मुख्य समाचार
पीएम मोदी की अध्यक्षता में नीति आयोग की बैठक आज, ममता और केसीआर नहीं होंगे शामिल एनडी टीवी के खास प्रमोटरों पर सेबी ने लगाई रोक, लगा इतने साल का प्रतिबंध एयरपोर्ट पर चंद्रबाबू नायडू की ली गई तलाशी, टीडीपी ने बदले की राजनीति का लगाया आरोप यूपी को डिजिटल उत्तर प्रदेश बनाने के लिए व्यापक और मजबूत दूरसंचार नेटवर्क की आवश्यकता : उप मुख्यमंत्री बल्लेबाजी डॉट कॉम के ब्रांड एम्बेसडर बने युवराज राज्यपाल ने केन्द्रीय गृह मंत्री से भेंट की सड़क सुरक्षा समिति की बैठक : बसों में अग्निशमन यन्त्र लगाने के निर्देश बसपा सांसद के घर कुर्की का आदेश हुआ चस्पा दान के सिक्कों को लेकर परेशानी में साईं बाबा मंदिर ट्रस्ट, जानिए क्या है वजह मीसा भारती ने चुनाव में हार का लिया ऐसे बदला संभावित आतंकी हमले को लेकर अयोध्या में हाई अलर्ट स्कूल चलो अभियान में सभी बच्चों को नजदीकी स्कूलों में शत-प्रतिशत नामांकन कराये जाने के निर्देश पाकिस्तान से वीडियो कॉल कर युवक ने कहा- भाईजान बम कहां रखना है और फिर...
 

नकल नहीं कराना दलित छात्रा को पड़ा भारी, दी यह घिनौनी सजा


SHUBHENDU SHUKLA 03/01/2018 12:58:25
505 Views

 

03-01-2018132912Dalitgirlget1

प्रतीकात्म फोटो

Patiyala. पंजाब में दलितों का उत्पीड़न थमने का नाम नहीं ले रहा है। ऊंची जाति के छात्रों द्वारा दलित छात्रा को नकल नहीं कराना उसके लिए भारी पड़ गया। छात्रों ने दलित छात्रा की स्कूल में जमकर पिटाई की। चिंताजनक बात यह है कि यह घटना मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के गृह जिले पटियाला की है। 

यह भी पढ़ें...जेठ का कारनामा, नशीला चाय पिलाकर दुल्हन का बनाया अश्लील वीडियो, जब गर्भवती हुई तो...

क्या है मामला 

पटियाला के टोहड़ा गांव स्थित सीनियर सेकेंडरी स्कूल में 10वीं कक्षा की दलित छात्रा वीरपाल कौर ने अनुसूचित जाति आयोग को शिकायती पत्र भेजा है। छत्रा ने कहा है कि 10वीं कक्षा की परीक्षा में उसे स्कूल के क्लर्क ने भतीजे और सहपाठियों को नकल कराने का दबाव बनाया था। नकल नहीं कराने की वजह से क्लर्क बेटा और दो सहपाठी फेल हो गए। इसके बाद छात्रों ने स्कूल परिसर में ही उसकी पिटाई की। वह हाथ जोड़ती रही,उस पर निर्दयी छात्रों को रहम नहीं आया। 

यह भी पढ़ें...हनीप्रीत के बाद इस महिला पर लटकी SIT की तलवार, गुफा में चल रही थी गुप्त मीटिंग

फेसबुक पर बदनाम करने की साजिश

छात्रा का आरोप है कि इसके बाद भी जब छात्रों का जी नहीं भरा तो फर्जी फेसबुक पोस्ट बनाकर उसे बदनाम करने की साजिश रची। जब छात्रा के परिजनों को इस बात की जानकारी हुई तो पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। आरोपी छात्रों ने इसके बाद माफी मांगा। पूरे प्रकरण के लिए क्लर्क को जिम्मेदार ठहराया। छात्रों ने कहा कि फेसबुक पर पोस्ट क्लर्क के कहने पर की गई थी। 

यह भी पढ़ें...ससुर करता रहा रेप, पति से मांगी मदद तो दूसरों के साथ सोने को किया मजबूर

माफी के बाद भी अत्याचार

इतना ही नहीं छात्रों द्वारा माफी मांगने के बाद भी छात्रा पर अत्याचार करते रहे। जातीय सूचक शब्दों का प्रयोग कर उसे परेशान किया जाता रहा। कौर ने 10 वीं में 80 प्रतिशत से भी ज्यादा अंक हासिल किए थे।

 यह भी पढ़ें...तीन साल की मासूम के साथ मां ने की दरिंदगी, वीडियो वायरल
आज तक में छपी खबर के मुताबिक मामला चूंकि ऊंची जाति के जाटों से जुड़ा होने के कारण सामाजिक तिरस्कार भी करने लगे। पड़ोसियों ने वीरपाल कौर के परिवार को पानी देना तक बंद कर दिया।

यह भी पढ़ें...अस्पताल की करतूत से शर्मसार देश, महिला के साथ कर डाला ऐसा काम राष्ट्रपति से मांगी इच्छा मृत्यु

जब मामला बढ़ गया और समाज में जीना मुश्किल होने लगा तो कौर ने नवंबर 2017 में घटना की शिकायत अनुसूचित जाति आयोग को पत्र लिखकर की। आयोग ने मामले को गंभीरता से लेते हुए पटियाला के डीएसपी जसकीरत सिंह जांच सौंप दी।

यह भी पढ़ें...हनीप्रीत के बाद इस महिला पर लटकी SIT की तलवार, गुफा में चल रही थी गुप्त मीटिंग

विरोध प्रदर्शन की चेतावनी

स्कूल में इस तरह के सभी आरोपों को स्टाफ ने सिरे से खारिज कर दिया है। कर्मचारियों ने जांच अधिकारी के समक्ष आरोपों को झूठा करार दिया। वहीं, पंजाब के दलित नेता डॉक्टर जितेंद्र सिंह मट्टू ने मामले को लेकर चेतावनी दी है कि यदि छात्रा को न्याय नहीं मिला तो पंजाब के दलित सड़कों पर उतरने को मजबूर होंगे। 

Web Title: Dalit girl gets assault on school in punjab ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया