मुख्य समाचार
हंगामे की भेंट चढ़ा विधानसभा के मानसून सत्र का पहला दिन  प्रियंका को लेकर चुनार पहुंची पुलिस; सैकड़ों की संख्या में कांग्रेस समर्थक मौजूद नारेबाजी जारी लखनऊ में शिवसेना का सदस्यता अभियान शुरू  जिला पंचायत सदस्य पर प्लाट कब्जाने का आरोप, एंटी भूमाफिया पोर्टल पर शिकायत  टैंपो चालकों ने किया हंगामा, भाजपा सांसद के पुत्र के करीबियों और पुलिस पर लगा वसूली का आरोप  फोरम के आदेश की नाफरमानी लखनऊ डीएम को पड़ी भारी, वेतन रोकने के आदेश अजय कुमार लल्लू बोले - जमीनी विवाद नहीं, सामूहिक नरसंहार है घोरावल कांड जमीनी विवाद नहीं, सामूहिक नरसंहार है घोरावल कांड : अजय कुमार लल्लू सुरक्षा प्रबंध सराहनीय हैं, लेकिन मेरी सुरक्षा का दायरा कम से कम रखें : प्रियंका वाड्रा
 

जानिए क्रिकेटर पांड्या ने कैसे दी आंबेडकर पर विवादित टिप्पणी मामले में सफाई


SUJEET KUMAR 23/03/2018 11:46:34
9644 Views

hardik pandya

Lucknow. टीम इंडिया के ऑलराउंडर खिलाड़ी हार्दिक पांड्या ने डॉ. भीमराव आंबेडकर पर विवादित टिप्पणी करने वाले मामले पर अपनी सफाई दी है। पांड्या में आंबेडकर पर विवादित टिप्पणी करने वाले मामले को खारिज करते हुए कहा है कि ये टिप्पणी एक फर्जी अकाउंट से की गई है। साथ ही इसमें उनके नाम और तस्वीर का गलत तरीके से इस्तेमाल किया गया है। पांड्या ने कहा, उनके मन में अांबेडकर के प्रति अत्यंत आदर और सम्मान है। 

My statement. pic.twitter.com/P67YZLJqsl 

— hardik pandya (@hardikpandya7) March 22, 2018

23-03-2018115742hardikpandya2

पांड्या ने ट्वीट कर अपना बयान देते हुए कहा, यह टिप्पणी फर्जी खाते से की गई है, जिसमें उनके नाम और तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है। पांड्या ने कहा कि वह कोर्ट से अपना नाम इस मामले से हटाने की अपील करेंगे। इस बात को साबित करेंगे कि यह ट्वीट फर्जी है और मैंने नहीं किया है, मैं अदालत में जरूरी सबूत उपलब्ध कराऊंगा। मैं इस मुद्दे को उठाऊंगा कि मेरी पहचान लेकर एक जालसाज ने यह पोस्ट की ताकि मेरी छवि को नुकसान पहुंचे, जो एक ऐसी समस्या है जिसका सामना आज के समय देश में कई जानी पहचानी शख्सियतों को लगातार करना पड़ रहा है। 

यह भी पढ़ें...आंबेडकर पर विवादित टिप्पणी : इस खुलासे के बाद, पांड्या ने ली चैन की सांस

गौरतलब है कि पांड्या के खिलाफ जोधपुर की एक अनुसूचित जाति-जनजाति अदालत ने डॉ. भीमराव आंबेडकर पर विवादित टिप्पणी करने पर FIR दर्ज करने का आदेश दिया था। पांड्या पर भारतीय संविधान निर्माता भीमराव आंबेडकर के खिलाफ विवादित टिप्पणी करने का आरोप लगा था। पंड्या के खिलाफ याचिका दाखिल करने वाले डीआर मेघवाल का कहना है, कि पंड्या ने 26 दिसंबर, 2017 को अपने ट्विटर अकाउंट पर भीमराव आंबेडकर को लेकर एक टिप्पणी की थी। उनका कहना है कि पंड्या ने ट्विटर पर आंबेडकर को अपमानित किया है और दलित समुदाय के लोगों की भावनाओं को आहत किया है। 

23-03-2018120314hardikpandya3

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो ये ट्वीट हार्दिक पांड्या के आधिकारिक अकाउंट ने नहीं किया गया है। अदालत ने जिस टि्वटर अकाउंट के मद्देनजर FIR दर्ज करने का आदेश दिया था वह @sirhardik3777 है।

23-03-2018120341hardikpandya4

जबकि हार्दिक पांड्या का आधिकारिक अकाउंट @hardikpandya7 है।

Web Title: hardik pandya statements controversial tweet on BR Ambedkar ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया