मुख्य समाचार
मायावती ने फिर उठाया ये पुराना मुद्दा, कहा- भाजपा की साजिश में शामिल थे मुलायम आम उत्पादन के क्षेत्र को विस्तारित करने पर शोध करें : राज्यपाल RBI को फिर लगा बड़ा झटका, डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य ने अचानक दिया इस्तीफा सबके विकास से ही देश का विकास होगा : राज्यपाल पूर्व सैनिकों के लिए मेरे घर के दरवाजे 24 घंटे खुले : महापौर संयुक्ता भाटिया करणी सेना को डायरेक्टर ने दिया जवाब, दोनों पक्षों में घमासान ससुरालियों को नशीला पदार्थ खिलाकर शादी के दूसरे दिन ही अपने प्रेमी संग फरार हुई दुल्हन बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या करने वाला रिश्तेदार पुलिस के हत्थे चढ़ा विराट कोहली ने विश्व कप में किया ये कमाल और कर ली इस कप्तान की बराबरी BSP सांसद के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज, जा सकती है लोकसभा की सदस्यता ट्रिपल मर्डर से दहली दिल्ली, बुजुर्ग दंपति और नौकरानी की हत्या फिर वायरल हुई अनोखे अंदाज में प्रिया प्रकाश की फोटो, पहचानना हुआ मुश्किल कांग्रेस पार्टी को मिला नया राष्ट्रीय अध्यक्ष, राहुल गांधी का इस्तीफा मंजूर! सुहाना का पोल डांस सोशल मीडिया पर वायरल राजस्थान की जेल से भाग निकले दुष्कर्म और हत्या के तीन आरोपी शमी ने कहा, हमारी गेंदबाजी ने जीत अपनी झोली में डाल ली इंदौर में ऑनर किलिंग का मामला आया सामने, भाई ने गर्भवती बहन को मारी गोली ईरान पर हमले का खतरा टला नहीं, नए प्रतिबंध लगाने की तैयारी में अमेरिका सतर्कता अधिष्ठान ने शुरू की मायावती शासनकाल के 45 कर्मियों की भ्रष्टाचार व संपत्ति की जांच
 

अस्पताल प्रशासन सख्त, बिना पास के इमरजेंसी में नहीं कर सकेंगे इंट्री


SHUBHENDU SHUKLA 08/03/2018 11:03:45
341 Views

08-03-2018121454InBalrampurH1
Lucknow. मरीजों की सहूलियत और इलाज में व्यवधान खत्म करने के लिए बलरामपुर अस्पताल प्रशासन ने कड़ा कदम उठाया है। उठाये गये कदम के अनुसार अब बिना पास के कोई भी इमरजेंसी वार्ड में इंट्री नहीं कर सकेगा। एक मरीज की देखभाल के लिए सिर्फ दो ही तीमारदारों को पास जारी किया जाएगा। गेट पर तैनात सुरक्षाकर्मियों को इस आदेश का कड़ाई से पालन करने के निर्देश भी दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें...मंदिरा बेदी बनेंगी पुलिस अफसर, हॉट लुक देख उड़ जाएंगे...

इसलिए उठाया कदम

बलरामपुर अस्पताल 756 बेड का है। यहां इमरजेंसी ब्लॉक में 40 बेड हैं। जहां राजधानी के अलावा आसपास के जिलों से भी गंभीर मरीज हर दिन इलाज कराने आते हैं। गंभीर मरीजों के साथ ज्यादा लोगों के आने से इमरजेंसी में भीड़ होने से जहां मरीजों को दिक्कत होती हैं। वहीं इलाज करने में चिकित्सकों सहित अन्य कर्मियों को तरह-तरह की परेशानी उठानी पड़ती है। भीड़ को रोकने पर कई बार इमरजेंसी में तीमारदारों द्वारा हंगामा भी काटा जा चुका है।

साथ ही डॉक्टरों व कर्मियों से बदसलूकी करते हुए इलाज में लापरवाही बरतने के गलत आरोप भी लगाए जाते हैं। इससे बचने व गंभीर मरीजों का समय पर बेहतर इलाज करने के लिए अस्पताल प्रशासन ने अब इमरजेंसी ब्लॉक में बिना पास के इंट्री पर प्रतिबंध लगा दिया है, जबकि अस्पताल के सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक में यह पहले से लागू है।

यह भी पढ़ें...47 की उम्र में पूजा बेदी का इस बिजनेसमैन पर आया दिल, 5 को कर चुकी हैं डेट

मुफ्त में मिलेगा पास

अस्पताल के निदेशक डॉ. राजीव लोचन ने बताया कि इलाज व सुरक्षा के लिहाज से पास की व्यवस्था लागू की गई है। तीमारदारों को मुफ्त में पास बनाकर इमरजेंसी से दिया जाएगा। बिना पास के यदि कोई इमरजेंसी में दाखिल होने की कोशिश करते पाया गया तो उसके खिलाफ पुलिस से शिकायत की जाएगी।

यह भी पढ़ें...पंचायत की करतूत, लव मैरिज पर सुनाया फरमान, महिला से सबके सामने करवाया...

अस्पताल को मिली  एंबुलेंस

मरीजों की सहूलियत के लिए बलरामपुर अस्पताल को सरकार की ओर से बुधवार को एक एडवांस लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस मुहैया करा दी गई। बलरामपुर अस्पताल के निदेशक डॉ. राजीव लोचन ने बताया कि अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस यह एएलएस एंबुलेंस (108 ) अस्पताल परिसर में ही मौजूद रहेगी। अस्पताल प्रशासन और एंबुलेंस सेवा प्रदाता के आदेश पर यह एबुंलेंस मरीजों को सेवा उपलब्ध कराएगी। एएलएस एंबुलेंस के आने से अस्पताल में आने-जाने वाले मरीजों को काफी सहूलियत मिलेगी।

यह भी पढ़ें...आइटम सॉन्ग पर ये क्या बोल गईं शबाना आजमी

 लोकल परचेज पर निदेशक सख्त

बलरामपुर अस्पताल में बेहद जरुरतमंद मरीजों को ही लोकल परचेज की दवाइयां मिल सकेंगी। इसके लिए निदेशक डॉ. राजीच लोचन की ओर से कड़े निर्देश जारी कर दिए गए हैं। साथ ही सभी चिकित्सकों व फार्मासिस्टों को इस पर अमल करने को भी कहा गया है।
निदेशक ने बताया कि आगामी एक अप्रैल तक यह व्यवस्था लागू रहेगी। इसके बाद नया बजट मिलने पर लोकल परचेज की दवाइयों की खरीद में छूट दी जाएगी। बताया कि अस्पताल में मरीजों के लिए लोकल परचेज की दवाइयों की खरीद पर हर माह करीब 15 से 20 लाख रुपए खर्च होते हैं। 

यह भी पढ़ें...अक्षय ने कर ली दीवाली पर खास धमाके की तैयारी, ये होगी नई हिरोइन

लोकल परचेज पर दवाइयां

उन्होंने कहा कि  मार्च माह के पहले लोकल परचेज के लिए संभावित बजट से अधिक की दवाइयां खरीदी जा चुकी हैं। इसके दृष्टिगत यह कदम उठाए जा रहे हैं। बताया कि बेहद जरुरतमंद मरीज को ही लोकल परचेज पर दवाइयां दी जाएंगी। इसके लिए निदेशक से अनुमति लेनी होगी।

Web Title: In Balrampur Hospital Barring Embarrassed Emergency Ward ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया