<link>www.newstimes.co.in</link><description> delivers news and information on the latest top stories, Videsh, Desh, Cricket, Entertainment, Business, Life Style, Editors Artical and other related local news</description><copyright>© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved</copyright><language>hi</language><lastBuildDate>20-06-2019 22:56:04</lastBuildDate><item><title>गरीब की जमीन से कब्जा हटाने में लग रहे महीनोंhttps://www.newstimes.co.in/news/78511/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-माल-Months-to-remove-the-occupation-from-the-poor-land898861Thu, 20 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/20-06-2019132110Monthstoremo.jpg' alt='Images/20-06-2019132110Monthstoremo.jpg' /> कोलवा निवासी गीता पत्नी रूपेश की जमीन पर गांव के दबंगों ने कब्जा कर लिया है।

गरीब की जमीन से कब्जा हटाने में लग रहे महीनों

Images/20-06-2019132110Monthstoremo.jpg

LUCKNOW. प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गरीबों को न्याय दिलाने के लिए अधिकारियों को गांव—गांव भेज रहे हैं वहीं अधिकारी हैं कि सुधरने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। थाना क्षेत्र के ग्राम कोलवा निवासी गीता पत्नी रूपेश की जमीन पर गांव के दबंगों ने कब्जा कर लिया है। और उसे धमकाते भी हैं। गीता ने थाने से तहसील तक सभी अधिकारियों से शिकायत की लेकिन किसी ने उसकी फरियाद नहीं सुनी। गीता ने बताया कि वह करीब एक माह से दौड़ रही है परन्तु अधिकारियों ने उसकी समस्या सुनने के बजाय हमेशा टरकाने का काम किया। उसके पास इसके अलावा कमाने खाने का और कोई दूसरा जरिया भी नहीं है। यह बात वह अधिकारियो से बता चुकी है फिर भी अध्किारियों ने उसकी जमीन से अवैध कब्जा हटवाने के लिए कोई कार्रवाई नहीं की।
 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
निलंबित कोटेदार की दुकान निरस्त करने की जिलाधिकारी से मांगhttps://www.newstimes.co.in/news/78507/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-Demand-from-the-Collector-to-cancel-the-suspended-chodar-shop898857Thu, 20 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/20-06-2019115613Demandfromth.jpg' alt='Images/20-06-2019115613Demandfromth.jpg' />विकास खण्ड माल की ग्राम पंचायत ढखवा के कोटेदार जवाहिर की सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान एक साल पहले 14 जून को निलम्बित कर दी गयी

निलंबित कोटेदार की दुकान निरस्त करने की जिलाधिकारी से मांग

                                                                                                                                                                                                   LUCKNOW. विकास खण्ड माल की ग्राम पंचायत ढखवा के कोटेदार जवाहिर की सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान एक साल पहले 14 जून को निलम्बित कर दी गयी थी। उसके बाद आज तक जांच रिपोर्ट नहीं दी गयी जिससे दुकानदार के खिलाफ अगली कार्रवाई नहीं की जा सकी। दुकानदार और आपूर्ति निरीक्षक की साठगांठ से उक्त कोटेदार के खिलाफ एक साल से अगली कार्रवाई नहीं की जा रही है, जिससे गांव वालों को दूसरे गांव जाकर राशन और तेल लाने में काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। बरसात का महीना आने वाला है। ऐसे में दूसरे गांव से राशन लाने में कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। ग्रामीणों की शिकायत पर जिलाधिकारी ने इस मामले में शीघ्र कार्रवाई कराए जाने का आश्वासन दिया है।

Images/20-06-2019115613Demandfromth.jpg

सुरगौला निवासी सीता पत्नी हेमनाथ ने बताया कि उन्होने एक साल में 3 बार आन लाइन कराने के बाद कागज तहसील के आपूर्ति कार्यालय में जमा किया लेकिन आज तक लिस्ट में नाम नहीं आया। औरे न ही राशन कार्ड मिला है।

दिलावर नगर के नफीस ने सीडीओ से शिकायत की कि उनका राशन कार्ड आज तक  नहीं मिला जबकि वह आन लाइन कराने के बाद कागजात जमा कर चुके हैं। इस पर सीडीओ मनीष बंसल ने 24 घंटे में कार्रवाई कर रिपोर्ट तलब की। यह दो मामले नही ऐसे सैकड़ों लोग आपूर्ति कार्यालय के चक्कर लगा रहे हैं।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
यूपी में घिरे बादलों और हल्की बूंदा-बांदी से राहतhttps://www.newstimes.co.in/news/78490/भारत/उत्तर-प्रदेश-/up-me-bunda-bandi-898840Thu, 20 Jun 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/19-06-2019180213upmebundaba1.jpg' alt='Images/19-06-2019180213upmebundaba1.jpg' />उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ तथा आस-पास के जिलों में दिनभर बादल छाने और हल्की बूंदा-बांदी होने के कारण यहां के लोगों को गर्मी से कुछ राहत मिली है। हालांकि मौसम विभाग ने अभी 24 घंटे के दौरान गर्मी का असर कम होने की संभावना जताई है। बुधवार को लखनऊ का न्यूनतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 

यूपी में घिरे बादलों और हल्की बूंदा-बांदी से राहत

Lucknow. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ तथा आस-पास के जिलों में दिनभर बादल छाने और हल्की बूंदा-बांदी होने के कारण यहां के लोगों को गर्मी से कुछ राहत मिली है। हालांकि मौसम विभाग ने अभी 24 घंटे के दौरान गर्मी का असर कम होने की संभावना जताई है। बुधवार को लखनऊ का न्यूनतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 

Images/19-06-2019180213upmebundaba1.jpg

मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार बारिश और आंधी के बावजूद ज्यादातर हिस्सों में लोगों को गर्मी से बहुत ज्यादा राहत मिलने के आसार नहीं हैं। बता दें कि बुधवार को फरूखाबाद का 30 डिग्री सेल्सियस, गोरखपुर का 34 डिग्री, फिरोजाबाद 26 डिग्री, मुजफरनगर का 34 डिग्री सेल्सियस और झांसी का न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
हाईवे किनारे जड़ी बूटियां उगाकर यूपी सरकार सुधारेगी लोगों का स्वास्थ्य https://www.newstimes.co.in/news/78485/भारत/उत्तर-प्रदेश-/UP-government-will-improve-peoples-health-by-growing-herbs-on-the-side-of-highways898835Wed, 19 Jun 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/19-06-2019154743UPgovernment2.jpg' alt='Images/19-06-2019154743UPgovernment2.jpg' />वातावरण को शुद्धता प्रदान करने और आयुर्वेद को बढ़ावा देने के लिए उत्तर प्रदेश में एक अभिनव प्रयोग का श्री गणेश होने जा रहा है। इसके तहत राज्य सरकार प्रदेश से गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्गों और प्रदेश के राजमार्गों के किनारे जड़ी बूटियों की खेती करवाएगी। प्रदूषण और बैक्टीरिया की रोकथाम कर त्वचा संबंधी रोगों पर नियंत्रण के लिए 34 किस्म के औषधीय गुणों वाले पौधे लगाए जाएंगे। 

हाईवे किनारे जड़ी बूटियां उगाकर यूपी सरकार सुधारेगी लोगों का स्वास्थ्य 

Lucknow. वातावरण को शुद्धता प्रदान करने और आयुर्वेद को बढ़ावा देने के लिए उत्तर प्रदेश में एक अभिनव प्रयोग का श्री गणेश होने जा रहा है। इसके तहत राज्य सरकार प्रदेश से गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्गों और प्रदेश के राजमार्गों के किनारे जड़ी बूटियों की खेती करवाएगी। प्रदूषण और बैक्टीरिया की रोकथाम कर त्वचा संबंधी रोगों पर नियंत्रण के लिए 34 किस्म के औषधीय गुणों वाले पौधे लगाए जाएंगे। 

Images/19-06-2019154721UPgovernment1.jpgImages/19-06-2019154743UPgovernment2.jpg

यह भी पढ़े...पहली बार सांसद बने सनी देओल से हुई बड़ी चूक, जा सकती है लोकसभा की सदस्यता

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
गरीब मजदूर की मजदूरी नहीं दिला पा रही मलिहाबाद पुलिसhttps://www.newstimes.co.in/news/78476/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-Malihabad-police-can-not-provide-wages-of-poor-laborers898826Wed, 19 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/19-06-2019123234Malihabadpoli.jpg' alt='Images/19-06-2019123234Malihabadpoli.jpg' />थाना क्षेत्र के ग्राम घुसौली निवासी एक गरीब महिला पति की मजदूरी का पैसा मांगने गयी तो दबंग ने उसके पति को धमकी देते हुए महिला लक्ष्मी को भी भद्दी—भद्दी गालियां

गरीब मजदूर की मजदूरी नहीं दिला पा रही मलिहाबाद पुलिस

Images/19-06-2019123234Malihabadpoli.jpg

MALIHABAD. थाना क्षेत्र के ग्राम घुसौली निवासी एक गरीब महिला पति की मजदूरी का पैसा मांगने गयी तो दबंग ने उसके पति को धमकी देते हुए महिला लक्ष्मी को भी भद्दी—भद्दी गालियां दी । महिला ने जब थाने में शिकायत की तो उसे डांट कर भगा दिया। लक्ष्मी पत्नी रूपेश नाम की महिला द्वारा एस.एस.पी. लखनऊ से शिकायत करने के बाद भी पुलिस पर कोई असर नहीं हुआ। फिर भी कार्रवाई न होने पर उसने सम्पूर्ण समाधान दिवस में प्रार्थना पत्र देकर मजदूरी का पैसा दिलाए जाने की मांग की। ​जिस पर पुलिस ने बुधवार को गांव जाकर समस्या का निराकरण कराने का आश्वासन दिया था। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
प्रत्येक विकास खण्ड की दो पंचायतों को आदर्श पंचायत के रूप में विकसित किया जायhttps://www.newstimes.co.in/news/78460/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Two-panchayats-of-each-development-block-were-developed-as-ideal-panchayats898810Wed, 19 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/19-06-2019081156Twopanchayats.jpg' alt='Images/19-06-2019081156Twopanchayats.jpg' />प्रत्येक ब्लाक में दो पंचायतों को आदर्श बनाया जाएगा

प्रत्येक विकास खण्ड की दो पंचायतों को आदर्श पंचायत के रूप में विकसित किया जाय

Images/19-06-2019081156Twopanchayats.jpg

LUCKNOW. प्रत्येक ब्लाक में दो पंचायतों को आदर्श बनाया जाएगा। अपर मुख्य सचिव आलोक सिन्हा ने कहा कि प्रत्येक विकास खण्ड की दो ग्राम पंचायतों को आदर्श ग्राम पंचायत बनाया जाय। जहां आदर्श तालाब, पौध रोपण, साफ सफाई,सड़क आदि के साथ शाम को टहलने और बैठने की व्यवस्था हो। इसके लिए गांव के लोगों को भी जागरूक कर जिम्मेदार बनाया जाय। निरीक्षण के दौरान डीडीओ डी.के. दोहरे ने बताया कि मलिहाबाद में 15 तालाबों का चयन आदर्श जलाशय के रूप में किया गया है। जिनमें से 10 तालाबों का कार्य पूरा होने वाला है। श्री सिन्हा ने कहा कि तालाबों की खुदाई बरसात से पहले हर हाल में कर ली जाय।
 

स्वयं सहायता समूहों के उत्पादों के लिए बाजार तलाशें 
स्वयं सहायता समूहों द्वारा तैयार किए जाने वाले माल की बाजार न होने के कारण समूह की महिलाओं की प्रगति कैसे सम्भव है। इसलिए इसकी व्यवस्था कराने का प्रयास करें। जिससे इन गरीब महिलाओं को लाभ हो सके। यह निर्देश मंगलवार को कसमंडी खुर्द में आयोजित स्वयं सहायता समूहों के स्टालों का अवलोकन करने के बाद अपर मुख्य सचिव आलोक सिन्हा ने  जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा और सीडीओ मनीष बंसल को दिये।

 

अधिकारियों ने समूहों से उत्पाद खरीदे
इससे पहले श्री सिन्हा सहित तीनों अधिकारियों ने समूह की महिलाओं से उनके आकर्षक जूट से बने बैग और पर्स खरीदे। दूसरे समूह से अचार खरीदा। महिलाओं द्वारा यह बताने पर कि उनके उत्पाद को फूड इंस्पेक्टर बाजार में बेचने से मना करते हैं। इस पर श्री सिन्हा ने कहा कि जिस प्लास्टिक के डिब्बे में यह पैकिंग है उसे चेक करा लें कि यह फूड ग्रेड है या नहीं। इसके अलावा जरूरी लाइसेन्स ले लें जिससे उत्पाद की गुणवत्ता पर किसी प्रकार का प्रभाव न हो। इसमें कोई समझौता नहीं किया जा सकता। इसी स्कूल की आंगनबाड़ी में बच्चों की संख्या पूछी और स्कूल के स्मार्ट क्लासों को देखा। 

 

आंगनबाड़ी का भी अवलोकन किया
तत्पश्चात इसी गांव के मजरे मधवापुर में आंगनबाड़ी केन्द्र देखा जहां आसनी को चौथे बच्चे के लिए अन्न प्रासन कराया गया। यही पर उपस्थित स्वेता से पूंछा कितने बच्चे हैं उसने दो बच्चियां बताई तो तीसरा क्यों चाहती हैं पूछने पर कहा कि एक लड़का चाहते हैं। इस पर डीएम ने कहा कि यदि फिर लड़की हुई तो चौथा भी चाहेंगी। तो कहा कि फिर नहीं। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
जनता की समस्याओं का गुणवत्तापरक तरीके से निस्तारण हो— आलोक सिन्हाhttps://www.newstimes.co.in/news/78459/भारत/उत्तर-प्रदेश-/-Public-problems-should-be-disposed-of-in-the-best-manner---Alok-Sinha898809Wed, 19 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/18-06-2019231342Publicproblem1.jpg' alt='Images/18-06-2019231342Publicproblem1.jpg' />तहसील के सभी प्रार्थना पत्रों का गुणवत्तापरक तरीके से निस्तारण करायें।

जनता की समस्याओं का गुणवत्तापरक तरीके से निस्तारण हो— आलोक सिन्हा

Images/18-06-2019230944Publicproblem.jpg

LUCKNOW. अरसे बाद तहसील में आयोजित होने वाले सम्पूर्ण समाधान दिवस की अध्यक्षता शासन के अपर मुख्य सचिव आलोक सिन्हा ने ​की। वहीं उनके साथ कमिश्नर और डीआईजी,एसएसपी,डीएम,सीडीओ को देखकर जहां जनता अचम्भे में थी वहीं उसको समस्याओं के समाधान दिवस की आस भी जगी थी। क्योंकि कुछ ही देर बाद जाते समय श्री सिन्हा ने कौशलराज शर्मा से कहा कि अच्छा और सही काम करते हुए उन कामों पर नजर रखिए, मैं फिर आउॅगा। इससे पहले कमिश्नर अनिल गर्ग, डीआईजी एस.के. भगत, एस.एस.पी. कलानिधि नैथानी के साथ सभी अधिकारियों ने भंडारे में जनता को प्रसाद वितरण की औपचारिकता निभाई।

Images/18-06-2019231342Publicproblem1.jpg

श्री सिन्हा ने डीएम से कहा​ कि तहसील के सभी प्रार्थना पत्रों का गुणवत्तापरक तरीके से निस्तारण करायें। इससे पहले कसमंडी खुर्द गांव के स्कूल में लगाई गई प्रदर्शनी व स्टालों का निरीक्षण किया। 
 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
मुख्य मार्ग पर चूने के किनारे कूड़े का ढेर लगे होने पर डीएम नाराजhttps://www.newstimes.co.in/news/78458/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-मलिहाबाद--DM-angry-at-the-lime-on-the-main-road-when-there-is-a-pile-of-litter898808Wed, 19 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/18-06-2019224249DMangryatth1.jpg' alt='Images/18-06-2019224249DMangryatth1.jpg' />जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा के विकास खण्ड कार्यालय पहुंचते ही अधिकारियों को डांट पड़नी शुरू हो गयी। क्योंकि अपर मुख्य सचिव के आने से पहले पहुंचे डीएम ने हरदोई रोड मोड़ पर चूने के किनारे कूड़े का ढेर देखकर वहां उपस्थित अधिकारियों और कर्मचारियों पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि चूना डाल दिया और कूड़े का ढेर नहीं हटा।

मुख्य मार्ग पर चूने के किनारे कूड़े का ढेर लगे होने पर डीएम नाराज

Images/18-06-2019223906DMangryatth.jpg

LUCKNOW. जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा के विकास खण्ड कार्यालय पहुंचते ही अधिकारियों को डांट पड़नी शुरू हो गयी। क्योंकि अपर मुख्य सचिव के आने से पहले पहुंचे डीएम ने हरदोई रोड मोड़ पर चूने के किनारे कूड़े का ढेर देखकर वहां उपस्थित अधिकारियों और कर्मचारियों पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि चूना डाल दिया और कूड़े का ढेर नहीं हटा। इसके बाद पशु चिकित्सालय की पुरानी इमारत पर जंगल खड़े होेने पर पूछा ऐसा क्यों है तो उसे जर्जर बताने पर उसे नष्ट करने की फाइल तलब कर ली। जो लोक निर्माण विभाग के पास बताई गयी। इसी के साथ अपर मुख्य सचिव आलोक सिन्हा भी कार्यालय पहुंच गये। पहुंचते ही सभी कमरों का निरीक्षण किया। जहां मामूली कमियों पर सुधारने के निर्देश दिये। कार्यालय कक्ष में समीक्षा करते हुए एक आदर्श जलाशय की रिपोर्ट तलब की। और बाकी मौके पर कुछ भी नहीं देखा। 

Images/18-06-2019224249DMangryatth1.jpg

सीएचसी में खाली पड़े डेंगू वार्ड के बेडो पर दूसरे मरीज रखने का निर्देश
विकास खण्ड के बाद सीएचसी पहुंचे श्री सिन्हा ने डेंगू वार्ड के खाली पड़े होने पर पूछा कि इसमें दूसरे मरीज क्यों नहीं सिफ्ट करते हैं। इसके अलावा वार्ड बढ़ाने या और बेडों की आवश्यकता पूछी। जिस अधीक्षक ने इन्कार कर दिया। इसके बाद डिलीवरी की संख्या और आयुष्मान भारत की प्रगति पूछी, जिसके जवाब में बताया गया कि 450 सामान्य और 14 बड़े आपरेशन से प्रसव हुए हैं। 26 लाभार्थी आयुष्मान भारत के आ चुके हैं जिनमें से 19 का एक—एक लाख के लगभग भुगतान भी हो चुका है। इस योजना के लाभार्थियों के कार्ड वितरण ​की स्थिति और आच्छादित परिवारों की संख्या के अलावा स्टाफ की जानकारी ली। दवाओं की स्थिति भी पूछी। ​पैरासीटामाल को छोड़कर सभी दवाएं पर्याप्त बताई गयीं। 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
महिलाओं से जुड़ी समस्याओं के समाधान के लिए शिक्षा जरूरी : अनुपमा जायसवालhttps://www.newstimes.co.in/news/78457/भारत/उत्तर-प्रदेश-/-Anupama-Jaiswal-says-Education-needed-to-solve-problems-related-to-women898807Tue, 18 Jun 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/18-06-2019211116AnupamaJaiswa1.JPG' alt='Images/18-06-2019211116AnupamaJaiswa1.JPG' />नारी के बिना न तो सृष्टि की रचना हो सकती है और न ही सृष्टि आगे गतिमान हो सकती है। नारी माता के रूप में सबसे बड़ी गुरू, पत्नी के रूप में सबसे घनिष्ट मित्र और बहन के रूप में पूजनीय एवं सम्मानीय है।

महिलाओं से जुड़ी समस्याओं के समाधान के लिए शिक्षा जरूरी : अनुपमा जायसवाल

Lucknow. नारी के बिना न तो सृष्टि की रचना हो सकती है और न ही सृष्टि आगे गतिमान हो सकती है। नारी माता के रूप में सबसे बड़ी गुरू, पत्नी के रूप में सबसे घनिष्ट मित्र और बहन के रूप में पूजनीय एवं सम्मानीय है। यह विचार प्रदेश की बेसिक शिक्षा तथा बाल विकास एवं पुष्टाहार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अनुपमा जायसवाल ने आज यहां गोमती नगर स्थित संगीत नाटक अकादमी के संत गाडगे प्रेक्षागृह में नारी अदालत, घरेलू हिंसा से मुक्त संघर्षशील महिलाओं के राज्यस्तरीय सम्मेलन ‘नई पहचान’ कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि व्यक्त किए।

Images/18-06-2019211116AnupamaJaiswa1.JPG

श्रीमती जायसवाल ने कहा कि समाज में छोटे बच्चों एवं महिलाओं पर हो रहे अत्याचार से उबरने के लिए यह जरूरी है कि महिला अपनी ताकत को पहचाने और समाज को यह संदेश दें कि नारी अबला नहीं अब सबला है। उन्होंने कहा कि उ0प्र0 सरकार के महिला एवं बाल कल्याण विभाग द्वारा संचालित महिला समाख्या की यह विशेषता है कि यह गांव और गरीब के अंतिम छोर तक पहुंचती है, उनकी समस्याओं को सुनती है, समाधान करती है और उनके अंदर संघर्ष की एक नई ताकत देकर सफल बनाने का प्रयास करती हैं।

उन्होंने कहा कि महिलाओं से संबंधित मामले चाहे वे घरेलू हिंसा के हांं या सामाजिक रूप से कहीं किसी महिला के ऊपर अत्याचार की घटना हो इन सभी समस्याओं से महिलाओं एवं बच्चों को शिक्षा देकर छुटकारा पाया जा सकता है। उ0प्र0 का बेसिक शिक्षा विभाग तथा महिला एवं बाल कल्याण विभाग मुख्यमंत्री जी के निर्देशन में लगातार इस दिशा में उल्लेखनीय काम कर रहा है।

बेसिक शिक्षा मंत्री ने कहा कि माता, बेटी, पत्नी, बहन और पुत्री हर रूप में मातृशक्ति वंदनीय है। उन्होने कहा कि महिला समाख्या महिलाओं को बिल्कुल निचले स्तर से उठाकर ऊंचाईयों पर बैठाने का प्रयास कर रही है। इसके सारे प्रयास सराहनीय एवं वंदनीय हैं। उन्होंने कहा कि नारी को चार चीजें शिक्षा, स्वास्थ्य, स्वावलम्बन और समानता का अधिकार उसे दिला दिए जाएं तो महिला कभी कमजोर नहीं हो सकती। उन्होंने प्रसन्नता जाहिर करते हुए कहा कि महिला समाख्या के माध्यम से महिलाओं को शिक्षित करने का भी प्रयास किया जा रहा है। महिला समाख्या ने उनके स्वास्थ्य के साथ-साथ उन्हें स्वावलम्बी बनाकर आर्थिक आजादी भी देने का प्रयास किया है।

इस कार्यक्रम में उपस्थित महिला समाख्या की राज्य परियोजना निदेशक डॉ0 स्मृति सिंह ने कहा कि हमें पितृ सत्तात्मक सोच को बदलना होगा तभी महिलाओं को पूर्ण सम्मान मिलेगा। उन्होंने बताया कि नारी अदालत, उ0प्र0 सरकार के महिला एवं बाल कल्याण विभाग द्वारा संचालित महिला समाख्या कार्यक्रम महिलाओं के साथ हो रहे घरेलू हिंसा, लिंग आधारित भेदभाव, भू्रण हत्या और दहेज उत्पीड़न जैसे आदि मुद्दों पर कार्य कर रहा है। उन्होंने कहा कि नारी अदालत एक अनौपचारिक न्यायिक ढांचा है। यहां वंचित समूह की महिलाएं सामाजिक नजरिए से संतुलन बनाते हुए न्यायिक प्रक्रिया चलाती हैं।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
अवैध खनन मामले में दोषी पाए गए अधिकारी का तत्काल प्रभाव से स्थानान्तरणhttps://www.newstimes.co.in/news/78456/भारत/उत्तर-प्रदेश-/Avaidh-khanan-mamla898806Tue, 18 Jun 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/18-06-2019210737Avaidhkhanan1.JPG' alt='Images/18-06-2019210737Avaidhkhanan1.JPG' />बांदा में खनन क्षेत्रों में हो रहे अवैध खनन एवं परिवहन की आकस्मिक जांच में दोषी पाये गए खान अधिकारी शैलेन्द्र सिंह के स्थानान्तरण और निलम्बन की संस्तुति के निर्देश दिये गये हैं।

अवैध खनन मामले में दोषी पाए गए अधिकारी का तत्काल प्रभाव से स्थानान्तरण

Lucknow. बांदा में खनन क्षेत्रों में हो रहे अवैध खनन एवं परिवहन की आकस्मिक जांच में दोषी पाये गए खान अधिकारी शैलेन्द्र सिंह के स्थानान्तरण और निलम्बन की संस्तुति के निर्देश दिये गये हैं। जांच में दोषी पाये गये चार पट्टाधारकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी गई है। साथ ही जनपद फतेहपुर में ओवर लोडिंग पाये जाने के कारण खान अधिकारी सौरभ गुप्ता को प्रतिकूल प्रविष्टि दिये जाने के निर्देश भी दिये गये हैं। यह जानकारी निदेशक भूतत्व एवं खनिकर्म डॉ. रोशन जैकब ने दी। 

Images/18-06-2019210737Avaidhkhanan1.JPG

उन्होंने बताया कि जनपद बांदा के पैलानी तहसील के खदान क्षेत्र कपटियाखला में पट्टाधारक अचल कुमार शर्मा, रेहन्ता में पट्टाधारक ओमप्रकाश रामावतार, साड़ी खादर में सिल्वर लाइन, अमलोर खादर में चैधरी ट्रेडर्स द्वारा अवैध खनन किया जा रहा था। उन्होंने बताया कि आकस्मिक जांच के दौरान जो खण्ड देखे गये, उनमें निर्धारित क्षेत्र और गहराई से अत्यधिक खनन किया गया।

डॉ. रोशन जैकब ने बताया कि सम्बन्धित पट्टाधारकों द्वारा निर्गत ई0एम0एम0-11 से मिलान के उपरान्त अतिरिक्त मात्रा को पर्यावरण स्वच्छता प्रमाण पत्र में उल्लिखित वार्षिक मात्रा में से कम करने के उपरान्त पर्यावरण स्वच्छता प्रमाण पत्र की वार्षिक मात्रा से अधिक खनन की मात्रा पाये जाने पर खनन पट्टाधारक  का वर्ष की शेष अवधि हेतु खनन कार्य प्रतिबन्धित कर  दिया जायेगा।

निदेशक भूतत्व एवं खनिकर्म ने अवैध खनन एवं परिवहन पर प्रभावी नियंत्रण करने के लिए तत्काल प्रभाव से जनपद गोण्डा के खनन निरीक्षक श्री राकेश कुमार की तैनाती जनपद बांदा में कर दी है। उन्होने जिलाधिकरी बांदा को अवैध परिवहन में दोषी पाये गये परिवहनकर्ता का परमिट कैंसिल करने हेतु आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये हैं।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
डीएम की बड़ी कार्रवाई, कानूनगो व लेखपाल सहित दो सस्पेन्डhttps://www.newstimes.co.in/news/78454/भारत/उत्तर-प्रदेश-/District-Magistrate-ki-badi-Karwaai898804Tue, 18 Jun 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/18-06-2019204145DistrictMagis1.JPG' alt='Images/18-06-2019204145DistrictMagis1.JPG' />जिलाधिकारी डॉ. नितिन बंसल ने चेतावनी के बाद भी न सुधरने वाले भ्रष्ट कर्मियों के खिलाफ एक्शन लेना शुरू कर दिया है।

डीएम की बड़ी कार्रवाई, कानूनगो व लेखपाल सहित दो सस्पेन्ड

Lucknow. जिलाधिकारी डॉ. नितिन बंसल ने चेतावनी के बाद भी न सुधरने वाले भ्रष्ट कर्मियों के खिलाफ एक्शन लेना शुरू कर दिया है। मंगलवार को तहसील करनैलगंज में आयोजित जिला स्तरीय सम्पूर्ण समाधान दिवस में डीएम ने नन्दौर रेती के कानूनगो गोविन्द प्रसाद को रिश्वत लेने के आरोप में तथा मंगुरा के लेखपाल देवीप्रसाद को उच्च अधिकारियों से तथ्य छिपाकर एक ही सर्किल में पिता, पुत्र व बेटी के नौकरी करने पर निलम्बित करते हुए मंगुरा के राजस्व निरीक्षक सीताराम मौर्या के खिलाफ विभागीय कार्यवाही की संस्तुति कर दी है। जबकि तहसील दिवस में ही डीएम के सामने पान खाकर आए विद्युत विभाग के जेई से दो सौ रूपए का जुर्माना डीएम ने वसूल कराया।

Images/18-06-2019204145DistrictMagis1.JPG

मंगलवार को जिला स्तरीय सम्पूर्ण समाधान दिवस का आयोजन तहसील करनैलगंज में डीएम डा. नितिन बंसल की अध्यक्षता में आयोजित हुआ जहां पर डीएम के साथ पुलिस अधीक्षक आरपी सिंह व सीडीओ आशीष कुमार ने फरियादियों की शिकायतें सुनीं। सम्पूर्ण समाधान दिवस में शिकायत मिली कि मंगुरा के लेखपाल देवीप्रसाद, उसका बेटा व बेटी तीनों लोग तथ्य छिपाकर एक ही सर्किल में लेखपाल के ही पद पर कार्यरत हैं। 

डीएम ने तत्काल मामले का संज्ञान लिया और लेखपाल देवीप्रसाद को निलम्बित करते हुए मामले में संलिप्त कानूनगो मंगुरा सीतराम मौर्य के खिलाफ भी विभागीय कार्यवाही व जांच बैठा दी तथा एसडीएम करनैलगंज से एक सप्ताह में रिपोर्ट मांगी है। वहीं परसपुर अन्तर्गत नन्दौर रेती के कानूनगो द्वारा पैमाइश के लिए छः हजार रूपए की रिश्वत ले लेने का मामला सामने आया जिस पर डीएम ने वहां के कानूनगो गोविन्द प्रसाद को निलम्बित कर दिया। 

विद्युत विभाग की शिकायत पर डीएम के सामने करनैलगंज बिजली विभाग के जेई लालजी पान खाकर पेश हुए। बेहद नाराज डीएम ने जेई को वहीं पर कड़ी फटकार लगाई और उससे दो सौ रूपए का जुर्माना वसूल करने के बाद ही जाने दिया गया। सम्पूर्ण समाधान दिवस से बिना सूचना नदारद चार अधिकारियों एक्सईएन विद्युत, उपायुक्त उद्योग, एक्सईएन लघु सिंचाई ता सहायक निबन्धक स्टाम्प से स्पष्टीकरण भी तलब किया गया है। 

थाना कटरा निवासिनी सावित्री ने डीएम को प्रार्थनापत्र दिया कि उसकी जमीन को गांव के ही महेश सिंह ने दूसरे गांव के श्यामदत्त को फर्जी तरीके से बैनामा कर दी है। इस पर डीएम ने एसओ कटरा को मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही करने के आदेया दिए हैं। निन्दुरा निवासी शेषमणि ने बताया कि उसे कई वर्ष पूर्व पट्टे में जमीन मिली थी परन्तु गांव के ही दबंगों द्वारा उसके पट््टे की जमीन पर अवैध रूप से कब्जा कर लिया गया और उसे आज तक जमीन नहीं मिल पाई है।

डीएम ने एसडीएम को निर्देश दिए कि वे स्वयं जांच कर पीड़ित को पट्टे पर कब्जा दिलाएं व दोषियों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करें। किसान यूनियन के अधिवक्ता द्वारा डीएम से को ज्ञापन देकर अनुरोध किया गया कि अटल नदी जोड़ो पिरयोजना के तहत घाघरा नदी, सरयू नदी व टेंढ़ी नदी को जोड़ने का काम कराया जाय जिससे बाढ़ की विभीषिका से बचाव के साथ-साथ सिंचाई के संसाधन में बेहतरी मिल सके। डीएम ने ज्ञापन पर कार्यवाही करने के निर्देश एक्सईएन सिंचाई को दिए हैं। 

शिकायतों के निस्तारण की समीक्षा के दौरान ज्ञात हुआ कि सम्पूर्ण समाधान दिवस में प्राप्त कुल 245 शिकायतें निस्तारण के लिए विभिन्न स्तरों पर लम्बित हैं। डीएम ने सभी अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि एक सप्ताह के अन्दर सभी शिकायतों का निस्तारण हर हाल में करा दिया जाए। उनहोने कहा कि शिकायतों का निस्तारण हर हाल में गुणवत्तापूर्ण होना चाहिए।

सम्पूर्ण समाधान दिवस में एसडीएम करनैलगंज आरके वर्मा, सीओ करनैलगंज जितेन्द्र दूबे, सीएमओ डा. संतोष श्रीवास्तव, डीएफओ आरके त्रिपाठी, तहसीलदार मिश्री सिंह चैहान, पीडी सेवाराम चाधरी, डीडीओ रजत यादव, डीपीआरओ घनश्याम सागर, बीएसए मनीराम सिंह, डीसीओ ओपी सिंह, सीवीओ डा0 आरपी यादव, डीपीओ दिलीप पाण्डेय, डीडी एग्रीकल्चर मुकुल तिवारी, जिला कृषि अधिकारी जेपी यादव सहित अन्य अधिकारी व फरियादी मौजूद रहे।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
अधिकारियों की लापरवाही से दो सफाई कर्मचारी बीमारhttps://www.newstimes.co.in/news/78443/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-Two-cleaning-staff-sick-with-officers-negligence898792Tue, 18 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/17-06-2019224751Twocleanings1.jpg' alt='Images/17-06-2019224751Twocleanings1.jpg' />एक गांव को साफ करने के लिए माल और मलिहाबाद के 119 सफाई कर्मचारियों को 14 घंटे के लिए बिना खाना पानी की व्यवस्था के लगा दिया गया। जिसका नतीजा यह हुआ कि शाम तक काम करने के बाद करीब पौने 8 बजे दो सफाई कर्मचारी बीमार हो गये।

अधिकारियों की लापरवाही से दो सफाई कर्मचारी बीमार

Images/17-06-2019224836Twocleanings2.jpg

LUCKNOW.  प्रमुख सचिव के दौरे को लेकर परेशान अधिकारियों के लिए नियम कानून ताख पर रख दिये गये हैं, क्योंकि अब कर्मचारी रात दिन काम कर अपनी कमियां छिपाने में लगे हैं। रविवार से शुरू हुई अधिकारियों की कवायद सोमवार को दिन भर जारी रही। एक गांव को साफ करने के लिए माल और मलिहाबाद के 119 सफाई कर्मचारियों को 14 घंटे के लिए बिना खाना पानी की व्यवस्था के लगा दिया गया। जिसका नतीजा यह हुआ कि शाम तक काम करने के बाद करीब पौने 8 बजे दो सफाई कर्मचारी बीमार हो गये।

Images/17-06-2019224751Twocleanings1.jpg

जिन्हे उनके साथी किसी अस्पताल ले गये। सफाई कर्मचारियों ने बताया कि सुबह 6 बजे उनको बुलाया गया था। उसके बाद किसी ने पानी तक की व्यवस्था नहीं की साथ ही दिन भर अधिकारी यह कहते रहे कि जल्दी-जल्दी काम निपटा दो। रात तक काम करने के बाद दो कर्मचारी जितेन्द्र और विनोद गुप्ता बीमार हो गये। उनके पेट में दर्द और चक्कर आने लगा। अधिकारियों ने फिर भी कोई ध्यान नहीं दिया जिससे सफाई कर्मचारियों में आक्रोश व्याप्त था। इस सम्बन्ध में मौके पर मौजूद अधिकारी सचिव, एडीओ कोई बोलने को तैयार नहीं था।  

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
पेड़ में उभरी भगवान गणेश की आकृति बनी लोगों की आस्था का केंद्रhttps://www.newstimes.co.in/news/78415/भारत/अन्य-राज्यों-से/The-shape-of-Lord-Ganesha-which-has-emerged-in-the-tree-made-the-center-of-faith-of-the-people898764Mon, 17 Jun 2019 00:00:00 GMTSHRADDHA SAHU<img src='http://newstimes.co.in/Images/17-06-2019121144TheshapeofL1.jpg' alt='Images/17-06-2019121144TheshapeofL1.jpg' />भारत में हमेंशा लोगो की भगवान के प्रति आस्था देखने को मिलती है जिसका एक उदाहरण तमिलनाडु के कोयंबटूर गांव भी है, जहां पर लोगो ने एक गुलमोहर पेड़ के तने और जड़ में उभरी भगवान गणेश की आकृति को भगवान का अवतार मान उसकी पूजा करते हैं।अब उसे पेड़ वाले मंदिर के नाम से जाना जाता है।

पेड़ में उभरी भगवान गणेश की आकृति बनी लोगों की आस्था का केंद्र

Tamilnadu. भारत में हमेशा से लोगों की भगवान के प्रति आस्था देखने को मिलती है, जिसका एक उदाहरण तमिलनाडु के कोयंबटूर गांव में भी देखने को मिला है, जहां एक गुलमोहर पेड़ के तने और जड़ में उभरी भगवान गणेश की आकृति को भगवान का अवतार मान उसकी पूजा कर रहे हैं। अब उसे पेड़ वाले मंदिर के नाम से जाना जाता है।

Images/17-06-2019121144TheshapeofL1.jpg

 

भारत के हर हिस्सों में बहुत से प्रसिद्ध मंदिर हैं, जहां लोग श्रद्धा से भगवान की पूजा अर्चना करते हैं। लेकिन तमिलनाडु के कोयंबटूर में एक जगह ऐसी है, जहां भगवान मंदिर में नही बल्कि पेड़ में है। दरअसल, वहां एक गुलमोहर पेड़ के तने और जड़ में उभरी आकृति भगवान गणेश की छवि सी दिखाई पड़ती है। स्थानीय लोग उसे भगवान की छवि मान कर उस आकृति की पूजा अर्चना करते हैं। श्रद्धालु हर रोज पेड़ की जड़ को साफ करके पानी देते हैं, ताकि यह पेड़ हरा-भरा और सुरक्षित बना रहे।

एक शख्स ने बताया, हम इसे पेड़ मंदिर कहते हैं। हम जो कुछ भी इस पेड़ के सामने मांगते हैं वह हमें मिल जाता है। आस-पास के रहने वाले लोग हर रोज ऑफिस और स्कूल जाने से पहले यहां दर्शन जरूर करते हैं। दूसरे स्थानीय शख्स ने बताया कि फुटपाथ पर लगे पेड़ अक्सर सूख जाते हैं, लेकिन इस पेड़ की पत्तियां हमेशा हरी दिखाई देती हैं। इसकी वजह यह है कि श्रद्धालु हर रोज पेड़ की जड़ को साफ करके पानी देते हैं और पूजा करते हैं। इसलिए यह पेड़ सुरक्षित बना हुआ है। इस पेड़ से लोगों की आस्था जुड़ी हुई है। 

यह भी पढ़े...कांग्रेस तय नहीं कर पायी लोकसभा में अपना नेता, इन्हें मिल सकती है जिम्मेदारी!

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
भीषण गर्मी का कहर जारी, लू लगने से 173 लोगों की मौतhttps://www.newstimes.co.in/news/78414/भारत/173-deaths-due-to-severe-heat-wave-release898763Mon, 17 Jun 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/17-06-2019115804173deathsdue1.jpg' alt='Images/17-06-2019115804173deathsdue1.jpg' />भीषण गर्मी का कहर लोगों की जान पर आफत बनकर टूट रहा है। लू की चपेट में आकर 173 से ज्यादा लोगों के मौत की खबर है। बताते चलें कि बिहार में गर्मी इतनी बेकाबू हो चुकी है कि गत रविवार को लू लगने के कारण करीब 112 लोगों की सांसे रुक गई।

भीषण गर्मी का कहर जारी, लू लगने से 173 लोगों की मौत

Patna. भीषण गर्मी का कहर लोगों की जान पर आफत बनकर टूट रहा है। लू की चपेट में आकर 173 से ज्यादा लोगों के मौत की खबर है। बताते चलें कि बिहार में गर्मी इतनी बेकाबू हो चुकी है कि गत रविवार को लू लगने के कारण करीब 112 लोगों की सांसे रुक गई। बताते चलें कि बिहार के गया, नवादा और औरंगाबाद के अस्‍पतालों में 300 से भी अधिक लू से पीड़ित मरीजों को एडमिट कराया गया है। बताया जा रहा कि सबसे अधिक मौतें औरंगाबाद, नवादा, पटना, पूर्वी बिहार, रोहतास, जहानाबाद और भोजपुर जिलों में हुई हैं। 

यह भी पढ़ें... सीतापुर में भीषण सड़क हादसा, ट्रक की चपेट में आकर बाइक सवार दो युवकों की मौत

Images/17-06-2019115804173deathsdue1.jpg

बताते चलें कि लू की चपेट में आने के कारण गया जिले में 28 लोगों की मौत हो गई। गर्मी के कारण मरने वालों की संख्या में 60 साल से अधिक उम्र के लोग शामिल हैं। लू का कहर राज्य में बढ़ता देख सरकार ने हर जिले में अतिरिक्त डॉक्टर को तैनात करने का निर्णय लिया है। साथ ही अतिरिक्त टैंकरों के जरिए ग्रामीण इलाकों में पानी पहुंचाया जा रहा है। एक तरफ भीषण गर्मी की चिंता से लोग परेशान हैं।

वहीं, दूसरी ओर डॉक्टरों के देश व्यापी हड़ताल की चिंता लोगों को सता रही है। फिलहाल आज पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों ने हड़ताल समाप्त करने को लेकर सहमति दी है, लेकिन अभी हड़ताल पूरी तरह से खत्म करने का ऐलान नहीं हुआ है। यदि डॉक्टरों की हड़ताल इसी तरह जारी रही तो मौतों का आंकड़ा और भी अधिक बढ़ सकता है।

डॉक्टरों का कहना है कि लू से मौत का कारण ब्रेन में ग्‍लूकोज की कमी का होना है। इस वजह से लू पीड़ित व्यक्ति बेहोश हो जाता है और दो से तीन घंटे में ही उसकी मौत हो जाती है। डॉक्टरों ने इससे बचाव के लिए अधिक से अधिक पानी पीने की सलाह दी है। गौरतलब है कि इस बार कई राज्यों में 44 से 47 डिग्री तक तापमान पहुंच रहा है। बिहार की राजधानी पटना में गत शनिवार को अधिकतम तापमान 45.8 डिग्री सेल्सियस था। इस बार के तापमान ने पिछले 10 सालों के रिकॉर्ड को ध्वस्त कर दिया। गर्मी का आलम देख सभी स्कूलों को 19 जून तक बंद रखने का निर्देश दिया गया है। वहीं मौषम विभाग कहा कहना है कि भीषण गर्मी से निजात पाने के लिए मानसून का आना जरूरी है। लेकिन इस बार देर से 22-23 जून तक मानसून आने की संभावना है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
गेम खेलते समय मोबाइल की बैट्री फटी, बच्चा झुलसाhttps://www.newstimes.co.in/news/78382/भारत/मध्य-प्रदेश/The-mobiles-battery-blast-while-playing-the-game-the-the-boy-scorching898729Sun, 16 Jun 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-06-2019152433Themobilesb2.jpg' alt='Images/16-06-2019152433Themobilesb2.jpg' />मोबाइल में गेम खेलते समय बैठरी फटने से धमाका हो गया। इस हादसे में गेम खेल रहा बच्चा गंभीर रूप से घायल हो गया। उपचार के लिए उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना मध्य प्रदेश के खरगोन जिले के ऊन थाना क्षेत्र के मोठापुरा गांव की है। 

गेम खेलते समय मोबाइल की बैट्री फटी, बच्चा झुलसा

Lucknow. मोबाइल में गेम खेलते समय बैटरी फटने से धमाका हो गया। इस हादसे में गेम खेल रहा बच्चा गंभीर रूप से घायल हो गया। उपचार के लिए उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना मध्य प्रदेश के खरगोन जिले के ऊन थाना क्षेत्र के मोठापुरा गांव की है। 

Images/16-06-2019152408Themobilesb1.jpg

मिली जानकारी के मुताबिक, ऊन थाना क्षेत्र के मोठापुर गांव में एक घर में मोबाइल चार्जिंग पर लगा था। बच्चा बाहर से आया और मोबाइल पर गेम खेलने लगा। इसी दौरान फोन की बैटरी अचानक तेज धमाके के साथ फट गयी। इस हादसे में बच्चा बुरी तरह झुलस गया। धमाके की आवाज सुन कर दौड़े घर के अन्य सदस्यों ने आनन फानन बच्चे को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। जहां उसका उपचार चल रहा है। धमाके में बच्चे के हाथ और पांव में बुरी तरह से झुलस गए हैं। घायल बच्चे का नाम विशाल बताया जा रहा है। 

Images/16-06-2019152433Themobilesb2.jpg

डाक्टरों के मुताबिक, फिलहाल बच्चा खतरे से बाहर बताया जा रहा है। जिस समय यह हादसा उस समय बच्चे के माता पिता खेतों पर काम कर रहे थे। उनका मोबाइल घर पर चार्जिंग में लगा था। मोबाइल में धमाके का यह कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी कई दफा ऐसे में मामले देखने को मिल चुके हैं। जिनमें चार्जिंग पर लगे मोबाइल को चलाते समय बैट्री में धमाका हुआ हो। लोगों को सलाह भी दी जाती है कि मोबाइल जिस समय चार्जिंग पर लगा हो तो उसका प्रयोग न करें बावजूद इसके लोग सीख नहीं लेते हैं।  

यह भी पढ़ें...सीतापुर में भीषण सड़क हादसा, ट्रक की चपेट में आकर बाइक सवार दो युवकों की मौत

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
चमकी बुखार से मरने वालों की संख्या पहुंची 84, केंद्रीय मंत्री पहुंचे मुजफ्फरनगरhttps://www.newstimes.co.in/news/78370/भारत/बिहार/Number-of-people-killed-in-Chamki-fever-reached-84-Union-minister-reached-Muzaffarnagar898717Sun, 16 Jun 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-06-2019140850Numberofpeop1.jpg' alt='Images/16-06-2019140850Numberofpeop1.jpg' />बिहार के मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार बच्चों की होने वाली मौतों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस बुखार की चपेट में आकर असमय काल ग्रास बन चुके बच्चों की संख्या 84 पहुंच गयी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन जिस समय मरीजों का हाल चाल लेने अस्पताल पहुंचे थे उसी समय 4 बच्चों ने दम तोड़ दिया। अक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) यानी चमकी धीरे धीरे कर महामारी का रूप ले चुका है। इस बीमारी से ग्रसित मरीजों को चिकित्सकीय निगरानी में रखा गया है।  

चमकी बुखार से मरने वालों की संख्या पहुंची 84, केंद्रीय मंत्री पहुंचे मुजफ्फरनगर

Lucknow. बिहार के मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से बच्चों की होने वाली मौतों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस बुखार की चपेट में आकर असमय काल ग्रास बन चुके बच्चों की संख्या 84 पहुंच गयी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन जिस समय मरीजों का हाल चाल लेने अस्पताल पहुंचे थे, उसी समय 4 बच्चों ने दम तोड़ दिया। अक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) यानी चमकी धीरे-धीरे महामारी का रूप ले चुका है। इस बीमारी से ग्रसित मरीजों को चिकित्सकीय निगरानी में रखा गया है।  

Images/16-06-2019140912Numberofpeop2.jpg

मुजफ्फरपुर पहुंचे डॉ. हर्षवर्धन ने श्रीकृष्णा मेडिकल कालेज और अस्पताल का दौरा कर वहां भर्ती मरीजों का हालचाल लिया और डाक्टरों से बात की। बता दें कि इस घातक बीमारी से हो रही लगातार मौतों के कारणों की जांच के लिए स्वास्थ्य विशेषज्ञों की टीम मुजफ्फरपुर में है। जबकि स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि इलाके में चिलचिलाती गर्मी, नमी और बारिश के न होने के चलते लोग शरीर में अचानक शुगर की कमी (हाइपोग्लाइसीमिया) से मौत के मुंह में समा रहे हैं।

वहीं कुछ मीडिया रिपोर्ट्स चमकी से हो रही मौतों के पीछे लीची को वजह बता रही है। बताया जा रहा है कि इस रोग से प्रभावित इलाके के इर्द गिर्द पाई जाने वाली लीची में कुल जहरीले तत्व हैं जो लोगों की मौत का कारण बन रहे हैं। 

Images/16-06-2019140938Numberofpeop3.jpg

इस बुखार से ग्रसित मरीजों के परिजनों का आरोप है कि अस्पताल में डाक्टर रात को नहीं रुकते हैं। नर्सों के सहारे इलाज किया जा रहा है। लोग लगातार हो रही बच्चों की मौतों के बावजूद अस्पताल में सुविधाओं के अभाव की बात कह रहे हैं। 

बिहार सरकार के मंत्री सुरेश शर्मा ने चमकी से हो रही मौतों के बारे में कहा कि राज्य सरकार इस बीमारी को लेकर शुरूआत से ही गंभीर है। उन्होंने कहा कि दवाइयों की कोई कमी नहीं है, लेकिन अचानक से इतनी तादाद में मरीजों की संख्या बढ़ने से बेड और आईसीयू की कमी जरूर पड़ गयी है।

केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने इन मौत पर दुख जताते हुए लोगों को घरों से न निकलने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि हीटस्ट्रोक से लोगों की मौत हो रही है। प्रचंड गर्मी से दिमाग पर असर पड़ता है और फिर इससे कई तरह की बीमारियां हो जाती हैं। 

Images/16-06-2019140850Numberofpeop1.jpg

नीतीश के न जाने पर उठ रहे सवाल 

बिहार के मुजफ्फरपुर में लगातार हो रही मौतों से जहां त्राहि-त्राहि मची है वहीं दूसरी ओर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अब तक मुजफ्फरपुर न पहुंचने को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं। यह बात अलग है कि वह इस समस्या को लेकर गंभीर हैं और उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को इस पर नजर बनाए रखने को कहा था। 

स्वास्थ्य मंत्री का बेतुका बयान 

बीमारी से हो रही मौतों के बीच बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय का विवादित बयान सुर्खियों में हैं। बता दें कि एक मीडिया रिपोर्ट उन्होंने कहा कि बच्चों की मौत के लिए न प्रशासन जिम्मेदार है और न ही सरकार। सरकार ने इलाज के पूरे इंतजाम किए थे। मौसम भी इसके लिए जिम्मेदार है। 

चमकी के लक्षणों पर एक नजर

एईएस यानी कि अक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम से ग्रसित रोगी का तं​त्रिका तंत्र प्रभावित हो जाता है। इस बीमारी से ग्रसित रोगी में तेज बुखार, शरीर में ऐंठन, तंत्रिका संबंधी कामों में रुकावट, मानसिक भटकाव, बेहोशी, दौरे पड़ना, घबराहट महसूस होना जैसे लक्षण प्रमुख हैं। कुछ मामलों में तो मरीज कोमा में चला जाता है। समय से उपचार न मिलने पर मरीज की मौत भी हो सकती है। इस बीमारी का प्रभाव जून से अक्टूबर माह के बीच देखने को मिलता है। 

यह भी पढ़ें...राम मंदिर का जल्द से जल्द निर्माण है अयोध्या आने का मकसद: उद्धव ठाकरे

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
शीघ्र लग सकता है उपभोक्ताओं को बिजली का झटकाhttps://www.newstimes.co.in/news/78375/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-Electric-shock898722Sun, 16 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-06-2019143745Electricshock.jpg' alt='Images/16-06-2019143745Electricshock.jpg' />महंगी बिजली की मार झेल रहे उपभोक्ताओं को बिजली की दरें और झटका देने वाली हैं।

शीघ्र लग सकता है उपभोक्ताओं को बिजली का झटका

LUCKNOW. पावर कॉर्पोरेशन के प्रस्ताव को अगर मंजूरी मिल जाती है तो शहरी घरेलू और ग्रामीण उपभोक्ताओं की बिजली की न्यूनतम दर 1.30 रुपये की बढ़ोतरी के साथ 6.20 रुपये प्रति यूनिट हो जाएगी, जिससे महंगी बिजली की मार झेल रहे उपभोक्ताओं को बिजली की दरें और झटका देने वाली हैं। अभी घरेलू उपभोक्ताओं की न्यूनतम दर 4.90 रुपये प्रति यूनिट हैं। यह दरें 150 यूनिट तक की हैं। इससे ऊपर और भी बढ़ोत्तरी का प्रस्ताव है। 

Images/16-06-2019143745Electricshock.jpg

पावर कॉर्पोरेशन ने शुक्रवार को बिजली दरों में 20 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी का प्रस्ताव राज्य विद्युत नियामक आयोग को भेज दिया है। अब आयोग प्रस्ताव पर सुनवाई कर यह फैसला करेगा कि बिजली दरें कितनी बढ़ेंगी। बढ़ोतरी प्रस्ताव में कॉर्पोरेशन ने कमर्शल और उद्योगों की श्रेणी की दरों में भी 10 से 15 प्रतिशत तक बढ़ोतरी की सिफारिश की है। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
मोदी, योगी के बाद अब 'अमित शाह आम'https://www.newstimes.co.in/news/78369/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Modi-now-Amit-Shah-mango-after-the-yogi898716Sun, 16 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-06-2019135139Modi,nowAmit.jpg' alt='Images/16-06-2019135139Modi,nowAmit.jpg' />अब गृहमंत्री अमितशाह के नाम पर आम का नामकरण

मोदी, योगी के बाद अब 'अमित शाह आम'

MALIHABAD. समय के साथ बहने वाले पद्मश्री कलीमउल्लाह खां का आमों से गहरा रिश्ता है, क्योंकि उन्होंने एक ही पेड़ में सैकड़ों किस्मों के आमों को जोड़कर एक रिकार्ड अपने नाम कर रखा है। जबकि यह आम है। 

Images/16-06-2019135139Modi,nowAmit.jpg

कई राजनैतिक हस्तियों जैसे, सो​निया, अखिलेश, अमिताभ, ऐश्वर्या, मोदी, योगी के बाद अब गृहमंत्री अमित शाह के नाम पर आम का नामकरण किया है। इस आम के पेड़ को वह भविष्य में अमित शाह को भेंट करेंगे। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
आधा दर्जन आयुक्तों के पद ​रिक्त,फिर ​शासन में सब ठीक कैसेhttps://www.newstimes.co.in/news/78368/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-The-posts-of-half-a-dozen-commissioners-are-vacant-then-how-is-all-right-in-governance898715Sun, 16 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-06-2019132528Thepostsofh.jpg' alt='Images/16-06-2019132528Thepostsofh.jpg' />प्रदेश के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले पदों पर कई माह से तैनाती न होने से विभागीय काम काज के अलावा सरकारी योजनाओं के क्रियान्ययन पर भी प्रभाव पड़ रहा है। प्रदेश में कृषि उत्पादन आयुक्त का पद पिछले डेढ़ माह से खाली चल रहा है।

आधा दर्जन आयुक्तों के पद ​रिक्त,फिर ​शासन में सब ठीक कैसे

Images/16-06-2019132528Thepostsofh.jpg

LUCKNOW. प्रदेश के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले पदों पर कई माह से तैनाती न होने से विभागीय काम काज के अलावा सरकारी योजनाओं के क्रियान्ययन पर भी प्रभाव पड़ रहा है। प्रदेश में कृषि उत्पादन आयुक्त का पद पिछले डेढ़ माह से खाली चल रहा है। कृषि से जुड़े एक दर्जन विभागों की मॉनिटरिंग भी एपीसी ही करता है। शासन में मुख्य सचिव के बाद एपीसी ही सबसे प्रभावशाली होता है। चकबंदी आयुक्त का पद भी पिछले कई माह से खाली पड़ा है। इस पद का अतिरिक्त चार्ज अपर मुख्य सचिव राजस्व रेणुका कुमार के पास है। अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा का प्रभार वह पहले से देख रही हैं। रेणुका पर तीन—तीन प्रभार का असर तीनों ही विभागों के काम काज पर पड़ रहा है ग्राम्य विकास आयुक्त का पद अरसे से खाली चल रहा है। जबकि यह ग्रामीण क्षेत्र के विकास पर नजर रखने और निचले स्तर के अधिकारियों की मॉनिटरिंग की जिम्मेदारी इसी पद के अधिकारी के पास होती है। इस पद का प्रभार अपर आयुक्त मनरेगा के पास है। गन्ना आयुक्त की जिम्मेदारी प्रमुख सचिव गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग संजय भूसरेड्डी के पास बनी हुई है। दुग्ध आयुक्त का प्रभार भी अर्से से प्रमुख सचिव दुग्ध विकास के पास है। एनसीआर आयुक्त का पद भी पिछले महीने खाली हो गया। इस पद का प्रभार स्थानिक आयुक्त प्रभात कुमार सारंगी को दिया गया है। औद्योगिक विकास आयुक्त की जिम्मेदारी स्वयं मुख्य सचिव देख रहे हैं। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
पश्चिम बंगालः डॉक्टर्स की हड़ताल खत्म होने के आसारhttps://www.newstimes.co.in/news/78358/भारत/अन्य-राज्यों-से/West-Bengal-Doctors-strike-likely-to-end898705Sun, 16 Jun 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/16-06-2019120324WestBengalDo1.jpg' alt='Images/16-06-2019120324WestBengalDo1.jpg' />पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों की हड़ताल खत्म होने के आसार दिखायी पड़ रहे हैं। हड़ताल कर रहे डॉक्टरों ने शनिवार देर रात कहा कि वे प्रदर्शन खत्म करने के लिए सीएम ममता बनर्जी से बातचीत को तैयार हैं, लेकिन मुलाकात की जगह वे बाद में तय करेंगे। 

पश्चिम बंगालः डॉक्टर्स की हड़ताल खत्म होने के आसार

Kolkata. पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों की हड़ताल खत्म होने के आसार दिखायी पड़ रहे हैं। हड़ताल कर रहे डॉक्टरों ने शनिवार देर रात कहा कि वे प्रदर्शन खत्म करने के लिए सीएम ममता बनर्जी से बातचीत को तैयार हैं, लेकिन मुलाकात की जगह वे बाद में तय करेंगे। 

Images/16-06-2019120324WestBengalDo1.jpg

बता दें कि इससे पहले डॉक्टरों ने राज्य सचिवालय में ममता बनर्जी के साथ बैठक के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था और ममता से गतिरोध सुलझाने को लेकर खुली चर्चा के लिए एनआरएस मेडिकल कॉलेज अस्पताल आने को कहा था। वहीं, शनिवार देर रात जूनियर डॉक्टरों के संयुक्त फोरम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई। जिसमें सीएम से मुलाकात की बात कही गयी।  

फोरम के प्रवक्ता ने कहा कि वह हमेशा से बातचीत के लिए तैयार हैं। अगर सीएम एक हाथ बढ़ाएंगी तो वह 10 हाथ बढ़ाएंगे। वह इस गतिरोध के खत्म होने की तत्परता से इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि वे बैठक के लिए प्रस्तावित स्थान को लेकर अपने संगठन के फैसले का इंतजार करेंगे। 

यह भी पढ़ें:-...डॉक्टरों की हड़ताल जारी, देश में चरमराई स्वास्थ्य व्यवस्था

क्या है पूरा मामला

10 जून को नील रत्न सरकार मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान एक 75 वर्षीय मरीज की मौत से गुस्साए परिजनों ने हॉस्पिटल में डॉक्टरों को गालियां दी थी। इसके बाद डॉक्टरों ने कहा कि जब तक मृतक के परिजन उनसे माफी नहीं मांगते हैं, तब तक वह प्रमाण पत्र नहीं देंगे। 

इसके बाद मामले ने हिंसक रूप ले लिया। डॉक्टरों की ओर से प्रमाण पत्र नहीं देने और माफी की मांग पर अड़ने के कुछ देर बाद हथियारों के साथ भीड़ ने हॉस्पिटल में हमला कर दिया। जिसमें दो जूनियर डॉक्टर गंभीर रूप से घायल हो गए। इसके अलावा कई और डॉक्टरों को चोटें आईं। इससे नाराज डॉक्टर हड़ताल परे बैठे हुए हैं। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
रेल यात्रियों को सफर में मसाज सेवा देने की योजना पर लगा ग्रहण, जानिए क्या रही वजहhttps://www.newstimes.co.in/news/78351/भारत/दिल्ली/Eclipse-on-rail-passengers-to-plan-for-massage-services-know-what-is-the-reasons 898696Sun, 16 Jun 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/16-06-2019094349Eclipseonrai3.jpg' alt='Images/16-06-2019094349Eclipseonrai3.jpg' />ट्रेनों के यात्रियों को मसाज सेवा पर शुरू होने से पहले ही ग्रहण लग गया। एक सांसद द्वारा रेल मंत्री से भारतीय संस्कृति का हवाला देते हुए इस सेवा पर आपत्ति जताई थी। इसके बाद रेलवे ने यह नवाचारी योजना रद्द कर दी है।  

रेल यात्रियों को सफर में मसाज सेवा देने की योजना पर लगा ग्रहण, जानिए क्या रही वजह

New Delhi. ट्रेनों के यात्रियों को मसाज सेवा पर शुरू होने से पहले ही ग्रहण लग गया। एक सांसद द्वारा रेल मंत्री से भारतीय संस्कृति का हवाला देते हुए इस सेवा पर आपत्ति जताई थी। इसके बाद रेलवे ने यह नवाचारी योजना रद्द कर दी है।  

Images/16-06-2019094308Eclipseonrai1.jpgImages/16-06-2019094329Eclipseonrai2.jpgImages/16-06-2019094349Eclipseonrai3.jpg

यह भी पढ़ें...फडणवीस मंत्रिमंडल का विस्तार आज, जानिए किसे मिल सकती है जगह और कौन होगा बाहर

 

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
बिहार में लीची खाने से हो रही बच्चों की मौत? जानिए क्या है वजहhttps://www.newstimes.co.in/news/78339/भारत/बिहार/Litchi-eating-in-Bihar-childrens-death?-Know-what-is-the-reason898684Sat, 15 Jun 2019 00:00:00 GMTANKUR SHARMA<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-06-2019162654Litchieating1.jpg' alt='Images/15-06-2019162654Litchieating1.jpg' /> बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में बड़ी संख्या में इंसेफेलाइटिस जिसे चमकी बुखार भी कहा जा रहा है उसकी वजह से बच्चों की मौत हो रही है। तो आखिर क्या है ये सिंड्रोम और इसका लीची से क्या संबंध है, यहां जानें।

बिहार में लीची खाने से हो रही बच्चों की मौत? जानिए क्या है वजह

Patna.बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में संदिग्ध अक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (AES) जिसे चमकी बुखार भी कहा जा रहा है, उसका कहर बिहार में जारी है। बिहार में उमस भरी गर्मी के बीच मुजफ्फरपुर और इसके आसपास के इलाकों में बच्चों पर कहर बनकर टूटने वाले इस चमकी बुखार से करीब 24 दिन में 69 बच्चों की मौत हो चुकी है। इस साल जनवरी से अब तक कुल 179 संदिग्ध AES के मामले सामने आ चुके हैं। बच्चों की मौत के लिए लीची को भी दोषी ठहराया जा रहा है। कहा जा रहा है कि बच्चों के खाली पेट लीची खाने से वे इस सिंड्रोम की चपेट में आए। क्या वाकई ऐसा है? क्या लीची खाने से मौत संभव है? जानिए, बिहार में हर साल बच्चों की जान का दुश्मन बना अक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम बारे में और क्या है लीची कनेक्शन। 

Images/15-06-2019162654Litchieating1.jpg

 

बता दें कि 15 वर्ष तक की उम्र के बच्चे इस बीमारी की चपेट में आ रहे हैं। मरने वाले बच्चों की उम्र एक से सात साल के बीच ज्यादा है। इन सभी मौत का कारण लीची खाने से बताया जा रहा है। बताया जा रहा है कि गर्मी के मौसम में बिहार के मुजफ्फरपुर और आसपास के इलाके में गरीब परिवार के बच्चे जो पहले से कुपोषण का शिकार होते हैं, वे रात का खाना नहीं खाते और सुबह का नाश्ता करने की बजाए खाली पेट बड़ी संख्या में लीची खा लेते हैं। 

द लैन्सेट' नाम के मेडिकल जर्नल में प्रकाशित एक रिसर्च की मानें तो लीची में प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले पदार्थ जिन्हें hypoglycin A और methylenecyclopropylglycine (MPCG) कहा जाता है। यह शरीर में फैटी एसिड मेटाबॉलिज़म बनने में रुकावट पैदा करते हैं। इसकी वजह से ही ब्लड-शुगर लो लेवल में चला जाता है और मस्तिष्क संबंधी दिक्कतें शुरू हो जाती हैं और दौरे पड़ने लगते हैं। 

फिर उसके बाद तेज बुखार, उल्टी-दस्त, बेहोशी और शरीर के अंगों में रह-रहकर कंपन (चमकी) होने लगता है। अगर रात का खाना न खाने की वजह से शरीर में पहले से ब्लड शुगर का लेवल कम हो और सुबह खाली पेट लीची खा ली जाए तो शरीर में अक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम AES का खतरा कई गुना बढ़ जाता है। 

चमकी बुखार के कहर के चलते अस्पतालों में मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। अस्पतालों में डॉक्टरों और कर्मियों की 24 घंटे ड्यूटी लगाई जा रही है। वहीं, मुजफ्फरपुर में फैली इस बीमारी से हो रही बच्चों की मौत पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हाल ही में कहा कि स्वास्थ्य विभाग इस पूरे मामले पर नजर रख रहा है।

 

यह भी पढ़े:—..बल्लेबाजी डॉट कॉम के ब्रांड एम्बेसडर बने युवराज

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
रिश्वत के साथ गेहूं में कूड़ा भी जा रहा एफसीआईhttps://www.newstimes.co.in/news/78317/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-FCI-going-to-waste-in-wheat-with-bribe898661Sat, 15 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-06-2019115950FCIgoingtow2.jpg' alt='Images/15-06-2019115950FCIgoingtow2.jpg' />जब गेहूॅ क्रय केन्द्रों से खरीदा हुआ गेहूॅ एफसीआई में बिना कमीशन के जमा ही नहीं होगा तो फिर क्या जरूरत है समितियों पर उसको छानने और पंखा लगाकर साफ करने की।

रिश्वत के साथ गेहूं में कूड़ा भी जा रहा एफसीआई

LUCKNOW. क्रय केन्द्रों से खरीदा हुआ गेहूं एफसीआई में बिना कमीशन के जमा ही नहीं होगा तो फिर क्या जरूरत है समितियों पर उसको छानने और पंखा लगाकर साफ करने की। यह बात हम नहीं बल्कि समिति पर तैनात कर्मचारियों ही कह रहे हैं।

Images/15-06-2019115923FCIgoingtow1.jpg

कमीशन के सम्बन्ध में सचिवों से पूछा तो नाम न छापने की शर्त पर बताया कि एफसीआई में पहले जिन गाड़ियों से गेहूं भेजा जाता था, उन ड्राइवरों से ही पैसा लिया जाता था। लेकिन इस बात की शिकायत होने पर अब वहां तैनात कर्मचारी ड्राइवरों के बजाय गाड़ी मालिकों से ले रहे हैं। यही कारण है कि गेहूं खरीद में नीचे से ही गड़बड़ी की जा रही है।

Images/15-06-2019115950FCIgoingtow2.jpg

दूसरी ओर समितियों पर गेहूं खरीदने से पहले उसे पंखा लगाकर साफ किया जाना चाहिए और उसको छन्ने से छानना जरूरी है। ऐसी स्थिति में यदि सचिव एफसीआई के कर्मचारियों को ​रिश्वत देंगे तो फिर किसान से इमानदारी से खरीद की जाएगी। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
दान के सिक्कों को लेकर परेशानी में साईं बाबा मंदिर ट्रस्ट, जानिए क्या है वजहhttps://www.newstimes.co.in/news/78305/भारत/महाराष्ट्र/Sai-Baba-Temple-Trust-in-trouble-about-donation-coins-know-what-is-the-reason898648Sat, 15 Jun 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-06-2019100022SaiBabaTempl3.jpg' alt='Images/15-06-2019100022SaiBabaTempl3.jpg' />देश के सर्वाधिक दान प्राप्त करने वाले धर्मस्थलों में दूसरे स्थान पर जमे साईं बाबा संस्थान को इन दिनों एक नई समस्या का सामना करना पड़ रहा है। मंदिर के दानपात्र में आए सिक्कों को लेने से बैंक ने यह कह कर इंकार कर दिया है कि उनके पास इन्हें रखने के लिए पर्याप्त जगह नहीं है। ऐसे में डेढ़ करोड़ रुपए के सिक्कों का क्या किया जाए इसके लेकर ट्रस्ट के लोग परेशान हैं। फिलहाल संस्थान की ओर से आरबीआई और अन्य राष्ट्रीयकृत बैंकों को पत्र लिखकर इस समस्या का निराकरण करने की मांग की गयी है। 

दान के सिक्कों को लेकर परेशानी में साईं बाबा मंदिर ट्रस्ट, जानिए क्या है वजह

New Delhi. देश के सर्वाधिक दान प्राप्त करने वाले धर्मस्थलों में दूसरे स्थान पर जमे साईं बाबा संस्थान को इन दिनों एक नई समस्या का सामना करना पड़ रहा है। मंदिर के दानपात्र में आए सिक्कों को लेने से बैंक ने यह कह कर इंकार कर दिया है कि उनके पास इन्हें रखने के लिए पर्याप्त जगह नहीं है। ऐसे में डेढ़ करोड़ रुपए के सिक्कों का क्या किया जाए इसके लेकर ट्रस्ट के लोग परेशान हैं। फिलहाल संस्थान की ओर से आरबीआई और अन्य राष्ट्रीयकृत बैंकों को पत्र लिखकर इस समस्या का निराकरण करने की मांग की गयी है। 

Images/15-06-2019095934SaiBabaTempl1.jpgImages/15-06-2019100003SaiBabaTempl2.jpgImages/15-06-2019100022SaiBabaTempl3.jpg

यह भी पढ़ें...तिहाड़ जेल में पूर्व सीएम चौटाला की सेल से मोबाइल फोन बरामद

 

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
पाकिस्तान से वीडियो कॉल कर युवक ने कहा- भाईजान बम कहां रखना है और फिर...https://www.newstimes.co.in/news/78301/भारत/By-calling-a-video-from-Pakistan-the-young-man-said-Where-is-bomb-898643Sat, 15 Jun 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/15-Jun-2019RoIpY8B5R11.jpeg' alt='Images/15-Jun-2019RoIpY8B5R11.jpeg' />एक युवक के पास एक वीडियो कॉल आने के बाद शहर में हड़कंप मच गया। दरअसल ये कोई मामूली वीडियो कॉल नहीं थी। यह वीडियो कॉल पाकिस्तान से हरियाणा के हांसी शहर में एक युवक के व्हाट्सएप पर आई थी। कॉल करने वाले शख्स ने कहा कि भाई जान कैसे हो, बम कहां रखना है।  

पाकिस्तान से वीडियो कॉल कर युवक ने कहा- भाईजान बम कहां रखना है और फिर...

New Delhi. एक युवक के पास एक वीडियो कॉल आने के बाद शहर में हड़कंप मच गया। दरअसल ये कोई मामूली वीडियो कॉल नहीं थी। यह वीडियो कॉल पाकिस्तान से हरियाणा के हांसी शहर में एक युवक के व्हाट्सएप पर आई थी। कॉल करने वाले शख्स ने कहा कि भाई जान कैसे हो, बम कहां रखना है।  

Images/15-Jun-2019RoIpY8B5R11.jpeg

इस कॉल के आने के बाद गोल कोठी क्षेत्र में रहने वाले युवक सन्नी बतरा के होश उड़ गए, उन्होंने फौरन किला बाजार के पुलिस चौकी में शिकायत दर्ज करवाई। पुलिस ने तुरंत मामले की जांच पड़ताल शुरु कर दी है। सिटी थाना प्रभारी विकास कुमार ने बताया कि मामले में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है और साइबर सेल को नंबर दे दिया गया है। 

युवक ने पुलिस को बताया कि उसके पास बुधवार रात को व्हाट्सएप पर वीडियो कॉल आई। कॉल करने वाले व्यक्ति ने उसे कहा कि भाईजान कैसे, जिस पर मैंने पूछा की आप कौन है कहां से बोल रहे हैं। तो उसने कहा आपका भाई। मैंने पूछा बोलो तो कौन हो उसने कहा, बम कहां रखना है। 

बतरा के मुताबिक, यह बात सुनकर उसने फोन करने वाले इंसान को गाली दी और फोन काट दिया। सन्नी के पास 92 3108980283 नंबर  से कॉल आई थी। प्रारंभिक मामले में यह प्रतीत हो रहा है कि यह कॉल पाकिस्तान से आई थी।

चूंकि 92 से शुरू होने वाला नंबर पाकिस्तान का है। जबकि भारत के किसी नंबर से अगर किसी के पास फोन आता है तो उसके आगे 91 लिखा होता है। इस कॉल के बाद से हांसी पुलिस प्रशासन व खुफिया विभाग पूरी तरह से अलर्ट हो गया है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
आय दोगुनी करके भी कोई किसान अपने परिवार का भरण पोषण नहीं कर सकताhttps://www.newstimes.co.in/news/78288/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Even-a-farmer-can-not-feed-his-family-by-doubling-the-income898629Fri, 14 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/14-06-2019173235Evenafarmer1.jpg' alt='Images/14-06-2019173235Evenafarmer1.jpg' />उत्तर प्रदेश सरकार के कृषि राज्य मंत्री रणवेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि केन्द्र सरकार 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने की बात कर रही है। मेरी सोंच है कि कोई भी किसान कृषि से आय दोगुनी करके अपनी आर्थिक स्थिति सुदृढ़ नहीं कर सकता।

आय दोगुनी करके भी कोई किसान अपने परिवार का भरण पोषण नहीं कर सकता

LUCKNOW. उत्तर प्रदेश सरकार के कृषि राज्य मंत्री रणवेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि केन्द्र सरकार 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने की बात कर रही है। मेरी सोच है कि कोई भी किसान कृषि से आय दोगुनी करके अपनी आर्थिक स्थिति सुदृढ़ नहीं कर सकता। गांव में जिसके पास 2,3,4 एकड़ जमीन है, वह गांव का सबसे बड़ा किसान माना जाएगा, क्योंकि गांव में जोत कम हो रही है। ऐसे किसान न बच्चों को अच्छी शिक्षा दे सकते हैं और न घर बना सकते हैं। 

Images/14-06-2019173049Evenafarmer.jpg

उ.प्र. कृषि अनुसंधान परिषद द्वारा आयोजित 30वें स्थापना दिवस पर एक दिवसीय सेमिनार को सम्बोधित करते हुए कृषि राज्य मंत्री रणवेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि कृषि के सा​थ पशु पालन से किसान अपनी आमदनी बढ़ा सकते हैं, क्योंकि गाय, भैंस, बकरी, मुर्गी पालन से दूध, गोबर की खाद की समस्या हल होगी तो बकरी, मुर्गी को बेंच कर पैसा कमा सकते हैं। उन्होने कहा कि बुन्देलखण्ड में अभी भी 3-4 ली.दूध देने वाले जानवर नहीं मिलेगे। उनकी नस्ले बदलने की आवश्यकता है। 

Images/14-06-2019173249Evenafarmer2.jpg

शहरों में किसान मेले लगाने से किसानों को कोई लाभ नहीं

उन्होंने कहा कि जैविक विधिक से तैयार किए गए आलू सड़ते नहीं हैं। वहीं, गेहूं में घुन नहीं लगता है। कृषि राज्य मंत्री ने कहा कि किसान मेले गांव में लगवाए जाने चाहिए, लेकिन लखनऊ, कानपुर, इलाहाबाद में लगवाए जाते हैं। कानपुर में फैक्ट्री हैं, वहां किसान की जगह उद्योगपति होते हैं। मेले गांव में दूर दराज में लगवाइये, जहां​ किसान को लाभ मिल सके। शहर के मेलों में किसान बसों में भरकर लाए जाते हैं। इनमें किसान केवल प्रदर्शन की चीजें देखता रह जाता है। वह खरीद नहीं पाता और सब्सिडी वापस चली जाती है।

Images/14-06-2019173235Evenafarmer1.jpg

 

गांव में मेले लगने का मतलब उनकी जरूरत के उपकरण वहीं सब्सिडी पर दिए जाने चाहिए। सब्सिडी लेने की शर्तें इतनी कठिन हैं कि सामान्य किसान के लिए मिलना मुश्किल है। 

उन्होंने कहा कि जब से गायों के लिए समस्या उत्पन्न हुई है, तब से किसानों का भैसों से लगाव बढ़ गया है। उन्होंने अपने अनुभव बताते हुए कहा कि किसानों को फर्टीलाइजर और कीटनाशक का प्रयोग छोड़कर जैविक खेती की ओर आना चाहिए, जिससे हमारा जीवन स्वस्थ और निरोगी रहे। क्योंकि जिस तरह आजकल किसान फल और सब्जियों में रासायनिक खादों और कीटनाशकों का प्रयोग कर रहा है उससे तो ऐसा लगता है कि दिन प्रतिदिन हम अपनी जिंदगी को बीमार बना रहे हैं। 

सेमिनार को डा. के.वी.प्रभू, डा. बिजेन्द्र सिंह डीजी,यूपीसीएआर लखनऊ, डा. ए.डी. पाठक, डा. पंजाब​ सिंह डीजी, आईसीएआर नई दिल्ली ने सम्बोधित किया। उद्घाटन सत्र की अध्यक्षता कै. विकास गुप्ता अध्यक्ष उपकार, तकनीकी सत्र की अध्यक्षता पंजाब सिंह ने की। अन्त में उपकार के सचिव ज्ञान सिंह ने धन्यवाद ज्ञापित किया। इनके अलावा अनेक वैज्ञानिक और किसान भी उपस्थित थे। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
जर्जर आवास खाली न किया तो कर्मचारियों पर होगी एफआईआर https://www.newstimes.co.in/news/78279/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-FIRs-will-be-on-staff-if-the-shabby-house-is-not-vacant898620Fri, 14 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/14-06-2019154931FIRswillbeo2.jpg' alt='Images/14-06-2019154931FIRswillbeo2.jpg' />विकास खण्ड माल परिसर में वर्षों पहलें बनाए गए सरकारी आवास कई वर्ष पूर्व निष्प्रयोज्य घोषित किये जा चुके है बावजूद इनमें से आधा दर्जन आवासोेेें में कर्मचारियों ने बैठने का अड्डा बना रखा है।

जर्जर आवास खाली न किया तो कर्मचारियों पर होगी एफआईआर

Images/14-06-2019154911FIRswillbeo1.jpg

Lucknow. विकास खण्ड माल परिसर में वर्षों पहले बनाए गए सरकारी आवास कई वर्ष पूर्व निष्प्रयोज्य घोषित किए जा चुके हैं। इसके बावजूद इनमें से आधा दर्जन आवासों में कर्मचारियों ने बैठने का अड्डा बना रखा है। इन आवासों में बाल विकास परियोजना का कार्यालय भी हैं, इसके अलावा यहां कई सचिवों के साथ मनरेगा के ब्लाक समन्यक ने भी एक आवास में अपना कार्यालय बना रखा है।

 

Images/14-06-2019154931FIRswillbeo2.jpg

पिछले खण्ड विकास अधिकारी आवासों में कार्यालय बनाने वाले कर्मचारियों को नोटिस जारी कर चुके थे, लेकिन किसी ने आवास खाली नहीं किया है। वर्तमान खण्ड विकास अधिकारी भानु प्रताप सिंह का कहना है कि 15 जून के बाद दूसरी नोटिस जारी की जाएगी। उसके बाद भी आवास खाली न करने वाले कर्मचारियों पर एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
यूपी में 6 IPS अफसरों के तबादले, पीवी रामाशास्त्री बनाए गए नए एडीजी लॉ एंड ऑर्डरhttps://www.newstimes.co.in/news/78276/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/New-ADG-Law-and-Order-made-PV-Ramashastri898617Fri, 14 Jun 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/14-06-2019153422NewADGLawan2.JPG' alt='Images/14-06-2019153422NewADGLawan2.JPG' />यूपी सरकार ने शुक्रवार को बड़ा प्रशासनिक फेरबदल किया है। जिसमें छह वरिष्ठ अधिकारियों आईपीएस का तबादला कर दिया गया है।

यूपी में 6 IPS अफसरों के तबादले, पीवी रामाशास्त्री बनाए गए नए एडीजी लॉ एंड ऑर्डर

Lucknow. यूपी सरकार ने शुक्रवार को बड़ा प्रशासनिक फेरबदल किया है, जिसमें छह वरिष्ठ अधिकारियों आईपीएस का तबादला कर दिया गया है। वहीं, आनंद कुमार को अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था के पद से हटाकर पीवी रमाशास्त्री की इस पद पर तैनाती की गयी है।

Images/14-06-2019153404NewADGLawan1.JPG

इन आईपीएस अधिकारियों का हुआ तबादला

  1. आनंद कुमार को पुलिस महानिदेशक/ महानिरीक्षक कारागार प्रशासन एवं सुधार सेवायें के पद पर भेजा गया है। 
  2. अपर पुलिस महानिदेशक पीवी रामाशास्त्री की तैनाती की गयी है।
  3. ब्रज भूषण अब अपर पुलिस महानिदेशक (वाराणसी जोन) का दायित्व संभालेंगे। 
  4. दीपेश जुनेजा को अपर पुलिस महानिदेशक (सुरक्षा) बनाया गया है।
  5. विजय कुमार यूपी पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोडर् दायित्व संभालेंगे है। 
  6. चंद्र प्रकाश को अपर पुलिस महानिदेशक नियम एवं ग्रंथ के पद पर भेजा गया है।

यह भी पढ़ें:-...जम्मू कश्मीर: पुलवामा में आतंकियों व सुरक्षाबलों के बीच हुई मुठभेड़,दो आतंकी मारे गए

Images/14-06-2019153422NewADGLawan2.JPG
© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
इस युवक ने पीएम मोदी को दी अनूठे अंदाज में बधाई, जानकर दंग रह जाएंगे आपhttps://www.newstimes.co.in/news/78249/भारत/उत्तर-प्रदेश-/This-young-man-congratulated-PM-Modi-on-the-unique-style-knowing-that-you-will-be-stunned898590Fri, 14 Jun 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/14-06-2019095711Thisyoungman2.jpg' alt='Images/14-06-2019095711Thisyoungman2.jpg' />प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता के किस्से किसी से छिपे नहीं है। उनके चाहने वालों की दीवानी किस हद तक पहुंच जाए कुछ कहा नहीं जा सकता है। लोकसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत के बाद एक बार फिर मोदी सरकार बनने के बाद उन्हें बधाई देने के लिए उनके प्रशंसक अलग अलग तरीके अपना रहें हैंं। कोई अपने बच्चे का नामकर पीएम मोदी के नाम पर कर रहा है तो कोई सीने पर मोदी का नाम गुदवा रहा है। इन्हीं सबके बीच पीलीभीत का एक मामला सामने आया है। जहां युवक ने पीएम मोदी को बधाई देने के लिए जो तरीका अपनाया है उसने उसे सुर्खियों में ला दिया है। 

इस युवक ने पीएम मोदी को दी अनूठे अंदाज में बधाई, जानकर दंग रह जाएंगे आप

New Delhi. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता के किस्से किसी से छिपे नहीं है। उनके चाहने वालों की दीवानी किस हद तक पहुंच जाए कुछ कहा नहीं जा सकता है। लोकसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत के बाद एक बार फिर मोदी सरकार बनने के बाद उन्हें बधाई देने के लिए उनके प्रशंसक अलग अलग तरीके अपना रहें हैंं। कोई अपने बच्चे का नामकर पीएम मोदी के नाम पर कर रहा है तो कोई सीने पर मोदी का नाम गुदवा रहा है। इन्हीं सबके बीच पीलीभीत का एक मामला सामने आया है। जहां युवक ने पीएम मोदी को बधाई देने के लिए जो तरीका अपनाया है उसने उसे सुर्खियों में ला दिया है। 

Images/14-06-2019095643Thisyoungman1.jpgImages/14-06-2019095711Thisyoungman2.jpg

यह भी पढ़े...वायु सेना का बयान: एनएन-32 पर सवार सभी 13 की हुई मौत

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
निर्जला एकादशी में भगवान विष्णु की आराधना बड़ा फलदायीhttps://www.newstimes.co.in/news/78240/भारत/उत्तर-प्रदेश-/The-worship-of-Lord-Vishnu-in-Nirjala-Ekadashi-is-considered-to-be-fruitful.898581Thu, 13 Jun 2019 00:00:00 GMTSHRADDHA SAHUहिन्दु धर्म में ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी यानि निर्जला एकादशी सभी एकादशियों के लिए खास महत्व रखता है। शास्त्रों के मुताबिक इस दिन जल दान करने से इंसान को दोहरा फल मिलता है।

निर्जला एकादशी में भगवान विष्णु की आराधना बड़ा फलदायी

Lucknow. हिन्दू धर्म में ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी यानि निर्जला एकादशी सभी एकादशियों के लिए खास महत्व रखता है। शास्त्रों के मुताबिक, इस दिन जल दान करने से इंसान को दोहरा फल मिलता है। इस दिन सभी एकादशियों को अन्न व जल ग्रहण किए  बिना निर्जला एकादशी का व्रत पूरा करता है। ऐसा माना जाता है कि वर्ष में होने वाली 24 एकादशियों में यह एकादशी सबसे बड़ी होती है।

ऐसा कहा जाता है कि महाभारत काल में पांडव पुत्र भीम ने भी निर्जला एकादशी का व्रत रखा था, जिसके चलते इसे भीमसेन एकादशी के नाम से भी जाना जाता है।  शास्त्रो में बताया गया है कि दस दिन भगवान विष्णु की आराधना करना भी अति फलदायी होता है। व्रत के दौरान भगवान विष्णु की तस्वीर या प्रतिमा पर गंगाजल अर्पित कर रोली व सिंदूर से तिलक लगा देशी घी से दीपक जला विधि विधान से पूजा करनी चाहिए। 

निर्जला एकादशी व्रत वाले दिन वस्त्र, जूते, छाता, बर्तन, जल व दूध आदि का दान पुण्य माना जाता है।इसके साथ ही प्याऊ लगाकर या फिर सबीर लगाकर पुण्य कर्म करते है।

यह भी पढ़े...चीन ने भारत में सुन वीदोंग को नया राजदूत किया नियुक्त
 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
इंदिरानगर कूड़े का लगा अंबार, लोगों को हो रही परेशानीhttps://www.newstimes.co.in/news/78235/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-इंदिरा-नगर-indiranagar-me-laga-kude-ka-ambar898576Thu, 13 Jun 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-06-2019163539indiranagarme2.jpg' alt='Images/13-06-2019163539indiranagarme2.jpg' />नवाबों के शहर लखनऊ में नगर निगम अपने तमाम कार्यों के प्रति सचेत बिल्कुल भी नहीं है। मुहल्लों में पड़े कूड़े साफ बयां कर रहे हैं कि निगम की लापरवाही किस कदर चल रही हैं।

इंदिरानगर कूड़े का लगा अंबार, लोगों को हो रही परेशानी

Lucknow. नवाबों के शहर लखनऊ में नगर निगम अपने तमाम कार्यों के प्रति सचेत बिल्कुल भी नहीं है। मुहल्लों में पड़े कूड़े साफ बयां कर रहे हैं कि निगम की लापरवाही किस कदर चल रही हैं। स्थानीय लोगों के माध्यम से साफ सफाई संबंधी कई बार सूचना देने या शिकायत करने के बाद भी नगर निगम उनकी शिकायतों को अनदेखा कर रहा है।

Images/13-06-2019163535indiranagarme1.jpg

बता दें कि राजधानी लखनऊ के इंदिरा नगर सेक्टर 16 में स्पेंसर के पास कूड़े का अम्बार लगा हुआ है, लेकिन नगर निगम इससे अनजान बना हुआ है। वहीं, आवारा मवेसी कचरे को सड़कों में फैला रहे हैं और ऐसे माहौल में स्थानीय लोग बहुत परेशान हैं।

Images/13-06-2019163539indiranagarme2.jpg

वहीं, स्थानीय लोगों का कहना है कि नगर निगम से कई बार अपनी बात रखने के बाद भी उनकी समस्या का समाधान नहीं हो रहा है।

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
पानी की किल्लत से परेशान कंपनियां, कहा-घर से करें कामhttps://www.newstimes.co.in/news/78234/भारत/Disturbed-companies-with-water-shortage-said-work-from-home898574Thu, 13 Jun 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-06-2019162547Disturbedcomp2.jpg' alt='Images/13-06-2019162547Disturbedcomp2.jpg' />देश भर में भीषण गर्मी का कहर लगातार जारी है। हालांकि, मानसून ने करवट लेनी शुरू कर दी है। लेकिन जब तक बारिश का मौषम अपना रंग नहीं दिखाता गर्मी अपना कहर ढहाता ही रहेगा। कई जगहों पर पानी की इतनी किल्लत हो चुकी है कि लोगों को दूर दराज से पानी लाना पड़ रहा है।

पानी की किल्लत से परेशान कंपनियां, कहा-घर से करें काम

New Delhi. देश भर में भीषण गर्मी का कहर लगातार जारी है। हालांकि, मानसून ने करवट लेनी शुरू कर दी है। लेकिन जब तक बारिश का मौषम अपना रंग नहीं दिखाता गर्मी अपना कहर ढहाता ही रहेगा। कई जगहों पर पानी की इतनी किल्लत हो चुकी है कि लोगों को दूर दराज से पानी लाना पड़ रहा है। वहीं, चेन्नई स्थित ओल्ड महाबलिपुरम रोड (ओएमआर) पर स्थित आईटी कंपनियों ने पानी की किल्लत को देखते हुए कहा कि कार्यालय में पानी नहीं है, कर्मचारी अपने अपने घर से काम करें। 

Images/13-06-2019162547Disturbedcomp2.jpg

बताया जा रहा कि यहां शहर में करीब 2 सौ दिनों से बारिश नहीं हुई हैं। यही नहीं आने वाले तीन महीनों तक पानी की किल्लत से उबरने का कोई जरिया भी दूर दूर तक दिखाई नहीं दे रहा। इसलिए आईटी कंपनियों ने कर्मचारियों को सलाह दी है कि वह अपनी सुविधा के अनुरूप कहीं से भी काम कर सकते हैं। टाइम्स ऑफ इंडिया ने सूत्रों के हवाले से यह बता है कि 12 कंपनियों में करीब 5,000 टेक कर्मचारियों को यह कह दिया गया कि वह घर से अपना काम पूरा करें। वहीं, एक और सूत्र का ये कहना है कि 'चार साल पहले जब निजी टैंकर वालों ने हड़ताल कर दी थी। उस दौरान अंतिम बार कर्मचारियों के लिए घर से काम करने का फरमान सुनाया गया था। ओएमआर में तकरीबन 600 आईटी कंपनियां और आईटीईएस कंपनियां हैं।

बताते चलें कि कंपनियां पानी के बचत को लेकर काफी कोशिशें कर रही हैं। यहां तक कि बोर्ड बिजनेस स्कूल प्रबंधन ने भी कर्मचारियों से कह दिया है कि वह घर से पानी अपने साथ लेकर आएं। एक तकनीकी आधारित जल प्रबंधन स्टार्टअप ग्रीनएनवायरमेंट के संस्थापक और सीईओ वरुण श्रीधरन ने पानी के बचत को लेकर यह कहा है कि 'कंपनियां जरूरत के अनुरूप लगभग 55% पानी उपयोग करने के साथ ही हर समय निगरानी की जा रही है। खबरों के मुताबिक कुछ कंपनी के मैनेजरों का यह भी कहना है कि यह निश्चित रूप से कह पाना मुश्किल है कि कंपनियां कब तक काम कर पाएंगी। 

बता दें कि ओएमआर को भीषण गर्मी से जूझने के दौर में डेली तकरीबन तीन करोड़ लीटर पानी की आवश्यकता होती है। इसमें अधिक हिस्से के पानी की व्यवस्था बाहर से ही की जाती है। हालांकि, ओएमआर के आईटी प्रतिनिधियों ने मेट्रोवाटर से संपर्क किया कि उनकी सहायता करें। लेकिन अधिकारियों ने जो वादा किया था, उसे भी निभा नहीं पाए। बताया जा रहा कि पानी की किल्लत ने सिप्कॉट आईटी पार्क को सबसे अधिक प्रभावित कर दिया है। यहां पर जो 46 कंपनियां है,उनको रोजाना दो मिलियन लीटर पानी की आवश्यकता पड़ती है। यह पानी पार्क में स्थित 17 कुओं से निकालकर लाया जाता है।

सिप्कॉट के एक अधिकारी का कहना है कि अभी तो एक मिलियन लीटर पानी ही कुओं की सहायता से आ रहे हैं। कर्मचारियों को पानी की सुविधाएं। टैंकर की मदद से उपलब्ध कराई जा रही है। पानी के बचत को लेकर कुछ आईटी कंपनियों ने जल संरक्षण के लिए पोस्टर लगाकर जागरूक करने का प्रयास किया है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
यूपी में आंधी पानी का कहर, 17 की मौतhttps://www.newstimes.co.in/news/78228/भारत/Terror-storm-hits-UP-17-killed898567Thu, 13 Jun 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/13-06-2019155450Terrorstormh1.jpg' alt='Images/13-06-2019155450Terrorstormh1.jpg' /> देशभर में भीषण गर्मी के बाद मौषम करवट ले रहा है। जहां एक ओर रिकॉर्ड तोड़ गर्मी तबाही मचा रही थी, वहीं अब आंधी पानी अपना प्रभाव दिखा रही है। आंधी पानी के कारण राज्य के अलग अलग जिलों में 17 लोगों की मौत हो गई। बताया जा रहा कि आंधी पानी के कहर की वजह से सिद्धार्थनगर में चार, देवरिया व अवध में तीन-तीन, बलिया में दो, आजमगढ़, कुशीनगर, महाराजगंज, लखीमपुर और पीलीभीत में एक-एक और लोगों की मौत हो गई।

यूपी में आंधी पानी का कहर, 17 की मौत

New Delhi. देशभर में भीषण गर्मी के बाद मौसम करवट ले रहा है। जहां एक ओर रिकॉर्ड तोड़ गर्मी तबाही मचा रही थी, वहीं अब आंधी पानी अपना प्रभाव दिखा रही है। आंधी पानी के कारण राज्य के अलग अलग जिलों में 17 लोगों की मौत हो गई। बताया जा रहा कि आंधी पानी के कहर की वजह से सिद्धार्थनगर में चार, देवरिया व अवध में तीन-तीन, बलिया में दो, आजमगढ़, कुशीनगर, महाराजगंज, लखीमपुर और पीलीभीत में एक-एक और लोगों की मौत हो गई। आंधी के कारण पेड़ भी गिरे। यहां तक कि कई स्थानों पर बिजली के पोल भ्ज्ञी उखड़ गए। जिस वजह से लोगों को अंधकार में रहने को भी मजबूर होना पड़ा। 

Images/13-06-2019155450Terrorstormh1.jpg

खबरों के मुताबिक, आंधी के कारण टिन शेड गिर गया। यहां मेडिकल कॉलेज में निर्माण कार्य कर रहे मजदूर रहीम (30) की मौत हो गई। मजबूर बिहार राज्य के कटिहार का रहने वाला था। वहीं, शमीम और खुशबुल गंभीर रूप से जख्मी हो गए। शोहरतगढ़ के चोहट्टा गांव निवासी बृजभान यादव (30) खेत से वापस घर लौट रहे थे। इस बीच तेज आंधी पानी आ गई ओर बिजली गिरने के कारण उनकी मौत हो गई।

ढेबरुआ गांव निवाली विशाल (22) के उपर पेड़ गिर गया। इससे उनकी मौत हो गई। डुमरियागंज स्थित त्रिलोकपुर थाना इलाके के पेड़रा गांव निवासी बुधना (65) पत्नी साधू की भी आंधी के कारण मौत हो गई। बताया जा रहा कि वह पशुओं से अपने बाग की सुरक्षा के लिए बैठी हुई थी। उनके उपर पेड़ गिर गया था। देवरिया के भलुअनी कस्बे में सोलर प्लेट और बिजली का खंभा गिर गया। इस हादसे में चाय बेचने वाले हरिलाल मद्धेशिया के 22 वर्षीय बेटे शुभम की मौत हो गई। बस्ती निवासी इसरावती (55) के ऊपर बिजली गिर गई इससे उनकी मौत हो गई। इसी तरह अन्य इलाकों में भी आंधी और पानी के कहर से लोगों की मौतें हुई। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
धार्मिक नहीं रोमांच से भी भरपूर है हरिद्वारhttps://www.newstimes.co.in/news/78195/भारत/उत्तर-प्रदेश-/Though-religious-but-Haridwar-is-also-filled-with-adventure898533Wed, 12 Jun 2019 00:00:00 GMTANKUR SHARMA<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-06-2019185338Thoughreligio3.jpg' alt='Images/12-06-2019185338Thoughreligio3.jpg' /> हरिद्वार को यूं तो धार्मिक स्‍थल माना जाता है लेकिन यहां ऐसे बहुत सारी चीजें हैं जो इस धार्मिक नगरी को और भी ज्‍यादा खूबसूरत और रोमांचक बना देती हैं। तो अगर आप भी हरिद्वार जा रहे हैं तो इन जगहों पर जाना हरगिज न भूलें...

धार्मिक नहीं रोमांच से भी भरपूर है हरिद्वार

Uttar Pradesh. हरिद्वार यानी देवो की नगरी का नाम तो आप सभी ने सुना होगा। यह नाम सुनते ही जेहन में धार्मिक नगर का ख्‍याल आ जाता होगा। देवो से मशहूर इस नगरी में कई सारी ऐसी जगहें हैं, जो इसकी खूबसूरती में चार चांद लगा देती हैं। साथ ही आपकी यात्रा को और भी ज्‍यादा रोचक और रोमांचक बना देती हैं। तो अगर इस बार आप हरिद्वार का ट्रिप प्‍लान करें तो इन जगहों को एक्‍सप्‍लोर करना न भूलें।

राजाजी नैशनल पार्क

Images/12-06-2019185153Thoughreligio1.jpg

राजाजी नैशनल पार्क को टाइगर रिजर्व के नाम से भी जाना जाता है। इसे स्‍वतंत्रता सेनानी श्री सी राजगोपालाचारी को समर्पित किया गया है। बता दें कि यहां पर आपको वन्‍यजीवों की बेहतरीन श्रृंखला देखने को मिलेगी। यहां पर आपको टाइगर के अलावा भालू और 315 तरह के पक्षियों को देखने का मौका मिलेगा।

झिलमिल कंजर्वेशन रिजर्व 

Images/12-06-2019185251Thoughreligio2.jpg

यह रिजर्व राजाजी नैशनल पार्क से कुछ ही दूरी पर स्थित एक खूबसूरत वेटलैंड है। इसे स्‍वैंप डियर यानी कि बारहसिंगा का घर भी कहा जाता है। यहां पर हिरनों की पांच प्रजातियां पाई जाती है।

भारत माता मंदिर

Images/12-06-2019185338Thoughreligio3.jpg

यह मंदिर बेहद अनोखा है। इसका निर्माण स्वामी सत्यमित्रानंद गिरि ने किया था। यह मंदिर बहुमंजिला है। यहां आपको भारत के शूर वीरों की तस्‍वीरों के जरिए उनके योगदान के बारे में जानने का मौका मिलेगा। इसके अलावा अलग-अलग मंजिलों पर भारत के इतिहास, धर्म, स्‍त्री शक्ति, प्रकृति प्रेम सहित अन्‍य रूपों को चित्रों और मूर्तियों के जरिए देखने और समझने का मौका मिलेगा। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
कमीशन न मिलने के कारण इस बार कम खरीदा गया गेहूंhttps://www.newstimes.co.in/news/78193/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-Due-to-non-receipt-of-commission-this-time-Gahu-was-bought-less898531Wed, 12 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-06-2019181454Duetonon-rec1.jpg' alt='Images/12-06-2019181454Duetonon-rec1.jpg' />इस बार सरकारी गेहूॅ क्रय केन्दा्ें पर कम गेहूॅं आने का एक कारण तो बाजार में गेहूॅ के महंगा होने की संभावना है। दूसरा कारण साधन सहकारी समितियों को सरकार से मिलने वाला कमीशन है

कमीशन न मिलने के कारण इस बार कम खरीदा गया गेहूं

LUCKNOW.  इस बार सरकारी गेहूं क्रय केन्द्रों पर कम गेहूं आने का एक कारण बाजार में गेहूं के महंगा होने की संभावना है। वहीं, दूसरा कारण साधन सहकारी समितियों को सरकार से मिलने वाला कमीशन है, जिससे कर्मचारियों का वेतन मिलता है। समितियों पर तैनात सचिवों ने बताया कि उनका पिछले साल का कमीशन बाकी है, जो एफसीआई को देना है। 

Images/12-06-2019181454Duetonon-rec1.jpg

सूत्र बताते हैं कि राजधानी के सभी विकास खण्डों की समितियों का करीब 36 लाख रुपए पिछले सत्र का बकाया है। इस साल का कमीशन अभी मिलने की कम ही संभावना है। इसलिए समितियों के सचिव गेहूं क्रय करने में अधिक रूचि नहीं ले रहे हैं। 

कमीशन न मिलने के सम्बन्ध में मंडल प्रबंधक वैभव कुमार ने कहा कि पिछले साल के कमीशन में काफी कागजी कमियां थीं इसलिए वह रूका हुआ है लेकिन इस बार का पैसा भेजा जा रहा है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
नाबालिग से रेप पर इस राज्य में और सख्त कानून, दोषियों को बनाया जाएगा नपुंसकhttps://www.newstimes.co.in/news/78186/भारत/Rape-will-be-made-in-this-state-on-the-minor-and-strict-laws-impostors-will-be-made-guilty898524Wed, 12 Jun 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-06-2019162736Rapewillbem1.png' alt='Images/12-06-2019162736Rapewillbem1.png' />नाबालिग बच्चियों की सुरक्षा को लेकर भारत में ही नहीं विश्व भर में सख्त से सख्त कानून बनाए गए हैं। लेकिन किशोरियों के साथ रेप जैसी घिनौनी वारदातें रुकने का नाम नहीं ले रही। हर तरह के कानून बनने के बाद अब अमेरिका ने नाबालिग बच्चियों से रेप की सजा और भी सख्त कर बनाने का प्राविधान किया गया है। यह कदम यहां रेप के आरोपियों को सख्त से सख्त सजा देने की मांग पर उठाया गया है। 

नाबालिग से रेप पर इस राज्य में और सख्त कानून, दोषियों को बनाया जाएगा नपुंसक

New Delhi. नाबालिग बच्चियों की सुरक्षा को लेकर भारत में ही नहीं विश्व भर में सख्त से सख्त कानून बनाए गए हैं, लेकिन किशोरियों के साथ रेप जैसी घिनौनी वारदातें रुकने का नाम नहीं ले रही। हर तरह के कानून बनने के बाद अब अमेरिका ने नाबालिग बच्चियों से रेप की सजा और भी सख्त कर बनाने का प्राविधान किया गया है। यह कदम यहां रेप के आरोपियों को सख्त से सख्त सजा देने की मांग पर उठाया गया है। 

यह भी पढ़ें... बंगाल में होगा राम मंदिर का निर्माण, सीएम योगी करेंगे शिलान्यास

Images/12-06-2019162736Rapewillbem1.png

रेप के दोषियों को सख्त सजा देने की मांग पर अमेरिका के एक राज्य ने निर्णय लिया है कि आरोपी को केमिकल युक्त इंजेक्शन लगाकर नपुंसक बना दिया जाएगा। नपुंसक बनाने के लिए इंजेक्शन के अलावा दवाओं का इस्तेमाल किया जा सकता है।

अमेरिका के अलाबामा में यह सख्त कानून बच्चियों की सुरक्षा के लिहाज से बनाया गया है। यह कानून उन रेपिस्टों के लिए बनाई गई है, जो 13 साल से कम उम्र की बच्चियों के साथ इस तरह की दरिंदगी के दोषी पाए जाते हैं। 

नाबालिग बच्चियों से रेप पर बने नए सख्त कानून में दोषियों को उस समय यह इंजेक्शन लगाया जा सकता है, जब उसे पैरोल पर छोड़ा जाए। केमिकल्स युक्त इंजेक्शन के कारण आरोपी का  सेक्स ड्राइव पूरी तरह से घट जाएगा।

मीडिया रिपोर्ट की माने तो नपुंसक बनाने वाली इस केमिकल युक्त इंजेक्शन का असर हमेशा के लिए नहीं होगा। पैरोल लेने से एक माह पहले ही इस तरह के इंजेक्शन लगाए जाएंगे। इस इंजेक्शन में जो भी खर्च आएगा उसकी वसूली भी दोषी से ही होगी। जो आरोपी इंजेक्शन नहीं लगवाएगा उनको जेल से रिहा नहीं किया जाएगा।

बताते चलें कि नए कानून के बाद अब कोर्ट यह तय करेगा कि कब तक दोषी को केमिकल्स युक्त इंजेक्शन लगाए जाने की आवश्यकता है। गौरतलब है कि अलाबामा के बाद अमेरिका के 7 ऐसे राज्य हो जाएंगे जहां इस तरह के कानून का प्राविधान है।

केमिकल कैस्ट्रैक्शन में टैबलेट या इंजेक्शन का प्रयोग किया जाता है। वहीं, दूसरी ओर अमेरिकी सिविल लिबर्टी यूनियन ऑफ अलाबामा ने नए कानून की आलोचना की थी। यूनियन ने कहा था कि यह साफ नहीं है कि इस स्टेप का असल में कितना असर होता है। इस तरह का कानून राज्यों में संविधान के खिलाफ है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
आवारा पशुओं की गौशाला बनी पतौना की कुटीhttps://www.newstimes.co.in/news/78192/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-Cottage-pot898530Wed, 12 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-06-2019160122Cottagepot.jpg' alt='Images/12-06-2019160122Cottagepot.jpg' />LUCKNOW. विकास खण्ड माल के ग्राम पतौना में एक कुटी है जहां आवारा जानवरों के लिए पानी औरे चारे की व्यवस्था बाबा अपने श्रोतों से वहन कर रहे हैं। इसकी खासियत यह है कि यहां जो गायें दूध देने वाली होत

आवारा पशुओं की गौशाला बनी पतौना की कुटी

Images/12-06-2019160032Cottagepot.jpg

LUCKNOW. विकास खण्ड माल के ग्राम पतौना में एक कुटी है, जहां आवारा जानवरों के लिए पानी और चारे की व्यवस्था बाबा अपने श्रोतों से वहन कर रहे हैं। इसकी खासियत यह है कि यहां जो गायें दूध देने वाली होती हैं उनको और उनके बछड़ों को बांध कर रखते हैं जिससे सांड़ उनको और उनके बछड़ों को मारने न पाएं। इन गायों का जो दूध होता है उसे खाने के बाद बचे हुए दूध का खोया बना डालते हैं।

Images/12-06-2019160202Cottagepot.jpg

यहां मौजूद गोपालदास ने बताया कि उनके गुरू श्यामलाल हैं जो महिगवां हरदोई के रहने वाले हैं। अपनी जमीन पर हर साल किसान क्रेडिट कार्ड से पैसा निकाल कर गौशाला पर खर्च करते हैं। जब उनके पास पैसा होता है तो उसे अदा कर देते हैं।

Images/12-06-2019160122Cottagepot.jpg

इसके अलावा पतौना के ही शिवकुमार ने बताया कि वह यहां गायों की सेवा करने और बाबा​ की सहायता करने आ जाते हैं। जिस रकबे पर यह गौेशाला है वह कुटी के नाम से देव स्थान है। यहां जितने में आवारा जानवर हैं वह सब दिन में क्षेत्र में घूमते खाते हैं रात को वहीं आकर पानी पीते हैं। जो भूखे होते हैं उनको भूसा चारा खिला देते हैं। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
हरिद्वार: गंगा दशहरा पर्व में लगी जाम, ट्रैफि​क व्यवस्था चरमराईhttps://www.newstimes.co.in/news/78161/भारत/उत्तराखंड-/Haridwar:-In-the-Ganga-Dashwara-festival-traffic-jam898499Wed, 12 Jun 2019 00:00:00 GMTSHRADDHA SAHU<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-06-2019120141HaridwarInt2.JPG' alt='Images/12-06-2019120141HaridwarInt2.JPG' />आज देशभर में गंगा दशहरा का पर्व मनाया जा रहा है।देश के विभिन्न क्षेत्रो से हजारो श्रद्धालु पवित्र तीर्थ स्थल हरिद्वार में गंगा स्नान को पहुॅचे है जिसकी वजह से पुरे शहर में ट्रैफिक जाम लगा हुआ है।

हरिद्वार: गंगा दशहरा पर्व में लगी जाम, ट्रैफि​क व्यवस्था चरमराई

Haridwar. आज देशभर में गंगा दशहरा का पर्व मनाया जा रहा है। हिंदू मान्यता के अनुसार गंगा दशहरा के दिन गंगा का अवतार हुआ था। गंगा दशहरा के दिन गंगा में स्नान करने का विशेष धार्मिक महत्व है। इस दिन करोड़ों लोग गंगा में आस्था की डुबकी लगाकर पुण्य का लाभ कमाते हैं। इस मौके पर हरिद्वार, बनारस और देश के विभिन्न  जगहों पर श्रद्धालुओं ने गंगा नदी में आस्था की डुबकी लगाई है।

Images/12-06-2019120141HaridwarInt2.JPG

देश के विभिन्न क्षेत्रों से हजारों श्रद्धालु पवित्र तीर्थ स्थल हरिद्वार में गंगा स्नान को पहुंचे हैं, जिसकी वजह से पूरे शहर में ट्रैफिक जाम लगा हुआ है। हरिद्वार में श्रद्धालुओं के भीड़ के चलते यातायात व्यवस्था में दिक्कतें उत्पन्न हो रही ​है, जिस​के कारण पुलिस ने रूट में बदलाव किया है। अब लोगों को चारधाम बिजनौर के रास्ते हो कर जाना पड़ेगा। यह फैसला गंगा दशहरे के मौके पर श्रद्धालु के भीड के कारण किया गया है। ताकि ट्रैफि​क की समस्या से निजात पाई जा सके। जाम के वजह से यात्री के साथ स्थानीयवासियों को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

यह भी पढ़े...वायु चक्रवाती तूफान गुजरात में दे सकता है दस्तक, हाईअलर्ट जारी

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
मणिपुर के इस युवक को मिला फेसबुक हॉल ऑफ फेम में स्थान, 5000 डॉलर का इनाम भीhttps://www.newstimes.co.in/news/78145/भारत/This-man-of-Manipur-got-a-place-in-the-Facebook-Hall-of-Fame898480Wed, 12 Jun 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-06-2019101554ThismanofMa1.jpg' alt='Images/12-06-2019101554ThismanofMa1.jpg' />फेसबुक अक्सर किसी न किसी को पुरस्कार देने के लिए भी जाना जाता है। हाल ही में फेसबुक ने यूजर की निजता भंग करने वाले व्हाट्सएप बग को ढ़ूढने  वाले एक यूवक को सम्मानित किया है। 

मणिपुर के इस युवक को मिला फेसबुक हॉल ऑफ फेम में स्थान, 5000 डॉलर का इनाम भी

Images/12-06-2019101554ThismanofMa1.jpg

युवक मणिपुर का रहने वाला है। फेसबुक ने 22 साल के जोनेल सौगैजम को 5,000 डॉलर यानी करीब साढ़े तीन लाख रुपये का इनाम भी दिया है। इतना ही नहीं उसे 'फेसबुक हॉल ऑफ फेम' में जगह भी दी गई है। 

यह भी पढ़ें... लोकल मार्केट में कपड़े बेचती नजर आई बाहुबली की यह एक्ट्रेस, जानें वजह

इस साल हॉल ऑफ फेम की 94 लोगों की सूची में सौगैजम को 16वां पायदान मिला है। सौगैजम पेशे से सिविल इंजीनियर हैं। इस बग के कारण व्हाट्सएप ऑडियो कॉल यूजर (रिसीवर) की इजाजत के बिना वीडियो कॉल में तब्दील हो रहा था। बग खोजने के बाद मणिपुरी युवक ने मार्च में फेसबुक को अपनी रिपोर्ट दी, जिसके आधार पर फेसबुक सिक्योरिटी टीम ने इस खामी को सुलझाया। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
इन कारणों से हुई फतेहवीर की मौत, रिपोर्ट में हुआ सच का खुलासाhttps://www.newstimes.co.in/news/78142/भारत/Fatehveer-s-death-had-already-happened-three-days-ago-revealing-many-things-in-the-report898477Wed, 12 Jun 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-06-2019094954Fatehveersde1.jpg' alt='Images/12-06-2019094954Fatehveersde1.jpg' />मासूम फतेहवीर सिंह की मौत बोरवेल में तड़प-तड़प कर हुई है। जब वह बोरवेल में गिरा तो उसके साथ रेत की बोरी भी थी। मुंह में रेत होने के कारण वह सांस नहीं ले पाया जिस कारण दम घुटने से उसकी मौत हो गई। उसके मुंह के अंदर से रेत और बार बोरी के अंश मिले हैं। 

इन कारणों से हुई फतेहवीर की मौत, रिपोर्ट में हुआ सच का खुलासा

New Delhi. मासूम फतेहवीर सिंह की मौत बोरवेल में तड़प-तड़प कर हुई है। जब वह बोरवेल में गिरा तो उसके साथ रेत की बोरी भी थी। मुंह में रेत होने के कारण वह सांस नहीं ले पाया जिस कारण दम घुटने से उसकी मौत हो गई। उसके मुंह के अंदर से रेत और बोरी के अंश मिले हैं। 

Images/12-06-2019094954Fatehveersde1.jpg

बता दें कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार बच्चे की मौत तीन से चार दिन पहले ही हो चुकी थी। उसका शरीर सड़ना शुरु हो गया था। यह खुलासा पीजीआई चंडीगढ़ की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ है। फतेहवीर का पोस्टमार्टम करने वाले पीजीआई के फॉरेंसिक डिपार्टमेंट के एचओडी डॉ. वाईएस बंसल व असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. सेनथिल ने बताया कि जब बच्चे को लाया गया तो न उसकी पल्स चल रही थी ना ही उसकी सांस चल रही थी।

धड़कन भी बंद थी। मंगलवार को करीब सवा ग्यारह बजे उसका पोस्टमार्टम पूरा हुआ। डॉक्टरों के मुताबिक मौत की एक वजह नहीं है, बल्कि कई सारे फैक्टर की वजहों से उसने दम तोड़ा है। पहली वजह, फतेहवीर को पर्याप्त ऑक्सीजन न मिलना। मेडिकल की भाषा में इसे हाइपोक्सिया कहते हैं। बोरवेल के अंदर पहले से ही घुटन की स्थिति बनी हुई थी। 

दूसरा, मुंह के ऊपर रेत होने के कारण उसे सांस लेने में दिक्कत आ रही थी। तीसरा, तापमान अधिक होने और खाने-पीने का सामान नहीं मिलने से उसे डिहाइड्रेशन भी हुआ। उसके हाथ में रेस्क्यू के निशान मिले हैं। जिससे पता चलता है कि उसे बचाने की कोशिश हुई है। शरीर के अंदर किसी भी तरह के चोट के निशान नहीं है।

  इन कारणों से हुई मौत

1- पर्याप्त आक्सीजन न मिलना
2- मुंह में रेत होने के कारण सांस न ले पाना
3- बोरवेल के अंदर घुटन की स्थिति का बनना
4- तापमान अधिक होने व पानी नहीं मिलने से डिहाइड्रेशन होना
5- तड़प-तड़प कर हुई मासूम की मौत

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
ईद मिलन समारोह में कई हस्तियां सम्मानितhttps://www.newstimes.co.in/news/78136/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Many-celebrities-honored-at-the-Eid-meeting898470Wed, 12 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/12-06-2019081923Manycelebriti3.jpg' alt='Images/12-06-2019081923Manycelebriti3.jpg' />नेशनल इत्तेहाद ए मिल्लत कन्वेंशन के अध्यक्ष हाजी सिराज मेंहदी पूर्व एमएलसी की अध्यक्षता में होटल क्लार्क, लखनऊ में ईद मिलन एवं सम्मान समारेाह का आयोजन

ईद मिलन समारोह में कई हस्तियां सम्मानित

Images/12-06-2019081746Manycelebriti1.jpg

LUCKNOW.  नेशनल इत्तेहाद ए मिल्लत कन्वेंशन के अध्यक्ष हाजी सिराज मेंहदी पूर्व एमएलसी की अध्यक्षता में होटल क्लार्क, लखनऊ में ईद मिलन एवं सम्मान समारेाह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का संचालन प्रसिद्ध शायर वासिफ फारूकी ने किया।

Images/12-06-2019081846Manycelebriti2.jpgImages/12-06-2019081923Manycelebriti3.jpg

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
जबरदस्त ​फीचर्स के लॉच किया Xiaomi ने अब अपना नया Mi Band 4 ...https://www.newstimes.co.in/news/78124/भारत/दिल्ली/The-best-features-of-Xiaomi-are-now-launching-its-new-Mi-Band-4-...888460Tue, 11 Jun 2019 00:00:00 GMTSHRADDHA SAHU<img src='http://newstimes.co.in/Images/11-06-2019162135Thebestfeatu1.jpg' alt='Images/11-06-2019162135Thebestfeatu1.jpg' />Xiaomi स्मार्टफोन ने बाजार में अच्छी खासी पकड बना ली ​है। अब वही यह इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स की तरफ रूख कर रही है। Xiaomi ने अब अपना नया इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स Mi Band 4 लॉन्च किया है​ जिसमें बेहतरीन हार्डवेयर और फीचर्स दिये गये है।

जबरदस्त ​फीचर्स के लॉच किया Xiaomi ने अब अपना नया Mi Band 4 ...

New Delhi..Xiaomi स्मार्टफोन ने बाजार में अच्छी खासी पकड बना ली ​है। अब वही यह इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स की तरफ रूख कर रही है। Xiaomi ने अब अपना नया इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स Mi Band 4 लॉन्च किया है​ जिसमें बेहतरीन हार्डवेयर और फीचर्स दिये गये हैं।

Images/11-06-2019162135Thebestfeatu1.jpg

Mi Band 4 में 39.9% बड़ा , AMOLED कलर डिस्प्ले के स़ाथ लॉच हुआ है। इस बैंड के टॉप पर 2.5D स्क्रैच रेसिस्टेंट टैंपर्ड ग्लास है। इसमें NFC सपोर्ट भी दिया गया है। Mi Band 4 में AliPay और WeChatPay के जरिए पेमेंट भी की सुविधा दी है। फिटनेस बैंड 50 मीटर तक वॉटर-रेसिस्टेंट है जिसमे 6 अलग-अलग तरीके के स्पोर्ट्स मोड, जैसे की- इंडोर रनिंग, स्विमिंग, साइकिलिंग और वाकिंग आदि को ट्रैक कर सकता है। Mi Band 4 का NFC वैरिएंट 15 दिनों तक की बैटरी लाइफ ऑफर करता है। वहीं, Mi Band 4 का स्टैंडर्ड वैरिएंट एक चार्ज पर 20 दिनों तक चल सकता है। 

Mi Band 4 का स्टैंडर्ड वैरिएंट CNY 169 (लगभग 1,700 रुपये) रखी गई है, जबकि इसके NFC संस्करण की कीमत CNY 229 (लगभग 2,300 रुपये) है।

यह भी पढ़े...सुप्रीम कोर्ट ने यूपी पुलिस से पूछा,किस आधार पर पत्रकार को किया गया गिरफ्तार,तुरन्त करें रिहा

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
संत समाज का बड़ा सवाल: क्या 8 राज्यों में हिंदुओं को संख्या के आधार पर मिलेगा अल्पसंख्यक का दर्जाhttps://www.newstimes.co.in/news/78120/भारत/उत्तर-प्रदेश-/The-big-question-of-saint-society:-will-Hindu-get-status-of-the-minority-in-8-states-on-the-bases-of-the-number888456Tue, 11 Jun 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/11-06-2019160132Thebigquesti1.jpg' alt='Images/11-06-2019160132Thebigquesti1.jpg' />अखिल भारतीय संत समिति की मांग ने सरकार को असमंजस में डाल दिया है। काशी के साधु संतों ने भारत सरकार को पत्र भेज कर अल्पसंख्यकों को 5 करोड़ की छात्रवृत्ति दिए जाने के सरकार फैसले का विरोध किया है। संतों का तर्क है कि यदि संख्या के आधार पर अल्पसंख्यक का निर्धारण होता है ​तो देश के 8 राज्यों में हिंदुओं को अल्पसंख्यक मानते हुए उन्हें वह सुविधाएं दी जानी चाहिए जो अल्पसंख्यकों दी जाती हैं।

संत समाज का बड़ा सवाल: क्या 8 राज्यों में हिंदुओं को संख्या के आधार पर मिलेगा अल्पसंख्यक का दर्जा

Lucknow. अखिल भारतीय संत समिति की मांग ने सरकार को असमंजस में डाल दिया है। काशी के साधु संतों ने भारत सरकार को पत्र भेज कर अल्पसंख्यकों को 5 करोड़ की छात्रवृत्ति दिए जाने के सरकार फैसले का विरोध किया है। संतों का तर्क है कि यदि संख्या के आधार पर अल्पसंख्यक का निर्धारण होता है ​तो देश के 8 राज्यों में हिंदुओं को अल्पसंख्यक मानते हुए उन्हें वह सुविधाएं दी जानी चाहिए जो अल्पसंख्यकों दी जाती हैं। 

Images/11-06-2019160132Thebigquesti1.jpg

यह भी पढ़े...औरैया में जबरदस्त धमाका: आतिशबाज का मकान ढहा, महिला की मौत

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
मुजफ्फरपुर: इंसेफेलाइटिस का कहर जारी, 38 पहुंचा मौतों का आंकड़ा https://www.newstimes.co.in/news/78118/भारत/बिहार/पटना/38-children-die-from-Encephalitis-in-Muzaffarpur888454Tue, 11 Jun 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/11-06-201915441538childrendi1.JPG' alt='Images/11-06-201915441538childrendi1.JPG' />बिहार के मुजफ्फरपुर में इंसेफेलाइटिस (एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रॉम) से बच्चों की मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है।

मुजफ्फरपुर: इंसेफेलाइटिस का कहर जारी, 38 पहुंचा मौतों का आंकड़ा

Muzaffarpur. बिहार के मुजफ्फरपुर में इंसेफेलाइटिस (एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रॉम) से बच्चों की मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। इससे अब तक 38 बच्चों की मौत हो चुकी है। रिपोर्ट्स के मुताबिक रविवार की रात से सोमवार देर रात तक 20 बच्चों की मौत हो गई है। वहीं, 31 और नए इंसेफेलाइटिस के शिकार बच्चों को को एसकेएमसीएच में भर्ती कराया गया है। 

Images/11-06-201915441538childrendi1.JPG

बताया जा रहा है कि बच्चों की बीमारी को देखते हुए चार आईसीयू चालू किए गए हैं, लेकिन मरीजों की लगातार बढ़ रही संख्या के कारण बेड कम पड़ रहे हैं। एक बेड पर दो-दो बच्चों का इलाज किया जा रहा है।

वहीं, एसकेएमसीएच से इलाज के लिए भर्ती कुछ बीमार बच्चे ठीक होने की भी खबर सामने आयी हैं। 6 बच्चों को इलाज के बाद पीआईसीयू से सामान्य वार्ड में शिफ्ट किया गया है। दूसरी तरफ सरकारी आंकड़ों में मौत की संख्या अभी भी 11 बताई जा रही है। 

यह भी पढ़ें:-...नीतीश ने पीके को लेकर दिया चौंकाने वाला बयान, मचा हड़कंप

एक्शन में आए सीएम नीतीश

मामले की गंभीरता को देखते हुए बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने सोमवार को इस मामले में विभाग के प्रधान सचिव को ध्यान देने की नसीहत दी है। सीएम ने कहा था कि बच्चों की मौत पर सरकार चिंतित है और इससे कैसे निपटा जाए इस पर काम चल रहा है। 

वहीं, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय ने सोमवार को सफाई देते हुए कहा था कि अभी तक 11 बच्चों के मौत की पुष्टि हुई है लेकिन इनसेफेलाइटिस से अभी तक किसी बच्चे की मौत नहीं हुई है। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
प्रचंड गर्मी के बीच इंद्रदेव ने बरसाईं राहत की बूंदें, एनसीआर में धूल भरी हवाएंhttps://www.newstimes.co.in/news/78103/भारत/prachand-garmi-ke-beech-indradev-ne-barsai--raahat-ki-boonden888439Tue, 11 Jun 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/11-06-2019113333prachandgarmi1.jpg' alt='Images/11-06-2019113333prachandgarmi1.jpg' />दिल्ली-एनसीआर सहित पूरे उत्तर भारत में गर्मी का कहर जारी है। इस बीच दिल्ली के कुछ इलाकों में बारिश हुई जिससे लोगों ने राहत की सांस ली। वहीं नोएडा समेत एनसीआर के कई इलाकों में धूल भरी तेज हवाओं के साथ मामूली बूंदाबांदी हुई जिससे लोगों को कुछ राहत मिली है।

प्रचंड गर्मी के बीच इंद्रदेव ने बरसाईं राहत की बूंदें, एनसीआर में धूल भरी हवाएं

New Delhi. दिल्ली-एनसीआर सहित पूरे उत्तर भारत में गर्मी का कहर जारी है। इस बीच दिल्ली के कुछ इलाकों में बारिश हुई जिससे लोगों ने राहत की सांस ली। वहीं नोएडा समेत एनसीआर के कई इलाकों में धूल भरी तेज हवाओं के साथ मामूली बूंदाबांदी हुई जिससे लोगों को कुछ राहत मिली है। 

Images/11-06-2019113333prachandgarmi1.jpg

बताते चलें कि दिल्ली के नेहरू प्लेस और दक्षिण दिल्ली के कई इलाकों में आज तेज बारिश हुई। गर्मी से परेशान लोगों के लिए ये बारिश राहत लेकर आई  है। हालांकि दूसरे इलाकों में भी लोग इस बारिश का इंतजार कर रहे हैं। 

यह भी पढ़ें... भाजयुमो जिला मंत्री पर हुई फायरिंग

गौरतलब है कि दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे उत्तर भारत में भीषण गर्मी का प्रकोप जारी है। दिल्ली में गर्मी ने सोमवार को दस साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। सफदरजंग में अधिकतम तापमान 45.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 17 जून 1945 को सबसे ज्यादा तापमान 46.7 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया था। मौसम विभाग ने पहले ही 10 जून के लिए भीषण गर्मी को लेकर रेड अलर्ट जारी कर रखा था।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
इंतजार खत्म, बहाल हुआ मनाली लेह मार्ग https://www.newstimes.co.in/news/78066/भारत/जम्मू-कश्मीर/Waiting-ends-Manali-Leh-route-restored888401Mon, 10 Jun 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/10-06-2019142749Waitingends,3.jpg' alt='Images/10-06-2019142749Waitingends,3.jpg' />देश के 15000 फीट की ऊंचाई वाले बारालाचा दर्रे से वाहनों का फर्राटा भरना आखिरकार शुरू हो गया। रिकार्ड बर्फबारी के कारण सीमा सड़क संगठन को इस मार्ग को बहाल करने से 22 दिनों का अतिरिक्त समय लगा। बता दें कि 485 किलोमीटर लंबा मनाली लेह मार्ग सामरिक दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण है। 

इंतजार खत्म, बहाल हुआ मनाली लेह मार्ग 

New Delhi. देश के 15000 फीट की ऊंचाई वाले बारालाचा दर्रे से वाहनों का फर्राटा भरना आखिरकार शुरू हो गया। रिकार्ड बर्फबारी के कारण सीमा सड़क संगठन को इस मार्ग को बहाल करने से 22 दिनों का अतिरिक्त समय लगा। बता दें कि 485 किलोमीटर लंबा मनाली लेह मार्ग सामरिक दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण है। 

Images/10-06-2019142712Waitingends,1.jpgImages/10-06-2019142732Waitingends,2.jpgImages/10-06-2019142749Waitingends,3.jpg

यह भी पढ़े...इंटरनेशनल क्रिकेट को युवराज का अलविदा

 

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
पाक पीएम इमरान ने नवाज शरीफ को नहीं दी ईद पर परिवार से मिलने की इजाजतhttps://www.newstimes.co.in/news/78046/भारत/Imran-government-not-allowed-Nawaz-Sharif-to-meet-the-family-on-Eid888378Mon, 10 Jun 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/10-Jun-2019mydLwb7ID11.jpg' alt='Images/10-Jun-2019mydLwb7ID11.jpg' />पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को ईद पर परिवार से मिलने की परमिशन नहीं मिली नवाज ने जेल में ही ईद की। वहीं उनकी पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की आलोचना की है।

पाक पीएम इमरान ने नवाज शरीफ को नहीं दी ईद पर परिवार से मिलने की इजाजत

New Delhi. पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को ईद पर परिवार से मिलने की परमिशन नहीं मिली नवाज ने जेल में ही ईद की। वहीं उनकी पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की आलोचना की है। पाकिस्तान की एक मीडिया रिपोर्ट में यह दावा किया जा रहा है। हालांकि पाकिस्तान सरकार ने इन दावों को गलत ठहराया है। 

Images/10-Jun-2019mydLwb7ID11.jpg

एक तरफ प्रधानमंत्री इमरान खान ने  खुद ईद का जमकर जश्न मनाया और शरीफ को तीसरे दिन भी उनके परिवार से मिलने नहीं दिया। बता दें नवाज शरीफ दिसंबर 2018 से लाहौर की कोट लखपत जेल में भ्रष्टाचार के मामले में सजा मिलने के बाद से बंद हैं। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
भजन गायकों ने अपने भजनों से भक्तों को किया मंत्रमुग्धhttps://www.newstimes.co.in/news/78038/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Bhajan-singers-made-devotees-to-mesmerize-with-their-hymns888370Sun, 09 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/09-06-2019191412Bhajansingers4.jpg' alt='Images/09-06-2019191412Bhajansingers4.jpg' />आनंदोत्सव कार्यक्रम में आए भजन गायकों ने भजनों की प्रस्तुति से भक्तों का मन मोह लिया।

भजन गायकों ने अपने भजनों से भक्तों को किया मंत्रमुग्ध

LUCKNOW. यूनाइट फाउण्डेशन के कार्यालय में हर माह की भांति जून माह के दूसरे रविवार को भी आनंदोत्सव भजन संध्या का आयोजन किया गया। आनंदोत्सव कार्यक्रम में आए भजन गायकों ने भजनों की प्रस्तुति से भक्तों का मन मोह लिया।

Images/09-06-2019191348Bhajansingers3.jpg

भजन संध्या की शुरुआत महाभारत के श्रीकृष्ण भजन की पंक्ति 'सबसे ऊंची प्रेम सगाई' से हुई। तत्पश्चात अनिल मिश्र ने राम चरित मानस को अपने जीवन में उतारने के लिए निम्न पंक्तियां सुनाई, 'लक्ष्मण सा भाई हो, कौशल्या सी माई हो। स्वामी तुम जैसा मेरा रघुराई हो, हो त्याग भरत जैसा, सीता जैसी नारी हो'। 

बांसुरी वादक मुकेश कुमार ने बांसुरी पर, 'तुम्हीं मेरे मंदिर, तुम्ही मेरी पूजा' और 'सावन का महीना पवन करे शोर' गीत के बोल सुनाकर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। भक्तों की भावना को ध्यान में रख्ते हुए 'राम सियाराम, सियाराम जय जय राम' और जाकी रही भावना जैसी, प्रभु देखी मूरत तिन तैसी का गुणगान किया।

Images/09-06-2019191456Bhajansingers5.jpg

अनिल मिश्र ने ही अपनी वाणी में अमृत घोल, 'ये रसना राधे-राधे बोल, यह बोल बड़े अनमोल' भजन गाकर भक्तों के सुर में सुर मिला दिया। एक अन्य भक्त ने अपनी इच्छाओं को कुछ इस तरह व्यक्त किया कि 'सांसों का क्या भरोसा, रूक जायं चलते-चलते'। एक बार फिर बांसुरी पर 'गोपाला हरि का प्यारा नाम है, मन भज ले हरि का प्यारा नाम है'।  रोशनलाल ने 'बिन भजन जिन्दगी किस काम की' और 'राम नाम अति मीठा है कोई गाके देख ले'। गाकर श्रोताओं का ध्यान अपनी ओर आकषित कर लिया।

Images/09-06-2019191311Bhajansingers1.jpg

दीपक वर्मा ने 'टूटे ना प्रीति तिहारी दाता', 'जब से तुमने नैन लगाया', मन ने अपना अगम भुलाया'। तत्पश्चात 'चरण में सदा तेरे आए हुए हैं, करो नाथ करूणा सताए हुए हैं' गाकर सबका मन जीत लिया।

Images/09-06-2019191327Bhajansingers2.jpg

अंत में रजनी तिवारी ने 'काला बदन दिल गोरा, कन्हैया तूने क्या जादू डाला' और 'चित्रकूट के घाट-घाट पर शबरी तेरे बाग' से सभी को तालियों के साथ लय मिलाने पर मजबूर कर दिया। 

Images/09-06-2019191412Bhajansingers4.jpg

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
भीषण गर्मी ढहा रही कहर, प्यास से 15 बंदरों की मौतhttps://www.newstimes.co.in/news/78017/भारत/15-monkeys-die-due-to-thundering-heat-thirst888349Sun, 09 Jun 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/09-06-201912032615monkeysdie1.jpg' alt='Images/09-06-201912032615monkeysdie1.jpg' />भीषण गर्मी का कहर बेजुबान पशुओं पर कहर ढहा रहा है। मध्य प्रदेश में पानी नहीं मिलने के कारण 15 बंदरों की मौत होने का मामला सामने आया है। गौरतलब है कि कई राज्यों के इलाकों में पारा 45 डिग्री या उससे अधिक ही हो गई है।

भीषण गर्मी ढहा रही कहर, प्यास से 15 बंदरों की मौत

Lucknow. बेजुबान पशुओं पर भी भीषण गर्मी का कहर ढहा रहा है। मध्य प्रदेश में पानी नहीं मिलने के कारण 15 बंदरों की मौत होने का मामला सामने आया है। गौरतलब है कि कई राज्यों के इलाकों में पारा 45 डिग्री या उससे अधिक ही हो गई है। तापमान बढ़ने क कारण न केवल पशुओं बल्कि आम जनों का जनजीवन भी अस्त व्यस्त हो चुका है। जानवर ही नहीं इंसान भी गर्मी के कारण बेहाल हैं। 

Images/09-06-201912032615monkeysdie1.jpg

खबरों के मुताबिक भीषण गर्मी में पानी न मिलने से देवास जिले की पुंजापुरा रेंज के जोशी बाबा  जंगल में काले मुंह के 15 बंदरों की मौत हो गई। वन विभाग के मुताबिक बंदरों के शव बरामद किए गए हैं। बंदरों का शव जहां से मिला है, वहां से 8 सौ मीटर दूरी पर एक नीद है। लेकिन नदी में पानी बहुत ही कम बचा है। नदी में बचे पानी को 50 से 60 बंदरों के गिरोह ने घेर रखा है। यहां अपना अड्डा जमाए बंदर दूसरी टोली के बंदरों को पनी नहीं पीने दे रहे। इसलिए प्यास से बंदरों की मौत हो गई है।

वन विभाग के मुताबिक पुंजापुरा रेंज के जोशी बाबा के जंगल में काले मुंह के नौ बंदर बृहस्पतिवार को मृत पाये गये। यही नहीं इसके अगले ही दिन 6 और काले बंदरों के शव बरामद हुए। बंदरों का एक समूह काली सिंध नदी की छोटी सहायक नदी पौनी पर बर कुछ पानी बचा है, इसकी निगरानी कर रहे हैं। बंदरों का ये गिरोह किसी दूसरे जानवरों को पानी पीने नहीं दे रहा है। मृतक बंदरों के शव को जांच के लिए भेज दिया गया है। साथ ही आस पास रह रहे बंदरों को पानी पीने की व्यवस्था भी कर दी गई है। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
वायुसेना ने किया खास ऐलान, लापता विमान एएन-32 की जानकारी देने वाले को मिलेगा 5 लाख का इनामhttps://www.newstimes.co.in/news/78012/भारत/Air-Force-announces-special-announcement-missing-informant-AN-32-informer-for-reward-of-5-lakh888344Sun, 09 Jun 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/09-06-2019103652AirForceanno1.JPG' alt='Images/09-06-2019103652AirForceanno1.JPG' />भारतीय  वायुसेना का आरुणाचल प्रदेश की पहाड़ियों में लापता हुआ विमान एएन-32 के बारे में अब तक कोई सुराग हाथ नहीं लगा है। बता दें कि विमान में 13 लोग सवार थे। वायुसेना ने विमान की जानकारी देने वाले को 5 लाख का ईनाम देने की घोषणा की है।

वायुसेना ने किया खास ऐलान, लापता विमान एएन-32 की जानकारी देने वाले को मिलेगा 5 लाख का इनाम

New Delhi. भारतीय  वायुसेना का आरुणाचल प्रदेश की पहाड़ियों में लापता हुआ विमान एएन-32 के बारे में अब तक कोई सुराग हाथ नहीं लगा है। बता दें कि विमान में 13 लोग सवार थे। वायुसेना ने विमान की जानकारी देने वाले को 5 लाख का ईनाम देने की घोषणा की है। शनिवार को खराब मौसम के बीच छठे दिन भी खोज अभियान लगातार जारी रहा, लेकिन अलग-अलग एजेंसियों के प्रयासों के बावजूद सफलता नहीं मिल पाई। 

Images/09-06-2019103652AirForceanno1.JPG

पूर्वी वायुसेना कमान के एयर ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ एयर मार्शल आरडी माथुर ने लापता विमान का विश्वसनीय सुराग देने वालों के लिए पांच लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की।

वायुसेना के प्रवक्ता ने कहा कि हालांकि विमान की तलाश जारी है, एयर मार्शल आरडी माथुर, पूर्वी वायुसेना कमान के एयर ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ ने विमान के बारे में पुख्ता जानकारी प्रदान करने वाले व्यक्ति या समूह को पांच लाख रुपये का नकद पुरस्कार देने की घोषणा की है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
छात्रों ने बनाया करेन्ट देने वाला सैंडल, मनचले पहुंचेंगे जेलhttps://www.newstimes.co.in/news/77995/भारत/उत्तर-प्रदेश-/special-sandal-for-the-protection-made-by-the-students-888325Sat, 08 Jun 2019 00:00:00 GMTSUJEET KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/08-06-2019150101specialsandal1.jpg' alt='Images/08-06-2019150101specialsandal1.jpg' />.

छात्रों ने बनाया करेन्ट देने वाला सैंडल, मनचले पहुंचेंगे जेल

Lucknow. लड़कियों और महिलाओं को छेड़छाड़ जैसी समस्या से निजात दिलाने के लिये मुरादाबाद में एक इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्र-छात्राओं ने एक अहम पहल की है। छात्र-छात्राओं ने एक साल मेहनत कर एक ऐसा सैंडल बनाया है, जो लड़कियों और महिलाओं को छेड़छाड़ की समस्या से तो निजात दिलायेगा ही, साथ ही छेड़छाड़ करने वालों को जेल भिजवाने में भी काम आयेगा।

Images/08-06-2019150101specialsandal1.jpg

इतना ही नहीं सैंडल को ड्रोन कैमरा से भी जोड़ा गया है जो मैसेज के मिलते ही तेज़ी से उड़ेगा और पुलिस का सायरन बजाता हुआ मौके पर पहुँच तस्वीरे वीडियो लेकर नज़दीकी थाने और परिवार तक पहुंचेगा। इस प्रोजेक्ट का नाम उन्होंने द फ्लाईंग कॉप एंड वुमेन डिफेंस सिस्टम दिया है। यह प्रोजेक्ट राष्ट्रीय प्रतियोगिता में चयनित हो चुका है। 


वहीं प्रोजेक्ट बनाने वाले दिवाकर शर्मा ने बताया कि अपनी बहन और अपनी सहपाठी आशी की सुरक्षा की चिंता उनको हर वक्त सताती थी। इसी चिंता से निदान को उन्होंने अपने सहयोगी की मदद से यह प्रोजेक्ट तैयार कर लिया है। उनकी इच्छा है कि इस सैंडल को बाजार में उतारा जाये ताकि महिलाएं कहीं भी खुद को सुरक्षित महसूस कर सके।


एचओडी डॉ. अखिलेश शुक्ला ने कहा कि छात्र-छात्राओं की इस मेहनत के सफल होने से कॉलेज के शिक्षक भी बहुत खुश हैं। उनका कहना है कि वह प्रोडक्ट को मार्केट में उतारने में पूरी मदद करेंगे। यह प्रोजेक्ट महिलाओं और छात्राओं के लिये बहुत जरूरी है। 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
डॉक्टरों की लापरवाहीं से चली गई मरीज की जानhttps://www.newstimes.co.in/news/77986/भारत/उत्तर-प्रदेश-/The-patients-life-of-doctors-went-unnoticed888316Sat, 08 Jun 2019 00:00:00 GMTANKUR SHARMA<img src='http://newstimes.co.in/Images/08-06-2019131208Thepatients2.jpg' alt='Images/08-06-2019131208Thepatients2.jpg' />केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर में शुक्रवार दोपहर डॉक्टरों की शिफ्ट बदलने के दौरान एक मरीज की जान चली गई। परिवारीजनों का आरोप है कि दोपहर दो बजे ड्यूटी बदलने पर मरीज को देख रहे डॉक्टर चले गए, उनकी जगह आएं नए डॉक्टर ने मरीज की परवाह ना करतें हुए मरीज के इलाज को टालने की कोशिश की जिसके चलते मरीज की हालत बिगड़ती गई और उसने दम तोड़ दिया।

डॉक्टरों की लापरवाहीं से चली गई मरीज की जान

Lucknow. शाहजहांपुर के स्थानीय निवासी प्रवीण पांडेय को शुक्रवार दोपहर केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया था। उनकी तिल्ली बढ़ गई थी और हालत काफी नाजुक थी। उनके पिता नरेंद्र पांडेय ने बताया कि प्रवीण को उस स्थिति में देख उन्होंने उनसे प्रवेश पास बनवाया और उसके बाद मरीज को भर्ती कर उसको ऑक्सिजन की सप्लाई दी, लग तो ऐसा रहा था कि मानो उसे कुछ हुआ ही न हो, जिस तरह वो लोग काम कर रहे थे। इसके बाद उसी के घरवालों से ऐम्बुबैग पकड़वाकर उसको दबाते रहने को कहा। इसके बाद काफी देर तक कोई डॉक्टर नहीं आया।

Images/08-06-2019131208Thepatients2.jpg

 

जब बहुत देर तक कोई डॉक्टर नहीं आया तो उन्होंने किसी से पूछा तो बताया गया कि शिफ्ट बदल गई है। यही नहीं, ड्यूटी पर आए नए डॉक्टरों ने काफी देर मरीज को नहीं देखा। इस बीच मरीज की हालत बिगड़ती चली गई, तब कुछ डॉक्टर आए और बताया कि मरीज का पल्स रेट कम हो गया है। फिर कुछ देर बाद ही मरीज को मृत घोषित कर दिया।

इससे पहले जहां उसे ले जाया गया था, वहां के चिकित्सकों ने उनका इलाज करने से मना कर दिया था और कारण यह बताया था कि वहां बेड खाली नहीं हैं। उनके पहले आए महाराजगंज  से भोला प्रसाद, जिनको 14 घंटो तक कोई इलाज नहीं दिया था और यही कारण देते हुए उसको भी कहीं और जाने के लिए बता दिया। जिसके चलते उसकी हालात काफी गंभीर हो गई और घरवालों का परेशान होना भी सम्भव हो गया।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
माल में डॉक्टरों की लापरवाही से मरीज की मौत, हंगामाhttps://www.newstimes.co.in/news/77967/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-माल-Due-to-negligence-of-doctors-in-the-goods-death-of-the-patient888295Fri, 07 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/07-06-2019184644Duetoneglige.jpg' alt='Images/07-06-2019184644Duetoneglige.jpg' /> सीएचसी माल में डाक्टरों की लापरवाही से महिला की मौत के मामले ने इतना तूल पकड़ा कि मामले को मैनेज करने के लिए सीएमओ कार्यालय के दो अधिकारियों को मौके पर जाना पड़ा।

माल में डॉक्टरों की लापरवाही से मरीज की मौत, हंगामा

LUCKNOW. सीएचसी माल में डॉक्टरों की लापरवाही से महिला की मौत के मामले ने इतना तूल पकड़ लिया इसे मैनेज करने के लिए सीएमओ कार्यालय के दो अधिकारियों को जाना पड़ गया। दिन भर चली कवायद के बाद मामला संदिग्ध होने के बावजूद डॉक्टरों ने बिना पोस्टमार्टम के ही शव को परिजनों के घर भेज दिया। इस मामले में सीएमओ ने कहा कि हमसे कोई मतलब नहीं है। 

Images/07-06-2019184644Duetoneglige.jpg

सरकारी अस्पताल में झोलाछाप से कराते हैं इलाज

 

बता दें कि शुक्रवार तड़के शहरून (35) पत्नी हसीब को लेकर परिजन सीएचसी माल पहुंचे। मरीज को डायरिया की शिकायत थी। इमर्जेन्सी में मौजूद डाक्टर अरूण चौधरी ने मरीज को देखने के बजाय झोला छाप कर्मचारियों से वीपी चेक करके इंजेक्शन लगाने की सलाह दे दी, जिसके फलस्वरूप डॉ. राघवेन्द्र के कमरे में मौजूद नवनीत ने दवा लिख दी और श्रीराम ने ड्रिप लगाकर इंजेक्शन दे ​दिया। 

फॉर्मेसिस्ट राजेश बजाज ने अपने चेले मनीष से कहा कि इसको दवा दे दो। इंजेक्शन देने के बाद मरीज की हालत बिगड़ती गयी और कुछ ही देर में मरीज की मौत हो गयी। इस बीच मरीज के परिजनों ने डॉक्टर की लापरवाही से मरीज की मौत का आरोप लगाया। 

परिजनों ने अस्पताल में हंगामा किया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। जिसकी सूचना सीएचओ को दी गयी। जहां से दो अधिकारियों को माल सीएचसी भेजा गया। जिन्होंने पूरे दिन डाक्टर को बचाने का प्रयास किया।

खास बात यह थी कि इस बीच मौका पाकर डाक्टर और फॉर्मेसिस्ट अस्पताल से गायब हो गए। जिनको मौके पर नहीं बुलाया गया। अंत में मृतक महिला के शव को घर भेज दिया। महिला के परिवार में एक लड़का और दो लड़कियां हैं। जहां एक और डिप्टी सीएमओ ने बात नहीं की, वहीं सीएमओ नरेन्द्र अग्रवाल ने कहा कि उनसे कोई मतलब नहीं है। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
तूफान फोनी के आने से हुआ ओडिशा में 9,336.26 करोड़ रुपये का नुकसानhttps://www.newstimes.co.in/news/77961/भारत/अन्य-राज्यों-से/Rs-9336.26-crore-loss-in-Assam-due-to-the-arrival-of-hurricane-Fani888289Fri, 07 Jun 2019 00:00:00 GMTANKUR SHARMA<img src='http://newstimes.co.in/Images/07-06-2019163904Rs9,336.26cr1.jpg' alt='Images/07-06-2019163904Rs9,336.26cr1.jpg' />ओडिशा के तटीय जिलों में 'फानी' के आने से पिछले महीने 64 लोगों की मौत हुई जिसमें 9,336.26 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ। आकड़े साफं साफं कहते है कि कितना ज्यादा विनााश लेके आया है, फांनी तूफांन।

तूफान फोनी के आने से हुआ ओडिशा में 9,336.26 करोड़ रुपये का नुकसान

Odisha. फोनी के आने से ओडिशा में संकट के बादल छाए हुए है, इसके चलते लोगों में हाहाकार की स्थिति मची हुई है। करोड़ों का पैसा जाने से लोगों की जान पर भी आई है। "सार्वजनिक संपत्तियों को कुल नुकसान और राहत उपायों के लिए धन की आवश्यकता का अनुमान अगर लगाया जाए तो 9,336.26 करोड़ रूपये का खर्च आया है। चक्रवात के बाद जिला कलेक्टरों द्वारा गठित विभिन्न टीमों के माध्यम से गांव-गांव मूल्यांकन के बाद अंतिम आंकड़ा आ गया है।

Images/07-06-2019163904Rs9,336.26cr1.jpg

एसआरसी ने कहा कि राज्य सरकार राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया कोष (एनडीआरएफ) से 5,227.68 करोड़ रुपये की सहायता मांग रही है, ताकि चल रही राहत और बहाली के उपाय पर खर्च को पूरा किया जा सके। राज्य सरकार द्वारा विभिन्न जिलों और विभागों को आपदा प्रतिक्रिया से राहत दिलाने के लिए।

पुरी के पास लगभग 200 किमी प्रति घंटे की रफ्तार वाले तूफान ने 14,320 गांवों को असं​तुलित करने के साथ साथ 14 जिलों को भी प्रभावित किया। इसने 1.6 करोड़ लोगों और 1.88 लाख हेक्टेयर फसल क्षेत्रों को प्रभावित किया और उधर नुकसान पहुंचाया। कुल 5,56,761 घर चक्रवात में या तो पूरी तरह से या गंभीर रूप से या मध्यम विध्वंस पहुंचाया, जबकि उसमें 64 लोगों की जान चली गई। केवल इंसान या भूमि ही नहीं चक्रवात ने 2,650 बड़े जानवंर, 3,631 छोटे जानवर और 53,26,905 मुर्गी पक्षियों की भी जान ले ली।

राज्य सरकार ने 12 से 15 मई के बीच चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने वाली अंतर-मंत्रालयी केंद्रीय टीम को एक प्रारंभिक रिपोर्ट सौंपी थी। राहत दल इसी कोशिश में है कि जल्द से जल्द चक्रवत से हुए नुकसान की जितनी जल्दी हो सकें उतनी जल्दी भरपाई करीं जा सकें और लोगों को जिस तरह  भी हो सकें मदद करीं जा सकें।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
वह लड़का जिसने छूई 7 फींट की ऊचाई, ब्रेन ट्यूमर के चलतेhttps://www.newstimes.co.in/news/77955/भारत/मुंबई/The-boy-who-reached-the-height-of-7-feet-due-to-brain-tumor888282Fri, 07 Jun 2019 00:00:00 GMTANKUR SHARMA<img src='http://newstimes.co.in/Images/07-06-2019144327Theboywhore1.jpeg' alt='Images/07-06-2019144327Theboywhore1.jpeg' />उत्तराखंड के 12 वीं कक्षा के छात्र मोहन सिंह से मिलिए, जो 7 फुट 4 इंच लंबा है और वजन 113 किलो है

वह लड़का जिसने छूई 7 फींट की ऊचाई, ब्रेन ट्यूमर के चलते

Images/07-06-2019144327Theboywhore1.jpeg

Mumbai: 

वह केवल 16 साल का है, वह पुस्तक पढ़ना पसंद करता है, बारहवीं कक्षा का छात्र है, वह धीरे बोलता है, इसकी इच्छाएं सारी एकदम आम आदमी जैसी है लेकिन वह आम नहीं हैं। क्योंकि इसकी ऊंचाई 7 फीट 4 इंच है और वजन 113 किलो है। यह उत्तराखंड के पिथौरागढ़ के मोहन सिंह नाम के एक बच्चे की कहानी है। यह कोई आम बात नहीं है, इसकी असाधारण ऊंचाई और वजन इसके कारण होने वाले दुर्लभ ब्रेन ट्यूमर का हैं जो उसे ऐसा बनाता हैं। पिछले पांच महीनों पहलें, मोहन को तेज सिरदर्द की शिकायत होने लगी। उसे एक स्थानीय चिकित्सक के पास ले जाया गया, जिधर चिकित्सकों ने एमआरआई स्कैन की सिफारिश की, उससे यह पता चला कि उसे दिमागी ट्यूमर हैं। बेहतर इलाज के लिए डॉक्टरों ने उसे एम्स जाने का सुझाव दिया। एम्स में इसकी सर्जरी हुई और इलाज होने के तहत इसका वजन तो कम हो गया, लेकिन इसकी ऊचाई में कोई परिर्वतन नहीं आया।

मोहन पिछले पांच वर्षों में चर्चा का विषय है। वे जहां भी जाता है लोग उसे पकड़ लेते है, और सेल्फी खीचनें के लिए बेताबी दिखांते है। पिता माधव सिंह ने मीडिया से कहा कि मैं मोहन के उत्थान को देखकर खुश हूं, उसके उत्थान के लिए उन्हें सरोजिनी नगर से 4XL आकार के कपड़े मंगवाने पड़े। बढ़ती लम्बाई के चलते उन्हें बिस्तर का आकार सात फीट तक बढ़ाना पड़ा। वह वॉशरूम में बैठने में असमर्थ था तो इसका भी इंतजाम उन्हें करना पड़ा और उसके जूते मेरठ की एक फैक्ट्री से कस्टमाइज करवाने पड़ेे।

 ट्यूमर निकालने के बाद मोहन अभी राहत की स्थिति में हैं।

चिकत्सकों का तो यह कहना हैं कि यह एक गैर-आनुवंशिक स्वास्थ्य मुद्दा है और बहुत ही असामान्य है। यह विकास हार्मोन के पूरा होने से पहले होता है। यदि कोई व्यक्ति पिट्यूटरी ग्रंथि में ग्रोथ हॉरमोन सिकरेटिंग (जीएचएस) ट्यूमर विकसित करता है, तो वह लंबा होने लगता है। उन्होनें यह भी कहा कि ऐसी रोगी बहुत कमजोंर होते है और हृदय और हड्डियों की जटिलताओं से भी पीड़ित होते हैं। दूसरी ओर, यदि विकास पूरा हो गया तो फिर व्यक्ति जीएचएस ट्यूमर को विकसित करना शुरू कर देता है,तो यह होगा कि वह लंबे नहीं होंगे, लेकिन इसके चलते उनके शरीर में हड्डियों की असामान्य वृद्धि होगी।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
मानक से अधिक मिट्टी खनन पर पुलिस मेहरबानhttps://www.newstimes.co.in/news/77921/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Police-over-mud-over-mining888248Thu, 06 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/06-06-2019141206Policeovermu1.jpg' alt='Images/06-06-2019141206Policeovermu1.jpg' />थाना क्षेत्र के ग्राम लोहजरा, सिरगामऊ में करीब दो सप्ताह से मिट्टी खनन जारी है। ग्रामीणों ने बताया कि कई जगह 8 से 10 फिट तक की मिट्टी की खदान की जा रही है। जिससे वहां के खेत गहरे तालाब की शक्ल लेते जा रहे हैं। उ

मानक से अधिक मिट्टी खनन पर पुलिस मेहरबान

LUCKNOW.  थाना क्षेत्र के ग्राम लोहजरा सिरगामऊ में करीब दो सप्ताह से मिट्टी खनन जारी है। ग्रामीणों ने बताया कि कई जगह 8 से 10 फिट तक की मिट्टी की खुदाई की जा रही है, जिससे वहां के खेत गहरे तालाब की शक्ल लेते जा रहे हैं। उनके अनुसार सामान्य खेतों में 4-5 फिट गहरी मिट्टी निकाली जा रही है। जबकि सामान्य खेतों में 3 फिट गहरी मिट्टी निकालने की अनुमति दी जाती है।

Images/06-06-2019141206Policeovermu1.jpg

इसके अलावा जहां जहां मिट्टी खुदाई की सूचना मिली थी, वहां मानक से अधिक गहरी मिट्टी की खुदाई सामने आई थी। पुलिस बिना शिकायत के कुछ नहीं करती, क्योंकि पुलिस पर हमेशा पैसे लेने का आरोप लगता रहा है। इस सम्बन्ध में उपजिलाधिकारी सदर ने कहा कि वह प्रकरण की जांच कराएंगे, जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
विश्व पर्यावरण दिवस पर भी कम नहीं हुआ प्रदूषणhttps://www.newstimes.co.in/news/77920/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-Pollution-not-less-on-World-Environment-Day888247Thu, 06 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/06-06-2019140204Pollutionnot1.jpg' alt='Images/06-06-2019140204Pollutionnot1.jpg' />विश्व पर्यावरण दिवस पर जहां एक ओर शासन और प्रशासन वातावरण को शुद्ध रखने के लिए जगह—जगह जागरूकता अभियान चला रहा था वहीं दूसरी ओर शहर से गांव तक लोग कूड़ा जलाकर वातावरण को दूषित कर रहे थे।

विश्व पर्यावरण दिवस पर भी कम नहीं हुआ प्रदूषण

LUCKNOW. विश्व पर्यावरण दिवस पर जहां एक ओर शासन और प्रशासन वातावरण को शुद्ध रखने के लिए जगह-जगह जागरूकता अभियान चला रहा था। वहीं, दूसरी ओर शहर से गांव तक लोग कूड़ा जलाकर वातावरण को दूषित कर रहे थे। 

Images/06-06-2019140204Pollutionnot1.jpg

दुबग्गा से भिठौली मार्ग पर विश्व पर्यावरण दिवस के दिन रोड के किनारे ही दोपहर में प्लास्टिक का कचरा जलाया जा रहा था, लेकिन किसी ने इसे बुझाने या जलाने वाले ​के​ खिलाफ कार्रवाई करने के लिए प्रशासन को कोई सूचना नहीं दी। 

दूसरी ओर इस मार्ग पर दो जगह पुलिस चौकी है फिर भी आये दिन इस तरह कूड़ा जलाया जाता है। जबकि शहर में सभी प्रमुख संस्थाओं के कार्यालय और अधिकारी मौजूद हैं। ऐसे में पर्यावरण को लेकर जिस तरह मीडिया में जागरूकता फैलाई जाती है। क्या उतनी जागरूकता के साथ वास्तव में समाज उन कामों को करने से परहेज कर रहा है। इसी तरह गोपरामऊ में भी शाम के समय काफी देर तक कूड़ा जलता रहा।      

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
केरल में निपाह के दो और संदिग्ध रोगी मिलेhttps://www.newstimes.co.in/news/77918/भारत/अन्य-राज्यों-से/Meet-two-more-suspected-Nippah-patients-in-Kerala888245Thu, 06 Jun 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/06-06-2019134209Meettwomore3.jpg' alt='Images/06-06-2019134209Meettwomore3.jpg' />केरल में निपाह वायरस की दहशत दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। दो और संदिग्ध मरीज मिलने के बाद उन्हें अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट किया गया है। इससे पहले एर्नाकुलम में एक छात्र के निपाह वायरस से सं​क्रमित होने की पुष्टि के बाद राज्य से लेकर केंद्र सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय में हड़कंप मचा है। 

केरल में निपाह के दो और संदिग्ध रोगी मिले

New Delhi. केरल में निपाह वायरस की दहशत दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। दो और संदिग्ध मरीज मिलने के बाद उन्हें अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट किया गया है। इससे पहले एर्नाकुलम में एक छात्र के निपाह वायरस से सं​क्रमित होने की पुष्टि के बाद राज्य से लेकर केंद्र सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय में हड़कंप मचा है। 

Images/06-06-2019134112Meettwomore1.jpg

केरल दो और मरीजों के बाद इस वायरस के संदिग्ध मरीजों की संख्या बढ़ कर सात पहुंच गयी है।निपाह वायरस के संदिग्ध संक्रमण से ग्रस्त इन सभी मरीजों को एर्नाकुलम के सरकारी मेडिकल कालेज के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। 

एक मरीज में तो पहले ही संक्रमण की पुष्टि हो सकी है। शेष सभी 6 मरीजों के नमूने लेकर पुणे और अलप्पुझा नेशनल इंस्टिट्यूट आफ विरोलॉजी की प्रयोगशाला में भेजा गया है। 

Images/06-06-2019134132Meettwomore2.jpg

केरल के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री केके शैलजा के मुताबिक नेशनल इंस्टिट्यूट के मुताबिक तो इसके में घबराने जैसी किसी भी बात के संकेत नहीं है लेकिन पुणे मुख्यालय की रिर्पोट के अंतिम नतीजे आने के बाद ही कुछ स्पष्ट किया जा सकता है। 

उन्होंने कहा कि पहले चार मरीज उस बीमार छात्र के दोस्त हैं जो निपाह से संक्रमित है। शेष तीन मरीजों में वे नर्स हैं जिन्होंने ने निजी अस्पताल में बीमार छात्र का उपचार किया था। फिलहाल सभी की स्थिति नियंत्रण में है और उनका स्वास्थ अब पहले से बेहतर है। 

Images/06-06-2019134209Meettwomore3.jpg

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की माने तो राजय में कुल 314 लोगों को निगरानी पर रखने के लिए उन्हें घर पर रहने का कहा गया है। राज्य के प्रमुख स्वास्थ्य सचिव डा राजन एन खोबरागडे ने बताया कि इन लोगों में तीन को हाई रिस्क वाली क्षेणी में रखा गया है। ये तीनों कोई और नहीं बल्कि उसी छात्र के साथी है जो उसके साथ एक ही कमरे में तकरीबन एक दिन तक रहे। 

यह भी पढ़े...आरबीआई आम लोगों के लिए आज कर सकता है बड़ा एलान

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
संघ प्रमुख ने अनुच्छेद 370 और राम मंदिर मुद्दे पर कही यह बड़ी बातhttps://www.newstimes.co.in/news/77916/भारत/उत्तर-प्रदेश-/कानपुर/-BADASSA--चिल्ला----जगदीशपुरा--जगनेर--फतेहगंज---बेकन-गंज---बसई-जगनेर--सदर-बाजार-RSS-chief-said-this-major-thing-on-the-Article-370-and-the-Ram-temple-issue 888243Thu, 06 Jun 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/06-06-2019125858RSSchiefsaid3.jpg' alt='Images/06-06-2019125858RSSchiefsaid3.jpg' />अनुच्छेद 370 और राम मंदिर मुद्दे को लेकर संघ प्रमुख का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 समाप्त होने की पूरी है। वहीं दूसरी ओर राम मंदिर मुद्दे पर भी उन्होंने रूख स्पष्ट करते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला जल्द ही आएगा। संघ इसी का इंतजार कर रहा था। यह बातें आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कानपुर में दिल्ली रवाना होते समय कही।  मालूम हो कि कानपुर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के शिक्षा वर्ग कार्यक्रम के दौरान चार दिवसीय प्रवास पर संघ प्रमुख मोहन आए थे। 

संघ प्रमुख ने अनुच्छेद 370 और राम मंदिर मुद्दे पर कही यह बड़ी बात

Kanpur. अनुच्छेद 370 और राम मंदिर मुद्दे को लेकर संघ प्रमुख का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 समाप्त होने की पूरी है। वहीं दूसरी ओर राम मंदिर मुद्दे पर भी उन्होंने रूख स्पष्ट करते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला जल्द ही आएगा। संघ इसी का इंतजार कर रहा था। यह बातें आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कानपुर में दिल्ली रवाना होते समय कही।  

Images/06-06-2019125807RSSchiefsaid1.jpg

मालूम हो कि कानपुर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के शिक्षा वर्ग कार्यक्रम के दौरान चार दिवसीय प्रवास पर संघ प्रमुख मोहन आए थे। यहां से दिल्ली रवाना होते समय उन्होंने देश दो सबसे बड़े मुद्दों पर अपना रुख स्पष्ट किया।

Images/06-06-2019125834RSSchiefsaid2.jpg

उन्होंने कहा कि सरकार से उम्मीद है कि वह जल्द ही कश्मीर में अनुच्छेद 370 समाप्त करने की दिशा में सकारात्मक कदम उठाएगी। 
वहीं दूसरी ओर राम मंदिर मुद्दे पर उन्होंने कहा कि इस मसले पर संघ को सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार है। यदि आम चुनाव से पहले कोर्ट का फैसला आ जाता है तो इससे चुनाव प्रभावित होने की आशंका थी। 

Images/06-06-2019125858RSSchiefsaid3.jpg

यह भी पढ़े...अशोक गहलोत के खिलाफ बगावत, सचिन पायलेट को सीएम बनाने की मांग

 

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
Vodafone का प्लान होगा और भी सस्ता, रोज मिलेगा 2 जीबी डाटाhttps://www.newstimes.co.in/news/77903/भारत/Vodafone-plans-to-get-2GB-data-even-faster-everyday888229Wed, 05 Jun 2019 00:00:00 GMTSHRADDHA SAHU<img src='http://newstimes.co.in/Images/05-06-2019174932Vodafoneplans1.png' alt='Images/05-06-2019174932Vodafoneplans1.png' />.टेलीकॉम कंपनी वोडाफोन ने अपने यूजर्स के लिए एक नया प्री-पेड प्लान जारी किया है । सिर्फ 229 रूपये में आपको अनलिमिटेड कॉलिंग के साथ 2 जीबी डाटा भी मिलेगा। इसकी वैधता 28 दिनों की रहेगी। 

Vodafone का प्लान होगा और भी सस्ता, रोज मिलेगा 2 जीबी डाटा

New Delhi.टेलीकॉम कंपनी वोडाफोन ने अपने यूजर्स के लिए एक नया प्री-पेड प्लान जारी किया है । सिर्फ 229 रूपये में आपको अनलिमिटेड कॉलिंग के साथ 2 जीबी डाटा भी मिलेगा। इसकी वैधता 28 दिनों की रहेगी। 

Images/05-06-2019174932Vodafoneplans1.png

वोडाफोन के यूजर्स के लिए एक खुश खबरी ​है जिसमें वोडाफोन ग्राहको को  लोकल, एसटीडी और रोमिंग के साथ अनलिमिटेड कॉलिंग मिल रही है। साथ में 56 जीबी डाटा 28 दिनो के लिए एवं 100 एसएमएस भी मिल रही है। जानकारी के मुताबित वोडाफोन अपनी प्ले ऐप की सुविधा दे रही है जिसमें ग्राहक लाइव मूवी , टीवी शो भी देख सकता है। बता दे यह प्लान 229 रूपये में मिलेगी । इस नये प्लान का फायदा आप पुराने प्लान के खत्म होते ही शुरू कर सकते है। 255 रूपये के प्लान को सस्ता कर 229 रूपये किया गया है।

यह भी पढ़े...जून में इन तारीखों को बंद रहेंगे बैंक, देखें लिस्ट

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
विश्व पर्यावरण दिवस का क्या है महत्वhttps://www.newstimes.co.in/news/77897/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-What-is-the-significance-of-World-Environment-Day?888223Wed, 05 Jun 2019 00:00:00 GMTANKUR SHARMA<img src='http://newstimes.co.in/Images/05-06-2019162721Whatisthesi1.jpg' alt='Images/05-06-2019162721Whatisthesi1.jpg' />विश्व पर्यावरण दिवस प्रत्येक वर्ष 5 जून को आयोजित किया जाता है। विश्व पर्यावरण दिवस पृथ्वी के पर्यावरण को बेहतर बनाने के तरीकों को बढ़ावा देता है, जैसे कि वनों और पेड़ पौधों का संरक्षण

विश्व पर्यावरण दिवस का क्या है महत्व

Lucknow:पर्यावरण एक ऐसी चीज है जिसमें सभी जीवित जीवों, जलवायु और प्राकृतिक संसाधनों का पूरी तरह से एक साथ संचार होता है। प्रत्येक व्यक्ति को आराम से उसके वातावरण में रखा जाता है ताकि वह प्रकृति के नियमों के अनुसार आगे बढ़ सके। 

Images/05-06-2019162721Whatisthesi1.jpg

हमारे पर्यावरण के लिए यह महत्वपूर्ण होना चाहिए कि मानव के अच्छे सहयोग से ही पर्यावरण में एक गति आ सकती है। 5 जून को मनाये जाने वाला विश्व पर्यावरण दिवस हमें पर्यावरण के महत्व के बारे में बताता है।
मनुष्य कें अन्दर अपने वातावरण को बनाने और डालने की अलग क्षमता होती है। देखा जांए तो मनुष्य जिस लंबी प्रक्रिया से गुजरा है, उससे पर्यावरण को अनगिनत तरीकों से और अभूतपूर्व पैमाने पर बदलने की शक्ति प्रदान की है।

यह उसे शारीरिक संरक्षण प्रदान करता है और उसे बौद्धिक, नैतिक, सामाजिक और सांस्कृतिक विकास के लिए अवसर प्रदान करता है। विश्व पर्यावरण दिवस के पालन का ध्यान मानव पर्यावरण के संरक्षण और सुधार पर है, जो लोगों की भलाई और दुनिया भर में आर्थिक विकास को प्रभावित करता है। यह पर्यावरण को संरक्षित करने और बढ़ाने में व्यक्तियों और समुदायों द्वारा एक सूचित राय और जिम्मेदार आचरण के लिए कहता है। 
अब ये पैमाने देखे जा रहें है कि विश्व में पेड़ो की संख्या कम होती जा रही हैं ऐसा चलता रहा तो एक समय ऐसा आएगा कि पेड़ इस दुनिया से खतम हो चुकें होंगे और लोग जीने के लिए जूझ रहें होंगे जो हमें बि​ल्कुल नहीं होने देना है। देश के जिम्मेदार नागरिक होने के नाते हमारा यह फर्ज बनता है कि हम पर्यावरण की रक्षा स्वंय पूरे जिम्मेदारी के साथ करें, सकंल्प ले एक पौधा लगाने का और पर्यायवरण को बेहतर से बेहतर बनाने का।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
पाकिस्तानी एक्ट्रेस ने PM मोदी का उड़ाया मजाक, लोगों ने किया ट्रोलhttps://www.newstimes.co.in/news/77882/अन्तर्राष्ट्रीय/पड़ोसी-देश/Pakistani-actress-picks-up-Modis-joke-people-do-troll888208Wed, 05 Jun 2019 00:00:00 GMTSHRADDHA SAHU<img src='http://newstimes.co.in/Images/05-06-2019135637Pakistaniactr1.jpg' alt='Images/05-06-2019135637Pakistaniactr1.jpg' />पाकिस्तानी एक्ट्रेस वीना मलिक अपने सोशल मीडिया पर इंडियन एयर फोर्स An-32 एयरक्राफ्ट के गायब होने पर ट्विट किया था ​और उसमें सैन्य विज्ञान और PM मोदी का मजाक भी उडाया जिसके कारण लोगो ने उसे ट्रोल भी किया।

पाकिस्तानी एक्ट्रेस ने PM मोदी का उड़ाया मजाक, लोगों ने किया ट्रोल

New Delhi. पाकिस्तानी एक्ट्रेस वीना मलिक अपने विवादित बयानों के चलते हमेशा सुर्खियों में बनी रहती हैं। इस बार उन्होंने इंडियन एयर फोर्स An-32 एयरक्राफ्ट के गायब होने पर असंवेदनशील बयान दिया है। जिसमें वीना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भी मजाक उड़ाया है। जिस कारण लोगों ने उन्हें ट्रोल भी किया। 

Images/05-06-2019135637Pakistaniactr1.jpg

वीना ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, #IAF An-32 दुर्घटनाग्रस्त नहीं हुआ। मौसम बहुत खराब है और रडार इसका पता नहीं लगा सकते। इसके जवाब में एक यूजर ने लिखा कहा- परफेक्ट उदाहरण, जिस थाली में खाना उसी थाली में छेद करना।

यह भी पढ़े...बिहार : इस वजह के चलते RJD से नाता तोड़ने को मजबूर हुई कांग्रेस!

बता दें कि वायुसेना का एएन-32 विमान असम के जोरहाट से अरुणाचल प्रदेश के लिए उड़ान भरने के बाद लापता हो गया था। विमान ने जोरहाट से दिन में 12.25 पर उड़ा थी, आखिरी बार उससे दोपहर 1 बजे संपर्क हुआ था। इसके बाद से ही उससे संपर्क नहीं हो पा रहा है। साथ ही इसकी तलाश के लिए कई विमानों को लगाया गया है। इस विमान में 8 क्रू मेंबर और 5 यात्री सवार हैं। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
फर्ज अदायगी बनकर रह गया विश्व पर्यावरण जागरूकता एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम https://www.newstimes.co.in/news/77874/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/World-Environmental-Awareness-and-Training-Program888200Wed, 05 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/05-06-2019115352WorldEnvironm1.jpg' alt='Images/05-06-2019115352WorldEnvironm1.jpg' />विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर अवध रेंज के बंशीगढ़ी जंगल में विश्व पर्यावरण जागरूकता एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

फर्ज अदायगी बनकर रह गया विश्व पर्यावरण जागरूकता एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम

LUCKNOW. विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर अवध रेंज के बंशीगढ़ी जंगल में विश्व पर्यावरण जागरूकता एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर उपस्थित अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने इस साल कौन सा विभाग कहां कितने पौधे लगाएगा।  इस पर चर्चा की गयी। यहां आयोजित जागरूकता कार्यक्रम की खासियत यह थी कि ​जितने सरकारी कर्मचारी थे करीब उतने ही लेबर पास की नर्सरी से बुलाकर बैठा लिए गए थे। इनमें भी कई नाबालिग ​स्कूली बच्चे थे। जबकि वहीं पर श्रम विभाग के दो श्रम प्रवर्तन अधिकारी उपस्थित थे। काकोरी विकास खण्ड के सहायक विकास अधिकारी सहकारिता अजीत कुमार ने बताया कि इस बार पंचायतें स्वयं वृक्षारोपण नहीं कराएंगी। पंचायतें किसानों को पौधे बांटेगीं, और किसान ही उनकी देखरेख करेंगें। श्रम प्रवर्तन अधिकारी वी0के0 त्रिवेदी ने कहा कि वह डेढ़ सौ पौधे ऐरा मेडिकल कालेज में लगवाएगें। 
 

Images/05-06-2019115352WorldEnvironm1.jpg
© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
सिंगल यूज़ प्लास्टिक पर रोक में भारत यूएनओ के साथhttps://www.newstimes.co.in/news/77871/अन्तर्राष्ट्रीय/अमेरिका/India-with-UNO-in-stopping-single-use-plastic888197Wed, 05 Jun 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/05-06-2019111431IndiawithUNO3.jpg' alt='Images/05-06-2019111431IndiawithUNO3.jpg' />प्रतिबंधित पालीथिन के उपयोग पर प्रतिबंध लगाने के भारत संयुक्त राष्ट्र का साथ देने की प्रतिबद्धता जाहिर की है। विश्व साइकिल दिवस पर यूएनओ मुख्यालय में सिंगल यूज प्लास्टिक को समाप्त रकने और स्वस्थ जीवन शैली को बढ़ावा देने के लिए एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था। भारत ने इस कार्यक्रम में हिस्सा लेने के दौरान महात्मा गांधी के संदेश का जिक्र करते हुए पर्यावरणीय स्थिरता और जलवायु संबंधी कार्रवाईयों में यूएनओ का साथ देने की बात कही।

सिंगल यूज़ प्लास्टिक पर रोक में भारत यूएनओ के साथ

New Delhi. प्रतिबंधित पालीथिन के उपयोग पर प्रतिबंध लगाने के भारत संयुक्त राष्ट्र का साथ देने की प्रतिबद्धता जाहिर की है। विश्व साइकिल दिवस पर यूएनओ मुख्यालय में सिंगल यूज प्लास्टिक को समाप्त रकने और स्वस्थ जीवन शैली को बढ़ावा देने के लिए एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था। भारत ने इस कार्यक्रम में हिस्सा लेने के दौरान महात्मा गांधी के संदेश का जिक्र करते हुए पर्यावरणीय स्थिरता और जलवायु संबंधी कार्रवाईयों में यूएनओ का साथ देने की बात कही। 

Images/05-06-2019111324IndiawithUNO1.jpg


इस मौके पर नीले रंग के कपड़े के थैलों का वितरण किया गया जिन पर महात्मा गांधी का संदेश भी लिखा था। जिसमें लिखा है कि भविष्य इस बात से तय होता है कि आप आज क्या करते हैं। इसके अलावा इन थैलों पर महात्मा गांधी का चित्र और उनकी 150वीं जयंती का लोगो की छपा था। 

Images/05-06-2019111431IndiawithUNO3.jpg

यह भी पढ़े...बंगाल में नहीं थम रही हिंसा, टीएमसी कार्यकर्ता की गोली मार कर हत्या

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
गंगा नदी में स्नान करते समय चार किशोर डूबे, तीन की मौत https://www.newstimes.co.in/news/77853/भारत/उत्तर-प्रदेश-/-Four-teens-drown-while-bathing-in-river-Ganges-three-die888179Tue, 04 Jun 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/04-06-2019175126Fourteensdro1.JPG' alt='Images/04-06-2019175126Fourteensdro1.JPG' />सुल्तानपुर घोष थाना क्षेत्र के ग्राम अल्लीपुर भादर में सोमवार की सुबह उस वक्त तीन परिवारों में कोहराम मच गया, जब गंगा स्नान के दौरान डूब रहे चार किशोरों में तीन की मौत हो गयी।

गंगा नदी में स्नान करते समय चार किशोर डूबे, तीन की मौत 

Lucknow. सुल्तानपुर घोष थाना क्षेत्र के ग्राम अल्लीपुर भादर में सोमवार की सुबह उस वक्त तीन परिवारों में कोहराम मच गया, जब गंगा स्नान के दौरान डूब रहे चार किशोरों में तीन की मौत हो गयी। जबकि एक किशोर को किसी तरह लोगों ने बचा लिया। घटना के बाद रोते-बिखलते परिजन मौके पर पहुंच गये। कड़ी मशक्कत के बाद गोताखोरों ने तीन घण्टे बाद गंगा में डूबे तीनों शवों को बाहर निकाला, जिनका पंचनामा भरकर पुलिस ने विच्छेदन हेतु भेज दिया। 

Images/04-06-2019175126Fourteensdro1.JPG

जानकारी के अनुसार, सुल्तानपुर घोष थाने के अल्लीपुर भादर गांव निवासी राम सजीवन का 16 वर्षीय पुत्र पंकज, हरदेव सिंह का 15 वर्षीय पुत्र सोनू, हरिशंकर का 14 वर्षीय पुत्र अम्बेश व बलदेव का 15 वर्षीय पुत्र अजय आज सुबह सोमवती अमावस्या के अवसर पर साइकिल द्वारा थाने के मंडवा स्थित गंगा घाट स्नान के लिए गये थे। बताते हैं कि नहाते समय अचानक चारों डूबने लगे। शोर-शराबा सुनकर आस-पास नहा रहे लोगों ने किसी तरह से अम्बेश को बचा लिया जबकि तीन किशोर गंगा में डूब गये। 

उधर सूचना पर मौके पर जब तक पुलिस गोताखोरों को लेकर पहुंचती तीनों की गंगा में डूबकर मौत हो गयी। गोताखोरों ने किशोरों की खोजबीन शुरू कर दी। कड़ी मशक्कत करके तीन घण्टे बाद गोताखोरों ने तीनों शवों को बाहर निकाल लिया उधर जैसे ही मृतकों के परिजनों को इस बात की सूचना लगी तो घरों में कोहराम मच गया। रोते-बिखलते परिजन मौके पर पहुंच गये। शवों को देखकर परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। आस-पास की महिलाएं व पुरूष रोते-बिखलते परिजनों को ढाढंस बंधाने लगे। 

पुलिस ने तीनों शवों को कब्जे में लेकर विच्छेदन गृह भेज दिया। उधर घटना के बाबत मौत के मुंह से निकले अम्बेश ने बताया कि जब वह सभी नहा रहे थे तभी वह लोग भंवर में फंस गये और नीचे जाने लगे। तभी शोर-शराबा सुनकर लोगों ने उसे तो बचा लिया जबकि उसके साथी गहने पानी में डूब गये। जिसके चलते उनकी मौत हो गयी।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
मंत्री बनते ही डॉ. हर्षवर्धन की निपाह वायरस से शुरू हुई जंगhttps://www.newstimes.co.in/news/77843/भारत/अन्य-राज्यों-से/Dr.-Harshvardhans-war-started-with-nip-ah-virus-as-he-became-minister888169Tue, 04 Jun 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/04-06-2019135133Dr.Harshvardh3.jpg' alt='Images/04-06-2019135133Dr.Harshvardh3.jpg' />New Delhi. खतरनाक निपाह वायरस भारत में कदम रख दिए है। केरल राज्य इस वायरस का पहला मामला सामने आने के स्वास्थ्य महकमा चौकन्ना हो गया है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा द्वारा दिमागी बुखार के विश

मंत्री बनते ही डॉ. हर्षवर्धन की निपाह वायरस से शुरू हुई जंग

New Delhi. खतरनाक निपाह वायरस ने भारत में कदम रख दिए हैं। केरल राज्य में इस वायरस का पहला मामला सामने आने के बाद स्वास्थ्य महकमा चौकन्ना हो गया है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा द्वारा दिमागी बुखार के विशेष वायरस वाले इस पहले मामले की पुष्टि के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन की प्रतिक्रिया भी सामने आई है, जिसमें उन्होंने इस वायरस निपटने में राज्य सरकार को पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया है। 

Images/04-06-2019135103Dr.Harshvardh2.jpg

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने केरल में निपाह वायरस के पहले मामले पर कहा कि हम वायरस के परीक्षण की मदद के लिए वन्यजीव विभाग के संपर्क में हैं। उन्होंने कहा कि घबराने की आवश्यकता नहीं है। स्वास्थ्य सचिव समेत तमाम विभागीय अधिकारियों संग अपने आवास पर बैठक के बाद 6 अधिकारियों का दल केरल भेजा गया है। 

मालूम हो कि सोमवार को ही पीएम मोदी के मंत्रिमंडल में बतौर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री उन्होंने कार्यभार ग्रहण किया था। वर्ल्ड साइक्लिंग डे पर लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने के लिए वह अपने सरकारी आवास से निर्माण भवन स्थित अपने दफ्तर तक साइकिल चलाकर गए।

मालूम हो कि निपाह से संक्रमित छात्र केरल के एर्नाकुलम जिले का रहने वाला है और इडुक्की जिले में स्थित थोडुपुज़ा के कॉलेज में पढ़ता है। 

Images/04-06-2019135133Dr.Harshvardh3.jpg

वह हाल में शिविर के संबंध में त्रिशूर में था जहां वह चार दिन रहा। वहां की जिला चिकित्साधिकारी डॉ. रीना ने बताया कि उसके साथ 16 अन्य छात्र में जिनमें 6 सीधे तौर पर उसके संपर्क में थे। ऐहतिहात के तौर पर उन छात्रों की भी निगरानी की जा रही है। 

  जानिए क्या है निपाह वायरस, कब हुई इसकी पहचान?

निपाह वायरस एक तरह से दिमागी बुखार है, जो बहुत तेजी से फैलता है। यह इतना घातक है कि संक्रमण के 48 घंटे में संबंधित व्यक्ति को कोमा में पहुंचा देता है। इस वायरस से संक्रमित व्यक्ति को तेज दर्द के साथ बुखार आता है। 1998 में इस वायरस की पहचान सबसे पहली बार मलेशिया में हुई थी। उस दौरान इस जानलेवा बीमारी की चपेट में आने वाले 250 में सौ से अधिक लोगों की मौत हो गयी थी। 

यह भी पढ़े...विडियो कांफ्रेंसिंग में चलने लगा पॉर्न विडियो, अधिकारी रह गए दंग

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
तो आज ही होंगे ईद के चांद के दीदार, सऊदी में धूमधाम से मनाई गई ईदhttps://www.newstimes.co.in/news/77833/भारत/So-today-will-be-the-moon-of-Eid-celebrated-in-Saudi-Arabia888159Tue, 04 Jun 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/04-06-2019111455Sotodaywill2.jpg' alt='Images/04-06-2019111455Sotodaywill2.jpg' />सऊदी अरब में शव्वाल का चांद दिखने के बाद ईद का त्याहोर आज ही धूमधाम से मनाया जा रहा है। ईद मुस्लिमों का सबसे बड़ा त्योहार है। भारत देश की बात करें तो यहां सभी धर्मों के लोग आपस में मिलकर इस प्रसिद्ध त्योहार को मनाते हैं। सभी आपस में गले मिलते हैं, जिससे भाईचारे की भावना को बढ़ावा मिलता है।

तो आज ही होंगे ईद के चांद के दीदार, सऊदी में धूमधाम से मनाई गई ईद

New Delhi. सऊदी अरब में शव्वाल का चांद दिखने के बाद ईद का त्याहोर आज ही धूमधाम से मनाया जा रहा है। ईद मुस्लिमों का सबसे बड़ा त्योहार है। भारत देश की बात करें तो यहां सभी धर्मों के लोग आपस में मिलकर इस प्रसिद्ध त्योहार को मनाते हैं। सभी आपस में गले मिलते हैं, जिससे भाईचारे की भावना को बढ़ावा मिलता है। बता दें कि ईद त्योहार सऊदी सहित कई देशों में धूमधाम से मनाया जा रहा है। संयुक्त अरब अमीरात ने शव्वाल 1440 हिजरी का पहला दिन होने के कारण 4 जून को ही ईद मनाने का निर्णय लिया है। 

Images/04-06-2019111441Sotodaywill1.jpg

  भारत में कल

सऊदी अरब में शव्वाल का चांद दिखने के बाद ईद का त्योहार जब भी मनाया जाता है, उसके अगले दिन ही भारत में मनाते हैं। ऐसे में 5 जून को भारत में ईद का पर्व धूमधाम से मनाया जाएगा। पाकिस्तान में भी इसी दिन ईद-उल-फितर त्योहार होगा। मून साइटिंग कमेटी ने बैठक कर यह घोषणा की है कि शव्वाल का महीना मंगलवार को ही शुरू होगा।

हालांकि, इंडोनेशिया, पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया और अन्य एशियाई देशों में अर्धचंद्र दिखाई नहीं दिया इसलिए यहां पर बुधवार को त्योहार मानाएंगे। वहीं, केरल की बात करें तो यहां आज ही ईद मनाई जा रही है। भारत देश में केरल ही मात्र एक ऐसा देश है, जहां सऊदी अरब की तरह ही ईद का त्योहार मनाता है। 

Images/04-06-2019111455Sotodaywill2.jpg

ज्ञात हो कि रमजान का पवित्र महीना 29 और 30 का होता है। इस बार संभावना जताई जा रही थी कि 29 का ही महीना होगा। लेकिन सऊदी अरब में एक दिन पहले ही चांद दिखने के कारण भारत में अगले दिन ईद का पर्व मनाया जाएगा।

ईद के त्योहार को लेकर बाजारों की रौनक भी बढ़ गई है। तरावीह की नमाज़ आज सऊदी अरब में समाप्त कर दी गई। अब भारत में मंगलवार को आखिरी  तरावीह की नमाज पढ़ी जाएगी। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
कोलार इलाके में पेयजल संकट, लोगो को करना पड़ रहा परेशानियों का सामना https://www.newstimes.co.in/news/77825/भारत/मध्य-प्रदेश/-Drinking-water-crisis-in-Kolar-area-facing-the-problems-facing-the-people.888151Mon, 03 Jun 2019 00:00:00 GMTSHRADDHA SAHU<img src='http://newstimes.co.in/Images/03-06-2019182258Drinkingwater1.jpg' alt='Images/03-06-2019182258Drinkingwater1.jpg' />भीषण गर्मी के चलते भोपाल के कोलार में लंबे समय से पेयजल की समस्या ​हो रही है। स्थानीयवासीयों ने प्रशासन और नगर निगम से पानी की समस्या को हल करने की गुहार भी लगाई थी परन्तु को भी परिणाम सामने ना आने  पर लोगो का गुस्सा फूटा । करीब चार किलोमीटर तक चक्काजाम रहा । 

कोलार इलाके में पेयजल संकट, लोगो को करना पड़ रहा परेशानियों का सामना

Bhopal. भीषण गर्मी के चलते भोपाल के कोलार में लंबे समय से पेयजल की समस्या बनी हुई है। स्थानीय वासियों ने प्रशासन और नगर निगम से पानी की समस्या को हल करने की गुहार भी लगाई थी, परन्तु परिणाम सामने न आने  पर लोगों का गुस्सा फूटा। करीब चार किलोमीटर तक चक्का जाम रहा। 

Images/03-06-2019182258Drinkingwater1.jpg

 

कोलारवासी लंबे समय से पेयजल की संकट से जूझ रहे। कई बार प्रशासन और नगर निगम से इसकी शिकायत के बाद भी जब पानी की समस्या का हल नहीं हुई तो कोलारवासियों का गुस्सा फूट पड़ा और वो सड़क पर उतर आए, जिसके कारण वहां करीब चार किलोमीटर तक चक्का जाम हो गया था।

जाम लगने की सूचना प्रशासन और नगर निगम के अधिकारी तक पहुंची तो उन्होंने टैंकर से पेयजल उप्लब्ध कराने का आश्वासन दिया और जाम को दूर किया। 

 

यह भी पढ़े...वायुसेना का एएन-32 विमान लापता, 8 क्रू मेंबर और 5 यात्री थे सवार

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
फर्जी माता-पिता और बाराती, युवती से शादी रचा ले गया तीन बच्चों का पिताhttps://www.newstimes.co.in/news/77808/भारत/राजस्थान/muslim-youth-married-a-hindu-girl-bride-and-groom-missing888133Mon, 03 Jun 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/03-06-2019144455muslimyouthm2.JPG' alt='Images/03-06-2019144455muslimyouthm2.JPG' />राजस्थान के सीकर में एक अजीबो-गरीब मामला सामने आया है। दरअसल, तीन माह पहले एक युवती की धूमधाम से शादी हुई थी।

फर्जी माता-पिता और बाराती, युवती से शादी रचा ले गया तीन बच्चों का पिता

New Delhi. राजस्थान के सीकर में एक अजीबो-गरीब मामला सामने आया है। दरअसल, तीन माह पहले एक युवती की धूमधाम से शादी हुई थी। करीब तीन महीने बाद युवती के परिजनों को जब असलियत का पता चला तो उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। बताया जा रहा है कि युवती से जिस युवक ने शादी की है, वह तीन बच्चों का पिता है, जबकि बाराती और माता-पिता सब फर्जी थे।

Images/03-06-2019144452muslimyouthm1.JPG

राजस्थान के सीकर जिला निवासी युवती की शादी करीब तीन माह पहले कबीर शर्मा से हुई थी। बताया जा रहा है कि कबीर शर्मा ने युवती को पहले अपने प्रेम जाल में फंसाया था। वहीं, युवती ने उसे कबीर शर्मा समझकर शादी करने के लिए हामी भर दी थी।

युवती से शादी को लेकर कबीर ने फर्जी तरह से मां-बाप, रिश्तेदार और बाराती बनाए। कबीर शर्मा युवती के घर बारात लेकर पहुंचा और धूमधाम से शादी की। पारम्परिक रीति रिवाज से सात फेरे लेकर दोनों ने शादी की औ युवती के परिजनों ने करीब 11 लाख रुपए का दहेज भी दिया, लेकिन तीन महीने बाद युवती के परिजनों को जब पता चला कि वह कबीर शर्मा नहीं, इमरान खान है। इससे उनके पैरों तले जमीन खिसक गई।

Images/03-06-2019144455muslimyouthm2.JPG

युवती के परिजनों ने फर्जी दूल्हे के खिलाफ थाने में मुकदमा दर्ज कराया। बताया जा रहा है कि इमरान एक मोटर कम्पनी में काम करता है, उसके तीन बच्चे भी है, वह सीकर का ही रहने वाला है। पुलिस ने मामला दर्ज कर मामले की छानबीन में जुट गई है।

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
देशभर में 5 लाख से अधिक घरो में सम्पन्न हुई गायत्री महायज्ञ https://www.newstimes.co.in/news/77802/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखीमपुर/-Gayatri-Mahayajya-concluded-in-more-than-5-lakh-homes-across-the-country888127Mon, 03 Jun 2019 00:00:00 GMTSHRADDHA SAHU<img src='http://newstimes.co.in/Images/03-06-2019115441GayatriMahaya1.jpg' alt='Images/03-06-2019115441GayatriMahaya1.jpg' />अखिल विश्व गायत्री परिवार के संस्थापक और संरक्षक पं. श्री राम शर्मा आचार्य के निर्वाण दिवस के अवसर पर 2 जून पूरे देश में गायत्री महायज्ञ का आयोजन किया गया था। यह अभियान अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज हरिद्वार के तत्वधान में चलाया गया था जिसमें कार्यकर्ताओ ने घर घर जा कर गायत्री यज्ञ कराया ।

देशभर में 5 लाख से अधिक घरो में सम्पन्न हुई गायत्री महायज्ञ

Lakhimpur-khiri.अखिल विश्व गायत्री परिवार के संस्थापक और संरक्षक पं. श्री राम शर्मा आचार्य के निर्वाण दिवस के अवसर पर 2 जून पूरे देश में गायत्री महायज्ञ का आयोजन किया गया था। यह अभियान अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज हरिद्वार के तत्वधान में चलाया गया था जिसमें कार्यकर्ताओ ने घर घर जा कर गायत्री यज्ञ कराया ।

Images/03-06-2019115441GayatriMahaya1.jpg

यह भी पढ़े..हाईकोर्ट की फटकार से सक्रिय हुआ सूचना आयोग, विशाखा समिति का किया गठन

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
उत्तराखंड: बादल फटने से चमोली और अल्मोड़ा में तबाही, एक की मौतhttps://www.newstimes.co.in/news/77800/भारत/उत्तराखंड-/cloud-burst-in-almora-and-chamauli-uttarakhand888125Mon, 03 Jun 2019 00:00:00 GMTABHIMANYU VERMA <img src='http://newstimes.co.in/Images/03-06-2019113402cloud-burst-in1.JPG' alt='Images/03-06-2019113402cloud-burst-in1.JPG' />उत्तराखंड के चमोली और अल्मोड़ा जिले में रविवार को बादल फटने की खबर है। जिसमें एक व्यक्ति की मौत और नुकसान की खबर है।

उत्तराखंड: बादल फटने से चमोली और अल्मोड़ा में तबाही, एक की मौत

Dehradun. उत्तराखंड के चमोली और अल्मोड़ा जिले में रविवार को बादल फटने की खबर है। जिसमें एक व्यक्ति की मौत और काफी नुकसान हुआ है। वहीं, प्रशासन ने भी इसको लेकर अलर्ट जारी किया है। हालांकि नुकसान की अभी आधिकारि पुष्टि नहीं की गयी है।

Images/03-06-2019113402cloud-burst-in1.JPG

जानकारी के मुताबिक चमोली के रामगधेरी नाले के मलबे से करीब आठ हेक्टेयर जमीन बर्बाद हो गई है। वहीं, इलाके के माईथान चौखुटिया मार्ग 100 मीटर तक ध्वस्त हो गया है और एक बुजुर्ग व्यक्ति की मौत की खबर है। 

वहीं, अल्मोड़ा में रामगंगा नदी का जल स्तर बढ़ गया है। यहां के चौखुटिया क्षेत्र के खेड़ा और असेढ़ी में बादल फटने से कई घरों के बह जाने की खबर है। हालांकि, इसकी अभी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गयी है। 

गौरतलब है कि साल 2013 में बारिश के बाद मंदाकनी और अलकनंदा नदी का जलस्तर बढ़ जाने से केदारनाथ सहित राज्य के कई हिस्से में बाढ़ ने भारी तबाही मचाई थी।  

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
गर्मी का सितम जारी, लू का दौर चालू रहेगा दो दिन औरhttps://www.newstimes.co.in/news/77795/भारत/Summer-s-release-Lu-s-round-will-continue-for-two-days888120Mon, 03 Jun 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/03-06-2019102323Summersrelea1.jpg' alt='Images/03-06-2019102323Summersrelea1.jpg' />मौसम विभाग ने रविवार को अगवे 48 घंटों के लिए अलर्ट जारी किया है। विभाग के अनुसार उत्तर भारत के जमीनी इलाकों,  मध्य और दक्षिण भारत में तेज लू चलने की चेतावनी दी है। यानी दो दिन बाद ही राहत की उम्मीद है। हालांकि हल्की पूर्वी हवाएं चलने के भी संकेत दिए हैं।

गर्मी का सितम जारी, लू का दौर चालू रहेगा दो दिन और

New Delhi. मौसम विभाग ने रविवार को अगवे 48 घंटों के लिए अलर्ट जारी किया है और उत्तर भारत के जमीनी इलाकों,  मध्य और दक्षिण भारत में तेज लू चलने की चेतावनी दी है। यानी दो दिन बाद ही राहत की उम्मीद है। हालांकि हल्की पूर्वी हवाएं चलने के भी संकेत दिए हैं। 

Images/03-06-2019102323Summersrelea1.jpg

रविवार को भी उत्तर भारत लू की चपेट में रहा। राजस्थान के सीकर में लू की चपेट में आने से एक किसान की मौत हो गई। चूरू में जहां अधिकतम तापमान 48.9 डिग्री सेल्सियस रहा तो गंगानगर और बीकानेर में क्रमश: 48.6 डिग्री और 48.1 डिग्री सेल्सियस रहा। 

हरियाणा के भिवानी में अधिकतम पारा 45.6 डिग्री, हिसार में 45 डिग्री सेल्सियस जा पहुंचा। नई दिल्ली में अधिकतम पारा 42.5 डिग्री, चंडीगढ़ में 41.5 डिग्री सेल्यियस दर्ज हुआ।

वहीं, पंजाब के पटियाला, लुधियाना और अमृतसर में क्रमश: 43 डिग्री, 43.6 और 43.8 डिग्री पारा रिकॉर्ड किया गया। जम्मू में अधिकतम पारा 42.5 डिग्री दर्ज हुआ

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
यमुना एक्सप्रेस वे पर दर्दनाक हादसा, 4 की मौत, 50 घायलhttps://www.newstimes.co.in/news/77792/भारत/Yamuna-Express-uncontrollable-double-decker-bus-4-killed-50-wounded888116Mon, 03 Jun 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/03-Jun-2019haKbYcw5eo1.jpg' alt='Images/03-Jun-2019haKbYcw5eo1.jpg' />उत्तर प्रदेश के यमुना एक्प्रेस वे पर एक बार फिर दिल दहला देने वाला हादसा हुआ है। हादसे में चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई और तकरीबन 50 यात्री घायल हो गए। 

यमुना एक्सप्रेस वे पर दर्दनाक हादसा, 4 की मौत, 50 घायल

उत्तर प्रदेश के यमुना एक्प्रेस वे पर एक बार फिर दिल दहला देने वाला हादसा हुआ है। हादसे में चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई और तकरीबन 50 यात्री घायल हो गए। 

Images/03-Jun-2019haKbYcw5eo1.jpg

बता दें कि घटना मथुरा जिले के थाना बलदेव इलाके के गांव गढ़सौली के पास हुई है। नोएडा से भिंड के लिए जा रही डबल डेकर बस बेकाबू होकर रात तकरीबन 12.45 बजे यमुना एक्सप्रेस वे पर पलट गई। 

पुलिस के मुताबिक हादसे में चर लोगों की मौके पर ही मौत हो गई और 50 लोग घायल हो गए पुलिस ने घायलों को आगरा के जसवंत अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया है। 

हादसे के बाद हाइवे पर अफरा-तफरी का माहौल हो गया। मरने वालों में तीन मध्य प्रदेश के भिंड के रहने वाले थे। जबकि एक मृतक की अभी तक शिनाख्त नहीं हो पाई है। पुलिस शवों को मोर्चरी में रखवा कर जांच में जुटी है। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
राज्यपाल राम नाईक ने वरिष्ठ पत्रकारों को किया सम्मानितhttps://www.newstimes.co.in/news/77786/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Governer-ne-journalist-ko-kiya-Sammanit888110Sun, 02 Jun 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/02-06-2019184018Governernejo2.jpg' alt='Images/02-06-2019184018Governernejo2.jpg' />प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने हिन्दी पत्रकारिता दिवस पर रंगभारती संस्था की ओर से लखनऊ विश्वविद्यालय के मालवीय सभागार आयोजित ​कार्यक्रम में पत्रकारों को सम्मानित किया।

राज्यपाल राम नाईक ने वरिष्ठ पत्रकारों को किया सम्मानित

Lucknow. प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने हिन्दी पत्रकारिता दिवस पर रंगभारती संस्था की ओर से लखनऊ विश्वविद्यालय के मालवीय सभागार आयोजित ​कार्यक्रम में पत्रकारों को सम्मानित किया।

Images/02-06-2019184014Governernejo1.jpg

राज्यपाल राम नाईक ने जिन वरिष्ठ पत्रकारों को सम्मानित किया है, उनमें रामेश्वर पाण्डेय, भास्कर दूबे, शांता कुमार, सदगुरु शरण, दिलीप अग्निहोत्री, प्रणय विक्रम सिंह सहित 15 पत्रकार शामिल है। इन पत्रकारों को विभिन्न श्रेणियों में सम्मानित किया गया। 

Images/02-06-2019184018Governernejo2.jpg

कार्यक्रम में विधानसभा अध्यक्ष हॄदय नारायण दीक्षित, कानून मंत्री बृजेश पाठक, लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलपति एसपी सिंह ने शिरकत की।

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
मंत्रिमंडल की बैठकों में फोन न ले जाने का आदेश निजता का हनन : कांग्रेसhttps://www.newstimes.co.in/news/77784/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/phone-na-le-jane-ka-aadesh-nijta-ka-hanan888108Sun, 02 Jun 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/02-06-2019181411phonenaleja1.JPG' alt='Images/02-06-2019181411phonenaleja1.JPG' />उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में होने वाली मंत्रिमंडल की बैठकों में फोन ना ले जाने वाले आदेश को कांग्रेस पार्टी ने निजता का हनन करार दिया है।

मंत्रिमंडल की बैठकों में फोन न ले जाने का आदेश निजता का हनन : कांग्रेस

Lucknow. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में होने वाली मंत्रिमंडल की बैठकों में फोन ना ले जाने वाले आदेश को कांग्रेस पार्टी ने निजता का हनन करार दिया है। पार्टी ने कहा है कि अगर इसका विरोध नहीं हुआ तो आगे चलकर इस तरह के फैसले बहुत घातक सिद्ध होंगे।

Images/02-06-2019181411phonenaleja1.JPG

कांग्रेस पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अंशू अवस्थी ने आईपीएन से बातचीत में कहा है कि तानाशाही के आधार पर भाजपा का जन्म हुआ है। इनके नेताओं की यदि लोकतंत्र में श्रद्धा है, तो इस आदेश का विरोध करें और इसका बहिष्कार करें। प्रवक्ता ने कहा कि जिस प्रकार केंद्र में सारे मंत्रियों और सांसदों के अधिकारों को शून्य करके पूरे सरकार की बागडोर अमित शाह और मोदी के हाथ में दी गई है, ठीक उसी प्रकार यही रवैया प्रदेश सरकार भी अपनाने जा रही है। इसका विरोध किया जाना चाहिए। जनता के चुने लोगों को चाहिए कि इसका कड़ा विरोध दर्ज कराएं, जिससे यह तानाशाही फरमान खत्म हो सके।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश सरकार ने मंत्रिमंडल की बैठकों में अपने मंत्रियों के फोन ले जाने पर रोक लगाई है। इस संबंध में मुख्यमंत्री की तरफ से आदेश जारी किया गया है। मंत्रियों को अब बैठक से पहले कक्ष के बाहर ही अपना फोन छोड़ना होगा।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
देश की इस बहादुर बेटी ने रचा इतिहास, कर डाला ये कामhttps://www.newstimes.co.in/news/77776/भारत/desh-ki-is-bahadur-beti-ne-racha-itihas888100Sun, 02 Jun 2019 00:00:00 GMTRAJNISH KUMAR<img src='http://newstimes.co.in/Images/02-06-2019154546deshkiisbah2.JPG' alt='Images/02-06-2019154546deshkiisbah2.JPG' />देश में महिलाओं की बहादुरी के तमाम किस्से आपने सुने होंगे, लेकिन आज हम एक ऐसी महिला का किस्सा सुनाने जा रहे हैं, जिसे जानकर आपको गर्व महसूस होगा।

देश की इस बहादुर बेटी ने रचा इतिहास, कर डाला ये काम

New Delhi. देश में महिलाओं की बहादुरी के तमाम किस्से आपने सुने होंगे, लेकिन आज हम एक ऐसी महिला का किस्सा सुनाने जा रहे हैं, जिसे जानकर आपको गर्व महसूस होगा। दरअसल, महिलाएं भी पुरूषों से पीछे नहीं है, इसे सच करके दिखाया मोहना सिंह ने। मोहना भारतीय वायुसेना की फ्लाइट लेफ्टीनेंट है, उन्होंने दिन में हॉक एडवांस जेट विमान उड़ाकर पहली महिला पायल बनने का इतिहास रच डाला है।

Images/02-06-2019154542deshkiisbah1.JPG

रक्षा मंत्रालय की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक, फ्लाइट लेफ्टीनेंट मोहना सिंह पश्चिम बंगाल के कलाईकुंड वायुसेना अड्डे से एयरक्राफ्ट से चार सैन्य उड़ाने सफलतापूर्वक पूरी की। इसके साथ ही दिन में हॉक एडवांस जेट विमान उड़ाने वाली मोहना सिंह पहली भारतीय महिला लड़ाकू पायलट बनी हैं।

रक्षा मंत्रालय की मानें तो यह हॉक जेट के पूरी तरह से संचालन के लिए सिलेबस का अंतिम चरण होता है। इस प्रशिक्षण में हवा से हवा में और हवा से जमीन में लड़ाकू मिशन के जरिए उड़ान भरना शामिल है।

Images/02-06-2019154546deshkiisbah2.JPG

बताया जा रहा है कि प्रशिक्षण के दौरान फ्लाइट लेफ्टीनेंट मोहना सिंह ने कई तरह के मिशन पूर किए, जिनमें तोप के गोले छोड़ना, राकेट और बमों को गिराना शामिल है।

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
आम के बागों का गैप प्रमाणीकरण एक आवश्यकताhttps://www.newstimes.co.in/news/77763/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-A-requirement-of-gap-certification-of-mango-gardens888087Sun, 02 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/02-06-2019124510Arequirement.jpg' alt='Images/02-06-2019124510Arequirement.jpg' />आम के व्यवसाय में बढ़ती प्रतिस्पर्धा को देखते हुए किसानों (गुड एग्रीकल्चरल प्रैक्टिसेज) गैप प्रमाणीकरण का ज्ञान आवश्यक हो गया है|

आम के बागों का गैप प्रमाणीकरण एक आवश्यकता

LUCKNOW.  आईसीएआर-सीआईएसएच रहमानखेड़ा, लखनऊ ने अपना 36वां स्थापना दिवस समारोह आयोजित किया। इस कार्यक्रम के दौरान “आम में आदर्श कृषि क्रियाओं के अनुपालन एवं फल उत्पादक संगठन” से प्राप्त लाभ के द्वारा उत्पादकों, किसानों, उद्यमियों, बैंकर्स एवं उद्यान अधिकारी ने भाग लिया। मंडी परिषद के निदेशक रमाकांत पांडे समारोह के मुख्य अतिथि थे। उन्होंने मंडी परिषद द्वारा किसानों को दी जाने वाली सुविधाओं के बारे में अवगत कराया। छोटे  किसानों को अपने उत्पाद को एकत्रित करके अधिक मात्रा में सप्लाई करने में होने वाले लाभ के बारे में भी उदाहरण सहित  समझाया। राजेश कुमार यादव सहायक महाप्रबंधक नाबार्ड ने आम के बागवानों के लिए फार्मर्स प्रोड्यूसर कंपनी बनाए जाने के लिए विभिन्न आवश्यकताओं की जानकारी दी गई। 

Images/02-06-2019124510Arequirement.jpg

आम के व्यवसाय में बढ़ती प्रतिस्पर्धा को देखते हुए किसानों के लिए गैप (गुड एग्रीकल्चरल प्रैक्टिसेज) प्रमाणीकरण का ज्ञान आवश्यक हो गया है। वैसे ही मलिहाबाद के किसानों को अन्य कई आम उत्पादक प्रदेशों के मुकाबले आम का कम दाम मिल पाता है, परंतु भविष्य में आने वाली चुनौतियों से मुकाबला करने के लिए बागवानों को इन मुद्दों  की कसौटी पर खरा उतरने की आवश्यकता है। विदेशों से आने वाले निर्यातक भी गैप प्रमाणीकरण की आवश्यकता पर जोर देते हैं, परंतु अपने देश में भी अच्छा मूल्य प्राप्त करने के लिए इस प्रकार के प्रमाणीकरण की आवश्यकता पड़ेगी, क्योंकि आम का बाजार अभी असंगठित है और किसान से खरीदार तक कई लोगों के सम्मिलित होने के कारण बहुत से मुख्य बिंदु हैं, जो भविष्य में आवश्यक प्रतीत होते हैं या भुला दिए जाते हैं। देश में ग्राहकों की अच्छी क्रय शक्ति होने के कारण प्रमाणित आमों को खरीदने के लिए वे कई गुना दाम देने में नहीं  हिचकते हैं। 

नाबार्ड की सहायता से किसान आम उत्पादक संगठन विकसित करने की आवश्यकता है। संस्थान इसके लिए प्रयासरत है, क्योंकि शिक्षित किसानों और बेरोजगार ग्रामीण युवाओं की नई पीढ़ी के पास उद्यमी बनने और बागवानी को व्यवसाय उद्यम के रूप में अपनाने का विशेष अवसर है। एक किसान केवल नई कृषि तकनीक अपनाने से ही उद्यमी नहीं बन जाता है, बल्कि यह तभी संभव होगा जब वह कृषि व्यवसाय का स्वयं संचालक बनता है। किसान आम उत्पादक संगठन (एफपीओ) उद्यमियों को लाभ में वृद्धि करके भूमिका निभा सकता है। एफपीओ के माध्यम से बिचौलियों की संख्या कम करके उत्पादन की लागत कम की सकती है और सीधे उपभोक्ताओं या कंपनी को बेच आम बेचे जा सकते हैं। 

एफपीओ को तकनीकी के लिए संस्थान द्वारा समर्थित किया जा सकता है। नाबार्ड के राजेश कुमार यादव ने इस विषय पर विस्तृत जानकारी दी। अवध आम उत्पादक एवं बागवानी समिति के महासचिव उपेंद्र सिंह ने समिति के सदस्यों द्वारा गैप की आवश्यकताओं के अनुरूप करने के लिए किसानों को संगठित होकर कार्य करने की सलाह दी, क्योंकि आने वाले समय में यह आम के व्यापार का एक मुख्य मुद्दा बनने जा रहा है।

निर्यातकों ने गैप प्रमाणीकरण को आवश्यक शर्त के रूप में लागू करना प्रारंभ कर दिया है, क्योंकि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में उन्हें वह सभी सूचनाएं देनी आवश्यक हैं और आम व्यवसाई आज तक इन पर ध्यान नहीं दे पाए। संस्थान से व्यापारियों एवं बड़े किसानों ने इस प्रकार के प्रमाणीकरण के लिए सहायता के लिए विचार विमर्श किया है, क्योंकि वे अपने आम को अधिक मूल्य पर बेचने के लिए इसका उपयोग करना चाहते हैं। अच्छी क्वालिटी के साथ-साथ प्रमाणीकरण आम का अच्छा दाम दिलाने में सहायक है।

विदेशों में ग्राहक को फल से संबंधित सारी जानकारी खरीदते समय उपलब्ध हो जाती है। उसे यह भी पता लग सकता है कि फल किस बाग से हैं और आम उत्पादन करने के लिए प्रयोग की गई सभी तकनीकी एवं रसायनों का विवरण होता है। धीरे धीरे यह प्रक्रिया अंतरराष्ट्रीय बाजार की मांग बन गई है और मलिहाबाद के किसानों को गुणवत्ता युक्त उत्पादन के साथ-साथ के प्रमाणीकरण की भी आवश्यकता पड़ेगी।


गैप प्रमाणन यदि ठीक से कार्यान्वित किया जाता है, तो यह खरीदारों को आकर्षित करता है और आयातकों को गुणवत्ता सिद्ध करने के लिए काम आसान हो जाता है। आम के बागों की आर्थिक, सामाजिक और पर्यावरणीय स्थिरता के लिए, गैप निर्यात के लिए आवश्यक खाद्य सुरक्षा और गुणवत्ता आयामों को पूरा करने में मदद कर सकता है। कई बार आयातक आयात करने के लिए तैयार होते हैं, लेकिन हम आयात देश की आवश्यकता के अनुसार गुणवत्ता वाले आमों की आपूर्ति करने में सक्षम नहीं होते हैं। इसलिए गैप प्रमाणीकरण न केवल विपणन में मदद करेगा, बल्कि किसानों को कार्बाइड और कीटनाशक मुक्त आमों का उत्पादन करने के लिए प्रोत्साहित करेगा क्योंकि कीटनाशक अवशेषों के साथ आम गैप आवश्यकताओं को पूरा नहीं कर सकता है।

इस कार्यक्रम के संतोषजनक कार्यान्वयन में कुछ साल लग सकते हैं, लेकिन निकट भविष्य में आम उद्योग की स्थिरता के लिए प्रदेश और विशेष रूप से मलिहाबाद की यह मुख्य आवश्यकता प्रतीत होता  है। हालाँकि, प्रमाणन एजेंसियां भारत में उपलब्ध हैं, लेकिन उनके द्वारा मांगे गए शुल्क को मलीहाबाद के किसानों द्वारा वहन नहीं किया जा सकता है। प्रमाणन शुल्क के रूप में कई लाख रुपये संसाधन हीन गरीब किसान द्वारा चुकाना मुश्किल है, इसलिए, हमें वैकल्पिक प्रमाणीकरण कार्यक्रम के बारे में सोचना होगा जो गुणवत्ता और फल की गुणवत्ता को सुनिश्चित कर सकता है। आईसीएआर-सीआईएस स्वीकार्य मैंगो गैप प्रमाणन कार्यक्रम के लिए प्रयासरत है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
छिपकली वाले दूध की चाय पीने से परिवार की बिगड़ी हालतhttps://www.newstimes.co.in/news/77757/भारत/उत्तर-प्रदेश-/उन्नाव/-कोतवाली-Dysfunctional-condition-of-family-members-due-to- drinking-tea-made-of-lizard-fallen-milk888081Sun, 02 Jun 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/02-06-2019112005Dysfunctional2.jpg' alt='Images/02-06-2019112005Dysfunctional2.jpg' />छिपकली गिरे दूध की चाय पीने से एक ही परिवार के छह लोगों की हालत बिगड़ गयी जिनमें एक मासूम भी शामिल है। इस घटना से गांव में हड़कंप मच गया। आनन फानन सभी स्थानीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। उपचार के बाद अब सभी की हालत स्थिर है। घटना राजधानी से सटे उन्नाव जिले के औरास थाना क्षेत्र के सीमऊ गांव की है। 

छिपकली वाले दूध की चाय पीने से परिवार की बिगड़ी हालत

New Delhi. छिपकली गिरे दूध की चाय पीने से एक ही परिवार के छह लोगों की हालत बिगड़ गयी जिनमें एक मासूम भी शामिल है। इस घटना से गांव में हड़कंप मच गया। आनन फानन सभी स्थानीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। उपचार के बाद अब सभी की हालत स्थिर है। घटना राजधानी से सटे उन्नाव जिले के औरास थाना क्षेत्र के सीमऊ गांव की है। 

Images/02-06-2019111914Dysfunctional1.jpg

बीती शाम लल्लू ने गाय का दूध निकालने के बाद भगोने में कर आलमारी में रख दिया। सुबह लल्लू की बेटी पूनम(18) ने उसी भगोने से दूध निकालकर चाय बनाई जिसे परिवार के सभी सदस्यों ने पिया। 

Images/02-06-2019112005Dysfunctional2.jpg

चाय पीने के बाद लल्लू के छोटे मासूम बेटे पंकज (5) की हालत बिगड़ने लगी। देखते ही देखते लल्लू (42) पुत्र सरजू, मीरा (40) पत्नी लल्लू, पूनम(18),पूजा (12) पुत्री लल्लू, रवी (7) पंकज (5) पुत्रगण लल्लू आदि को चक्कर आने लगे। 

उन्हें उल्टी दस्त शुरू हो गये। अचानक पूरे परिवार के एक साथ हालत बिगड़ी देख गांव में हड़कंप मच गया। ग्रामीणों ने सभी बीमरों को निजी वाहनों में लादकर औरास स्थित सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां सभी का उपचार किया गया। 

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डा. अरविंद तिवारी ने बताया दूध में छिपकली गिरने के बाद उसी दूध से बनी चाय परिवार के सदस्यों ने पी थी। उपचार करने के बाद सभी को घर भेज दिया गया है।

  ऐसे पता चला दूध में थी छिपकली

भगोने में रखे दूध में रात के समय किसी तरह छिपकली जा गिरी जो उसी में डूब कर मर गयी। सुबह उसी दूध को उबालकर चाय बनाई गई। हालत बिगड़ने के बाद जब शेष बचे दूध को दूसरे बर्तन में बदला गया तो उबले दूध में मृत छिपकली पायी गई।

यह भी पढ़े...भीड़ के चलते ट्रेन में सफर कर रही महिला यात्री का दम घुटा, मौत

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
भीड़ के चलते ट्रेन में सफर कर रही महिला यात्री का दम घुटा, मौतhttps://www.newstimes.co.in/news/77754/भारत/उत्तर-प्रदेश-/suffocation-due-to-the-crowd-a-woman-passenger-died-during-traveling-in-the-train888078Sun, 02 Jun 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/02-06-2019103135suffocationdu2.jpg' alt='Images/02-06-2019103135suffocationdu2.jpg' />भीषण गर्मी में ट्रेनों की भीड़ अब जानलेवा हो गयी है। ऐसी ही एक घटना में शुक्रवार रात संपर्क क्रांति एक्सप्रेस में सवार एक महिला यात्री की दम घुटने से मौत हो गयी। पुलिस ने शव कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।  

भीड़ के चलते ट्रेन में सफर कर रही महिला यात्री का दम घुटा, मौत

Lucknow. भीषण गर्मी में ट्रेनों की भीड़ अब जानलेवा हो गयी है। ऐसी ही एक घटना में शुक्रवार रात संपर्क क्रांति एक्सप्रेस में सवार एक महिला यात्री की दम घुटने से मौत हो गयी। पुलिस ने शव कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।  

Images/02-06-2019103112suffocationdu1.jpgImages/02-06-2019103135suffocationdu2.jpg

यह भी पढ़े...यूपीपीएससी परीक्षाओं को लेकर प्रियंका ने योगी सरकार पर साधा निशाना

 

 

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
बदल रहा मौसम का मिजाज, उत्तर भारत में बारिश की संभावनाhttps://www.newstimes.co.in/news/77755/भारत/दिल्ली/Mood-of-changing-weather-possibility-of-rain-in-North-India888079Sun, 02 Jun 2019 00:00:00 GMTSHRADDHA SAHU<img src='http://newstimes.co.in/Images/02-06-2019103158Moodofchangi1.jpeg' alt='Images/02-06-2019103158Moodofchangi1.jpeg' />भीषण गर्मी की तपिश से तप रहे लोगो के लिए राहत की खबर मिल रही हैं। मौसम विभाग की जानकारी के अनुसार उत्तरप्रदेश, राजस्थान, दिल्ली, हरियाणा में भारी बारिश की संभावना हो सकती हैं।

बदल रहा मौसम का मिजाज, उत्तर भारत में बारिश की संभावना

New Delhi. भीषण गर्मी की तपिश से तप रहे लोगों के लिए राहत की खबर है। मौसम विभाग ने उत्तर प्रदेश, राजस्थान, दिल्ली, हरियाणा सहित अन्य राज्यों में बारिश की संभावना जताई है। 

Images/02-06-2019103158Moodofchangi1.jpeg

उत्तर भारत में गर्मी का कहर दिन ब दिन बढता जा रहा है। तापमान करीब 45 से 48 डिग्री के पार पहुंच गया है। हालांकि मौसम विभाग की मानें तो भीषण गर्मी से जल्द ही राहत मिल सकती है। उत्तर प्रदेश, राजस्थान, दिल्ली, हरियाणा, मध्य प्रदेश सहित कई जगहों पर बारिश की संभावना जताई जा रही है।

 

प्रदेश के लखनऊ में आज सुबह मौसम काफी सुहाना था, लेकिन बाद में मौसम ने अपना रंग दिखाना शुरू ​​कर दिया। दिन में भीषण धूप ने लोगों को घर में रहने को मजबूर कर दिया है।

यह भी पढ़ें... दुमका में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, 5 नक्सली ढेर, 1 जवान शहीद

 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
मलिहा​बाद और दुबग्गा मंडी में पहली जून से दशहरी की आवक तेजhttps://www.newstimes.co.in/news/77745/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-In-Malihabad--and-Dubagga-mandi-from-the-beginning-of-June-to-the-fasting-of-Dussehri888069Sun, 02 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/01-06-2019231837InMalihabad.jpg' alt='Images/01-06-2019231837InMalihabad.jpg' />आज से प्रदेश और देश की अधिकांश मंडियों में दशहरी आम की पहुंच शुरू हो जाएगी।

मलिहा​बाद और दुबग्गा मंडी में पहली जून से दशहरी की आवक तेज

LUCKNOW.  प्रदेश और देश की अधिकांश मंडियों में आज से दशहरी आम की पहुंच शुरू हो जाएगी, क्योंकि आम तौर पर माना जाता है कि पहली जून से दशहरी डाल में पकने लगती है। इसी को ध्यान में रखते हुए आम उत्पादक सभी बागवान पहली जून से आम की तुड़ाई शुरू कर देते हैं। ऐसा नहीं है कि इससे पहले आम की तुड़ाई शुरू नहीं होती है। 

Images/01-06-2019231837InMalihabad.jpg

आम की तुड़ाई तो 20 मई के आस पास शुरू हो जाती है, लेकिन तब आम के फलों में परिपक्वता न होने के कारण पकाने पर उसमें सिकुड़न आ जाती है और पकने के बावजूद उसमें खटास बनी रहती है। 

अब दशहरी सहित कई आम परिपक्वता पर आ चुके हैं, इसलिए अब पकाने से उसमें सिकुड़न और खटास नहीं आएगी। आज से मलिहाबाद, दुबग्गा, संडीला,इटावा, बनारस, गोरखपुर, ​सुल्तानपुर सहित प्रदेश के अन्य जिलों की मंडियों में बिक्री के लिए दशहरी जाने लगी है। 

इसके अलावा यहां से दशहरी हरियाणा, जालंधर, दिल्ली, कोलकाता, मुम्बई को भी दशहरी जाने लगी है। मलिहाबाद में आज दशहरी की बिक्री प्रति पेटी 250 से 400 रुपए में शुरू हुई, जबकि दुबग्गा मंडी  में आम की बिक्री 200 रुपए से 350 रू0 प्रति बोझ (झाबा) 18 से 30 रुपए प्रति किलो के भाव तौल में बिक्री हो रही थी।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
दुबग्गा में जाम हटवाने के लिए पुलिस ने पीएसी बुलाईhttps://www.newstimes.co.in/news/77744/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/Police-called-PAC-to-remove-Jamgun-in-Dagga888068Sun, 02 Jun 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/01-06-2019230600Policecalled.jpg' alt='Images/01-06-2019230600Policecalled.jpg' />दुबग्गा में जाम को देखते हुए पुलिस ने पीएसी को बुलाकर सड़क पर ठेला लगाकर जाम को बढ़ावा देने वालों को हटवाकर उन्हे नाले पर ठेला लगाने को कहा।

दुबग्गा में जाम हटवाने के लिए पुलिस ने पीएसी बुलाई

DUBAGGA. दुबग्गा में जाम को देखते हुए पुलिस ने पीएसी को बुलाकर सड़क पर ठेला लगाकर जाम को बढ़ावा देने वालों को हटवाकर उन्हें नाले पर ठेला लगाने को कहा।

Images/01-06-2019230600Policecalled.jpg

दुबग्गा चौकी के दरोगा पीएसी बल के साथ सड़क किनारे बेतरतीब खड़े ठेले वालों के सामने डंडा पटकते हुए कड़ी फटकार लगाई। जिससे बिना किसी प्रकार का बल प्रयोग किए पटरी दुकानदार व ठेले वाले सड़क छोड़कर किनारे चले जाएं। ऐसा करने के लिए पुलिस को कई जगह दुकानदारों को कड़ी फटकार लगानी पड़ी। तब जाम कम हुआ।

लोगों का कहना था कि पुलिस य​दि लगातार यह प्रयास करे तो जाम न लगने पाए परन्तु एक दिन ऐसा करके पुलिस दोबारा कई दिनों के लिए यह करना भूल जाती है। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
सूर्य की तपिश में तप रहा पूरा उत्तर भारत, 30 लोगों की मौतhttps://www.newstimes.co.in/news/77738/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/burning-north-india-888062Sat, 01 Jun 2019 00:00:00 GMTANKUR SHARMA<img src='http://newstimes.co.in/https://www.hindustantimes.com/rf/image_size_960x540/HT/p2/2017/06/21/Pictures/weather_8e6742f4-5634-11e7-b50f-ad66c5ec5579.jpg' alt='https://www.hindustantimes.com/rf/image_size_960x540/HT/p2/2017/06/21/Pictures/weather_8e6742f4-5634-11e7-b50f-ad66c5ec5579.jpg' />देश में बढ़ती हुई गर्मी के कारण देश भर में देखे गए लू के प्रकोप ।शहर के लोगो में बढ़ती हुई तनाव की लहर। तापमान 45 पार, हीटवेव की वजह से अबतक 30 की मौत।

सूर्य की तपिश में तप रहा पूरा उत्तर भारत, 30 लोगों की मौत

Lucknow. उत्तर प्रदेश सहित पूरे उत्तर भारत में तापमान बढ़ने से भीषण गर्मी की चपेट में है। कई स्थानों पर पारा 50 के पार पहुंच गया है। भीषण गर्मी के कारण लोग त्रस्त हो पाए गए हैं। प्रचंड धूप होने के कारण लोग घरों बाहर ही नहीं निकल रहे हैं। सुबह 10 बजते ही सड़कों पर सन्नाटा देखा जा सकता है।   

https://www.hindustantimes.com/rf/image_size_960x540/HT/p2/2017/06/21/Pictures/weather_8e6742f4-5634-11e7-b50f-ad66c5ec5579.jpg

मौसम विभाग की मानें तो आने वाले सप्ताह में उत्तर और उत्तर की ओर चलने वाली गर्म हवाओं के कारण पूरे भारत में तापमान और बढ़ सकता है। पूर्वोत्तर राज्यों, पश्चिमी भारतीय हिमालयी राज्यों और केरल को छोड़कर देश के बाकी हिस्सों में पारा 40 डिग्री सेल्सियस से ऊपर जाने की संभावना है। राजस्थान और महाराष्ट्र में अधिकतम तापमान 50 डिग्री सेंटीग्रेड या इससे अधिक बने रहने की संभावना है। वहीं, पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में तापमान गुरुवार के बाद 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है। 

देश में इस साल गर्म हवा की वजह से अब तक कम से कम 30 लोगों की मौत हो चुकी है। बताया जा रहा है कि गर्म हवा से अभी अगले 3 दिनों तक राहत नहीं मिलने वाली है। उत्तर भारत के कई हिस्से भीषण गर्मी की चपेट में हैं, इनमें राजस्थान के ज्यादातर हिस्से गर्म हवा से प्रभावित हैं।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
कश्मीर के रउफ ने अपनी जान गवां कर बचाई पर्यटकों की जिंदगीhttps://www.newstimes.co.in/news/77729/भारत/जम्मू-कश्मीर/Kashmirs-Rauf-lost-his-life-and-saved-lives-of-tourists888053Sat, 01 Jun 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/01-06-2019151329KashmirsRauf2.jpg' alt='Images/01-06-2019151329KashmirsRauf2.jpg' />आतंक की आग में झूलसती घाटी में सिर्फ पत्थरबाजी करने वाले ही नहीं बल्कि अपनी जान की परवाह किए बिना दूसरों की जान बचाने वाले फरिश्ते भी रहते हैं। यह बात जम्मू कश्मीर के एक टूरिस्ट गाइड ने सिद्ध कर दी। जिसने नाव पलटने से नदी में डूबे पर्यटकों को तो बचा लिया लेकिन अपनी जान गवां दी। डिप्टी कमिश्नर ने बहादुरी पुरस्कार के लिए उसके नाम की सिफारिश की है। 

कश्मीर के रउफ ने अपनी जान गवां कर बचाई पर्यटकों की जिंदगी

Srinagar. आतंक की आग में झुलसती घाटी में सिर्फ पत्थरबाजी करने वाले ही नहीं बल्कि अपनी जान की परवाह किए बिना दूसरों की जान बचाने वाले फरिश्ते भी रहते हैं। यह बात जम्मू कश्मीर के एक टूरिस्ट गाइड ने सिद्ध कर दी। जिसने नाव पलटने से नदी में डूबे पर्यटकों को तो बचा लिया, लेकिन अपनी जान गवां दी। डिप्टी कमिश्नर ने बहादुरी पुरस्कार के लिए उसके नाम की सिफारिश की है। 

Images/01-06-2019151307KashmirsRauf1.jpg

मिली जानकारी के अनुसार, कश्मीर घाटी के पहलगाम में मावूरा के पास गुरुवार शाम एक नाव लिद्दर नदी में पलट गई। हादसे के दौरान तेज हवा के साथ नदी में भी तेज बहाव था। इस हादसे में नाव पर सवार पर्यटक नदी में डूब गए। 

नाव पर सवार टूरिस्ट गाइड रउफ अहमद डार बिना अपनी जान की परवाह किए पर्यटकों को बचाने के लिए नदी में कूद गया। तेज बहाव में के बावजूद उसने पर्यटकों को तो बचा लिया जबकि वह खुद डूब गया।

Images/01-06-2019151329KashmirsRauf2.jpg

उधर घटना की सूचना मिने पर J&K पुलिस और एसडीआरएफ के जवान स्थानीय लोगों के साथ बचाव कार्य में जुट गए। पर्यटकों को तो बचा लिया गया लेकिन अंधेरा अधिक हो जाने के कारण गाइड रउफ को नहीं ढूंढा जा सका। उसका शव बाद में भवानी पुल के पास बरामद हुआ। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। 

रउफ अहमद डार ने 5 पर्यटकों की जिंदगी बचाने के लिए अपनी जान न्योछावर कर दी। जिन पर्यटकों की जान उसने बचाई उनमें 2 विदेशी भी हैं। अनंतनाग के डिप्टी कमिश्नर खालिद जहांगीर ने रउफ अहमद को बहादुरी पुरस्कार से सम्मानित करने के लिए सिफारिश की है। 

यह भी पढ़े...ट्रंंप से वार्ता विफल,किम ने दूत को उतारा मौत के घाट

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
संघ प्रमुख मोहन भागवत अपने चार दिवसीय प्रवास के लिए पहुंचे कानपुरhttps://www.newstimes.co.in/news/77722/भारत/उत्तर-प्रदेश-/कानपुर/-BADASSA--चिल्ला----जगदीशपुरा--जगनेर--फतेहगंज---बेकन-गंज---बसई-जगनेर--सदर-बाजार-Union-chief-Mohan-Bhagwat-reached-Kanpur-for-his-four-day-stay888046Sat, 01 Jun 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/01-06-2019134506UnionchiefMo1.jpg' alt='Images/01-06-2019134506UnionchiefMo1.jpg' />सरसंघ चालक मोहन भागवत अपने चार दिवसीय प्रवास के लिए शनिवार कानपुर पहुंच गए। वह यहां शिक्षा वर्ग के द्वितीय वर्ष के कार्यक्रम में स्वयंसेवकों का मार्ग दर्शन करने के लिए प्रमुख रूप से पहुंचे हैं। सेंट्रल स्टेशन पर उतरने के बाद वह पं. दीनदयाल उपाध्याय सनातन धर्म विद्यालय के लिए रवाना हो गए। 

संघ प्रमुख मोहन भागवत अपने चार दिवसीय प्रवास के लिए पहुंचे कानपुर

Kanpur. सरसंघ चालक मोहन भागवत अपने चार दिवसीय प्रवास के लिए शनिवार कानपुर पहुंच गए। वह यहां शिक्षा वर्ग के द्वितीय वर्ष के कार्यक्रम में स्वयंसेवकों का मार्ग दर्शन करने के लिए प्रमुख रूप से पहुंचे हैं। सेंट्रल स्टेशन पर उतरने के बाद वह पं. दीनदयाल उपाध्याय सनातन धर्म विद्यालय के लिए रवाना हो गए। 

Images/01-06-2019134506UnionchiefMo1.jpg

संघ पदाधिकारियों के मुताबिक, संघ प्रमुख भागवत चार दिनों तक यहां रहकर शिक्षा वर्ग के तहत स्वयं सेवकों का मार्गदर्शन करेंगे। इस दौरान वह शिक्षा वर्ग के माध्यम से शाखाओं के विस्तार समेत अन्य बिंदुओं पर वार्तालाप भी करेंगे। बता दें कि ​20 दिवसीय संघ शिक्षा वर्ग कार्यक्रम बीती 24 मई से चल रहा है इसका समापन 13 जून को होना है। 

संघ के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने बताया कि संघ प्रमुख मोहन भागवत इन चार दिनों में कार्यकर्ताओं के व्यक्तित्व में गुणात्मक विकास के गुरूमंत्र देने के साथ ही स्वयंसेवकों को गांव गांव तक शाखा लगाने के लिए प्रेरित करेंगे। 

यह भी पढ़े...पीएम मोदी ने पूरा किया वायदा, जल​शक्ति मंत्रालय का हुआ गठन

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
पांच माह बाद भी नहीं बन सके पशु आश्रय स्थलhttps://www.newstimes.co.in/news/77681/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-मलिहाबाद--Apart-from-just-4-panchayats-no-secretary-and-head-is-taking-it-seriously888004Fri, 31 May 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/31-05-2019115330Apartfromjus.jpg' alt='Images/31-05-2019115330Apartfromjus.jpg' />न्याय पंचायत स्तर पर पशु आश्रय केन्द्र बनाने का आदेश लागू होने के 5 माह बाद भी केवल 8 स्थानों पर ही पशु आश्रय स्थलों का निर्माण हो पाया है।

पांच माह बाद भी नहीं बन सके पशु आश्रय स्थल

Lucknow. न्याय पंचायत स्तर पर पशु आश्रय केन्द्र बनाने का आदेश लागू होने के पांच माह बाद भी केवल आठ स्थानों पर ही पशु आश्रय स्थलों का निर्माण हो पाया है। इन पशु आश्रय स्थलों में जितने पशु रखे गए थे। उनमें से सैकड़ों पशु मर चुके हैं। 

Images/31-05-2019115330Apartfromjus.jpg

इसके बावजूद मलिहाबाद की चार पंचायतों में काफी अधिक संख्या में पशु आज भी मौजूद हैं। इनमें से खड़ौहा में 724, दिलावर नगर में 220, दौलतपुर में 234, कसमंडी खुर्द में 175 पशुओं के अलावा महला में 50, कैथुलिया में 25 तथा मोहम्मद नगर तालुकेदारी में 5 जानवर बचे हैं। 

मलिहाबाद के उप मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ. आर.बी.राम के अनुसार, कुल 1518 जानवर इस समय मौजूद हैं। कई बार चेतावनी मिलने के बाद भी अल्लूपुर, माधोपुर, महदोइया में अभी तक एक भी जानवर नहीं रखा गया है। 

इन पंचायतों के अलावा कुछ और गांव हैं, जहां पशु आश्रय केन्द्रों का निर्माण न होने से अभी भी किसानों की फसलों का काफी नुकसान हो रहा है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
मैंगो पैक हाउस का संयुक्त टीम ने किया निरीक्षणhttps://www.newstimes.co.in/news/77678/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-Joint-team-of-Mango-Pack-House-inspected888001Fri, 31 May 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/31-05-2019111049Jointteamof.jpg' alt='Images/31-05-2019111049Jointteamof.jpg' />। आम निर्यात के लिए रहमानखेड़ा स्थित मैंगो पैक हाउस में इसी साल लगाई गई वीएचटी का सरकार की एक टीम ने निरीक्षण किया। जिसमे उन्होने वीएचटी की बारीकियों को देखा। इसके अलावा टीम ने पैक हाउस की अन्य तैयारियों को भी देखा जिसकी तैयारी अभी जारी है

मैंगो पैक हाउस का संयुक्त टीम ने किया निरीक्षण

LUCKNOW. आम निर्यात के लिए रहमानखेड़ा स्थित मैंगो पैक हाउस में इसी साल लगाई गई वीएचटी का सरकार की एक टीम ने निरीक्षण किया, जिसमें उन्होंने वीएचटी की बारीकियों को देखा। इसके अलावा टीम ने पैक हाउस की अन्य तैयारियों को भी देखा जिसकी तैयारी अभी जारी है। यहां एक गोदाम बनाया जा रहा है, जिसका निर्माण कार्य अभी जारी है। यह टीम अपनी रिपोर्ट सरकार को देगी। उसी के बाद इसको लंदन आम के लिए निर्यात का प्रमाण पत्र मिल जाएगा। 

Images/31-05-2019111049Jointteamof.jpg

सूत्रों ने बताया कि इस टीम के प्रमाण पत्र देने के बावजूद जापान, रूस, सहित कुछ अन्य देश आम लेने से पहले अपने देश की टेक्निकल टीम से निरीक्षण कराने के बाद संतुष्ट होने के बाद ही आम निर्यात की अनुमति प्रदान करेंगे। 

इस टीम में मंडी परिषद से सतीश सिंह, मुख्य उद्यान विशेषज्ञ बी.पी.राम सहित एपीडा और जैविक कृषि वैज्ञानिक भी थे। इनकी रिपोर्ट एक सप्ताह के अन्दर आ जाएगी। उसी के बाद आम निर्यात के लिए कम्पनियां यहां से अपना काम शुरू करेंगी।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
गुमनाम होकर रह गया स्वतंत्रता सेनानी का गांव https://www.newstimes.co.in/news/77676/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-Anonymous-Freedom-Fighters-Village887999Fri, 31 May 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/31-05-2019104557Nameoffreedo.jpg' alt='Images/31-05-2019104557Nameoffreedo.jpg' />विकास खण्ड मलिहाबाद के के प्रांगण में बने शहीद स्तम्भ में तीन शहीद स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के नाम अंकित हैं। जिनमें से एक व्यक्ति के गांव का नाम विकास खण्ड से तहसील तक किसी भी अधिकारी को नहीं पता।

गुमनाम होकर रह गया स्वतंत्रता सेनानी का गांव

LUCKNOW. विकास खण्ड मलिहाबाद के प्रांगण में बने शहीद स्तम्भ में तीन शहीद स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के नाम अंकित है, जिनमें से एक व्यक्ति के गांव का नाम विकास खण्ड से तहसील तक किसी भी अधिकारी को नहीं पता। यहां स्थापित स्तम्भ में अब्दुल हक खां पुत्र मो. इसराइल खां, ग्राम बख्त्यार नगर मलिहाबाद, देवीदयाल पुत्र हजारी लाल ग्राम गोदावली सिरोहा मलिहाबाद, राजकुमार शुक्ल पुत्र विष्णुदत्त शुक्ल ग्राम महमूद नगर मलिहाबाद अंकित है। 

Images/31-05-2019104557Nameoffreedo.jpg

इनमें से अब्दुल हक खां व राजकुमार शुक्ल के परिवार के लोग आज भी हैं, जबकि देवीदयाल किस गांव के थे यह अब किसी को पता नहीं है। इस संबन्ध में खण्ड विकास अधिकारी मलिहाबाद ने कहा कि उनकी जानकारी में इस नाम का कोई गांव नहीं है। 

वह तहसील से पता करेंगे, शायद उनको पता हो। जबकि तहसील में भी इस नाम का कोई गांव सरकारी रिकार्ड में नहीं है।  बता दें कि बीकेटी तहसील पहले मलिहाबाद का ही हिस्सा थी। वहां के तहसीलदार संदीप त्रिपाठी ने भी कहा कि उनकी तहसील में भी इस नाम का कोई गांव नहीं है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
मोदी मंत्रिमंडल के दस कैबिनेट मंत्री हुए बाहरhttps://www.newstimes.co.in/news/77662/भारत/दिल्ली/Modi-Cabinet-cabinet-ministers-out887985Thu, 30 May 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/30-05-2019202945ModiCabinetc1.jpg' alt='Images/30-05-2019202945ModiCabinetc1.jpg' />नरेन्द्र मोदी मंत्रिमंडल के दस म़ंत्रियों को नये मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिली।

मोदी मंत्रिमंडल के दस कैबिनेट मंत्री हुए बाहर

Images/30-05-2019202803ModiCabinetc.jpg

NEW DELHI.  नरेन्द्र मोदी मंत्रिमंडल के दस म़ंत्रियों को नये मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिली। जिनमें वित्तमंत्री अरूण जेटली, विदेशमंत्री सुषमा स्वराज,वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभू, पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री उमाभारती, महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जगत प्रसाद नड्डा, भारी उद्योग मंत्री अनन्त गंगाराम गीते, स्टील मंत्री चौधरी वीरेन्द्र सिंह, जनजातीय मामलों के मंत्री जुएल उरांव, कृषिमंत्री राधामोहन सिंह प्रमुख हैं। अब इन्हे संगठन की जिम्मेदारी दी जा सकती है। कुछ लोगों को अस्वस्थ होने के कारण सभी जिम्मेदारियों से मुक्त किया जा सकता है।

Images/30-05-2019202945ModiCabinetc1.jpg
© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
कर्मचारियों की लापरवाही से पशु चिकित्सालय के वृक्ष गायबhttps://www.newstimes.co.in/news/77619/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-Nursery-tree-missing-from-staffs-carelessness887941Wed, 29 May 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/29-05-2019150442Nurserytreem.jpg' alt='Images/29-05-2019150442Nurserytreem.jpg' /> मनरेगा योजना से सरकारी स्कूलों, पंचायत कार्यालयों के परिसरो सहित पशुचिकित्साधिकरी कार्यालय मलिहाबाद के ​परिसर में मनरेगा योजना से वृक्षारोपण कराया गया था। लेकिन देखरेख के अभाव में सभी पेड़ सूख गए।

कर्मचारियों की लापरवाही से पशु चिकित्सालय के वृक्ष गायब

Images/29-05-2019150442Nurserytreem.jpg

LUCKNOW. गत वर्ष मनरेगा योजना से सरकारी स्कूलों, पंचायत कार्यालयों के परिसरो सहित पशुचिकित्साधिकरी कार्यालय मलिहाबाद के ​परिसर में मनरेगा योजना से वृक्षारोपण कराया गया था। लेकिन देखरेख के अभाव में सभी पेड़ सूख गए। 

पशु आश्रय केन्द्रों के किनारे होगा वृक्षारोपण 
इसलिए इस बार उप मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा.आर.बी.राम ग्राम पंचायतों में बनने वाले पशु आश्रय केन्द्रों के किनारें वृक्षारोपण कराएंगे। श्री राम ने कहा कि उनके परिसर में लगे पेड़ पानी के अभाव में सूख गए। उन्होने कहा कि पशु आश्रय केन्द्रों पर पानी की व्यवस्था होने के कारण पेड़ सूखने नहीं पाएंगे। दूसरी ओर पशु आश्रय केन्द्र पंचायतों की देखरेख में हैं इसलिए क्या प्रधान उनकी नियमित देखरेख करेंगें। क्योंकि जब प्रधानों द्वारा कराए गए वृक्षारोपण में से अधिकांश स्कूलों में लगाए गए पौधे हर साल लगाए जाते हैं और उसी साल कुद माह में ही सूख जाते हैं।                                       

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
वीर सावरकर के आदर्शों से सीख लेकर करें अपने कर्तव्यों का निर्वहन : राज्यपालhttps://www.newstimes.co.in/news/77607/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/rajyapal-ne-kaha-veer-savarkar-se-seekh-lekar-are-kartavyo-ka-nirvahan-887929Wed, 29 May 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/29-05-2019112758rajyapalneka1.jpg' alt='Images/29-05-2019112758rajyapalneka1.jpg' />राज्यपाल ने अपने संदेश में कहा है कि वीर सावरकर बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी थे। वे एक विख्यात लेखक, समाज सुधारक, इतिहासकार, साहित्यकार, संवेदनशील कवि और सबसे बढ़कर एक महान क्रांतिकारी थे, जिन्हे अंग्रेजों ने दो बार आजीवन करावास की सजा दी थी। उनकी कविता ‘हे मातृभुमि तुजला मन वाहियेले’ हमें आज भी प्रेरणा देती है। वीर सावरकर पहले व्यक्ति थे जिन्होंने यह साबित किया कि 1857 का समर ‘प्रथम स्वतंत्रता संग्राम’ था जिसे अंग्रेजों ने बगावत का नाम दिया। उन्होंने कहा कि वीर सावरकर ने देश के लिये अपना सर्वस्व न्यौछावर कर दिया था। नाईक ने कहा कि हमें वीर सावरकर के आदर्शों से सीख लेकर देश और समाज के प्रति अपने कर्तव्यों का निर्वहन करना चाहिये।

वीर सावरकर के आदर्शों से सीख लेकर करें अपने कर्तव्यों का निर्वहन : राज्यपाल

Lucknow. उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने स्वातंत्र्यवीर सावरकर की जयंती पर उन्हें याद करते हुये श्रद्धांजलि अर्पित की है।

Images/29-05-2019112758rajyapalneka1.jpg
© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
भारत की इन बेटियों ने रचा इतिहास, उड़ाया वायुसेना का एमआई-17https://www.newstimes.co.in/news/77564/भारत/Three-Indian-soldiers-of-Indian-Air-Force-created-history-by-MI-17887882Tue, 28 May 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/28-May-2019tl8zQ36KKS1.jpg' alt='Images/28-May-2019tl8zQ36KKS1.jpg' /> महिलाएं आज के दौर में किसी भी मामले में पुरुषों से कम नहीं हैं। आज हर क्षेत्र में महिला पुरुषों को मात देती नजर आ रही हैं। वहीं भारतीय वायुसेना में भी महिलाओं ने इतिहास रच दिया है। दरअसल, भारतीय वायुसेना की तीन महिला अधिकारियों ने सोमवार को एमआई-17 हेलीकॉप्टर उड़ाकर इतिहास रच दिया। 

भारत की इन बेटियों ने रचा इतिहास, उड़ाया वायुसेना का एमआई-17

New Delhi. महिलाएं आज के दौर में किसी भी मामले में पुरुषों से कम नहीं हैं। आज हर क्षेत्र में महिला पुरुषों को मात देती नजर आ रही हैं। वहीं भारतीय वायुसेना में भी महिलाओं ने इतिहास रच दिया है। दरअसल, भारतीय वायुसेना की तीन महिला अधिकारियों ने सोमवार को एमआई-17 हेलीकॉप्टर उड़ाकर इतिहास रच दिया। 

यह भी पढ़ें... इस सिंगर को मिला था राजनीतिक पार्टी से ऑफर, पीएम मोदी के लिए गा चुके हैं गाना

Images/28-May-2019NrHeIkQJyB3.jpg

फ्लाइट लेफ्टिनेंट पारुल भारद्वाज (सह-पायलट) और फ्लाइंग ऑफिसर अमन निधि (सह-पायलट) और फ्लाइट लेफ्टिनेंट हिना जायसवाल (फ्लाइट इंजीनियर) दक्षिण पश्चिमी  वायु कमान से हेलिकॉप्टर उड़ाने वाली पहली ऑल-वीमेन टीम की सदस्य बन गई हैं। 

Images/28-May-2019tl8zQ36KKS1.jpg

सेना सूत्रों के मुताबिक, इनमें दो महिला सदस्य पंजाब की हैं। एमआई-17 वी5 हेलीकॉप्टर से इन महिलाओं की उड़ान युद्ध प्रशिक्षण का हिस्सा थी और वे दक्षिण पश्चिमी वायु कमान में प्रतिबंधित क्षेत्र से आगे हेलीकॉप्टर उतारने में सफल रहीं।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
खबर की लोकप्रियता उसकी हेडिंग से तय होती है: सौरभ मिश्राhttps://www.newstimes.co.in/news/77519/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/The-news-is-popular-with-its-heading---Saurabh-Mishra887828Sun, 26 May 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/26-05-2019210941Thenewsispo2.jpg' alt='Images/26-05-2019210941Thenewsispo2.jpg' />किसी खबर की लोकप्रियता और विश्वसनीयता उसकी हेडिंग से तय होती है। यह विचार रविवार को विद्या भारती के प्रशिक्षण कार्यक्रम में विद्या भारती पूर्वी उत्तर प्रदेश के प्रचार प्रमुख सौरभ मिश्रा ने व्यक्त किए।

खबर की लोकप्रियता उसकी हेडिंग से तय होती है: सौरभ मिश्रा

LUCKNOW. किसी खबर की लोकप्रियता और विश्वसनीयता उसकी हेडिंग से तय होती है। यह विचार रविवार को विद्या भारती के प्रशिक्षण कार्यक्रम में विद्या भारती पूर्वी उत्तर प्रदेश के प्रचार प्रमुख सौरभ मिश्रा ने व्यक्त किए।

Images/26-05-2019210816Thenewsispo1.jpg

 

उन्होंने कहा कि विद्या भारती के सभी जिला प्रमुखों को आज के प्रशिक्षण में विद्या भारती के ऐप को लांच कर उसमें अपने अपने विद्यालयों की खबरें पोस्ट करना सिखा दिया गया है। अब सभी को अपने विद्यालय की गतिविधियों को अभिभावकों के अलावा संस्था से जुड़े हर व्यक्ति तक पहुंचाने का माध्यम मिल गया है। श्री मिश्रा ने खबरें लिखने की विशेषताओं पर विस्तार से प्रकाश डाला। 

इस अवसर प्रर अवध और कानपुर प्रान्त के जिला प्रमुखों एवं प्राचार्यों को ऐप में खबर और फोटो डालने की जानकारी दी गई। इसी के साथ ही यूट्यूब से जुड़ी जानकारियों को भी साझा किया गया। उन्होंने कहा ​कि सामान्य घटना कोई खबर नहीं होती, जबकि हर असामान्य घटना खबर होती है। प्रयास करें कि खबर पहले स्थान पर आए।

 

Images/26-05-2019210941Thenewsispo2.jpg

सोशल मीडिया समय की आवश्यकता 

 

विद्या भारती पूर्वी उत्तर प्रदेश के संगठन मंत्री डोमेश्वर साहू ने कहा​ कि विद्या भारती देश ही नहीं विश्व का सबसे बड़ा गैर शासकीय शिक्षण संस्थान है। उन्होंने कहा​ कि इस ऐप में ​विद्या भारती से सम्बन्धित गतिविधियों को ही पोस्ट करें। श्री साहू ने कहा कि संचार माध्यम आज की जरूरत बन चुके हैं। मीडिया के माध्यम से हम अपनी गतिविधियों को देश विदेश तक पहुंचा सकते हैं। इस अवसर पर अच्छा प्रयास करने वाले अक्षय कुमार और जितेन्द्र पाण्डेय की सराहना की गयी।

इसके अलावा कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए न्यूज टाइम्स के स्थानीय सम्पादक राधेश्याम दीक्षित ने कहा कि खबर जितने कम शब्दों में हो उतनी ही अच्छी होती है। वाक्य छोटे-छोटे हों। खबर तीन-चार पैराग्राफ से अधिक न हो। कोशिश करें कि इंट्रो में खबर की पूरी बात आ जाए।

कार्यक्रम के अंत में प्रतिभागियों से सवाल जवाब का क्रम चला, जिसमें करीब एक दर्जन पदाधिकारियों ने अपनी आशंकाओं का समाधान पूछा। जिसका प्रदेश पदाधिकारियों ने संतोषजनक उत्तर देकर सभी को संतुष्ट किया। प्रशिक्षण में 110 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। इस अवसर पर जय प्रकाश, दीपक असरानी ने भी अपने विचार रखे। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
भारी भूस्खलन से जम्मू कश्मीर राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात ठपhttps://www.newstimes.co.in/news/77463/भारत/जम्मू-कश्मीर/Traffic-halted-in-Jammu-Kashmir-National-Highway-due-to-heavy-landslide 887772Sat, 25 May 2019 00:00:00 GMTDEEP KRISHAN SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/25-05-2019144759Traffichalted3.jpg' alt='Images/25-05-2019144759Traffichalted3.jpg' />जम्मू कश्मीर में राष्ट्रीय राजमार्ग पर खराब मौसम के चलते भारी भूस्खलन हो गया है। देश के अन्य हिस्सों को जोड़ने वाले राज्य के इस एकमात्र हाईवे पर यातायात बाधित होने से लोगों को दुश्वारियों का सामना करना पड़ रहा है। परिवहन विभाग ने मौसम में सुधार होने के बाद ही मार्ग को दुरूस्त करने की बात कही है। यह भूस्खलन घाटी में रामबन जिले में शनिवार सुबह हुआ।

भारी भूस्खलन से जम्मू कश्मीर राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात ठप

Srinagar. जम्मू कश्मीर में राष्ट्रीय राजमार्ग पर खराब मौसम के चलते भारी भूस्खलन हो गया है। देश के अन्य हिस्सों को जोड़ने वाले राज्य के इस एकमात्र हाईवे पर यातायात बाधित होने से लोगों को दुश्वारियों का सामना करना पड़ रहा है। परिवहन विभाग ने मौसम में सुधार होने के बाद ही मार्ग को दुरूस्त करने की बात कही है। यह भूस्खलन घाटी में रामबन जिले में शनिवार सुबह हुआ।

Images/25-05-2019144700Traffichalted1.jpg

जम्मू कश्मीर के राष्ट्रीय राजमार्ग रामबन के डीएसपी सुरेश शर्मा ने बताया कि बीते दो दिनों हो रही जबरदस्त बारिश के चलते जबरदस्त भूस्खलन हुआ है।

इसके चलते रामसू, बैटरी चश्मा और डिगडोल क्षेत्र में तकरीबन 270 किलोमीटर लम्बे मार्ग पर रास्ता क्षतिग्रस्त होने यातायात पूरी तरह बंद कर दिया गया है। 

खराब मौसम और डिगडोल और मंकी मोर्ड पर पत्थरों के टूट कर गिरने का क्रम जारी है वहीं बैटरी जश्मा के पास भूस्खलन हो गया है। 

अधिकारियों ने बताया है कि जब तक रास्ते के दुरूस्त होने के बाद सुरक्षित होने की घोषणा नहीं हो जाती तब तक इसका उपयोग नहीं किया जा सकता। 

Images/25-05-2019144729Traffichalted2.jpg

राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात ठप होने से हजारों की संख्या में गाड़ियों की कतारे हाइवे पर लगी हुई हैं। परिवहन विभाग का कहना है कि रास्ते में फंसी गाड़ियों को देखते हुए जल्द से जल्द मलबे को हटाने की पूरी कोशिश की जा रही है। 

Images/25-05-2019144759Traffichalted3.jpg

यह भी पढ़े...सपा ने तैयार की नाकाम नेताओं की लिस्ट, इन दिग्गजों की होगी छुट्टी

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
ओडिशा में रेलवे इंजीनियर ने बचाई महिला यात्री की जान, मिला नगद पुरस्कारhttps://www.newstimes.co.in/news/77446/भारत/Railway-engineer-in-Odisha-saved-the-life-of-a-woman-passenger-mixed-cash-award887754Sat, 25 May 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/25-05-2019104728Railwayengine2.JPG' alt='Images/25-05-2019104728Railwayengine2.JPG' />ओडिशा के मुवनेश्वर में रेलवे इंजीनियर ने बड़ी ही सूझ बूझ से एक महिला यात्री की जान बचाई है। बता दें कि गुरुवार को एक महिला यात्री की कटक स्टेशन पर जान बाल- बाल बच गई। इंजीनियर ने महिला को चलती ट्रेन और प्लेजफॉर्म के बीच आने से बचा लिया। यह घटना तब सामने आई ईस्ट कोस्ट रेलवे ने शुक्रवार को इसका वीडियो सोशल मीडिया पर साझा किया। 

ओडिशा में रेलवे इंजीनियर ने बचाई महिला यात्री की जान, मिला नगद पुरस्कार

New Delhi. ओडिशा के मुवनेश्वर में रेलवे इंजीनियर ने बड़ी ही सूझ बूझ से एक महिला यात्री की जान बचाई है। बता दें कि गुरुवार को एक महिला यात्री की कटक स्टेशन पर जान बाल- बाल बच गई। इंजीनियर ने महिला को चलती ट्रेन और प्लेजफॉर्म के बीच आने से बचा लिया। यह घटना तब सामने आई ईस्ट कोस्ट रेलवे ने शुक्रवार को इसका वीडियो सोशल मीडिया पर साझा किया। 

यह भी पढ़ें... अपने बयान में फंसे सिद्धू, सोशल मीडिया पर हो रही जमकर खिंचाई

Images/25-05-2019104648Railwayengine1.JPG

38 सेकेंड के वीडियो में देखा जा सकता है कि महिला चलती हुई पुड्डुचेरी-हावड़ा एक्सप्रेस से कटक रेलवे स्टेशन पर उतरने की कोशिश करती है। इस स्टेशन पर ट्रेन नहीं रुकती। उतरने की कशिश में वह प्लेटफॉर्म पर गिर जाती है। हालांकि इस दौरान उसने एक हाथ से ट्रेन का हैंडल पकड़ा हुआ था। यह घटना गुरुवार को शाम के चार बजे घटी।

रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि घटनास्थल पर कटक के वरिष्ठ सेक्शन इंजीनियर (सिग्मल एंड टेलिकॉम) टीआर बारिक मौके पर मौजूद थे। वह तुरंत महिला की सहायता करने के लिए भागे और उसे उठाया ताकि वह प्लेटफॉर्म के गैप के बीच में न आए। उन्होंने महिला को कोच के अंदर धकेल दिया जिससे कि उसकी जान बच गई। वरना एक दुर्घटना हो सकती थी।

Images/25-05-2019104728Railwayengine2.JPG

ईस्ट कोस्ट रेलवे के महाप्रबंधक विद्या भूषण ने बारिक को नकद पुरस्कार दिया है। इसी स्टेशन पर इस तरह की घटना पिछले साल 17 अगस्त को हुई थी। उस समय रेलवे सुरक्षा बल के एक कांस्टेबल ने महिला की जान बचाई थी। कांस्टेबल ने महिला को ट्रेन और प्लेटफॉर्म के गैप से खींचकर बाहर निकाला था।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
अस्पतालों को सुधारने के सरकारी दावे फेलhttps://www.newstimes.co.in/news/77421/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-Government-claims-to-improve-hospitals-fail887727Sat, 25 May 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/24-05-2019165219Governmentcla2.jpg' alt='Images/24-05-2019165219Governmentcla2.jpg' />सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र माल के डाक्टरों में कोई सुधार नहीं हो रहा है। अस्पताल का समय सुबह आठ बजे होने से मरीज गर्मी की वजह से जल्दी आते है। लेकिन डाक्टरों को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता।

अस्पतालों को सुधारने के सरकारी दावे फेल

Images/24-05-2019164215Governmentcla.jpg

LUCKNOW. सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र माल के डाक्टरों में कोई सुधार नहीं हो रहा है। अस्पताल का समय सुबह आठ बजे होने से मरीज गर्मी की वजह से जल्दी आते है। लेकिन डाक्टरों को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। वह हमेशा एक से डेढ़ घंटा देर से आने के बाद अधीक्षक के कमरे में बैठकर गपसप किया करते हैं। मरीज घंटों इंतजार करते रहते हैं। डाक्टरों के कमरों में एक—एक बाहरी व्यक्ति मरीजों के पचें इकट्ठे करता रहता है। यही नहीं डाक्टरों की मिलीभगत से यहां झोलाछाप डाक्टरों को भी लगा रखा है। जो दवाएं बांटने,इंजेक्शन लगाने, पट्टी बांधने का काम करते हैं। इसके अलावा कई बार अपर मुख्य चिकित्साधिकारी और मुख्य चिकित्साधिकारी के निरीक्षण के बाद भी अस्पताल में डाक्टरों की मनमानी जारी है। 

Images/24-05-2019164507Governmentcla1.jpg

बायो मेडिकल वेस्ट जलाया जा रहा,जबकि जलाने पर एनजीटी का प्रतिबन्ध है
खास कर ओपीडी में बैठने वाले डाक्टर तो समय से कभी आते ही नहीं हैं। इसके अलावा दो बजे से पहले ही अस्पताल से भाग जाते हैं। अधिकांश डाक्टर तीन घंटे ही ओपीडी में बैठते हैं जबकि ओपीडी का समय 6 घंटे है। यहां तैनात कुछ डाक्टरों ने अस्पताल के आसपास निजी पैथालॉजी लैब खुलवाकर मरीजों को परेशान करने और उनको ठगने का काम भी शुरू कर दिया है। लेकिन वह इसे सैम्पल कलेक्शन सेन्टर बताकर लोगों को गुमराह कर रहे हैं। मरीजों को बाहर से दवाएं लिखना आम बात है। इस अस्पताल में बाहरी व्यक्तियों का बोलबाला है। जो किसी भी अधिकारी को नही दिखाई पड़ता है।

Images/24-05-2019165219Governmentcla2.jpg

यहां अस्पताल से निकलने वाला कचरा अस्पताल के बाहर जला दिया जाता है। जबकि इसके लिए रोजाना गाड़ी अस्पताल जाती है। अपर मुख्य चिकित्साधिकारी आर.के.चौधरी ने कहा कि इसकी जांच कर कार्रवाई की जाएगी। 

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
न्यायालय के सामने नगर निगम ने किया सरेन्डर https://www.newstimes.co.in/news/77365/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-In-front-of-the-court-the-municipal-corporation-did-the-surrender887671Thu, 23 May 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/23-05-2019123802Infrontofth1.jpg' alt='Images/23-05-2019123802Infrontofth1.jpg' />राजधानी की समस्याओं को लेकर जिस तरह उच्च न्यायालय ने सख्त रूख अपनाया है उससे तंग आकर आखिर नगर निगम ने न्यायालय के सामने सरेन्डर कर दिया है।

न्यायालय के सामने नगर निगम ने किया सरेन्डर

LUCKNOW. राजधानी की समस्याओं को लेकर जिस तरह उच्च न्यायालय ने सख्त रूख अपनाया है, उससे तंग आकर आखिरकार नगर निगम ने न्यायालय के सामने सरेन्डर कर दिया है। नगर निगर की ओर से न्यायालय में पेश हुए राज्य सरकार के अधिवक्ता ने कहा कि वह एक माह में कार्य योजना बनाकर सरकार के निर्देशानुसार शहर को साफ करने का काम करेंगे।

Images/23-05-2019123555Infrontofth.jpg

इस सम्बन्ध में जानकारी देते हुए अधिवक्ता योगेश मिश्र ने बताया कि नगर निगम की ओर से 216 शपथ पत्र न्यायालय में प्रस्तुत किए गए थे, जिसमें समय से शहर को साफ रखने की बात कही गई थी। 

उन्होंने कहा कि नगर निगम ने 31 मई तक शहर से आवारा पशुओं को कान्हा उपवन में भेज दिया जाएगा। यह भी बताया गया कि बरसात से पहले सभी नालों की सफाई कर दी जाएगी और कोई भी नाला बरसात में उफनाएगा नहीं।

 

Images/23-05-2019123802Infrontofth1.jpg

नगर निगम की ओर से बताया गया कि अब तक पालीथीन के प्रयोग करने पर अब तक 9 लाख रुपए जुर्माना वसूला जा चुका है। श्री मिश्र ने कहा कि 15 जुलाई को सुनवाई होगी। उससे पहले न्यायालय शपथपत्रों की सच्चाई जांचेगा।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
आधे लक्ष्य तक भी नहीं हुई गेहूं खरीदhttps://www.newstimes.co.in/news/77343/भारत/उत्तर-प्रदेश-/लखनऊ/-Wheat-procurement-not-done-till-half-target887649Thu, 23 May 2019 00:00:00 GMTLEKHRAM MAURYA<img src='http://newstimes.co.in/Images/22-05-2019180949Wheatprocurem1.jpg' alt='Images/22-05-2019180949Wheatprocurem1.jpg' />एक अप्रैल से शुरू हुए गेहूं क्रय केन्द्रो पर लक्ष्य से काफी कम गेहूं की खरीद हुई हैं। तहसील क्षेत्र मे एक भी गेहूं क्रय केन्द्र ऐसा नहीं है जहां लक्ष्य के अनुसार गेहूं खरीद हो सकी हो।

आधे लक्ष्य तक भी नहीं हुई गेहूं खरीद

LUCKNOW.  एक अप्रैल से शुरू हुए क्रय केन्द्रों पर लक्ष्य से काफी कम गेहूं की खरीद हुई हैं। तहसील क्षेत्र में एक भी गेहूं क्रय केन्द्र ऐसा नहीं है, जहां लक्ष्य के अनुसार गेहूं खरीद हो सकी हो। 

Images/22-05-2019180949Wheatprocurem1.jpg

साधन सहकारी समिति रूदानखेड़ा में अब तक 1550 कुन्तल गेहूं की खरीद की जा चुकी है, जबकि इनका लक्ष्य 400 मीट्रिक टन है। वहीं साधन सहकारी समिति नवीडांडा में अब तक 1950 कुन्तल गेहूं की खरीद की गयी है जो लक्ष्य से आधी भी नहीं है। 

इसी तरह पीसीएफ के केन्द्र अमानीगंज में 725 कुन्तल गेहूं की खरीद की गयी है, जो ल्क्ष्य का एक चौथाई भी नहीं है। यही हाल अन्य केन्द्रों का भी है। 

केन्द्र प्रभारियों का कहना है कि कुछ माह बाद बाजार में गेहूं महंगा होने के आसार से किसान केन्द्रो पर गेहूं नहीं ला रहे हैं। 

पिछले वर्ष बाजार में गेहूं का रेट 2300 रुपए कुन्तल तक बिका था। दूसरी ओर गेहूं क्रय केन्द्रों पर छना तो लगा रहे हैं, लेकिन पंखा नही लगा रहे हैं। जिससे गेहूं में काफी कूड़ा जा रहा है।

© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
पिता से लगाई एक शर्त के बाद इस महिला ने 15 वर्षों में किए 600 पोस्टमार्टमhttps://www.newstimes.co.in/news/77321/भारत/छत्तीसगढ़/pita-se-lagai-shart-ke-baad-is-mahila-ne-14-saal-me-kiye-600-postmurtam887627Wed, 22 May 2019 00:00:00 GMTGAURAV SHUKLA<img src='http://newstimes.co.in/Images/22-05-2019112421pitaselagai3.png' alt='Images/22-05-2019112421pitaselagai3.png' />बिना नशा के कोई भी पोस्टमार्टम नहीं किया जा सकता है। सामान्य लोगों के मन में व्याप्त इसी भ्रम को समाप्त करने के लिए छत्तीसगढ़ की एक महिला ने नई मिशाल कायम कर दी है। दरअसल महिला संतोषी दुर्गा के पिता छत्तीसगढ़ के नहरपुर ब्लॉक के स्वास्थ्य विभाग में स्वीपर का काम करते थे। मडिया रिपोर्टस में दुर्गा बताती है कि उनके पिता बहुत नशा करते थे। घर की बड़ी बेटी होने के चलते दुर्गा ने कई बार पिता को समझाया कि इसी तरह आदत से ग्रसित रहने पर वह 5 बेटियों की परवरिश और शादी कैसे करेंगे। 

पिता से लगाई एक शर्त के बाद इस महिला ने 15 वर्षों में किए 600 पोस्टमार्टम

Lucknow. बिना नशा के कोई भी पोस्टमार्टम नहीं किया जा सकता है। सामान्य लोगों के मन में व्याप्त इसी भ्रम को समाप्त करने के लिए छत्तीसगढ़ की एक महिला ने नई मिशाल कायम कर दी है। दरअसल महिला संतोषी दुर्गा के पिता छत्तीसगढ़ के नहरपुर ब्लॉक के स्वास्थ्य विभाग में स्वीपर का काम करते थे। मडिया रिपोर्टस बताती है कि संतोषी दुर्गा के पिता बहुत नशा करते थे। घर की बड़ी बेटी होने के चलते दुर्गा ने कई बार पिता को समझाया कि इसी तरह आदत से ग्रसित रहने पर वह 5 बेटियों की परवरिश और शादी कैसे करेंगे। 

Images/22-05-2019112355pitaselagai1.png

बता दें कि पेशे से पोस्टमार्टमकर्मी दुर्गा ने अब तक लगभग 600 पोस्टमार्टम किये हैं। भले ही दुर्गा का काम जोखिम भरा है लेकिन वह इसे बखूबी निभा रही है। वहीं हैरान करने वाली बात यह है कि दुर्गा बिना नशे के यह काम करती है। 

Images/22-05-2019112409pitaselagai2.png

दुर्गा बताती हैं कि एक समय ऐसा भी था जब वह पोस्टमार्टम के नाम से भी डरती थी। लाश को देखते ही उनके हाथ-पैर कांपने लग जाते थे, लेकिन घर की जिम्मेदारियों ने उन्हें इस काम को हिम्मत से करने का हौसला दिया।

दुर्गा बताती है जब उन्होंने यह काम शुरु किया था तो उनका सिर्फ एक मकसद पिता की शराब छुड़वाना था। उन्होंने पिता से शर्त लगाई थी कि अगर वह एक भी पोस्टमार्टम बिना नशे के कर देंगे तो वह शराब छोड़ देंगे। इसके बाद दुर्गा ने पहला केस वर्ष 2004 में किया था। यह काम करके दुर्गा ने शर्त जीत ली इसी के साथ शराब छोड़ने के लिए उनकी यह कामयाबी समय-समय पर पिता को प्रेरित करती थी। 

Images/22-05-2019112421pitaselagai3.png
© Copyright न्यूज़ टाइम्स 2016. All rights reserved
]]>
सुप्रीम कोर्ट के बाद चुनाव आयोग ने दिया विपक्ष को झटकाhttps://www.newstimes.co.in/news/77313/भारत/After-the-Supreme-Court-the-Election-Commission-gave-a-lot-of-shock-to-the-opposition-887617Wed, 22 May 2019 00:00:00 GMTNAZO ALI SHEIKH<img src='http://newstimes.co.in/Images/22-May-20195RfzSxGblz2.jpg' alt='Images/22-May-20195RfzSxGblz2.jpg' />लोकसभा चुनाव के नतीजों से पहले आए एक्जिट पोल ने विपक्षियों की नींद उड़ा दी है वहीं विपक्ष को सुप्रीम कोर्ट के बाद चुनाव आयोग से भी झटका लगा है।

सुप्रीम कोर्ट के बाद चुनाव आयोग ने दिया विपक्ष को झटका

New Delhi. लोकसभा चुनाव के नतीजों से पहले आए एक्जिट पोल ने विपक्षियों की नींद उड़ा दी है। वहीं विपक्ष को सुप्रीम कोर्ट के बाद चुनाव आयोग से भी झटका लगा है। वीवीपैट के ईवीएम से 100 फीसदी मिलान की मांग को सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार के दिन फिर से खारिज कर दिया। वहीं उत्तर प्रदेश में ईवीएम की सुरक्षा को लेकर विपक्ष की ओर से उठाए गए सवालों को भी चुनाव आयोग ने खारिज कर दिया है। दोनों तरफ से मिले इस जोरदार झटके के बाद ईवीएम की सुरक्षा खुद विपक्ष अपने तरीकों से कर रहा है। 

यह भी पढ़ें... मायावती का बड़ा एक्शन, इस दिग्गज नेता को पार्टी से किया बाहर

Images/22-May-2019iorR41Grs31.jpg

बता दें कि उत्तर प्रदेश के चार जिलों में ईवीएम की सुरक्षा पर सवाल विपक्ष ने उठाए थे। चुनाव आयोग ने ईवीएम सुरक्षा को लेकर उठाए गए सवालों के जवाब में मंगलवार को साफ कर दिया कि गाजीपुर, चंदौली, डुमरियागंज और झांसी में ईवीएम को लेकर जो विपक्ष की ओर से आरोप लगाए गए वो असल तथ्यों से परे है। जिन ईवीएम का मतदान में इस्तेमाल हुआ है वो पूरी तरह सुरक्षित हैं। दरअसल, मंगलवार को उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में सोशल मीडिया पर फर्जी वीडियो वायरल कर दिए गए थे, जिसमें कथित रूप से ईवीएम हटाए जाने का दृश्य दिखाया गया था। इसे लेकर कुछ जगहों पर प्रदर्शन भी हुए थे।

याचिका को बताया 'बकवास'

मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने 100 फीसदी वीवीपैट पर्चियों की जांच किए जाने को लेकर डाली गई याचिका पर सुनवाई की कोर्ट ने याचिका को बकवास बताते हुए कहा कि ऐसी याचिकाओं को बार बार नहीं सुना जा सकता। चेन्नई के एनजीओ टेक फॉर ऑल ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर कहा कि तकनीकी तौर पर  वीवीपैट से जुड़ी ईवीएम नहीं हैं। 

Images/22-May-20195RfzSxGblz2.jpg

मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में 100 फीसदी वीवीपैट पर्चियों की जांच किए जाने को लेकर डाली गई याचिका पर सुनवाई हुई। कोर्ट ने याचिका को बकवास बताते हुए कहा कि ऐसी अर्जियों को बार-बार नहीं सुना जा सकता।

चेन्नई के एनजीओ 'टेक फॉर ऑल' ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर कहा कि तकनीकी तौर पर वीवीपैट से जुड़ी ईवीएम नहीं हैं। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि 'इस मामले पर पहले ही मुख्य न्यायाधीश की बेंच फैसला दे चुकी है फिर अवकाश कालीन पीठ के सामने इस मामले को क्यों उठाया जा रहा है?'

जस्टिस अरुण मिश्रा ने कहा कि हम लोग जनप्रतिनिधियों के निर्वाचन के तरीके के बीच में नहीं आ सकते। कोर्ट की टिप्पणी थी कि देश को सरकार चुनने दिया जाए।

]]>