मुख्य समाचार
रॉबर्ट वाड्रा की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, ईडी ने अग्रिम जमानत निरस्त करने की मांग मोहनलालगंज में बसपा चौथी बार दूसरे स्थान पर डॉ. ओ.पी.चौधरी ने संभाला भारतीय जीव जंतु कल्याण बोर्ड के चेयरमैन का कार्यभार अपने बयान में फंसे सिद्धू, सोशल मीडिया पर हो रही जमकर खिंचाई सेवक के रूप में करूॅगी जनता की सेवा : साध्वी संसद तक पहुंचने में सफल हुई यह 11 महिलाएं करेंगी यूपी का नेतृत्व  दोबारा चुनाव जीतकर कौशल ने रचा इतिहास बाइक की टक्कर से साइ​किल सवार महिला की मौत, बेटी घायल शाकिब-अल-हसन का विश्व कप को लेकर आया बड़ा बयान गंभीर ने की राजनीतिक करियर की शुरुआत, इतने वाटों से दर्ज की जीत ऐसा हुआ तो आज़म खान लोकसभा की सदस्यता से खुद दे देंगे इस्तीफा! पुलिस ने किया लूट की वारदात से इंकार, आपसी रंजिश का गहराया शक  आजम खान का बड़ा बयान, तो दे दूंगा लोकसभा सदस्यता से इस्तीफा भाजपा व मीडिया को लेकर आपत्तिजनक पोस्ट पर मुकदमा दर्ज, अभियुक्त भेजा गया जेल FIFA World Cup: हो गया निर्णय 2022 टूर्नामेंट में खेलेंगी 32 टीमें बुंदेलखंड की सभी 4 सीटें भाजपा के खाते में 52 सीटों पर सिमटी कांग्रेस, अपनी पारम्परिक ​सीट से हाथ धो बैठे राहुल गांधी भाजपा के सहयोगी अपना दल (एस) ने उप्र की दो सीटों विजयी सुरक्षा बलों ने आतंकी सरगना मूसा को ढेर कर दिया पीएम मोदी की जीत का तोहफा
 

इलाज में एनस्थीसिया विशेषज्ञ की भूमिका बढ़ी


SANDEEP PANDEY 18/02/2018 11:31:18
212 Views

18-02-2018115819Anesthesiaexp1

LUCKNOW.  एनस्थीसिया की भूमिका इलाज के दौरान लगातार बढ़ रही है। जहां ऑपरेशन से पहले मरीज को बेहोशी देने तक एनस्थीसिया विशेषज्ञ की भूमिका रहती थी, वहीं अब विशेषज्ञ इलाज भी कर रहे हैं। यह बातें गोमतीनगर स्थित डॉ. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान के निदेशक डॉ. दीपक मालवीय ने कही। वह शनिवार को लोहिया संस्थान के एनस्थीसिया विभाग की ओर से सेंट्रल जोन पोस्ट ग्रेजुएट एसैंबली को संबोधित कर रहे थे।

कार्यक्रम में इंडियन सोसाइटी ऑफ एनस्थीसिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. कुचेला बाबू, पूर्व अध्यक्ष डॉ. बीबी गिरी, राष्ट्रीय सचिव डॉ. वी गिरी, चिकित्सा शिक्षा विभाग के महानिदेशक डॉ. केके गुप्ता एवं अनेक डॉक्टर मौजूद थे।

यह भी पढ़ेः- जनता और जनप्रतिनिधि एक मंच पर आए सामने, समस्या और समाधान पर हुआ संवाद

  दर्द से दे रहे निजात

 निदेशक डॉ. दीपक मालवीय ने कहा कि एनस्थीसिया विशेषज्ञ मरीजों को दर्द से भी निजात दिला रहे हैं। कैंसर व ऑपरेशन के दर्द से एनस्थीसिया विशेषज्ञ छुटकारा दिलाते हैं।

  विशेषज्ञ रखें ध्यान

उन्होंने कहा कि वेंटिलेटर पर किन मरीजों को भर्ती करना है? वेंटिलेटर पर मरीजों को संक्रमण की संभावना अधिक रहती है। इन बातों का विशेषज्ञों को खास ध्यान रखने की जरूरत होती है। डॉ. मालवीय ने कहा कि थायरॉयड ग्रंथि के विकार व उसके ऑपरेशन के दौरान रखी जाने वाली सावधानियों के बारे में छात्रों को विस्तार से बताया।

यह भी पढ़ेः- होली पर्व पर रोडवेज दे रहा यात्रियों को यह सुविधा

  गंभीर मरीजों के लिए संजीवनी

आयोजन सचिव व एनस्थीसिया विभाग के डॉ. पीके दास ने कहा कि नई दवाएं मरीजों के लिए संजीवनी बन गई है। फेफड़े से लेकर दूसरी गंभीर बीमारी से पीड़ितों को वेंटिलेटर पर रखने की जरूरत पड़ती है। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम में देश के अलग-अलग प्रतिष्ठित चिकित्सा संस्थानों से आए हुए एनस्थीसिया विशेषज्ञों ने पेरी-आपरेटिव केयर के गुर छात्रों से साझा किए।

यह भी पढ़ेः- मदद के लिये सबसे पहली आवाज अपनी उठे

  मरीजों को बेहोशी देने में बरते सावधानी

मुंबई स्थित टाटा मेमोरियल हॉस्पिटल के पूर्व विभागाध्यक्ष डॉ. गेंडू ने छात्रों को एनस्थीसिया के दौरान इस्तेमाल की जाने वाली गैसों के सही इस्तेमाल के बारे में जानकारी दी। पीजीआई में एनस्थीसिया विभाग के प्रमुख डॉ. अनिल अग्रवाल ने ऑपरेशन के मरीज को दर्द, उसके दुष्प्रभाव व उसके इलाज के उपायों की जानकारी दी गई।

Web Title: Anesthesia expert's role in treatment increased ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया