मुख्य समाचार
भाजपा सरकार ने जनता की सुरक्षा को अपराधियों के आगे गिरवी रख दिया है : अखिलेश जन्मदिन विशेष: शाहरुख की फिल्में हिट कराने में सुखविंदर सिंह का बड़ा योगदान हज यात्री इन्तज़ामों में कमी बतायें, दूर किया जायेगा : मोहसिन रज़ा ‘‘भूजल सप्ताह’’ के दूसरे दिन जल संरक्षण पर आधारित चित्रकला प्रतियोगिता एवं विज्ञान प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम आयोजित जालान पैनल ने तैयार की फंड ट्रांसफर की रिपोर्ट, सरकार को मिलेगी बड़ी राहत बाढ़ राहत के कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये : राहत आयुक्त राजकीय नलकूपों के यांत्रिक दोषों को 24 घंटे में दूर करें : धर्मपाल सिंह  पुलिस से परेशान व्यापारी ने खुद पर पेट्रोल छिड़क कर लगाई आग बाढ़ पीड़ितों के लिए आगे आए अक्षय, प्रियंका ने भी की अपील सोनभद्र: 90 बीघा जमीन के लिए हुआ खूनी संघर्ष, 11 की मौत
 

श्रद्धांजलि : जीवन में एक सितारा था, माना वह बेहद प्यारा था : हरिवंश राय बच्चन


VINEET SINGH 18/01/2018 13:10 PM
513 Views

tribute to haribansh rai bachchan 18 january 2018, news times

Luucknow. आज मशहूर कवि, साहित्यकार हरिवंशराय बच्चन की पुण्य तिथि है। उनका जन्म 1907 में इलाहाबाद में और मृत्यु 2003 में मुंबई में हुई थी।

यह भी पढ़ें योगी सरकार का तोहफा: आगरा, मेरठ और कानपुर में 2024 तक मेट्रो

इलाहाबाद के कायस्थ परिवार में जन्मे बच्चन जी का वास्तविक नाम हरिवंश श्रीवास्तव था। इनको बाल्यकाल में बच्चन कहा जाता था जिसका शाब्दिक अर्थ बच्चा या संतान होता है। बाद में ये इसी नाम से मशहूर हुए। इन्होंने कायस्थ पाठशालाओं में पहले उर्दू की शिक्षा ली, जो उस समय कानून की डिग्री के लिए पहला कदम माना जाता था। इसके बाद उन्होंने प्रयाग विश्वविद्यालय से अंग्रेजी में एमए और कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय से पीएचडी की।

यह भी पढ़ें परेड के दौरान विवाद, सिपाही ने ASI को मारी गोली

1926 में 19 वर्ष की उम्र में उनका विवाह श्यामा बच्चन से हुआ जो उस समय 14 वर्ष की थीं और 1936 में श्यामा की टीबी के कारण मृत्यु हो गई। जिसके बाद श्री बच्चन अवसाद में चले गए। जो कि उनकी उस दौरान की रचनाओं में साफ तौर पर देखा जा सकता है। इस घटना के पांच साल बाद 1941 में बच्चन ने तेजी सूरी से विवाह किया जो रंगमंच तथा गायन से जुड़ी हुई थीं। इसी समय उन्होंने नीड़ का पुनर्निर्माण जैसे कविताओं की रचना की। तेजी बच्चन से अमिताभ तथा अजिताभ दो पुत्र हुए। अमिताभ बच्चन एक प्रसिद्ध अभिनेता हैं। तेजी बच्चन ने हरिवंश राय बच्चन द्वारा शेक्सपियर के अनुदित कई नाटकों में अभिनय का काम किया है।

यह भी पढ़ें अध्यक्ष बनने के बाद से और आक्रामक हो गए हैं राहुल, आधार को लेकर दिया ये बयान

हरिवंश राय बच्चन ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय में अध्यापन का काम किया। जिसके बाद भारत सरकार के विदेश मंत्रालय में बतौर हिन्दी विशेषज्ञ नियुक्त हुए। श्री बच्चन राज्य सभा के मनोनीत सदस्य भी रहे। बच्चन जी हिन्दी के सर्वाधिक लोकप्रिय कवियों में अग्रणी हें। इन्होंने 60 से ज्यादा रचनायें की हैं। जिसमें मधुशाला इनकी सर्वाधिक प्रसिद्ध और पढ़ी जाने वाली कविता रही। इनकी प्रमुख रचनाओं में निशा निमन्त्रण, प्रणय पत्रिका, मधुकलश, एकांतसंगीत, सतरंगिनी, मिलनयामिनी, बुद्ध और नाचघर, त्रिभंगिमा, आरती और अंगारे जाल, समेटा, आकुल, अंतर तथा सूत की माला शामिल हैं।

यह भी पढ़ें रिटायर्ड IAS मनोज कुमार होंगे नए राज्य निर्वाचन आयुक्त

उनकी कृति दो चट्टानें को 1968 में हिन्दी कविता का साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मनित किया गया था। इसी वर्ष उन्हें सोवियत लैंड नेहरू पुरस्कार तथा एफ्रो एशियाई सम्मेलन के कमल पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया। बिड़ला फाउन्डेशन ने उनकी के लिये उन्हें सरस्वती सम्मान दिया गया था। बाद में हरिवंश राय बच्चन कोे पद्म भूषण से भी नवाजा गया।

Web Title: tribute to a great poet harivansh rai bachchan ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया