मुख्य समाचार
ममता के करीबी अधिकारी को आउटलुक नोटिस, एक साल तक नहीं जा सकेंगे​ विदेश राजौरी में पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी, एक किशोर घायल ममता बोलीं, सांप्रदायिकता का जहर फैलाकर बंगाल में जीती भाजपा चुनाव के बाद कांग्रेस पार्टी में होने जा रहा बड़ा फेरबदल, राहुल लगाएंगे मुहर श्रमिक की संदिग्ध मौत: परिजनों ने मुआवजे को लेकर किया हंगामा जब क्रीज पर दर्शकों ने कहा, धोखेबाज भाग जाओ CWC की बैठक में राहुल का फूटा गुस्सा, हार के लिए इन दिग्गज नेताओं को ठहराया जिम्मेदार हाईस्कूल पास के लिए DRDO में नौकरी का सुनहरा मौका, आज अंतिम दिन जनसुविधा केन्द्रों पर भी आधार से जोड़े जाएंगे राशन कार्ड माध्यमिक विद्यालयों को 28 मई तक सम्मिट करना होगा यू-डायस प्रपत्र इस नेता ने दे डाली मोदी सरकार को चुनौती, जानिए क्या कहा पूर्व सैनिक की मृत्यु पर मिलेगी सहायता बड़ी खबर: ममता बनर्जी ने कहा, अब सीएम नहीं रहना चाहती सड़क हादसों में महिला समेत आधा दर्जन घायल जेट के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल थे पत्नी सहित देश छोड़ने की फिराक में, एयरपोर्ट से हुए अरेस्ट मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने राष्ट्रपति को सौंपी जीते सांसदों की सूची
 

आउटसोर्सिंग से भरे जाएंगे माध्यमिक विद्यालयों में चतुर्थ श्रेणी कर्मियों के खाली पद


SHUBHENDU SHUKLA 27/02/2018 11:16:24
1188 Views

27-02-2018112201Outsourcingwi1

Lucknow. प्रदेश सरकार ने अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में चतुर्थ श्रेणी के खाली पदों को आउटसोर्सिंग से भरे जाने की केन्द्रीयकृत व्यवस्था की है। इसके लिए उत्तर प्रदेश लघु उद्योग निगम कानपुर को 'मैन पावर आउटसोर्सिंग एजेन्सी नामित किया गया है। इस संबंध में अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा, संजय अग्रवाल ने दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं। 

यह भी पढ़ें...सामूहिक विवाह बैठक सम्पन्न, सीएम की मौजूदगी में 114 जोड़े डालेंगे वरमाला

विद्यालय में रिक्त चतुर्थ श्रेणी के पदों को आउट सोर्सिंग से भरे जाने के लिए संबंधित विद्यालय के प्रधानाचार्य, जिला विद्यालय निरीक्षक के माध्यम से नामित एजेन्सी को मांग प्रेषित करेंगे। जनशक्ति उपलब्ध कराने के संबंध में विद्यालय के प्रधानाचार्य और उत्तर प्रदेश लघु उद्योग निगम के बीच अधिकतम 11 माह के लिए एक अनुबन्ध हस्ताक्षरित किया जाएगा।

यह भी पढ़ें...मण्डलायुक्त ने जैविक खेती का किया निरीक्षण, 70 वर्ष के जेपी सिंह के कार्यों को सराहा

न्यूनतम मजदूरी के बराबर पारिश्रमिक

 जारी दिशा-निर्देश के अनुसार आउटसोर्सिंग पर लिए गए कर्मचारी के पारिश्रमिक का निर्धारण लघु उद्योग निगम कानपुर द्वारा किया जाएगा, जो श्रमायुक्त द्वारा तय न्यूनतम मजदूरी के बराबर होगा। नामित एजेन्सी द्वारा कार्मिक को दिए जाने वाले मासिक पारिश्रमिक का अधिकतम 10 प्रतिशत सेवा शुल्क के रूप में लिया जाएगा। आउटसोर्सिंग से लिए गए कार्मिक माध्यमिक शिक्षा विभाग के कार्मिक नहीं माने जाएंगे। ये कार्मिक संबंधित विद्यालय के प्रधानाचार्य के नियंत्रण में रहेंगे।

Web Title: Outsourcing will be filled in vacant posts of Class IV category in secondary schools ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया