मुख्य समाचार
पाकिस्तानी बल्लेबाज आसिफ अली की बेटी की मौत, कैंसर का थी शिकार राज्यपाल ने ‘मधु अभिलाषा’ और ‘हिंद स्वराज्य का पुनर्पाठ’ पुस्तकों का किया विमोचन कांग्रेस अंतिम चरण की सात से ज्यादा लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज करेगी: प्रवक्ता पाकिस्तान की दो बेटियों ने काशी में किया मतदान, बोलीं बेहतरीन है हिंदुस्तान IPL को लेकर हुआ बड़ा खुलासा, मुंबई पुलिस ने IPL में मुहैया कराई सुरक्षा, नहीं मिला पैसा सीआईएसएफ ने दो सूडान मूल के नागरिकों से बरामद की लाखों की विदेशी करेंसी प्रेम नारायण मेहरोत्रा के 'भजन संग्रह' का विमोचन लड़कियों के लिए सुनहरा मौका, बालों से होगी कमाई, करना होगा ये काम राजधानी में टेंट कारोबारी की राह चलते गोली मारकर हत्या से मची सनसनी वोटर लिस्ट में तेजस्वी की जगह इस शख्स की तस्वीर, मचा हड़कंप आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर वॉल्वो बस पलटी, पांच की मौत, दो दर्जन घायल चुनाव आयोग पीएम मोदी के इशारे पर कर रहा पक्षपातपूर्ण बर्ताव : कांग्रेस आयोग में आंतरिक घमासान के निपटारे के लिए सीईसी ने मंगलवार को बुलाई बैठक मायावती ने कहा- क्या वाराणसी 1977 के रायबरेली को दोहराएगा कान फिल्म फेस्टिवल 2019 में जलवा बिखेरकर लौटीं दीपिका पादुकोण, एयरपोर्ट पर वायरल हुईं तस्वीरें समीक्षा अधिकारी पर्चा लीक मामले में सीबीसीआईडी ने कोर्ट को भेजी अंतिम रिपोर्ट भाजपा ने चुनाव आयोग से की मायावती-अखिलेश की शिकायत  दो अलग अलग घटनाओं में जहरीला पदार्थ खाने से युवती और किशोरी की मौत
 

पाकिस्तानी मीडिया ने आतंकवाद के मुद्दे पर अपनी ही सरकार को घेरा


PRADEEP CHANDRA JOSHI 26/02/2018 17:46:06
1227 Views

newstimes.co.in

Islamabad. पाकिस्तान के मीडिया ने पाकिस्तानी सरकार को आतंकवाद के मुद्दे पर घेरा है। मीडिया ने पाकिस्तानी सरकार द्वारा आतंकवादी संगठनों के इस्तेमाल पर चेताते हुए कहा है कि पाकिस्तान इन संगठनों का इस्तेमाल अपनी विदेश नीति के औजार के रूप में कर रहा है। जिन्हें वैश्विक समुदाय ने आतंकवादी संगठन घोषित किया हुआ है। मीडिया ने कहा कि इस नीति से पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय रूप से अलग-थलग पड़ने की ओर अग्रसर हो चुका है।
यह भी पढ़ें... पीएम शेख हसीना ने बांग्लादेश के भविष्य पर जताई चिंता, देशवासियों से किया आग्रह    

पाकिस्तान को रखा गया है ग्रे सूची में

बता दें कि पाकिस्तान के मशहूर अखबार डॉन ने अपने संपादकीय में सरकार की नीतियों में विशेषकर सेना की आलोचना की है। इसमें कहा गया है कि पेरिस में हाल में हुई वित्तीय कार्रवाई कार्यबल (एफएटीएफ) की हाल में हुई बैठकों से आई खबरें बेमानी नहीं हैं। इस तथ्य पर ध्यान देना महत्वपूर्ण है कि अमरीका द्वारा पाकिस्तान को ग्रे सूची में रखे जाने का प्रस्ताव पेश किया गया और इस दौरान हमारे मित्र चीन तथा सऊदी अरब दोनों ने भी पाकिस्तान का साथ छोड़ दिया।
यह भी पढ़ें... पाकिस्तान में भी कोई है जो श्रीदेवी की मौत से आ गया सदमे में   

पाकिस्तान पर आतंकवाद के वित्तपोषण के आरोप

यहां तक कि एफएटीएफ ने अपनी रिपोर्ट के दौरान पाकिस्तान के नाम का उल्लेख नहीं किया है। जिसके बाद देश की स्थिति के बारे में भ्रम पैदा हो गया है। बता दें कि पाकिस्तान पर आतंकवाद के वित्तपोषण के आरोप लग चुके हैं और पाकिस्तान को आतंकवाद के वित्त पोषण के खिलाफ अपनी निष्क्रियता के परिणामों के बारे में गंभीरता से ध्यान देने की जरूरत है। अखबारों ने कहा है कि आतंकवाद के वित्तपोषण रोकने में विफलता एक ऐसी बात है जिसे देश आंतरिक रूप से स्वीकार करता है। 

Web Title: Pakistani media encircle the Pakistani government on the issue of terrorism ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया