मुख्य समाचार
रॉबर्ट वाड्रा की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, ईडी ने अग्रिम जमानत निरस्त करने की मांग मोहनलालगंज में बसपा चौथी बार दूसरे स्थान पर डॉ. ओ.पी.चौधरी ने संभाला भारतीय जीव जंतु कल्याण बोर्ड के चेयरमैन का कार्यभार अपने बयान में फंसे सिद्धू, सोशल मीडिया पर हो रही जमकर खिंचाई सेवक के रूप में करूॅगी जनता की सेवा : साध्वी संसद तक पहुंचने में सफल हुई यह 11 महिलाएं करेंगी यूपी का नेतृत्व  दोबारा चुनाव जीतकर कौशल ने रचा इतिहास बाइक की टक्कर से साइ​किल सवार महिला की मौत, बेटी घायल शाकिब-अल-हसन का विश्व कप को लेकर आया बड़ा बयान गंभीर ने की राजनीतिक करियर की शुरुआत, इतने वाटों से दर्ज की जीत ऐसा हुआ तो आज़म खान लोकसभा की सदस्यता से खुद दे देंगे इस्तीफा! पुलिस ने किया लूट की वारदात से इंकार, आपसी रंजिश का गहराया शक  आजम खान का बड़ा बयान, तो दे दूंगा लोकसभा सदस्यता से इस्तीफा भाजपा व मीडिया को लेकर आपत्तिजनक पोस्ट पर मुकदमा दर्ज, अभियुक्त भेजा गया जेल FIFA World Cup: हो गया निर्णय 2022 टूर्नामेंट में खेलेंगी 32 टीमें बुंदेलखंड की सभी 4 सीटें भाजपा के खाते में 52 सीटों पर सिमटी कांग्रेस, अपनी पारम्परिक ​सीट से हाथ धो बैठे राहुल गांधी भाजपा के सहयोगी अपना दल (एस) ने उप्र की दो सीटों विजयी सुरक्षा बलों ने आतंकी सरगना मूसा को ढेर कर दिया पीएम मोदी की जीत का तोहफा
 

PNB SCAM: नींद से जागा पंजाब नेशनल बैंक, उठाया ऐसा कदम जो रोक देगा घोटाले


UMENDRA SINGH 23/02/2018 18:08 PM
165 Views

nirav news newstimes


New Delhi. देश के 11,400 करोड़ रुपए लुटाने के बाद पंजाब नेशनल बैंक नींद से जाग गया है। अब बैंक ने ऐसा कदम उठाया है जिससे भविष्य में घोटाला नहीं हो सकेगा। पीएनबी ने बैंक के स्विफ्ट सिस्टम को गिने-चुने लोगों तक ही सीमित कर दिया है। 

नीरव मोदी को महा घोटाला करने में मदद सोसायटी फॉर वर्ल्ड वाइड इंटरबैंक फाइनेंशल टेलीकम्यूनिकेशन (स्विफ्ट सिस्टम) से ही मिली थी। पहले इसका पासवर्ड बैंक के बाबू को भी पता रहता था। हालांकि अब पीएनबी ने इसको चंद लोगों तक सीमित कर दिया है। अब हर कोई इस पासवर्ड को नहीं जान सकेगा।

यह भी पढ़ें: PNB SCAM: मुकेश अंबानी का भाई ही निकला सबसे बड़ा खिलाड़ी

नीरव मोदी के लोग धड़ल्ले से करते थे उपयोग

आलम यह था कि नीरव मोदी के लोगों को इस सिस्टम के सारे पासवर्ड मालूम थे। वे इसका इस्तेमाल धड़ल्ले से करते थे। इसी वजह से लोन की सारी प्रक्रिया पूरी होने में ज्यादा झंझट ही नहीं लगता था। जांच में पता चला था कि लेटर ऑफ अंडरटेकिंग के लिए सभी जरूरी लॉग इन-पासवर्ड उनके पास थे। पीएनबी के पूर्व डिप्टी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्‌टी, सीडब्ल्यूओ मनोज खरात और नीरव के आधिकारिक हस्ताक्षर करने वाले हेमंत भट्ट ने पूछताछ में सीबीआई के सामने यह खुलासा किया था। अब पीएनबी में गिने-चुने लोग ही इस कम्प्यूटर सिस्टम तक पहुंच सकेंगे।

Web Title: no access to pnb system now ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया