मुख्य समाचार
शाकिब ने रचा इतिहास, वर्ल्‍ड कप में कपिल-युवराज के रिकॉर्ड की बराबरी की क्षेत्र-जिला पंचायत सदस्यों के रिक्त पदों पर उप निर्वाचन के लिए समय सारणी जारी  Tik Tok वीडियो से सुर्खियों में आई पीली साड़ी वाली महिला जेनेलिया डिसूजा के पैर दबाते रितेश देशमुख का वीडियो वायरल, यूजर्स ने कहा... जल्द ही 100 करोड़ का आंकड़ा छू सकती फिल्म कबीर सिंह सपा संरक्षक की होगी सर्जरी, इस गंभीर समस्या से जूझ रहे हैं मुलायम कोल्ड ड्रिंक पीने से एक ही परिवार के 5 लोग पहुंचे अस्पताल, फिलहाल खतरे से बाहर इटौंजा प्रकरण : एसएसपी ने कॉस्टेबल को किया लाइन हाजिर, चौकी प्रभारी व थानाध्यक्ष पर भी कार्रवाई प्रचलित  राजस्थान: बीजेपी प्रमुख मदन लाल सैनी का लंबी बीमारी के बाद निधन दो पक्षों में विवाद के बाद जमकर चले लाठी डंडे, वीडियो वायरल
 

बुर्के को लेकर दारुल उलूम देवबंद का फतवा जारी


GAURAV SHUKLA 03/01/2018 08:49:57
432 Views

03-01-2018085445DarwulUloomD1

Lucknow. दारुल उलूम देवबंद ने बुर्के को लेकर मंगलवार को एक फतवा जारी कर दिया। दारुल उलूम देवबंद द्वारा जारी किये गये फतवे के अनुसार मुस्लिम महिलाओं द्वारा पर्दे के नाम पर इस्तेमाल किये जाने वाले चुस्त और डिजाइन वाले बुर्के पूरी तरह से नाजायज हैं। इस तरह के बुर्के या लिबास पहनकर महिलाओं का बाहर निकलना जायज नहीं कहा जा सकता। दारुल उलूम का कहना है कि इस तरह का पहनावा मर्दों की निगाहों को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए होता है। 

यह भी पढ़ें... सस्पेंस बरकरार कौन होगा UP का अगला DGP, चर्चाओं में शामिल कई नाम
बताते चलें कि देवबंद के ही एक व्यक्ति द्वारा दारुल उलूम के इफ्ता विभाग से सवाल किया गया था कि मुस्लिम औरतों के लिए ऐसा बु्र्का या लिबास पहनना कैसा है जिसमें उनकी आजा(शरीर के अंग) जाहिर होते हों। इस तरह के चमक दमक वाले बुर्के पहन कर बाहर जाना कैसा होगा। जिसके चलते गैर मर्दों की निगाहें उसकी तरफ उठती हों। 

यह भी पढ़ें... अंबेडकर प्रतिमा लगाने पर बवाल, पुलिस ने भांजी लाठी लेकिन नहीं हटे समर्थक
दारुल उलूम की ओर से जवाब देते हुए मोहम्मद साहब ने इरशाद फरमाया कि, "औरतों की आजा(शरीर के अंग) छुपाने की चीज है क्योकिं जब कोई औरत बाहर निकलती है तो शैतान उसे घूरता है। इसलिए बिना जरूरत उसे घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए।" आवश्यकतानुसार ही घर से बाहर निकले और जिस्म को इस तरह से छुपाएं की उसमें उनकी आजा(शरीर के अंग) जाहिर न हों। इसलिए घर से बाहर निकलते समय तंग या चुस्त बुर्का पहन कर लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करना जायज नहीं है। यह गुनाह के अंतर्गत आता है जिसके चलते बाहर निकलते समय ढीला लिबास पहन कर निकलें। 

Web Title: Darwul Uloom Deoband's fatwa issued on Burka ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया