मुख्य समाचार
पाकिस्तानी बल्लेबाज आसिफ अली की बेटी की मौत, कैंसर का थी शिकार राज्यपाल ने ‘मधु अभिलाषा’ और ‘हिंद स्वराज्य का पुनर्पाठ’ पुस्तकों का किया विमोचन कांग्रेस अंतिम चरण की सात से ज्यादा लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज करेगी: प्रवक्ता पाकिस्तान की दो बेटियों ने काशी में किया मतदान, बोलीं बेहतरीन है हिंदुस्तान IPL को लेकर हुआ बड़ा खुलासा, मुंबई पुलिस ने IPL में मुहैया कराई सुरक्षा, नहीं मिला पैसा सीआईएसएफ ने दो सूडान मूल के नागरिकों से बरामद की लाखों की विदेशी करेंसी प्रेम नारायण मेहरोत्रा के 'भजन संग्रह' का विमोचन लड़कियों के लिए सुनहरा मौका, बालों से होगी कमाई, करना होगा ये काम राजधानी में टेंट कारोबारी की राह चलते गोली मारकर हत्या से मची सनसनी वोटर लिस्ट में तेजस्वी की जगह इस शख्स की तस्वीर, मचा हड़कंप आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर वॉल्वो बस पलटी, पांच की मौत, दो दर्जन घायल चुनाव आयोग पीएम मोदी के इशारे पर कर रहा पक्षपातपूर्ण बर्ताव : कांग्रेस आयोग में आंतरिक घमासान के निपटारे के लिए सीईसी ने मंगलवार को बुलाई बैठक मायावती ने कहा- क्या वाराणसी 1977 के रायबरेली को दोहराएगा कान फिल्म फेस्टिवल 2019 में जलवा बिखेरकर लौटीं दीपिका पादुकोण, एयरपोर्ट पर वायरल हुईं तस्वीरें समीक्षा अधिकारी पर्चा लीक मामले में सीबीसीआईडी ने कोर्ट को भेजी अंतिम रिपोर्ट भाजपा ने चुनाव आयोग से की मायावती-अखिलेश की शिकायत  दो अलग अलग घटनाओं में जहरीला पदार्थ खाने से युवती और किशोरी की मौत
 

विन मिन्त बने म्यांमार के नये राष्ट्रपति, आंग सान सू ची के हैं करीबी


PRADEEP CHANDRA JOSHI 28/03/2018 18:54:43
8775 Views

Win myint Myanmar

Nipithavah. म्यांमार की संसद ने आज अपने देश के नये राष्ट्रपति के रूप में विन मिन्त को निर्वाचित किया है। संसद के अध्यक्ष मान बिन खाइंग ने घोषणा करते हुए कहा कि बहुमत पाने वाले यू (आदरसूचक) विन मिन्त को देश का राष्ट्रपति निर्वाचित किया जाता है।

यह भी पढ़ें... पाकिस्तानी पीएम की अमेरिकी एयरपोर्ट पर हुई गहन जांच

पूर्व राष्ट्रपति ने अचानक छोड़ दिया था पद

विन मिन्त को आंग सान सू ची का करीबी माना जाता है। देश के शीर्ष स्तरीय नीति-निर्धारण की प्रक्रिया पर विन मिन्त उनकी मजबूत पकड़ है। बता दें कि पूर्व राष्ट्रपति हतिन क्याव ने आराम की जरूरत बताते हुए पिछले हफ्ते एका-एक पद से त्याग पत्र दे दिया था। इसके बाद 66 वर्ष के विन मिन्त को राष्ट्रपति पद के लिए चुना गया। सेना द्वारा तैयार किए गए संविधान के तहत सू ची के राष्ट्रपति पद के लिए निर्वाचित होने पर रोक लगी हुई है। क्यों कि सूची ने एक विदेशी से शादी की है और इस शादी से सू ची के 2 बेटे भी हैं  और देश के संविधान के तहत वह राष्ट्रपति पद की हकदार नहीं हैं।

यह भी पढ़ें... बांग्लादेश में अब तक पहुंच चुके हैं 7 लाख तक रोहिंग्या : बंगलादेशी राजदूत

सूची नहीं बन सकती हैं राष्ट्रपति

सू ची साल 2015 में अपनी पार्टी के ऐतिहासिक जीत के बाद से स्टेट काउंसलर हैं और वह घोषणा कर चुकी हैं कि वे राष्ट्रपति से ऊपर रहते हुए काम करेंगी। बहरहाल, उनके पद की कोई आधिकारिक संवैधानिक भूमिका नहीं है। इससे सू ची के लिए अपनी किसी करीबी को राष्ट्रपति बनाना जरूरी है ताकि वह अप्रत्यक्ष रूप से सहजतापूर्वक देश पर शासन कर सकें।

Web Title: Win myint Myanmar's new President,Aung San Suu Kyi's are close ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया