मुख्य समाचार
ममता के करीबी अधिकारी को आउटलुक नोटिस, एक साल तक नहीं जा सकेंगे​ विदेश राजौरी में पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी, एक किशोर घायल ममता बोलीं, सांप्रदायिकता का जहर फैलाकर बंगाल में जीती भाजपा चुनाव के बाद कांग्रेस पार्टी में होने जा रहा बड़ा फेरबदल, राहुल लगाएंगे मुहर श्रमिक की संदिग्ध मौत: परिजनों ने मुआवजे को लेकर किया हंगामा जब क्रीज पर दर्शकों ने कहा, धोखेबाज भाग जाओ CWC की बैठक में राहुल का फूटा गुस्सा, हार के लिए इन दिग्गज नेताओं को ठहराया जिम्मेदार हाईस्कूल पास के लिए DRDO में नौकरी का सुनहरा मौका, आज अंतिम दिन जनसुविधा केन्द्रों पर भी आधार से जोड़े जाएंगे राशन कार्ड माध्यमिक विद्यालयों को 28 मई तक सम्मिट करना होगा यू-डायस प्रपत्र इस नेता ने दे डाली मोदी सरकार को चुनौती, जानिए क्या कहा पूर्व सैनिक की मृत्यु पर मिलेगी सहायता बड़ी खबर: ममता बनर्जी ने कहा, अब सीएम नहीं रहना चाहती सड़क हादसों में महिला समेत आधा दर्जन घायल जेट के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल थे पत्नी सहित देश छोड़ने की फिराक में, एयरपोर्ट से हुए अरेस्ट मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने राष्ट्रपति को सौंपी जीते सांसदों की सूची
 

निर्जन टापू होगा रोहिंग्या मुसलमानों का आसरा


PRADEEP CHANDRA JOSHI 22/02/2018 19:11:35
863 Views

newstimes.co.in

Bangladesh. बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना ने रोहिंग्या मुसलमानों  को बसाने के लिए निर्णय ले लिया है। खबर के अनुसार हसीना ने रोहिंग्या मुस्लिमों को निर्जन टापू पर बसाने का निर्णय किया है। म्यांमार में हिंसा की मार झेल कर लाखों रोहिंग्या मुसलमानों ने बांग्लादेश में शरण ली थी।
यह भी पढ़ें... अब शिक्षक को भी हथियार रखने की सलाह

  यहां बना रहता है बाढ़ का खतरा

 बता दें ये सभी इस समय म्यांमार की सीमा के पास कॉक्स बाजार जिले के शिविर में शरणागत हैं। वहीं अब इस क्षेत्र में नए रोहिंग्याओं के आ जाने से यहां मारामारी की स्थिति बनी हुई है। वहीं देश के कई उच्चाधिकारियों ने आशंका जाहिर की है। कि अगर इनको निर्जन टापू पर भेजा जाता है। तो वहां इनके फंसने की संभावना अधिक होगी क्योंकि यह टापू बंगाल की खाड़ी के समीप होने के चलते यहां बाढ़ का  बना रहता है।
यह भी पढ़ें... पूर्व पाक पीएम पार्टी अध्यक्ष पद से भी हुए निलंबित

  अप्रैल माह से तैयार होंगे शिविर

हसीना ने अपने बयान में कहा है कि कॉक्स बाजार के शरणार्थियों को कम करने के लिए इसके लिए एक अस्थायी व्यवस्था की जाएगी। बांग्लादेशी मीडिया के मुताबिक, इस द्वीप पर शरणार्थियों को बसाने की तैयारी के लिए ब्रिटिश और चीनी इंजीनियर सहायता कर रहे हैं। रोहिंग्या को बसाने के लिए ये शिविर मानसून से पहले तैयार करने की योजना है।
यह भी पढ़ें... अमेरिका-उत्तर कोरिया के बीच होनी थी सीक्रेट मीटिंग, क्यों हो गई कैंसिल

  जानें किस तरह होगी व्यवस्था

अप्रैल माह में शुरू होती है यहां बारिश जिसके बाद से लगातार बाढ़ का खतरा बना रहता है। बांग्लादेश की पीएम के एडवाइजर एचटी इमाम के अनुसार म्यांमार वापस जाने वाले या फिर कहीं और शरण लेने वाले शरणार्थियों को वहां रहने की इजाजत होगी किन्तु इन शरणार्थियों को बांग्लादेश का पासपोर्ट और आइडी कार्ड नहीं मिलेगा।

Web Title: The deserted island will be the refuge of Rohingya Muslims ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया