मुख्य समाचार
भाजपा के लिए बिहार में बहार गिरीराज सिंह ने कन्‍हैया कुमार को पीछे छोड़ा नेवी में जाने का सुनहरा मौका, जल्द करें आवेदन बंगाल में भाजपा की टीएमसी को तगड़ी टक्कर, फिलहाल टीएमसी बढ़त पर राजस्थान में कांग्रेस कॉन्फीडेंस को करारा झटका, भाजपा का 25 लोकसभा सीटों पर क्लीन स्वीप Lucknow Election Result Live : बड़ी बढ़त की ओर राजनाथ सिंह चुनाव नतीजे दिन अगर हुआ ये तो बंद होगा शेयर बाजार का कारोबार रायबरेली में कांग्रेस की सोनिया गांधी आगे, भाजपा को झटका Uttar Pradesh Election Result Live : यूपी की 80 सीटों में बीजेपी ने 59 पर बनाई बढ़त शुरूआती रूझानों में यूपी में गठबंधन को नहीं मिलती दिख रही आशातीत सफलता नई नवेली दुल्हन को प्रेमी संग रंगे हाथ पकड़ा तो ससुरालियों ने रख दी ये शर्त एग्जिट पोल वाले ट्वीट को लेकर अनुपम खेर ने की विवेक ओबेरॉय की आलोचना, ईशा गुप्ता बोलीं... COA ने किया ऐलान, 22 अक्टूबर को होंगे बीसीसीआई के चुनाव पिता से लगाई एक शर्त के बाद इस महिला ने 15 वर्षों में किए 600 पोस्टमार्टम यहां निकली बंपर भर्ती, जल्द करें आवेदन KGMU : पल्मोनरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग ने किया भंडारे का आयोजन  ICC World Cup 2019 : टीम इंडिया इंग्लैंड हुई रवाना, धोनी को लेकर बनी यह रणनीति डीएम-एसपी ने लिया मतगणना स्थल पर तैयारियों का जायजा, तैयारियां पूरी मध्य कमान ने केन्द्रीय विद्यालय के छात्रों को कराया सीमा दर्शन नाराज तीन विधायक दे सकते हैं राजभर को झटका  सुप्रीम कोर्ट के बाद चुनाव आयोग ने दिया विपक्ष को झटका
 

मांगों को लेकर कर्मचारी संगठन की भूख हड़ताल जारी


SHUBHENDU SHUKLA 21/03/2018 23:40:15
363 Views

21-03-2018234626Employeesorg1
Lucknow. स्वायत्त शासन कर्मचारी संगठन की भूख हड़ताल 8 सूत्रीय मांगो को लेकर बुधवार को भी जारी रहा। संगठन के प्रांतीय महामंत्री अशोक गोयल ने कहा कि 9 मार्च को रैली के दौरान मुख्यमंत्री को निकाय मांगों के निराकरण के लिए ज्ञापन सौंपा था। लेकिन उनकी मांगों को अनसुना कर दिया गया।

यह भी पढ़ें...बेटी से 15 साल तक बनाया अवैध संबंध, पत्नी ने भी दिया साथ, बनी दो बच्चों की...

आंदोलन होगा उग्र

आन्दोलन का समर्थन करते हुए हरिकिशोर तिवारी अध्यक्ष राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद ने कहा कि 2001 से पूर्व कार्यरत कर्मचारियों की सेवा समाप्ति के निर्णय को वापस लेकर सेवारत कर्मचारियेां की बहाली किया जाए, उक्त शासनादेश रद्द कर कर्मचारियों की सेवा बहाल करें, निकायों में लिपिकीय संवर्ग, राजस्व संवर्ग, लेखा संवर्ग में व्याप्त विसंगतियों को दूर किया जाए।

यह भी पढ़ें...सिक्ख कैदियों के ​लिए संघर्षरत थे समाजसेवी खालसा, टैंक में कूदकर की आत्महत्या

निकाय में कार्यरत संविदा श्रमिकों को न्यूनतम वेतन 18000 हजार रूपये भुगतान किया जाए। ईपीएफ एवं ईएसआई की परीधि में लाया जाए, दैनिक वेतन कर्मचारियों को नियुक्ति तिथि से सेवा अवधि जोड़ते हुए पेंशन का लाभ दिया जाने समेत अन्य मांगों को पूरी की जाए। उन्होंने कहा कि यदि सरकार संगठन की मांगों को परा नहीं करती है, तो आंदोलन और भी उग्र होगा।

Web Title: Employees' organization hunger strike on demands in lucknow ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया