गलवान घाटी (Galvan Valley) की घटना के बाद भारत-चीन (India-China) के खिलाफ लगातार आर्थिक कार्रवाई कर रहा है। इसी कड़ी में भारत ने लगभग दो दशक बाद एक बार फिर से रंगीन टीवी के आयात पर रोक लगा दी है।
मोदी सरकार ने चीन को दिया एक और बड़ा झटका

New Delhi. गलवान घाटी (Galvan Valley) की घटना के बाद भारत-चीन (India-China) के खिलाफ लगातार आर्थिक कार्रवाई कर रहा है। इसी कड़ी में भारत ने लगभग दो दशक बाद एक बार फिर से रंगीन टीवी के आयात पर रोक लगा दी है। पहले ही देश में सरकारी खरीद में चाइनीज कंपनियों (Chinese Companies) बैन (Ban) लगाया जा चुका है। इस फैसले के तहत केंद्र और राज्य सरकार (Central and state government) की तरफ से किसी भी तरह की सरकारी खरीद में चाइनीज कंपनियां को शामिल नहीं किया जाएगा। साथ ही चीन से आने वाली FDI के भी नियम बदल दिये गए हैं। 

अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए बड़ा कदम

भारत सरकार कोरोना (Corona) के कारण पस्त हो चुकी इकॉनमी (Economy) को बेहतर करने की कोशिशों में जुटी है। इसके लिए सरकार (Government) आत्मनिर्भर भारत, वोकल फॉर लोकल और मेक इन इंडिया (Make In India) के अपने एजेंडे (Agenda) पर काम कर रही हैं। ऐसे में लोकल मैन्युफैक्चरर्स (Local Manufactures) को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने कलर टीवी (Color TV) के आयात को प्रतिबंध कैटेगरी (Ban Category) में डाल दिया है। 

वहीं, मोदी सरकार (Modi Government) के इस फैसले से चीन को काफी नुक़सान होने वाला है क्योंकि चीन (China) हर साल सैंकड़ों करोड़ का कलर टीवी (Color TV) भारत निर्यात (India export) करता है। वहीं, इंडियन टेलीविजन मार्केट (Indian Television Market)  में चाइनीज ब्रांड (Chinese Brand)  का शेयर लगातार बढ़ता जा रहा है। लेकिन अब इस फैसले से लोकल मैन्युफैक्चरर्स को बढ़ावा मिलेगा।

2100 करोड़ का आयात

बता दें कि भारत (India ) हर साल हजारों करोड़ के रंगीन टीवी (Color TV) का आयात करता है। इस आयात में चीन (China) की हिस्सेदारी बहुत ही अधिक है और धीरे-धीरे उसका मार्केट शेयर (Market Share) भी बढ़ रहा था। वित्त वर्ष 2019-2020 में भारत ने 78.1 कोरोड डॉलर (Dollars) की कीमत के रंगीन टीवी को आयात किया। पैनासोनिक इंडिया (Panasonic India) के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी मनीष शर्मा ने बताया कि, अब उपभोक्ताओं को उच्च गुणवत्ता वाले असेंबल्ड टीवी सेट (Assembled TV Set) उपलब्ध होंगे। भारत को टीवी का निर्यात करने वाले प्रमुख देशों में जर्मनी (Germany), चीन (China), वियतनाम(Vietnam), मलेशिया (Malaysia), हांगकांग (HongKong),कोरिया(Korea),थाईलैंड(Thailand) जैसे देश शामिल हैं।