मुख्य समाचार
ममता के करीबी अधिकारी को आउटलुक नोटिस, एक साल तक नहीं जा सकेंगे​ विदेश राजौरी में पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी, एक किशोर घायल ममता बोलीं, सांप्रदायिकता का जहर फैलाकर बंगाल में जीती भाजपा चुनाव के बाद कांग्रेस पार्टी में होने जा रहा बड़ा फेरबदल, राहुल लगाएंगे मुहर श्रमिक की संदिग्ध मौत: परिजनों ने मुआवजे को लेकर किया हंगामा जब क्रीज पर दर्शकों ने कहा, धोखेबाज भाग जाओ CWC की बैठक में राहुल का फूटा गुस्सा, हार के लिए इन दिग्गज नेताओं को ठहराया जिम्मेदार हाईस्कूल पास के लिए DRDO में नौकरी का सुनहरा मौका, आज अंतिम दिन जनसुविधा केन्द्रों पर भी आधार से जोड़े जाएंगे राशन कार्ड माध्यमिक विद्यालयों को 28 मई तक सम्मिट करना होगा यू-डायस प्रपत्र इस नेता ने दे डाली मोदी सरकार को चुनौती, जानिए क्या कहा पूर्व सैनिक की मृत्यु पर मिलेगी सहायता बड़ी खबर: ममता बनर्जी ने कहा, अब सीएम नहीं रहना चाहती सड़क हादसों में महिला समेत आधा दर्जन घायल जेट के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल थे पत्नी सहित देश छोड़ने की फिराक में, एयरपोर्ट से हुए अरेस्ट मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने राष्ट्रपति को सौंपी जीते सांसदों की सूची
 

तीन तलाक: विधेयक के समर्थन में सड़क पर उतरी मुस्लिम महिलाएं


SANDEEP PANDEY 10/01/2018 15:36:35
207 Views

10-01-2018161820mEVddjXiDv

LUCKNOW. तीन तलाक के विधेयक बिल के समर्थन और राज्यसभा में बिल का विरोध कर रहे राजनीतिक पार्टियों के खिलाफ मुस्लिम महिलाओं ने मंगलवार को गांधी प्रतिमा पार्क में एकजुट होकर प्रदर्शन किया। महिलायें प्रदर्शन करते हुए विधानभवन की ओर बढ़ी, जैसे ही वह पार्क से निकली वहां मौजूद पुलिस अधिकारियों ने उन्हें रोक दिया। इसके बाद सभी महिलाएं बीजेपी कार्यालय पहुंची और ज्ञापन के माध्यम से केंद्र सरकार को लोकसभा में बिल पास कराने की बधाई दी। यह सभी मुस्लिम राष्ट्रीय मंच और मुस्लिम महिला मोर्चा के बैनर तले एकजुट हुईं थीं।

महिलाओं के हित से ज्यादा पार्टी के वजूद का खतरा

प्रदर्शन का नेतृत्व कर रही मुस्लिम राष्ट्रीय मंच अवध प्रांत की महिला संयोजक शबाना आजमी ने कहा कि राज्यसभा में बिल का विरोध करने वाली राजनैतिक पार्टियों को मुस्लिम महिलाओं के हित से ज्यादा पार्टी के वजूद को नुकसान पहुंचने का डर है।

महिलाओं का दर्द नही समझी पूर्व सरकारें

उन्होंने कहा कि तीन तलाक का दर्द झेल रहीं मुस्लिम महिलाओं की पीड़ा यदि पूर्व की सरकारें समझी होती तो इस बिल का श्रेय उन्हें भी मिल सकता था। फिलहाल अब मुस्लिम महिलाएं इस अन्याय को किसी भी कीमत पर सहन नहीं करेंगी और तीन तलाक के खिलाफ केंद्र सरकार की ओर से उठाए गए कदम का पूरा साथ देंगी।

उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं

महिला मोर्चा के संयोजिका शाहीन परवेज ने कहा कि शरीयत की आड़ में मुस्लिम महिलाओं का हो रहा उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि शरीयत में एक बार में तीन तलाक की इजाजत नहीं है। उन्होंने उन मुस्लिम धर्मगुरुओं को भी आड़े हाथों लिया जो अब तक तीन तलाक की पैरोकारी करते आए हैं। उन्होंने राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन के माध्यम से मांग की कि कथा कथित मौलानाओं की डिग्री की जांच की जाएं और फर्जी पाए जाने पर सख्त कार्रवाई की जाए। साथ ही उन्होंने मुस्लिम लॉ बोर्ड भंग किए जाने की भी मांग उठाई।

 

Web Title: Three Divorce Muslim Women Out on the Road in support of the Bill ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया