नर्सों से लिया काम लिया जा रहा, सुविधाएं कम: रानी वर्मा


SHUBHENDU SHUKLA 23/02/2018 21:41:36
580 Views

23-02-2018215658Governmentnur1

Lucknow. राजकीय नर्सेस संघ की अध्यक्ष रानी वर्मा ने बलरामपुर अस्पताल के सभाकक्ष में पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि नर्सों से काम बहुत ज्यादा लिया जाता है। लेकिन उसके बदले उनको सुविधायें नाम मात्र की दी जाती है। इसका जीता जागता उदाहरण नर्सों को प्रतिमाह मिलने वाला धुलायी भत्ता और 10 बेड पर एक नर्स की नियुक्ति है। इस व्यवस्था को समाप्त किया जाये। 

यह भी पढ़ें...हरियाणा की लड़की का कारनामा, लड़कों से मिलकर करती थी घिनौना काम, इस शख्स के किया सौदा तो...

केन्द्र के समान नहीं मिलती सुविधाएं

उन्होंने कहा कि  ड्यूटी के समय केन्द्र के समान नर्सों को साफ सुथरे यूनीफ फार्म में रहना होता, है लेकिन केन्द्र के समान सुविधायें नहीं मिलती हैं। उप्र में नर्सिंग कर्मियों को नर्सिंग बोर्डिंग भत्ता प्रतिमाह 115 रुपये, पांच वर्ष के लिए यूनीफ फार्म भत्ता 2500 रुपये, धुलाई भत्ता प्रतिमाह सौ रुपये ही दिया जा रहा है जबकि एसजीपीजीआई, केजीएमयू, लोहिया व अन्य में केन्द्र द्वारा अनुमन्य नर्सिंग बोर्डिंग भत्ता 4800 रुपये प्रतिमाह, यूनीफ फार्म भत्ता 750 रुपये प्रतिमाह तथा धुलाई भत्ता 450 रुपये प्रतिमाह दिया जाता है। संघ की माने तो प्रदेश में चिकित्सकों की बेहद कमी है। 

यह भी पढ़ें...पिता की काली करतूत, बेटियों को बना डाला हवस का शिकार, मासूम के दर्द ने किया खुलासा...

रिक्त पड़े हैं पद

उन्होंने कहा कि मरीजों की सुविधा के लिए 3 बेड पर 1 नर्स की नियुक्ति का प्रावधान है। लेकिन नर्सों के खाली पदों पर नियुक्तियां नहीं की जा रही हैं।  सूबे की 250 चिकित्सा इकाईयों में करीब 65000 बेड हैं, जिसके सापेक्ष 10000 ही नर्सेस के पद सृजित हैं। जिसमें करीब 6500 पद कई वर्षों से रिक्त हैं। इन पदों पर भर्ती के लिए परीक्षा स पन्न कराई जा चुकी है लेकिन परिणाम अभी तक घोषित नहीं किये गये हैं। यदि रिक्त पदों पर नर्सों की नियुक्ति कर दी जाये तो मरीजों को काफी सहूलियत मिल सकती है।

यह भी पढ़ें...महिला की काली करतूत, शादी के नाम बच्चियों का करती थी...

नर्सेस संघ की प्रमुख मांगें
 

-पुरानी पेंशन व्यवस्था लागू की जाए।
-नर्सिंग संस्थानों में प्रधानाचार्य के रिक्त पदों पर नियुक्ति की जाये।
-समान कार्य, समान वेतन की व्यवस्था लागू की जाये।
-प्रशिक्षण प्राप्त कर रही छात्र.छात्राओं की छात्रवृत्ति बढ़ाई जाये।
-नर्सेजों को भी वेतन और पुरस्कार का लाभ दिया जाये।

Web Title: Government nurses union said facilities like central employees met for nurses ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया