यह भी पढ़ें - 

चीनी राष्ट्रपति के स्वागत के लिए महाबलीपुरम तैयार

यूपी: अब कांग्रेस के इस दिग्‍गज ने सभी पदों से दिया इस्‍तीफा

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
एफएटीएफ की कार्रवाई से बचने की लिए पाकिस्तान ने चली नई चालhttps://www.newstimes.co.in/news/82379/अन्तर्राष्ट्रीय/पड़ोसी-देश/Pakistans-new-move-to-avoid-FATF-action902805Fri, 11 Oct 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/11-10-2019125357Pakistansnew3.jpg' alt='Images/11-10-2019125357Pakistansnew3.jpg' />फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) की कार्रवाई से बचने के लिए पाकिस्तान ने अब नई चाल चली है। बैक लिस्टिंग से बचने के लिए दुनिया का ध्यान भटकाने के लिए पाकिस्तान आतंकी हाफिज सईद के चार करीबियों को गिरफ्तार कर लिया है। ये चारों आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा (Lashkar-e-Taiba) और जमात उद दावा (Jamaat-ud-Dawa) से ताल्लुक रखते हैं। 

एफएटीएफ की कार्रवाई से बचने की लिए पाकिस्तान ने चली नई चाल

- हाफिज सईद के चार आतंकी किए गए गिरफ्तार
- इसी माह पेरिस में होनी है एफएटीएफ की बैठक
- बैठक से ठीक पहले इमरान सरकार ने की कार्रवाई

New Delhi. फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) की कार्रवाई से बचने के लिए पाकिस्तान ने अब नई चाल चली है। बैक लिस्टिंग से बचने के लिए दुनिया का ध्यान भटकाने के लिए पाकिस्तान आतंकी हाफिज सईद के चार करीबियों को गिरफ्तार कर लिया है। ये चारों आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा (Lashkar-e-Taiba) और जमात उद दावा (Jamaat-ud-Dawa) से ताल्लुक रखते हैं। 

Images/11-10-2019125300Pakistansnew1.jpg

मालूम हो कि फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) से जुड़े एशिया पैसिफिक ग्रुप (APG) का मानना है कि यूएनएससीआर 1267 के प्रावधानों को पाकिस्तान अभी तक पूरी तरह से लागू नहीं कर सका है। 
अपनी 228 पेज की रिपोर्ट में एपीजी ने कहा है कि आतंकियों पर कार्रवाई के 40 पैरामीटर में से 32 पैरामीटर ऐसे है जिन पर पाकिस्तान खरा नहीं उतरा है।

Images/11-10-2019125324Pakistansnew2.jpg

देश में चल रहे तमाम आतंकी संगठनों पर मनी लॉन्ड्रिंग और टेरर फंडिंग पर पाकिस्तान को कार्रवाई करने सुझाव इस रिपोर्ट में दिया गया है। 
इस रिपोर्ट के बाद पाकिस्तान को यह भय सता रहा है कि एफएटीएफ (FATF)अब उसे ग्रे लिस्ट से ब्लैक लिस्ट में डाल सकता है। 
अगर ऐसा होता है तो उसे मिलने वाले विदेशी कर्जे पर ब्रेक लग जाएगा। बता दें कि 13 से 18 अक्टूबर तक पेरिस में एफएटीएफ (FATF) की बैठक होनी है। 

Images/11-10-2019125357Pakistansnew3.jpg

इस बात का ध्यान में रखते हुए पाकिस्तान ने दुनिया को गुमराह करने के लिए नई चाल चली है। इमरान सरकार ने आतंकी मसूद अजहर के चार साथियों को गिरफ्तार करने की कार्रवाई की है। 
गिरफ्तार किए गए आतंकियों के नाम जफर इकबाल, हाफिज याह्या अजीज, इकबाल सलाम और मोहम्मद अशरफ बताए जा रहे हैं जो आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा और जमात उद दावा से ताल्लुक रखते हैं। 

यह भी पढ़ें...चीनी राष्ट्रपति के स्वागत के लिए महाबलीपुरम तैयार

 

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
यूपी चुनाव: इस विपक्षी दल को बड़ा झटका, प्रत्याशी के चुनाव लड़ने पर मंडराया खतराhttps://www.newstimes.co.in/news/82380/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Case-filed-against-BSP-candidate-from-Pratapgarh-seat902806Fri, 11 Oct 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/11-10-2019125929Casefiledaga2.PNG' alt='Images/11-10-2019125929Casefiledaga2.PNG' />यूपी की 11 विधानसभा सीटों के उपचुनाव के लिए 21 अक्तूबर को मतदान होंगे। उपचुनाव (By-election) के अब महज कुछ ही दिन रह गए हैं और सभी पार्टियों ने प्रचार-प्रसार में पूरी ताकत झोंक दी है। वहीं, समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) से अलग होकर अकेले यूपी का उपचुनाव लड़ रही बहुजन समाज पार्टी (Bahujan samaj party) के लिये बुरी खबर है।

यूपी चुनाव: इस विपक्षी दल को बड़ा झटका, प्रत्याशी के चुनाव लड़ने पर मंडराया खतरा

Pratapgarh. यूपी की 11 विधानसभा सीटों के उपचुनाव के लिए 21 अक्तूबर को मतदान होंगे। उपचुनाव (By-election) के अब महज कुछ ही दिन रह गए हैं और सभी पार्टियों ने प्रचार-प्रसार में पूरी ताकत झोंक दी है। वहीं, समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) से अलग होकर अकेले यूपी का उपचुनाव लड़ रही बहुजन समाज पार्टी (Bahujan samaj party) के लिये बुरी खबर है। उसके प्रतापगढ़ सीट (Pratapgarh Seat) से प्रत्याशी के चुनाव लड़ने पर खतरा मंडरा रहा है। 

Images/11-10-2019125909Casefiledaga1.jpg

जानकारी के मुताबिक बसपा के टिकट पर प्रतापगढ़ विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे रणजीत सिंह पटेल (Ranjit Singh Patel) के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो चुका है। बसपा प्रत्याशी रणजीत पटेल के खिलाफ आचार संहिता (Code of conduct) का मामला सामने आया है। रणजीत सिंह पर आचार संहिता उल्लंघन करने का आरोप है। 

यह भी पढ़ें:-...यूपी: अब कांग्रेस के इस दिग्‍गज ने सभी पदों से दिया इस्‍तीफा

Images/11-10-2019125929Casefiledaga2.PNG

बताया जा रहा है कि बसपा प्रत्याशी रणजीत पटेल ने भुपियामऊ पुलिस चौकी (Bhupiamau Police Post) के सामने बिजली के खंभे पर होर्डिंग्स लगा रखा था। जिसको लेकर एसडीएम विजय पाल के निर्देश पर बसपा प्रत्याशी समेत अज्ञात के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन का मुकदमा कोहड़ौर कोतवाली में दर्ज कराया गया है। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
यूपी: अब कांग्रेस के इस दिग्‍गज ने सभी पदों से दिया इस्‍तीफाhttps://www.newstimes.co.in/news/82377/भारत/उत्तर-प्रदेश-/Congress-neta-ne-diya-resign902803Fri, 11 Oct 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/11-10-2019113529Congressneta1.JPG' alt='Images/11-10-2019113529Congressneta1.JPG' />अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य, उत्तर प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष एवं पूर्व एमएलसी सिराज मेंहदी ने कांग्रेस पार्टी के सभी पदों से अपना इस्तीफा दे दिया।

यूपी: अब कांग्रेस के इस दिग्‍गज ने सभी पदों से दिया इस्‍तीफा

Lucknow. अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य, उत्तर प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष एवं पूर्व एमएलसी सिराज मेंहदी ने कांग्रेस पार्टी के सभी पदों से अपना इस्तीफा दे दिया। उन्होंने अपना त्याग पत्र कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेज दिया।

Images/11-10-2019113529Congressneta1.JPG

मेंहदी ने कहा कि कांग्रेस कमेटी में किसी भी शिया समुदाय के व्यक्ति को कमेटी में नहीं लिया गया है। यही हाल कांग्रेस की राष्ट्रीय कमेटी का है जहां शिया समुदाय का एक भी व्यक्ति नहीं शामिल है जबकि भाजपा ने केन्द्र में मुख्तार अब्बास नकवी को मंत्री व गैरुल हसन रिजवी को अल्पसंख्यक आयोग का चेयरमैन बनाया है। वहीं उत्तर प्रदेश में मोहसिन रजा को मंत्री एवं बुक्कल नवाब को एमएलसी बनाया गया है।

उन्होंने कहा कि वैसे भी सदैव कांग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त होता था, फिर बाद में कमेटी के गठन में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रभारी की सलाह-मशविरा तथा वरिष्ठ कांग्रेसजनों की राय ली जाती थी परंतु इस बार नया प्रयोग किया गया है।

साथ ही उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में जात-पात का बोलबाला 1979 से है। हमारे नेताओं ने कमेटी में इस बिन्दु पर विचार ही नहीं किया जबकि वर्तमान में इसकी अति आवश्यकता है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
यहां अध्यक्ष पद की रेस कल हो सकती है खत्म, भाजपा से आने वाला यह नेता रेस में सबसे आगेhttps://www.newstimes.co.in/news/82357/भारत/दिल्ली/Here-the-race-for-the-post-of-president-may-be-over-tomorrow-this-leader-coming-from-BJP-is-in-the-forefront-of-the-race902783Thu, 10 Oct 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/10-10-2019161526Heretherace4.jpg' alt='Images/10-10-2019161526Heretherace4.jpg' />देश की राजधानी में खाली चले अध्यक्ष पद का सूनापन कल समाप्त हो सकता है। दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष किसे बनाया जाएगा इसकी घोषणा शुक्रवार को पार्टी कर सकती है। पूर्व मुख्यमंत्री शील दीक्षित के निधन के बाद से यह पद खाली चल रहा था। 

यहां अध्यक्ष पद की रेस कल हो सकती है खत्म, भाजपा से आने वाला यह नेता रेस में सबसे आगे

New Delhi. देश की राजधानी में खाली चले अध्यक्ष पद का सूनापन कल समाप्त हो सकता है। दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष किसे बनाया जाएगा इसकी घोषणा शुक्रवार को पार्टी कर सकती है। पूर्व मुख्यमंत्री शील दीक्षित के निधन के बाद से यह पद खाली चल रहा था। 

Images/10-10-2019161415Heretherace1.jpg

दिल्ली में विधानसभा चुनाव की उल्टी गिनतियां शुरू हो गयी है। सभी राजनीतिक दल चुनावी चौसर बिछाने में जुट गए हैं। ऐसे में कांग्रेस पार्टी को यहां अध्यक्ष की दरकार है। दरअसल पूर्व मुख्यमंत्री व अध्यक्ष शीला दीक्षित कि निधन के बाद से यह पद खाली चल रहा है। 
पार्टी सूत्रों की माने तो बहुत जल्द ही पार्टी अध्यक्ष के नाम की घोषणा कर सकती है। चर्चा तो यह भी है कि शुक्रवार को यह हो सकता है। 
यूं तो अध्यक्ष बनने की दौड़ में कई हस्तियां शामिल हैं। लेकिन इन सबके बीच पूर्व क्रिकेटर और पूर्वांचली नेता कीर्ति आजाद इस मामले में सबसे आगे माने जा रहे हैं। उनके अलावा जेपी अग्रवाल और संदीप दीक्षित भी इस रेस में शामिल है। 

Images/10-10-2019161500Heretherace3.jpgImages/10-10-2019161526Heretherace4.jpg

भाजपा का दामन छोड़कर कांग्रेस में आने के बाद लोकसभा चुनाव में वह झारखंड की धनबाद सीट से चुनाव लड़ चुके हैं। 
मालूम हो कि दिल्ली विधान सभा चुनाव में पूर्वांचल के वोटरों की अहम भूमिका है। भाजपा जहां मनोज तिवारी के बल पर इन्हें साधने का काम कर रही है तो सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी पूर्वांचल वासियों के लिए तमाम योजनाओं की सौगात देकर उन्हें रिझाने का प्रयास कर रही है। 
ऐसे में कीर्ति को अध्यक्ष बना कर कांग्रेस भी पूर्वांचल के वोटरों को काफी हद तक साध सकती है। 

यह भी पढ़ें...कांग्रेस नेता सचिन पायलट का ये दावा सच हुआ तो बीजेपी को होगा बड़ा नुकसान

 

 

 

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
कांग्रेस नेता सचिन पायलट का ये दावा सच हुआ तो बीजेपी को होगा बड़ा नुकसानhttps://www.newstimes.co.in/news/82352/भारत/राजस्थान/congress-neta-sachin-pilot-ne-kiya-bada-dawa902778Thu, 10 Oct 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/10-10-2019151034congressneta1.JPG' alt='Images/10-10-2019151034congressneta1.JPG' />कांग्रेस के युवा नेता एवं राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट बड़ा दावा किया है। उन्होंने कहा कि झुंझनू की मंडावा और नागौर की खींवसर दोनों सीटों पर उपचुनाव में कांग्रेस जीतेगी।

कांग्रेस नेता सचिन पायलट का ये दावा सच हुआ तो बीजेपी को होगा बड़ा नुकसान

New Delhi. कांग्रेस (Congress) के युवा नेता एवं राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin Pilot) बड़ा दावा किया है। उन्होंने कहा कि झुंझनू की मंडावा और नागौर (Nagaur) की खींवसर दोनों सीटों पर उपचुनाव (By Election) में कांग्रेस जीतेगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस (Congress) नेता जिस तरह से प्रचार में एकजुटता के साथ लगे हुए हुए हैं, उससे कांग्रेस की जीत होना तय है। यदि सचिन पायलट (Sachin Pilot) का दावा सच हुआ तो बीजेपी (BJP) को नुकसान होना तय माना जा रहा है। बता दें राजस्थान की दो विधानसभा की सीटों पर उपचुनाव  21 अक्टूबर को होंगे।

Images/10-10-2019151034congressneta1.JPG

राजस्थान में विधानसभा उपचुनाव (Assembly by-election) को लेकर कांग्रेस (Congress) पूरी ताकत के साथ जुटी हुई है। कांग्रेस ने खींवसर सीट से पूर्व मंत्री हरेन्द्र मिर्धा (Harendra Mirdha) और मंडावा से रीटा चौधरी (Rita Chaudhry) को उम्मीदवार बनाया है। उपचुनाव की दोनों सीटों पर कांग्रेस नेता एकजुटता के साथ पूरी ताकत के साथ लगे हुए हैं। कांग्रेस नेता एवं उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने दोनों सीटों पर जीत को लेकर दावा किया है। 

विधानसभा चुनाव में दोनों सीटें हार गई थी कांग्रेस

वहीं, आरएलपी (RLP) ने खींवसर से नारायण लाल बेनीवाल को मैदान में उतारा है, जो बीजेपी (BJP) के साथ गठबंधन प्रत्याशी हैं। वहीं, मंडावा से बीजेपी ने सुशीला सींगड़ा हो चुनाव मैदान में उतारा है। बता दें कि विधानसभा चुनाव 2018 में खींवसर और मंडावा दोनों ही सीटों पर कांग्रेस चुनाव हार गई थी।

यह भी पढें - 

एनकाउंटर मामले में मचा घमासान, अखिलेश यादव के पहुंचते ही ये सांसद हुआ गिरफ्तार

भारतीय सेना की बड़ी जवाबी कार्रवाई: पाकिस्तान के तीन पोस्ट तबाह, एक सैनिक को मार गिराया

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
मायावती ने योगी सरकार की बताई हकीकत, क्यों नहीं किसी के पास जवाब?https://www.newstimes.co.in/news/82338/भारत/--गिरवान-----पहाड़ी----BABERU---BADASSA--अचनेरा--अजनेर---अतर्रा--अमीनाबाद--अलीगंज--आता-----आलमबाग--आशियाना--इंटौजा--इंडस्ट्रीयल-एरिया--इंदिरा-नगर--इरादतनगर--ईटन--उल्दन---ऋ-जलन--एट----एत्मादपुर--एत्मादुल्ला--एम-एम-गेट--एरछ----ऐशबाग--ककरवाई---कंझारी----कटरा----कुठौन्द----कदौरा----कैन्ट--कबरई----कमासिन---कुरारा----कुलपहाड़---केलिए--कृष्णा-नगर--कैसरबाग--काकोरी--कागारौल--कार्वी---काल्पी----कालिंजर----कीडगंज--कोंच----कोटरा----कोतवाली--कोतवाली--कोतवाली---कोतवाली---कोतवाली---कोतवाली---कोतवाली--कोतवाली--कोतवाली-देहात--खन्डोली--खनना----खरेला----ख़ैरागढ़--खैराथोर--खीरो--गुडम्बा--गदागंज--गुरूबख्शगंज--गुरसराई---गरौठा----गाजीपुर--गिरार----गोमती-नगर--गोसाईंगंज--गोहन----गौतमपल्ली--चरखारी--चरखी----चिकासी---चिनहट--चिरगांव----चिल्ला----चौक--छाता-बाजार--जखौरा----जगतपुर--जगदीशपुरा--जगनेर--जैतपुर--ज़रिए---जलन----जलालपुर----जसपुरा-----जाखलौन----जानकीपुरम--जायस--जालौन----टहरौली----टोडी-फतेहपुर--ठाकुरगंज--डकोर----डलमऊ--डीह--डौकी--ताजगंज--तालकोटरा--तालबेहट----तिंदवारी---नगराम--नदीगांव----न्यू-आगरा--नरैनी---नरहट----नवाबाद----नसीराबाद--नाई-की-मंडी--नाका-हिन्डोला--नादौन----निगोहां--निबोहरा--नियामतपुर----पुँछ----पनवारी---पुरकलां-----प्रेमनगर----पैलानी--पारा--पाली---पिनहट--पिनहट--पीजीआई--फतेहगंज---फतेहपुर-सीकरी--फतेहाबाद--फुर्सतगंज--बेकन-गंज---बख्शी-का-तालाब--बड़गाओं----बड़सर----बबीना---बरगढ़----बेरहन--बेवर---बसई-अरेला--बसई-जगनेर--बसोनी--बसोनी--बहिलपुरवा--बाजारखाला--बानपुर----बार---बारायसागर----बालाबेहट----बाह--भोरंज---मऊ---मऊरानीपुर----मझगवां-----मटौंध-----मठ----मड़ावरा----मड़ियांव--मदनपुर---मन्टोला--मनसुखपुरा--मनसुखपुरा--मरका----मलपुरा--मलिहाबाद--मुंशीगंज--मुस्करा--महरौनी----महानगर--महाराजगंज--महोबकंठ--महोबा----माधोगढ़----मानक-नगर--मानिकपुर--मारकुण्डी----माल--मोहनगंज--मोहनलालगंज--मौदहा---रक्षा---रकाबगंज--रकाबगंज--रेढर----रैपुरा--राजपुर--राठ---रामपुरा----रिठोरा--लहचौड़ा----लालगंज--लालपुरा---लोहा-मंड़ी--वज़ीरगंज--विकास-नगर--विभूति-खण्ड--शम्साबाद--श्रीनगर------शाहगंज--शाहजहांपुर----शिवगढ़--शिवरतनगंज--सआदतगंज--सकरर----सुजानपुर----सदर----सदर--सदर-बाजार--सदरबाजार----सैन्या--समथर----सुमेरपुर---सरोजनी-नगर--सरौनी--सलवन--सिकन्दरा--सिपरी-बाजार--सिरसकालर----सिसोलर---सौजना----हजरतगंज--हरचंदपुर--हरिपर्वत--हसनगंज--हुसैनगंज-Mayawati-told-the-reality-of-Yogi-Sarkar-why-no-one-has-an-answer902764Thu, 10 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/10-10-2019115615Mayawatitold1.jpg' alt='Images/10-10-2019115615Mayawatitold1.jpg' />यूपी में चुनाव के नजदीक आते ही राजनेता विरोधी पार्टियों पर हमलावार हैं। सरकार जहां अपने कार्यों का पुलिंदा बांध रही है, वहीं विपक्षी दल प्रदेश में लचर कानून व्यवस्था पर हमला बोल रहे हैं। उपचुनाव को लेकर सियासत कुछ अधिक ही गर्म हो चला है। आए दिन पुलिस एनकाउंटर पर सवाल खड़े हो रहे हैं। हो भी क्यों नहीं वर्तमान सरकार में आम आदमी से लेकर पत्रकारों तक का पुलिस लगातार उत्पीड़न कर रही है।

मायावती ने योगी सरकार की बताई हकीकत, क्यों नहीं किसी के पास जवाब?

Lucknow. यूपी में उपचुनाव के नजदीक आते ही राजनेता विरोधी पार्टियों पर हमलावार हैं। सरकार जहां अपने कार्यों का पुलिंदा बांध रही है, वहीं विपक्षी दल प्रदेश में लचर कानून व्यवस्था पर हमला बोल रहे हैं। उपचुनाव को लेकर सियासत कुछ अधिक ही गर्म हो चली है। आए दिन पुलिस एनकाउंटर पर सवाल खड़े हो रहे हैं। अपराधियों का बोलबाला भी बढ़ता जा रहा है। यूपी में कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े करते हुए मायावती ने योगी सरकार पर जमकर हमला बोला।

Images/10-10-2019115615Mayawatitold1.jpg

मायावती ने ट्वीट करते हुए लिखा, प्रदेश की राजधानी लखनऊ में जब अपराधी खुलेआम घूम रहे हैं, ऐसे में अन्य जगहों का क्या हाल होगा, इसका अनुमान लगाया जा सकता है। आए दिन पुलिस फर्जी एनकाउंटर कर रही है। इससे जनता में काफी रोष और बेचैनी है।

जनता आवाज उठा रही, लेकिन उनको दबा दिया जा रहा। यूपी में कानून का नहीं जंगलराज है। सरकार को इस गंभीर मुद्दे पर ध्यान देना चाहिए। बताते चलें कि पुष्पेन्द्र एनकाउंटर मामले में भी विपक्षी दलों ने सरकार की कार्यशैली पर सवाल खड़े किये हैं।

यह भी पढ़ें... सलमान खान के घर पर क्राइम ब्रांच का छापा, पुलिस के हाथ लगा 29...

एनकाउंटर को फर्जी करार देते हुए सपा ने पुष्पेन्द्र को न्याय दिलाने के लिए धरने पर बैठने की चेतावनी दी है। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने गत बुधवार को पुष्पेन्द्र के परिजनों से मुलाकात की।

अखिलेश ने कहा कि पुष्पेन्द्र के परिजनों को न्याय दिलाने के लिए समाजवादी पार्टी संघर्ष करेगी। यह एनकाउंटर नहीं सीधी हत्या है। एनकाउंटर में मारे गए पुष्पेन्द्र यादव की पत्नी शिवांगी ने न्याय नहीं मिलने पर आत्महत्या की चेतावनी दी है।

शिवांगी ने कहा कि यदि न्याय नहीं मिला तो जहर खा कर आत्महत्या कर लूंगी। वहीं, मृतक के भाई ने न्याय नहीं मिलने पर इच्छामृत्यु की मांग की है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
Jhansi Encounter: पुष्पेंद्र कांड पर गरमाई सियासत, मृतक के परिवार से मिलने पहुंचे अखिलेश यादवhttps://www.newstimes.co.in/news/82330/भारत/Jhansi-Encounter:-Politics-warming-up-on-Pushpendra-encounter-case-Akhilesh-Yadav-arrived-to-meet-the-family-of-the-deceased902755Wed, 09 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/09-10-2019175042JhansiEncount2.jpg' alt='Images/09-10-2019175042JhansiEncount2.jpg' />यूपी के झांसी में पुलिस एनकाउंटर में मारे गए पुष्पेंद्र यादव कांड ने अब सियासी गलियारों में हलचल मचा दी है। समाजवादी पार्टी सुप्रीमो अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा एनकाउंटर को फर्जी करार देते हुए समाजवादी पार्टी बड़े आंदोलन की तैयारी में है।

Jhansi Encounter: पुष्पेंद्र कांड पर गरमाई सियासत, मृतक के परिवार से मिलने पहुंचे अखिलेश यादव

Lucknow. यूपी के झांसी में पुलिस एनकाउंटर में मारे गए पुष्पेंद्र यादव कांड ने अब सियासी गलियारों में हलचल मचा दी है। समाजवादी पार्टी सुप्रीमो अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा एनकाउंटर को फर्जी करार देते हुए समाजवादी पार्टी बड़े आंदोलन की तैयारी में है। सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव झांसी जिले में स्थित पुष्पेंद्र के गांव कारगुआ खुर्द में उनके परिवार को सांत्वाना देने पहुंचे हैं। वह आज सर्किट हाउस में रात रुकेंगे और गुरुवार को वहां से रवाना होंगे। 

Images/09-10-2019175028JhansiEncount1.jpg

  राजेंद्र चौधरी ने लगाए आरोप

बता दें कि मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने आरोप लगाए हैं कि सरकार की ठोंको नीति के कारण पुलिस काबू में नहीं है। अपराध रुकने की जगह उल्टे निर्दोषों को निशाना बनाया जा रहा है उन्होंने कहा कि एनकाउंटर के नाम पर निर्दोष युवाओं को मौत के घाट उतारा जा रहा है। 

Images/09-10-2019175042JhansiEncount2.jpg

  न्यायिक जांच की मांग

सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने मुठभेड़ कांड की हाईकोर्ट के न्यायाधीश से जांच कराने की मांग की है। अखिलेश ने कहा कि  भाजपा सरकार में सत्ता का दंभ अब सिर चढ़कर बोल रहा है। वह जनता की आवाज को बूटों तले रौंदते हुए मनमानी पर उतर आयी है। विजयादशमी की सुबह से पहले रात के अंधेरे में झांसी में सत्ता की ताकत झोंककर पुष्पेंद्र यादव का अंतिम संस्कार कर सरकार ने न्याय की चिता जलाई है। 

यह भी पढ़ें... शाहजहांपुर: स्वामी चिन्मयानंद व पीड़िता समेत पांचों आरोपियों को लखनऊ लेकर पहुंची एसआईटी, कराई वाइस सैंपलिंग

परिवारीजन और स्थानीय जनता मांग कर रही थी कि फर्जी मुठभेड़ करने वाले दारोगा के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया जाए, तभी शव लिया जाएगा। अखिलेश ने कहा कि पुलिस का यह रवैया झांसी के मामले में ही नहीं बदायूं में हिरासत में दम तोड़ने वाले बृजपाल के साथ भी नजर आया, जब उसका अंतिम संस्कार जबरन पुलिस ने करा दिया।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
कांशीराम भी जानते थे लोग देंगे बीएसपी मूवमेंट को चुनौती, ऐसे मुकाबला संभव : मायावती https://www.newstimes.co.in/news/82328/भारत/उत्तर-प्रदेश-/kanshiram-ki-jayanti-par-hamlavar-hui-mayawati-902753Wed, 09 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/09-10-2019174046kanshiramkij1.jpg' alt='Images/09-10-2019174046kanshiramkij1.jpg' />.

कांशीराम भी जानते थे लोग देंगे बीएसपी मूवमेंट को चुनौती, ऐसे मुकाबला संभव : मायावती 

Lucknow. कांशीराम पुण्यतिथि पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। मायावती ने कहा कि कांशीराम ने हमेशा ही उपेक्षितों के हित में आवाज उठाई। उन्होंने भी कांशीराम के ही सपनों को पूरा करने का संकल्प लिया है। 

Images/09-10-2019174046kanshiramkij1.jpg


बामसेफ, डीएस4 व बीएसपी मूवमेन्ट के जन्मदाता व संस्थापक मान्य श्री कांशीरामजी को आज उनकी पुण्यतिथि पर बीएसपी द्वारा देश व विशेषकर यूपी में अनेकों कार्यक्रमों के जरिए भावभीनी श्रद्धांजलि व श्रद्धा-सुमन अर्पित। उपेक्षितों के हक में उनका संघर्ष था वोट हमारा राज तुम्हारा नहीं चलेगा।
दिल्ली में गुरुद्वारा रकाबगंज रोड पर स्थित प्रेरणा केन्द में तथा लखनऊ में बीएसपी सरकार द्वारा वीआईपी रोड में स्थापित भव्य मान्यवर श्री कांशीरामजी स्मारक स्थल के आयोजनों में बहुजन नायक मा. श्री कांशीराम जी को पुष्पांजलि व श्रद्धा-सुमन अर्पित। उनके सपनों को साकार करने का संकल्प।
बाबा साहेब डा भीमराव अम्बेडकर के आत्म-सम्मान व स्वाभिमान के मूवमेन्ट को समर्पित श्री कांशीरामजी जानते थे कि जातिवादी व संकीर्ण ताकतें साम, दाम, दण्ड, भेद आदि हथकण्डों से BSP मूवमेन्ट को चुनौतियाँ देती रहेंगी जिसका सूझबूझ से मुकाबला करके आगे बढ़ना है जिसका बेहतरीन उदाहरण यूपी है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
BJP ने नीतीश का किया बायकॉट, JDU बोली- भागने से काम नहीं चलेगाhttps://www.newstimes.co.in/news/82317/भारत/बिहार/पटना/JDU-attacks-BJP-over-Nitishs-Boycott902742Wed, 09 Oct 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/09-10-2019150858JDUattacksBJ1.jpg' alt='Images/09-10-2019150858JDUattacksBJ1.jpg' />बिहार की राजधानी पटना (Patna) में हुए जलभराव को लेकर भाजपा (BJP) और जेडीयू (JDU) नेताओं के बीच शुरू हुई बयानबाजी का असर अब गठबंधन पर भी पड़ता दिखाई दे रहा है। दोनों पार्टियों के बीच बीच दूरी पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान (Gandhi Maidan) में रावण दहन के दौरान के देखने को मिली, जब सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के साथ मंच पर भाजपा का कोई भी नेता नजर नहीं आया। जिसको लेकर जेडीयू ने भाजपा के नेताओं पर तंज़ कसा है। 

BJP ने नीतीश का किया बायकॉट, JDU बोली- भागने से काम नहीं चलेगा

Patna. बिहार की राजधानी पटना (Patna) में हुए जलभराव को लेकर भाजपा (BJP) और जेडीयू (JDU) नेताओं के बीच शुरू हुई बयानबाजी का असर अब गठबंधन पर भी पड़ता दिखाई दे रहा है। दोनों पार्टियों के बीच दूरी पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान (Gandhi Maidan) में रावण दहन के दौरान के देखने को मिली, जब सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के साथ मंच पर भाजपा का कोई भी नेता नजर नहीं आया। जिसको लेकर जेडीयू ने भाजपा के नेताओं पर तंज़ कसा है। 

Images/09-10-2019150858JDUattacksBJ1.jpg

भाजपा के नेताओं के नदारत रहने पर जेडीयू ने इसे पलायनवादी नजरिया बताया है। जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन (Rajeev Ranjan) ने सवाल किया है कि भाजपा के नेता जनता को जवाब दे कि वे क्यों नहीं आए? एक न्यूज़ चैनल से बातचीत में रंजन कहा कि कोई भी भाजपा का नेता नहीं पंहुचा इसका जवाब पार्टी दे। 

जेडीयू प्रवक्ता ने कहा कि जनता के सवाल से भागने से काम नहीं चलेगा। अगर वे (भाजपा के नेता) नहीं पहुंचकर किसी और को कठघरे में खड़ा करना चाहते हैं तो जनता सारी बातों को समझती है। उन्होंने कहा कि यह भाजपा का पलायनवादी नजरिया है। उन्हें जनता के सवालों का सामना करना चाहिए कि इतने वर्षों से जीतकर क्या कर रहे हैं?

बता दें कि पटना में जलभराव की स्थिति पर भाजपा और जेडीयू के बीच एक-दूसरे पर जिम्मेदारी थोपने की राजनीति चल रही है। सीएम नीतीश कुमार इसे प्राकृतिक आपदा बता रहे हैं तो केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने इसके लिए सीधे तौर पर सीएम को जिम्‍मेदार ठहराया। 

सूत्रों की माने तो भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने गिरिराज सिंह को गठबंधन धर्म निभाने की भी नसीहत दी है। भाजपा आलाकमान का यह संदेश उन तक पहुंचा दिया गया है। 

यह भी पढ़ें:-...जेडीयू का बड़ा बयान, गिरिराज से तेजस्वी को बताया बेहतर

कांग्रेस ने भी बोला हमला

वहीं, कांग्रेस ने भाजपा नेताओं के बायकॉट (Boycott) को लेकर सवाल खड़े किए हैं। कांग्रेस प्रवक्ता (Congress spokesman) राजेश राठौर ने कहा कि भाजपा ने खास रणनीति के तहत सीएम बायकॉट किया है। उन्होंने कहा कि डिप्टी सीएम के पटना में रहते हुए भी कार्यक्रम में नहीं पहुंचना बड़ी बात है। यही नहीं मेयर से लेकर विधायकों ने भी दूरी बना ली। जाहिर है सीएम नीतीश के बायकॉट के लिए ऊपर से आदेश मिला होगा। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
शेहला रशीद का राजनीति से हुआ मोहभंग, सियासत को कहा अलविदाhttps://www.newstimes.co.in/news/82319/भारत/जम्मू-कश्मीर/Shehla-Rashid-disillusioned-with-politics-said-goodbye-to-politics902744Wed, 09 Oct 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/09-10-2019152510ShehlaRashid2.JPG' alt='Images/09-10-2019152510ShehlaRashid2.JPG' />कश्मीर को लेकर बयानबाजी से सुर्खियों बटोरने वाली जेएनयू (JNU) की पूर्व छात्रा व नेता शेहला रशीद ने राजनीति छोड़ने का ऐलान किया है। उनका यह फैसला उन्होंने कश्मीर में होने वाले बीडीसी (BDC) चुनाव से ठीक पहले लिया है। 

शेहला रशीद का राजनीति से हुआ मोहभंग, सियासत को कहा अलविदा

Srinagar. कश्मीर को लेकर बयानबाजी से सुर्खियों बटोरने वाली जेएनयू (JNU) की पूर्व छात्रा व नेता शेहला रशीद ने राजनीति छोड़ने का ऐलान किया है। उनका यह फैसला उन्होंने कश्मीर में होने वाले बीडीसी (BDC) चुनाव से ठीक पहले लिया है। 

Images/09-10-2019152449ShehlaRashid1.jpg

दिल्ली की जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) की पूर्व छात्रा और नेता शेहला रशीद ने कश्मीरियों के साथ हो रहे बर्ताव से आहत होकर राजनीति को अलविदा कह दिया है। बता दें कि उन्हें राजनीति में आए जुमा जुमा चार दिन ही हुए थे। 
महत सात माह के सफरनामें के बाद ही राजनीति की दुनिया को अलविदा कहने वाले शेहला ने कश्मीर मे होने वाले बीडीसी चुनाव को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार वहां चुनाव करा कर यह दर्शाना चाहती है कि कश्मीर में लोकतंत्र है लेकिन वहां जो कुछ भी चल रहा है उसे लोकतंत्र की हत्या कहा जाएगा।

Images/09-10-2019152510ShehlaRashid2.JPG

गौरतलब हो कि बीते मार्च माह में ही वह शाह फैसल की पार्टी जम्मू कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट ज्वाइन कर सक्रिय राजनीति में आयी थीं। 
घाटी से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद मानवाधिकार उल्लंघन को लेकर शेहला के बयान पर उनके खिलाफ देशद्रोह का मामला जर्द किया था। 
शेहला के खिलाफ कश्मीर घाटी में कथित रूप से सैन्य कार्रवाई की गलत सूचना ट्वीट करने के लिए भारतीय दंड संहिता की धारा 124-ए (देशद्रोह), 153-ए (दुश्मनी को बढ़ावा देना), 504 (जानबूझकर शांति भंग करने के इरादे से अपमान करना) और 505 (उपद्रव करवाने के लिए बयान देने) के तहत मामला दर्ज कराया गया था। 
उन्होंने इस मामले को तुच्छ राजनीति से प्रेरित बताते हुए कहा कि यह मेरी आवाज बंद कराने का प्रयास है। 
ज्ञात हो कि जम्मू कश्मीर में बीडीसी के चुनाव आगामी 24 अक्टूबर को होने है। इसी दिन दोपहर तक चुनाव होने के बाद मतगणना कर परिणामों की घोषणा कर दी जाएगी। 

यह भी पढ़ें...मुंबई: लोकल ट्रेन में लगी आग से मचा हड़कंप, टला बड़ा हादसा

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
शिवसैनिक होगा महाराष्ट्र का अगला मुख्यमंत्री!https://www.newstimes.co.in/news/82308/भारत/महाराष्ट्र/मुंबई/Sanjay-Raut-said-that-Shiv-Sainik-will-be-the-next-Chief-Minister-of-Maharashtra902733Wed, 09 Oct 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/09-10-2019124036SanjayRautsa1.jpg' alt='Images/09-10-2019124036SanjayRautsa1.jpg' />महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly Elections) के लिए भाजपा और शिवसेना के बीच सीटों के बंटवारे का काफी विवाद जद्दोजहत के बाद आखिरकार सुलझ गया। लेकिन अब सीएम चेहरे को लेकर शिवसेना की ओर से आए एक बयान ने सियासी पारे को चढ़ा दिया है। दरअसल, शिवसेना (Shiv Sena) के वरिष्ठ नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा कि भविष्य में महाराष्ट्र में शिवसेना का मुख्यमंत्री होगा। उनके इस बयान के कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। 

शिवसैनिक होगा महाराष्ट्र का अगला मुख्यमंत्री!

Mumbai. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly Elections) के लिए भाजपा और शिवसेना के बीच सीटों के बंटवारे का काफी विवाद जद्दोजहत के बाद आखिरकार सुलझ गया। लेकिन अब सीएम चेहरे को लेकर शिवसेना की ओर से आए एक बयान ने सियासी पारे को चढ़ा दिया है। दरअसल, शिवसेना (Shiv Sena) के वरिष्ठ नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा कि भविष्य में महाराष्ट्र में शिवसेना का सीएम होगा। उनके इस बयान के कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। 

Images/09-10-2019124036SanjayRautsa1.jpg

मुंबई में शिवसेना की दशहरा रैली (Dusshera rally) को संबोधित करते हुए संजय राउत ने मंगलवार को कहा कि अगली दशहरा रैली में पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे के बगल में शिवसेना का सीएम बैठा होगा। उन्होंने दावा किया कि इस बार के विधानसभा चुनाव में शिवसेना 100 से ज्यादा सीटें जीत रही है। उन्होंने यहां तक कह दिया कि आज शिवसेना कुछ शांत है क्योंकि वह गठबंधन में हैं और ऐसे में संभल कर बोलना पड़ता है। 

भाजपा पर निशाना साधते हुए संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा कि नोटबंदी के खिलाफ किसी की बोलने की हिम्मत नहीं हुई, लेकिन उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने बोला। ठाकरे ने यह भी कहा था कि गलत नीतियों के कारण अर्थव्यवस्था की गति धीमी हो गई थी। 

यह भी पढ़ें:-...राहुल के इस्तीफे पर खुर्शीद का छ्लका दर्द, कहा- अब कांग्रेस के जीतने की संभावना नहीं

जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) के मुद्दे पर राउत ने कहा कि अनुच्छेद 370 (Article) पर वह सरकार के साथ हैं। भाजपा (BJP) कहती है कि जल्द पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) को भी हासिल किया जाएगा। इसपर भी शिवसेना सरकार के साथ हैं। पाकिस्तान को एक आखिरी सबक सिखाओ और उसकी कमर तोड़ दो।

बता दें कि इससे पहले भी संजय राउत महाराष्ट्र में शिवसैनिक को सीएम बनाने की बात कह चुके हैं। एक रैली के दौरान संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा था कि चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) तकनीकी खराबी के कारण भले ही चांद पर लैंड ना कर पाया हो, लेकिन हमारा सूर्ययान मंत्रालय के छठवें माले में जरूर लैंड करेगा। उनका इशारा आदित्य ठाकरे (Aditya Thackeray) को महाराष्ट्र का सीएम बनाने ओर था। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
राहुल के इस्तीफे पर खुर्शीद का छ्लका दर्द, कहा- अब कांग्रेस के जीतने की संभावना नहींhttps://www.newstimes.co.in/news/82306/भारत/दिल्ली/Salman-Khurshid-said-that-Congress-is-unlikely-to-win-the-election902731Wed, 09 Oct 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/09-10-2019112120SalmanKhurshi3.jpg' alt='Images/09-10-2019112120SalmanKhurshi3.jpg' />चुनावों में मिल लगातार मिल रही हार को लेकर कांग्रेस (Congress) के नेता अपनी ही पार्टी की आलोचना करने लगे हैं। शशि थरूर (Shashi Tharoor) के बाद अब पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद (Salman Khurshid) ने अपनी पार्टी की आलोचना करते हुए बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में कांग्रेस की जो स्थिति है, उसमें महाराष्ट्र (Maharashtra) और हरियाणा (Haryana) के विधानसभा चुनावों (Assembly elections) में जीतने की संभावना नहीं है। सलमान खुर्शीद ने यह बातें एक न्यू एजेंसी को दिये इंटरव्यू में कहीं हैं। 

राहुल के इस्तीफे पर खुर्शीद का छ्लका दर्द, कहा- अब कांग्रेस के जीतने की संभावना नहीं

New Delhi. चुनावों में लगातार मिल रही हार को लेकर कांग्रेस (Congress) के नेता अपनी ही पार्टी की आलोचना करने लगे हैं। शशि थरूर (Shashi Tharoor) के बाद अब पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद (Salman Khurshid) ने अपनी पार्टी की आलोचना करते हुए बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में कांग्रेस की जो स्थिति है, उसमें महाराष्ट्र (Maharashtra) और हरियाणा (Haryana) के विधानसभा चुनावों (Assembly elections) में जीतने की संभावना नहीं है। सलमान खुर्शीद ने यह बातें एक न्यू एजेंसी को दिये इंटरव्यू में कहीं हैं। 

Images/09-10-2019111917SalmanKhurshi1.png

संघर्ष के दौर से गुजर रही है कांग्रेस 

इंटरव्यू के दौरान सलमान खुर्शीद ने विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की जीत को लेकर आशंका वक्त की। उन्होंने कहा कि कांग्रेस संघर्ष के ऐसे दौर से गुजर रही है, जिसमें हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव जीतने की संभावना ही नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस हालत ऐसे हो गए हैं कि आगामी विधानसभा चुनाव में जीत ही नहीं बल्कि अपना भविष्य तक नहीं तय कर सकती है।

Images/09-10-2019111955SalmanKhurshi2.jpg

राहुल के इस्तीफे से कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ीं

पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने पार्टी अध्यक्ष की अस्थायी व्यवस्था को लेकर असहमति जताई। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ((Rahul Gandhi) के अध्यक्ष पद छोड़ने के बाद सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को कांग्रेस का अंतरिम प्रमुख बनाया गया है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनावों (Loksabha Elections) में कांग्रेस की हार के बाद राहुल गांधी ने जल्दबाजी में पार्टी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा (Resignation) दिया। राहुल पर अब भी पार्टी की निष्ठा है। उनके जाने के बाद यह एक तरह का खालीपन है।

Images/09-10-2019112120SalmanKhurshi3.jpg

खुर्शीद ने आगे कहा कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद राहुल गांधी के अध्यक्ष पर से इस्तीफा देने से मुश्किलें बढ़ीं हैं। उनके इस फैसले की वजह से कांग्रेस हार को लेकर जरूरी आत्मनिरीक्षण भी नहीं कर पायी। 

यह भी पढ़ें:-...कांग्रेस सरकार में मंत्री रहे इस वरिष्ठ नेता ने पार्टी से दिया इस्तीफा, उपेक्षा का लगाया आरोप

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
मुसलमानों के साथ क्रूर व्यवहार पर अमेरिका ने की कार्रवाई, तिलमिलाया चीनhttps://www.newstimes.co.in/news/82302/अन्तर्राष्ट्रीय/अमेरिका/America-takes-action-on-cruel-treatment-on-Muslims-China-stung 902727Wed, 09 Oct 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/09-10-2019102535Americatakes2.jpg' alt='Images/09-10-2019102535Americatakes2.jpg' />अमेरिका में चीनी अधिकारियों के वीजा पर प्रतिबंध लगाए जाने से दोनों देशों के बीच एक बार फिर से टकराव की स्थिति बन गयी है। चीनी दूतावास ने तो ट्रंप प्रशासन को अपनी गलती सुधारने की नसीहत तक दे दी है। चीन में कहा अमेरिका हमारे देश के आंतरिक मामलों में दखल नहीं दे सकता है। बता दें कि चीन में उइगर और अन्य मुसलमानों पर हो रही दमनात्मक कार्रवाई पर अमेरिका ने यह कदम उठाया है। 

मुसलमानों के साथ क्रूर व्यवहार पर अमेरिका ने की कार्रवाई, तिलमिलाया चीन

- विदेश मंत्री पोम्पियों ने ट्वीट कर दी जानकारी
- चीनी अधिकारियों के वीजा पर लगाई रोक
- चीन ने बताया अंतर्राष्ट्रीय संबंधों का उल्लंघन

 

Washington. अमेरिका में चीनी अधिकारियों के वीजा पर प्रतिबंध लगाए जाने से दोनों देशों के बीच एक बार फिर से टकराव की स्थिति बन गयी है। चीनी दूतावास ने तो ट्रंप प्रशासन को अपनी गलती सुधारने की नसीहत तक दे दी है। चीन में कहा अमेरिका हमारे देश के आंतरिक मामलों में दखल नहीं दे सकता है। बता दें कि चीन में उइगर और अन्य मुसलमानों पर हो रही दमनात्मक कार्रवाई पर अमेरिका ने यह कदम उठाया है। 

Images/09-10-2019102325Americatakes1.jpg

गौरतलब हो कि चीन के शिनजियांग प्रांत में 10 लाख से अधिक मुसलमानों के साथ क्रूर और अमानवीय व्यवहार करने और उन्हें बलपूर्वक हिरासत में रखने का आरोप लगाते हुए अमेरिका ने चीन सरकार और कम्युनिस्ट पार्टी के अधिकारियों के वीजा पर प्रतिबंध लगाया है। 
अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने मंगलवार को इस संबंध में ट्वीट किया था। इस ट्वीट में पोम्पियो ने कहा कि शिनजियांग प्रांत में उइगरों, कजाकों और अन्य मुस्लिम अल्पसंख्यक समूहो को कैद कर उन पर अत्याचार किए जा रहे है। 
इसके जिम्मेदार चीनी सरकार और कम्युनिस्ट पार्टी के अधिकारियों के वीजा पर प्रतिबंध लगाए जाने की मैं घोषणा कर रहा हूं।

Images/09-10-2019102535Americatakes2.jpg

पोम्पियो के ट्वीट के बाद अमेरिका में चीनी दूतावास ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। दूतावास ने ट्वीट के जरिए अमेरिका के इस फैसले को अंतर्राष्ट्रीय संबंधों का उल्लंघन बताया है। 
कहा कि अमेरिका ने चीन के हितों की अनदेखी करते हुए उसके आंतरिक मामलों में दखल देने का काम किया है जिसकी हम कड़े शब्दों में आलोचना करते हैं। 
दूतावास ने एक अन्य ट्वीट में बताया कि अमेरिका के दावे झूठे और बेबुनियाद है। शिनजियांग प्रांत में कुछ भी ऐसा नहीं हो रहा है जैसे आरोप अमेरिका की ओर से लगाए जा रहे हैं। 
  बढ़ा दोनों देशों के बीच तनाव
अमेरिकी विदेश मंत्री द्वारा चीनी अधिकारियों के वीजा पर प्रतिबंध लगाए जाने की घोषणा ने दोनों देशों के बीच नया विवाद खड़ कर दिया है। मालूम हो कि पहले से ही व्यापारिक हितों को लेकर अमेरिका और चीन के बीच लम्बे समय गतिरोध बना हुआ है। ऐसे में इस घोषणा ने आग में घी डालने का काम किया है। बता दें कि दो दिन बाद ही वाॉशिंगटन में उच्चस्तरीय वार्ता होने वाली थी। इस माहौल ये वार्ता अपने उद्देश्यों की पूर्ति कैसे कर पाएगी। इस स्थित में इस वार्ता की सफलता को लेकर अभी से संशय माना जा रहा है। 

यह भी पढ़ें...राजस्थान: यहां दशहरा के जुलूस पर हुआ पथराव, लगा कर्फ्यू, इंटरनेट सेवाएं बंद

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
कांग्रेस सरकार में मंत्री रहे इस वरिष्ठ नेता ने पार्टी से दिया इस्तीफा, उपेक्षा का लगाया आरोप https://www.newstimes.co.in/news/82286/भारत/उत्तराखंड-/--गिरवान-----पहाड़ी----BABERU---BADASSA--अचनेरा--अजनेर---अतर्रा--अमीनाबाद--अलीगंज--आता-----आलमबाग--आशियाना--इंटौजा--इंडस्ट्रीयल-एरिया--इंदिरा-नगर--इरादतनगर--ईटन--उल्दन---ऋ-जलन--एट----एत्मादपुर--एत्मादुल्ला--एम-एम-गेट--एरछ----ऐशबाग--ककरवाई---कंझारी----कटरा----कुठौन्द----कदौरा----कैन्ट--कबरई----कमासिन---कुरारा----कुलपहाड़---केलिए--कृष्णा-नगर--कैसरबाग--काकोरी--कागारौल--कार्वी---काल्पी----कालिंजर----कीडगंज--कोंच----कोटरा----कोतवाली--कोतवाली--कोतवाली---कोतवाली---कोतवाली---कोतवाली---कोतवाली--कोतवाली--कोतवाली-देहात--खन्डोली--खनना----खरेला----ख़ैरागढ़--खैराथोर--खीरो--गुडम्बा--गदागंज--गुरूबख्शगंज--गुरसराई---गरौठा----गाजीपुर--गिरार----गोमती-नगर--गोसाईंगंज--गोहन----गौतमपल्ली--चरखारी--चरखी----चिकासी---चिनहट--चिरगांव----चिल्ला----चौक--छाता-बाजार--जखौरा----जगतपुर--जगदीशपुरा--जगनेर--जैतपुर--ज़रिए---जलन----जलालपुर----जसपुरा-----जाखलौन----जानकीपुरम--जायस--जालौन----टहरौली----टोडी-फतेहपुर--ठाकुरगंज--डकोर----डलमऊ--डीह--डौकी--ताजगंज--तालकोटरा--तालबेहट----तिंदवारी---नगराम--नदीगांव----न्यू-आगरा--नरैनी---नरहट----नवाबाद----नसीराबाद--नाई-की-मंडी--नाका-हिन्डोला--नादौन----निगोहां--निबोहरा--नियामतपुर----पुँछ----पनवारी---पुरकलां-----प्रेमनगर----पैलानी--पारा--पाली---पिनहट--पिनहट--पीजीआई--फतेहगंज---फतेहपुर-सीकरी--फतेहाबाद--फुर्सतगंज--बेकन-गंज---बख्शी-का-तालाब--बड़गाओं----बड़सर----बबीना---बरगढ़----बेरहन--बेवर---बसई-अरेला--बसई-जगनेर--बसोनी--बसोनी--बहिलपुरवा--बाजारखाला--बानपुर----बार---बारायसागर----बालाबेहट----बाह--भोरंज---मऊ---मऊरानीपुर----मझगवां-----मटौंध-----मठ----मड़ावरा----मड़ियांव--मदनपुर---मन्टोला--मनसुखपुरा--मनसुखपुरा--मरका----मलपुरा--मलिहाबाद--मुंशीगंज--मुस्करा--महरौनी----महानगर--महाराजगंज--महोबकंठ--महोबा----माधोगढ़----मानक-नगर--मानिकपुर--मारकुण्डी----माल--मोहनगंज--मोहनलालगंज--मौदहा---रक्षा---रकाबगंज--रकाबगंज--रेढर----रैपुरा--राजपुर--राठ---रामपुरा----रिठोरा--लहचौड़ा----लालगंज--लालपुरा---लोहा-मंड़ी--वज़ीरगंज--विकास-नगर--विभूति-खण्ड--शम्साबाद--श्रीनगर------शाहगंज--शाहजहांपुर----शिवगढ़--शिवरतनगंज--सआदतगंज--सकरर----सुजानपुर----सदर----सदर--सदर-बाजार--सदरबाजार----सैन्या--समथर----सुमेरपुर---सरोजनी-नगर--सरौनी--सलवन--सिकन्दरा--सिपरी-बाजार--सिरसकालर----सिसोलर---सौजना----हजरतगंज--हरचंदपुर--हरिपर्वत--हसनगंज--हुसैनगंज-congress-neta-ne-diya-isteefa902711Tue, 08 Oct 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/08-10-2019153622congressneta1.JPG' alt='Images/08-10-2019153622congressneta1.JPG' />महाराष्ट्र और हरियाणा कांग्रेस (Congress) में मची अंदरूनी कलह के बाद अब उत्तराखंड (Uttrakhand) से भी पार्टी के अच्छी खबर नहीं है।

कांग्रेस सरकार में मंत्री रहे इस वरिष्ठ नेता ने पार्टी से दिया इस्तीफा, उपेक्षा का लगाया आरोप 

New Delhi. महाराष्ट्र और हरियाणा कांग्रेस (Congress) में मची अंदरूनी कलह के बाद अब उत्तराखंड (Uttrakhand) से भी पार्टी के अच्छी खबर नहीं है। दरअसल, कांग्रेस सरकार में राज्यमंत्री रहे हरीश (Harish Upadhyay) उपाध्याय और उनकी पत्नी जानकी उपाध्याय (Janki Upadhyay) ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं पर उपेक्षा का आरोप लगाया है।

Images/08-10-2019153622congressneta1.JPG

कांग्रेस सरकार में मंत्री रहे हरीश उपाध्याय (Harish Upadhyay) पार्टी के वरिष्ठ नेताओं पर सहयोग नहीं करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि उनकी पत्नी जानकी उपाध्याय  (Janki Upadhyay) दिगरा मुवानी से जिला पंचायत की उम्मीदवार हैं, लेकिन पार्टी के वरिष्ठ नेता उनका समर्थन करने की बजाय दूसरे प्रत्याशी का सहयोग कर रहे हैं, जिसे लेकर उन्होंनं कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को इस्तीफा भेज दिया है।

पार्टी में हो रही उपेक्षा

हरीश उपाध्याय (Harish Upadhyay) ने कहा कि कांग्रेस पार्टी (Congress) के लिए वह लम्बे समय से समर्पण भाव से काम कर रहे हैं, लेकिन वरिष्ठ नेताओं का उन्हें सहयोग नहीं मिल रहा है। हमारी उपेक्षा की जा रही है।

यह भी पढ़ें - 

कश्मीर: क्या अनुच्छेद 370 पर नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी नेताओं का नजरिया बदल गया ?

सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी, एक और आतंकी को मुठभेड़ में मार गिराया

मोदी सरकार का बड़ा फैसला : अब विदेश दौरे पर भी बरकरार रहेगी SPG

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
अखिलेश ने चला ऐसा दांव कि अब बेबस हो जाएंगे चाचा शिवपाल https://www.newstimes.co.in/news/82287/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Special-Story-on-Akhilesh-Yadav-and-Shivpal-Yadav902712Tue, 08 Oct 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/08-10-2019153719SpecialStory1.jpg' alt='Images/08-10-2019153719SpecialStory1.jpg' />पिछले दिनों सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और शिवपाल यादव की ओर से दिये बयानों के बाद अटकलें लगाईं जा रही थीं कि मुलायम परिवार फिर एक होने जा रहा है। लेकिन शिवपाल यादव ने सपा में वापसी को पूरी तरह खारिज कर दिया और सपा को उनकी पार्टी से गठबंधन करने का ऑफर दिया। इसके बावजूद अखिलेश ने हार नहीं मानी और चुपचाप चाचा को बेबस करने का दांव खेल दिया। 

अखिलेश ने चला ऐसा दांव कि अब बेबस हो जाएंगे चाचा शिवपाल

Lucknow. पिछले दिनों सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) और शिवपाल यादव (Shivpal Singh Yadav) की ओर से दिये बयानों के बाद अटकलें लगाईं जा रही थीं कि मुलायम परिवार फिर एक होने जा रहा है। लेकिन शिवपाल यादव (Shivpal Singh Yadav) ने सपा (SP) में वापसी को पूरी तरह खारिज कर दिया और सपा (Samajwadi Party) को उनकी पार्टी से गठबंधन करने का ऑफर दिया। इसके बावजूद अखिलेश (Akhilesh yadav) ने हार नहीं मानी और चुपचाप चाचा को बेबस करने का दांव खेलते रहे। 

Images/08-10-2019153719SpecialStory1.jpg

दरअसल, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) इन दिनों यूपी विधानसभा चुनाव 2022 के लिए अपने संगठन को मजबूत करने में जुटे हैं। पिछले दिनों उन्होंने भाजपा (BJP), बसपा (BSP) और कांग्रेस (Congress) को एक साथ झटका दिया और उनके कई नेताओं को अपनी पार्टी में शामिल करा लिया। लेकिन कहीं-न-कहीं चाचा के बिना अखिलेश पिछले कुछ चुनावों में बेहद कमजोर नजर आए। 

अखिलेश यादव काे हार का सामना करना पड़ा

पिछले चुनावों पर नजर डालें तो सपा (Samajwadi Party) ने अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के नेतृत्व में दो चुनाव लड़ें और दोनों में ही हार मिली। जिसमें पहला चुनाव यूपी विधानसभा 2017 रहा। इस चुनाव में अखिलेश ने कांग्रेस (Congress) से गठबंधन किया और हार का मुंह देखना पड़ा। इसके बाद लोकसभा चुनाव 2019 में पुरानी दुश्मनी भुलाकर सपा (SP) और बसपा (BSP) एक हुए फिर हार भी का सामना करना पड़ा। इन दोनों ही चुनावों में हार की दो बड़ी वजहें निकलकर सामने आयीं। पहली वजह सपा का दूसरे दलों के साथ गठबंधन और दूसरी वजह चाचा शिवपाल के साथ अखिलेश का विवाद। 

सपा के परम्‍परागत वोटों में बीजेपी ने मारी सेंध

सपा (Samajwadi Party) के परम्परागत वोटरों में यादव के साथ अन्य पिछड़े जाति व मुस्लिम आते थे। जिसमें भाजपा (BJP) ने अन्य पिछड़ी जाति के वोट बैंक में सेंधमारी कर ली है। वहीं, सपा से शिवपाल के अलग होने के बाद यादव वोटरों में भी बंटवारा होने लगा था। अब अखिलेश की यही कोशिश है कि वह किसी भी तरह से शिवपाल (Shivpal Singh Yadav) की सपा में वापसी कराएं। जिससे सपा (SP) का परम्परागत वोटर फिर एक बार उसके साथ खड़ा हो। यही वजह है कि वह शिवपाल को लेकर नरम रुख अपनाए हुए हैं। 

शिवपाल ने अखिलेश के आफर को ठुकराया

चर्चा है कि सपा ने पहले शिवपाल यादव (Shivpal Singh Yadav) की विधानसभा से सदस्यता निरस्त करने के लिए प्रार्थना पत्र दिया था, जिसे मुलायम सिंह (Mulayam Singh Yadav) व अखिलेश (Akhilesh Yadav) के हस्तक्षेप के बाद ठंडे बस्ते में डाल दिया गया। वहीं, अखिलेश (Akhilesh) ने खुले तौर पर शिवपाल (Shivpal Singh Yadav) को पार्टी में लौटने का ऑफर दिया, जिसे शिवपाल ने यह कहकर खारिज कर दिया कि वह सपा में पार्टी का विलय नहीं गठबंधन कर सकते हैं। लेकिन अखिलेश के इस ऑफर ने शिवपाल को बेबस करने का काम किया है। 

अखिलेश के लिए वोटरों का बदल सकता है नजरिया

जानकारों की मानें तो शिवपाल यादव अब अलग होकर भी चुनावी मैदान में अखिलेश को कोई नुकसान नहीं पहुंचा पाएंगे, क्‍योंकि जो वोटर यूपी के सबसे बड़े राजनीतिक परिवार के एक होने का इंताजर कर रहे हैं और यह मानते थे कि शिवपाल यादव के साथ अन्याय हुआ, अब उनका नजरिया अखिलेश यादव के लिए बदलता नजर आ रहा है। इसकी मुख्य वजह अखिलेश की ओर से पारिवारिक विवाद को खत्म करने के लिए उठाया गया कदम है।

यह भी पढ़ें:-...शिवपाल यादव फिर बोले, अखिलेश यादव ने उन्हें कभी बुलाया ही नहीं, मैं तो...

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
#NewstimesTrending : भागवत ने की मोदी सरकार की तारीफ, कहा मॉब लिंचिंग पेश कर चलाया जा रहा षडयंत्र https://www.newstimes.co.in/news/82282/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/RSS-Chief-Mohan-bhagwat-ne-ki-pm-modi-ki-tareef-mob-lynching-par-hue-hamlavar-902707Tue, 08 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/08-10-2019142330RSSChiefMoha4.png' alt='Images/08-10-2019142330RSSChiefMoha4.png' />मोहन भागवत ने कहा कि हमारे मार्ग में कई रोड़े, बाधाएं और रोकने वाली शक्तियों के कारनामें अभी समाप्त नहीं हुए हैं। अभी भी हमारे सामने कई ऐसे संकट है जिनका उपाय हमें करना है। कई प्रश्न के उत्तर हमें देने और कुछ समस्याओं के निदान कर उन्हें सुलझाना बाकी है। हालांकि सौभाग्य है कि हमारे देश की सुरक्षा समार्थ्य की स्थिति, सेना की तैयारी, अंतर्राष्ट्रिय राजनीति की कुशलता की स्थिति ऐसी बनी हुई है कि हम लोग सजग और आश्वस्त हैं। हमारी स्थल सीमा और जल सीमा की सुरक्षा, सतर्कता पहले से बेहतर हुई है। केवल हमें सीमा पर रक्षक व चौकियों की संख्या और जल सीमा पर निगरानी अधिक बढ़ाई होगी। देश के अंदर भी उग्रवादी हिंसा में कमी आई है और उग्रवादियों के आत्मसमर्पण की संख्या बढ़ी है।  मॉब लिंचिंग की घटनाओं को प्रमुखता से उठाते हुए मोहन भागवत ने कहा कि देश में कुछ ऐसी घटनाएं भी हो रही हैं जो हर तरफ देखने को मिल रही हैं। कई बार तो ऐसा होता है कि घटना होती भी नहीं है और उसे बनाने की कोशिश की जाती है। इसके बाद संघ का नाम उन घटनाओं से जोड़ दिया जाता है। जबकि स्वयंसेवकों का तो इन घटनाओं से कोई संबंध भी नहीं होता। वास्तविकता में लिचिंग जैसा शब्द भारत का है ही नहीं क्योकि भारत में ऐसा कभी होता ही नहीं था। 

#NewstimesTrending : भागवत ने की मोदी सरकार की तारीफ, कहा मॉब लिंचिंग पेश कर चलाया जा रहा षडयंत्र 

Lucknow. विजयदशमी के मौके पर नागपुर में सालाना पथ संचलन कार्यक्रम के दौरान राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ(आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने मौजूदा केन्द्र की मोदी सरकार की जमकर तारीफ की। इसी के साथ उन्होंने मॉब लिंचिंग पर निशाना साधते हुए कड़े कानून बनाए जाने की मांग भी की। 

Images/08-10-2019142216RSSChiefMoha1.pngImages/08-10-2019142235RSSChiefMoha2.pngImages/08-10-2019142253RSSChiefMoha3.pngImages/08-10-2019142330RSSChiefMoha4.png
© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
Ayodhya Case: मायावती-अखिलेश की एक राय, कोर्ट को लेकर कही ये बात, जीत लिया जनता का दिल https://www.newstimes.co.in/news/82269/भारत/Ayodhya-case:-an-opinion-of-Mayawati-Akhilesh-said-this-about-the-court-won-the-hearts-of-the-public902694Tue, 08 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/08-10-2019104653MayawatiandA2.jpg' alt='Images/08-10-2019104653MayawatiandA2.jpg' />भारतीय जनता पार्टी राम मंदिर और कश्मीर जैसे मुद्दों को प्रमुखता से उठाती रही है। राजनीति में इसका फायदा भी भाजपा को भरपूर मिला। धारा 370 के वादे को तो भाजपा ने कर दिखाया। लेकिन पूर्व की सरकार बनने से पहले ही भाजपा ने राम मंदिर मुद्दे बनवाने की बयानबाजियां की थी। हालांकि, यह मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है।

Ayodhya Case: मायावती-अखिलेश की एक राय, कोर्ट को लेकर कही ये बात, जीत लिया जनता का दिल

Lucknow. भारतीय जनता पार्टी राम मंदिर और कश्मीर जैसे मुद्दों को प्रमुखता से उठाती रही है। राजनीति में इसका फायदा भी भाजपा को भरपूर मिला। धारा 370 के वादे को तो भाजपा ने कर दिखाया। लेकिन पूर्व की सरकार बनने से पहले ही भाजपा ने राम मंदिर मुद्दे बनवाने की बयानबाजियां की थी। हालांकि, यह मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है।

Images/08-10-2019104634MayawatiandA1.jpeg

कोर्ट में निर्णय को लेकर तरह- तरह की बयानबाजियां और सियासी गहमागमही तेज हो चली है। वहीं, राम मंदिर को लेकर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती की राय एक ही है। दोनों ही दिग्गज नेताओं ने कोर्ट के आने वाले फैसले के पहले अपनी राय रखते हुए जनता का दिल जीत लेने वाला बयान दिया है।

यह भी पढ़ें... कालेधन को लेकर भारत को बड़ी सफलता, इन लोगों ने स्विस बैंक में जमा की थी रकम, मिली पहली सूची

  कोर्ट के फैसले पर दोनों की राय

राम मंदिर को लेकर कोर्ट के फैसले का सभी को इंतजार है। वहीं, सत्ता पक्ष की तरफ से खुशियां मनाने का संकेत दिया जा रहा है। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंदिर निर्माण को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को मानने की बात कही है। वहीं, दूसरी ओर बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी ट्वीट करते हुए कहा कि 'माननीय सुप्रीम कोर्ट की विशेष पीठ का बाबरी मस्जिद व रामजन्म भूमि प्रकरण पर दिन-प्रतिदिन की सुनवाई के बाद आगे जो भी फैसला आए, उसका सभी को सम्मान करना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि देश में हर जगह सांप्रदायिक सौहार्द का वातावरण बनाए रखना चाहिए। यही व्यापक जन हित व देश हित में सर्वोत्तम होगा।'

Images/08-10-2019104653MayawatiandA2.jpg

  जीता जनता का दिल

सपा और बसपा के शीर्ष नेताओं का बयान जनता का दिल जीत रहा है। वहीं, राष्ट्रीय लोकदल पार्टी के प्रवक्ता अनिल दुबे ने बयान जारी करते हुए सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करने की बात कही है। उन्होंने कहा कि राम मंदिर मामले में अब और अधिक सियासत नहीं होनी चाहिए। भगवान श्रीराम पर हर किसी की पूर्ण आस्था है। कोर्ट का निर्णय ही सर्वमान्य है। लेकिन कोर्ट का फैसला आने से पहले सीएम योगी आदित्यनाथ का बयानबाजी करना आचार संहिता का उल्लंघन भी है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
मोदी सरकार के इस फरमान के बाद विदेश दौरे पर भी बंधन में रहेंगे राहुल, सोनिया और प्रियंकाhttps://www.newstimes.co.in/news/82270/भारत/उत्तर-प्रदेश-/--गिरवान-----पहाड़ी----BABERU---BADASSA--अचनेरा--अजनेर---अतर्रा--अमीनाबाद--अलीगंज--आता-----आलमबाग--आशियाना--इंटौजा--इंडस्ट्रीयल-एरिया--इंदिरा-नगर--इरादतनगर--ईटन--उल्दन---ऋ-जलन--एट----एत्मादपुर--एत्मादुल्ला--एम-एम-गेट--एरछ----ऐशबाग--ककरवाई---कंझारी----कटरा----कुठौन्द----कदौरा----कैन्ट--कबरई----कमासिन---कुरारा----कुलपहाड़---केलिए--कृष्णा-नगर--कैसरबाग--काकोरी--कागारौल--कार्वी---काल्पी----कालिंजर----कीडगंज--कोंच----कोटरा----कोतवाली--कोतवाली--कोतवाली---कोतवाली---कोतवाली---कोतवाली---कोतवाली--कोतवाली--कोतवाली-देहात--खन्डोली--खनना----खरेला----ख़ैरागढ़--खैराथोर--खीरो--गुडम्बा--गदागंज--गुरूबख्शगंज--गुरसराई---गरौठा----गाजीपुर--गिरार----गोमती-नगर--गोसाईंगंज--गोहन----गौतमपल्ली--चरखारी--चरखी----चिकासी---चिनहट--चिरगांव----चिल्ला----चौक--छाता-बाजार--जखौरा----जगतपुर--जगदीशपुरा--जगनेर--जैतपुर--ज़रिए---जलन----जलालपुर----जसपुरा-----जाखलौन----जानकीपुरम--जायस--जालौन----टहरौली----टोडी-फतेहपुर--ठाकुरगंज--डकोर----डलमऊ--डीह--डौकी--ताजगंज--तालकोटरा--तालबेहट----तिंदवारी---नगराम--नदीगांव----न्यू-आगरा--नरैनी---नरहट----नवाबाद----नसीराबाद--नाई-की-मंडी--नाका-हिन्डोला--नादौन----निगोहां--निबोहरा--नियामतपुर----पुँछ----पनवारी---पुरकलां-----प्रेमनगर----पैलानी--पारा--पाली---पिनहट--पिनहट--पीजीआई--फतेहगंज---फतेहपुर-सीकरी--फतेहाबाद--फुर्सतगंज--बेकन-गंज---बख्शी-का-तालाब--बड़गाओं----बड़सर----बबीना---बरगढ़----बेरहन--बेवर---बसई-अरेला--बसई-जगनेर--बसोनी--बसोनी--बहिलपुरवा--बाजारखाला--बानपुर----बार---बारायसागर----बालाबेहट----बाह--भोरंज---मऊ---मऊरानीपुर----मझगवां-----मटौंध-----मठ----मड़ावरा----मड़ियांव--मदनपुर---मन्टोला--मनसुखपुरा--मनसुखपुरा--मरका----मलपुरा--मलिहाबाद--मुंशीगंज--मुस्करा--महरौनी----महानगर--महाराजगंज--महोबकंठ--महोबा----माधोगढ़----मानक-नगर--मानिकपुर--मारकुण्डी----माल--मोहनगंज--मोहनलालगंज--मौदहा---रक्षा---रकाबगंज--रकाबगंज--रेढर----रैपुरा--राजपुर--राठ---रामपुरा----रिठोरा--लहचौड़ा----लालगंज--लालपुरा---लोहा-मंड़ी--वज़ीरगंज--विकास-नगर--विभूति-खण्ड--शम्साबाद--श्रीनगर------शाहगंज--शाहजहांपुर----शिवगढ़--शिवरतनगंज--सआदतगंज--सकरर----सुजानपुर----सदर----सदर--सदर-बाजार--सदरबाजार----सैन्या--समथर----सुमेरपुर---सरोजनी-नगर--सरौनी--सलवन--सिकन्दरा--सिपरी-बाजार--सिरसकालर----सिसोलर---सौजना----हजरतगंज--हरचंदपुर--हरिपर्वत--हसनगंज--हुसैनगंज-moi-sarkar-ke-farman-ke-baad-spg-sath-jaegi-videsh-902695Tue, 08 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/08-10-2019104115moisarkarke2.jpg' alt='Images/08-10-2019104115moisarkarke2.jpg' />.

मोदी सरकार के इस फरमान के बाद विदेश दौरे पर भी बंधन में रहेंगे राहुल, सोनिया और प्रियंका

Lucknow. एसपीजी सुरक्षा प्राप्त वीआईपी अब विदेश जाने के बाद भी सुरक्षा का त्याग नहीं कर पाएंगे। दरअसल इस संदर्भ में केंद्र सरकार की ओर से नए नियम दिये गये हैं। जिसके बाद एसपीजी सुरक्षा प्राप्त किसी भी व्यक्ति के साथ उसकी सुरक्षा विदेश में भी बरकरार रहेगी। 

Images/08-10-2019104059moisarkarke1.JPG

यह भी पढ़ें... प्रियंका की पैदल यात्रा में प्रदेश के दिग्गज रहे मौजूद, भीड़ देख फूले प्रशासन के हाथ-पांव
केंद्र सरकार के इस कदम के बाद सोनिया, राहुल और प्रियंका को विदेश में भी एसपीजी की जवान घेरे रहेंगे। सरकार के इस कदम को लेकर साफ तौर पर कांग्रेस का आरोप है कि सरकार उनकी जासूसी करवाना चाहती है। बता दें कि अभी तक पीएम मोदी, राहुल गांधी, सोनिया गांधी, प्रियिंका गांधी को यह सुरक्षा मिली हुई है। वहीं उठाए गये इस कदम को लेकर केंद्रीय गृह मंत्रालय का तर्क है कि विशेष सुरक्षा प्राप्त व्यक्ति को अपने विदेशी दौरों पर भी जवानों को साथ ले जाना होगा, ताकि उनकी जान को कोई भी खतरा न हो। 

Images/08-10-2019104115moisarkarke2.jpg
© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
अब दिल्ली नहीं यूपी में होगा प्रियंका का नया ठिकाना, इस शहर में ले रहीं हैं घरhttps://www.newstimes.co.in/news/82255/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Priyanka-Gandhi-is-searching-a-new-house-in-Lucknow902680Mon, 07 Oct 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/07-10-2019162811PriyankaGandh1.jpg' alt='Images/07-10-2019162811PriyankaGandh1.jpg' />यूपी में कांग्रेस की कमान की बागडोर संभाल रही प्रियंका गांधी अब देश की राजधानी से प्रदेश की राजधानी में डेरा जमाने की सोच रही हैं। जिसके लिए प्रियंका गांधी ने अपने लिए लखनऊ (Lucknow) में घर तलाशने शुरू कर दिये हैं। दरअसल, प्रियंका साल 2022 में होने वाले यूपी विधानसभा चुनाव (Assembly Election) में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती और लखनऊ (Lucknow) में रहकर तमाम गतिविधियों में हिस्सा लेना चाहती हैं। 

अब दिल्ली नहीं यूपी में होगा प्रियंका का नया ठिकाना, इस शहर में ले रहीं हैं घर

Lucknow. यूपी में कांग्रेस की बागडोर संभाल रही प्रियंका गांधी अब देश की राजधानी से प्रदेश की राजधानी में डेरा जमाने की सोच रही हैं। जिसके लिए प्रियंका गांधी ने अपने लिए लखनऊ (Lucknow) में घर तलाशने शुरू कर दिये हैं। दरअसल, प्रियंका साल 2022 में होने वाले यूपी विधानसभा चुनाव (Assembly Election) में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती और लखनऊ (Lucknow) में रहकर तमाम गतिविधियों में हिस्सा लेना चाहती हैं। 

Images/07-10-2019162811PriyankaGandh1.jpg

जानकारी के मुताबिक 150वीं गांधी जयंती पर दिल्ली से लखनऊ पहुंची प्रियंका गांधी ने यूपी की राजधानी लखनऊ (Lucknow) स्थित गोमती नगर और पराग नारायण रोड पर दो घर भी देखे हैं। इनमें से एक घर उत्तर प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड के कर्मचारियों के लिए बनाई गई कॉलोनी में कांग्रेस से पूर्व सांसद शीला कौल का है। दिलचस्प बात यह भी है कि इस कॉलोनी में महात्मा गांधी के हाथों से लगाया गया बरगद का वृक्ष भी है। 

बता दें कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस का महासचिव और प्रभारी बनाए जाने के बाद से ही प्रियंका गांधी प्रदेश में काफी सक्रिय हैं। वहीं, आने वाले चुनावों में प्रियंका को रणनीति और जमीनी कार्रवाई के लिए प्रदेश ज्यादा समय बिताना होगा। इससे पहले वह लखनऊ (Lucknow) और रायबरेली (Rae-Bareli) के होटल और गेस्ट हाउस में रुकती रहीं हैं। 

यह भी पढ़ें:-...बांगलादेश की पीएम शेख हसीना से गले मिलीं प्रियंका गांधी, कही ये बड़ी बात

पहली प्राथमिकता है सुरक्षा

प्रियंका गांधी को एसपीजी की सुरक्षा मिली हुई है। जिसके कारण प्रियंका ने जो दोनों ही घर देख रखे हैं, उनको सुरक्षा के लिहाज से जांचा जा रहा है। ऐसे में एसपीजी की ओर से हर तरीके से दोनों घरों को जांच करके सुरक्षा सुनिश्चित करने के बाद ही किसी घर में प्रियंका के रहने को लेकर निर्णय किया जाएगा। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
अलग-थलग होती कांग्रेस को इस प्लान से संभालेंगी प्रियंका, अब रायबरेली नहीं लखनऊ से ही...https://www.newstimes.co.in/news/82248/भारत/उत्तर-प्रदेश-/priyanka-ke-liye-lucknow-me-talasa-ja-raha-ghar-902673Mon, 07 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/07-10-2019104734priyankakeli1.jpg' alt='Images/07-10-2019104734priyankakeli1.jpg' />.

अलग-थलग होती कांग्रेस को इस प्लान से संभालेंगी प्रियंका, अब रायबरेली नहीं लखनऊ से ही...

Lucknow. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी यूपी के कुछ राजनेताओं के पार्टी से अलग लाइन पकड़ने को लेकर खासा नाखुश है। जिसके चलते वह अब सभी को एकजुट करने के लिए लखनऊ में ही आवास तलाश रही हैं। यह आवास इसलिए तलाशा जा रहा है क्योकिं प्रियंका अब 2022 चुनावों के मद्देनजर संगठन को मजबूत करने के लिए ज्यादा समय कार्यकर्ताओं के बीच ही बिताना चाहती हैं।

Images/07-10-2019104734priyankakeli1.jpg

यह भी पढ़ें... प्रियंका की पैदल यात्रा : प्रदेश के दिग्गज रहे मौजूद, भीड़ देख फूले प्रशासन के हाथ-पांव

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
बांगलादेश की पीएम शेख हसीना से गले मिलीं प्रियंका गांधी, कही ये बड़ी बातhttps://www.newstimes.co.in/news/82238/भारत/priyanka-gandhi-ne-sheikh-hasina-se-ki-meeting902661Sun, 06 Oct 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/06-10-2019171150priyankagandh2.JPG' alt='Images/06-10-2019171150priyankagandh2.JPG' />पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बांगलादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना से रविवार को मुलाकात की और दोनों देशों से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की।

बांगलादेश की पीएम शेख हसीना से गले मिलीं प्रियंका गांधी, कही ये बड़ी बात

New Delhi. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Manmohan Singh), कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi), पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka gandhi Vadra) ने बांगलादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना (Sheikh Hasina) से रविवार को मुलाकात की और दोनों देशों से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। बताया जा रहा है कि यह मुलाकात करीब डेढ़ घंटे चली।

Images/06-10-2019171147priyankagandh1.JPG

बांगलादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना (Sheikh Hasina) से मुलाकात के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka gandhi Vadra) फोटो शेयर करते हुए ट्वीट किया। उन्होंने ट्वीट में लिखा, शेख हसीना (Sheikh Hasina) जी से मुलाकात हुई, उनसे दोबारा मिलने की काफी दिनों से इच्छा हो रही थी। उन्होंने लिखा, निजी नुकसान और बुरे वक्त से उनके उबरने की ताकत और बहादुरी और दृढ़ता से अपने विचारों के लिए उनका संघर्ष हमेशा से मेरे लिए एक प्रेरणा है। 

Images/06-10-2019171150priyankagandh2.JPG

चार दिवसीय भारते दौरे पर हैं शेख हसीना

बता दें कि बांगलादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना (Sheikh Hasina) भारत के चार दिवसीय दौरे पर है। शनिवार को उन्होंने पीएम मोदी (PM Modi) से मुलाकात की थी। इस दौरान दोनों देशों के बीच सात समझौतों पर हस्ताक्षर हुए और तीन परियोजनाओं का उद्घाटन किया गया है।

यह भी पढ़ें - 

पूर्व सीएम फारुक अब्दुल्ला से मुलाकात के बाद पार्टी नेता बोले, निकाय चुनावों में नहीं लेंगे हिस्सा

भाजपा, बसपा, कांग्रेस को जोरदार झटका, कई नेता हजारों समर्थकों के साथ सपा में शामिल

Ind vs SA 1st Test: भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 203 रनों से हराया

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
जेडीयू का बड़ा बयान, गिरिराज से तेजस्वी को बताया बेहतरhttps://www.newstimes.co.in/news/82235/भारत/बिहार/पटना/KC-Tyagi-said-that-Giriraj-Singh-is-more-aggressive-than-Tejashwi902658Sun, 06 Oct 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/06-10-2019160130KCTyagisaid1.PNG' alt='Images/06-10-2019160130KCTyagisaid1.PNG' /> बिहार में जेडीयू (JDU) और उसके सहयोगी दल भाजपा (BJP के नेताओं के बीच जुबानी जंग जारी है। जेडीयू ने भाजपा आलाकमान से केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। गिरिराज के हमलों पर जेडीयू नेता केसी त्यागी (KC Tyagi) ने कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी  (Prime Minister Modi )और अमित शाह (Amit Shah) को ऐसे नेताओं से अपनी जुबान पर काबू रखने के लिए कहना चाहिए। उन पर पहले की तरह से तुरंत काबू किया जाये। 

जेडीयू का बड़ा बयान, गिरिराज से तेजस्वी को बताया बेहतर

Patna. बिहार में जेडीयू (JDU) और उसके सहयोगी दल भाजपा (BJP) के नेताओं के बीच जुबानी जंग जारी है। जेडीयू ने भाजपा आलाकमान से केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। गिरिराज के हमलों पर जेडीयू नेता केसी त्यागी (KC Tyagi) ने कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी (Prime Minister Modi ) और अमित शाह (Amit Shah) को ऐसे नेताओं से अपनी जुबान पर काबू रखने के लिए कहना चाहिए। उन पर पहले की तरह से तुरंत काबू किया जाये। 

Images/06-10-2019160130KCTyagisaid1.PNG

दरअसल, बिहार में आयी बाढ़ (Flood) को लेकर विफलता का ठीकरा भाजपा और जेडीयू एक-दूसरे पर फोड़ रही हैं। इसी कड़ी में रविवार को गिरिराज सिंह ने सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) पर निशाना साधते हुए ट्वीट (Tweet) किया। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि आज से दुर्गापूजा का मेला शुरू हो गया है। उन्होंने आगे लिखा कि मैं बिहार NDA की तरफ से उन सनातनियों से क्षमा मांगता हूं जहां पर बाढ़ के कारण पूजा, पंडाल एवं मेला का आयोजन नहीं हो पाया है। 

यह भी पढ़ें:-...भाजपा, बसपा, कांग्रेस को जोरदार झटका, कई नेता हजारों समर्थकों के साथ सपा में शामिल

वहीं, गिरिराज के ट्वीट पर जेडीयू महासचिव केसी त्यागी ने कहा कि उनके खिलाफ भाजपा आलाकमान कार्रवाई करे। उन्होंने एक न्यूज़ चैनल से बातचीत में कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह को ऐसे नेताओं से अपनी जुबान पर काबू रखने के लिए कहना चाहिए। उन पर पहले की तरह से तुरंत काबू किया जाये। 

त्यागी ने यहां तक कह दिया कि जितना आक्रामक गिरिराज सिंह का बयान है। उतना तो तेजस्वी यादव का भी नहीं है। इससे पहले शनिवार को पटना में जलभराव को लेकर गिरिराज ने कहा था कि इसके लिए बिहार सरकार जिम्मेदार है। उन्होंने कहा कि ताली सरदार को तो गाली भी सरदार को।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
चुनाव से ठीक पहले राहुल का बड़ा फैसला, कांग्रेसियों की बढ़ी मुश्किलेंhttps://www.newstimes.co.in/news/82214/भारत/दिल्ली/Rahul-Gandhi-will-not-campaign-for-Congress-in-assembly-elections902635Sun, 06 Oct 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/06-10-2019105845RahulGandhiw1.jpeg' alt='Images/06-10-2019105845RahulGandhiw1.jpeg' />महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने अपने स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी की है। जिसमें राहुल गांधी का नाम भी शामिल किया गया है, लेकिन राहुल खुद प्रचार से किनारा करते नजर आ रहे हैं। उन्होंने कहा है कि वह विधानसभा चुनावों में प्रचार नहीं करेंगे। 

चुनाव से ठीक पहले राहुल का बड़ा फैसला, कांग्रेसियों की बढ़ी मुश्किलें

New Delhi. महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने अपने स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी की है। जिसमें राहुल गांधी का नाम भी शामिल किया गया है, लेकिन राहुल खुद प्रचार से किनारा करते नजर आ रहे हैं। उन्होंने कहा है कि वह विधानसभा चुनावों में प्रचार नहीं करेंगे।

Images/06-10-2019105845RahulGandhiw1.jpeg

बता दें कि पिछले दिनों कांग्रेस ने महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए अपने स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी की थी। इस लिस्ट में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री महमोहन सिंह और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के साथ राहुल गांधी का भी नाम था। लेकिन राहुल ने प्रचार से किनारा कर लिया है। 

यह भी पढ़ें:-...यूपी: झांसी में खनन माफिया ने इंस्पेक्टर को मारी गोली, मुठभेड़ में आरोपी हुआ ढेर

राहुल ने सोनिया गांधी से कहा है कि वह खुद को अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड (केरल) तक सीमित रखेंगे। सूत्रों की माने तो राहुल गांधी इस समय विदेश यात्रा पर हैं। कई मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि राहुल बैंकॉक में हैं। 

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव में हार के बाद राहुल ने नाराजगी जाहिर करते हुए पार्टी अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे दिया था। राहुल गांधी इस बात से नाराज़ हैं कि वो पार्टी के अध्यक्ष तो रहे लेकिन कुछ सीनियर नेताओं ने उनका साथ नहीं दिया। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
यूपी उपचुनाव: सपा ने इन दिग्गजों को बनाया स्टार प्रचारक, देखें पूरी लिस्ट https://www.newstimes.co.in/news/82212/भारत/UP-by-election:-SP-made-these-veterans-the-star-campaigner-see-full-list902633Sun, 06 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/06-10-2019103526UPby-election1.jpg' alt='Images/06-10-2019103526UPby-election1.jpg' />विधानसभा उपचुनाव के बिगुल बजते ही सभी पार्टियों में घमासान जारी है। सभी राजनीतिक दल अपनी-अपनी पार्टियों को मजबूत बनाने में जुटे हुए हैं। जहां एक तरफ हमीरपुर उपचुनाव में बीजेपी ने बाजी मार ली, वहीं दूसरी तरफ छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने बाजी मारी लेकिन सपा ने भी दोनों ही जगह बराबर की टक्कर दी है। 

यूपी उपचुनाव: सपा ने इन दिग्गजों को बनाया स्टार प्रचारक, देखें पूरी लिस्ट

Lucknow. विधानसभा उपचुनाव के बिगुल बजते ही सभी पार्टियों में घमासान जारी है। सभी राजनीतिक दल अपनी-अपनी पार्टियों को मजबूत बनाने में जुटे हुए हैं। जहां एक तरफ हमीरपुर उपचुनाव में बीजेपी ने बाजी मार ली, वहीं दूसरी तरफ छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने बाजी मारी, लेकिन सपा ने हमीरपुर में बीजेपी को कड़ी टक्कर दी है। 

Images/06-10-2019103526UPby-election1.jpg

भले ही सपा के सर जीत का सेहरा नहीं बंध सका, लेकिन अभी भी समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने हार नहीं मानी है, वह अब यूपी विधानसभा उपचुनाव की तैयारी में जुट गए हैं। इसी दौरान समाजवादी पार्टी ने अपने स्टार प्रचारकों का ऐलान किया।

यह भी पढ़ें... हरियाणा: चुनाव से ठीक पहले इस दिग्गज ने पार्टी को दिया 440 वोल्ट का झटका

बता दें कि सपा ने पूर्व मंत्री अवधेश प्रसाद व विधान परिषद सदस्य लीलावती कुशवाहा को उपचुनाव में समाजवादी पार्टी स्टार  प्रचारक के रूप में उतारेगी। राष्ट्रीय महासचिव प्रो. रामगोपाल यादव ने प्रदेश में होने वाले 11 विधानसभा क्षेत्र के उपचुनाव में स्टार प्रचारक के रूप में 40 नेताओं की लिस्ट जारी की है, जिसमें सपा के राष्ट्रीय महासचि‍व व पूर्व मंत्री अवधेश प्रसाद और विधान परिषद सदस्य लीलावती कुशवाहा शामिल हैं। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
यतीमखाना केस: आजम खान की 8 अग्रिम जमानत याचिकाएं कोर्ट ने की खारिजhttps://www.newstimes.co.in/news/82211/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Orphanage-case:-Azam-Khans-8-anticipatory-bail-pleas-rejected-by-the-court902632Sun, 06 Oct 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/06-10-2019101535Orphanagecase1.jpg' alt='Images/06-10-2019101535Orphanagecase1.jpg' />यूपी के रामपुर से सपा सांसद आज़म खान को कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। कोर्ट ने आज़म खान के खिलाफ दर्ज आठ मामलों में अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी है। यतीमखाने केस में अग्रिम जमानत को लेकर आठ प्रार्थनापत्र थे, जिन पर सेशन कोर्ट में शनिवार को सुनवाई हुई।

यतीमखाना केस: आजम खान की 8 अग्रिम जमानत याचिकाएं कोर्ट ने की खारिज

Rampur. यूपी के रामपुर से सपा सांसद आज़म खान को कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। कोर्ट ने आज़म खान के खिलाफ दर्ज आठ मामलों में अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी है। यतीमखाने केस में अग्रिम जमानत को लेकर आठ प्रार्थनापत्र थे, जिन पर सेशन कोर्ट में शनिवार को सुनवाई हुई।

Images/06-10-2019101535Orphanagecase1.jpg

सरकारी वकील ने बताया कि नवाबों के समय में गरीबों को रहने के लिए यतीमखाने में जगह दी गयी थी। यूपी में सपा सरकार की सरकार के दौरान इस जगह को जबरन खाली कराया गया। इस दौरान लोगों के साथ मारपीट भी की गई और उनके सामान लूट लिए गए।

वकील ने कहा कि ये सारे आरोप एफआईआर में दर्ज कराए गए थे। जिसमें आठ मामलों में शनिवार को सुनवाई हुई। उन्होंने कहा कि कोर्ट ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद आजम खान की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी है। सभी मामले शहर कोतवाली से सम्बंधित है।

यह भी पढ़ें:-...Airforce Day: की रिहर्सल करते वायुसेना की देखें शानदार तस्वीरें

बता दें कि आज़म खान के खिलाफ जमीन पर कब्जे के मामले में शहर कोतवाली और थाना अजीमनगर में नौ मुकदमे दर्ज किए गए थे। वहीं, इन सभी नौ मुकदमों में गिरफ्तारी से बचने के लिए सपा सांसद की ओर से रामपुर की एडीजे कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दाखिल की गई थी।

इस मामले में तीन अक्टूबर को ही सुनवाई होने वाली थी लेकिन नहीं हुई। इसके बाद एडीजे 3 की कोर्ट ने मामले की अगली सुनवाई की तारीख शनिवार पांच अक्टूबर तय कर दी थी।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
शिवपाल यादव फिर बोले, अखिलेश यादव ने उन्हें कभी बुलाया ही नहीं, मैं तो...https://www.newstimes.co.in/news/82208/भारत/उत्तर-प्रदेश-/--गिरवान-----पहाड़ी----BABERU---BADASSA--अचनेरा--अजनेर---अतर्रा--अमीनाबाद--अलीगंज--आता-----आलमबाग--आशियाना--इंटौजा--इंडस्ट्रीयल-एरिया--इंदिरा-नगर--इरादतनगर--ईटन--उल्दन---ऋ-जलन--एट----एत्मादपुर--एत्मादुल्ला--एम-एम-गेट--एरछ----ऐशबाग--ककरवाई---कंझारी----कटरा----कुठौन्द----कदौरा----कैन्ट--कबरई----कमासिन---कुरारा----कुलपहाड़---केलिए--कृष्णा-नगर--कैसरबाग--काकोरी--कागारौल--कार्वी---काल्पी----कालिंजर----कीडगंज--कोंच----कोटरा----कोतवाली--कोतवाली--कोतवाली---कोतवाली---कोतवाली---कोतवाली---कोतवाली--कोतवाली--कोतवाली-देहात--खन्डोली--खनना----खरेला----ख़ैरागढ़--खैराथोर--खीरो--गुडम्बा--गदागंज--गुरूबख्शगंज--गुरसराई---गरौठा----गाजीपुर--गिरार----गोमती-नगर--गोसाईंगंज--गोहन----गौतमपल्ली--चरखारी--चरखी----चिकासी---चिनहट--चिरगांव----चिल्ला----चौक--छाता-बाजार--जखौरा----जगतपुर--जगदीशपुरा--जगनेर--जैतपुर--ज़रिए---जलन----जलालपुर----जसपुरा-----जाखलौन----जानकीपुरम--जायस--जालौन----टहरौली----टोडी-फतेहपुर--ठाकुरगंज--डकोर----डलमऊ--डीह--डौकी--ताजगंज--तालकोटरा--तालबेहट----तिंदवारी---नगराम--नदीगांव----न्यू-आगरा--नरैनी---नरहट----नवाबाद----नसीराबाद--नाई-की-मंडी--नाका-हिन्डोला--नादौन----निगोहां--निबोहरा--नियामतपुर----पुँछ----पनवारी---पुरकलां-----प्रेमनगर----पैलानी--पारा--पाली---पिनहट--पिनहट--पीजीआई--फतेहगंज---फतेहपुर-सीकरी--फतेहाबाद--फुर्सतगंज--बेकन-गंज---बख्शी-का-तालाब--बड़गाओं----बड़सर----बबीना---बरगढ़----बेरहन--बेवर---बसई-अरेला--बसई-जगनेर--बसोनी--बसोनी--बहिलपुरवा--बाजारखाला--बानपुर----बार---बारायसागर----बालाबेहट----बाह--भोरंज---मऊ---मऊरानीपुर----मझगवां-----मटौंध-----मठ----मड़ावरा----मड़ियांव--मदनपुर---मन्टोला--मनसुखपुरा--मनसुखपुरा--मरका----मलपुरा--मलिहाबाद--मुंशीगंज--मुस्करा--महरौनी----महानगर--महाराजगंज--महोबकंठ--महोबा----माधोगढ़----मानक-नगर--मानिकपुर--मारकुण्डी----माल--मोहनगंज--मोहनलालगंज--मौदहा---रक्षा---रकाबगंज--रकाबगंज--रेढर----रैपुरा--राजपुर--राठ---रामपुरा----रिठोरा--लहचौड़ा----लालगंज--लालपुरा---लोहा-मंड़ी--वज़ीरगंज--विकास-नगर--विभूति-खण्ड--शम्साबाद--श्रीनगर------शाहगंज--शाहजहांपुर----शिवगढ़--शिवरतनगंज--सआदतगंज--सकरर----सुजानपुर----सदर----सदर--सदर-बाजार--सदरबाजार----सैन्या--समथर----सुमेरपुर---सरोजनी-नगर--सरौनी--सलवन--सिकन्दरा--सिपरी-बाजार--सिरसकालर----सिसोलर---सौजना----हजरतगंज--हरचंदपुर--हरिपर्वत--हसनगंज--हुसैनगंज-shivpay-yadav-bole-akhilesh-ne-unhe-kabhi-bulaya-hi-nahi902629Sun, 06 Oct 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/06-10-2019094737shivpayyadav1.JPG' alt='Images/06-10-2019094737shivpayyadav1.JPG' />प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव इन दिनों काफी आहत हैं। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी से ही विधायक हैं, लेकिन उन्हें कभी नहीं बुलाया गया है।

शिवपाल यादव फिर बोले, अखिलेश यादव ने उन्हें कभी बुलाया ही नहीं, मैं तो...

Lucknow. प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (Pragatisheel Samajwadi Party) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) इन दिनों काफी आहत हैं। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) से ही विधायक हैं, लेकिन उन्हें कभी नहीं बुलाया गया है। उन्होंने कहा कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने भी उन्हें कभी नहीं बुलाया। उन्होंने कहा कि मैं तो समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) से कई बार समझौते के प्रयास किए, लेकिन उनकी ओर से कोई प्रयास नहीं किया गया।

Images/06-10-2019094737shivpayyadav1.JPG

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) से इटावा के जसवंत नगर से विधायक शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) आजकल काफी आहत दिख रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह कभी भी समाजवादी पार्टी का विघटन नहीं चाहते थे, लेकिन सपा के अंदर ही कुछ ऐसे षडयंत्रकारी हैं, जिनकी वजह से ये सब हुआ है। उन्होंने कहा कि अब हमारी पार्टी बन चुकी हैं और हम अपनी पार्टी को मजबूत करने के लिए सदस्यता अभियान चला रहे हैं। विधानसभा चुनाव 2022 उनका लक्ष्य है। 

सिर्फ झूठा आश्वसन दिया गया

उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के हाईकमान से लोकसभा चुनाव से पहले बात करने दिल्ली गया, लेकिन उन्हें सिर्फ झूठा आश्वसन दिया गया। उन्होंने कहा कि राज्यसभा चुनावों में भी सपा को ही वोट दिया था, लेकिन उसके बाद भी कोई बात नहीं बनी। इसके बाद मैंने अपनी पार्टी से चुनाव लड़ा था। 

समाजवादी पार्टी से समझौतों का भी प्रयास किया

शिवपाल यादव (Shivpal Singh Yadav) ने कहा कि समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) से समझौतों का भी प्रयास किया, लेकिन कोई बात नहीं बन सकी। उन्होंने कहा कि अब हमारी खुद की पार्टी है, हम समाजवादी पार्टी से गठबंधन कर सकते हैं, लेकिन अब विलय का कोई सवाल ही नहीं उठता है। 

मुद्दों के आधार पर कर सकते हैं गठबंधन

उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) से ही विधायक हूं, लेकिन विधानमंडल की बैठक में मुझे कभी नहीं बुलाया गया। यही नहीं, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने भी कभी नहीं बुलाया। उन्होंने कहा कि हम अब भी मुद्दों के आधार पर गठबंधन कर सकते हैं। उन्होंने उनकी लड़ाई भारतीय जनता पार्टी से है, न कि समान विचारधारा वाले दलों से। उन्होंने कहा कि आगामी चुनाव प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (Pragatisheel Samajwadi Party) दमखम के साथ मैदान में उतरेगी।

यह भी पढ़ें...

नहीं थम रही पाक की नापाक हरकते, एलओसी पर फिर किया सीज फायर का उल्लंघन

यूपी: झांसी में खनन माफिया ने इंस्पेक्टर को मारी गोली, मुठभेड़ में आरोपी हुआ ढेर

पीएम मोदी ने शेख हसीना से कहा, रोहिंग्या शरणार्थियों को समझाना होगा, लम्बे वक्त तक दूसरे देश में नहीं रह सकते

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
हरियाणा: चुनाव से ठीक पहले इस दिग्गज ने पार्टी को दिया 440 वोल्ट का झटकाhttps://www.newstimes.co.in/news/82192/भारत/हरियाणा/Haryana:-Just-before-the-election-the-heavyweight-gave-the-party-a-shock-of-440-volts902613Sat, 05 Oct 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/05-10-2019151831HaryanaJust4.jpg' alt='Images/05-10-2019151831HaryanaJust4.jpg' />विधानसभा चुनाव से ठीक पहले हरियाणा कांग्रेस को एक बड़ा झटका लगा है। पूर्व अध्यक्ष ने पूर्व मुख्यमंत्री से चल रही तनातनी के चलते पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने यह फैसला उस समय लिया जब पार्टी ने उन्हें स्टार प्रचारक घोषित कर दिया था। 

हरियाणा: चुनाव से ठीक पहले इस दिग्गज ने पार्टी को दिया 440 वोल्ट का झटका

- पार्टी ने चुनाव प्रचार के लिए बनाया था स्टार प्रचारक
- लगाए टिकट बिक्री और खरीद के गंभीर आरोप

विधानसभा चुनाव से ठीक पहले हरियाणा कांग्रेस को एक बड़ा झटका लगा है। पूर्व अध्यक्ष ने पूर्व मुख्यमंत्री से चल रही तनातनी के चलते पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने यह फैसला उस समय लिया जब पार्टी ने उन्हें स्टार प्रचारक घोषित कर दिया था। 

Images/05-10-2019151727HaryanaJust1.jpg

चुनावी माहौल में राजनीतिक खेमेबंदी और जोड़तोड़ पूरे सबाब पर है। वहीं पार्टी में अपने कद और ओहदे के हिसाब से तवज्जो न मिलने से आहत राजनीतिक हस्तियों को भी अपनी अहमियत का अहसास कराने के लिए ​भी यह सबसे मुफीद समय होता है।

अब जब हरियाणा और महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव की तिथियों की घोषणा हो चुकी है तो कुछ ऐसे ही दृश्य राजनीति के परिदृश्य में नुमाया होने लगे हैं। 

Images/05-10-2019151744HaryanaJust2.jpg

ताजा मामला हरियाणा का है जहां पार्टी के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंबर ने शनिवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। 
यही नहीं उन्होंने पार्टी पर चुनाव के लिए टिकटों की खरीद ​बिक्री जैसा संगीन आरोप भी लगाया है। मालूम हो कि अशोक तंवर की लम्बे समय से राज्य के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा से तनातनी चल रही थी। 

Images/05-10-2019151809HaryanaJust3.JPG

हाल ही में उनसे पार्टी अध्यक्ष की कमान छीन ली गयी थी। इसके विरोध में इसके बाद उन्होंने दिल्ली में अपने समर्थकों के साथ सोनिया गांधी के आवास पर विरोध प्रदर्शन भी किया था। 
अशोक तंवर ने पार्टी में अपने सभी पदों से इस्तीफा दे दिया था। जिसके बाद उनके समर्थकों ने भी इस्तीफे दिए थे। 
हलांकि कांग्रेस पार्टी ने विधानसभा चुनाव 2019 के लिए उन्हें हरियाणा में अपना स्टार प्रचारक घोषित किया था। 

Images/05-10-2019151831HaryanaJust4.jpg

बावजूद इसके उन्होंने शनिवार को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देकर सभी को चौंका दिया।उन्होंने अपना त्यागपत्र अपने ट्विटर अकाउंट के जरिए साझा भी किया है। हरियाणा के एक और पूर्व अध्यक्ष ने अशोक के इस फैसले को सही ठहराया है। 

यह भी पढ़ें...बड़ी खबर: एनसी, पीडीपी और कांग्रेस पार्टी के नेता बीजेपी के टिकट पर लड़ेंगे चुनाव!

 

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
अपनी सियासत चमकाने में भाजपा ने सभी नैतिक मूल्यों की दे दी तिलांजलि : अखिलेश https://www.newstimes.co.in/news/82187/भारत/उत्तर-प्रदेश-/bjp-par-hamlavar-hue-akhilesh-yadav-902608Sat, 05 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/05-10-2019135726bjpparhamlav2.JPG' alt='Images/05-10-2019135726bjpparhamlav2.JPG' />समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मौजूदा प्रदेश सरकार पर जोरदार हमला बोलते हुए कहा है कि गांधीजी की विरासत के बहाने अपनी सियासत चमकाने में भाजपा ने सभी नैतिक मूल्यों को तिलांजलि दे दी है। गांधी जी का सम्पूर्ण जीवन सत्य-अहिंसा के लिए प्रतिबद्ध रहा। सादगी उनके जीवन का अंग थी।       गांधी जी अपने विरोधी के प्रति भी प्रेमभाव रखते थे। यहां भाजपा और उसके मातृ संगठन भाजपा की तो पूरी राजनीति ही नफरत और साम्प्रदायिकता पर आधारित है। गांधी जी हिन्दू-मुस्लिम एकता के लिए जीवन भर प्रयासशील रहे। भाजपा सरकार दिल्ली से लखनऊ तक विपक्ष को अपमानित करने के लिए बदले की भावना से कार्रवाही करती है। यह लोकतांत्रिक नैतिकता के विरूद्ध है। गांधी जी की 150वीं जयंती पर भाजपा गांधी जी के स्वदेशी व्रत पर निर्मम प्रहार निजीकरण को बढ़ावा देकर कर रही है। अभी कल तक ही गांधी जी का नाम जपने वालों ने आज ही देश की पहली कारपोरेट ट्रेन तेजस को हरी झंडी दिखाकर साबित कर दिया है कि उनकी प्राथमिकता में गांव-गरीब नहीं लग्जरी जिंदगी जीने वाले पूंजी घरानों को खुशियां देना है। भाजपा निजीकरण को बढ़ावा देकर आरक्षण और सामाजिक न्याय के विरोध की राजनीति कर रही है।

अपनी सियासत चमकाने में भाजपा ने सभी नैतिक मूल्यों की दे दी तिलांजलि : अखिलेश

LUCKNOW. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मौजूदा प्रदेश सरकार पर जोरदार हमला बोलते हुए कहा है कि गांधीजी की विरासत के बहाने अपनी सियासत चमकाने में भाजपा ने सभी नैतिक मूल्यों को तिलांजलि दे दी है। गांधी जी का सम्पूर्ण जीवन सत्य-अहिंसा के लिए प्रतिबद्ध रहा। सादगी उनके जीवन का अंग थी।

Images/05-10-2019135555bjpparhamlav1.JPG

यह भी पढ़ें... पूर्व सांसद का हुआ निधन, पार्टी में शोक की लहर
 बिजली, पानी, सड़क और जीवनरक्षा के लिए बेहाल उत्तर प्रदेश को मंहगी तेजस या बुलेट ट्रेन की जरूरत क्या है? आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे समाजवादी सरकार में बनी जिससे 05ः30 घंटे में ही दिल्ली तक रास्ता तय हो जाता है। शताब्दी ट्रेन से केवल 25 मिनट समय बचाने के लिए एक कारपोरेट ट्रेन चला दी गई है और शताब्दी ट्रेन से ज्यादा किराया बढ़ा दिया गया। यह कर्मचारियों के हितों के भी खिलाफ है। गाजियाबाद में रेल कर्मचारियों ने इसे रोक कर अपना विरोध जताया। समाजवादी पार्टी मानती है कि विकास की आड़ में देश की संपदा बेचना एक आत्मघाती कदम हैं।

Images/05-10-2019135726bjpparhamlav2.JPG
© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
पूर्व सांसद का हुआ निधन, पार्टी में शोक की लहर https://www.newstimes.co.in/news/82177/भारत/उत्तर-प्रदेश-/--गिरवान-----पहाड़ी----BABERU---BADASSA--अचनेरा--अजनेर---अतर्रा--अमीनाबाद--अलीगंज--आता-----आलमबाग--आशियाना--इंटौजा--इंडस्ट्रीयल-एरिया--इंदिरा-नगर--इरादतनगर--ईटन--उल्दन---ऋ-जलन--एट----एत्मादपुर--एत्मादुल्ला--एम-एम-गेट--एरछ----ऐशबाग--ककरवाई---कंझारी----कटरा----कुठौन्द----कदौरा----कैन्ट--कबरई----कमासिन---कुरारा----कुलपहाड़---केलिए--कृष्णा-नगर--कैसरबाग--काकोरी--कागारौल--कार्वी---काल्पी----कालिंजर----कीडगंज--कोंच----कोटरा----कोतवाली--कोतवाली--कोतवाली---कोतवाली---कोतवाली---कोतवाली---कोतवाली--कोतवाली--कोतवाली-देहात--खन्डोली--खनना----खरेला----ख़ैरागढ़--खैराथोर--खीरो--गुडम्बा--गदागंज--गुरूबख्शगंज--गुरसराई---गरौठा----गाजीपुर--गिरार----गोमती-नगर--गोसाईंगंज--गोहन----गौतमपल्ली--चरखारी--चरखी----चिकासी---चिनहट--चिरगांव----चिल्ला----चौक--छाता-बाजार--जखौरा----जगतपुर--जगदीशपुरा--जगनेर--जैतपुर--ज़रिए---जलन----जलालपुर----जसपुरा-----जाखलौन----जानकीपुरम--जायस--जालौन----टहरौली----टोडी-फतेहपुर--ठाकुरगंज--डकोर----डलमऊ--डीह--डौकी--ताजगंज--तालकोटरा--तालबेहट----तिंदवारी---नगराम--नदीगांव----न्यू-आगरा--नरैनी---नरहट----नवाबाद----नसीराबाद--नाई-की-मंडी--नाका-हिन्डोला--नादौन----निगोहां--निबोहरा--नियामतपुर----पुँछ----पनवारी---पुरकलां-----प्रेमनगर----पैलानी--पारा--पाली---पिनहट--पिनहट--पीजीआई--फतेहगंज---फतेहपुर-सीकरी--फतेहाबाद--फुर्सतगंज--बेकन-गंज---बख्शी-का-तालाब--बड़गाओं----बड़सर----बबीना---बरगढ़----बेरहन--बेवर---बसई-अरेला--बसई-जगनेर--बसोनी--बसोनी--बहिलपुरवा--बाजारखाला--बानपुर----बार---बारायसागर----बालाबेहट----बाह--भोरंज---मऊ---मऊरानीपुर----मझगवां-----मटौंध-----मठ----मड़ावरा----मड़ियांव--मदनपुर---मन्टोला--मनसुखपुरा--मनसुखपुरा--मरका----मलपुरा--मलिहाबाद--मुंशीगंज--मुस्करा--महरौनी----महानगर--महाराजगंज--महोबकंठ--महोबा----माधोगढ़----मानक-नगर--मानिकपुर--मारकुण्डी----माल--मोहनगंज--मोहनलालगंज--मौदहा---रक्षा---रकाबगंज--रकाबगंज--रेढर----रैपुरा--राजपुर--राठ---रामपुरा----रिठोरा--लहचौड़ा----लालगंज--लालपुरा---लोहा-मंड़ी--वज़ीरगंज--विकास-नगर--विभूति-खण्ड--शम्साबाद--श्रीनगर------शाहगंज--शाहजहांपुर----शिवगढ़--शिवरतनगंज--सआदतगंज--सकरर----सुजानपुर----सदर----सदर--सदर-बाजार--सदरबाजार----सैन्या--समथर----सुमेरपुर---सरोजनी-नगर--सरौनी--सलवन--सिकन्दरा--सिपरी-बाजार--सिरसकालर----सिसोलर---सौजना----हजरतगंज--हरचंदपुर--हरिपर्वत--हसनगंज--हुसैनगंज-purv-sansad-bhalchandra-ka-hua-nidhan-902598Sat, 05 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/05-10-2019103313purvsansadbh3.JPG' alt='Images/05-10-2019103313purvsansadbh3.JPG' />.

पूर्व सांसद का हुआ निधन, पार्टी में शोक की लहर

Lucknow. संतकबीरनगर से पूर्व सांसद भालचंद्र यादव का शुक्रवार को मेदांता में दोपहर तकरीबन 2.25बजे निधन हो गया। भालचंद्र लम्बे समय से कैंसर से पीड़ित थे। बता दें कि भालचंद्र को पूर्वांचल के युवाओं, बुजुर्गों के दिलों पर राज करने वाला गरीबों का मसीहा कहा जाता था। 

Images/05-10-2019103300purvsansadbh2.jpegImages/05-10-2019103313purvsansadbh3.JPG

यह भी पढ़ें... श्रम मंत्री ने मीडिया संगठनों के प्रतिनिधियों से की उच्चस्तरीय बैठक

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
पूर्व सीएम लालू यादव पर मेहरबान कांग्रेस, दामाद को इस सीट से बनाया उम्मीदवारhttps://www.newstimes.co.in/news/82162/भारत/हरियाणा/laly-yadav-par-meharban-congress902583Fri, 04 Oct 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/04-10-2019152722lalyyadavpar2.JPG' alt='Images/04-10-2019152722lalyyadavpar2.JPG' />विधानसभा चुनावों को लेकर सभी राजनीतिक दल जुटे हुए हैं। कांग्रेस पार्टी अपने प्रत्याशियों की सूची का ऐलान कर दिया है।

पूर्व सीएम लालू यादव पर मेहरबान कांग्रेस, दामाद को इस सीट से बनाया उम्मीदवार

New Delhi. हरियाणा में विधानसभा चुनावों को लेकर सभी राजनीतिक दल जुटे हुए हैं। कांग्रेस (Congress) पार्टी अपने प्रत्याशियों की सूची का ऐलान कर दिया है। कांग्रेस की इस सूची में राजद प्रमुख लालू यादव (Lalu Yadav) और शरद यादव (Sharad Yadav) के रिश्तेदारों को टिकट देकर खुश करने का भी प्रयास किया है।

Images/04-10-2019152718lalyyadavpar1.JPG

हरियाणा में रेवाड़ी विधानसभा सीट पर कांग्रेस (Congress) ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री एवं राजद प्रमुख लालूल प्रसाद यादव के दामाद चिरंजीव यादव को टिकट दिया है। चिरंजीव यादव का विवाह लालू यादव की छठी बेटी अनुष्का राव से हुआ है। चिरंजीव ने चुनावों को लेकर अपना नामांकन भी दाखिल कर दिया है, इस दौरान राजद नेता तेजस्वी यादव भी मौजूद रहे।

शरद यादव पर भी कांग्रेस मेहरबान

वहीं, जदयू (JDU) के बागी नेता शरद यादव (Sharad Yadav) पर भी कांग्रेस मेहरबान दिखी। कांग्रेस ने शरद यादव के समधी कमलवीर यादव (Kamalveer Yadav) को हरियाणा के बादशाहपुर विधानसभा से टिकट दिया है। शरद यादव की बेटी सुभाषिनी की शादी कमलवीर के बेटे राजकमल से हुई है।

Images/04-10-2019152722lalyyadavpar2.JPG

लालू के समधी हैं कद्दावर नेता

बता दें कि राजद प्रमुख लालू यादव के दामाद चिरंजीव यादव के पिता कैप्टन यादव हरियाणा के कद्दावर नेता हैं। वह कांग्रेस सरकार में मंत्री भी रहे हैं। लोकसभा चुनाव 2019 में गुरुग्राम से चुनाव लड़े थे, लेकिन उन्हें जीत नहीं मिल सकी थी।

यह भी पढ़ें - 

कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ बड़ी साजिश, पार्टी में मचा घमासान

सपा के पूर्व मंत्री से बहन ने किया था प्रेम विवाह, अब भाई ने उठाया ये खौफनाक कदम

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
आईआईटी रुड़की के दीक्षांत समारोह में राष्ट्रपति हुए शामिल, कहा हमारे वैज्ञानिक किसी से कम नहींhttps://www.newstimes.co.in/news/82165/भारत/अन्य-राज्यों-से/President-attended-the-convocation-of-IIT-Roorkee-said-our-scientist-is-not-less-than-anyone902586Fri, 04 Oct 2019 00:00:00 GMTRAGHVENDRA CHAURASIA<img src='http://newstimes.co.in/Images/04-10-2019173502Presidentatte1.jpeg' alt='Images/04-10-2019173502Presidentatte1.jpeg' />.

आईआईटी रुड़की के दीक्षांत समारोह में राष्ट्रपति हुए शामिल, कहा हमारे वैज्ञानिक किसी से कम नहीं

Roorkee. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद शुक्रवार को दीक्षांत समारोह में शामिल आईआईटी रुड़की पहुंचे हैं। जहां प्रदेश के राज्यपाल बेबी रानी मौर्य,सीएम त्रिवेन्द्र रावत समेत तमाम मंत्रियों ने राष्ट्रपति का स्वागत किया। राष्ट्रपति के आगमन के दौरान सुरक्षा व्यवस्था कड़ी थी। 

Images/04-10-2019173502Presidentatte1.jpeg

आईआईटी अपनी गुणवत्ता के लिए जाना जाता है

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दीक्षांत समारोह में अपने संबोधन में कहा कि आईआईटी अपनी गुणवत्ता के लिए जाना जाता है। उन्होंने कहा कि भारत ने विज्ञान के क्षेत्र में नई ऊंचाईयों को छुआ है। चंद्रयान-2 का उदाहरण देते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि हमारे वैज्ञानिकों ने दिखा दिया ​कि हम किसी से कम नहीं हैं। उन्होंने कहा कि जितने भी साउंस एंड टेक्नोलॉजी के संस्थान हैं वहां छात्राओं की संख्या कम है इस पर उन्होंने चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि पूरे देश के कर दाताओं का आईआईटी जैसे संस्थानों के सुविधा देने में बड़ा दायित्व है। उन्होंने छात्रों से आह्वान किया यहां से पास आउट होने के बाद वह भी अपना दायित्व निभाएं। 

कुछ दिन पहले राष्ट्रपति ने आईआईटी रुड़की व इसरों की थी प्रशंसा

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा आईआईटी के निदेशकों से कहा कि वह संस्थान और देश के लाभ के लिए पूर्व छात्रों की मदद लें। राष्ट्रपति कोविंद ने कुछ दिन पहले आईआईटी रुड़की और इसरो के बीच साइन हुए एमओयू की प्रशंसा भी की। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि चंद्रयान-2 की लांचिंग के समय वह इसरो गए थे। उस दौरान वहां दो महिला वैज्ञानिक मौजूद थीं। उनमें से एक महिला का बच्चा 6 माह का था,जिसे परिजनों के पास छोड़ वह दो माह से इसरो में रह रही थीं। राष्ट्रपति ने देश सेवा के लिए जज्बे को सलाम किया। कहा कि देश की ऐसा महिलाएं सम्मान के योग्य हैं। 

विश्वविद्यालय में 2029 छात्र-छात्राओं को उपाधि प्रदान की गई

इस दौरान 2029 छात्र-छात्राओं को उपाधि प्रदान की गई। इनमें 1018 यूजी,702 पीजी और 309 ​पीएचडी डिग्री शामिल हैं। समारोह में पहली बार इजीनियरिंग एंड साइंस के क्षेत्र में उत्कृष्ट शोध कार्यों के लिए पीएचडी कर चुके तीन छात्रों को डॉक्टरल एक्सीलेंस अवार्ड प्रदान किया गया। 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
सीएम केजरीवाल ने दिल्ली वासियों को दिया तोहफा,नजफगढ़ मेट्रो को दिखाई हरी झंडीhttps://www.newstimes.co.in/news/82161/भारत/दिल्ली/CM-Kejriwal-gave-the-gift-to-the-people-of-Delhi-Najafgarh-metro-gave-the-green-signal902582Fri, 04 Oct 2019 00:00:00 GMTRAGHVENDRA CHAURASIA<img src='http://newstimes.co.in/Images/04-10-2019151741CMKejriwalga1.jpg' alt='Images/04-10-2019151741CMKejriwalga1.jpg' />.

सीएम केजरीवाल ने दिल्ली वासियों को दिया तोहफा,नजफगढ़ मेट्रो को दिखाई हरी झंडी

New Delhi. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को दिल्ली वासियों को तोहफा दिया है। केजरीवाल ने नजफगढ़ को द्वारका से जोड़ने वाले ग्रे लाइन कॉरिडोर को हरी झंडी दिखाई। इस दौरान केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी भी मौजूद रहे। बताया जा रहा है कि 50 हजार यात्रियों को फायदा मिलेगा। 

Images/04-10-2019151741CMKejriwalga1.jpg

पांच बजे से दौड़ेगी मेट्रो

सीएम केजरीवाल ने शुक्रवार 11 बजे बाराखंभा रोड स्थित मेट्रो भवन में उद्घाटन किया। इस खास मौके पर दिल्ली सरकार के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत भी मौजूद थे। बताया जा रहा है कि शाम पांच बजे से मेट्रो अपने नए यात्रियों के साथ दौड़ेगी। 

4.295 किमी में तीन हैं स्टेशन

जिस नए रुट का सीएम केजरीवाल ने उद्घाटन किया है उसकी कुल दूरी 4.295 किमी है। करीब 4.295 किमी लंबी ग्रे लाइन पर तीन मेट्रो स्टेशन है। नजफगढ़ नंगली और द्वारका मेट्रो स्टेशन हैं। इसमें द्वारका मेट्रो स्टेशन इंटरचेंज के तौर पर इस्तेमाल होगा। द्वारका और नंगली मेट्रो स्टेशन एलिवेटेड व नजफगढ़ स्टेशन अंडरग्राउंड है। 
 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
आरक्षण पर बघेल सरकार को हाईकोर्ट ने दिया झटकाhttps://www.newstimes.co.in/news/82159/भारत/छत्तीसगढ़/High-court-gives-a-shock-to-the-Baghel-government-on-reservation902580Fri, 04 Oct 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/04-10-2019144124Highcourtgiv3.jpg' alt='Images/04-10-2019144124Highcourtgiv3.jpg' />छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल की सरकार को हाईकोर्ट ने तगड़ा झटका देते हुए सरकार के बढ़े आरक्षण पर रोक लगा दी है। यह फैसला कोर्ट में आरक्षण बढ़ोत्तरी के खिलाफ दायर याचिकाओं की सुनवाई के बाद लिया गया। बता दें कि बढ़े आरक्षण के खिलाफ चार तो पक्ष में एक याचिका हाईकोर्ट में दाखिल की गयी थी। 

आरक्षण पर बघेल सरकार को हाईकोर्ट ने दिया झटका

New Delhi. छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल की सरकार को हाईकोर्ट ने तगड़ा झटका देते हुए सरकार के बढ़े आरक्षण पर रोक लगा दी है। यह फैसला कोर्ट में आरक्षण बढ़ोत्तरी के खिलाफ दायर याचिकाओं की सुनवाई के बाद लिया गया। बता दें कि बढ़े आरक्षण के खिलाफ चार तो पक्ष में एक याचिका हाईकोर्ट में दाखिल की गयी थी। 

Images/04-10-2019144047Highcourtgiv1.jpg

अधिवक्ता अनीश तिवारी ने कोर्ट में दलील दी कि सरकार के फैसले के बाद छत्तीसगढ़ में आरक्षण 82 फीसदी हो गया था। 

Images/04-10-2019144103Highcourtgiv2.jpgImages/04-10-2019144124Highcourtgiv3.jpg

इससे पूर्व राज्य में ओबीसी को 14 प्रतिशत आरक्षण दिया जा रहा था। राज्य सरकार के फैसले के बाद यह 27 फीसदी हो गया था। 
कुल मिलाकर अनुसूचित जनजाति को 32 प्रतिशत, अनुसूचित जाति को 13 प्रतिशत तथा अन्य पिछड़ा वर्ग को 27 प्रतिशत आरक्षण देने का प्रावधान कर दिया था। जिससे राज्य में आरक्षण का दायरा 72 फीसदी पहुंच गया था। 
हाईकोर्ट में राज्य के फैसले के विरोध में चार तो पक्ष में एक याचिका पहुंची थी। जिनकी सुनवाई करते हुए कोर्ट ने सरकार के इस फैसले पर रोक लगा दी है। 

यह भी पढ़ें...गरबा देखते समय हुआ कुछ ऐसा कि छा गया मातम...

 

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
खुशखबरी : खुद अखिलेश करवाएंगे मुलायम के प्रिय इस दिग्गज नेता की घरवापसी, जानिए क्या रहेगा कार्यक्रम https://www.newstimes.co.in/news/82149/भारत/उत्तर-प्रदेश-/ramakant-yadav-ki-gharvapsi-karvange-akhilesh-902570Fri, 04 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/04-10-2019105436ramakantyadav2.jpg' alt='Images/04-10-2019105436ramakantyadav2.jpg' />.

खुशखबरी : खुद अखिलेश करवाएंगे मुलायम के प्रिय इस दिग्गज नेता की घरवापसी, जानिए क्या रहेगा कार्यक्रम

Lucknow. आजमगढ़ से पूर्व सांसद और बाहुबली नेता रमाकांत यादव के समाजवादी पार्टी में वापसी को लेकर चर्चाओं का दौर जारी है। इसी कड़ी में उन्हें गुरुवार को पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्तता के चलते अनुशासनहीनता के आरोप में उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी के अनुशासन समिति के सदस्यगण अनुग्रह नारायण सिंह, पूर्व विधायक, राम जियावन पूर्व विधायक एवं विनोद चौधरी, पूर्व विधायक ने तत्काल प्रभाव से सदस्यता से 6 वर्ष के लिए निष्कासित कर दिया है। दरअसल अटकलें थी कि रमाकांत यादव 6 अक्टूबर को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की मौजूदगी में सपा ज्वाइन करेंगे। निर्दलीय रूप से राजनीति में कदम रखने वाले रमाकांत मुलायम के काफी करीबी माने जाते हैं। जिसके बाद उन पर यह कार्रवाई की गयी है। 

Images/04-10-2019105420ramakantyadav1.jpg

यह भी पढ़ें... प्रियंका की पैदल यात्रा : प्रदेश के दिग्गज रहे मौजूद, भीड़ देख फूले प्रशासन के हाथ-पांव
वहीं रमाकान्त के इस तरह दलबदल करने के फैसले को बीजेपी फिलहाल राजनीतिक स्वार्थ करार दे रही है। ज्ञात हो कि आजमगढ़ से आने वाले रमाकांत ने 2004 में समाजवादी पार्टी से बाहर जाने के बाद कहा था कि उनकी लाश भी सपा में नहीं जाएगी। 

Images/04-10-2019105436ramakantyadav2.jpg
© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
अटकले लें वास्तविकता की शक्ल उससे पहले ही कांग्रेस ने इस दिग्गज पर गिराई गाज https://www.newstimes.co.in/news/82148/भारत/उत्तर-प्रदेश-/congress-ne-ramakant-yadav-ko-kiya-party-se-bahar-902569Fri, 04 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/04-10-2019103622congressnera2.jpg' alt='Images/04-10-2019103622congressnera2.jpg' />.

अटकले लें वास्तविकता की शक्ल उससे पहले ही कांग्रेस ने इस दिग्गज पर गिराई गाज 

Lucknow. आजमगढ़ से पूर्व सांसद और बाहुबली नेता रमाकांत यादव को पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्तता के चलते अनुशासनहीनता के आरोप में उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी के अनुशासन समिति के सदस्यगण अनुग्रह नारायण सिंह, पूर्व विधायक, राम जियावन पूर्व विधायक एवं विनोद चौधरी, पूर्व विधायक ने तत्काल प्रभाव से सदस्यता से 6 वर्ष के लिए निष्कासित कर दिया है। दरअसल अटकलें थी कि रमाकांत यादव 6 अक्टूबर को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की मौजूदगी में सपा ज्वाइन करेंगे। निर्दलीय रूप से राजनीति में कदम रखने वाले रमाकांत मुलायम के काफी करीबी माने जाते हैं। जिसके बाद उन पर यह कार्रवाई की गयी है। 

Images/04-10-2019103607congressnera1.JPGImages/04-10-2019103622congressnera2.jpg

यह भी पढ़ें... प्रियंका की पैदल यात्रा : प्रदेश के दिग्गज रहे मौजूद, भीड़ देख फूले प्रशासन के हाथ-पांव

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
यूपी उपचुनाव: गंगोह सीट को लेकर बड़ा उलटफेर, बसपा के ये नेता करेंगे...https://www.newstimes.co.in/news/82139/भारत/UP-by-election:-A-big-upset-over-Gangoh-seat-these-BSP-leaders-will-do-902560Thu, 03 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/03-10-2019174945UPby-election2.jpg' alt='Images/03-10-2019174945UPby-election2.jpg' />उत्तर प्रदेश में 21 ऑक्टूबर से विधानसभा उपचुनाव होने वाले हैं। जिसे लेकर सभी राजनीतिक पार्टियों में गहमागहमी का माहौल है। ऐसे में सभी ने अपने-अपने महारथियों को मैदान में उतारने की तैयारी कर ली है।

यूपी उपचुनाव: गंगोह सीट को लेकर बड़ा उलटफेर, बसपा के ये नेता करेंगे...

Lucknow. उत्तर प्रदेश में 21 अक्टूबर से विधानसभा उपचुनाव होने वाले हैं, जिसे लेकर सभी राजनीतिक पार्टियों में गहमा-गहमी का माहौल है। ऐसे में सभी ने अपने-अपने महारथियों को मैदान में उतारने की तैयारी कर ली है। वहीं, बसपा पार्टी को उपचुनाव से पहले फिर एक बार झटका लगा है। सहारनपुर की गंगोह सीट पर उपचुनाव से पहले ही बसपा के 24 नेता पार्टी में नहीं रहे, उन्होंने बीजेपी में जाने का फैसला कर लिया। 

Images/03-10-2019174945UPby-election2.jpg

बता दें कि दो बार विधायक रह चुके रविंद्र मोल्हू, वर्तमान में जिला अध्यक्ष ऋषि पाल गौतम, जोनल को-ओर्डिनेटर आशीर्वाद आर्य और गंगोह विधानसभा क्षेत्र इकाई के अध्यक्ष धर्मेदर सिंह समेत कुल 24 बसपा नेताओं ने बसपा को छोड़ बीजेपी का दामन थाम लिया है। बुधवार शाम को हुई इस घटना के बाद बसपा के प्रदेश अध्यक्ष मुनकाद अली ने कहा, 'मुझे अभी यह पता लगाना है कि ऐसा क्यों हुआ'। सभी नेता बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की उपस्थिति में शामिल हुए।

  गंगोह सीट 

सहारनपुर जिले की गंगोह विधानसभा सीट पर आने वाले 21 अक्टूबर को उपचुनाव होने हैं। गंगोह कैराना लोकसभा क्षेत्र की पांच विधानसभा सीटों में से एक है और सहारनपुर जिले में आता है। यहां के पूर्व विधायक प्रदीप चौधरी के 2019 आम चुनाव में कैराना से लोकसभा के लिए चुने जाने के बाद यह विधानसभा सीट खाली हो गई थी। 

  बसपा छोड़ने की वजह

पूर्व विधायक रविंद्र मोल्हू ने कहा,  'मुझे बसपा में घुटन हो रही थी। किसी को कुछ बोलने का अधिकार नहीं है और ऐसा कोई नेता नहीं, जिससे पार्टी कार्यकर्ता अपने विचार बता सकें।' उन्होंने कहा कि बीजेपी में मजबूत नेतृत्व, सुसंगठित संगठन है, जो देश को आगे ले जा रहा है।

रविंद्र मोल्हू को इस सीट पर बसपा उम्मीदवार के तौर पर देखा जा रहा था, क्योंकि पिछले कई सालों से विधानसभा प्रभारी थे। लेकिन पार्टी ने यहां से इरशाद चौधरी को उम्मीदवार बनाया है। ऐसे में बसपा के नेताओं का साथ छोड़ना बसपा पार्टी के लिए चिंता का विषय है। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
इन कद्दावर नेताओं के खिलाफ बड़ी कार्रवाई कर सकती हैं सपा, बसपा और कांग्रेस, जानें क्या है वजहhttps://www.newstimes.co.in/news/82133/भारत/उत्तर-प्रदेश-/in-netao-ke-khilaf-ho-sakti-hai-badi-karywai902554Thu, 03 Oct 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/03-10-2019151138innetaokekh2.JPG' alt='Images/03-10-2019151138innetaokekh2.JPG' />यूपी विधानसभा का विशेष सत्र पिछले चौबीस घंटे से चल रहा है। वहीं, कई विपक्षी दलों ने इस सत्र का बहिष्कार किया है। विपक्षी दलों के बहिष्कार के बावजूद तमाम नेता अपने दलों के निर्देश के उलट विधानसभा सत्र में शामिल हुए हैं

इन कद्दावर नेताओं के खिलाफ बड़ी कार्रवाई कर सकती हैं सपा, बसपा और कांग्रेस, जानें क्या है वजह

Lucknow. यूपी विधानसभा का विशेष सत्र पिछले चौबीस घंटे से चल रहा है। वहीं, कई विपक्षी दलों ने इस सत्र का बहिष्कार किया है। विपक्षी दलों के बहिष्कार के बावजूद तमाम नेता अपने दलों के निर्देश के उलट विधानसभा सत्र में शामिल हुए हैं, जिनमें कांग्रेस से अदिति सिंह, बसपा से अनिल सिंह व असलम रायनी और सपा से नितिन अग्रवाल हैं। वहीं, माना जा रहा है कि पार्टी लाइन से इतर काम करने वाले नेताओं से गाज भी गिर सकती है। 

Images/03-10-2019151123innetaokekh1.jpg

प्रदेश की योगी सरकार ने महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर विधानसभा का स्पेशल सत्र बुलाया है, जो लगातार 30 घंटे चलेगा। वहीं, समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस सहित कई विपक्षी दलों ने इस सत्र का बहिष्कार कर प्रदर्शन करने का फैसला लिया। समाजवादी पार्टी के नेता दो अक्टूबर को प्रदेश में महंगाई सहित कई मुद्दों को लेकर सड़कों पर उतरे। वहीं, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने पैदल मार्च निकाला था। इसके बावजूद कई दलों नेताओं ने विधानसभा सत्र में शामिल होने का फैसला लिया है।

पार्टी के पैदल मार्च में नहीं लिया हिस्सा

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के पैदल मार्च में शामिल न होकर विधानसभा सत्र में अदिति सिंह हिस्सा लेने पहुंची। यही नहीं, उन्होंने विधानसभा में चर्चा भी की। अदिति सिंह ने कहा कि अनुच्छेद 370 सहित कई मुद्दों पर सरकार का समर्थन किया। उन्होंने कहा कि मैं पढ़ी लिखी विधायक हं, मुझे जो चीजें सही लगती हैं, मैं उन पर अपनी बात हमेशा रखती हूं।

Images/03-10-2019151138innetaokekh2.JPG

​दलगत नीति से उठकर सामने आए नेता

वहीं, बहुजन समाज पार्टी के नेता एवं श्रावस्ती से विधायक असलम रायनी शुक्रवार को विधानसभा पहुंचे और कार्यवाही में हिस्सा लिया है। इसके साथ सपा नेता नितिन अग्रवाल भी पहुंचे। ऐसा ये पहली बार नहीं हैं, पहले भी दलगत राजनीति से उठक​र कई नेता सामने आए हैं। हालांकि इन नेताओं के पार्टी लाइन से इतर विधानसभा सत्र में शामिल होना, उपचुनावों से पहले विपक्षी दलों को झटका माना जा रहा है।

विपक्षी नेताओं का स्वागत

राजनीतिक विश्लेषकों मुताबिक, अब तक पार्टी लाइन से इतर जो भी नेता गए हैं, उनको आगे चलकर कहीं न कहीं नुकसान झेलना पड़ा है। माना जा रहा है कि इन नेताओं का सत्ताधारी दल के प्रति झुकाव कहीं विपक्षी दलों को भारी न जाए। वहीं, भाजपा नेताओं का कहना है यदि ये नेता हमारा समर्थन कर रहें हैं तो उनका स्वागत है। वहीं, माना जा रहा है कि पार्टी लाइन से इतर काम करने वाले नेताओं पर गाज भी गिर सकती है।

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
उपचुनाव 2019: फूट-फूटकर रोये सपा नेता, बीजेपी पर लगाए आरोप, कहा...https://www.newstimes.co.in/news/82124/भारत/By-elections-2019:-SP-leader-bitterly-blamed-BJP-902544Thu, 03 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/03-10-2019113516By-elections21.jpg' alt='Images/03-10-2019113516By-elections21.jpg' />गांधी जयंती पर पूरे भारत ने और सभी नेता-अभिनेताओं ने गांधी जी को श्रद्धांजलि दी। वहीं संभल से समाजवादी पार्टी नेताओं ने महात्मा गांधी की प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किए लेकिन इस दौरान वह इस कदर भावुक हो गए कि बापू-बापू करते हुए फूट-फूटकर रोने लगे।

उपचुनाव 2019: फूट-फूटकर रोये सपा नेता, बीजेपी पर लगाए आरोप, कहा...

Lucknow. गांधी जयंती पर पूरे भारत ने और सभी नेता-अभिनेताओं ने गांधी जी को श्रद्धांजलि दी। वहीं, संभल से समाजवादी पार्टी नेताओं ने महात्मा गांधी की प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किए, लेकिन इस दौरान वह इस कदर भावुक हो गए कि बापू-बापू करते हुए फूट-फूटकर रोने लगे। वह रोते हुए कह रहे थे, हमें अनाथ कर बापू कहां चले गए। इतने बड़े देश को आपने आजाद कराया और हमें अनाथ बनाकर चले गए। 

Images/03-10-2019113516By-elections21.jpg

यह मामला चंदौसी कोतवाली क्षेत्र के फव्वारा चौक का है, जहां सपा जिला अध्यक्ष फिरोज खान आए थे बापू को श्रद्धांजलि देने, लेकिन भावनाओं का ऐसा ज्वार उठा कि फफ-फफक कर रो दिए। सपा के दोनों कार्यकर्ता लगातार भीगी हुई आंखों पर रुमाल फेरते रहे। इस बीच साथी कार्यकर्ताओं ने उन्हें दिलासा दिया। 

  फिर चलाया सफाई कार्यक्रम

करीब एक मिनट के अंदर दिल को छू लेने वाला विलाप खत्म हो गया। इसके बाद अगला कार्यक्रम शुरू हुआ सफाई का, कार्यकर्ताओं ने एक ठेले का इंतजाम किया और सफाई की। इस दौरान सपा कार्यकर्ता सफाई कम फोटो ज्यादा खिंचाते नजर आए।

  प्रदेश सरकार पर साधा निशाना

सफाई अभियान के दौरान समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष फिरोज खान ने प्रदेश सरकार पर निशाना साधा। फिरोज खान ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत बीजेपी लाखों रूपये डकार रही है। आज इस देश में लूट खसोट मची है, इसलिए बापू को याद करके मेरी आंखें भर आई. मैं बहुत रोया हूं।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
आजमगढ़: इस बाहुबली की सपा में होगी घर वापसीhttps://www.newstimes.co.in/news/82119/भारत/उत्तर-प्रदेश-/Azamgarh:-This-Bahubali-will-return-home-in-SP902539Thu, 03 Oct 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/03-10-2019102119AzamgarhThis2.JPG' alt='Images/03-10-2019102119AzamgarhThis2.JPG' />सपा से भाजपा और फिर कांग्रेस के बाद एक बा​र फिर से आजमगढ़ के बाहुबली नेता व पूर्व सांसद रमाकांत यादव समाजवादी पार्टी का दामन थामने जा रहे है। वह पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की मौजूदगी में 6 अक्टूबर को घर वापसी करेंगे। राजनीति के गलियारों में यह चर्चाएं है कि उन्होंने यह फैसला अपने करियर की डूबती नाव को देखते हुए लिया है। 

आजमगढ़: इस बाहुबली की सपा में होगी घर वापसी

Azamgarh. सपा से भाजपा और फिर कांग्रेस के बाद एक बा​र फिर से आजमगढ़ के बाहुबली नेता व पूर्व सांसद रमाकांत यादव समाजवादी पार्टी का दामन थामने जा रहे है। वह पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की मौजूदगी में 6 अक्टूबर को घर वापसी करेंगे। राजनीति के गलियारों में यह चर्चाएं है कि उन्होंने यह फैसला अपने करियर की डूबती नाव को देखते हुए लिया है। 

Images/03-10-2019102058AzamgarhThis1.jpgImages/03-10-2019102119AzamgarhThis2.JPG

 

यह भी पढ़ें...महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: टिकट बंटवारे के बाद अपने बागी नेताओं से BJP को...


 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
प्रियंका की पैदल यात्रा : प्रदेश के दिग्गज रहे मौजूद, भीड़ देख फूले प्रशासन के हाथ-पांवhttps://www.newstimes.co.in/news/82109/भारत/उत्तर-प्रदेश-/priyanka-ki-padyatra-me-bhari-sankhya-me-ahuche-log902529Wed, 02 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/02-10-2019164518priyankakipa2.jpg' alt='Images/02-10-2019164518priyankakipa2.jpg' />.

प्रियंका की पैदल यात्रा : प्रदेश के दिग्गज रहे मौजूद, भीड़ देख फूले प्रशासन के हाथ-पांव

Lucknow. महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर कांग्रेस ने बुधवार को देशभर में पदयात्रा निकाली। इसी कड़ी में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने उन्नाव औऱ शाहजहांपुर यौन शौषण के मामले में पीड़िताओं का समर्थन करने को लेकर लखनऊ में पदयात्रा की। 

Images/02-10-2019164459priyankakipa1.jpg

यह भी पढ़ें... भाजपा विशेष सत्र का रच रही है ढोंग, शामिल नहीं होंगे कांग्रेस विधायक: अजय कुमार लल्लू
उम्मीद से ज्यादा पहुंचे लोग 
प्रियंका गांधी की इस पदयात्रा के दौरान पुलिस प्रशासन के हाथ-पांव फूले नजर आए। दरअसल प्रशासन को भी पहले से यह उम्मीद न थी कि इस पदयात्रा में इतनी भारी संख्या में जनसमूह मौजूद रहेगा। सुबह से यूपी के कई जनपदों से कांग्रेस समर्थकों ने शहीद स्मारक पर पहुंचना शुरु कर दिया। जिसके बाद भीड़ देखते ही देखते बढ़ती गयी। इस दौरान मौके पर मौजूद एसपी पश्चिमी विकास चंद्र त्रिपाठी ने मौर्चा संभाला और स्थिति पर नियंत्रण बनाए रखा। हालांकि मौजूद भीड़े को देखते हुए महासचिव प्रियंका को शहीद स्मारक पर समर्थकों के बीच बोलने की अनुमति नहीं दी गयी औऱ उन्होंने सिर्फ इतना ही कहा कि हम संघर्ष जारी रखेंगे। 

Images/02-10-2019164518priyankakipa2.jpg
© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
यूपी के इस शहर में 20 रूपए प्रति किलो बिक रहा है समाजवादी प्याजhttps://www.newstimes.co.in/news/82104/भारत/उत्तर-प्रदेश-/फैजाबाद/Samajwadi-Party-leaders-are-selling-20-rupees-per-kg-Samajwadi-pyaj-in-Ayodhya902524Wed, 02 Oct 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/02-10-2019152820SamajwadiPart1.PNG' alt='Images/02-10-2019152820SamajwadiPart1.PNG' />यूपी समेत देश के लगभग सभी प्रदेशों में प्याज के दाम आसमान छू रही हैं। जिसको लेकर सरकार की ओर से कई अहम कदम उठाए जा रहे हैं। प्रदेश की योगी सरकार कई जिलों में प्याज बिक्री केंद्र खोले हैं। साथ ही प्याज की जमाखोरी करने वालों और ज्यादा कीमतों में बेचने वाले दुकानदारों पर शिकंजा कसने का फरमान जारी किया है। वहीं, विपक्षी पार्टियां भाजपा सरकार को घेरने में लगी हुई हैं। 

यूपी के इस शहर में 20 रूपए प्रति किलो बिक रहा है समाजवादी प्याज

Ayodhya. यूपी समेत देश के लगभग सभी प्रदेशों में प्याज के दाम आसमान छू रही हैं। जिसको लेकर सरकार की ओर से कई अहम कदम उठाए जा रहे हैं। प्रदेश की योगी सरकार कई जिलों में प्याज बिक्री केंद्र खोले हैं। साथ ही प्याज की जमाखोरी करने वालों और ज्यादा कीमतों में बेचने वाले दुकानदारों पर शिकंजा कसने का फरमान जारी किया है। वहीं, विपक्षी पार्टियां भाजपा सरकार को घेरने में लगी हुई हैं। 

Images/02-10-2019152820SamajwadiPart1.PNG

यूपी के अयोध्या में सपा के एक दिव्यांग नेता पंडित समरजीत मिश्र ने भाजपा को घेरने के लिए प्याज का स्टॉल लगाया। इस स्टॉल पर लोगों को 20 रुपये किलो में 'समाजवादी प्याज' मुहैया कराया जा रहा है।

यह भी पढ़ें:-...विशेष सत्र का बहिष्कार करके विपक्ष ने महात्मा गांधी का किया अपमान: सीएम योगी

सपा नेता पंडित समरजीत मिश्र ने इस मुद्दे पर कहा कि 80 रुपये किलो प्याज गरीब नहीं खा सकता। जिस तरह से प्याज महंगी हुई है, गरीब की थाली से प्याज गायब हो गया है। उन्होंने कहा कि इन्हीं गरीबों को प्याज खिलाने के लिए सपा ने मलिन बस्ती में स्टाल लगाकर 20 रुपये किलो प्याज उपलब्ध कराया है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
गांधी जयंती पर मोदी के मंत्री ने दिया विवादित बयान, भड़के कांग्रेसीhttps://www.newstimes.co.in/news/82101/भारत/बिहार/पटना/Giriraj-Singh-targeted-Congress-on-150th-Gandhi-Jayanti902521Wed, 02 Oct 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/02-10-2019143611GirirajSingh2.jpeg' alt='Images/02-10-2019143611GirirajSingh2.jpeg' />केंद्रीय मंत्री और भाजपा के फायरब्रांड नेता गिरिराज सिंह ने गांधी जयंती को लेकर कांग्रेस पर जोरदार हमला बोला है। गिरिराज सिंह ने कहा कि कांग्रेसी गांधी जयंती और लाल बहादुर शास्त्री की जयंती को लेकर दिखावा कर रहे हैं और आज राजघाट तक पैदल मार्च कांग्रेस के इसी दिखावे का हिस्सा है। आगे उन्होंने ये कहा कि कांग्रेसी सिर्फ सोनिया गांधी और राहुल गांधी को बिठाकर परिक्रमा कर लेते तो गांधी जयंती का दिखावा सफल हो जाता।

गांधी जयंती पर मोदी के मंत्री ने दिया विवादित बयान, भड़के कांग्रेसी

Begusarai. केंद्रीय मंत्री और भाजपा के फायरब्रांड नेता गिरिराज सिंह ने गांधी जयंती को लेकर कांग्रेस पर जोरदार हमला बोला है। गिरिराज सिंह ने कहा कि कांग्रेसी गांधी जयंती और लाल बहादुर शास्त्री की जयंती को लेकर दिखावा कर रहे हैं और आज राजघाट तक पैदल मार्च कांग्रेस के इसी दिखावे का हिस्सा है। आगे उन्होंने ये कहा कि कांग्रेसी सिर्फ सोनिया गांधी और राहुल गांधी को बिठाकर परिक्रमा कर लेते तो गांधी जयंती का दिखावा सफल हो जाता।

Images/02-10-2019143551GirirajSingh1.jpg

दरअसल, बुधवार को पूरा देश बापू की जयंती मनाई जा रही है। इस मौके पर आयोजित एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने गिरिराज सिंह पहुंचे थे। इस दौरान उनका यह बयान सामने आया। गिरिराज सिंह ने कहा कि कांग्रेसियों ने आज तक गांधी के नाम का सिर्फ राजनीतिक लाभ लिया है। सैद्धांतिक और नैतिक रूप से कांग्रेसियों को राजघाट तक पैदल भी नहीं जाना चाहिए था।

Images/02-10-2019143611GirirajSingh2.jpeg

यह भी पढ़ें:-...विशेष सत्र का बहिष्कार करके विपक्ष ने महात्मा गांधी का किया अपमान: सीएम योगी

गौरतलब है कि गिरिराज सिंह कई मौकों पर अपने बयानो को लेकर विवादों में घिरते रहे हैं। ऐसे में गांधी जयंती पर गिरिराज का यह बयान एक बार फिर विवाद खड़ा कर सकता है। इससे पहले भाजपा नेता ने पटना में जलभराव और बाढ़ को लेकर नीतीश सरकार पर भी निशाना साधा था। भारी बारिश के बाद पटना की हालत को लेकर उन्होंने कहा कि कहीं न कहीं चूक तो राज्य सरकार से हुई है। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
गांधी जयंती पर मायावती का बड़ा बयान, ट्वीट कर सरकार को दी सलाह कहा...https://www.newstimes.co.in/news/82097/भारत/Mayawatis-big-statement-on-Gandhi-Jayanti-tweeted-and-said-advice-to-the-government-902517Wed, 02 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/02-10-2019124555Mayawatisbig1.jpg' alt='Images/02-10-2019124555Mayawatisbig1.jpg' />दो ऑक्टूबर को हर साल गांधी जयंती पूरे देश में बापू की याद में मनाई जाती है। ऐसे में बसपा सुप्रीमो मायावती ने गांधी जयंती से एक दिन पहले ही राज्य व केंद्र सरकार से बारिश व बाढ़ से प्रभावित लोगों की मदद करने को कहा।

गांधी जयंती पर मायावती का बड़ा बयान, ट्वीट कर सरकार को दी सलाह कहा...

Lucknow. दो ऑक्टूबर को हर साल गांधी जयंती पूरे देश में बापू की याद में मनाई जाती है। ऐसे में बसपा सुप्रीमो मायावती ने गांधी जयंती से एक दिन पहले ही राज्य व केंद्र सरकार से बारिश व बाढ़ से प्रभावित लोगों की मदद करने को कहा। उन्होंने कहा कि भारी बारिस से यूपी के खासकर पूर्वांचल के जिलों में लगभग 100 लोगों की मौत व लाखों परिवारों का जीवन बाढ़ व जलभ्राव की समस्या से काफी बेहाल व अति-संकटग्रस्त है, जिससे निजात दिलाने व राहत पहुंचाने के मामले में सरकारी उदासीनता की शिकायत आम है। सरकार तत्काल ध्यान दे तो बेहतर होगा।

Images/02-10-2019124555Mayawatisbig1.jpg

मायावती ने कहा कि साथ ही बाढ़ से पूर्वांचल में खेती-किसानी भी काफी ज्यादा प्रभावित हुई है, जिसपर केन्द्र व राज्य सरकार दोनों को फौरन पूरा ध्यान देने की जरूरत है, वरना गरीबी व बेरोजगारी आदि की गंभीर समस्या से जुझ रहे इस क्षेत्र के करोड़ों लोगों का जीवन और भी ज्यादा दरिद्र व संकटग्रस्त बन जाएगा।

बसपा सुप्रीमो ने यह भी कहा कि अतः व्यापक जनहित व जनकल्याण में क्या यह उचित नहीं होगा कि गाँधी जयन्ती को धूमधाम के बजाए पूरी सादगी व संजीदगी से मनाया जाए तथा जयन्ती के विभिन्न कार्यक्रमों पर होने वाले सरकारी व गैर-सरकारी धनों को बचाकर उन्हें अति-जरूरतमन्द लाखों बाढ़ पीड़ितों की राहत पर खर्च किया जाए।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
पटना में बाढ़: पत्रकारों के सवाल पर भड़के नीतीश, कहा- आप लोगों की कोई जरूरत नहींhttps://www.newstimes.co.in/news/82096/भारत/बिहार/पटना/Flood-in-Patna:-Nitish-Kumar-angry-over-asking-questions-of-journalists902516Wed, 02 Oct 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/02-10-2019121223FloodinPatna1.PNG' alt='Images/02-10-2019121223FloodinPatna1.PNG' />भारी बारिश के बाद बिहार की राजधानी पटना में आयी बाढ़ और जलजमाव ने लोगों के जीवन को अस्त-व्यस्त कर दिया है। लोगों को कई प्रकार की मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। इस समस्या ने प्रदेश की नीतीश सरकार के सुशासन के दावों की पोल खोल रख दी है।

पटना में बाढ़: पत्रकारों के सवाल पर भड़के नीतीश, कहा- आप लोगों की कोई जरूरत नहीं

Patna. भारी बारिश के बाद बिहार की राजधानी पटना में आयी बाढ़ और जलजमाव ने जनजीवन को अस्त-व्यस्त कर दिया है। लोगों को कई प्रकार की मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। इस समस्या ने प्रदेश की नीतीश सरकार के सुशासन के दावों की पोल खोलकर रख दी है। वहीं, जब सीएम नीतीश कुमार से इसको लेकर सवाल किया गया तो वह उल्टा पत्रकारों पर भड़क गए। 

Images/02-10-2019121223FloodinPatna1.PNG

दरअसल, सीएम नीतीश कुमार मंगलवार देर रात को पटना में आई बाढ़ और जलजमाव की स्थिति का जाजया लेने सड़कों पर उतरे। इस दौरान सीएम ने पटना के उन इलाकों का जायजा लिया जहां बारिश बंद होने के बावजूद पानी नहीं निकल रहा है। सीएम नीतीश सबसे पहले पटना के एसकेएम हॉल पहुंचे और राहत सामग्री वितरण केंद्र की व्यवस्था का जायज़ा लिया।

इसके बाद भिखना पहाड़ी स्थित सम्प हाउस जायज़ा लेने पहुंचे और सीएम ने अधिकारियों को निर्देश भी दिया। इस दौरान नीतीश ने बाढ़ पीड़ितों से बातचीत की और उन्हें आश्वासन दिया कि जल्द से जल्द हालात सामान्य होंगे। वहीं, स्थानीय लोग नीतीश कुमार से पानी वाले इलाके में चलने का आग्रह भी कर रहे थे, लेकिन नीतीश कुछ देर तक जायजा लेने के बाद वापस लौट गए। इसको लेकर उन्हें लोगों के आक्रोश का सामना करना पड़ा। 

यह भी पढ़ें:-...डिप्टी सीएम के बाद अब प्रसिद्ध लोक गायिका फंसी बाढ़ में, रेस्क्यू के बाद छलका दर्द

कई जगहों पर लोग सीएम के न आने की बात से खासे नाराज थे और सरकार के खिलाफ लगातार नारेबाजी कर रहे थे। इस दौरान पत्रकारों ने नीतीश से सवाल किया तो वह भड़क गए। नीतीश कुमार ने कहा कि मैं पूछ रहा हूं कि देश और दुनिया के कितने हिस्सों में बाढ़ आई है? क्या पटना के कुछ हिस्सों में पानी ही एकमात्र समस्या है? क्या हुआ अमेरिका में?' नीतीश ने यहां तक कह दिया कि आप लोगों की कोई जरूरत नहीं है। आपलोगों को जनजागृति के लिए भी काम करना चाहिए। 

बता दें कि पटना में आयी बाढ़ और जलजमाव से आम जनता ही नहीं नामी-गिरामी लोग भी परेशान हैं। स्थिति का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि पिछले दिनों बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी और उनके परिवार को रेस्क्यू कर उनके आवास से निकाला गया था। वहीं, अपने घर में फंसी मशहूर लोक गायिका शारदा सिन्हा को 18 घंटे बाद रेस्क्यू कर निकाला गया। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
भाजपा विशेष सत्र का रच रही है ढोंग, शामिल नहीं होंगे कांग्रेस विधायक: अजय कुमार लल्लूhttps://www.newstimes.co.in/news/82090/भारत/उत्तर-प्रदेश-/bhajapa-ke-vishesh-satra-me-shamil-nahi-honge-congress-vidhyak-902510Wed, 02 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/02-10-2019105532bhajapakevis1.jpg' alt='Images/02-10-2019105532bhajapakevis1.jpg' />कांग्रेस विधायक दल के नेता अजय कुमार लल्लू ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती को पूरे प्रदेश में कांग्रेस पार्टी बड़ी धूमधाम से मनायेगी। उत्तर प्रदेश विधानसभा के विशेष सत्र का बहिष्कार करते हुए उन्होने कहा कि आखिर योगी आदित्यनाथ की सरकार सदन में किस बात की दुहाई देगी? प्रदेश में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा तोड़ी जा रही है। बापू के हत्यारे के मंदिर बनाये जा रहे हैं, उसे शहीद बताया जा रहा है। भाजपा एक ढोंग रच रही है जिसमें हमारे विधायक शामिल नहीं होंगे। लल्लू ने कहा कि बापू ने कहा था कि जब तक देश के कतार के आखिरी आदमी के भी आंखों में आंसू रहेगा तब तक हमारा उद्देश्य पूरा नहीं होगा। लेकिन भाजपा के शासन में सब रो रहे हैं। किसान विरोधी नीतियों की मार खा रहे हैं। नौजवानों को रेाजगार नहीं है, मुख्यमंत्री नौजवानों की योग्यता पर तंज कसते हैं। महिला सुरक्षा का हाल तो पूरे देश ने उन्नाव से लेकर शाहजहांपुर तक देखा ही है कि पूरी भाजपा बलात्कारियों के साथ खड़ी है।

भाजपा विशेष सत्र का रच रही है ढोंग, शामिल नहीं होंगे कांग्रेस विधायक: अजय कुमार लल्लू

लखनऊ। कांग्रेस विधायक दल के नेता अजय कुमार लल्लू ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती को पूरे प्रदेश में कांग्रेस पार्टी बड़ी धूमधाम से मनायेगी। उत्तर प्रदेश विधानसभा के विशेष सत्र का बहिष्कार करते हुए उन्होने कहा कि आखिर योगी आदित्यनाथ की सरकार सदन में किस बात की दुहाई देगी? प्रदेश में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा तोड़ी जा रही है। बापू के हत्यारे के मंदिर बनाये जा रहे हैं, उसे शहीद बताया जा रहा है। भाजपा एक ढोंग रच रही है जिसमें हमारे विधायक शामिल नहीं होंगे।

Images/02-10-2019105532bhajapakevis1.jpg

यह भी पढ़ें... गांधी जयंती की पूर्व संध्या पर बच्चों ने मेट्रो के साथ ऐसे दिया स्वच्छता का सन्देश

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
इगलास विधानसभा सीट से रालोद प्रत्याशी का नामांकन रद्दhttps://www.newstimes.co.in/news/82089/भारत/उत्तर-प्रदेश-/eglash-vidhansabha-seat-se-radd-hua-ralaud-ka-namankan-902509Wed, 02 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/02-10-2019104825eglashvidhans1.jpg' alt='Images/02-10-2019104825eglashvidhans1.jpg' />जनपद अलीगढ़ की इगलास विधानसभा से राष्ट्रीय लोकदल की प्रत्याशी सुमन दिवाकर का नामांकन मंगलवार को निरस्त हो गया है। चुनाव अधिकारी के मुताबिक, सुमन दिवाकर निर्धारित समय में अपना जाति प्रमाण पत्र और फॉर्म-बी जमा नहीं कर पाईं, इसलिए उनका नामांकन पत्र रद्द कर दिया गया। उधर इस संबंध में दिवाकर ने बताया कि वह चुनाव कार्यालय में सोमवार को ढाई बजे अपने सभी कागाजों के साथ पहुंच गई थीं, लेकिन उन्हें अंदर जाने नहीं दिया गया और बाहर इंतजार करने को कहा गया। उन्होंने कहा कि संदेह होने पर वह दो बजकर पचास मिनट पर कार्यालय के अंदर पहुंच गई थीं, जबकि नामांकन का समय तीन बजे का था। दिवाकर ने कहा कि उनके साथ जो व्यक्ति फॉर्म-बी लिए हुए मौजूद था, उसे साजिशन तीन बजे तक कार्यालय में नहीं घुसने दिया गया। उनका नामांकन न होने पाए, इसके लिए सजिश रची गई थी।

इगलास विधानसभा सीट से रालोद प्रत्याशी का नामांकन रद्द

अलीगढ़। जनपद अलीगढ़ की इगलास विधानसभा से राष्ट्रीय लोकदल की प्रत्याशी सुमन दिवाकर का नामांकन मंगलवार को निरस्त हो गया है। चुनाव अधिकारी के मुताबिक, सुमन दिवाकर निर्धारित समय में अपना जाति प्रमाण पत्र और फॉर्म-बी जमा नहीं कर पाईं, इसलिए उनका नामांकन पत्र रद्द कर दिया गया।

Images/02-10-2019104825eglashvidhans1.jpg

यह भी पढ़ें... गांधी जयंती की पूर्व संध्या पर बच्चों ने मेट्रो के साथ ऐसे दिया स्वच्छता का सन्देश

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
राहुल गांधी ने केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन से की मुलाकात,बाढ़ राहत एवं पुनर्वास पर की चर्चाhttps://www.newstimes.co.in/news/82079/भारत/दिल्ली/Rahul-Gandhi-meets-Kerala-Chief-Minister-Pinarayi-Vijayan-discusses-flood-relief-and-rehabilitation902499Tue, 01 Oct 2019 00:00:00 GMTRAGHVENDRA CHAURASIA<img src='http://newstimes.co.in/Images/01-10-2019180628RahulGandhim1.jpg' alt='Images/01-10-2019180628RahulGandhim1.jpg' />.

राहुल गांधी ने केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन से की मुलाकात,बाढ़ राहत एवं पुनर्वास पर की चर्चा

New Delhi. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष व सांसद राहुल गांधी ने केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन से मुलाकात की। इस दौरान राहुल गांधी ने राज्य में बाढ़ राहत एवं पुनर्वास के प्रयासों को लेकर चर्चा की। 

Images/01-10-2019180628RahulGandhim1.jpg

राहुल ने कहा बाढ़ राहत पर की चर्चा 

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने विजयन से मुलाकात करने के बाद राहुल गांधी ने कहा कि हमने बाढ़ राहत और पुनर्वास प्रयासों के मुद्दों पर चर्चा की। इसके अलावा हमने अन्य सामान्य मुद्दों के साथ एनएच-766 के वन खंड पर रात्रि यातायात प्रतिबंध के मुद्दे पर बातचीत की। इसके साथ ही राहुल गांधी ने मीडिया से कहा कि बाढ़ के अलावा अन्य मुद्दों पर चर्चा हुई। केरल के सीएम ने राज्य सरकार बाढ़ग्रस्त लोगों को राहत पहुंचा रही है। 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
इस छोटी सी चूक का खामियाजा चुकाएगी समाजवादी पार्टी https://www.newstimes.co.in/news/82078/भारत/उत्तर-प्रदेश-/ghosi-vidhansabha-se-radd-hua-sapa-ka-namankan-902498Tue, 01 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/01-10-2019175118ghosividhansa1.JPG' alt='Images/01-10-2019175118ghosividhansa1.JPG' />.

इस छोटी सी चूक का खामियाजा चुकाएगी समाजवादी पार्टी

Lucknow. यूपी की 11 सीटों पर होने वाले विधानसभा उपचुनाव से पहले ही समाजवादी पार्टी ने एक सीट गवां दी है। दरअसल घोसी विधानसभा सीट से समाजवादी प्रत्याशी सुधाकर सिंह का पर्दा खारिज हो गया है। नामांकन पत्र के साथ दाखिल किये गये सिंबल पेपर में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का हस्ताक्षर न होने के चलते सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी ने सुधाकर सिंह का नामांकन रद्द कर दिया है। 

Images/01-10-2019175126ghosividhansa2.jpgImages/01-10-2019175118ghosividhansa1.JPG

यह भी पढ़ें... गांधी जयंती की पूर्व संध्या पर बच्चों ने मेट्रो के साथ ऐसे दिया स्वच्छता का सन्देश

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
कांग्रेस को लगा दोहरा झटका, पूर्व सहकारिता मंत्री और पूर्व राज्यसभा सांसद ने...https://www.newstimes.co.in/news/82073/भारत/हरियाणा/congress-ko-bada-jhatka902493Tue, 01 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/01-10-2019170614congresskoba2.JPG' alt='Images/01-10-2019170614congresskoba2.JPG' />.

कांग्रेस को लगा दोहरा झटका, पूर्व सहकारिता मंत्री और पूर्व राज्यसभा सांसद ने...

Lucknow. दिल्ली में पूर्व सहकारिता मंत्री सतपाल सांगवान और पूर्व राज्यसभा सांसद ईश्वर सिंह ने कांग्रेस को अलविदा कहते हुए जजपा(JJP) ज्वाइन कर ली। सतपाल सांगवान और ईश्वरसिंह ने दिल्ली में दुष्यंत चौटाला की मौजूदगी में जजपा की सदस्यता ली। ईश्वर सिंह के अनुसार दुष्यंत चौटाला के व्यक्तित्व की वजह से ही उन्होंने जजपा की सदस्यता ग्रहण की है। 

Images/01-10-2019170544congresskoba1.jpgImages/01-10-2019170614congresskoba2.JPG

यह भी पढ़ें... गांधी जयंती की पूर्व संध्या पर बच्चों ने मेट्रो के साथ ऐसे दिया स्वच्छता का सन्देश

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
गांधी जयंती की पूर्व संध्या पर बच्चों ने मेट्रो के साथ ऐसे दिया स्वच्छता का सन्देश https://www.newstimes.co.in/news/82072/भारत/उत्तर-प्रदेश-/bccho-ne-metro-ke-sath-diya-swachta-ka-sandesh902492Tue, 01 Oct 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/01-10-2019163508bcchonemetro2.jpeg' alt='Images/01-10-2019163508bcchonemetro2.jpeg' /> हज़रतगंज मेट्रो स्टेशन पर करियर अकैडमी मोती झील ऐशबाग के बच्चो ने 150वीं गाँधी जयंती की पूर्व संध्या पर एक कार्यक्रम में भाग लिया। बच्चों ने स्वच्छता और सफाई पर आधारित स्लोगन अपने हाथों में लेकर ट्रेन में लोगों को स्वच्छता का सन्देश दिया।  बच्चों ने हजरतगंज से सीसीएस मेट्रो स्टेशन व वापसी तक का सफ़र किया जिसमे उन्होंने यात्रियों को गांधीजी के जीवन से जुडी बातें बताई। बच्चे महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू और कस्तूरबा गांधी के किरदारों में नज़र आये और सफ़र के दौरान बच्चों ने मनोरंजन भी किया। सहयात्रियों ने भी बच्चों के स्वच्छता सन्देश को सराहा और कहा कि “आज हमारे लिए स्वच्छता बहुत महत्वपूर्ण  व सोच का विषय बन गया है।  जिससे हम एक स्वच्छ समाज और स्वस्थ जीवन का निर्माण कर सकते हैं। 

गांधी जयंती की पूर्व संध्या पर बच्चों ने मेट्रो के साथ ऐसे दिया स्वच्छता का सन्देश 

Lucknow.  राजधानी के हज़रतगंज मेट्रो स्टेशन पर करियर अकैडमी मोती झील ऐशबाग के बच्चो ने 150वीं गाँधी जयंती की पूर्व संध्या पर एक कार्यक्रम में भाग लिया। बच्चों ने स्वच्छता और सफाई पर आधारित स्लोगन अपने हाथों में लेकर ट्रेन में लोगों को स्वच्छता का सन्देश दिया। 

Images/01-10-2019163450bcchonemetro1.jpeg

बच्चों ने हजरतगंज से सीसीएस मेट्रो स्टेशन व वापसी तक का सफ़र किया जिसमे उन्होंने यात्रियों को गांधीजी के जीवन से जुडी बातें बताई। बच्चे महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू और कस्तूरबा गांधी के किरदारों में नज़र आये और सफ़र के दौरान बच्चों ने मनोरंजन भी किया। सहयात्रियों ने भी बच्चों के स्वच्छता सन्देश को सराहा और कहा कि “आज हमारे लिए स्वच्छता बहुत महत्वपूर्ण  व सोच का विषय बन गया है।  जिससे हम एक स्वच्छ समाज और स्वस्थ जीवन का निर्माण कर सकते हैं। 

Images/01-10-2019163508bcchonemetro2.jpeg

करियर अकैडमी के अध्यापक डॉ शहज़ाद ने भी लोगों से ये अपील करी कि हमें पॉलिथीन का उपयोग नहीं करना चाहिए और पानी की बचत, ऊर्जा का संरक्षण पर भी ध्यान देना चाहिए। इसके साथ ही सभी बच्चो ने इस मौके पर देश भक्ति के गीत गाए और हजरतगंज मेट्रो स्टेशन पर लोगो को साफ़ सफाई के सन्देश दिये। यात्री भी बच्चो के इन अवतार में देख व सन्देश से काफी अभिभूत दिखे।

यह भी पढ़ें... विद्या भारती द्वारा आयोजित राज्यस्तरीय प्रतियोगिता के विजेता हुए सम्मानित

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
स्मृति ईरानी ने दुनिया के सबसे ऊंचे चरखे का किया उद्घाटनhttps://www.newstimes.co.in/news/82071/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Smriti-Irani-inaugurated-worlds-tallest-spinning-wheel902491Tue, 01 Oct 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/01-10-2019162419SmritiIranii1.PNG' alt='Images/01-10-2019162419SmritiIranii1.PNG' />राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती से एक दिन पहले केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने मंगलवार को दुनिया के सबसे बड़े चरखे का उद्घाटन किया। नोएडा अथॉरिटी की ओर से यह सबसे ऊंचा चरखा अपशिष्ट प्लास्टिक से किया गया। इस मौके पर स्मृति ईरानी ने कहा कि अथॉरिटी ने अपशिष्ट प्लास्टिक से अब तक और राष्ट्र का सबसे बड़ा चरखा बनाया है, जो बापू के संकल्पों को समर्पित है।

स्मृति ईरानी ने दुनिया के सबसे ऊंचे चरखे का किया उद्घाटन

Noida. राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती से एक दिन पहले केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने मंगलवार को दुनिया के सबसे बड़े चरखे का उद्घाटन किया। नोएडा अथॉरिटी की ओर से यह सबसे ऊंचा चरखा अपशिष्ट प्लास्टिक से तैयार किया गया। इस मौके पर स्मृति ईरानी ने कहा कि अथॉरिटी ने अपशिष्ट प्लास्टिक से अब तक और राष्ट्र का सबसे बड़ा चरखा बनाया है, जो बापू के संकल्पों को समर्पित है।

Images/01-10-2019162419SmritiIranii1.PNG

बताया जा रहा है कि नोएडा अथॉरिटी ने अपशिष्ट प्लास्टिक श्रमदान करके एक मुहिम चलाई थी। इसके तहत शहर के लोगों से अपशिष्ट प्लास्टिक अथॉरिटी को दान करने के लिए कहा गया था। जिसमें 1700 किलोग्राम के करीब अपशिष्ट प्लास्टिक इकट्ठा हुआ। जिससे इस चरखे का निर्माण किया गया। इसमें अपशिष्ट प्लास्टिक जैसे चम्मच, कोल्ड ड्रिंक पीने वाली स्ट्रा का इस्तेमाल किया है। हालांकि, इसे दूर से देखने पर लकड़ी या पत्थर से बना हुआ प्रतीत होता है।

यह भी पढ़ें:-...गांधी जयंती पर बनेगा वर्ल्ड रिकॉर्ड, वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स की टीमें पहुंची लखनऊ

बता दें कि  इस ऊंचे चरखे को बनाने में 1650 किलोग्राम अपशिष्ट प्लास्टिक का इस्तेमाल किया गया है। जोकि चरखे की 14 फीट ऊंचा, 20 फीट लंबा और 8 फीट चौड़ा है। नोएडा अथॉरिटी की ओर से दावा किया गया है कि यह दुनिया का सबसे बड़ा अपशिष्ट प्लास्टिक चरखा है। साथ अथॉरिटी ने इसका नाम इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड, एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड, गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज कराने क्ले लिए आवेदन किया है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
जम्मू कश्मीर से लौटे गुलाम नबी आजाद ने तोड़ी चुप्पी, बोले...सब कुछ ठीक नहींhttps://www.newstimes.co.in/news/82053/भारत/उत्तर-प्रदेश-/jammu-kasmir-se-laute-gulam-nabi-azad902473Tue, 01 Oct 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/01-10-2019115935jammukasmirs1.jpg' alt='Images/01-10-2019115935jammukasmirs1.jpg' />जम्मू कश्मीर से विशेष दर्जा खत्म होने के बाद पहली बार जम्मू कश्मीर दौरे पर गए कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने वापस आते ही चुप्पी तोड़ी। उन्होंने कहा कि राज्य में सब कुछ ठीक नहीं है, कारोबार खत्म हो गया है, लोग भुखमरी की कगार पर पहुंच गए हैं। 

जम्मू कश्मीर से लौटे गुलाम नबी आजाद ने तोड़ी चुप्पी, बोले...सब कुछ ठीक नहीं

New Delhi. जम्मू कश्मीर से विशेष दर्जा खत्म होने के बाद पहली बार जम्मू कश्मीर दौरे पर गए कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने वापस आते ही चुप्पी तोड़ी। उन्होंने कहा कि राज्य में सब कुछ ठीक नहीं है, कारोबार खत्म हो गया है, लोग भुखमरी की कगार पर पहुंच गए हैं। 

Images/01-10-2019115935jammukasmirs1.jpg

जम्मू और कश्मीर से छह दिनों का दौरा करने के बाद कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद दिल्ली वापस लौट आए हैं। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर में सब कुछ ठीक नहीं हैं, वहां लोग भुखमरी की कगार पर हैं। उन्होंने कहा कि मजदूरों को राशन मुहैया कराया जाए और गिरफ्तार किये गये नेताओं को रिहा किया जाए। उन्होंने ये भी कहा कि नए सिरे से परिसीमन के बाद वहां ब्लाॅक स्तरीय चुनाव कराए जाएं।

कारोबार हो गया चौपट

गुलाम नबी आजाद ने कहा कि कश्मीर की अर्थव्यवस्था पर्यटन और फलों के कारोबार पर निर्भर हैं, लेकिन वहां सब चौपट हो गया है। इसे लेकर वहां के लोग सविनय अवज्ञा आंदोलन के रास्ते पर चल रहे हैं, उनकी यह मुहिम अपने ही खिलाफ है। उनका कहना है कि कोई कारोबारी गतिविधि में भाग नहीं लेंगे और भूखे रहेंगे। 

सेना और सीआरपीएफ के खिलाफ कोई शिकायत नहीं

गुलाम नबी आजाद ने कहा कि जम्मू कश्मीर के लोगों को सेना और सीआरपीएफ के खिलाफ कोई शिकायत नहीं हैं, लेकिन स्थानीय प्रशासन के खिलाफ उनकी शिकायत है। उन्होंने केन्द्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि स्थानीय प्रशासन के जरिए वह लोगों को परेशान कर रही है। 

इंटरनेट सेवाओं को बहाल किया जाए

कांग्रेस नेता ने कहा कि जम्मू कश्मीर के कर्फ्यू जैसे हालात होने की वजह से गरीब और मजदूर भुखमरी का सामना कर रहे हैं, सरकार को उन्हें छह महीने तक का राशन मुफ्त देना चाहिए। उन्होंने कहा कि इंटरनेट और मोबाइल सेवाओं को बहाल किया, जिससे वहां के लोगों सम्पर्क जुड़ सके। उन्होंने बैंकिंग कर्ज पर ब्याज दर कम की जाए, जिससे कर्ज अदायगी में लोगों को दिक्कतों का सामना करना न पड़े।

यह भी पढ़ें...

शिवपाल का छलका दर्द, कहा- हमने उन्हें नेता माना, सीएम माना लेकिन...

हरियाणा चुनाव: बीजेपी ने 78 सीटों पर उम्मीदवारों का किया ऐलान, इन खिलाड़ियों पर लगाया दांव

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
गांधी जयंती पर योगी सरकार बुलाएगी विधानमंडल का विशेष सत्रhttps://www.newstimes.co.in/news/82052/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Yogi-government-will-call-special-session-of-Legislature-on-150th-Gandhi-Jayanti902472Tue, 01 Oct 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/01-10-2019113653Yogigovernmen2.jpg' alt='Images/01-10-2019113653Yogigovernmen2.jpg' />यूपी की योगी सरकार राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर 2 अक्तूबर को विधानमंडल का विशेष सत्र बुलाएगी। जिसमें प्रदेश के 17 लक्ष्यों को हासिल करने के लिए विधानसभा और विधानपरिषद में चर्चा की जाएगी।

गांधी जयंती पर योगी सरकार बुलाएगी विधानमंडल का विशेष सत्र

Lucknow. यूपी की योगी सरकार राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर 2 अक्तूबर को विधानमंडल का विशेष सत्र बुलाएगी। जिसमें प्रदेश के 17 लक्ष्यों को हासिल करने के लिए विधानसभा और विधानपरिषद में चर्चा की जाएगी। हालांकि यूपी की प्रमुख विपक्षी पार्टी सपा ने इस विशेष सत्र के बहिष्कार का निर्णय लिया है। इस दिन सपा लखनऊ स्थित गांधी प्रतिमा पर प्रदर्शन करेगी।

Images/01-10-2019113653Yogigovernmen2.jpg

जानकारी मुताबिक 2 अक्टूबर को योगी सरकार की ओर से बुलाया गया विधानमंडल का विशेष सत्र सुबह 11 बजे से शुरू होगा। जिसके लगातार 36 घंटे से भी ज्यादा समय तक चलने की उम्मीद है। इस सत्र में सभी विधायकों को अपने क्षेत्र के मुद्दे उठाने का मौका मिलेगा। ऐसा विशेष सत्र किसी राज्य की विधानसभा में पहली बार आहूत किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें:-...चिन्मयानंद केस: छात्रा के समर्थन में आज यूपी की सड़कों पर उतरेगी कांग्रेस

इस ऐतिहासिक सत्र में सदन की कार्यवाही 36 घंटे से भी ज्यादा समय तक सुचारू बनाए रखने के लिए नई व्यवस्थाएं की गई है। बताया जा रहा है कि दोनों सदनों में तीन अलग-अलग शिफ्ट में एमएलए और एलएलसी के ग्रुप बनाए गए है जो 12-12 घंटे तक उनको दिए गए मुद्दों पर सदन में चर्चा करेंगे।

इसके अलावा रात में भी लगातार सदन चल सके इसके लिए विधानभवन में ही सदस्यों के भोजन और सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए गए है। वहीं, विपक्षी दलों ने समस्याओं पर चर्चा के साथ समाधान कराने पर भी जोर देने की बात कही है। वहीं, सपा ने पहले ही इस सत्र से दूरी बना ली है। कांग्रेस और बसपा की तरफ से अभी सदन में शामिल होने या ना होने पर रुख साफ नहीं किया गया है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
विधानसभा चुनाव: मायावती ने फूंका जीत का बिगुल, प्रत्याशियों की सूची जारी कर किया बड़ा ऐलानhttps://www.newstimes.co.in/news/82050/भारत/Assembly-elections-Mayawati-buzzes-announces-list-of-candidates902470Tue, 01 Oct 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/01-10-2019102608Assemblyelect1.jpg' alt='Images/01-10-2019102608Assemblyelect1.jpg' /> हरियाणा में विधानसभा चुनाव को लेकर बसपा सुप्रीमो मायावती ने 41 प्रत्याशियों की सूची जारी करते हुए चुनावी जीत का बिगूल फूंक दिया है। प्रत्याशियों में दो दिग्गज महिलाओं को भी मौका मिला है। वहीं, जारी पहली सूची में 12 प्रत्याशी आरक्षित श्रेणी के हैं। बता दें कि हरियाणा में आगामी 21 अक्टूबर को चुनाव होना है। बसपा के चुनावी जंग का आगाज करते ही बसपा कार्यकर्ताओं में जोश उमड़ पड़ा है।

विधानसभा चुनाव: मायावती ने फूंका जीत का बिगुल, प्रत्याशियों की सूची जारी कर किया बड़ा ऐलान

Lucknow. हरियाणा में विधानसभा चुनाव को लेकर बसपा सुप्रीमो मायावती ने 41 प्रत्याशियों की सूची जारी करते हुए चुनावी जीत का बिगूल फूंक दिया है। प्रत्याशियों में दो दिग्गज महिलाओं को भी मौका मिला है। वहीं, जारी पहली सूची में 12 प्रत्याशी आरक्षित श्रेणी के हैं। बता दें कि हरियाणा में आगामी 21 अक्टूबर को चुनाव होना है। बसपा के चुनावी जंग का आगाज करते ही बसपा कार्यकर्ताओं में जोश उमड़ पड़ा है।

Images/01-10-2019102608Assemblyelect1.jpg

बताते चलें कि मायावती के निर्देश पर बसपा प्रदेश ईकाइ के अध्यक्ष प्रकाश भारती ने प्रत्याशियों की जारी सूची में दो दिग्गज महिलाओं शकुंतला भट्टी और सुनीता ढुल को अपना उम्मीदवार बनाया है। जिनमें क्रमश: शाहबाद (सुरक्षित) और पुंडरी विधानसभा सीट शामिल है। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि प्रत्याशियों की सूचि को यूपी की पूर्व सीएम मायावती ने हरी झंडी दी है। बसपा कार्यकर्ता लगन से जीत के लिए अपने कामों में जमीनी स्तर पर जुट जाएं।

यह भी पढ़ें... उपचुनाव: राजस्थान में बसपा के सुमरथ सिंह बने ...

बता दें कि लोकसभा चुनाव में बसपा ने राज्य की जननायक जनता पार्टी से गठबंधन किया था। लेकिन परिणाम आशा अनुरूप नहीं आने के कारण गठबंधन तोड़ दिया। विधानसभा चुनाव में बसपा अकेले दम पर ही मैदान में उतर रही है। मायावती अकले दम पर चुनाव लड़ने को लेकर पहले ही ऐलान कर चुकी थीं। हरियाणा में कुल 90 सदस्यीय विधानसभा सीटों पर चुना होगा। वहीं,  कुरुक्षेत्र के पूर्व सांसद राजकुमार सैनी के नेतृत्व वाली लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी ने भी 16 सीटों पर प्रत्याशियों की सूची जारी कर दी है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
हरियाणा चुनाव: बीजेपी ने 78 सीटों पर उम्मीदवारों का किया ऐलान, इन खिलाड़ियों पर लगाया दांवhttps://www.newstimes.co.in/news/82039/भारत/हरियाणा/bjp-ne-78-seat-par-utare-candidate902459Mon, 30 Sep 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/30-09-2019174056bjpne78seat4.png' alt='Images/30-09-2019174056bjpne78seat4.png' />हरियाणा में विधानसभा चुनावों को लेकर सभी राजनीतिक दल सक्रिय हो गए हैं। सभी अपनी-अपनी जीत के दावे कर रहे हैं। चुनाव को लेकर राजनीतिक दल अपने-अपने कद्दावर नेताओं को सियासी मैदान में उतार रहे हैं।

हरियाणा चुनाव: बीजेपी ने 78 सीटों पर उम्मीदवारों का किया ऐलान, इन खिलाड़ियों पर लगाया दांव

New Delhi. हरियाणा में विधानसभा चुनावों को लेकर सभी राजनीतिक दल सक्रिय हो गए हैं। सभी अपनी-अपनी जीत के दावे कर रहे हैं। चुनाव को लेकर राजनीतिक दल अपने-अपने कद्दावर नेताओं को सियासी मैदान में उतार रहे हैं। इस बीच सत्ताधारी दल भारतीय जनता पार्टी ने 78 सीटों पर अपने उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है। 

Images/30-09-2019174042bjpne78seat1.JPG

भारतीय जनता पार्टी की ओर से जारी की गई सूची के मुताबिक, मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को करनाल, सुभाष बराला को टोहना और खिलाड़ी योगेश्वर दत्त को बरौदा से मैदान में उतारा है। वहीं, हाॅकी खिलाड़ी सरदार संदीप सिंह को पिहोवा और बबिता फोगाट को भी टिकट दिया है। 

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा सहित कई वरिष्ठ नेताओं के बीच हुई बैठक के बाद हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों को लेकर उम्मीदवारों के नाम तय किए गए थे।

 

Images/30-09-2019174048bjpne78seat2.pngImages/30-09-2019174052bjpne78seat3.pngImages/30-09-2019174056bjpne78seat4.png
© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
विद्या भारती द्वारा आयोजित राज्यस्तरीय प्रतियोगिता के विजेता हुए सम्मानितhttps://www.newstimes.co.in/news/82032/भारत/उत्तर-प्रदेश-/vidhya-bharti-ki-or-se-ayojit-pratiyogita-me-vidhyarthi-hue-samnnit902452Mon, 30 Sep 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/30-09-2019162422vidhyabharti4.jpeg' alt='Images/30-09-2019162422vidhyabharti4.jpeg' />विद्या भारती पूर्वी उप्र द्वारा 26 अगस्त से 29 सितम्बर तक आयोजित स्वच्छता एवं पॉलीथिन उन्मूलन प्रतियोगिता का पुरस्कार वितरण एवं सम्मान सामारोह निराला नगर स्थित सरस्वती शिशु मंदिर में संपन्न हुआ। यह प्रतियोगिता जल, जंगल, जीव और जमीन के प्रति व्यापक जन जागृति और भागीदारी बढ़ाने के उद्देश्‍य से विद्याभारती विद्यालय जिला व प्रांतद्ध पर संचालित की गई थी। पुरस्कार वितरण एवं सम्मान समारोह का आरंभ बच्चो द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों से शुरु हुआ। कार्यक्रम में मुख्य सचिव उप्र राजीव तिवारी, राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार बेसिक शिक्षा डॉ सतीश चन्द्र, गो सेवा आयोग के अध्यक्ष श्यामनंदन सिंह, कुलपति केजीएमयू प्रो एमएलबी भट्ट, प्रो लखनऊ विश्विद्यालय के कुलपति प्रो एस पी सिंह, क्षेत्रीय मंत्री विद्या भारती जय प्रताप सिंह, वरिष्ठ प्रचारक संघ एवं राष्ट्रीय संगठन मंत्री यतिन्द्र शर्मा, क्षेत्रीय संगठन मंत्री विद्या भारती पूर्वी उप्र हेमचंद्र, विधायक माधवेन्द्र प्रताप, विधायक मिल्कीपुर गोरखनाथ बाबा, क्षेत्रीय प्रचार प्रमुख विद्या भारती पूर्वी उप्र सौरभ मिश्रा मौजूद रहें। 

विद्या भारती द्वारा आयोजित राज्यस्तरीय प्रतियोगिता के विजेता हुए सम्मानित

Lucknow. राजधानी में सोमवार को विद्या भारती पूर्वी उप्र द्वारा 26 अगस्त से 29 सितम्बर तक आयोजित स्वच्छता एवं पॉलीथिन उन्मूलन प्रतियोगिता का पुरस्कार वितरण एवं सम्मान सामारोह निराला नगर स्थित सरस्वती शिशु मंदिर में संपन्न हुआ। यह प्रतियोगिता जल, जंगल, जीव और जमीन के प्रति व्यापक जन जागृति और भागीदारी बढ़ाने के उद्देश्‍य से विद्याभारती विद्यालय जिला व प्रांतद्ध पर संचालित की गई थी।

Images/30-09-2019162329vidhyabharti1.jpegImages/30-09-2019162407vidhyabharti3.jpegImages/30-09-2019162422vidhyabharti4.jpeg
© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
उपचुनाव: राजस्थान में मायावती ने चली बड़ी चाल, सुमरथ सिंह करेंगे कमालhttps://www.newstimes.co.in/news/82028/भारत/By-elections:-Mayawati-did-a-big-trick-in-Rajasthan-Sumrath-Singh-will-do-wonders902448Mon, 30 Sep 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/30-09-2019143853By-elections1.jpg' alt='Images/30-09-2019143853By-elections1.jpg' />विधानसभा उपचुनाव में जहां हमीरपुर में बीजेपी लहर चली वहीं छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने बाजी मारी। अब राजस्थान के उपचुनाव की तैयारियां चल रही हैं। इसी बीच बसपा सुप्रीमो ने सुरमथ सिंह को अपना नया प्रदेश अध्यक्ष घोषित किया है।

उपचुनाव: राजस्थान में मायावती ने चली बड़ी चाल, सुमरथ सिंह करेंगे कमाल

Lucknow. विधानसभा उपचुनाव में जहां हमीरपुर में बीजेपी लहर चली वहीं छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने बाजी मारी। अब राजस्थान के उपचुनाव की तैयारियां चल रही हैं। इसी बीच बसपा सुप्रीमो ने सुरमथ सिंह को अपना नया प्रदेश अध्यक्ष घोषित किया है।

Images/30-09-2019143853By-elections1.jpg

दरअसल, राजस्थान में 6 बसपा विधायकों के छोड़कर जाने से और पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा बैठक में हुी उठा-पटक से बसपा सुप्रीमों काफी चिंतित चल रहीं थी। इसी को ध्यान में रखते हुए उन्होंने सुरमथ सिंह को चुना वह पूर्व में भी कुछ महीने के लिए प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं। 

मायावती ने पिछले सप्ताह की प्रदेस कार्यकारिणी को भंग कर दिया था। वहीं नए प्रदेश अध्यक्ष सुमरथ सिंह बिहार और मध्य प्रदेश में बसपा प्रभारी की भूमिका निभा चुके हैं। मुनकाद अली और रामजी गौतम प्रदेश प्रभारी बनाए गए हैं। अब अगले कुछ दिनों में प्रदेश कार्यकारिणी का गठन भी किया जाएगा।

जानकारी के अनुसार, बसपा दो विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में प्रत्याशी उतारने पर विचार कर रही है। इस बारे में सोमवार सुबह तक अधिकारिक निर्णय होगा। सुमरथ सिंह ने बताया कि पंचायत और स्थानीय निकाय चुनाव के लिए तैयारियां शुरू की जा रही है। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
अपर्णा यादव को नजरअंदाज कर आजम पर क्यों मेहरबान हैं अखिलेश यादव?https://www.newstimes.co.in/news/82027/भारत/उत्तर-प्रदेश-/samajwadi-party-ne-aparna-yada-ko-kiya-nazarandaz902447Mon, 30 Sep 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/30-09-2019142416samajwadipart1.JPG' alt='Images/30-09-2019142416samajwadipart1.JPG' />उत्तर प्रदेश के विधानसभा उपचुनावों को विधानसभा चुनाव 2022 के लिए सेमीफाइनल माना जा रहा है। ऐसे में उपचुनावों में जीत को लेकर सभी दल जुटे हुए हैं, लेकिन इस बीच समाजवादी पार्टी ने अध्यक्ष अखिलेश यादव के छोटे भाई प्रतीक यादव की पत्नी अपर्णा यादव का टिकट काट दिया गया

अपर्णा यादव को नजरअंदाज कर आजम पर क्यों मेहरबान हैं अखिलेश यादव?

Lucknow. उत्तर प्रदेश के विधानसभा उपचुनावों (Assembly by-elections) को विधानसभा चुनाव 2022 के लिए सेमीफाइनल माना जा रहा है। ऐसे में उपचुनावों में जीत को लेकर सभी दल जुटे हुए हैं, लेकिन इस बीच समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav )के छोटे भाई प्रतीक यादव (Prateek Yadav) की पत्नी अपर्णा यादव (Aparna Yadav) का टिकट काट दिया गया, इसे लेकर सियासी गलियारों में चर्चा तेज हो गई है। माना जा रहा है कि यूपी के सबसे बड़े समाजवादी कुनबे में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। 

Images/30-09-2019142416samajwadipart1.JPG

उत्तर प्रदेश में 11 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने हैं, इसे लेकर चुनावी बिगुल बज चुका है। समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party )सूबे में अपने खोये जनाधार को वापस पाने के लिए हरसंभव प्रयास में जुटी है, लेकिन अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने अपने भाई की पत्नी अपर्णा यादव (Aparna Yadav) का टिकट काटकर उन्हें नजरअंदाज कर दिया है, जबकि आजम खान (Azam Khan) की पत्नी तंजीम फातिमा (Tanjeen Fatma) को टिकट देकर रामपुर का किला बचाने में जुटे हैं। ऐसे में सवाल उठना लाजिमी है कि क्या मुलायम कुनबे में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। 

  अपर्णा यादव को ही माना जा रहा था दावेदार

समाजवादी पार्टी ने सूबे में उपचुनावों को लेकर प्रत्याशियों का ऐलान कर दिया है, लेकिन लखनऊ की कैंट सीट से विधानसभा चुनाव 2017 में चुनाव लड़ने वाली अपर्णा यादव का टिकट दिया है। बता दें कि 2017 के चुनाव में मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav )खुद अपर्णा के लिए प्रचार करने उतरे थे, लेकिन बीजेपी (BJP) की रीता बहुगुणा जोशी ने जीत दर्ज की थी। वहीं, अपर्णा यादव दूसरे नम्बर पर थीं। ऐसे में अपर्णा यादव (Aparna Yadav )को ही उपचुनाव में इस सीट पर दावेदार माना जा रहा था, लेकिन ऐन वक्त पर सपा ने आशीष को मैदान में उतार दिया है। समाजवादी पार्टी के इस फैसले के बाद से एक बार फिर मुलायम परिवार सियासी गलियारों में चर्चा का विषय बना हुआ है।

  अपर्णा हमेशा चाचा शिवपाल को लेकर अपनाती रही हैं नरम रूख

गौरतलब है कि पूर्व सीएम अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) और उनके चाचा शिवपाल यादव (Shivpal Singh Yadav) के बीच विधानसभा चुनाव 2017 से पहले से विवाद चल रहा है। चाचा शिवपाल ने समाजवादी पार्टी छोड़ नई पार्टी का गठन कर लिया था। इस दौरान खबरें सामने आईं थी कि मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) की दूसरी पत्नी साधना शिवपाल का साथ दे रही हैं। वहीं, साधना की बहू अपर्णा हमेशा से अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) को लेकर खुलकर बोलती रही हैं, लेकिन अपने चाचा शिवपाल यादव को लेकर नरम रूख अपनाती रही हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि क्या एक बार फिर से मुलायम परिवार में विवाद छिड़ गया है। 

यह भी पढ़ें...

नए वायुसेना प्रमुख ने कमान संभालते ही पाकिस्तान के पीएम इमरान को लेकर कही ये बड़ी बात

यूपी उपचुनाव: रामपुर से सपा ने आज़म खान की पत्नी पर खेला बड़ा दांव

विधायकी रद्द करने को लेकर सपा का बड़ा फैसला, अर्जी तभी वापस होगी जब शिवपाल मानेंगे ये शर्त

ऐश्वर्या के आरोपों पर राबड़ी देवी ने तोड़ी चुप्पी, बताया आखिर क्यों घर से करना पड़ा बेदखल

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
उपचुनाव: राजस्थान में बसपा के सुमरथ सिंह बने ...https://www.newstimes.co.in/news/82025/भारत/By-election:-Sumrath-Singh-of-BSP-in-Rajasthan-becomes-902445Mon, 30 Sep 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/30-09-2019122416By-electionS1.jpg' alt='Images/30-09-2019122416By-electionS1.jpg' />विधानसभा उपचुनाव में जहां हमीरपुर में बीजेपी लहर चली वहीं छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने बाजी मारी। अब राजस्थान के उपचुनाव की तैयारियां चल रही हैं। इसी बीच बसपा सुप्रीमो ने सुरमथ सिंह को अपना नया प्रदेश अध्यक्ष घोषित किया है।

उपचुनाव: राजस्थान में बसपा के सुमरथ सिंह बने ...

Lucknow. विधानसभा उपचुनाव में जहां हमीरपुर में बीजेपी लहर चली वहीं छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने बाजी मारी। अब राजस्थान के उपचुनाव की तैयारियां चल रही हैं। इसी बीच बसपा सुप्रीमो ने सुमरथ सिंह को अपना नया प्रदेश अध्यक्ष घोषित किया है। दरअसल, राजस्थान में 6 बसपा विधायकों के छोड़कर जाने से और पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा बैठक में हुई उठा-पटक से बसपा सुप्रीमो काफी चिंतित चल रहीं थी। इसी को ध्यान में रखते हुए उन्होंने सुमरथ सिंह को चुना वह पूर्व में भी कुछ महीने के लिए प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं। 

Images/30-09-2019122416By-electionS1.jpg

मायावती ने पिछले सप्ताह की प्रदेश कार्यकारिणी को भंग कर दिया था। वहीं नए प्रदेश अध्यक्ष सुमरथ सिंह बिहार और मध्य प्रदेश में बसपा प्रभारी की भूमिका निभा चुके हैं। मुनकाद अली और रामजी गौतम प्रदेश प्रभारी बनाए गए हैं। अब अगले कुछ दिनों में प्रदेश कार्यकारिणी का गठन भी किया जाएगा। 

जानकारी के अनुसार, बसपा दो विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में प्रत्याशी उतारने पर विचार कर रही है। इस बारे में सोमवार सुबह तक अधिकारिक निर्णय होगा। सुमरथ सिंह ने बताया कि पंचायत और स्थानीय निकाय चुनाव के लिए तैयारियां शुरू की जा रही है। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
कांग्रेस ने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की, इन्हें दिया गया टिकटhttps://www.newstimes.co.in/news/82024/भारत/महाराष्ट्र/-Congress-released-the-first-list-of-candidates902444Mon, 30 Sep 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/30-09-2019120629Congressrelea3.jpg' alt='Images/30-09-2019120629Congressrelea3.jpg' />महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों को लेकर कांग्रेस ने अपने उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी है। कांग्रेस ने पहली सूची में 51 उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है। बता दें कि महाराष्ट्र में कांग्रेस और एनसीपी एक साथ मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं।

कांग्रेस ने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की, इन्हें दिया गया टिकट

New Delhi. महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों को लेकर कांग्रेस ने अपने उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी है। कांग्रेस ने पहली सूची में 51 उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है। बता दें कि महाराष्ट्र में कांग्रेस और एनसीपी एक साथ मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं। दोनों दल दोनों पार्टियां 125-125 सीटों पर चुनाव लड़ रही हैं और शेष 38 सीटों पर अन्य सहयोगी दल चुनाव मैदान में हैं। 

Images/30-09-2019120614Congressrelea1.JPG

कांग्रेस ने महाराष्ट्र में विधानसभा चुनावों को लेकर 51 उम्मीदवारों की सूची जारी की है। इस सूची में पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चाव्हाण का भी नाम शामिल है, उन्हें भोकर से टिकट दिया गया है। वहीं, पूर्व गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे की बेटी परिणीति शिंदे को सोलापुर सेंट्रल से उतारा है। इसके साथ ही नितिन राउत को नागपुर उत्तर से टिकट दिया है।

बता दें कि कांग्रेस-एनसीपी ने विधानसभा चुनाव 2014 अलग-अलग लड़ा था। इस चुनाव में कांग्रेस ने 42 और एनसीपी ने 41 सीटों पर जीत दर्ज की थी। वहीं, भारतीय जनता पार्टी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी। बीजेपी को 122 सीटें मिलीं थीं। 

 

Images/30-09-2019120625Congressrelea2.jpgImages/30-09-2019120629Congressrelea3.jpg
© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
कांग्रेस ने विधानसभा उपचुनावों के लिए इन पांच राज्यों में प्रत्याशियों का किया ऐलानhttps://www.newstimes.co.in/news/82001/भारत/-Congress-announces-candidates-for-these-five-states-for-assembly-by-elections902421Sun, 29 Sep 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/29-09-2019151017Congressannou1.JPG' alt='Images/29-09-2019151017Congressannou1.JPG' />कांग्रेस ने देश के कई राज्यों में होने वाले विधानसभा उपचुनावों के लिए प्रत्याशियों का ऐलान कर दिया है। प्रत्याशियों के ऐलान से पहले कांग्रेस पार्टी की अहम बैठक में काफी देर माथापच्ची हुई, इसके बाद फैसला किया गया है।

कांग्रेस ने विधानसभा उपचुनावों के लिए इन पांच राज्यों में प्रत्याशियों का किया ऐलान

New Delhi. कांग्रेस ने देश के कई राज्यों में होने वाले विधानसभा उपचुनावों के लिए प्रत्याशियों का ऐलान कर दिया है। प्रत्याशियों के ऐलान से पहले कांग्रेस पार्टी की अहम बैठक में काफी देर माथापच्ची हुई, इसके बाद फैसला किया गया है। बता दें कि चुनाव आयोग ने कई राज्यों में विधानसभा उपुचनावों का ऐलान किया है। इन राज्यों में 23 अक्टूबर को चुनाव होने हैं। 

Images/29-09-2019151017Congressannou1.JPG

कांग्रेस ने हिमाचल प्रदेश, असम, छत्तीसगढ़, केरल और पुडुचेरी में आगामी विधानसभा उपचुनावों के लिए प्रत्याशियों का ऐलान किया है।

पार्टी के महासचिव मुकुल वासनिक ने बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने एक केंद्र शासित सहित चार राज्यों में उम्मीदवारों के नामों पर मुहर लगाई है। उन्होंने कहा कि असम और केरल में चार-चार, हिमाचल प्रदेश में दो, छत्तीसगढ़ और पुडुचेरी से एक-एक उम्मीदवार के नाम पर मुहर लगी हैं।

उन्होंने बताया कि असम के रतनबाड़ी सीट से केशव प्रसाद रजक, जनिया से शमसुल हक, रंगपाड़ा से कार्तिक और सोनारी से सुशील सूरी को उम्मीदवार बनाया है।

केरल के एर्नाकुलम से टीजे विनोद, अरूर से एस उस्मान, कोन्नी से पी. मोहनराजन और वटिटयूरकावू सीट से के. मोहन कुमार, हिमाचल प्रद्रेश के धर्मशाला से विजय चंद्र करन और पच्छाद से गंगू राम मुसाफिर को उम्मीवार बनाया है।

वहीं, छत्तीसगढ़ के चित्रकोट से रामजन बेंजम और पुडुचेरी के कामनगर से जॉन कुमार को उम्मीदवार के तौर पर घोषित किया है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
रामपुर: महिलाओं का दिल जीतने के लिए जया प्रदा ने गाया गाना https://www.newstimes.co.in/news/81997/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/BJP-leader-Jaya-Prada-sang-a-song-on-stage-in-Rampur902417Sun, 29 Sep 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/29-09-2019142129BJPleaderJay1.PNG' alt='Images/29-09-2019142129BJPleaderJay1.PNG' />रामपुर में आज़म खान की कट्टर प्रतिद्वंदी और भाजपा नेता जया प्रदा इन दिनों उपचुनाव के लिए प्रचार में पूरा दमखम लगायीं हुई हैं। इसी कड़ी में शुक्रवार को भाजपा की ओर से आयोजित महिला सम्मेलन को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने मंच से 'मेरी जंग' फिल्म का गीत भी गया। जिसको लेकर कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं।

रामपुर: महिलाओं का दिल जीतने के लिए जया प्रदा ने गाया गाना

Rampur. रामपुर में आज़म खान की कट्टर प्रतिद्वंदी और भाजपा नेता जया प्रदा इन दिनों उपचुनाव के लिए प्रचार में पूरा दमखम लगायीं हुई हैं। इसी कड़ी में शुक्रवार को भाजपा की ओर से आयोजित महिला सम्मेलन को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने मंच से 'मेरी जंग' फिल्म का गीत भी गया। जिसको लेकर कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं।

Images/29-09-2019142129BJPleaderJay1.PNG

जानकारी के मुताबिक भाजपा की ओर से आयोजित महिला सम्मेलन में जया प्रदा मुख्य अतिथि के तौर पर शिरकत करने पहुंची थी। जिसमें उन्होंने गाना गाकर महिला वोटरों का दिल जीतने का प्रयास किया। साथ ही भाजपा नेता ने महिलाओं को उनकी ताकत का एहसास कराया कि महिलाओं के बिना कुछ भी संभव नहीं है।

यह भी पढ़ें:-...रामपुर विधानसभा सीट: आजम खां के गढ़ में इस महिला नेता पर सपा खेलेगी बड़ा दांव

बता दें कि यूपी में 11  विधानसभा सीटों के उपचुनाव के लिए 21 अक्तूबर को मतदान किए जाएंगे। इनमें रामपुर, सहारनपुर की गंगोह, फिरोजाबाद की टूंडला, अलीगढ़ की इगलास, लखनऊ कैंट, बाराबंकी की जैदपुर, चित्रकूट की मानिकपुर, बहराइच की बलहा, प्रतापगढ़, हमीरपुर और अंबेडकरनगर की जलालपुर सीट शामिल है।

]]>