मुख्य समाचार
नई नवेली दुल्हन को प्रेमी संग रंगे हाथ पकड़ा तो ससुरालियों ने रख दी ये शर्त एग्जिट पोल वाले ट्वीट को लेकर अनुपम खेर ने की विवेक ओबेरॉय की आलोचना, ईशा गुप्ता बोलीं... COA ने किया ऐलान, 22 अक्टूबर को होंगे बीसीसीआई के चुनाव पिता से लगाई एक शर्त के बाद इस महिला ने 15 वर्षों में किए 600 पोस्टमार्टम यहां निकली बंपर भर्ती, जल्द करें आवेदन KGMU : पल्मोनरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग ने किया भंडारे का आयोजन  ICC World Cup 2019 : टीम इंडिया इंग्लैंड हुई रवाना, धोनी को लेकर बनी यह रणनीति डीएम-एसपी ने लिया मतगणना स्थल पर तैयारियों का जायजा, तैयारियां पूरी मध्य कमान ने केन्द्रीय विद्यालय के छात्रों को कराया सीमा दर्शन नाराज तीन विधायक दे सकते हैं राजभर को झटका  सुप्रीम कोर्ट के बाद चुनाव आयोग ने दिया विपक्ष को झटका स्पा सेंटर की आड़ में चल रहा था सेक्स रैकेट, इस तरह पुलिस ने किया पर्दाफाश मायावती का बड़ा एक्शन, इस दिग्गज नेता को पार्टी से किया बाहर मौसी के घर आयी बच्ची का तालाब में उतराता मिला शव साढ़े छह लाख की शराब के साथ एसटीएफ के हत्थे चढे़ दो तस्कर 28वीं पुण्य तिथि पर याद किए गए पूर्व पीएम राजीव गांधी BSP की जगह BJP को वोट देना महिला को पड़ा भारी, पति ने फावड़े से काटकर की हत्या पूर्व मंत्री और बसपा के कद्दावर नेता को पार्टी ने दिखाया बाहर का रास्ता पूर्व मंत्री और बसपा के कद्दावर नेता को पार्टी ने दिखाया बाहर का रास्ता  लोकसभा चुनाव खत्म होते ही बंद हुआ नमो टीवी, भाजपा ने दिए थे इतने लाख रुपए सीडीओ ने देवलान गौशाला का किया निरीक्षण बड़ा मंगल दे रहा है दस्तक, लखनऊ मेट्रो की सवारी कर बचें धूप और जाम से आजम खान के खिलाफ आचार संहिला उल्लंघन के 13 मामलों में आरोप पत्र दाखिल
 

किम जोंग के चीन दौरे के बाद प्योंगयांग के रिएक्टर में गतिविधि बढ़ी


PRADEEP CHANDRA JOSHI 29/03/2018 16:01:29
7028 Views

newstimes.co.in

Peaching. किम जोंग के अचानक चीन दौरे के बाद ये अटकलें तेज हो गई हैं कि किम जोंग अपने परमाणु कार्यक्रम के प्रसार को रोकने के लिए ही चीन से सलाह करने पहुंचा था। चीन पहुंचने के बाद यह कहा गया था कि किम ने परमाणु प्रसार रोकने का संकल्प लिया है। लेकिन किम की इस सच्चाई पर सवाल भी उठ रहे हैं।

यह भी पढ़ें... विन मिन्त बने म्यांमार के नये राष्ट्रपति, आंग सान सू ची के हैं करीबी

प्योंगयांग के परमाणु रिएक्टर में बढ़ी गतिविधि

किम जोंग उन के दौरे से पहले गुप्त रखने की कोशिश की गई थी। यह उनका सत्ता संभालने के बाद किसी देश का पहला विदेशी दौरा था। किम के परमाणु प्रसार रोकने को लेकर जो सवाल उठ रहे है उनके पीछे कारण यह है कि कुछ सैटेलाइट तस्वीरों में प्योंगयांग के उत्तरी हिस्से में स्थित रिएक्टर में गतिविधि बढ़ी है, जिसके बाद यह कयास लगाए जा रहे हैं कि क्या किम का वादा सच्चा है। बता दें उत्तर कोरिया ने किम साम्राज्य के अस्तित्व के लिए महत्वपूर्ण परमाणु हथियारों के विकास को लंबे समय से देखा है।

यह भी पढ़ें... चीन कराएगा 10 अरब घन मीटर बारिश, तैयार कर रहा सबसे बड़ा प्रोजेक्ट

यांग बयान एटॉमिक रिसर्च सेंटर से भाप उठते देखी गई

ऐसे में प्योंगयांग की तरफ से परमाणु प्रसार को रोकने को लेकर किसी तरह के बयान न आने की वजह से भी किम के वादे पर शक जताया जा रहा है। हाल ही में एक रिपोर्ट पर आधारित खबर में कहा गया था कि सॉन्ग बयान एटॉमिक रिसर्च सेंटर से भाप उठते देखी गई थी और इसके आसपास हो रहे निर्माण से पता लगता है कि यहां टेस्टिंग शुरू की जा चुकी है। हालांकि यह रिएक्टर ऊर्जा उत्पादन के लिए स्थापित किया गया है। लेकिन इस उपयोग परमाणु हथियारों के विकास के लिए भी आसानी से किया जा सकता है और इसमें उपयोग होने वाली परमाणु सामग्री को हाइड्रोजन बम में भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें... बांग्लादेश में अब तक पहुंच चुके हैं 7 लाख तक रोहिंग्या : बंगलादेशी राजदूत

उत्तर कोरिया के तानाशाह के अचानक दौरे पर अमेरिकी राष्ट्रपति ने ट्वीट कर कहा कि उन्हें किम और चीन के बीच हुई वार्ता की जानकारी मिला है और वह किम से होने वाली बैठक को लेकर आशान्वित हैं, लेकिन इस दौरान प्योंगयांग पर लगे प्रतिबंध जारी रहेंगे।

Web Title: Activity in Pyongyang's reactor after Kim Jong's visit to China ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया