मुख्य समाचार
ममता के करीबी अधिकारी को आउटलुक नोटिस, एक साल तक नहीं जा सकेंगे​ विदेश राजौरी में पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी, एक किशोर घायल ममता बोलीं, सांप्रदायिकता का जहर फैलाकर बंगाल में जीती भाजपा चुनाव के बाद कांग्रेस पार्टी में होने जा रहा बड़ा फेरबदल, राहुल लगाएंगे मुहर श्रमिक की संदिग्ध मौत: परिजनों ने मुआवजे को लेकर किया हंगामा जब क्रीज पर दर्शकों ने कहा, धोखेबाज भाग जाओ CWC की बैठक में राहुल का फूटा गुस्सा, हार के लिए इन दिग्गज नेताओं को ठहराया जिम्मेदार हाईस्कूल पास के लिए DRDO में नौकरी का सुनहरा मौका, आज अंतिम दिन जनसुविधा केन्द्रों पर भी आधार से जोड़े जाएंगे राशन कार्ड माध्यमिक विद्यालयों को 28 मई तक सम्मिट करना होगा यू-डायस प्रपत्र इस नेता ने दे डाली मोदी सरकार को चुनौती, जानिए क्या कहा पूर्व सैनिक की मृत्यु पर मिलेगी सहायता बड़ी खबर: ममता बनर्जी ने कहा, अब सीएम नहीं रहना चाहती सड़क हादसों में महिला समेत आधा दर्जन घायल जेट के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल थे पत्नी सहित देश छोड़ने की फिराक में, एयरपोर्ट से हुए अरेस्ट मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने राष्ट्रपति को सौंपी जीते सांसदों की सूची कानपुर में पांच मंजिला इमारत में लगी भीषण आग जीत के बाद जल्द काशी पहुंचेंगे पीएम मोदी, तैयारियों में जुटा प्रशासन
 

उन्नाव की सरजमीं पर तेजी से पनपता एचआइवी संक्रमण 


PRANAY VIKRAM SINGH 12/02/2018 13:41:00
377 Views

12-02-2018134452HybridHIVinf1


अनवरत जागरूकता अभियान चलाने और चार आइसीटीसी सेंटर होने के बावजूद भी भी उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में एचआइवी संक्रमित जनों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े उपरोक्त दलील की तस्दीक कर रहे हैं। पिछले पांच वर्षों में जिले भर में 330 एचआइवी पाजटिव केस मिले। इस बढ़ती संख्या के बीच विभाग के होश तब उड़े जब इस वर्ष 31 जनवरी के बाद जांच शिविरों में बांगरमऊ क्षेत्र के 38 पीडि़त एक साथ सामने आए। 

12-02-2018134523HybridHIVinf2


उत्तर प्रदेश राज्य एड्स कंट्रोल सोसाइटी (यूपी सैक) के अधीन जिले में संचालित आइसीटीसी सेंटर के काउंसलर हालांकि अलग तर्क के साथ दावा करते हैं। कहते हैं कि जिले में एचआइवी के मामलों की संख्या नहीं बढ़ी बल्कि बढ़ी जागरूकता की वजह से लोग जांच के लिए आगे आए और इससे मामले ज्यादा लग रहे हैं। सरकारी आंकड़ों में जो संख्या दिखाई जा रही है, उससे तो कहीं अधिक ऐसे लोग हैं जो किन्हीं कारणों से जांच के लिए सरकारी केंद्रो पर नहीं पहुंच रहे। बांगरमऊ का मामला सामने आने के बाद यह बात साफ भी होती जा रही है। 

यह तो सभी जानते हैं कि एचआइवी संक्रमण का स्थाई इलाज अभी तक विज्ञान नहीं खोज पाया है किंतु कोई नया व्यक्ति इस जानलेवा संक्रमण से संक्रमित न हो उसके लिये अनेकानेक जागरूकता कार्यक्रम संचालित किये जा रहे हैं। उन्नाव में भी अनेक एनजीओ दिन-रात जागरूकता एवं रोकथाम कार्यक्रम में संलग्न हैं उसके बावजूद भी अबाध गति से नये संक्रमित जनों की पुष्टि होना यह बताता है कि योजनाओं का क्रियान्वयन ठीक ढंग से नहीं हो रहा है। अब देखना यह है कि जिला प्रशासन एचआईवी के बढ़ते संक्रमण पर नियंत्रण के लिये कौन सी नई रणनीति तैयार करता है, जो जमीनी स्तर पर प्रभावकारी हो सके। 

 

 

Web Title: Hybrid HIV infection rapidly on the surface of Unnao ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया