मुख्य समाचार
ममता के करीबी अधिकारी को आउटलुक नोटिस, एक साल तक नहीं जा सकेंगे​ विदेश राजौरी में पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी, एक किशोर घायल ममता बोलीं, सांप्रदायिकता का जहर फैलाकर बंगाल में जीती भाजपा चुनाव के बाद कांग्रेस पार्टी में होने जा रहा बड़ा फेरबदल, राहुल लगाएंगे मुहर श्रमिक की संदिग्ध मौत: परिजनों ने मुआवजे को लेकर किया हंगामा जब क्रीज पर दर्शकों ने कहा, धोखेबाज भाग जाओ CWC की बैठक में राहुल का फूटा गुस्सा, हार के लिए इन दिग्गज नेताओं को ठहराया जिम्मेदार हाईस्कूल पास के लिए DRDO में नौकरी का सुनहरा मौका, आज अंतिम दिन जनसुविधा केन्द्रों पर भी आधार से जोड़े जाएंगे राशन कार्ड माध्यमिक विद्यालयों को 28 मई तक सम्मिट करना होगा यू-डायस प्रपत्र इस नेता ने दे डाली मोदी सरकार को चुनौती, जानिए क्या कहा पूर्व सैनिक की मृत्यु पर मिलेगी सहायता बड़ी खबर: ममता बनर्जी ने कहा, अब सीएम नहीं रहना चाहती सड़क हादसों में महिला समेत आधा दर्जन घायल जेट के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल थे पत्नी सहित देश छोड़ने की फिराक में, एयरपोर्ट से हुए अरेस्ट मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने राष्ट्रपति को सौंपी जीते सांसदों की सूची
 

योगी के आने का दिखने लगा असर, बेहतर हो रही गौमाता की सेवा


SANDEEP PANDEY 08/01/2018 17:07:01
198 Views

08-01-2018171701Rejuvenationo1

LUCKNOW. लखनऊ के कान्हा उपवन की हालत अब पहले से बेहतर होती दिखने लगी है। यह सुधार नगर निगम के बेहतर प्रबंधन और लोगों की मदद से तीन माह में ही दिख रहा है। यहां सफाई के मामलों में गोशाला कई वीआईपी इलाकों को भी मात दे सकती है। वहीं यहां पशुओं की मृत्युदर भी दो-तिहाई हो गई है। नगर निगम इसका संचालन अक्टूबर से कर रहा है, लेकिन इसके लिए अब तक शासन से कोई मदद नहीं मिली है।

जन सहयोग से हुआ सुधार

अपर नगर आयुक्त अनिल मिश्र के प्रयासों से यहां पर रंगाई पुताई से लेकर पशुओं के चारे तक के लिए भी लोगों ने सामग्री और आर्थिक सहयोग दिया। करीब पांच लाख रुपये रंगाई पुताई के लिए लोगों के सहयोग से जुटाए गए।

ग्रीन हाउस हुआ तैयार

यहां पर मामूली खर्च पर ग्रीन हाउस भी तैयार किया गया है, जहां पर पौधे तैयार किए जा रहे हैं। इनका उपयोग नगर निगम पार्कों को संवारने के लिए करेगा। वहीं, खाद शुगर केन इंस्टिट्यूट को दी जा रही है। मंडियों से बची हुई हरी सब्जियां और पत्ते पशुओं को दिए जा रहे हैं। बेहतर खानपान से पशुओं का स्वास्थ्य भी सुधरा है।

हजार रुपये में पूरे माह का खाना

यहां कर्मचारियों के लिए अन्नूपर्णा कैंटीन में महज 1000 रुपये में पूरे माह खाना, जलपान और चाय की व्यवस्था की गई है। वहीं, निराश्रित गायों से निकलने वाला दूध भी यहां पर रह रहे करीब 40 परिवारों में बांटा जाता है। करीब 50 लीटर दूध रोजाना कर्मचारियों को मुफ्त दिया जाता है।

वीडियो सर्विलांस सिस्टम से भी जोड़ा

बाड़ों की सफाई में लगे कर्मचारियों को ही पूरे उपवन की सफाई का जिम्मा दिया गया। अनिल मिश्र के मुताबिक, हर कर्मचारी को 5 से 10 गज का क्षेत्र सफाई के लिए दिया गया है। कान्हा उपवन को विडियो सर्विलांस सिस्टम से भी जोड़ा गया है। नगर निगम मुख्यालय से भी इसकी निगरानी की जा सकती है। हर बाड़े को एक क्लिक पर देखा जा सकता है।

Web Title: Rejuvenation of Kanha Park ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया