मुख्य समाचार
रॉबर्ट वाड्रा की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, ईडी ने अग्रिम जमानत निरस्त करने की मांग मोहनलालगंज में बसपा चौथी बार दूसरे स्थान पर डॉ. ओ.पी.चौधरी ने संभाला भारतीय जीव जंतु कल्याण बोर्ड के चेयरमैन का कार्यभार अपने बयान में फंसे सिद्धू, सोशल मीडिया पर हो रही जमकर खिंचाई सेवक के रूप में करूॅगी जनता की सेवा : साध्वी संसद तक पहुंचने में सफल हुई यह 11 महिलाएं करेंगी यूपी का नेतृत्व  दोबारा चुनाव जीतकर कौशल ने रचा इतिहास बाइक की टक्कर से साइ​किल सवार महिला की मौत, बेटी घायल शाकिब-अल-हसन का विश्व कप को लेकर आया बड़ा बयान गंभीर ने की राजनीतिक करियर की शुरुआत, इतने वाटों से दर्ज की जीत ऐसा हुआ तो आज़म खान लोकसभा की सदस्यता से खुद दे देंगे इस्तीफा! पुलिस ने किया लूट की वारदात से इंकार, आपसी रंजिश का गहराया शक  आजम खान का बड़ा बयान, तो दे दूंगा लोकसभा सदस्यता से इस्तीफा भाजपा व मीडिया को लेकर आपत्तिजनक पोस्ट पर मुकदमा दर्ज, अभियुक्त भेजा गया जेल FIFA World Cup: हो गया निर्णय 2022 टूर्नामेंट में खेलेंगी 32 टीमें बुंदेलखंड की सभी 4 सीटें भाजपा के खाते में 52 सीटों पर सिमटी कांग्रेस, अपनी पारम्परिक ​सीट से हाथ धो बैठे राहुल गांधी भाजपा के सहयोगी अपना दल (एस) ने उप्र की दो सीटों विजयी सुरक्षा बलों ने आतंकी सरगना मूसा को ढेर कर दिया पीएम मोदी की जीत का तोहफा
 

अभी-अभी : कांग्रेसी नेता ने उठाई आवाज, पीएम ने जारी किया बड़ा आदेश...


SUYOGYA RAJ DWIVEDI 03/04/2018 16:28:42
10903 Views

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी ने सूचना व प्रसारण मंत्रालय के उस फैसले को वापस लेने का आदेश दिया है जिसमें ये कहा गया था कि फेक न्यूज़ लिखने वाले पत्रकारों की मान्यता हमेशा के लिए रद्द कर दी जाये। पीएम मोदी ने आदेश दिया है कि इस तरह का कोई भी फैसला नहीं लिया जाएगा। पीएम मोदी ने कहा है कि उस तरह के मामलों की जांच प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया ही करेगा। 

PM MODI BIG DECISION OVER FREEDOM OF PRESS AND PRESS COUNCIL OF INDIA

यह भी पढ़ें... अपहरण व छेड़छाड़ मामले में पूर्व मंत्री गायत्री प्रजा​पति को बेल

  क्या है मामला... 

गौरतलब है कि सूचना व प्रसारण मंत्रालय की ओर से प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा गया था कि फेक न्यूज़ लिखने वाले पत्रकारों की मान्यता रद्द कर दी जाएगी। नियम के मुताबिक पहली बार फेक न्यूज़ में पकड़े जाने पर 6 महीने के लिए मान्यता रद्द करने का प्रावधान था, दूसरी बार में साल भर के लिए और दूसरी बार में हमेशा के लिए मान्यता रद्द करने का नियम था। 

यह भी पढ़ें... दलित आंदोलन पर अखिलेश यादव का बड़ा बयान, कहा क्या जरूरत पड़ी..

  अहमद पटेल ने उठाया था सवाल... 

आपको बता दें, कांग्रेसी नेता अहमद पटेल ने मंत्रालय द्वारा जारी इन नियमों पर आपत्ति जताई थी। अहमद ने कहा था कि पत्रकारों को खुल कर रिपोर्टिंग करने पर रोकने की मंशा के चलते सरकार की तरफ से इस तरह का आदेश पारित किया गया है। 

यह भी पढ़ें... विधान परिषद चुनाव: भाजपा दे सकती है रिटर्न गिफ्ट, गठबंधन की भी होगी परीक्षा

  स्मृति ईरानी ने दिया जवाब... 

उन्होंने कहा कि आखिर सरकार को ये कैसे पता चलेगा कि कोई न्यूज़ सच है या फेक ? उनके सवाल का जवाब देते हुए केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि गैर-सरकारी संस्थाएं प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया और न्यूज़ ब्रॉडकास्टर एसोसिएशन ही खबरों की पड़ताल करके ये फैसला लेगें कि न्यूज़ फेक है या नहीं। 

यह भी पढ़ें... केजरीवाल बोले, सॉरी जेटली जी...जेटली बोले इट्स ओके और केस खत्म

यह भी देखें... 

PM MODI BIG DECISION OVER FREEDOM OF PRESS AND PRESS COUNCIL OF INDIA

Web Title: PM MODI BIG DECISION OVER FREEDOM OF PRESS AND PRESS COUNCIL OF INDIA ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया