मुख्य समाचार
 

जाने आखिर ऐसा क्या हुआ कि एक खत से प्रशासनिक अधिकारियों के बीच मची हड़कम्प


HARSHIT MISHRA 14/01/2018 12:55:06
710 Views

14-01-2018130305whathashappe1

Jaipur: एक चिट्ठी ने जिले के पूरे प्रशासन को हिला कर रख दिया है। अज्ञात व्य​क्ति द्वारा लिखी गई इस चिठ्ठी से प्रशासनिक अधिकारीयों पर अभी भी भय सता रहा है। पत्र मिलते ही प्रशानिक और पुलिस अधिकारियों का जमावड़ा जिला कलेक्ट्रेट में लग गया।

यह भी पढ़ें दक्षिण भारत में मची पोंगल की धूम

राजस्थान के बूंदी में प्रशासनिक अधिकारियों के बीच उस वक्त हड़कंप मच गया। जब जिला कलेक्टर को गोली मारने की धमकी भरा पत्र मिला। ​दरअसल बूंदी में पिछले 3 माह से टाइगर हिल स्थित मानधाता छतरी पर बालाजी की प्रतिमा लगाकर उसकी पूजा करने का विवाद चल रहा है, जिसको लेकर गत 1 जनवरी से प्रशासनिक अधिकारियों और हिंदू महासभा के बीच कई बार लाठी-भाटा जंग हुई।

यह भी पढ़ें बिहार विकास की राह पर चल रहा है, इस विकास को देखकर कुछ लोगों को जलन: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

हालांकि शहर काजी शकूर कादरी ने 5 जनवरी को सांप्रदायिकता की मिसाल पेश करते हुए विवाद को खत्म करते हुये छतरी पर पूजा करवा दी थी। उसके बाद 5 दिन से बंद चल रहे बूंदी के बाजार खुल गए थे। लेकिन विवाद अभी भी जारी है। जिसके चलते गत 12 जनवरी को भी विश्व हिन्दू परिषद के आह्वान पर हाड़ौती बंद किया गया था। उसी दिन डाक से जिला प्रशासन को कलेक्टर के नाम एक पत्र मिला था। लेकिन इस पत्र को शनिवार को खोला गया था। पत्र खोलते ही कर्मचारियों की आंखें फटी की फटी रह गई।

यह भी पढ़ें पीएम मोदी से खफा यशवंत सिन्हा ने किया प्रहार, कहा...
पत्र में बदला लेने के लिए जिला कलेक्टर शिवांगी स्वर्णकार  को  गोली मारने की धमकी लिखी हुई थी। उन्होंने तत्काल पत्र की जानकारी अतिरिक्त जिला कलेक्टर नरेश मालव को दी। उन्होंने पत्र को देखते ही पुलिस अधीक्षक आदर्श सिद्धू को सूचना दी। धमकी भरा पत्र मिलने की जानकारी मिलते ही तत्काल पुलिस के उच्च अधिकारी कलेक्ट्रेट पहुंच गए। उन्होंने मामले की जांच शुरू कर दी। जांच में सामने आया कि पत्र में किसी वकील के लेटरहेड का इस्तेमाल किया गया।

यह भी पढ़ें कागजों पर जलते अलाव, ठंड से सिकुड़ते लोग, नहीं मिल रही रैन बसेरों में पनाह

पुलिस अधिकारियों ने वकील को बुलाकर पूछताछ की। उसमें सामने आया कि यह पत्र वकील के द्वारा नहीं लिखा गया। इसमें वकील के लेटर हेड की फोटो स्टेट का इस्तेमाल किया गया है। पुलिस अधिकारियों ने शंका जताई कि यह काम किसी शरारती तत्व का है। हालांकि पूरे मामले की पुलिस अधिकारी गंभीरता के साथ जांच कर रहे हैं। इसकी जांच पुलिस उपाधीक्षक समंदर सिंह और कोतवाल रामनाथ सिंह कर रहे हैं।

Web Title: what has happened is that the letter of a letter to the administrative officials ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया