मुख्य समाचार
ममता के करीबी अधिकारी को आउटलुक नोटिस, एक साल तक नहीं जा सकेंगे​ विदेश राजौरी में पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी, एक किशोर घायल ममता बोलीं, सांप्रदायिकता का जहर फैलाकर बंगाल में जीती भाजपा चुनाव के बाद कांग्रेस पार्टी में होने जा रहा बड़ा फेरबदल, राहुल लगाएंगे मुहर श्रमिक की संदिग्ध मौत: परिजनों ने मुआवजे को लेकर किया हंगामा जब क्रीज पर दर्शकों ने कहा, धोखेबाज भाग जाओ CWC की बैठक में राहुल का फूटा गुस्सा, हार के लिए इन दिग्गज नेताओं को ठहराया जिम्मेदार हाईस्कूल पास के लिए DRDO में नौकरी का सुनहरा मौका, आज अंतिम दिन जनसुविधा केन्द्रों पर भी आधार से जोड़े जाएंगे राशन कार्ड माध्यमिक विद्यालयों को 28 मई तक सम्मिट करना होगा यू-डायस प्रपत्र इस नेता ने दे डाली मोदी सरकार को चुनौती, जानिए क्या कहा पूर्व सैनिक की मृत्यु पर मिलेगी सहायता बड़ी खबर: ममता बनर्जी ने कहा, अब सीएम नहीं रहना चाहती सड़क हादसों में महिला समेत आधा दर्जन घायल जेट के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल थे पत्नी सहित देश छोड़ने की फिराक में, एयरपोर्ट से हुए अरेस्ट मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने राष्ट्रपति को सौंपी जीते सांसदों की सूची कानपुर में पांच मंजिला इमारत में लगी भीषण आग जीत के बाद जल्द काशी पहुंचेंगे पीएम मोदी, तैयारियों में जुटा प्रशासन
 

इस समझौते के बाद दर-दर नहीं भटकेंगे साढ़े 6 लाख रोहिंग्या


PRADEEP CHANDRA JOSHI 17/01/2018 11:16:31
326 Views

Myanmar-Bangladesh news in hindi at newstimes

New Delhi. म्यांमार से पलायन किये रोहिंग्या शरणार्थियों की समस्या समाप्ति पर है। आखिरकार तकरीबन दो साल के बाद शरणार्थियों के मुद्दे पर बांग्लादेश और म्यांमार के बीच आपसी सहमति बन गई है। दोनों ही देश 650000 रोहिंग्या शरणार्थियों को फिर से अपने देश में स्वीकार करने के लिए तैयार हो गए हैं।
यह भी पढ़ें... अमेरिकी दबाव के बाद पाक ने आतंकियों के खिलाफ फतवा किया जारी

दोनों देशों के बीच हुआ करार

बता दें कि रोहिंग्या शरणार्थी म्यांमार के रखाइन शहर में हिंसा भड़कने के बाद दर-बदर हो गए थे और उन्हें काफी मुश्किल हालातों का सामना करना पड़ा है। लेकिन दो साल मुसीबत झेलने के बाद आखिरकार दोनों देश उन्हें फिर से बसाने के लिए तैयार हो गए हैं। दोनों देशों के बीच एक करार हुआ है जिसके बाद रोहिंग्या संकट समाप्त हो सकता है।
यह भी पढ़ें... इजराइल देगा भारत को ऐसी मिसाइल, दुश्मन टैंकों के लिए बन जाएगी काल

नैपिदा में हुई दोनों देशों के बीच बैठक

खबर के अनुसार दोनों देशों के बीच शरणार्थियों के मुद्दे पर पहली बार बैठक हुई, यह बैठक नैपिदा में मंगलवार को हुई जहां दोनों देशों के बीच करार हुआ कि शरणार्थियों की समस्या को अब खत्म किया जाए और उन्हें एक बार फिर से बसाया जाए। इस बात की बांग्लादेश के अधिकारियों की ओर से पुष्टि की गई है। इस करार के अनुसार बांग्लादेश इसके लिए पांच ट्रांसिट कैंप बनाएंगा।
यह भी पढ़ें... बेनजीर भुट्टो की हत्या से जुड़ा पाकिस्तान के सबसे बड़े राज का खुलासा

म्यांमार इस लोगों को अस्थायी रूप से ला को फुंग में शरण देगा और जो लोग वापस आएंगे उनके लिए घर बनवायेगा। इसके अलावा जो बच्चे अनाथ हो गए या किसी वजह से अकेले रह गए हैं उनके लिए दोनों देश मिलकर इंतजाम करेंगे।  

Web Title: The settlement of Rohingya refugees, agreement between Myanmar-Bangladesh ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया