मुख्य समाचार
ममता के करीबी अधिकारी को आउटलुक नोटिस, एक साल तक नहीं जा सकेंगे​ विदेश राजौरी में पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी, एक किशोर घायल ममता बोलीं, सांप्रदायिकता का जहर फैलाकर बंगाल में जीती भाजपा चुनाव के बाद कांग्रेस पार्टी में होने जा रहा बड़ा फेरबदल, राहुल लगाएंगे मुहर श्रमिक की संदिग्ध मौत: परिजनों ने मुआवजे को लेकर किया हंगामा जब क्रीज पर दर्शकों ने कहा, धोखेबाज भाग जाओ CWC की बैठक में राहुल का फूटा गुस्सा, हार के लिए इन दिग्गज नेताओं को ठहराया जिम्मेदार हाईस्कूल पास के लिए DRDO में नौकरी का सुनहरा मौका, आज अंतिम दिन जनसुविधा केन्द्रों पर भी आधार से जोड़े जाएंगे राशन कार्ड माध्यमिक विद्यालयों को 28 मई तक सम्मिट करना होगा यू-डायस प्रपत्र इस नेता ने दे डाली मोदी सरकार को चुनौती, जानिए क्या कहा पूर्व सैनिक की मृत्यु पर मिलेगी सहायता बड़ी खबर: ममता बनर्जी ने कहा, अब सीएम नहीं रहना चाहती सड़क हादसों में महिला समेत आधा दर्जन घायल जेट के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल थे पत्नी सहित देश छोड़ने की फिराक में, एयरपोर्ट से हुए अरेस्ट मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने राष्ट्रपति को सौंपी जीते सांसदों की सूची कानपुर में पांच मंजिला इमारत में लगी भीषण आग जीत के बाद जल्द काशी पहुंचेंगे पीएम मोदी, तैयारियों में जुटा प्रशासन
 

एक बार फिर सरकारी आंकड़ों ने ही खोल दी बीजेपी की पोल, जहां-जहां है शासन वहां...


GAURAV SHUKLA 06/02/2018 08:56:15
2790 Views

​​amit shah newstimes

Lucknow. बीजेपी लगातार चुनावों के दौरान सुशासन को अपनी प्राथमिकता बताती रही है। लेकिन आंकड़ों के सामने आने के बाद कुछ चौंकाने वाले परिणाम ही देखने को मिलते हैं। कुपोषण और बलात्कार के मामले में देश में नंबर पर रहने वाला मध्य प्रदेश अवैध उत्खनन के मामले में भी देश में दूसरे नंबर पर पहुंच चुका है। 

illegal mining records of india
केन्द्र सरकार की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार 2016-17 में अवैध उत्खनन के सर्वाधिक 31173 मामले महाराष्ट्र से सामने आए हैं। जिसमें 794 मामलों में एफआईआर दर्ज की गयी। इसके साथ ही मध्य 13880 और आंध्र प्रदेश से 9703 मामले सामने आए जिनमें क्रमशः 516 और 3 मामलों में एफआईआर दर्ज की गयी। 

यह भी पढ़ें... राष्ट्रीय रक्षा महाविद्यालय के प्रतिनिधिमंडल ने की यूपी 100 और 1090 की सराहना
गौरतलब है कि उत्खनन को लेकर यह सरकारी आंकड़े जहां चिंता का विषय बने हुए हैं वहीं सरकार राजस्व में हुई बढ़ोत्तरी को लेकर लगातार अपनी पीठ थपथपा रही है। खनन मंत्री राजेन्द्र शुक्ल के अनुसार, आंकड़े चिंता का विषय हैं लेकिन जब सरकार बनी थी उस समय खनिज राजस्व 600 करोड़ आता था। जबकि आज के समय में राजस्व बढ़कर 4500 करोड़ आ रहा है। 

Web Title: illegal mining records of india ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया