मुख्य समाचार
ममता के करीबी अधिकारी को आउटलुक नोटिस, एक साल तक नहीं जा सकेंगे​ विदेश राजौरी में पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी, एक किशोर घायल ममता बोलीं, सांप्रदायिकता का जहर फैलाकर बंगाल में जीती भाजपा चुनाव के बाद कांग्रेस पार्टी में होने जा रहा बड़ा फेरबदल, राहुल लगाएंगे मुहर श्रमिक की संदिग्ध मौत: परिजनों ने मुआवजे को लेकर किया हंगामा जब क्रीज पर दर्शकों ने कहा, धोखेबाज भाग जाओ CWC की बैठक में राहुल का फूटा गुस्सा, हार के लिए इन दिग्गज नेताओं को ठहराया जिम्मेदार हाईस्कूल पास के लिए DRDO में नौकरी का सुनहरा मौका, आज अंतिम दिन जनसुविधा केन्द्रों पर भी आधार से जोड़े जाएंगे राशन कार्ड माध्यमिक विद्यालयों को 28 मई तक सम्मिट करना होगा यू-डायस प्रपत्र इस नेता ने दे डाली मोदी सरकार को चुनौती, जानिए क्या कहा पूर्व सैनिक की मृत्यु पर मिलेगी सहायता बड़ी खबर: ममता बनर्जी ने कहा, अब सीएम नहीं रहना चाहती सड़क हादसों में महिला समेत आधा दर्जन घायल जेट के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल थे पत्नी सहित देश छोड़ने की फिराक में, एयरपोर्ट से हुए अरेस्ट मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने राष्ट्रपति को सौंपी जीते सांसदों की सूची
 

सस्ते कर्ज का इंतजार कर रहे लोगों को झटका, आरबीआई ने नहीं घटाईं दरें


RAJNISH KUMAR 06/04/2018 12:18 PM
337 Views

New Delhi. भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल की अध्यक्षता में मौद्रिक नीति समिति की बैठक हुई। बैठक में रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं करने का निर्णय लिया गया है। रेपो रेट को 6 फीसदी ही रखा गया है। आरबीआई ने विकास दर के अनुमान को 7.3 फीसदी से घटाकर 6.7 फीसदी कर दिया है।

RBI Do not cuts rates

बता दें कि पिछले दिनों खाद्य महंगाई बढ़ने और कच्चे तेल की कीमतों में इजाफा के चलते रेपो रेट में कमी करने की संभावना न के बराबर थी। रेपो रेट कम न होने की वजह से ईएमआई सस्ती नहीं होंगी। यही नहीं, सस्ते कर्ज का इंतजार कर रहे लोगों को निराशा हाथ लगी है।

  सीआरआर में भी कोई बदलाव नहीं

आरबीआई ने सीआरआर (कैश रिजर्व रेशियो) में भी कोई बदलाव नहीं किया है। यह चार फीसदी ही रखा गया है। हालांकि समिति ने एलएलआर (स्टैच्युअरी लिक्विडिटी रेशियो) में 50 बेसिस प्वाइंट की कटौती की है। इसे 20 से 19.5 फीसदी कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें... योगी सरकार बैकफुट पर, बिजली के निजीकरण का फैसला लिया वापस

मौद्रिक समिति ने कहा कि जीएसटी के लागू होने का अर्थव्यवस्था पर नकारात्मक असर पड़ा है। इसकी वजह से लघु अवधि में मैन्युफैक्च‍रिंग सेक्टर के लिए दिक्कतें पैदा हुई हैं। इससे देश में निवेश पर भी असर पड़ेगा। देश में निवेशक गतिविधियां पहले ही दबाव में हैं। हालांकि आरबीआई ने कहा दूसरी छमाही में विकास को रफ्तार मिल सकती है।

  विकास दर घटी

मौद्रिक समिति ने विकास दर को 7.3 फीसदी से घटाकर 6.7 फीसदी कर दिया है। बता दें कि आरबीआई ने अगस्त में ही 7.3 फीसदी का अनुमान जारी किया था।

यह भी पढ़ें... अब गुजरात की इस कम्पनी ने बैंकों को लगाया हजारों करोड़ का चूना

आरबीआई ने कहा कि महंगाई अपने मौजूदा स्तर से और बढ़ेगी।  वित्त वर्ष 2017 की दूसरी छमाही में यह 4.2 से 4.6 की रेंज में रहेगी। आरबीआई ने कहा कि किसानों को कर्ज माफी देने से राजकोषीय घाटे पर असर पड़ेगा।

यह भी पढ़ें... मोसाद का बड़ा खुलासा, ईरान बना रहा है दुनिया की तबाही का सामान

  जीएसटी से बढ़ी दिक्कतें जल्द होंगी खत्म

आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल ने कहा कि केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन में बदलाव होने से घरेलू खपत में बढ़ोत्तरी होगी। आर्थिक गतिविध‍ियां अलग-अलग सेवाओं की बदौलत बेहतर होंगी। पटेल ने कहा कि अर्थव्यवस्था में जीएसटी की वजह से जो दिक्कतें सामने आई हैं, वो जल्द ही खत्म होंगी।

Web Title: RBI Do not cuts rates ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया