मुख्य समाचार
ममता के करीबी अधिकारी को आउटलुक नोटिस, एक साल तक नहीं जा सकेंगे​ विदेश राजौरी में पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी, एक किशोर घायल ममता बोलीं, सांप्रदायिकता का जहर फैलाकर बंगाल में जीती भाजपा चुनाव के बाद कांग्रेस पार्टी में होने जा रहा बड़ा फेरबदल, राहुल लगाएंगे मुहर श्रमिक की संदिग्ध मौत: परिजनों ने मुआवजे को लेकर किया हंगामा जब क्रीज पर दर्शकों ने कहा, धोखेबाज भाग जाओ CWC की बैठक में राहुल का फूटा गुस्सा, हार के लिए इन दिग्गज नेताओं को ठहराया जिम्मेदार हाईस्कूल पास के लिए DRDO में नौकरी का सुनहरा मौका, आज अंतिम दिन जनसुविधा केन्द्रों पर भी आधार से जोड़े जाएंगे राशन कार्ड माध्यमिक विद्यालयों को 28 मई तक सम्मिट करना होगा यू-डायस प्रपत्र इस नेता ने दे डाली मोदी सरकार को चुनौती, जानिए क्या कहा पूर्व सैनिक की मृत्यु पर मिलेगी सहायता बड़ी खबर: ममता बनर्जी ने कहा, अब सीएम नहीं रहना चाहती सड़क हादसों में महिला समेत आधा दर्जन घायल जेट के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल थे पत्नी सहित देश छोड़ने की फिराक में, एयरपोर्ट से हुए अरेस्ट मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने राष्ट्रपति को सौंपी जीते सांसदों की सूची कानपुर में पांच मंजिला इमारत में लगी भीषण आग जीत के बाद जल्द काशी पहुंचेंगे पीएम मोदी, तैयारियों में जुटा प्रशासन
 

वैक्टरबॉर्न डिसीज में मरीजों को एक छत के नीचे मिलेगा सारा इलाज


SANDEEP PANDEY 05/01/2018 16:09:17
145 Views

05-01-2018161154Patientswill1

LUCKNOW. मरीजों के लिये राहत की खबर है। अब डेंगू, मलेरिया, जापानी इंसेफलाइटिस (जेई) और एक्यूट इंसेफलाइटिस सिड्रोम (एईएस) से पीड़ित मरीजों को इलाज के लिये इधर उधर नहीं भटकना पड़ेगा । केजीएमयू में अब यह इलाज एक छत के नीचे मिलेगा। इसके लिए अलग से वार्ड बनेगा। शताब्दी अस्पताल फेज-दो में अलग वार्ड बनाने की कवायद शुरू हो गई है।

वैक्टरबॉर्न डिसीज में मरीजों को कई तरह की समस्या होती है। मसलन न्यूरो, मेडिसिन, हड्डी्, रेडियोलॉजी व एनस्थीसिया विशेषज्ञ के पास इलाज के लिए जाना पड़ता है। इससे मरीजों को खासी दुश्वारियां हो रही हैं। मरीजों को परेशानी से बचाने के लिए केजीएमयू प्रशासन अहम कदम उठाने जा रहा है। इसके लिए अलग से वार्ड बनाया जाएगा।

50 बेड का होगा वार्ड

केजीएमयू कुलपति डॉ. एमएलबी भट्ट ने बताया कि वार्ड में 50 बेड होंगे। यहां आईसीयू व वेंटिलेटर की सुविधा भी होगी। उन्होंने बताया कि डेंगू, मलेरिया, जेई और एईएस गंभीर समस्या बनकर सामने आ रही हैं। मरीजों को मुकम्मल इलाज हासिल करने के लिए कई अस्पतालों में भटकना पड़ता है। मरीजों को एक छत के लिए बेहतर इलाज उपलब्ध कराने के लिए वार्ड बनाया जा रहा है। इसमें इलाज की सभी तरह की सुविधा होगी।

दो महीने में तैयार होगा वार्ड

कुलपति डॉ. एमएलबी भट्ट ने कहा कि शताब्दी फेज-दो में स्थान देखा गया है। उसमें अलग से वार्ड बनाया जाएगा। इस वार्ड में बच्चों और उसे बड़े लोगों को अलग-अलग भर्ती की व्यवस्था होगी। यह वार्ड कई विभागों के विशेषज्ञों की देख-रेख में चलेगा। सभी के समन्वय से मरीजों को बेहतर इलाज मुहैया कराने की कोशिश होगी। दो महीने में विभाग बनकर तैयार हो जाएगा।

Web Title: Patients will get all the treatment under a roof in vectorborne disease ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया