LS चुनाव से पहले विपक्ष तैयार, 17 दलों के साथ बैठक के बाद सोनिया ने लिया फैसला


SUYASH MISHRA 02/02/2018 13:28 PM
7899 Views

02-Feb-2018HjSrs3HNIF1

New Delhi. लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार के आखिरी पूर्णकालिक बजट को लेकर विपक्ष हमलावर है। कोई इसे चुनावी बजट बता रहा है तो किसी ने इसे सरकार का बड़ा जुमला करार दिया है। अब विपक्ष मौजूदा सरकार को घेरने की तैयारी में है। 

कांग्रेस अध्यक्ष पद राहुल को देने के बाद पहली बार गुरुवार को सानिया गांधी ने 17 विपक्षी दलों के साथ मिलकर बैठक की है। बताया जा रहा है कि भाजपा को घेरने के लिए विपक्ष एकजुट हुआ है। सोनिया ने तमाम विपक्षी दलों से अपील की है कि वह सभी अहम मुद्दों को लेकर साझा रणनीति के तहत आगे बढ़ें। 

यह भी पढ़ें... राजस्थान में पहली बार: कांग्रेस में खुशी की लहर, टूट गया भाजपा का गुरूर

विपक्ष के लिए बहुत अहम है यह सत्र
लोकसभा चुनाव नजदीक आ रहा है। गुरुवार को मोदी सरकार ने चुनाव से अपना आखिरी बजट पेश किया। इस लिहाज से यह सत्र बेहद महत्वपूर्ण बताया जा रहा है। इस सत्र में तीन तलाक, सुप्रीम कोर्ट के जजों का मामला, कश्मीर घाटी में चल रहा विवाद, यूपी में कानून व्यवस्था और कासगंज हिंसा समेत कई मुद्दे उठेंगे। इन तमाम मुद्दों को लेकर विपक्ष मिलकर मौजूदा सरकार को घेरने की तैयारी कर रहा है। 

यह भी पढ़ें... अभी अभी हुआ ऐलान: योगी सरकार की बढ़ीं मुश्किलें, 18 फरवरी को होगी आर पार की लड़ाई

मीटिंग में ये रहे मौजूद
सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, अहमद पटेल, गुलाम नबी आजाद, मल्लिकार्जुन खड़गे, राकांपा प्रमुख शरद पवार,  नेशनल कांफ्रेंस प्रमुख फारूक अब्दुल्ला, राजद के जयप्रकाश नारायण यादव, तृणमूल से डेरेक ओ ब्रायन, भाकपा महासचिव डी राजा और सपा के राम गोपाल यादव ।

बजट को लेकर किसने क्या कहा
बजट पेश होने के बाद सभी दलों ने प्रतिक्रियाएं दी हैं। आइए जानते हैं किसने क्या कहा। 
क्या कहा वाम दलों ने यह बजट लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखकर बनाया गया है। यह सरकार का बड़ा जुमला है। सीपीएम नेता डी राजा ने कहा कि केंद्रीय बजट, 2018 में लोगों की आखों में धूल झोंकने की सरकार की हताश कोशिश को दिखाता है, जहां ​कई राज्यों में चुनाव होना है।

क्या कहा बसपा सुप्रीमो ने
उत्तर प्रदेश की पूर्व सीएम और बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने कहा कि केंद्र सरकार का आम बजट धन्नासेठों को ध्यान में रखकर बनाया गया है। यह केवल हवा-हवाई दावे वाला बजट है। माया ने कहा कि "नरेंद्र मोदी को बताना चाहिए कि अच्छे दिन का वादा जो उन्होंने किया था, वह कहां है। उन्हें वादाखिलाफी के लिए देश से माफी मांगनी चाहिए।" 

क्या कहा अखिलेश यादव ने
समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि यह अहंकारी सरकार का विनाशकारी बजट है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने इस बजट से साबित कर दिया कि वह सिर्फ अमीरों की हिमायती है। उन्होंने कहा कि इस बजट से गरीब, किसान, मजदूर को निराशा हुई है, वहीं बेरोजगार युवा वर्ग हताश है। इस बजट ने छोटे कारोबारियों, महिलाओं, नौकरीपेशा और आम लोगों के मुंह पर तमाचा मारा है। 

 

Web Title: sonia gandhi meeting with 17 parties lok sabha election ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया