मुख्य समाचार
रॉबर्ट वाड्रा की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, ईडी ने अग्रिम जमानत निरस्त करने की मांग मोहनलालगंज में बसपा चौथी बार दूसरे स्थान पर डॉ. ओ.पी.चौधरी ने संभाला भारतीय जीव जंतु कल्याण बोर्ड के चेयरमैन का कार्यभार अपने बयान में फंसे सिद्धू, सोशल मीडिया पर हो रही जमकर खिंचाई सेवक के रूप में करूॅगी जनता की सेवा : साध्वी संसद तक पहुंचने में सफल हुई यह 11 महिलाएं करेंगी यूपी का नेतृत्व  दोबारा चुनाव जीतकर कौशल ने रचा इतिहास बाइक की टक्कर से साइ​किल सवार महिला की मौत, बेटी घायल शाकिब-अल-हसन का विश्व कप को लेकर आया बड़ा बयान गंभीर ने की राजनीतिक करियर की शुरुआत, इतने वाटों से दर्ज की जीत ऐसा हुआ तो आज़म खान लोकसभा की सदस्यता से खुद दे देंगे इस्तीफा! पुलिस ने किया लूट की वारदात से इंकार, आपसी रंजिश का गहराया शक  आजम खान का बड़ा बयान, तो दे दूंगा लोकसभा सदस्यता से इस्तीफा भाजपा व मीडिया को लेकर आपत्तिजनक पोस्ट पर मुकदमा दर्ज, अभियुक्त भेजा गया जेल FIFA World Cup: हो गया निर्णय 2022 टूर्नामेंट में खेलेंगी 32 टीमें बुंदेलखंड की सभी 4 सीटें भाजपा के खाते में 52 सीटों पर सिमटी कांग्रेस, अपनी पारम्परिक ​सीट से हाथ धो बैठे राहुल गांधी भाजपा के सहयोगी अपना दल (एस) ने उप्र की दो सीटों विजयी सुरक्षा बलों ने आतंकी सरगना मूसा को ढेर कर दिया पीएम मोदी की जीत का तोहफा
 

गोरखपुर-फूलपुर में बीजेपी को धूल चटाई, अब अखिलेश-माया के निशाने पर हैं ये सीटें


RAGHVENDRA CHAURASIA 17/03/2018 17:59 PM
5210 Views

17-Mar-20180Fwi5rXKvw1Lucknow. उत्तर प्रदेश की दो लोकसभा सीटों को सपा व बसपा ने मिलकर भाजपा से छीन ली है जिसके बाद से योगी सरकार की नींद उड़ गई है। अब बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती व सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव बीजेपी को हराने के लिए दो और सीट पर दांव लगाये बैठे हैं। इसके लिए दोनों पार्टियां मिलकर रणनीति बनाने में लगी हुई हैं। 

दो सीट पर होना है चुनाव

उत्तर प्रदेश की दो लोकसभा सीट पर उपचुनाव हो चुका है जिस पर बसपा की मदद से सपा के दो प्रत्याशी जीत चुके हैं। वहीं अब दो और सीटों पर चुनाव होना है जिसकी तैयारियां राजनीतिक दल करने लगे हैं। यूपी के कैराना सांसद हुकुम सिंह व बीजेपी विधायक लोकेन्द्र सिंह के निधन से खाली हैं। बहुजन समाज पार्टी व सपा मिलकर इन दो सीटों पर मिलकर बीजेपी को एक बार फिर परास्त कर सकते हैं। 

आपको बता दें कि कैराना सीट पर हुकुम सिंह से पहले लोकदल का कब्जा था। वहीं 2009 में बसपा प्रत्याशी तब्बसुम बेगम ने बीजेपी के हुकुम सिंह को 20 हजार वोटों से परास्त किया था।

Web Title: After the dusting of BJP in Gorakhpur and Phulpur, Noorpur byelection of Kairana and Sitapur ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया