मुख्य समाचार
भाजपा के लिए बिहार में बहार गिरीराज सिंह ने कन्‍हैया कुमार को पीछे छोड़ा नेवी में जाने का सुनहरा मौका, जल्द करें आवेदन बंगाल में भाजपा की टीएमसी को तगड़ी टक्कर, फिलहाल टीएमसी बढ़त पर राजस्थान में कांग्रेस कॉन्फीडेंस को करारा झटका, भाजपा का 25 लोकसभा सीटों पर क्लीन स्वीप Lucknow Election Result Live : बड़ी बढ़त की ओर राजनाथ सिंह चुनाव नतीजे दिन अगर हुआ ये तो बंद होगा शेयर बाजार का कारोबार रायबरेली में कांग्रेस की सोनिया गांधी आगे, भाजपा को झटका Uttar Pradesh Election Result Live : यूपी की 80 सीटों में बीजेपी ने 59 पर बनाई बढ़त शुरूआती रूझानों में यूपी में गठबंधन को नहीं मिलती दिख रही आशातीत सफलता नई नवेली दुल्हन को प्रेमी संग रंगे हाथ पकड़ा तो ससुरालियों ने रख दी ये शर्त एग्जिट पोल वाले ट्वीट को लेकर अनुपम खेर ने की विवेक ओबेरॉय की आलोचना, ईशा गुप्ता बोलीं... COA ने किया ऐलान, 22 अक्टूबर को होंगे बीसीसीआई के चुनाव पिता से लगाई एक शर्त के बाद इस महिला ने 15 वर्षों में किए 600 पोस्टमार्टम यहां निकली बंपर भर्ती, जल्द करें आवेदन KGMU : पल्मोनरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग ने किया भंडारे का आयोजन  ICC World Cup 2019 : टीम इंडिया इंग्लैंड हुई रवाना, धोनी को लेकर बनी यह रणनीति डीएम-एसपी ने लिया मतगणना स्थल पर तैयारियों का जायजा, तैयारियां पूरी मध्य कमान ने केन्द्रीय विद्यालय के छात्रों को कराया सीमा दर्शन नाराज तीन विधायक दे सकते हैं राजभर को झटका  सुप्रीम कोर्ट के बाद चुनाव आयोग ने दिया विपक्ष को झटका
 

आंखों की यह जांच जरूरी, वरना....


SANDEEP PANDEY 13/03/2018 13:16:48
1080 Views

13-03-2018150048Thiseyecheck2

LUCKNOW.  ग्लूकोमा (काला मोतिया/सम्बलबाई) का तीन दिवसीय जांच शिविर 14 मार्च से पीजीआई के नेत्र रोग विभाग में आयोजित किया जा रहा है। यहॉ जांच नवीन ओपीडी के पांचवे तल पर स्थित नेत्र विभाग में होगी।

नेत्र विभाग की प्रमुख डॉ. कुमुदनी शर्मा ने बताया कि 11 मार्च से 18 मार्च के बीच विश्व ग्लूकोमा सप्ताह मनाया जा रहा है। इस सप्ताह के तहत नेत्र रोग विभाग द्वारा आयोजित ग्लूकोमा शिविर में मरीजों की नि:शुल्क जांच की जाएगी। यह जांच सुबह नौ बजे से दोपहर एक बजे के बीच होगी।

यह भी पढ़ें- अभिनेत्री श्रीदेवी को नृत्य प्रस्तुति से किया नमन

अधिक उम्र में ग्लूकोमा जांच जरूरी

डॉ. वैभव जैन बताते हैं कि 40 वर्ष से अधिक की उम्र के लोगों को ग्लूकोमा की जांच जरूरी करानी चाहिए। खासकर ऐसे लोग जिन्हें मधुमेह, उच्च रक्त चाप या परिवार के किसी सदस्य को पहले से ग्लूकोमा की परेशानी है। उनके लिए यह जांच जरूरी है। जांच के इच्छुक मरीज डॉ. वैभव जैन (मोबाइल नम्बर 8004221398) या विभाग के यूडीए व पीजीआई कर्मचारी महासंघ के उपाध्यक्ष धर्मेश कुमार से संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें- अभिनेत्री श्रीदेवी को नृत्य प्रस्तुति से किया नमन

ग्लूकोमा को नजर अंदाज न करें

नेत्ररोग विभाग के डॉ. वैभव जैन बताते हैं कि ग्लूकोमा गंभीर बीमारी है। इसमें मरीज के आंखों की रोशनी चली जाती है। ग्लूकोमा विश्व में अंधेपन का दूसरा कारण है। डॉ. जैन कहते हैं कि ग्लूकोमा की वजह से आंख पर दबाव पड़ता है। जिसकी वजह से आंख की मुख्य नस (आप्टिक नर्व) क्षतिग्रस्त हो जाती हैं। नर्व के क्षतिग्रस्त होने से रोशनी चली जाती है। ऐसी स्थिति में मरीज की एक बार रोशनी जाने के बाद दोबारा वापस नहीं आती है। वो बताते हैं कि 40 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों में ग्लूकोमा होने की आंशका ज्यादा होती है। लिहाजा लोगों की नियमित जांच करानी चाहिए। विभाग 14 मार्च को ग्लूकोमा की जागरुकता हेतु मिनी ऑडीटोरियम में व्याख्यान का आयोजन भी कर रहा है।

Web Title: This eye check is important otherwise .... ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया