मुख्य समाचार
नई नवेली दुल्हन को प्रेमी संग रंगे हाथ पकड़ा तो ससुरालियों ने रख दी ये शर्त एग्जिट पोल वाले ट्वीट को लेकर अनुपम खेर ने की विवेक ओबेरॉय की आलोचना, ईशा गुप्ता बोलीं... COA ने किया ऐलान, 22 अक्टूबर को होंगे बीसीसीआई के चुनाव पिता से लगाई एक शर्त के बाद इस महिला ने 15 वर्षों में किए 600 पोस्टमार्टम यहां निकली बंपर भर्ती, जल्द करें आवेदन KGMU : पल्मोनरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग ने किया भंडारे का आयोजन  ICC World Cup 2019 : टीम इंडिया इंग्लैंड हुई रवाना, धोनी को लेकर बनी यह रणनीति डीएम-एसपी ने लिया मतगणना स्थल पर तैयारियों का जायजा, तैयारियां पूरी मध्य कमान ने केन्द्रीय विद्यालय के छात्रों को कराया सीमा दर्शन नाराज तीन विधायक दे सकते हैं राजभर को झटका  सुप्रीम कोर्ट के बाद चुनाव आयोग ने दिया विपक्ष को झटका
 

शराब ज्यादा पी ली थी, बस इसलिए बच्चियों को चलती ट्रेन से फेंक दिया


FIROZ QUIRAISHI 17/01/2018 13:00 PM
352 Views

Lucknow. चलती ट्रेन से मासूम बच्चियों को फेंकने वाला कोई और नहीं बल्कि उनका सगा बाप था। आईजी रेलवे विनोद कुमार सिंह ने यह खुलासा बच्चियों के बाप को गिरफ्तार करने के बाद किया है। हालांकि आरोपी द्वारा घटना के पीछे जो वजह बताई गई वह किसी के भी गले नहीं उतर रही थी।

17-Jan-20187luz7oFy1O1

यह भी पढ़ें...Press club में अनवर जलालपुरी की याद में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन-राजबब्बर सहित कई हस्तियां रही मौजूद


बता दें कि 24 अक्टूबर को जनपद सीतापुर के अलग-अलग थाना क्षेत्रों में रेलवे ट्रैक के किनारे चार मासूम बच्चियों के मिलने से सनसनी मच गई थी। इस घटना में एक मासूम मृत अवस्था में मिली थी। जबकि तीन बच्चियां घायलावस्था में मिली थीं जिनका उपचार कराया गया था। घायलों में एक बच्ची का लखनऊ के ट्रामा सेंटर में भी इलाज हुआ था। सीतापुर में भर्ती घायल मासूमों को जब लखनऊ के ट्रामा में भर्ती बच्ची की फोटो दिखाई गई तो उसने अपनी बहन के रूप में पहचान की। बाद में जांच करने पर यह साफ हो गया था कि सीतापुर में अलग-अलग जगह पर मिली बच्चियां सगी बहनें थीं।

इस मामले में घायल बच्चियों ने पुलिस को बताया था कि वो सभी ट्रेन में सपरिवार सवार थीं। इसी दौरान उसके मामा और उसके एक साथी ट्रेन में ही उसके पिता से लड़ने लगे। बाद में मासूमों के मामा और उसके दोस्त ने चलती ट्रेन से सबको फेंक दिया था। हालांकि लगभग ढाई महीने बाद पुलिस की गिरफ्त में आये मासूमों के पिता ने मामले में नया खुलासा किया है। आरोपी इंदु अंसारी के मुताबिक उसने शराब ज्यादा पी ली थी जिसके चलते अनजाने में उसने खुद ही बच्चियों को ट्रेन से फेंक दिया था।

यह भी पढ़ें...आलू किसानों की समस्या को लेकर गांधी प्रतिमा पर योगी सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन


वहीं मूलरूप से बिहार का रहने वाला आरोपी इंदु अंसारी पेशे से राजगीर है और उसने दो-दो शादियां की थीं। आरोपी की एक पत्नी की पहले ही मौत हो चुकी थी और आरोपी के कुल 7 बच्चे थे। घायल मासूमों के बयान के मुताबिक पुलिस ने उसके मामा और एक अन्य को नामजद किया था लेकिन जब GRP ने तफ्तीश शुरू की तो यह साफ हो गया कि घटना के पीछे सिर्फ और सिर्फ मासूमों के बाप का ही हाथ है।

GRP के सामने आरोपी को पकड़ने की बड़ी चुनौती थी इसके पीछे की वजह यह बताई गई कि वह लगातार अपनी लोकेशन को बदल रहा था। इसके बावजूद GRP ने बिहार पुलिस के दो एसपी और जम्मू के एसएसपी के सहयोग से आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। घटना के पीछे की सबसे बड़ी वजह यही निकल के सामने आई है कि आरोपी मासूम बच्चियों को ठिकाने लगाना चाहता था जिसके चलते उसने पूरी वारदात को अंजाम दिया।

यह भी पढ़ें... मात्र 5000 रुपयों के लिए छोटू का अपहरण,पुलिस ने दबंगाई बताकर मामले को दबाया

IG विनोद कुमार सिंह के मुताबिक मासूमों को ट्रेन से फेंकने की सबसे बड़ी वजह नशा,गरीबी और अशिक्षा है। इस दौरान उन्होंने यह भी बताया कि GRP के 38 थाने और सैकड़ो रेलवे स्टेशन होने के बावजूद गवर्मेंट रेलवे पुलिस यानि GRP बेहतर सामंजस्य की वजह से अपराधों पर लगाम लगा पाई है। वहीं आईजी रेलवे ने कहा कि GRP का बेहतर सामंजस्य का ही नतीजा था कि नववर्ष के आगमनविदाई और 25 दिसंबर को किसी तरह रेलवे में कोई आपराधिक घटना नहीं हुई।

Web Title: police will be arrested father accused of throwing girls off trains ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया