मुख्य समाचार
ममता के करीबी अधिकारी को आउटलुक नोटिस, एक साल तक नहीं जा सकेंगे​ विदेश राजौरी में पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी, एक किशोर घायल ममता बोलीं, सांप्रदायिकता का जहर फैलाकर बंगाल में जीती भाजपा चुनाव के बाद कांग्रेस पार्टी में होने जा रहा बड़ा फेरबदल, राहुल लगाएंगे मुहर श्रमिक की संदिग्ध मौत: परिजनों ने मुआवजे को लेकर किया हंगामा जब क्रीज पर दर्शकों ने कहा, धोखेबाज भाग जाओ CWC की बैठक में राहुल का फूटा गुस्सा, हार के लिए इन दिग्गज नेताओं को ठहराया जिम्मेदार हाईस्कूल पास के लिए DRDO में नौकरी का सुनहरा मौका, आज अंतिम दिन जनसुविधा केन्द्रों पर भी आधार से जोड़े जाएंगे राशन कार्ड माध्यमिक विद्यालयों को 28 मई तक सम्मिट करना होगा यू-डायस प्रपत्र इस नेता ने दे डाली मोदी सरकार को चुनौती, जानिए क्या कहा पूर्व सैनिक की मृत्यु पर मिलेगी सहायता बड़ी खबर: ममता बनर्जी ने कहा, अब सीएम नहीं रहना चाहती सड़क हादसों में महिला समेत आधा दर्जन घायल जेट के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल थे पत्नी सहित देश छोड़ने की फिराक में, एयरपोर्ट से हुए अरेस्ट मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने राष्ट्रपति को सौंपी जीते सांसदों की सूची
 

चार वर्षों की विफलता छिपाने के लिए केंद्र सरकार उठा रही राम मंदिर मुद्दा: डॉ. मसूद


SHUBHENDU SHUKLA 28/02/2018 10:31:29
261 Views

28-02-2018112756NationalLokD1

Lucknow. राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. मसूद अहमद ने मंगलवार को कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार चार वर्षों की विफलता छिपाने के लिए राम मंदिर और गंगा सफाई के मुद्दे को हवा दे रही है। डॉ. अहमद ने कहा कि राम मंदिर मुद्दा उठाकर भाजपा सरकार वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में साम्प्रदायिकता की भावना फैलाकर वोटों का धुव्रीकरण करना चाह रही है। जबकि वास्तविकता यह है कि देश की जनता भारतीय जनता पार्टी की मंशा समझ चुकी है। इसलिए 2019 के आम चुनाव में जनता का नया स्टार्टअप इण्डिया होगा।

यह भी पढ़ें...हुएर्टस ने मैंडी मूर को उनकी शादी से पहले दी सलाह

उन्होंने आश्चर्य प्रकट करते हुए कहा कि केन्द्र में जब-जब भाजपा की सरकार होती है तो देश से धन लेकर भागने की प्रक्रिया सामने आती है। मोदी सरकार में यह सिलसिला ललित मोदी से प्रारम्भ हुआ और विजय माल्या, नीरव मोदी, बीएम कोठारी जैसे हजारों करोड़ लेकर भागने वालों की सूची लगातार बढ़ती जा रही है।

यह भी पढ़ें...जाह्नवी की ऑनस्क्रीन मां ने सुनाया दिल का दर्द, श्रीदेवी बेस्ट एक्टर में एक, बेटियों के लिए चिंतित हूं

घोटाले के बाद पीएम चुप

डॉ. अहमद ने कहा कि प्रधानमंत्री जो स्वयं को देश का चौकीदार कहते थे अब पीएनबी बैंक घोटाला होने के बाद चुप हैं। वहीं उनके सिपहसालार तो कभी-कभी जुमलेबाजी करते नजर आ रहे हैं, परन्तु चौकीदार सुरक्षा देने में असमर्थ होने के कारण हतप्रभ हैं। उन्होंने कहा कि इसके पूर्व जब अटल बिहारी वाजपेई के नेतृत्व में केन्द्र सरकार बनी तो देश की सैकड़ों छोटी बड़ी फाइनेन्स कम्पनियां अरबों रुपया लेकर फरार हो गई थीं। जिनका पता आज तक नहीं लग सका है। वहीं अब बड़ी-बड़ी बातें बोलने वाले देश के हमदर्द बनकर जनता का ध्यान 70 साल की बात कहकर भटका रहे हैं।

यह भी पढ़ें...अन्ना केंड्रिक ने तंग कपड़े पहनने से किया इनकार

भगोड़ों को वापस लाएं

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि यदि थोड़ी सी भी नैतिकता प्रधानमंत्री तथा वित्त मंत्री व अन्य सहयोगियों के पास है तो देश से धन लेकर भागने वालों को किसी भी प्रकार खोजकर भारत लाएं। भले ही पूर्ववर्ती सरकार में भागे हों अथवा इस सरकार में। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के समय जो लोग विदेशों में जमा कालाधन वापस लाने और पाकिस्तान से लव लेटर लिखना बंद करने की बाते करते थे। आज वे पूर्णतया विफल दिखाई दे रहे हैं, क्योंकि देश को आर्थिक चोट पहुंचाने वाले सबसे बड़े दुश्मन होते हैं। 

Web Title: National Lok Dal said Ram Temple issue raising the issue to hide the failure ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया