होम्योपैथिक से होगा अब इन घातक बीमारियों का भी इलाज


SANDEEP PANDEY 10/04/2018 13:50:36
2887 Views

Homeopathic will now be treated for these deadly diseases.

LUCKNOW.  खुशखबरी है, डायबिटीज और कैंसर जैसी घातक बीमारियों के लिये होम्योपैथिक पद्धति में जल्द ही नई दवाएं आएंगी। गोरखपुर स्थित होम्योपैथिक ड्रग रिसर्च सेंटर में इसकी दवाओं पर शोध किया गया है। यह मीठी गोलियां डायबिटीज पर ज्यादा असर करेंगी। यह जानकारी होम्योपैथिक विभाग के निदेशक डॉ वीके विमल ने दी।

यह भी पढ़ें- दिमाग के संक्रमण का खतरा ऐसे मरीजों में सबसे ज्यादा

प्रदेश में 1575 होम्योपैथिक अस्पताल

विश्व होम्योपैथिक दिवस पर  डॉ. विमल ने बताया कि होम्योपैथिक की सुविधाओं को बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है। प्रदेश में 1575 होम्योपैथिक अस्पताल हैं, इनमें पांच सौ डॉक्टरों की कमी है। इसे दूर करने के लिए शासन स्तर से प्रयास किया जा रहा है। वहीं, शिक्षकों की कमी दूर करने के लिए अगले दो महीने में होम्योपैथिक प्रोफेसर को तैनात करने की कोशिश की जा रही है। लखनऊ होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज में पीजी कोर्स शुरू किया जाएगा। अब तक सरकारी होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज में सीटें नहीं थीं। इसलिए यह पहल की गई है। कॉलेज में लगभग दस सीट से कोर्स की शुरुआत की जाएगी।

यह भी पढ़ें- विश्व स्वास्थ्य दिवस पर ग्रांड रक्तदान शिविर का आयोजन

यह है नई पहल

डॉ विमल ने बताया कि मौसमी बीमारी से लोगों को बचाने के लिए होम्योपैथिक विभाग ने नई पहल की है। उन्होंने हर होम्योपैथिक सेंटर में शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए सेंटर बनाया है। इसमें स्वाइन फ्लू, डेंगू, डायरिया, खसरा, चिकनगुनिया समेत कई बीमारियों से लड़ने के लिए दवाएं दी जाएंगी। इससे लोगों में बीमारी से लड़ने के लिए प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ेगी।

यह भी पढ़ें- पशु क्रूरता पड़ेगा मंहगा, सीएम के साथ बोर्ड ने की बैठक, लिया ये अहम निर्णय

लाइलाज का भी इलाज

डॉ विमल ने बताया कि होम्योपैथिक दवाओं से ऑर्थराइटिस, मोटापा, स्टोन, बांझपन और चर्म रोग की बीमारी को ठीक किया जा सकता है। दवा का कोर्स लंबा चलता है, लेकिन बीमारी जड़ से खत्म हो जाती है।

Web Title: Homeopathic will now be treated for these deadly diseases. ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया