मुख्य समाचार
नई नवेली दुल्हन को प्रेमी संग रंगे हाथ पकड़ा तो ससुरालियों ने रख दी ये शर्त एग्जिट पोल वाले ट्वीट को लेकर अनुपम खेर ने की विवेक ओबेरॉय की आलोचना, ईशा गुप्ता बोलीं... COA ने किया ऐलान, 22 अक्टूबर को होंगे बीसीसीआई के चुनाव पिता से लगाई एक शर्त के बाद इस महिला ने 15 वर्षों में किए 600 पोस्टमार्टम यहां निकली बंपर भर्ती, जल्द करें आवेदन KGMU : पल्मोनरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग ने किया भंडारे का आयोजन  ICC World Cup 2019 : टीम इंडिया इंग्लैंड हुई रवाना, धोनी को लेकर बनी यह रणनीति डीएम-एसपी ने लिया मतगणना स्थल पर तैयारियों का जायजा, तैयारियां पूरी मध्य कमान ने केन्द्रीय विद्यालय के छात्रों को कराया सीमा दर्शन नाराज तीन विधायक दे सकते हैं राजभर को झटका  सुप्रीम कोर्ट के बाद चुनाव आयोग ने दिया विपक्ष को झटका स्पा सेंटर की आड़ में चल रहा था सेक्स रैकेट, इस तरह पुलिस ने किया पर्दाफाश मायावती का बड़ा एक्शन, इस दिग्गज नेता को पार्टी से किया बाहर मौसी के घर आयी बच्ची का तालाब में उतराता मिला शव साढ़े छह लाख की शराब के साथ एसटीएफ के हत्थे चढे़ दो तस्कर 28वीं पुण्य तिथि पर याद किए गए पूर्व पीएम राजीव गांधी BSP की जगह BJP को वोट देना महिला को पड़ा भारी, पति ने फावड़े से काटकर की हत्या पूर्व मंत्री और बसपा के कद्दावर नेता को पार्टी ने दिखाया बाहर का रास्ता पूर्व मंत्री और बसपा के कद्दावर नेता को पार्टी ने दिखाया बाहर का रास्ता  लोकसभा चुनाव खत्म होते ही बंद हुआ नमो टीवी, भाजपा ने दिए थे इतने लाख रुपए सीडीओ ने देवलान गौशाला का किया निरीक्षण बड़ा मंगल दे रहा है दस्तक, लखनऊ मेट्रो की सवारी कर बचें धूप और जाम से आजम खान के खिलाफ आचार संहिला उल्लंघन के 13 मामलों में आरोप पत्र दाखिल
 

छोटे बच्चों का सर्दी में रखे ख्याल


SANDEEP PANDEY 05/01/2018 16:44:01
270 Views

05-01-2018170752Youngchildren1

LUCKNOW. ठंड के मौसम में बच्चों को बचाने की बहुत जरूरत होती है। बच्चों को सर से पैर तक गर्म कपड़ों से ढककर रखना चाहिए। जिससे शरीर में उनके गर्मी बनी रहे।  ठंड लगने से बच्चे का शरीर नीला पड़ने लगता है। जिसकी चपेट में आने पर सांस लेने में दिक्कत हो सकती है इस बीमारी को हाइपोथर्मिया कहते हैं। इसके साथ ही कोल्ड डायरिया का भी खतरा रहता है।

बच्चे के सुस्त होने पर हो जाये अलर्ट

डफरिन अस्पताल के बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. सलमान खान के अनुसार बच्चे के सुस्त होने पर अलर्ट हो जाएं। ऐसा ठंड लगने की वजह से हो सकता है। हाथ-पैर ठंडे और पेट गर्म होना इसके लक्षण हैं। ऐसे में बच्चे का शरीर गर्म करने की कोशिश के साथ डॉक्टर को दिखाएं। हीटर का इस्तेमाल तब न करें जब कमरा पूरी तरह बंद हो। नमी बनाए रखने के लिए एक बाल्टी पानी भी रख सकते हैं। उन्होने कहा कि डॉ. सलमान के अनुसार सरसों के तेल से बच्चों की मालिश नहीं करनी चाहिए। इससे एलर्जी हो सकती है। सर्दी के मौसम में शहद, अदरक, तुलसी और अजवाइन का काढ़ा पिलाना चाहिए।

सर्दी-जुकाम होने पर लें भाप

केजीएमयू के पल्मोनरी विभाग के डॉ. अजय कुमार ने बताया कि ठंड में सर्दी-जुखाम होना सामान्य बात है। ऐसा होने पर भाप लेना बेहद लाभदायक होता है। सीने में बलगम जमने से काफी दिक्कत होती है, भाप लेने से ऐसा नहीं होता।

हीटर-ब्लोअर लगातार न चलाएं

कमरे में ब्लोअर या हीटर का लगातार इस्तेमाल से बचें। इससे कमरे में नमी बनी रहेगी और शरीर में नमी की कमी नहीं होगी। इसके साथ ही हीटर-ब्लोअर वाले कमरे से एकदम से बाहर जाने पर भी बीमार पढ़ने का खतरा रहता है।

Web Title: Young children are kept in winter ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया