भारत-चीन सीमा पर चल रहे विवाद के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अचानक लद्दाख ( Laddakh ) पहुंचे, जहां उन्होंने भारतीय जवानों का हौसला बढ़ाया।
लद्दाख से चीन पर गरजे पीएम मोदी, कहा- अब विस्तारवाद का नहीं विकासवाद का जमाना

New Delhi. भारत-चीन सीमा पर चल रहे विवाद के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अचानक लद्दाख ( Laddakh ) पहुंचे, जहां उन्होंने भारतीय जवानों का हौसला बढ़ाया। वहीं, चीन को कड़ी चेतावनी देते हुए उसकी विस्तारवादी नीतियों की जमकर आलोचना की। पीएम ने चीन को आगाह करते हुए कहा कि यह विस्तारवाद (Expansionism) का नहीं विकासवाद (Development) का जमाना है। उन्होंने कहा कि अब विस्तारवाद का जमाना जा चुका है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को लद्दाख में जवानों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने चीन का नाम लिए बिना कड़ी चेतावनी दे डाली। उन्होंने कहा कि तेजी से बदलते परिवेश में विकासवाद (Development) एक अवसर की तरह है, विस्तारवाद का जमाना चला गया है। उन्होंने कहा कि  20वीं सदी विस्तारवाद ( Expansionism) की अवधारणा ही मानव जाति के विनाश का कारण बनी थी। उन्होंने कहा कि जो देश देश विस्तारवादी की जिद पर अड़े हैं, वह विश्व शांति के खतरा हैं। उन्होंने कहा कि इतिहास गवाह है, ऐसी ताकतें मिट जाती हैं, जो दूसरे की सम्प्रभुता (Sovereignty) का सम्मान नहीं करती हैं। बता दें कि चीन समय—समय पर भारत के लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश के क्षेत्रों पर अपना दावा करता रहता है। अभी हाल ही में वह रूस और भूटान की जमीनों पर भी अपना दावा किया है। 

पीएम नरेंद्र मोदी ने जवानों की ओर इंगित करते हुए कहा कि आपकी भुजाएं चट्टान जैसी हैं, दुश्मन ने आपके जोश और गुस्से को देख लिया है। अभी हाल ही में आपने जो वीरता दिखाई है, वह दुनिया में भारत की ताकत को लेकर एक चेतावनी है। पीएम ने जवानों की तारीफ करते हुए कहा कि आपके मजबूत संकल्प देखते हुए "आत्मनिर्भर भारत" बनाने का मेरा इरादा और भी मजबूत हुआ है। उन्होंने कहा कि आपकी इच्छाशक्ति हिमालय की तरह मजबूत और अटल है, देश को आप पर गर्व है।

पीएम ने सैनिकों को जन्म देने वाली मां को किया सलाम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सैनिकों को जन्म देने वाली मां को भी सलाम किया है। उन्होंने कहा कि जब भी उन्हें देश की सुरक्षा से जुड़े फैसले लेने होते हैं, तब वह दो माताओं को याद करते हैं,  एक भारत मां और दूसरी सैनिकों को जन्म देने वाली मां। पीएम ने जवानों को सुरक्षा उपकरण (Security Equipment) और हथियारों (Weapon) की हरसंभव मदद का आश्वासन दिया। 

बता दें कि इससे पहले पीएम मोदी लेह स्थित वॉर मेमोरियल हाल ऑफ़ फेम (War memorial hall of fame) पहुंचे, जहां शहीदों को श्र्द्धांजलि दी। इसके बाद घायल जवानों से मिलने सेना के अस्पताल गए। पीएम मोदी लद्दाख स्थित नीमू की फॉरवर्ड पोस्ट भी पहुंचे, जहां उन्होंने आईटीबीपी, वायुसेना और सेना के अधिकारियों के साथ बैठक की। 

बता दें कि भारत और चीन (India and China) के बीच सीमा विवाद को लेकर वास्तविक नियंत्रण रेखा यानि LAC पर पिछले लगभग दो महीनों से विवाद चल रहा है। विवाद की शुरुआत 5 मई को हुयी थी। इसके बाद 15 जून को पेट्रोलिंग को लेकर दोनों देशों की सेनाओं के बीच गलवान घाटी हिंसक झड़प हुई थी, जिसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे और कई जवान घायल हो गए थे।