मुख्य समाचार
हंगामे की भेंट चढ़ा विधानसभा के मानसून सत्र का पहला दिन  पुलिस हिरासत में प्रियंका गांधी, बोली - कहां ले जा रहे मुझे नहीं पता  लखनऊ में शिवसेना का सदस्यता अभियान शुरू  जिला पंचायत सदस्य पर प्लाट कब्जाने का आरोप, एंटी भूमाफिया पोर्टल पर शिकायत  टैंपो चालकों ने किया हंगामा, भाजपा सांसद के पुत्र के करीबियों और पुलिस पर लगा वसूली का आरोप  फोरम के आदेश की नाफरमानी लखनऊ डीएम को पड़ी भारी, वेतन रोकने के आदेश अजय कुमार लल्लू बोले - जमीनी विवाद नहीं, सामूहिक नरसंहार है घोरावल कांड जमीनी विवाद नहीं, सामूहिक नरसंहार है घोरावल कांड : अजय कुमार लल्लू सुरक्षा प्रबंध सराहनीय हैं, लेकिन मेरी सुरक्षा का दायरा कम से कम रखें : प्रियंका वाड्रा भाजपा सरकार ने जनता की सुरक्षा को अपराधियों के आगे गिरवी रख दिया है : अखिलेश जन्मदिन विशेष: शाहरुख की फिल्में हिट कराने में सुखविंदर सिंह का बड़ा योगदान हज यात्री इन्तज़ामों में कमी बतायें, दूर किया जायेगा : मोहसिन रज़ा ‘‘भूजल सप्ताह’’ के दूसरे दिन जल संरक्षण पर आधारित चित्रकला प्रतियोगिता एवं विज्ञान प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम आयोजित जालान पैनल ने तैयार की फंड ट्रांसफर की रिपोर्ट, सरकार को मिलेगी बड़ी राहत बाढ़ राहत के कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये : राहत आयुक्त राजकीय नलकूपों के यांत्रिक दोषों को 24 घंटे में दूर करें : धर्मपाल सिंह  पुलिस से परेशान व्यापारी ने खुद पर पेट्रोल छिड़क कर लगाई आग बाढ़ पीड़ितों के लिए आगे आए अक्षय, प्रियंका ने भी की अपील सोनभद्र: 90 बीघा जमीन के लिए हुआ खूनी संघर्ष, 11 की मौत
 

धर्म और संस्कृति: जानिए लिंग पुराण की महिमा


ANAMIKA PANDEY 13/02/2018 12:27:03
2125 Views

shiv News NewsTimes

Lucknow. सभी 18 पुराणों में भगवान शिव की महान महिमा का वर्णन लिंगपुराण में किया गया है। भगवान शिव की महिमा लिंग पुराण में 11000 श्लोकों में की गई है। यह सभी पुराणों में श्रेष्ठ है। 

यह भी पढ़ें... MahaShivaratri 2018: शिव शक्ति के मिलन का त्योहार महाशिवरात्रि

महादेव शिव ही ऐसे हैं जिनकी पूजा लिंग के रूप में होती है। शिवलिंग की पूजा का महत्व ग्रंथों में पाया जाता है। 

  शिवलिंग की स्थापना

एक बार भगवान ब्रह्मा और विष्णु के बीच अपनी अपनी श्रेष्ठता को लेकर विवाद शुरू हो गया। स्वयं को श्रेष्ठ बताने के लिए दोनों देव एक दूसरे को अपमानित करने लगे। तब एक अग्नि से ज्वालाओं से लिपटा हुआ लिंग भगवान ब्रह्मा और विष्णु के बीच आकर स्थापित हो गया। 

shiv News NewsTimes

दोनों देव उस लिंग का रहस्य समझ नहीं पा रहे थे। उस अग्नियुक्त लिंग का मुख्य स्रोत का पता लगाने के लिए भगवान ब्रह्मा ने उस लिंग के ऊपर और भगवान विष्णु ने लिंग के नीचे की ओर जाना शुरू किया।

यह भी पढ़ें... मंगल कर रहे अनुराधा नक्षत्र को पार, 4 राशियों को मिलेगी खुशियां अपार
 हजारों सालों तक खोज करने पर भी उन्हें उस लिंग का स्रोत नहीं मिला। हार कर वे दोनों देव फिर से वहीं आ गए जहां उन्होंने लिंग को देखा था।

shiv News NewsTimes

वहां आने पर उन्हें ओम का स्वर सुनाई देने लगा। वह सुनकर दोनों देव समझ गए कि यह कोई शक्ति है और उस ओम के स्वर की आराधना करने लगे।

यह भी पढ़ें... धर्म और संस्कृति: ब्रह्म वैवर्त पुराण की महानता

भगवान ब्रहमा और भगवान विष्णु की आराधना से खुश होकर उस लिंग से भगवान शिव प्रकट हुए और दोनों देवों को वरदान भी दिया। देवों को वरदान देकर भगवान शिव अंतर्धान हो गए और एक शिवलिंग के रूप में स्थापित हो गए। 

Web Title: Religion and Culture Know the Glory of the Gender Purana ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया