मुख्य समाचार
आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर पलटी तेज रफ्तार कार, 2 की मौत, 4 घायल अमेठी में सुरेन्द्र सिंह के हत्यारों को बख्शा नहीं जायेगा : भाजपा प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में मोदी सरकार की वापसी से शेयर बाजार में दिख सकती है बढ़त ममता के करीबी अधिकारी को आउटलुक नोटिस, एक साल तक नहीं जा सकेंगे​ विदेश राजौरी में पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी, एक किशोर घायल ममता बोलीं, सांप्रदायिकता का जहर फैलाकर बंगाल में जीती भाजपा चुनाव के बाद कांग्रेस पार्टी में होने जा रहा बड़ा फेरबदल, राहुल लगाएंगे मुहर श्रमिक की संदिग्ध मौत: परिजनों ने मुआवजे को लेकर किया हंगामा जब क्रीज पर दर्शकों ने कहा, धोखेबाज भाग जाओ CWC की बैठक में राहुल का फूटा गुस्सा, हार के लिए इन दिग्गज नेताओं को ठहराया जिम्मेदार हाईस्कूल पास के लिए DRDO में नौकरी का सुनहरा मौका, आज अंतिम दिन जनसुविधा केन्द्रों पर भी आधार से जोड़े जाएंगे राशन कार्ड माध्यमिक विद्यालयों को 28 मई तक सम्मिट करना होगा यू-डायस प्रपत्र इस नेता ने दे डाली मोदी सरकार को चुनौती, जानिए क्या कहा पूर्व सैनिक की मृत्यु पर मिलेगी सहायता बड़ी खबर: ममता बनर्जी ने कहा, अब सीएम नहीं रहना चाहती सड़क हादसों में महिला समेत आधा दर्जन घायल जेट के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल थे पत्नी सहित देश छोड़ने की फिराक में, एयरपोर्ट से हुए अरेस्ट मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने राष्ट्रपति को सौंपी जीते सांसदों की सूची
 

दिव्यांग बच्चों की जिला प्रशासन कराएगा नि:शुल्क सर्जरी


SANDEEP PANDEY 02/02/2018 13:10:31
244 Views

02-02-2018132203Districtadmin1

LUCKNOW.  किसी तरह से हाथ पैर टेढ़े होने से दिव्यांग हुए बच्चों की जिंदगी गुलजार हो जायेगी। श्रावस्ती जिले के जिलाधिकारी की पहल पर उनकी सर्जरी करा कर उन्हें ठीक किया जायेगा। जिसका खर्च जिला प्रशासन वहन करेगा। इसके लिए बच्चों का पंजीकरण कराने का काम शुरू कर दिया गया है। दिव्यांग 10 फरवरी तक जनपद के कलेक्ट्रेट में पंजीकरण करा सकते हैं।

यह भी पढ़ेः-मरीज को दवाओं से ज्यादा मनोवैज्ञानिक इलाज की होती जरूरत

जिलाधिकारी दीपक मीणा ने बताया कि पोलियो से प्रभावित होने वाले बच्चों के हाथ व पैरों में मांसपेशियों पर कुप्रभाव के कारण अधिकतर हाथ पैर पतले व टेढ़े हो जाते हैं। कुछ बच्चों में पैरों की हड्डियों पर भी प्रभाव पड़ता है। जिस कारण प्रभावित पैर सामान्य पैर की अपेक्षा सिकुड़ जाता है। पोलियो की प्रक्रिया के कारण मांसपेसियों में खिंचाव और सिकुड़न के कारण बच्चा धीरे-धीरे पैर को आराम की स्थिति रखने की चेष्टा के कारण उसे अपनी तरह से उठाकर चलने लगता है। जिससे कुछ समय बाद मांसपेशियों व हड्डियों में अकड़न व कड़ापन आने पर टेढ़े-मेढ़े और छोटे भी हो जाते हैं। जो उसे विकलांग बना देते हैं। इस प्रकार टेढ़े और छोटे हुए पैरों को पुन: ठीक करने के प्रयास को करेक्टिव सर्जरी कहते हैं।

यह भी पढ़ेः- स्तन कैंसर में सर्जरी होने के बाद भी बनी रहेगी ब्रेस्ट की सुंदरता

जिलाधिकारी ने बताया है कि सर्जरी के लिए दिव्यांग बच्चों के संरक्षक जिला विकलांग जन विकास अधिकारी कार्यालय में पंजीकरण करायें। पंजीकरण की अन्तिम तिथि 10 फरवरी, 2018 है। पंजीकृत बच्चों की निंशुल्क सर्जरी कराई जाएगी तथा पंजीकरण के बाद शिविर लगाकर बच्चों की सर्जरी होगी। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि गांव गांव प्रचार करके दिव्यांग बच्चों का अधिक से अधिक पंजीकरण कराएं, ताकि कोई भी पोलियोग्रस्त बच्चा सर्जरी से वंचित न रह जाये।

Web Title: District administration will provide free surgery for Divya children ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया