मुख्य समाचार
रॉबर्ट वाड्रा की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, ईडी ने अग्रिम जमानत निरस्त करने की मांग मोहनलालगंज में बसपा चौथी बार दूसरे स्थान पर डॉ. ओ.पी.चौधरी ने संभाला भारतीय जीव जंतु कल्याण बोर्ड के चेयरमैन का कार्यभार अपने बयान में फंसे सिद्धू, सोशल मीडिया पर हो रही जमकर खिंचाई सेवक के रूप में करूॅगी जनता की सेवा : साध्वी संसद तक पहुंचने में सफल हुई यह 11 महिलाएं करेंगी यूपी का नेतृत्व  दोबारा चुनाव जीतकर कौशल ने रचा इतिहास बाइक की टक्कर से साइ​किल सवार महिला की मौत, बेटी घायल शाकिब-अल-हसन का विश्व कप को लेकर आया बड़ा बयान गंभीर ने की राजनीतिक करियर की शुरुआत, इतने वाटों से दर्ज की जीत ऐसा हुआ तो आज़म खान लोकसभा की सदस्यता से खुद दे देंगे इस्तीफा! पुलिस ने किया लूट की वारदात से इंकार, आपसी रंजिश का गहराया शक  आजम खान का बड़ा बयान, तो दे दूंगा लोकसभा सदस्यता से इस्तीफा भाजपा व मीडिया को लेकर आपत्तिजनक पोस्ट पर मुकदमा दर्ज, अभियुक्त भेजा गया जेल FIFA World Cup: हो गया निर्णय 2022 टूर्नामेंट में खेलेंगी 32 टीमें बुंदेलखंड की सभी 4 सीटें भाजपा के खाते में 52 सीटों पर सिमटी कांग्रेस, अपनी पारम्परिक ​सीट से हाथ धो बैठे राहुल गांधी भाजपा के सहयोगी अपना दल (एस) ने उप्र की दो सीटों विजयी सुरक्षा बलों ने आतंकी सरगना मूसा को ढेर कर दिया पीएम मोदी की जीत का तोहफा
 

मायावती ने मोदी सरकार पर बोला हमला, धन्नासेठों के हित में हो रहा काम


SHUBHENDU SHUKLA 24/02/2018 17:31:32
233 Views

24-02-2018174402Mayawatisaid1
Lucknow. बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि प्राइवेट कम्पनियों को कोयला खदानों में उत्पादन व इस्तेमाल की अनुमति देने का फैसला धन्नासेठों का तुष्टीकरण करने की एक और नीति है। मायावती ने शनिवार को अपने बयान में कहा कि कुछ मुठ्ठीभर बड़े-बड़े पूंजीपतियों व धन्नासेठों के हित में एक के बाद एक लगातार काम किये जा रहे हैं, लेकिन देश के सवा सौ करोड़ मेहनतकश लोगों से किये गये अच्छे दिन के वायदे आदि क्यों नहीं पूरे किये जा रहे। जबकि इनमें ही देश का असली हित निहित है। 

यह भी पढ़ें...फिर मुसीबत में फंसी सपना चौधरी, हट ता जाउ गाने को लेकर विवाद, 16 और को मिली...

पूंजीपति कर रहे अरबों का गबन

उन्होंने कहा कि बड़े-बड़े पूंजीपति व धन्नासेठ अपने निजी स्वार्थ व लाभ के लिए देशहित से घिनौना खिलवाड़ करते हुये सरकारी बैंको का अरबों-खरबों रुपयों का ग़बन कर रहे हैं और सरकार की संलिप्तता के कारण वे देश से फरार होने में भी सफल हो रहे हैं। कोयला जैसी महत्त्वपूर्ण राष्ट्रीय सम्पत्ति का भी दोहन करने के लिये इसका निजीकरण करना एक बड़ी चिन्ता की बात हैं।

यह भी पढ़ें...Celebrity Series: अपनी अदाओं से सबको दीवाना बना लेती थीं वहीदा रहमान

संवैधानिक व्यवस्था प्रभावित

मायावती ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी सरकार हर बड़े व महत्त्वपूर्ण क्षेत्र का निजीकरण करके एक ऐसे गुप्त एजेण्डे पर काम कर रही है। जिससे दलितों व पिछड़े वर्गों के लिये रोजगार में आरक्षण की संवैधानिक व्यवस्था बुरी तरह से प्रभावित तो हो ही रही है, इससे देश का भी अहित हो रहा है।

यह भी पढ़ें... यूपी की आरती ने किया देश का नाम रोशन, सौंदर्य प्रतियोगिता 2018 के खिताब पर कब्जा

उन्होंने कहा कि इसका खामियाजा पूरे देश को काफी लम्बे समय तक भुगतना पड़ेगा, क्योंकि पूरा देश खुली आंखों से देख रहा है कि निजी क्षेत्र की कम्पनियां देश को लूटने में लगी हुई हैं और भाजपा सरकार अपना कान, आंख सब कुछ बन्द किये हुये हैं। उन्होंने कहा कि देश लुट रहा है और सेवादार व चौकीदार सब सत्ता के नशे में धुत नज़र आ रहे हैं। 

Web Title: Mayawati said privatization of coal mines is the policy of appeasement of rich ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया