मुख्य समाचार
ममता के करीबी अधिकारी को आउटलुक नोटिस, एक साल तक नहीं जा सकेंगे​ विदेश राजौरी में पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी, एक किशोर घायल ममता बोलीं, सांप्रदायिकता का जहर फैलाकर बंगाल में जीती भाजपा चुनाव के बाद कांग्रेस पार्टी में होने जा रहा बड़ा फेरबदल, राहुल लगाएंगे मुहर श्रमिक की संदिग्ध मौत: परिजनों ने मुआवजे को लेकर किया हंगामा जब क्रीज पर दर्शकों ने कहा, धोखेबाज भाग जाओ CWC की बैठक में राहुल का फूटा गुस्सा, हार के लिए इन दिग्गज नेताओं को ठहराया जिम्मेदार हाईस्कूल पास के लिए DRDO में नौकरी का सुनहरा मौका, आज अंतिम दिन जनसुविधा केन्द्रों पर भी आधार से जोड़े जाएंगे राशन कार्ड माध्यमिक विद्यालयों को 28 मई तक सम्मिट करना होगा यू-डायस प्रपत्र इस नेता ने दे डाली मोदी सरकार को चुनौती, जानिए क्या कहा पूर्व सैनिक की मृत्यु पर मिलेगी सहायता बड़ी खबर: ममता बनर्जी ने कहा, अब सीएम नहीं रहना चाहती सड़क हादसों में महिला समेत आधा दर्जन घायल जेट के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल थे पत्नी सहित देश छोड़ने की फिराक में, एयरपोर्ट से हुए अरेस्ट मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने राष्ट्रपति को सौंपी जीते सांसदों की सूची
 

बहन जी ने अखिलेश यादव से बताया इस तरह से दोनों प्रत्याशियों की हुई ऐतिहासिक जीत..


RAGHVENDRA CHAURASIA 15/03/2018 12:13 PM
3494 Views

15-Mar-2018Xv6VNUXqCo1Lucknow. उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सपा की ऐतिहासिक जीत की बधाई देने के लिए बसपा सुप्रीमो मायावती के घर पहुंचे थे।। अखिलेश यादव व मायावती की मुलाकात तकरीबन 45 मिनट तक चली थी। इस खास मुलाकात में राज्यसभा व जीत को लेकर चर्चा हुई।

यह भी पढ़ें... उपचुनाव में जीत के बाद बसपा सुप्रीमो के घर पहुंचे अखिलेश, 1 घंटे तक चली मुलाकात

बसपा के कार्यकर्ता गांव-गांव जाकर सपा के लिए मांगे वोट

​अखिलेश यादव रात करीब पौने नौ बजे राज्यसभा सांसद संजय सेठ के साथ माल एवेन्यू पहुंचे। करीब 23 साल तक एक-दूसरे के धुर विरोधी रहे दोनों दलों के प्रमुखों की यह पहली मुलाकात थी। अखिलेश ने मायावती को गुलदस्ता देकर जीत दिलाने के लिए आभार किया। इसके बाद मायावती ने अखिलेश को बताया कि कैसे बसपा के काडर ने गांव -गांव जाकर सपा प्रत्याशी के लिए वोट मांगे। अखिलेश ने यह बात सुनकर सभी बसपा काडरों को धन्यवाद कहा। 

राज्यसभा में वोट मैनेज कैसे हो

राज्यसभा चुनाव में भाजपा ने दस सीटों के लिए 11 प्रत्याशी खड़े किए हैं।  सपा और बसपा ने एक-एक प्रत्याशी मैदान में उतार हैं। सपा ने अपने बचे हुए 10 वोट बसपा प्रत्याशी को दिलवाने का वादा किया था। पर नरेश अग्रवाल के जाने के बाद उनक बेटे का एक वोट भाजपा को जा सकता है। मायावती को चिंता है ​कि जीत के लिए 37 वोट पूरे न हो पाएं। बसपा के पास अभी अपने 19 वोट सपा के नौ वोट कांग्रेस के सात और आरएलडी का एक वोट मिलाकर 36 वोट हो रहे हैं। एक वोट मैनेज करना है। इसी वजह से अखिलेश सपा के कोषाध्यक्ष राज्यसभा सांसद संजय सेठ को साथ ले गए थे। संजय सेठ आर्किटेक्ट हैं। जो सपा के नेताओं के साथ बसपा नेता का मकान भी डिजाइन कर चुके हैं। 

यह भी पढ़ें... बड़ी ख़बर: डीएम का अजीबोगरीब फैसला, मतगणना स्थल पर मीडिया का प्रवेश बैन

 

Web Title: The sister told Akhilesh Yadav in this way the historical victory of both the candidates .. ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया