मुख्य समाचार
ममता के करीबी अधिकारी को आउटलुक नोटिस, एक साल तक नहीं जा सकेंगे​ विदेश राजौरी में पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी, एक किशोर घायल ममता बोलीं, सांप्रदायिकता का जहर फैलाकर बंगाल में जीती भाजपा चुनाव के बाद कांग्रेस पार्टी में होने जा रहा बड़ा फेरबदल, राहुल लगाएंगे मुहर श्रमिक की संदिग्ध मौत: परिजनों ने मुआवजे को लेकर किया हंगामा जब क्रीज पर दर्शकों ने कहा, धोखेबाज भाग जाओ CWC की बैठक में राहुल का फूटा गुस्सा, हार के लिए इन दिग्गज नेताओं को ठहराया जिम्मेदार हाईस्कूल पास के लिए DRDO में नौकरी का सुनहरा मौका, आज अंतिम दिन जनसुविधा केन्द्रों पर भी आधार से जोड़े जाएंगे राशन कार्ड माध्यमिक विद्यालयों को 28 मई तक सम्मिट करना होगा यू-डायस प्रपत्र इस नेता ने दे डाली मोदी सरकार को चुनौती, जानिए क्या कहा पूर्व सैनिक की मृत्यु पर मिलेगी सहायता बड़ी खबर: ममता बनर्जी ने कहा, अब सीएम नहीं रहना चाहती सड़क हादसों में महिला समेत आधा दर्जन घायल जेट के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल थे पत्नी सहित देश छोड़ने की फिराक में, एयरपोर्ट से हुए अरेस्ट मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने राष्ट्रपति को सौंपी जीते सांसदों की सूची कानपुर में पांच मंजिला इमारत में लगी भीषण आग जीत के बाद जल्द काशी पहुंचेंगे पीएम मोदी, तैयारियों में जुटा प्रशासन
 

घरों की धूल हो सकती है घातक


SANDEEP PANDEY 13/03/2018 15:59:01
1104 Views

13-03-2018161757Dustofhouses2

LUCKNOW.   आप के घरों की धूल ही आप के लिये खतरनाक है क्योकि घरों में सोफा, परदा, कालीन व टैडीबियर पर जमी धूल से एलर्जी का खतरा बढ़ रहा है। इससे बचने के लिए लोगों को साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। यह जानकारी सोमवार को केजीएमयू के रेस्पराइरेटरी मेडिसिन के अध्यक्ष डॉ. सूर्यकांत ने दी।

यह भी पढ़ें- आंखों की यह जांच जरूरी, वरना....

उन्होंने बताया कि देश में बीस से पच्चीस फीसदी लोग किसी न किसी एलर्जी से पीड़ित हैं। एलर्जी के चलते दमा, नजला और आर्टिकेरिया जैसी बीमारियां लोगों को जकड़ती हैं। एलर्जी को लेकर समाज में अभी बहुत उदासीनता है, लेकिन इस क्षेत्र में तमाम प्रकार की नई दवाएं आ चुकी हैं। पहले एलर्जी से उपचार के लिए इंजेक्शन लगवाने पड़ते थे, लेकिन अब ऐसी दवाएं आयी हैं, जिन्हें टेबलेट के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि पहले पराग कणों से एलर्जी होने पर मरीजों की संख्या बढ़ती थी, लेकिन अब इन हाउस पलूशन बड़ा कारण बना है। घरों के पर्दे, सोफा, कालीन और टैडीबियर आदि पर जमा धूल से एलर्जी होने की आशंका बढ़ गई है।

Web Title: Dust of houses may be fatal ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया