मुख्य समाचार
अमेठी: कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने धूम-धाम से मनाया राहुल गांधी का जन्मदिन एरिया कमांडर समेत 4 नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण हाईवे किनारे जड़ी बूटियां उगाकर यूपी सरकार सुधारेगी लोगों का स्वास्थ्य  लखनऊ: सीएम योगी ने लेखपालों को बांटे लैपटॉप लखनऊ में गर्मी का कहर, राज्य में 23 जून तक नहीं चलेंगे स्कूल अर्जुन पटियाला का पोस्टर्स हुआ रिलीज,फिल्म मे दिलजीत-कृति मुख्य भूमिका में पहली बार सांसद बने सनी देओल से हुई बड़ी चूक, जा सकती है लोकसभा की सदस्यता  सीवर सफाई करने चैंबर में उतरे दो कर्मचारी गैस से अचेत होकर डूबें, मौत नेहा धूपिया के चैट शो में पहुंची परिणीति चोपड़ा और सानिया मिर्जा गरीब मजदूर की मजदूरी नहीं दिला पा रही मलिहाबाद पुलिस इयोन मोर्गन ने तोड़ डाला छक्कों का सबसे बड़ा रिकॉर्ड, एक पारी में लगा दिए इतने छक्के संभल में भीषण सड़क हादसा, दो बच्चों समेत आठ की मौत सपा सांसद ने नहीं लगाया वंदे मातरम का नारा तो अखिलेश ने कह दी चौंकाने वाली बात मोदी सरकार ने किये ड्राइविंग लाइसेंस के नियमों में संशोधन, जानिए क्या है नियम? परिवहन मंत्री ने बांटे हेल्मेट, लोगों को किया जागरूक धर्मांतरण के विरोध में विहिप ने डीएम को सौंपा ज्ञापन महिला अपनी ताकत को पहचाने और समाज को यह संदेश दें कि नारी अबला नहीं अब सबला है : अनुपमा जायसवाल याचिका दायर कर पाकिस्तान की क्रिकेट टीम को बैन करने की मांग दलित हत्या मामले बहन जी के करीबी नेता को अखिलेश ने सौंपी अहम जिम्मेदारी प्रत्येक विकास खण्ड की दो पंचायतों को आदर्श पंचायत के रूप में विकसित किया जाय महिलाओं से जुड़ी समस्याओं के समाधान के लिए शिक्षा जरूरी : अनुपमा जायसवाल अवैध खनन मामले में दोषी पाए गए अधिकारी का तत्काल प्रभाव से स्थानान्तरण सड़क सुरक्षा सप्ताह के दूसरे दिन परिवहन मंत्री ने बांटे हेल्मेट, लोगों को किया जागरूक डीएम की बड़ी कार्रवाई, कानूनगो व लेखपाल सहित दो सस्पेन्ड यूपी में कमजोरों और बच्चियों की हत्याओं की आ गई है बाढ़ : अखिलेश क्रिकेट के बाद अब राजनीति की पिच पर भी पाकिस्तान को लग सकता है ये तगड़ा झटका अवैध रूप से संग्रह किये मिट्टी के तेल के साथ एक युवक गिरफ्तार निर्धनों को शिक्षा प्रदान करने के लिए होना चाहिए ह्यूमन टच : राज्यपाल पिता मुलायम को व्हील चेयर पर लेकर लोकसभा पहुंचे अखिलेश यादव
 

1 अप्रैल को प्रभु यीशु होंगे जीवित, ईसाई मनाएंगे ईस्टर पर्व


SHUBHENDU SHUKLA 31/03/2018 11:30:19
230 Views

The Lord Jesus will be alive on April 1 Christians will celebrate the Easter Feast

Lucknow. जुबां पर प्रभु यीशु के अंतिम सात वचन और कंधों पर सलीब उठाए चर्च की परिक्रमा लगाते भक्त। यह नजारा था 'गुड फ्राईडे पर शुक्रवार को कैथेड्रल चर्च परिसर में निकाले गए 'सलीब के जुलूस का। वहीं शहर के दूसरे गिरिजाघरों में भी ईसाई समुदाय के लोगों ने प्रभु के विश्व शांति, एकता और भाईचारे के संदेश को याद करते हुए यीशु मसीह की प्रार्थना की।

मान्यता है कि गुड फ्राइडे के दिन प्रभू यीशु को षड्यंत्र के तहत लटका दिया गया था। इसके बाद वह दोबारा जीवित हो गए थे और लोगों का उद्धार किया था। ऐसे में 1 अप्रैल को प्रभु यीशु दोबारा जन्म लेंगे। इस घड़ी का लोगों को बेसब्री से इंतजार है। 

यह भी पढ़ें...स्कंदमाता को खुश करने के लिए अपनाएं ये 10 उपाय

प्रार्थना सभा का आयोजन

कैथेड्रल चर्च में सुबह बिशप जेराल्ड जॉन मथायस की अगुवाई में प्रार्थना सभा हुई। इस दौरान ईसाई समुदाय के लोगों ने प्रभु यीशु के अंतिम सात वचनों को दोहरा कर उनके बलिदान को याद किया। इसके बाद शाम चार बजे चर्च परिसर में सलीब का जुलूस निकाला गया। भक्तों ने कंधों पर सलीब उठाकर प्रभु की यातनाओं और पीड़ा का मनन किया। 

The Lord Jesus will be alive on April 1 Christians will celebrate the Easter Feast

यह भी पढ़ें...देवी सिद्धिदात्री देंगी सिद्धि का वरदान, ऐसे करें मां की पूजा

कार्यक्रमों की प्रस्तुति

जुलूस के दौरान भक्तों ने 'क्रूस पे चढ़ के प्राण गंवाया जैसे आराधना गीत गाए। असेंबली ऑफ बिलीवर्स चर्च अलीगंज में गुड फ्राइडे पर कई कार्यक्रमों की प्रस्तुति हुई। क्रूस का मंजर नाटक का मंचन हुआ। इसमें प्रभु यीशु को सलीब के साथ चलते हुए दिखाया गया और बाद में सलीब पर चढ़ते हुए अपने प्राण त्यागने जैसे दृश्यों को बखूबी दर्शाया गया।

यह भी पढ़ें...जानें, ऐसे होते हैं ये शनिवार को जन्मे लोग
इसके बाद अनुराग डेनयिल ने प्रभु की याद में 'लकड़ी पे लटका नासरी देने को जिंदगी और ' जो क्रूस पे जाती है वो मेरी राह है आदि गीतों को गाकर भक्तों को भाव विभोर कर दिया। इस दौरान अलग-अलग वक्ताओं ने सातों वचनों का पाठ कर भक्तों को सभी के प्रति नम्रता का भाव रखने का संकल्प दिलाया। 

यह भी पढ़ें...जानें, अपना राशिफल, कैसा रहेगा 31 मार्च

क्षमा करने को कहा था

चर्च के पादरी कुमार मॉरिस ने सातों वचनों को बताते हुए कहा कि जब प्रभु यीशु को सलीब पर चढ़ाया गया था तब उन्होंने ईश्वर से सलीब पर चढ़ाने वालों को क्षमा करने को कहा था। पादरी ने बताया यीशु के साथ दो चोरों को भी सलीब पर चढ़ाया गया था। प्रभु यीशु उन्हें भी स्वर्ग लोक ले गए थे। वहीं सेंट्रल चर्च लालबाग में पादरी हर्बट एबुल ने प्रार्थना सभा की। इसके साथ ही एपीफेनी चर्च लालबाग, हॉली रीडिमर चर्च, क्राइश्ट चर्च आदि चर्चों में भी गुड फ्राइडे की विशेष अराधना हुई।

यह भी पढ़ें...जानें, अपना फलादेश, कैसा रहेगा 01 अप्रैल

अंतिम यात्रा का मंचन

एसेंबली ऑफ बिलिवर्स चर्च चौक व डालीगंज ने मिलकर रिवर बैंक कालोनी स्थित आईएमए सभागार में प्रभु यीशु की अंतिम यात्रा पर लघु नाटिका का आयोजन किया। कलाकारों ने नाटिका में प्रभु यीशु के सलीब पर चढऩे से लेकर रोम के तानाशाहों द्वारा दी गई यातनाओं को बखूबी ढंग से दर्शाया। इससे पहले पादरी पराग वेस्ली की अगुवाई में प्रार्थना सभा और वरशिप टीम के द्वारा प्रभु की स्तुति में गीत पेश किए गये।

यह भी पढ़ें...जानें, कैसे होते हैं शनिवार को जन्मे लोग

सात वचनों का हुआ मनन

- हे पिता इन्हें क्षमाकर दे क्योंकि यह नहीं जानते कि यह क्या कर रहे हैं।
- आज ही तू मेरे साथ स्वर्गलोक में होगा।
- हे नारी ये तेरा पुत्र है और ये तेरी माता आज से मां की जिम्मेदारी तेरी
- हे मेरे पिता- हे मेरे पिता तूने मुझे क्यों छोड़ दिया
- मैं प्यासा हूं
- पूरा हुआ
- हे पिता मैं अपनी आत्मा तेरे हाथों में सौंपता हूं

यह भी पढ़ें...कुसुम वर्मा के लोक गीतो से सजा कजरी चैती लोकोत्सव 2018

पुनर्जीवित होने के इंतजार में 

कैथोलिक डायोसिस ऑफ लखनऊ के प्रवक्ता डॉ. डोनाल्ड डिसूजा ने बताया कि प्रभु यीशु ने सलीब पर चढऩे से पहले अपने शिष्यों से कहा था कि वो वहीं रुक कर तीन दिन तक उनका इंतजार करें। इसी का पालन करते हुए जब तीसरे दिन शिष्यों ने कब्र से पत्थर हटाया गया तो प्रभु वहां नहीं थे यानी जीवित हो उठे थे। इसका प्रमाण उन्होंने अपने शिष्यों को दर्शन देकर दिया था। इसी परंपरा का निर्वाह करते हुए गिरिजाघरों में शनिवार की देर रात तक चलने वाला पॉस्का जागरण कर उनके पुर्नजीवित होने के इंतजार का अनुष्ठान किया जाएगा।

यह भी पढ़ें...महिला दिवस के मौके पर 51 महिलाओं को मिला रानी लक्ष्मीबाई सम्मान

ईस्टर संडे को पुनर्जीवित हो उठेंगे प्रभु 

सलीब पर चढ़ाए जाने के एक दिन बाद यानी रविवार को प्रभु यीशु फिर से जीवित हो उठेंगे। जिसके बाद शहर का ईसाई समुदाय ईस्टर पर्व (ईस्टर संडे) के उल्लास में डूब जाएगा। फादर डा.डोनाल्ड डिसूजा ने बताया कि चर्च में सुबह आठ बजे विशेष पूजा अर्चना होगी। वहीं शाम को चार बजे सेंट्रल मेथोडिस्ट चर्च से सेंट जोसेफ कैथड्रल तक ईस्टर जुलूस निकाला जाएगा। इसमें राजधानी ही नहीं आसपास के गिरजाघरों के पादरी व फादर व समुदाय के लोग हिस्सा लेते हैं।

यह भी पढ़ें...UP आइकन अवार्ड में 25 समाज सेवियों का सम्मान

ईस्टर एग का बढ़ा चलन
 

एबीसी चर्च के पादरी मॉरिस कुमार ने बताया कि अब ईस्टर के दिन ईस्टर एग का चलन हो गया है। यह माना जाता है कि एग से जीवन उत्पन्न होता है। इसलिए प्रतीकात्मक रूप में ईस्टर एग को ईसाई समुदाय के लोग बेकरी से खरीद कर लाते हैं और प्रसाद रूप में उसे सबके बीच में वितरित करते हैं।

The Lord Jesus will be alive on April 1 Christians will celebrate the Easter Feast

 

Web Title: The Lord Jesus will be alive on April 1 Christians will celebrate the Easter Feast ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया