मुख्य समाचार
रॉबर्ट वाड्रा की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, ईडी ने अग्रिम जमानत निरस्त करने की मांग मोहनलालगंज में बसपा चौथी बार दूसरे स्थान पर डॉ. ओ.पी.चौधरी ने संभाला भारतीय जीव जंतु कल्याण बोर्ड के चेयरमैन का कार्यभार अपने बयान में फंसे सिद्धू, सोशल मीडिया पर हो रही जमकर खिंचाई सेवक के रूप में करूॅगी जनता की सेवा : साध्वी संसद तक पहुंचने में सफल हुई यह 11 महिलाएं करेंगी यूपी का नेतृत्व  दोबारा चुनाव जीतकर कौशल ने रचा इतिहास बाइक की टक्कर से साइ​किल सवार महिला की मौत, बेटी घायल शाकिब-अल-हसन का विश्व कप को लेकर आया बड़ा बयान गंभीर ने की राजनीतिक करियर की शुरुआत, इतने वाटों से दर्ज की जीत ऐसा हुआ तो आज़म खान लोकसभा की सदस्यता से खुद दे देंगे इस्तीफा! पुलिस ने किया लूट की वारदात से इंकार, आपसी रंजिश का गहराया शक  आजम खान का बड़ा बयान, तो दे दूंगा लोकसभा सदस्यता से इस्तीफा भाजपा व मीडिया को लेकर आपत्तिजनक पोस्ट पर मुकदमा दर्ज, अभियुक्त भेजा गया जेल FIFA World Cup: हो गया निर्णय 2022 टूर्नामेंट में खेलेंगी 32 टीमें बुंदेलखंड की सभी 4 सीटें भाजपा के खाते में 52 सीटों पर सिमटी कांग्रेस, अपनी पारम्परिक ​सीट से हाथ धो बैठे राहुल गांधी भाजपा के सहयोगी अपना दल (एस) ने उप्र की दो सीटों विजयी सुरक्षा बलों ने आतंकी सरगना मूसा को ढेर कर दिया पीएम मोदी की जीत का तोहफा
 

जा सकती हैं 90 हजार लोगों की नौकरियां


KAVITA JOSHI 16/01/2018 09:02:17
583 Views

16-01-201809222490thousandpe1
Lucknow. लोगों को एक दूसरे से जोड़े रखने वाले दूरसंचार के लिए आने वाले कुछ महीने भारी संकट के रहने वाले हैं। आने वाले महीनों में 50,000 नौकरियां जा सकती हैं। 2017 के शुरू से अब तक 40,000 नौकरियां जा चुकी हैं। सीआईईएल एचआर सर्विसेस की एक रपट के मुताबिक दूरसंचार क्षेत्र इस समय बेहद प्रतिस्पर्धी दौर से गुजर रहा है।

यह भी पढ़ें...उत्तरायणी कौथिग 2018 की तैयारियों को लेकर पर्वतीय महापरिषद की बैठक संपन्न

इसके चलते कंपनियों का लाभ और मार्जिन कम हुआ है। इसकी वजह से जहां एक तरफ नौकरियां जाने की संभावना प्रबल होती हैं, वहीं इस क्षेत्र में अनिश्चिता का माहौल भी बनता है। यह रपट दूरसंचार कंपनियों को सॉफ्टवेयर एवं हार्डवेयर सेवाएं उपलब्ध कराने वाली 65 तकनीकी कंपनियों के करीब 100 वरिष्ठ एवं मध्यम स्तर के कर्मचारियों के बीच किए गए सर्वेक्षण पर आधारित है।

यह भी पढ़ें...Photos : महिलाओं एवं पुरूषों तथा महापरिषद के कार्यकर्ता एवं पदाधिकारियों ने गोल घेरे में झोड़ा नृत्य का किया प्रदर्शन

रपट के अनुसार वर्ष 2017 में इस क्षेत्र में 40,000 नौकरियां पहले ही जा चुकी हैं और आगे भी यही रुख जारी रहने की संभावना है। इससे अगले छह से नौ महीने में 50,000 तक नौकरियां और जा सकती है।इस प्रकार इस क्षेत्र की कुल 80,000 से 90,000 नौकरियां जाने की संभावना है। बेंगलुरु की सीआईईएल एचआर र्सिवसेस के मुख्य कार्यकारी आदित्य नारायण मिश्रा ने कहा अगली दो-तीन तिमाहियों में काफी नौकरियां जाने की संभावना है। 

 

Web Title: 90 thousand people can loss job ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया