मुख्य समाचार
नई नवेली दुल्हन को प्रेमी संग रंगे हाथ पकड़ा तो ससुरालियों ने रख दी ये शर्त एग्जिट पोल वाले ट्वीट को लेकर अनुपम खेर ने की विवेक ओबेरॉय की आलोचना, ईशा गुप्ता बोलीं... COA ने किया ऐलान, 22 अक्टूबर को होंगे बीसीसीआई के चुनाव पिता से लगाई एक शर्त के बाद इस महिला ने 15 वर्षों में किए 600 पोस्टमार्टम यहां निकली बंपर भर्ती, जल्द करें आवेदन KGMU : पल्मोनरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग ने किया भंडारे का आयोजन  ICC World Cup 2019 : टीम इंडिया इंग्लैंड हुई रवाना, धोनी को लेकर बनी यह रणनीति डीएम-एसपी ने लिया मतगणना स्थल पर तैयारियों का जायजा, तैयारियां पूरी मध्य कमान ने केन्द्रीय विद्यालय के छात्रों को कराया सीमा दर्शन नाराज तीन विधायक दे सकते हैं राजभर को झटका  सुप्रीम कोर्ट के बाद चुनाव आयोग ने दिया विपक्ष को झटका
 

कहानी एक ईमानदार चोर की...


SANDEEP PANDEY 05/02/2018 16:22:25
320 Views

05-02-2018162753Storyofasin1

LUCKNOW.   बेरोजगारी  व्यक्ति को क्या से क्या बना देती है लेकिन उसकी अंतरात्मा उसके द्वारा किये गये गलत कार्यों में भी अपनी छाप छोड़ देती है। ऐसे ही एक युवा बेरोजगार चोरी की घटनाओं को अंजाम देने लगा। इसके बावजूद उसकी अच्छाई उस चोर को एक ईमानदार चोर बना देती है। वह चोरी के पैसों को गरीबों को बांटता था। लखनऊ स्थित राय उमनाथ बली प्रेक्षागृह में नाटक 'ईमानदार चोर' में दर्शाया गया। उद्यानिकी कृषि अनुसंधान समिति ने नाटक का मंचन किया।

यह भी पढ़ेः- बीपीएल धारको को मिलेगा स्वास्थ्य बीमा योजना का फायदा

  आर्थिक तंगी का हुआ शिकार

डॉ. इंद्र कुमार चौरसिया ने इस नाटक का निर्देशन किया। नाटक में दर्शाया गया कि हरिया नाम का युवक काफी पढ़ा लिखा होता है। वह नौकरी की तलाश में तमाम कंपनियों के चक्कर लगाता लेकिन उसे नौकरी नहीं मिल पाती। धीरे-धीरे उसका परिवार आर्थिक तंगी का शिकार हो जाता है। उसकी मां का बीमारी के कारण निधन हो जाता है।

यह भी पढ़ेः- तेल बचत के लिये, कार रेस के जरिये किया जागरूक

  प्रेमिका की सलाह ने बदली जिंदगी

इससे हरिया भीतर से टूट जाता है। जिसके बाद वह चोरी करना शुरू कर देता है। हालांकि चोरी के बाद उसे पछतावा होता है, ऐसे में वह चोरी के पैसे गरीबों में बांट देता था। गरीबों की मदद करने से हर कोई उससे खुश रहता है। इस दौरान उसकी प्रेमिका उससे चुनाव लड़ने को कहती है। हरिया चुनाव लड़कर जीत जाता है। फिर वह चोरी करना छोड़ देता है। नाटक में संजय, अजय, सचिन, सपना, लक्ष्मी, आदर्श आदि ने बहतरीन अभिनय किया।

Web Title: Story of a sincere thief ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया